#जीवन शैली

bolkar speaker

प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?

Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:38
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसे दिनचर्या अपनानी चाहिए तो सब को पता है कि प्रदूषण मतलब बहुत ज्यादा है और इसकी जिम्मेदार भी हम ही है तो इससे बचने के लिए आप से बाहर निकल रहे हैं तो कवर करके मतलब मुंह को ढक कर मास्क पहनकर नेपाल को कवर करके ऐसे प्रॉपर ड्रेस में चाहिए ताकि किसी भी तरह का सनलाइट भी आपके बॉडी पर ना पड़े और डस्टबिन से भी आप जो इस तरह से आप बाहर निकलिए जब भी आप मतलब बाहर से घर आए तो हाथ मुरली जी रविदास नगर लग भी गया तो उसे फट जाएगा वह हाथ धो लीजिए फिर पानी पीजिए बहाने अपने साथ पानी लेकर जाइए क्योंकि पता नहीं कैसा क्या इन्वेंट करनी तो कभी क्या ठंडी पड़ रही है तो अपने साथ पानी भी रखे पानी पीते रहिए और अपने आपको हमेशा साफ-सुथरा रखी है श्रेष्ठ रखिए का घर में भी जब सुबह का समय मिल पा रहा है तू विंडो वगैरह खोल कर रखे लेकिन असद धूल मिट्टी यह सब जिम्मेदारी वगैरह चलने लगता है इस वजह से विंडो पालकी मेरा फोल्डर सलूशन यह सब आ जाता तो यह सब्सिडी का मतलब आप समझना है तो यह सब सब बंद करके रखे विंडो वाल कि नहीं जो भी हुआ तुझे यह सब चीज भी करके हम बच सकते हैं गाड़ी में बैठना हो घर के बाहर निकलना हो तो कदर करके विंडो को इतना ज्यादा नहीं खोलने के लिए अपने खान-पान का अपनी सेहत का ध्यान रखने के लिए इस तरह से क्या है कि आज ओवीडक्ट पलूशन सावे थे हम काफी हद तक मतलब बन सकते हैं
Pradooshan se bachaav ke lie hamen kaise dinacharya apanaanee chaahie to sab ko pata hai ki pradooshan matalab bahut jyaada hai aur isakee jimmedaar bhee ham hee hai to isase bachane ke lie aap se baahar nikal rahe hain to kavar karake matalab munh ko dhak kar maask pahanakar nepaal ko kavar karake aise propar dres mein chaahie taaki kisee bhee tarah ka sanalait bhee aapake bodee par na pade aur dastabin se bhee aap jo is tarah se aap baahar nikalie jab bhee aap matalab baahar se ghar aae to haath muralee jee ravidaas nagar lag bhee gaya to use phat jaega vah haath dho leejie phir paanee peejie bahaane apane saath paanee lekar jaie kyonki pata nahin kaisa kya invent karanee to kabhee kya thandee pad rahee hai to apane saath paanee bhee rakhe paanee peete rahie aur apane aapako hamesha saaph-suthara rakhee hai shreshth rakhie ka ghar mein bhee jab subah ka samay mil pa raha hai too vindo vagairah khol kar rakhe lekin asad dhool mittee yah sab jimmedaaree vagairah chalane lagata hai is vajah se vindo paalakee mera pholdar salooshan yah sab aa jaata to yah sabsidee ka matalab aap samajhana hai to yah sab sab band karake rakhe vindo vaal ki nahin jo bhee hua tujhe yah sab cheej bhee karake ham bach sakate hain gaadee mein baithana ho ghar ke baahar nikalana ho to kadar karake vindo ko itana jyaada nahin kholane ke lie apane khaan-paan ka apanee sehat ka dhyaan rakhane ke lie is tarah se kya hai ki aaj oveedakt palooshan saave the ham kaaphee had tak matalab ban sakate hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:23
गुड आफ्टरनून सामने आपका सवाल है प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपना ही तो सुनी थी हमें पेड़ लगाना चाहिए लोगों को उत्साहित करना चाहिए था और अब पानी और बाकी चीजों को ध्यान रखना चाहिए कि इधर उधर ना फेंके जिससे पॉल्यूशन हो
Gud aaphtaranoon saamane aapaka savaal hai pradooshan se bachaav ke lie hamen kaisee dinacharya apana hee to sunee thee hamen ped lagaana chaahie logon ko utsaahit karana chaahie tha aur ab paanee aur baakee cheejon ko dhyaan rakhana chaahie ki idhar udhar na phenke jisase polyooshan ho

