#भारत की राजनीति

Manju Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Manju जी का जवाब
Unknown
3:35
नमस्कार महिला होने के नाते मैं आपका प्रश्न का जवाब देना सही समझती हूं तो दिल से महिलाओं की सुरक्षा को लेकर महिलाओं के मन में कोई ऐसा सोचता होगा कि बलात्कार की क्यों होता है बलात्कार आखिर होता है क्यों होता है अच्छे नहीं होते हैं इंसान ऐसे होते हैं जो विकृत मानसिकता के होते हैं तो ऐसे मानसिकता वाले इंसान जो है अपने हवस पूरा करने का यह तरीका है उन्हें समझ में आता है तो महिलाओं को पिया जी के कुछ लोगों को बड़ी खुशी मिलती है एक संतुष्टि मिलती है तो यह आपका प्रश्न का जवाब है तुझे क्या फांसी की सजा देता है बलात्कार होते हैं उन्हें फांसी की सजा दी जाए तो क्या यह वाकई रोचक बातें क्या बाकी कभी ऐसा होगा एकदम बंद हो जाएगा तो ऐसा बिल्कुल नहीं है तो कारण है जो बताओ परवरिश होती है बच्चों से जफर छोटी उम्र में जो परवरिश होती है जहां संस्कार दिए जाने चाहिए वह संस्कार नहीं मिले होते हैं तो उनका ज्यादातर बच्चे की बलात्कारी बनते हैं विकृत मानसिकता पैदा होती है तो दूसरी बात बुरी नजर आती है कि जहां बेरोजगारी बढ़ रही है तो लोगों के पास काम धंधा नहीं है कल भी तो कुछ नहीं है बेकार के लिए कौन सा एप्स है जो अपने आप को तेज करते हैं जहां महिला देखें वहां पर पड़ते हैं तो देखें एंप्लॉयमेंट मतलब बेरोजगारी है इस कारण जो मुझे नजर आता है और काम करके भी संतुष्ट नहीं हो जाता है जहां गुस्सा आना बहुत ज्यादा जिम्मेदारी हो और मैं से कम हो तो ऐसे में बहुत सारी तंगी भी हो सके तो इस तरह के जोक सजेशन माइंड में मन में आ जाता है तो उसको निकालने का तरीका ढूंढ निकाला है कि जहां औरतों के साथ ऐसी हरकत करके उन्हें लगता है कि कुछ पल के लिए सुकून कर पाएंगे पर होता नहीं है तो यह सब लोगों की मेंटालिटी पर निर्भर करता है कोशिश करेंगे आने वाली पीढ़ी है उन्हें अच्छे संस्कार दे वेकेशन में पढ़ाई लिखाई अच्छा कराएं और जब देश में हर किसी के पास जब काम करने को काम हो इतने व्यस्त हो जाएंगे तो ऐसी जो मेंटालिटी है यह सब नहीं आएगा मुझे लगता है कि यह आप लोगों के सामने रखना चाहती हूं इसके लिए सख्त कानून क्यों ना हो एकदम बंद होना मुश्किल है इस बारे में क्या राय है जरूर बताइएगा

और जवाब सुनें

rohit paste Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rohit जी का जवाब
Unknown
2:35
हां मैं मेरी राय आपको बता रहा हूं कि जिससे आपको परेशान करता है यह अक्सर सवाल था उसी तरह जिस तरह आप बोल रही थी क्या फांसी होने के बाद या उस उस पर कोई गुनाह होने की उसको कोई सजा होने के बाद वह बंद हो सकता है क्या तो आम मेरी जानकारी के हिसाब से मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि वह पुराने जमाने से होते आ रहे हैं अभी भी चालू है और मुझे लगता है भविष्य में भी होते रहेंगे यह एक क्या बोलूं मैं आपको की चाबी ग्रुप से तरीका सरल ग्रुप अलग होता है मनुष्य पुरुषों का अलग होता है और कुछ कंट्रोल कर सकते हैं कुछ लोग कंट्रोल नहीं कर सकती या किसी की किसी और मार्ग से यहां इंटरनेट के माध्यम से जो मनुष्य की खुद पर काबू करने की क्षमता थी यह इंटरनेट की मायाजाल की वजह से कम होती जा रही है उसे के साथ-साथ हमारी संस्कृति में जो बदलाव आ रहे हैं उसका कारण भी यहां आपकी ए प्रश्न में डूबा हुआ है और कितना भी बड़ा अगर मैं आपको बता दूंगी को दुबई में ऐसा कोई आदमी करता है तो उसका वह भाग काट देते फिर भी वहां पर होते ही रहते हैं अगर किसी को हम फांसी भी दे दे जो घटना घटी है वह घटना उस आदमी के साथ खत्म हो जाती है नया कोई ना कोई आता ही रहता है इसलिए मुझे लगता है नहीं है कि यह कभी थम सकता है थम जाए तो बहुत अच्छा है मेरी भी एक ख्वाहिश है लेकिन कुछ करने की वजह से वह नहीं रुक सकता अगर आपकी शादी हो गई हो तो आप अपने पति से इस बात में डिटेल में बात कीजिए

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
4:33
सिख महिला होने के नाते यह सवाल मुझे अक्सर परेशान करता है कि बलात्कार क्यों होता है इसका कोई तो कारण होगा कहां से आते हैं यह लोग और ऐसे लोगों के लिए सच ही आपके इधर से मैं बहुत अच्छी तरह से महसूस कर सभ्य समाज में इस तरह की जब घटनाएं होती है कि निश्चित तौर पर वह पूरा का पूरा जल छोड़ देता और मैं कभी कभी इस बात की बात से बिल्कुल सहमत हूं मैं मासूम बच्चियों को देखता हूं महिलाओं का दिखता हूं हंसते खेलते चेहरे जब देखते हैं और जब राक्षस आ जाते हैं और उनके साथ दरिंदगी करते हैं साथ-साथ उनकी हत्याएं कर देते हैं और निश्चित जब हमारे कानून के रखवाले लोग वहां उनके पास जाते हैं और वह लोग भी उन्हीं का सपोर्ट ले करके करने लगते हैं उसमें सौदेबाजी करने लगते हैं तब दिल हो टूट जाता है लगता है कि मानो का वह विकृत स्वरूप आ गया है जहां से वह राक्षसी प्रवृत्ति आ गई कई कई बार ऐसी घटनाएं हुई है छत्तीसगढ़ की घटना हमने देखा था की लड़की के साथ बलात्कार होता है और उसको उसको रफा-दफा करने के लिए जो थानेदार है उस पर से पैसा ले लेता है और किस को कम करके अलग कर देता बाद में मीडिया जाती तब बोलती क्यों ऐसा करते हैं कहीं ना कहीं हम सभी जिम्मेदार हैं अगर हम सही रूप से देखा जाए कि जो हमारी यह सोशल नेटवर्किंग है जो पोर्न साइट वहां पर है लड़की लड़कियां इस तरह की बहुत सारी घटनाएं करना शुरू कर देते हैं डायरेक्ट लाइव ही रहती है अब क्या होता है कि ही जो राक्षस घूमते हैं इनके दिमाग में ही होता है और सभी लोगों को यह समझते हैं यह सब ऐसे ही होते हैं और नतीजा है कि जब इस तरह के दरिंदगी में करते हैं तो उनको पता नहीं आप देखेंगे कि हमारे बहुत सारे यह आवारा इस तरह के लड़के हैं जो इस तरह की घटनाओं में होते हैं निश्चित तौर पर बहुत सारी नशाखोरी और दुख तो तब उस समय होता है जब भी आता है कि 90% बलात्कार नोन लोगों यानी अपने जानकार लोग होते हैं या नहीं अपना जिस पर हम विश्वास करते हैं वही करते हैं तो उस समय से उठता है कि हम किस पर विश्वास करें यह महिलाएं किसके साथ जाऊं किसके साथ खड़ी हो कहां पर है अभी बताओ की घटना हुई की एक विधवा महिला है निश्चित तौर पर पुजारी पूजा पाठ करने के लिए जाती थी उसके साथ बलात्कार अभी भी लगता है कि यह पुजारी कैसे रास्ता सो सकता है तो कहीं ना कहीं समाज में जो यह परिवर्तन हो रहा है लोगों की मानसिकता और ऐसी मानसिकता को इतनी आसानी से हैं और हम कहेंगे कि अगर हमारा प्रशासन के सही हो जाएगा इस करके जो हमारे सिविलियन सुशीला मैडम को देने वाली पुलिस है अगर यह सही हो जाइए सख्त हो जाए तो शायद ऐसी घटना ना हो लेकिन यही धंधे वाजी करते हैं यही लोग मिलकर के इस तरह के शव को दबाते हैं उसमें सौदेबाजी करते उस समय ऐसा लगता है कि पुलिस का ऐसा विकृत चेहरा देखने के बाद क्या किया जाए ऐसे लोगों को निश्चित तौर पर इसमें सरकार है कि कानून हमारे लिए बने हुए हैं हमारे पास फास्ट ट्रेक कोर्ट भी है सब कुछ है लेकिन जो भूतनी कैसे बनना चाहिए जो ग्राउंड लेवल पर रिपोर्टिंग होनी चाहिए वह नहीं हो पाती और नतीजा है कि इस तरह के लोगों के हौसले बुलंद होते यहां पर जरूरत है हमारे इन सरकारों को ग्राउंड लेवल पर हमारे उन पुलिस विभागों को या वह जो ऑफिस से सोते जाए उनकी मेडिकल करने वाले हो या और चीज में हो उनको शक तो होना पड़ेगा तभी हो सकता है और नहीं तो क्या आगे आने वाली सॉन्ग हमारी समाज और भी विकृत रूप देखने को मिलेगा

Abhishek Shukla ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Motivational speaker
4:58
देखिए आपकी समस्या बहुत ज्यादा गंभीर है लेकिन इसके लिए जहां तक मैं समझ रहा हूं तो देखिए गलती हमारी कहीं भी नहीं है चाहे महिला हो या पुरुष हो वह सब एक समान है आज के समय में गलती लोगों की सोच की है जो लोग सोच छोटी सोच ले करके जी रहे हैं दोस्तों गलती उनकी है हमारी बिल्कुल भी नहीं है लोग भले ही कहते हैं कि आज जो है तो देश में बलात्कार के केस बढ़ रहे हैं इसलिए रहे दोस्तों क्योंकि कहीं ना कहीं दूरी मानसिकता लोगों में पनप रही है कुछ सोशल मीडिया का भी हाथ से कई लोगों को कहना है कि इससे पहले भी होते थे लेकिन उसने नहीं होते तो जितने आज हो रहे हैं कहीं ना कहीं फिल्म जगत का भी हाथ हो सकता है क्योंकि देखे कई ऐसे सारे सीन दिखाए जाते हैं पिक्चरों में आजकल कि उसे सोशल मीडिया में जिससे कि लोग और ज्यादा क्या लीजिए के जागरूक हो रहे हैं इस वजह से जो उनके अंदर जानवर प्रभाती जैसे घटाएं करने वाली जो सोच उभर रही है पनप रही है मैं कैसे आ रही है आप कुछ सोचिए मानसिकता नहीं थी चेंज होती है दोस्तों तो कहीं ना कहीं कुछ ना कुछ हमारा भी गलती होगा हो सकता है देखिए कोई भी मां-बाप जो है तो कभी भी किसी भी बच्चे को अपने गलत संगति करना या फिर गलत कार्य करने के लिए कभी नहीं हो सकता है तो गलती मैं यहां पर किसी भी मां बाप के नहीं चाह रहा हूं कहां यह है हालात परिस्थितियां और सोच लोगों की जब खराब हो जाते हैं तब यह सभी जो कार्य है अधिकतम तो मुझे लगता है कि यह सभी कार्य तभी होता है जब लोगों के पतन के दिन नजदीक होते हैं वह इंसान देखा होगा आपने जितने भी कैसे जा जोहर के आते हैं बलात्कारियों के चाहे किसी के भी देख लीजिए इसमें अधिकतर जो लोगों के केस आते हैं उसमें जितने भी अपराधी होते हैं उन उन सभी में एक चीज जो है तो समानता होती वह बोतल नशा नशा एक ऐसा पदार्थ है दोस्तों जो लोगों को न जाने अंदर ही अंदर क्यों ऐसा बना देता है कि मैं जानवर से भी बदतर हो जाता है उसे यह तक नहीं पता होता है कि वह सामने वाले की आबरू लूट तो रहा है लेकिन उसके बाद उसका क्या होगा बात आपकी यह सत्य है कि राष्ट्रीय केवल उनके लिए एक सजा है अगर फांसी ही देना उनके लिए एक सजा होती है और यहां पर रुक जाते हो तो मैं नहीं मानता कि ऐसा जामुन खिले काफी है क्योंकि हम तो आज भी हो रही है लेकिन इतना धीरे हैं सिस्टम आज का इतना धीरे है कि लोगों को पता है कि उन्हें तुरंत यहां पर एक्शन नहीं लिया जाता उनके ऊपर तो उनकी और बढ़ती है यह सब करने में हाल ही में मैंने भी ऐसा कुछ है अपनों के साथ महसूस किया है रह करके आजकल सैड शायरी हो जाए गांव के हो चैटिंग भी हो लोगों में जो सोच है काफी गिर चुकी है दोस्तों वह नहीं सोचना चाहते कि उनके आने वाले समय में उनका उनके परिवार को क्या हुए केवल उस पल को उस क्षण को जो है इतनी बेकार मानसिकता के साथ ऐसे कुछ शब्द भी निकाल देते हैं जो खुद भी नहीं सोच सकते कि इसका अर्थ क्या होगा तो कानून व्यवस्था और दोष देना समय को हमें नहीं है दोस्त जो है तो लोगों की सोच में परिवर्तन करना है दोस्तों परिवर्तन कहां से होगा परिवर्तन वहां से होगा आपके परिवार से होगा आपके पीढ़ी से होगा और आपके आसपास के लोगों से होगा परिवर्तन वहीं से होता है दोस्तों जहां से लोग जुड़ते हैं जहां से समाज बनता है इसलिए हमें अगर पता नहीं है अपने आसपास के लोगों को उस में आने वाले पीढ़ी को और अपने परिवार के लोगों की सोच को बदलना है यदि हम इतने काबिल हो गए तो हो सकता है कि ऐसा भी अपराध जो है तो अपने आप धीरे-धीरे कुछ ना कुछ तो कम होंगे कहते हैं कि यदि कुछ बदलने तो पहले आपको अपने आप को बदलना है अपने आप को बदलेंगे तो लोग अपने आप बदल जाएंगे तो यदि हम सोच अपनी ही बदल ले लोगों के प्रति अपने आप के प्रति अच्छी सोच लेकर के जिएंगे अच्छे इंसान लोगों का जो है तो अच्छे हो सकता है देखे क्या है कि लोगों में कह लीजिए की आदत मान लीजिए आप कुछ भी कह लेंगे इसको तू सोए यह सभी चीजें पाई जाती हैं कि मैं आपको देखकर के करते हैं तो अच्छी सोच रखेंगे तो लोग भी आपके साथ अच्छा बर्ताव करेंगे दोस्तों धन्यवाद