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
2:58
सुंदर वातावरण को हमने किया लाचार सुंदर वातावरण को हमने किया लाचा इसी को हमने बनाया है दिमाग आ गया है अब वक्त आ गया है हम भी इसे बनाए स्वर और खुशियों का दरबार प्रदूषण जो कि आज हम सब हम सब कहते हैं कि हमें प्रदूषण को कम करना है प्रदूषण को कम करना है परंतु उनमें से कोई भी मेहनत नहीं करना चाहता है कोई और करेगा तब हम करेंगे कोई और यह कार्य करेगा तब हम करेंगे मैं यह कहना चाहती हूं कि पहले आप तो स्टार्ट की थी आप तो बताना कि प्रदूषण को कम करने में तब जाकर आपको देख कर कोई और प्रभावित सबसे बड़ी बात अगर हमें प्रदूषण को कम करना है दिनचर्या को बदलना है हम जिस तरह का जीवन जी रहे हैं हमें इसमें बदलाव लाना होगा नहीं तो वह दिन दूर नहीं कि प्रदूषण से होने वाली बीमारियों से पूरी तरह से खत्म प्रदूषण को कम करने के लिए पहला कदम उठाना चाहिए वह है हमें अपने आसपास के एरिया को साफ रखना चाहिए बदल जाते हैं और घूमी में वह जाकर डीकंपोज हो जाते हैं उन्हें हमें अलग कूड़ेदान में रखना चाहिए और दूसरा कश्मीर उसका यूज़ करके उसे किसी और कार्य के लिए यूज किया जा सके झांसी की भूमि प्रदूषण वायु प्रदूषण इत्यादि हमारा कर्तव्य बनता है कि हम सभी प्रश्नों को खत्म करके साथ में सुंदरवन चौकी अगर हमारा प्यार भरा पूरी तरह से बिगड़ जाएगा इंसान भी धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा यह कोशिश करनी चाहिए कि हम नदियों में कुछ भी ना डालें लोगों लोग धार्मिक मान्यताओं के द्वारा नदियों में तरह-तरह की चीजों को विसर्जित करते हैं जिससे कि जल प्रदूषण बढ़ता जा रहा है उसके अंदर जो मछलियां रहती है या यह कौन है पार्टी एनिमल्स रहते हैं और प्लांट्स रहते हैं उनका जीवन हम धीरे-धीरे
Sundar vaataavaran ko hamane kiya laachaar sundar vaataavaran ko hamane kiya laacha isee ko hamane banaaya hai dimaag aa gaya hai ab vakt aa gaya hai ham bhee ise banae svar aur khushiyon ka darabaar pradooshan jo ki aaj ham sab ham sab kahate hain ki hamen pradooshan ko kam karana hai pradooshan ko kam karana hai parantu unamen se koee bhee mehanat nahin karana chaahata hai koee aur karega tab ham karenge koee aur yah kaary karega tab ham karenge main yah kahana chaahatee hoon ki pahale aap to staart kee thee aap to bataana ki pradooshan ko kam karane mein tab jaakar aapako dekh kar koee aur prabhaavit sabase badee baat agar hamen pradooshan ko kam karana hai dinacharya ko badalana hai ham jis tarah ka jeevan jee rahe hain hamen isamen badalaav laana hoga nahin to vah din door nahin ki pradooshan se hone vaalee beemaariyon se pooree tarah se khatm pradooshan ko kam karane ke lie pahala kadam uthaana chaahie vah hai hamen apane aasapaas ke eriya ko saaph rakhana chaahie badal jaate hain aur ghoomee mein vah jaakar deekampoj ho jaate hain unhen hamen alag koodedaan mein rakhana chaahie aur doosara kashmeer usaka yooz karake use kisee aur kaary ke lie yooj kiya ja sake jhaansee kee bhoomi pradooshan vaayu pradooshan ityaadi hamaara kartavy banata hai ki ham sabhee prashnon ko khatm karake saath mein sundaravan chaukee agar hamaara pyaar bhara pooree tarah se bigad jaega insaan bhee dheere-dheere khatm ho jaega yah koshish karanee chaahie ki ham nadiyon mein kuchh bhee na daalen logon log dhaarmik maanyataon ke dvaara nadiyon mein tarah-tarah kee cheejon ko visarjit karate hain jisase ki jal pradooshan badhata ja raha hai usake andar jo machhaliyaan rahatee hai ya yah kaun hai paartee enimals rahate hain aur plaants rahate hain unaka jeevan ham dheere-dheere