Sandeep Goyal Chandigarh  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Tabla player artist
2:59
नमस्कार मैं संदीप गोयल चंडीगढ़ से हूं और बहुत अच्छा सवाल यहां पर किया गया है जवाब देने की कोशिश करूंगा मेरा जवाब अच्छा लगे तो बोलकर आप मुझे लाइक करें और सब्सक्राइब करें मुझे बाकी बहुत अच्छा सवाल है आपका आप काफी मतलब एक जैसे लगता है कि दुखी परेशान होकर कि आपने यह सवाल रखा है कि हां सच में बाकी देखो जी वाकई में यह सवाल तो सब को परेशान करता है कि आखिरी हमारे देश में ही बलात्कार क्यों होते तो यह सब घटनाएं इसलिए होती हैं ठीक है हमें नहीं पता और शायद ही कोई नहीं बता सकता कि ऐसा क्यों होता है लेकिन हां आपने एक बात कही कि क्या फांसी की सजा देने से मैं आपको आकर बताता हूं कि अभी मैंने मतलब की एक खबर सुनी खबर सुनी क्या मैं पढ़ रहा था अभी दैनिक भास्कर एप्लीकेशन पर कि हमारे चंडीगढ़ शहर में एक 7 साल बाद एक बलात्कारी दी है सजा काटकर आता है जेल से छूट कर के और उसने अब फिर से मतलब की एक 28 साल की लड़की जो कि हिमाचल सिटी तो उसको नौकरी देने के झांसे में जो है उसके साथ बलौंगी मोहाली में रहता था वह किराए पर लड़का जो 7 साल की सजा काट कर के आया पहले से नाबालिग से बलात्कार किया था जिससे से 7 साल की सजा मिली उसके बाद फिर से वह मॉडल की ढाई साल की लड़की के साथ दुष्कर्म करता है और फिर उसको मर के तार कर लिया जाता है तो यह कहीं ना कहीं तो है कि एक शिक्षा का अभाव है ऐसे लोगों में ठीक है और कहीं ना कहीं मतलब कि उनको जो है उनके मन में जो है जो वाचिनायी वगैरह चलती है तो वह उसको इसका मतलब कि जो है गलत दिशा में चले जाते हैं इस वासना के कारण में दुनिया के और दो रास्ते पर जाने से बचे थे मगर कुछ लोग बिना सोचे समझे इस रास्ते पर चले जाते हैं तो उनके मन में जो है वह चलता है तो फिर वह कुछ भी नहीं उनको खुश रहता को जितना हो सके और कुछ भी गलत कार्य करने लगते हैं बाकी साथियों का जो है नहीं कुछ होगा आपके पास इसका हल नहीं है इसका हल तो यह है कि उनको जो है मतलब कि जिंदा भी रखा जाए और तड़पाया भी जाए ठीक है जैसे कि उनके हाथ-पांव काट कर के अभी 1 महीने खबर सुनी थी बाकी समय समाप्त हो गया ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा बस यही कहूंगा धन्यवाद

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:16
एक महिला होने के नाते यह सवाल मुझे अक्सर परेशान करते की बलात्कारी क्यों होता है इसका कोई तो कारण होगा कहां चाहते हैं लोग क्या मृत्युदंड ज्ञान कठोर सजा देने से खत्म हो जाएगा देखिए बलात्कार यह मानते मानसिक विक्षिप्त है विकसित करता है अगर आप सोच के लेवल अदृश्य शक्ति इस लेवल सब सोचने को मजबूर कर रही है इंसानों की वहां पर जाकर वह उत्तर का एक्शन ले रहा है क्यों हो रहा है कमेंट सेट कैसा होगा सोचिए अगर एक छोटे बच्चे को बचपन से संचालित किया जाए अपने माता और बहनों के साथ नजरों से देखने का उल्टा चश्मा 441 बार कर ले कि अगर मां बाप अपने बच्चों को देते हैं यही चीज में सभी फैमिली सदर करने लग जाए यही चीज हम 8 पदों की माताएं बहने होती है अपनी फ्रेंड गर्लफ्रेंड कोई भी उनके साथ अगर हम करें तो अपने आप ही एक नजरिया चेंज हो जाएगा इनके साथ में को पार करने का फिलहाल हमारी तो सोसायटी न्यू सोसायटी यह मेल रिवल सोसायटी अभी भी सिर्फ बड़े से बीच में या आप बड़ी जगह पर मैं देखता है कि जहां तक समान शादी मेल फीमेल समाई हुई है लेकिन बहुत सारे जगह पर अभी भी ईमेल सिविल सोसायटी और वहां पर उन लोगों को लगता ही नहीं है उसने वह सेंसिटिविटी खत्म हो चुकी है कि मैं क्या कर रहा हूं इस फीमेल के साथ में या फिर मैं अपनी मां के साथ किस तरीके से व्यवहार कर रहा हूं चित्र के साथ कैसे कर रही है गर्लफ्रेंड के साथ कैसे व्यवहार करना यह सेंसटिविटी खत्म हो गई हो रे सेंसिटिविटी खत्म होने का कारण है उनका समाज भी और हमारे समक्ष उनके मां-बाप भी वहां से लिया हुआ एजुकेशन यह सब से एक ब्रेन को सही तरीके से ट्रीट किया जाए कि क्या होती है फीमेल और किस तरीके से उनके साथ बर्ताव करना चाहिए जब तक आप 12वीं पास में थे तब तक कि फीमेल फीमेल का कितना बड़ा कौन से फंक्शन है सुरेश अवस्थी को खड़ा करने में अगर अगर इस तरीके से अगर हम लोग एजुकेशन तो अपने आप ही इन सब चीजों में बदलाव आना क्योंकि होगा और रह गई अगर उसके बावजूद भी अगर कोई लोग ऐसा सब कुछ करते हैं तो उसके लिए कठोर शिक्षा होना तो बहुत जरूरी है लेकिन इसे खत्म नहीं होगी वह कसम होगी अगर ने चोर एजुकेशन से