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:11
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए तो बात है देखिए दिनचर्या की तो इस से काम नहीं चलेगा क्योंकि जब प्रदूषण होता है तो उसको हम बांध के नहीं रख सकते हवा प्रदूषण हो सकता है यह आपका ध्वनि प्रदूषण हो सकता है जल प्रदूषण हो सकता है कि यह एक सामाजिक चीजें हैं जो आप को बचाओ तो कुछ दिनों तक कर सकती हैं आप हो सकता है कि मास्क लगा सकते हैं प्रदूषण से बचने के लिए घर में फिल्टर लगा सकते हैं लेकिन आप जब बाहर जाएंगे तो इतना प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष आप से ऊपर प्रभाव पड़ेगा ऐसे ही आप ध्वनि को भी रोक सकते हैं कई चीजें लगाने के लगाके और जल को भी आप आरो के द्वारा साफ कर सकते हैं लेकिन आप को ध्यान रखना है आपकी समाज के प्रति भी एक जिम्मेवारी है आप प्रदूषण कम करने के उपाय देखिए या तो आप की होती रहेगी आपकी आप जीवन में पौधा लगाएं हम पौधे को कोशिश करेंगे पिंगल में कन्वर्ट कर दें उसे अगर आप यादगार बनाना चाहते हैं अपने बच्चे के जन्मदिन में माता पिता जी के जन्मदिन में अपनी एनिवर्सरी पर आप वृक्षारोपण कर सकते हैं वृक्षारोपण करना तो दोस्तों बहुत आसान है फोटो भी खींच जाती है फेसबुक पर भी आ जाती है लेकिन उसको बच्चे की तरह पालना पड़ता है आपसे एक बड़ा करके छोड़े तब ज्यादा फायदा होगा उसका और आप लोगों को प्रेरित करें कि ज्यादा ध्वनि ना करें ध्वनि में जैसे कुछ बच्चों को मैंने देखा है कि बहुत जोर जोर से गाड़ी में आवाज चलाते हैं उसको कम करें ऐसी ही जल को व्यर्थ नष्ट ना करें तभी बचाव हो सकता है हो सकता है कि आप प्रदूषण से तो वह स्वयं तो बच जाए लेकिन आप प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई ना कोई बीमारी गंभीर रूप लेती जा रही है और आप प्रश्न है कि हो सकता है कि बच्चों को आ प्रॉपर्टी छोड़कर जाए आप आप धन छोड़कर जाएं लेकिन शुद्ध वातावरण हमने नहीं छोड़ा तो उनके साथ एक प्रकार से अन्याय होगा धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki pradooshan se bachaav ke lie hamen kaisee dinacharya apanaanee chaahie to baat hai dekhie dinacharya kee to is se kaam nahin chalega kyonki jab pradooshan hota hai to usako ham baandh ke nahin rakh sakate hava pradooshan ho sakata hai yah aapaka dhvani pradooshan ho sakata hai jal pradooshan ho sakata hai ki yah ek saamaajik cheejen hain jo aap ko bachao to kuchh dinon tak kar sakatee hain aap ho sakata hai ki maask laga sakate hain pradooshan se bachane ke lie ghar mein philtar laga sakate hain lekin aap jab baahar jaenge to itana pratyaksh ya apratyaksh aap se oopar prabhaav padega aise hee aap dhvani ko bhee rok sakate hain kaee cheejen lagaane ke lagaake aur jal ko bhee aap aaro ke dvaara saaph kar sakate hain lekin aap ko dhyaan rakhana hai aapakee samaaj ke prati bhee ek jimmevaaree hai aap pradooshan kam karane ke upaay dekhie ya to aap kee hotee rahegee aapakee aap jeevan mein paudha lagaen ham paudhe ko koshish karenge pingal mein kanvart kar den use agar aap yaadagaar banaana chaahate hain apane bachche ke janmadin mein maata pita jee ke janmadin mein apanee enivarsaree par aap vrkshaaropan kar sakate hain vrkshaaropan karana to doston bahut aasaan hai photo bhee kheench jaatee hai phesabuk par bhee aa jaatee hai lekin usako bachche kee tarah paalana padata hai aapase ek bada karake chhode tab jyaada phaayada hoga usaka aur aap logon ko prerit karen ki jyaada dhvani na karen dhvani mein jaise kuchh bachchon ko mainne dekha hai ki bahut jor jor se gaadee mein aavaaj chalaate hain usako kam karen aisee hee jal ko vyarth nasht na karen tabhee bachaav ho sakata hai ho sakata hai ki aap pradooshan se to vah svayan to bach jae lekin aap pratyaksh ya apratyaksh roop se koee na koee beemaaree gambheer roop letee ja rahee hai aur aap prashn hai ki ho sakata hai ki bachchon ko aa propartee chhodakar jae aap aap dhan chhodakar jaen lekin shuddh vaataavaran hamane nahin chhoda to unake saath ek prakaar se anyaay hoga dhanyavaad

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
1:32
नमस्कार मित्रों मैं रोहित राठौर बोलकर एपिसोड स्वागत है आप सबका आपका दिल वाले प्रदूषण से बचाव के लिए हमें किस प्रकार की दिनचर्या का उपयोग करना चाहिए अपनाना चाहिए हमें सुबह जल्दी उठकर घूमना चाहिए याद रखिए में दोस्तों हमें सुबह जल्दी आना 6:00 बजे के पहले पहले उठकर मॉर्निंग वॉक के एक्सरसाइज पर जाना चाहिए क्योंकि सुबह प्रदूषण कम होता है रात भर में जो प्रदूषण होता है वह दबकर ऊपर और धूल मिट्टी के नीचे दिख जाते हैं जिस कारण से सुबह-सुबह कम प्रदूषण होता है अगर आप 6:00 बजे के बाद तो 6:00 बजे के बाद वाहनों का उपयोग हम लोग करना चालू कर देते हैं जिससे वही धूल के कारण दुआ वगैरह वातावरण में फिर से पहले लग जाते हैं और इसी के बाद अगर आप जब भी बाहर निकले तो मास्क का प्रयोग करें इससे आपका रोना वायरस से तो बचा होंगी साथ ही प्रदूषण से भी कहीं बचा होंगे आप जब भी बाहर से आए नमो अच्छे से धो लें ताकि आपके मुंह पर जो प्रदूषण है वह हट जाए और अपने हाथ पांव एवं शरीर साफ करें और कहीं भी आने-जाने के लिए जहां तक हो सके पब्लिक परिवहन एनी पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे बस ऑटो इनका उपयोग करें आप जितना ज्यादा पर्सनल वाहनों का उपयोग करेंगे उतना ही ज्यादा प्रदूषण होगा इसलिए अब जितना हो सके संभवत पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करें धन्यवाद दोस्तों मिलते हैं अगले क्वेश्चन में जब तक लेट है क्या
Namaskaar mitron main rohit raathaur bolakar episod svaagat hai aap sabaka aapaka dil vaale pradooshan se bachaav ke lie hamen kis prakaar kee dinacharya ka upayog karana chaahie apanaana chaahie hamen subah jaldee uthakar ghoomana chaahie yaad rakhie mein doston hamen subah jaldee aana 6:00 baje ke pahale pahale uthakar morning vok ke eksarasaij par jaana chaahie kyonki subah pradooshan kam hota hai raat bhar mein jo pradooshan hota hai vah dabakar oopar aur dhool mittee ke neeche dikh jaate hain jis kaaran se subah-subah kam pradooshan hota hai agar aap 6:00 baje ke baad to 6:00 baje ke baad vaahanon ka upayog ham log karana chaaloo kar dete hain jisase vahee dhool ke kaaran dua vagairah vaataavaran mein phir se pahale lag jaate hain aur isee ke baad agar aap jab bhee baahar nikale to maask ka prayog karen isase aapaka rona vaayaras se to bacha hongee saath hee pradooshan se bhee kaheen bacha honge aap jab bhee baahar se aae namo achchhe se dho len taaki aapake munh par jo pradooshan hai vah hat jae aur apane haath paanv evan shareer saaph karen aur kaheen bhee aane-jaane ke lie jahaan tak ho sake pablik parivahan enee pablik traansaport jaise bas oto inaka upayog karen aap jitana jyaada parsanal vaahanon ka upayog karenge utana hee jyaada pradooshan hoga isalie ab jitana ho sake sambhavat pablik traansaport ka upayog karen dhanyavaad doston milate hain agale kveshchan mein jab tak let hai kya