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
5:46
एक महिला होने के नाते यह सवाल मुझे अक्सर परेशान करता है कि बलात्कार क्यों हो जाता है और इसका आखिर कारण क्या है तो इसके संबंध में समाज में बहुत सारी चर्चा हुई है मीडिया MP4 सारी चर्चाएं हुई है तू ऐसा क्यों होता है एक तो इसमें बहुत बहुत महत्वपूर्ण है और वह संस्कार नहीं सर ग्रुप से कम हौसला उत्पन्न होना तो तय है लेकिन जबरदस्ती बलात्कार ऊपर आधारित कई लोग हैं जो जिनकी उम्र भी बढ़ बढ़ गई है और उनको सेक्स की जरूरत भी है लेकिन वह इस तरह से हरकते नहीं करती इस तरह सरकटे नहीं कर सकते और उनका मन भी नहीं है ऐसा होता है जब तक कोई सी सम्मति दे तब तक हो उसके उसको जबरदस्ती नहीं करते लेकिन कुछ लोगों के और खासकर के उम्र के हिसाब से समझ बढ़ जाती है और कई अनुभवों से बातें मालूम पड़ती है तो उसके कारण उम्र में कम होने वाले हैं जो टीनएजर्स या युवावस्था में जो लड़के होते हैं उनमें ने सभी ग्रुप से सेक्स करने का निर्माण हो जाता है और वह ज्यादा करके बलात्कार करते हैं लेकिन इसमें जिनके संस्कार अच्छे हैं वहां पर उसे फैमिली के किसी लड़कों ने ऐसे व्यवहार किए ऐसा कोई शायद ही मिलता है या पौधा तक रूप से होता है लेकिन जिस ने आज अपने आजू-बाजू में वही वातावरण देखा उसको उसका कोई आश्चर्य नहीं लगता है कि शादी से पहले भी सेक्स करते हैं लड़के लड़कियां शादीशुदा लोग लोग भी नाजायज संबंध रखते हैं यहां तक कि कुछ रिश्तेदारी रिश्तेदारों में भी इस तरह के संबंध होते हैं जो रोड पुरुष होते हैं वह भी एक तरीके की ऐसी मानसिकता रखते हैं और यह पता चलता है कि है मैं बस सकता हूं ऐसा करने के बाद में मतलब गरीब और गरीब लोग मिल जाते हैं वैसा ही मिल जाती है या लड़की मिल जाती है जो बिल्कुल सही है उसके लिए कोई जगह संघर्ष करने वाला नहीं होता है मालूम होता है जबलपुर के जिस दिन जातियों की जनसंख्या कम है और वह ज्यादा जनसंख्या होने वाले होने वाले जातियों से लड़ नहीं सकते और जाती तो अपनी जाति के व्यक्ति के लिए सपोर्ट में उतर आती है वर्ड रूप से आ चुके रूप से वह उसको बचाने की कोशिश करती है तब ऐसी जगह पर बलात्कार के कैसे सोते हैं यह तो मीडिया में बहुत थोड़े आते हैं लेकिन इसकी संख्या असल में बहुत ज्यादा है तुम मेरे मैं तो इस स्कूल शिक्षा और जो संस्कार उसको दे दोष देता हूं सुंदर को क्योंकि मैंने ऐसे बहुत सारे लोग देखे हैं कि जिन को सेक्स करना करना है लेकिन संस्कार अच्छे है इसलिए इस तरीके का सेक्स नहीं करते वह दूसरे तरीके से सेक्स करते हैं जो बाजार में पैसों से मिलता है उसका भी उसका उपयोग भी करते हैं लेकिन जबरदस्ती नहीं करते ऐसे लोग भी धन्यवाद

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:29
देख एक बात से मैं बिल्कुल सहमत हूं आपकी से कि बिल्कुल बंद हो जाएंगे मेरे हिसाब से परंतु वह समय जो है वह 6 महीने का होना चाहिए मैक्स में 3 या 6 महीने अगर 306 महीने के अंदर किसी भी परेशानी का हल हो रहा है किसी भी जो लोग हैं जो ऐसे गलत काम कर रहे हैं 3 से 6 महीने के अंदर ही अगर मुझे मालूम पड़ गई कि हम अब मैंने कराएगा मोती हमसे 6 महीने के अंदर में जो फांसी हो जाएगी तो फिर बहुत हद तक कमी आएगी

Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
5:56
दोस्तो नमस्कार गुड इवनिंग मैडम आपका सवाल के अनुसार में ही बताना चाहूंगा की आजकल जो भी आज के दौर में जो बलात्कार होते हैं वह कहीं ना कहीं एक का हमारी जो न्यू मॉडर्न की सभ्यता जो है आज पनप रही है लोगों के दिल में बच्चे बच्चियों के ऐसे मस्ती भर्ती चली आ रही है जिसके कारण यह ज्यादातर कैसे बढ़ते चले जाना है उसके ठीक है क्योंकि आजकल के जो सभ्यता है पहनावा और हवा चलना फिरना मतलब ऐसी स्थिति चली मतलब आ गई है कि पहले के लोग थे पहले के और तेजाब मनुष्य को अच्छे से कपरपुरा बदन को टक्कर अच्छे से चलते थे ठीक रहते थे जहां भी लेकिन आजकल के फैशन देखो बच्चे जो डैमेज जींस पहनते हैं बच्चियां जो है वह ऐसे मतलब उनका भी पहनावा जो छोटे-छोटे कपड़े पहनते चली आती है उससे क्या होता जो जो पुरुष होता है उसका जो दिमाग होता है ना उसके अंदर एक है कुछ अलग होता है ठीक है अगर मस्जिद कुछ होता है कपिल पाठ होता है ठीक है उसमें पैसा पास होता है कोथल में वही हाइपोथैलेमस क्या करता है इस पर ज्यादा हावी होने लगता है जब भी मतलब कोई लड़की को और कोई लड़का देखता है ठीक है अगर वह 7 सेकंड तक उस लड़की को देख ले तो उसका हाइपोथैलेमस क्या होता है एक्टिव हो जाता है ठीक है और आप अभी यहीं से जाने की बलात्कार आखिर क्यों होता है ठीक है दोस्त जब आए पुथल में सकती हो जाता ना तो सबसे बड़ा कारण उसका ही होता है ना जब आज इसको एक्टिव होने का पूरा दिमाग होता ना उसको अपने कब्जे में कर लेता है पुलिस तारीख को 110 कब्जे में कर लेता है और फिर उसी पर फोकस करने लगता है तो क्या होता है ना क्या आप इतनी उसकी कब जिम हो जाते हो वही पुथल मच के और आप का मतलब कोई भी कार्य उसके सिवा आप कहीं मतलब किसी मनवा नहीं लगेगा उसी पर मन लगे जहां पर अपने फोकस किया है उस लड़की पर अभी आपका मन लगेगा लड़कों से बात करो तो इसी कारण क्या होता है कि सभी जब उसके कब्जे मजा दे तब मैं खुद जाकर भी नहीं निकाल पाते हो इसलिए उस वक्त क्या मतलब है फांसी की सजा भी सुना दीजिए ना तुम उड़ गई उस वक्त नहीं चिंता करता है कोई क्योंकि शरीर पूरा दिमाग को क्या मतलब है पर मुझे तो पूरा दिमाग को अपने कंट्रोल में कर लेता है इस से निकलना बहुत मुश्किल हो जाता है निकलने का यही तरीका है कि आप वहां से जल्द से जल्द किसी दूसरी दूसरी जगह भाग जाइए अगर भाग जाते हैं कुछ परिस्थितियां बदलती हैं कुछ कुछ कर दिमाग में कंट्रोल में आएगा तो यह सिर्फ थोड़ा बच सकते हो लेकिन जो आए पुथल में जब एक्टिव हो जाता है तो यही बलात्कार ऐसे मतलब घिनौने कार्य पर यह ज्यादा बढ़ावा देने लगता है ठीक है और उसको कम करने के बाद करूं तो फांसी या फिर किसी भी सजा आप दे देना पैसे जल्दी कम होने वाले नहीं बलात्कार इसका कम करने के कुछ मतलब ऐसे उसका बेटा अपनानी पड़ेगी जिससे कि कुछ बंद हो सकता है पहली बार यह फिल्म इंडस्ट्री ऐसे ऐसे जो मतलब दिखाए जाते हैं उसमें तीन में ठीक है मूड में आजकल देखे भोजपुरी मूवी जो सीन है जहां पर जिसको कट करना चाहिए उसको और स्लो मोशन में दिखाया जा रहा है ऐसा दिखाइए बताइए लड़कों का लड़कियों का मासिक जॉय पुथल में सगाई एक्टिव नहीं होगा तो होगा क्या आजकल जानते बच्चा 10 लड़की और लड़का 10 वर्ष के जज जैसे ही पश्चात में मतलब उम्र ढलने लगता है उसका उस वक्त उसका हाय पुथल मास एक्टिव होने शुरू हो जाता है उसका नियंत्रण होता है उस वक्त उस उमर से लड़कियों की तरफ जाने लगता है और लड़कियों का लड़कों की तरफ से आकर्षित होने लगा उससे पहले कोई बात नहीं देती लेकिन जैसे 10 वर्ष पश्चात 10 क्लास करते हैं वैसे धीमी धीमी धीमी होने लगता अब इसका अंदाजा आप उनको सारिक भाव से देखकर जान सकते जैसे उसके थोड़ा आगे लड़का तो उसको मूंछ दाढ़ी या फिर से बाल आने लगते हैं ठीक हैं और लड़कियां हैं तो उसका भी चेहरा या फिर मतलब ऐसे ही जान सकते हैं रास्ते में स्तन को देखकर आप जान सकते हो क्या हां वह मतलब एक्टिव हो चुकी हैं ऐसी स्थिति में एक लड़के की आवाज में भी बाहर भाई मतलब ऐसे ही आने लगती है इस जान सकते हो कि लड़का भी एक्टिव होने लग रहा है ठीक है तो इससे मतलब रोकने के लिए लड़कों को कम से कम ऐसी स्थिति ऐसा अनुसरण दें आप माता-पिता से अनुरोध करूंगा कि लड़की अपने लड़कियों का एहसास मतला अनुसार ऐसा साथी बिहार मतलब ऐसे लड़कों के साथ में उनका संबंध बनाए ताकि जो लड़का है लड़कों में घुल मिलकर एक अच्छे फ्रेंड के रुप में रहे लड़कियां जो लड़कियों के ऐसे सच्ची अच्छी लड़कियों के साथ है ताकि हम वहां तक उनका मतलब ज्यादा दूर रहना रेप कैसे जाए ऐसी पिछली घटनाओं से वह दूर रहे ठीक है और भक्ति भावना अपने मंदिर जितना ज्यादा रखेंगे उतना ही सबसे थोड़ा दूरी बनाकर रखता पदस्थ आएंगे अपने आप को देखे अन्यथा यह मुश्किल हो जाता है ऐसा करना ठीक है क्योंकि मैंने करो मैंने बताया ना असल में वही जो है सब कुछ कर आता इसलिए तुझे इसलिए सबसे बड़ी बात यह भी है खाने पीने की बात करूं तो प्याज लहसुन ऐसा जी यह जो चीज है ना यह जल्दी है एक्टिव करता है इसलिए अगर विद्यार्थी जीवन में दोस्त गणेश तो आप लहसुन प्याज ऐसे जोक तत्व है मत इसको सबको खाने के लिए आपको बिल्कुल अगर मना ही कर दें तो अच्छा रहेगा लेकिन अगर आप लहसुन प्याज की मसालेदार चीजें क्रेशर ना खाए तो आपका जो है पत्थर में तो एक तो नहीं होगा उतना ज्यादा ठीक है इससे आप बचे रहेंगे अपना अच्छा कार्य करेंगे लेकिन जब ऐसी चीज खाते हैं ना इसको तेरी मसाले या फिर ज्यादा ऐसे मिले वह प्रार्थना तू ज्यादा एक्टिव हो जाता है इससे आप कुछ भी कर लेते हैं मतलब अपने आप को रोक नहीं पाते हो ठीक है इससे कुछ फिक्स है इससे आप आजमा कर हिसाब से बच सकते हैं पूरी कहानियां बुरे फिल्म या फिर पूरी सीन ऐसा मत दिखा करिए उसको रोकने के लिए कुछ ऑफ मोटिवेशन चीजें मोटिवेशन कहानियां बड़े बड़े वीरो कथाओं की कहानियां सुनकर पढ़कर आप उन चीजों से छुटकारा पा सकते हो बस यही तरीका है और बाकी नहीं ठीक है दोस्तों धन्यवाद