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Nav kishor Aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nav जी का जवाब
Service
1:26
अंश आप ने सवाल किया कि प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए अच्छा सवाल है सर प्रदूषण आजकल हमारे देश में एक महामारी की तरह फैलता जा रहा है और प्रदूषण की वजह से हमारा वातावरण बहुत दूषित हो रहा है बहुत खराब हो रहा है और इससे कई तरह की बीमारियां उत्पन्न हो रही है तो प्रदूषण से बचने के लिए हमें काफी सारे उपाय अपनाने चाहिए सबसे पहले तो हमें उड़ा कर काट इधर-उधर नहीं भागना चाहिए कूड़े को एक नियत स्थान पर झांकी कूड़े को इकट्ठा कीजिए और उस पूरे को उसकी उचित जगह पर ही हैं कि या उस कूड़े को आग जला दीजिए निदान कर दीजिए उसका और उसके अलावा हमें कोई भी लकड़ी की वस्तु कोयले की वस्तु चलाने से बचना चाहिए और इसके अलावा हमें गंदगी नहीं चलानी चाहिए और यदि हम कोई वाहन इस्तेमाल करते हैं तो हमें उसका प्रदूषण प्रमाण पत्र हमेशा अपने पास रखना चाहिए और वाहन का प्रदूषण नियमित तौर पर करवाते रहना चाहिए क्योंकि यदि उससे कोई दुआ निकलेगा कोई प्रदूषण होगा तो वह हमारी सेहत के लिए हानिकारक होगा दूसरी कैसेट के लिए हानिकारक होगा इसलिए सबसे पहले उड़ा वगैरह जो है वह उचित जगह पर डालें और सफाई का ध्यान रखें और वाहनों से निकलने वाले धुएं को कंट्रोल करें उनका प्रदूषण नियमित तौर पर जांच करवाते रहें इसके अलावा कोई भी ऐसा कार्य ना करें जिससे कि प्रदूषण बड़े या फेल है धन्यवाद
Ansh aap ne savaal kiya ki pradooshan se bachaav ke lie hamen kaisee dinacharya apanaanee chaahie achchha savaal hai sar pradooshan aajakal hamaare desh mein ek mahaamaaree kee tarah phailata ja raha hai aur pradooshan kee vajah se hamaara vaataavaran bahut dooshit ho raha hai bahut kharaab ho raha hai aur isase kaee tarah kee beemaariyaan utpann ho rahee hai to pradooshan se bachane ke lie hamen kaaphee saare upaay apanaane chaahie sabase pahale to hamen uda kar kaat idhar-udhar nahin bhaagana chaahie koode ko ek niyat sthaan par jhaankee koode ko ikattha keejie aur us poore ko usakee uchit jagah par hee hain ki ya us koode ko aag jala deejie nidaan kar deejie usaka aur usake alaava hamen koee bhee lakadee kee vastu koyale kee vastu chalaane se bachana chaahie aur isake alaava hamen gandagee nahin chalaanee chaahie aur yadi ham koee vaahan istemaal karate hain to hamen usaka pradooshan pramaan patr hamesha apane paas rakhana chaahie aur vaahan ka pradooshan niyamit taur par karavaate rahana chaahie kyonki yadi usase koee dua nikalega koee pradooshan hoga to vah hamaaree sehat ke lie haanikaarak hoga doosaree kaiset ke lie haanikaarak hoga isalie sabase pahale uda vagairah jo hai vah uchit jagah par daalen aur saphaee ka dhyaan rakhen aur vaahanon se nikalane vaale dhuen ko kantrol karen unaka pradooshan niyamit taur par jaanch karavaate rahen isake alaava koee bhee aisa kaary na karen jisase ki pradooshan bade ya phel hai dhanyavaad