Porshia Chawla Ban Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Porshia जी का जवाब
मनोवैज्ञानिक, हैप्पीनेस कोच, ट्रेनर (सॉफ्ट स्किल्स/कॉर्पोरेट)
6:13
आपका सवाल बिल्कुल वाजिब है और एक मनोवैज्ञानिक के तौर पर मैं आपको इसका जवाब देना चाहूंगी कि यह क्यों होता है यह इसीलिए होता है दुष्कर्म क्योंकि जो मानसिकता है पुरुष की वह यहां पर स्त्री को नीचा दिखाना उसकी बेइज्जती करना और उसको डोमिनेट करना रहता है तो यह पावरप्ले है दूसरा कि जो उसका कहेंगे कि उत्तेजना उसके अंदर जागृत हुई है वह उस को शांत करना चाहता है और उसे अगर सामने से रिस्पांस नहीं मिल रहा है तो वह उसके लिए जबरदस्ती यूज करता है यह भी एक रीजन है क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि कोई करीबी होता है जो यह शोषण करता है और कई बार करता है बार-बार करता है कि जब जो स्त्री है उसकी मर्जी के बगैर उसके साथ संबंध स्थापित करते हैं अब इसमें आप देखो कि दोनों में केस इसमें जो मानसिकता है वह आपको कहीं ना कहीं गड़बड़ लगेगा कि यह मेंटल स्टेबल नहीं है और ऐसा होता है कि किसी की भी जो सेक्सुअल स्टेशन है किसी की सेंट्रल टेंडेंसी है वह सीधा सीधा वह चीज के बारे में ना डिसकस करता है ना बताता है और ना पता चलता है तो इसीलिए जब आप किसी को देखते हो कभी आपके देखोगे कि हम को बिल्कुल भी नहीं होता है क्या चाहिए ऐसा काम भी कर सकता है क्या लेकिन फिर भी होता है और यह आपको तभी समझ पाते हो जब खुलासा होता है कि यह पकड़ा गया या इसके बारे में पता चला या किसी ने बयान दिया और अगर किसी ने हिम्मत नहीं किया नहीं बता पाया तो कभी भी पता नहीं चलता है कि क्या-क्या चरित्रहीन व्यक्ति है वह और शादी के बाद भी लोग अपनी वाइफ के साथ भी ऐसा करते हैं तो यहां पावर प्ले बहुत वर्क करता है कि जैसे कि वह एक एडवांटेजियस पोजिशन में है और वह दबा सकता है कंट्रोल कर सकता है स्त्री को तो स्त्री के प्रति जो नजरिया है जिस तरह से स्त्री का बाजारीकरण हो रहा है और जिस तरह से स्त्री को एक वस्तु के रूप में प्रोजेक्ट किया जा रहा है सिनेमा के अंदर मीडिया के अंदर तो उससे कि और ज्यादा प्रवृत्ति गहरी होती जा रही है बढ़ता जा रहा है यह सब और यह हिंसा कहीं ना कहीं खत्म करने का एक ही तरीका है कि जो हमारा भी दिया है उसमें यह चित्र ना हो बार-बार क्योंकि बार-बार यह चीजें दिखाकर आप एक तरह से प्रोग्राम कर रहे हो माइंड कि सामने वाला यही करें चाहे आप समाज की सच्चाई बताने के नाम पर आप यह सब दिखाओ लेकिन बहुत ही चीजें अननेसेसरी होती है जिसको दिखाने की जरूरत नहीं है आप उसको सटल तरीके से बता भी सकते हो लेकिन इतना एलेबोरेट करके पूरा सीन शूट करके बताना तो आप उसमें क्या करना चाह रहे हो आप एक तरह से होते जीत ही कर रहे हो सामने वाले को यह कार्य करने के लिए तो यह कहीं ना कहीं एक रोक लगनी चाहिए दूसरी चीज ही आती है कि जो परवरिश है लड़कों की वही गलत है आज से नहीं पहले से ही गलत है तो यह बताना और दिखाना की एक छोटी सी में आपको बात बताती हूं कि एक घर में एक बार एक व्यक्ति हम लोग और बोल बच्चा है उसका निक्कर जो है वह खुला हुआ था तो मैंने सिर्फ इतना कह दिया कि अरे इसका तो मैंने घर खुला हुआ शेम शेम तो उसको इतना बारिश फील हुआ तो उसकी मम्मी कहती है कि कोई बात नहीं तू लड़का है लड़कों का सब चलता है तो यह रोमांटिक ही है अब आपको ले गई छोटी सी बात है लेकिन ऐसे न जाने कितने खींचते हैं कितने एग्जांपल है कि वह तीन चार साल की उम्र से ही क्या भर रहे हैं आप अपने लड़के के दिमाग में तो फिर बिल्कुल रिस्पेक्ट नहीं रहता है और एक इतना जेंडर डिवाइड क्रिएट हो जाता है कि ह्यूमन बीइंग के जैसे देखते ही नहीं है लेडी को वह एक ऐसे उपभोग की वस्तु के जैसे ही देखते हैं और सिर्फ और सिर्फ अपनी मां के लिए उनका रिकॉर्ड रहते और किसी के लिए नहीं रहता है तो यह गलत है तो यह परवरिश के ऊपर डिपेंड करता है और पढ़ी-लिखी महिलाएं भी यही सब काम कर रही हैं इसीलिए यह जागरूकता लानी बहुत जरूरी है कि किस तरह से हम उनकी परवरिश करें कि उनके अंदर हम ऐसे विचार डाल सके कि जहां वह एक स्त्री को जो है पूरा मान सम्मान दें उसके साथ इस तरह से व्यवहार करें कि जैसे वह कंपनी ही किसी कोई सिस्टर के साथ करेंगे या अपने ही किसी और रिलेटिव या मदर के साथ करेंगे और यह सभी होते हैं ऐसा नहीं बोल रही हूं पर जहां अवेयरनेस की कमी है जहां लोग पढ़ लिख तो गए हैं लेकिन फिल्में एजुकेट नहीं हुए हैं वहां अभी भी यह चीजें कंटिन्यूटी में हो रही है फिर स्कूल के लेवल पर भी देखी टीचर्स कैसे यह ज्ञान दे सकती हैं कैसे यह वर्णित क्रिएट कर सकती हैं और लड़कियों को भी अवैध करें कि किस तरह काबुली किस तरह का बिहेवियर उनको लड़कों को की तरफ से अवॉइड करना है तो यह क्या आप इस तरह से देख सकते हैं कि आप अगर थोड़ा सा चेंज लाने की कोशिश करते हैं अपने लेवल पर तो आप एक लड़के को भी अगर रिस्पांसिबल बनाते हैं तो आप की कितनी संभावना है खुल जाती है क्योंकि वह कितनी अच्छा है फैमिली रेस करेगा वह अपने बच्चों को भी फिर वही संस्कार देगा तो एक जगह से तो कहीं से शुरुआत हो बहुत जरूरी है और जो पुरानी जनरेशन गई है क्या जो हम रेपिस्ट देख रहे हैं बलात्कारी देख रहे हैं वही सीधा गिरवानी मानसिकता का शिकार है और बहुत हद तक मैंने यह भी एक रिसर्च में पड़ा है कि जो लोग ही करते हैं वह कहीं ना कहीं किसी ना किसी सेक्सुअल डिसऑर्डर के भी शिकार होते हैं यह भी एक बात है तो इसीलिए अवेयरनेस ना होने की वजह से और बहुत ज्यादा इसको एक टैटू बनाने की वजह से सेक्स को यह भी एक कारण है कि लोग जोर-जबर्दस्ती सेवर हासिल करने की कोशिश करते हैं तो लड़कियों को आप दिखाओगे करो वह तो है लेकिन पहले सबसे बड़ी बात की है होना ही नहीं चाहिए ना यह गलत ही मानसिकता है यह उसका गलत ही ऑप्शन है यह सोच ही गलत है तो फांसी दे देनी चाहिए बिल्कुल देनी चाहिए ताकि एग्जांपल सेट हो कि यह इस तरह का हमको नहीं करना है काम अगर हमने किया तो उसके बड़े रिप्र्कशंस होंगे और फास्ट ट्रैक कोर्ट होनी चाहिए तो किसी किसी केस में जो हाईलाइट होता भाई होता है लेकिन बहुत सारे अनरिपोर्टेड कैसे जाते हैं और जो रिपोर्ट होते भी हैं तो उनमें कोई कार्यवाही नहीं होती है कई साल होता तो इसीलिए यह सब को इसके ऊपर स्टैंड लेना पड़ेगा सबको बैलेंस चलानी पड़ेगी धन्यवाद

BASANT warkade Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BASANT जी का जवाब
Unknown
1:36
साथियों नमस्कार करता के द्वारा यह प्रश्न ना केवल बोलकर परिवारों के लिए एक प्रश्न है अपितु यह राष्ट्र के लिए बहुत बड़ा प्रश्न है तू साथियों इस प्रश्न का जवाब में सटीक और छोटा सा ही तेरा सांगा साथियों इस प्रकार की से दुष्कर्म है वह केवल हमारी सोच और नजरिया के कारण ही होता है साथ में शादी हमारी सोच और नजरिया बदल जाए प्लीज दुष्कर्म काफी कम होंगे अब प्रश्न उठता है कि हमारी सोच और नजरिया कैसे बदले बस इसका एक ही उपाय है वह है शिक्षा यदि साधारण साधारण व्यक्तियों को शिक्षित किया जाए तो परसों के लिए उनके विचार बदलेंगे यदि विचार बदलेंगे युग बदलेगा और यदि सोच बदलो नजरिया भी बदल जाएगा क्योंकि साथियों इस प्रकार के दुष्कर्म हमारी सोच और नजरिया ही कारण होते हैं सब कुछ इसी का खेल होता है तो साथियों शिक्षा सोच और नजरिया यह 3 साल हर व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए कैसे पहुंचेगा साथियों यह आपके शेयर करने से पोस्ट है साथियों इस जवाब को तब तक शेयर करते रहिए जब तक कि यह सोच प्रत्येक व्यक्ति तक नहीं पहुंच जाता है कि शिक्षा सोच और नजरिया बदलो दुनिया खुद ही बदल जाएगी साथियों अगर जवाब पसंद आए तो प्लीज लाइक करें सब्सक्राइब करें धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#undefined

आचार्य समशेरसिंह यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए आचार्य जी का जवाब
हिन्दी/संस्कृत व्याख्याता और वास्तुविद्
0:44

#धर्म और ज्योतिषी

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:37

#धर्म और ज्योतिषी

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:31

#भारत की राजनीति

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:50

#भारत की राजनीति

आचार्य समशेरसिंह यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए आचार्य जी का जवाब
हिन्दी/संस्कृत व्याख्याता और वास्तुविद्
2:44

#भारत की राजनीति

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:15

#भारत की राजनीति

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:36

#भारत की राजनीति

Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
1:41

#रिश्ते और संबंध

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:00

#भारत की राजनीति

Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:41

#खेल कूद

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:41

#पढ़ाई लिखाई

vineet Upadhyay  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vineet जी का जवाब
Unknown
0:44

#जीवन शैली

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
6:59

#जीवन शैली

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
2:15

#धर्म और ज्योतिषी

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:07

#पढ़ाई लिखाई

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:38

#जीवन शैली

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:20

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
4:58
सवाल से गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है 72 में गणतंत्र दिवस पर क्या आप कोई कविता सुना सकते हैं देखिए देश के राष्ट्रीय त्योहारों में से एक गणतंत्र दिवस के दिन देशवासी स्वतंत्रता सेनानियों व वीर योद्धाओं को स्मरण करते हैं देश की आजादी के करीब ढाई साल बाद 1950 में 26 जनवरी को भारत को संविधान मिला था बता दें कि सन 1948 के आरंभ में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने संविधान सभा की पहली बार संविधान की रूपरेखा प्रस्तुत की थी हालांकि इनमें कुछ संशोधनों के बाद नवंबर 1949 में इसे एक्सेप्ट कर लिया गया और 26 जनवरी 1950 को संविधान पारित हुआ तब से हर साल इस दिन भारत में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है इस वर्ष देश अपना 72 वहां रिपब्लिक डे मनाने जा रहा है बता दें कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान कहा जाता है 26 जनवरी के दिन हमारे देश में गणतंत्र दिवस का त्यौहार बड़ी ही खुशियों के साथ धूमधाम से मनाया जाता है इस राष्ट्रीय पर्व के अवसर पर अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है भक्ति गीत राष्ट्र गीतों के साथ यह पर्व बड़े धूम-धाम से पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है यही बात कविता सुनाने की तो माह जनवरी 26 को हम सब गणतंत्र मनाते हैं और देखो फिर आकर गीत खुशी के गाते हैं संविधान में आजादी वाला बच्चों इस दिन आया है इसने दुनिया में भारत को नवगढ़ तंत्र बनाया है क्या करना है और नहीं क्या संविधान बतलाता भारत में रहने वालों का सबसे गहरा नाता यह अधिकार हमें देता है उन्नति करने वाला ऊंची नीच का भेद न करता ब्राम्हण हो या लाला हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई भाई भाई सबसे पहले संविधान ने बात यही है बतलाई इसके बाद बताई बातें जन-जन के हित वाली पढ़ने में यह सब लगती है बातें बड़ी निराली लेकर सीता कहीं कभी भी ऊंचे पद पा सकते और बड़ा व्यापार नियम से दुनिया में छा सकते देश हमारा रहे कहीं हम काम सभी कर सकते पंचायत से एमपी तक का हम चुनाव लड़ सकते लेकर सस्ता लेकर सताता विधान से शक्तिमान हो सकते और देश की इस धरती पर जो चाहे कर सकते लेकिन संविधान को पढ़कर मानवता को जानो अधिकारों के साथ जुड़े कर्तव्यों को पहचानो इन्हीं पंक्तियों के साथ इन्हीं शब्दों के साथ पूरे देशवासियों को अपने बोलकर पूरे परिवार को गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं बहुत-बहुत बधाई हो गणतंत्र दिवस की जय हिंद जय भारत जय हिंद जय भारत भारत माता की जय भारत माता की जय वंदे मातरम वंदे मातरम जय हिंद जय भारत