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:59
प्रदूषण के बचाव के लिए हमें आयुर्वेदिक दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहिए तथा कचरे को कम जलाने की कोशिश करनी चाहिए और गंदे नहीं चलानी चाहिए और कल कारखानों से दुआ जो आता है उसको नहीं आने देना चाहिए ठीक हूं कुछ ज्यादा ऊपर जाना चाहिए और अधिक शादी के पेड़ पौधे लगाने चाहिए दूषण होता तो हमें अपने मकान को ढक के रखना चाहिए और क्योंकि श्यामा सांस की प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए अभी वो को खुला नहीं रखना चाहिए और आज के समय सबसे ज्यादा प्रदूषण वाहनों से होता है फिर उसके बाद कारखानों से होता है क्योंकि वाराणसी जब गाड़ी आप ज्यादा चलती है जब शुरु-शुरु में चैट करते हैं तो इससे प्रदूषण होता है उसे कम करने के लिए हमें गाड़ी दुकान में दूध लेना चाहिए कम चलाना चाहिए और प्रदूषण से बचने के लिए सौर ऊर्जा का प्रयोग करना चाहिए ना कि पदार्थों का सेवन करना कि जब 83 मीटर में आग लगे झूले में लकड़ी जलाने से प्रदूषण तो आसान आंकड़े सौर ऊर्जा का सौर ऊर्जा सौर ऊर्जा में सब कुछ मिलते हैं आजकल तो इससे हर चीज की व्यवस्था पूरी हो सकती है और सौर सौर ऊर्जा के माध्यम से हम प्रदूषण को बचा सकते हैं
Pradooshan ke bachaav ke lie hamen aayurvedik davaiyon ka istemaal karana chaahie tatha kachare ko kam jalaane kee koshish karanee chaahie aur gande nahin chalaanee chaahie aur kal kaarakhaanon se dua jo aata hai usako nahin aane dena chaahie theek hoon kuchh jyaada oopar jaana chaahie aur adhik shaadee ke ped paudhe lagaane chaahie dooshan hota to hamen apane makaan ko dhak ke rakhana chaahie aur kyonki shyaama saans kee problam ho sakatee hai isalie abhee vo ko khula nahin rakhana chaahie aur aaj ke samay sabase jyaada pradooshan vaahanon se hota hai phir usake baad kaarakhaanon se hota hai kyonki vaaraanasee jab gaadee aap jyaada chalatee hai jab shuru-shuru mein chait karate hain to isase pradooshan hota hai use kam karane ke lie hamen gaadee dukaan mein doodh lena chaahie kam chalaana chaahie aur pradooshan se bachane ke lie saur oorja ka prayog karana chaahie na ki padaarthon ka sevan karana ki jab 83 meetar mein aag lage jhoole mein lakadee jalaane se pradooshan to aasaan aankade saur oorja ka saur oorja saur oorja mein sab kuchh milate hain aajakal to isase har cheej kee vyavastha pooree ho sakatee hai aur saur saur oorja ke maadhyam se ham pradooshan ko bacha sakate hain

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:25
प्रदूषण से बचाव के लिए में कैसे दिनचर्या अपना हुए देखे प्रदूषण से बचाव के लिए हम कैसे विदिशा या नहीं आ सकता है कि प्रदूषण आज घर में घुसे हैं हम जग्गू कर सकते हैं कि जितना हो सके पोलूशन से दूर है और सुबह प्राणायाम जगह में होता क्या है हम भी प्रदूषण पूरे दिन में शरीर में अगर है आज और भी कर लिया है तो प्राणायाम से वह शब्द
Pradooshan se bachaav ke lie mein kaise dinacharya apana hue dekhe pradooshan se bachaav ke lie ham kaise vidisha ya nahin aa sakata hai ki pradooshan aaj ghar mein ghuse hain ham jaggoo kar sakate hain ki jitana ho sake polooshan se door hai aur subah praanaayaam jagah mein hota kya hai ham bhee pradooshan poore din mein shareer mein agar hai aaj aur bhee kar liya hai to praanaayaam se vah shabd

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:39

bolkar speaker
प्रदूषण से बचाव के लिए हमें कैसी दिनचर्या अपनानी चाहिए?Pradushan Se Bachav Ke Lie Humein Kaise Dinacharya Apnani Chaiye
Manish Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Manish जी का जवाब
Unknown
0:33

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • प्रदूषण से बचाव,प्रदूषण रोकने के उपाय,प्रदूषण के कारण
URL copied to clipboard