#पढ़ाई लिखाई

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:26
अबकी बार कौन सा गणतंत्र दिवस है गणतंत्र दिवस भारत का एक सबसे बड़ा राष्ट्रीय पर्व जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है इसी दिन सन 1950 को भारत सरकार अधिनियम एक तो 1935 को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था एक स्वतंत्र राज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था 26 जनवरी को इसलिए चुना गया था क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस आईएनसी ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था या भारत के 3 राष्ट्रीय पर्वों में से एक है अन्य दो स्वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती के रूप में मनाई जाती है इस वर्ष 2021 में हम 72 हुआ गणतंत्र दिवस मना रहे हैं गणतंत्र दिवस की पूरे देश को ढेर सारी शुभकामनाएं और अपने पूरे बोलकर परिवार को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत बधाई हो जय हिंद जय भारत

#टेक्नोलॉजी

Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:31
दोस्तों आपका सवाल है भारत में सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली का नाम बताइए जो सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली ट्रेन का नाम है गतिमान एक्सप्रेस भारत में सबसे तेज गति से चलने वाली रेलगाड़ी में से एक है जो कि दिल्ली से झांसी के बीच चलती है यह 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गति से चलती है और फिलहाल में भारत से सबसे तेज रेलगाड़ी वर्तमान में चल रही है

#पढ़ाई लिखाई

Abdul_Ahad  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abdul_Ahad जी का जवाब
Unknown
0:44
आकाश आवाज नहीं कहां के लोग सांप को अपनी बीन की धुन पर बचाते हैं तो हमारा भारत के अंदर जैसे सपेरे मौजूद हैं जो सांप पत्नी पिंकी उतरना चाहते हैं और असल में एक फैक्ट्री इसके लिए बोलता है कि सांप सुन नहीं सकता है वह से उसकी आंखों से उसकी तरंगों से महसूस करता है सुनता है तो यहां पर जब कोई चीज उसके सामने घुमाई जाती है तब वह सांप उसके साथ साथ में घूमने लगता है ना कि वो धुन सुन के नाचने लगता है तो आपको जवाब मिल गया होगा उम्मीद शुक्रिया

#पढ़ाई लिखाई

Manju Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Manju जी का जवाब
Unknown
1:21
इंग्लिश में हेलो कहने का स्मार्ट तरीका क्या है तो देखिए एक तो हेलो तभी कहा जाता है जब हम किसी से मिलते हैं अक्सर हम फोन जब उठाते हैं तो पहले हेलो ही कहते हैं तो यह तरीके से ग्रीट करना हुआ जिसे हम बात करना चाहते हैं तो अलग अलग तरीके हैं ग्रेट करने के 12 फॉर्मल में होता है मतलब अच्छे तरीके से अगर आप किसी को ग्रीट करना चाहते हैं जैसे कि हम हिंदी में नमस्कार कहते हैं वैसे ही अगर अंग्रेजी में हेलो के बजे आप कुछ और कहना चाहते हैं तो अगर आप सुबह किसी से मिल रहे हैं और उन्हें ग्रीट करना चाहते तो गुड मॉर्निंग सिगरेट कर सकते हैं अगर दोपहर को मिल रहे हैं तो कह सकते गुड आफ्टरनून और अगर रात को मिल रहे हैं शाम के वक्त को मिल रहे हैं तो गुड इवनिंग कह सकते हैं तो यह अच्छी तरीके से अपग्रेड करना हो गया और इसके अलावा अगर आप किसी हमउम्र व्यक्ति से मिल रहे हैं आपके दोस्त से मिल रहे हैं तो हेलो की वजह आप हाय कैसे हैं या फिर हाय डूड कह सकते हैं या आए हे ब्रो कह सकते हैं यह एक कैजुअल तरीका है और एक फनी तरीका भी होश कह सकते हैं दोस्तों से बात करने का बात किसी बात करने का तो इस तरह से आप साबित करके बात शुरू कर सकते हैं ऐसा करती हो आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा

#पढ़ाई लिखाई

Shiraj khan Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shiraj जी का जवाब
Asst.professor
0:47
जैसे कि आपका प्रश्न इंग्लिश में किसी की तारीफ कैसे करें और देखिए अगर आपको किसी का लुक काफी मनमोहक लग रहा है तो आप अट्रैक्टिव शब्द का इस्तेमाल कर उसकी तारीफ कर सकते हैं उसके अलावा आप स्थानीय नीति और बेहद सुंदर अगर किसी की खूबसूरती आपके होश उड़ा दे दो आप उसके लिए राजस्थानी शब्द का इस्तेमाल कर सकते हैं और उसके बाद डिवाइड बहुत सुंदर इस शब्द का प्रयोग किस सर यह सुंदरता को बढ़ाने के लिए किया जाता है इस शब्द का इस्तेमाल किसी के लिए के गाने पर ऐसा माना जाता है कि उसमें कुछ दिव्या और अलौकिक है प्रकृति की सुंदरता के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है

#टेक्नोलॉजी

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:59
सवाल किए और इन दोनों का उपयोग कहां और कैसे किया जाता है ए और एन का प्रयोग सिंगुलर काउंटेबल नाउन के पहले होता है यदि उठना उनसे किसी अनिश्चित व्यक्ति जानवर या वस्तु का बोध होता है जैसे ही इसे डॉक्टर यदि ना उनसे पहले एडजेक्टिव एडजेक्टिव प्लस नेटवर्क भूत ए एन का प्रयोग अपने सबसे निकट आने वाले शब्द के अनुसार को जैसे ही इस एंड इंटेलिजेंस फॉर ए एन का प्रयोग शब्द के उच्चारण पर निर्भर करता है जिससे पहले उनका प्रयोग होता है ना कि उस शब्द की स्पेलिंग पर या दिवस पर ध्वनि भवरसा उन से प्रारंभ होता है तो एंड कपड़े वह है यदि शब्द व्यंजन ध्वनि कॉन्सोनेंट साउंड से प्रारंभ होता है तो एक का प्रयोग किया जाता है जैसे ही एंड ऑनेस्ट मैन की स्पाइडर मैन पूरी जाति का बोध करने के लिए सिंगल अकाउंट टेबल नाउन के पहले ए एन का प्रयोग किया जाता है
    URL copied to clipboard