#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?

Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:44
हेलो आज आपके सवाल है कि एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए कि मेरे हिसाब से 1 विद्यार्थी को जिम्मेदार और रिस्पांसिबल होना चाहिए क्योंकि जब तक वह कौन सी बंद नहीं होगा तब तक उसके काम को अच्छे से नहीं कर पाएगा दूसरा है कि उन्हें आलसी नहीं होना है कि केजरीवाल से होंगे तो कोई भी काम मतलब खत्म तो हमें समय पर भी नहीं और ना ही कोई भी काम खत्म हो पाएगा तो आलसी नहीं होना चाहिए एक्टिव रहना चाहिए अपने काम को समय पर खत्म करना चाहिए डेडलाइन जैसी चीजों को ध्यान में रखना चाहिए कि आई ए काम को मुझे वह उस समय पर खत्म करके ठीक है चलना चाहिए खेलकूद के सांसद खान पीन के साथ-साथ अपनी पढ़ाई पर भी मतलब ध्यान देना जो एक यह कौन से समय पर हमें किस वक्त कितना पढ़ना है कौन सा चीज में हम ज्यादा कमजोर है उस चीज को क्लियर करना है ज्यादा समय सब्जेक्ट में देना है ऐसे मतलब और पढ़ाई की दुनिया में ही नहीं घुसे रहना है साथ ही साथ यह मतलब आस-पड़ोस क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है पॉलिटिक्स में क्या हो रही है सब चीजों के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए तुझे क्या होता है कि कभी कदर हम कुछ पढ़ते रहते हैं किसी चीज के बारे में सोचते कि हम ही बनेंगे पता चलता उसमें से नई नई चीज और जब आपको उस चीज में और यह सब क्राइटेरिया एक ऐड हो जा मैं यहां यह सचिव भी आप जब कर पाएंगे तभी आपको यह चीज जॉब मिल सकता है तो बहुत सारी चीज आपको पता ही नहीं होगा कि 3 तारीख को एग्जाम हो रहा है आपको एक टायर के बारे में बताएं 22 टायर कब ऐड हो आपको पता ही नहीं आप उसके लिए पर ही नहीं हो पाएंगे तो हर एक चीज में एक्टिव रहना चाहिए एक स्टूडेंट को अपने काम को समय पर करना चाहिए अपने सेहत का ध्यान रखना चाहिए डेडलाइन को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए मेरी सबसे एक विद्यार्थी का जीवन किस तरह होना चाहिए
Helo aaj aapake savaal hai ki ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie ki mere hisaab se 1 vidyaarthee ko jimmedaar aur rispaansibal hona chaahie kyonki jab tak vah kaun see band nahin hoga tab tak usake kaam ko achchhe se nahin kar paega doosara hai ki unhen aalasee nahin hona hai ki kejareevaal se honge to koee bhee kaam matalab khatm to hamen samay par bhee nahin aur na hee koee bhee kaam khatm ho paega to aalasee nahin hona chaahie ektiv rahana chaahie apane kaam ko samay par khatm karana chaahie dedalain jaisee cheejon ko dhyaan mein rakhana chaahie ki aaee e kaam ko mujhe vah us samay par khatm karake theek hai chalana chaahie khelakood ke saansad khaan peen ke saath-saath apanee padhaee par bhee matalab dhyaan dena jo ek yah kaun se samay par hamen kis vakt kitana padhana hai kaun sa cheej mein ham jyaada kamajor hai us cheej ko kliyar karana hai jyaada samay sabjekt mein dena hai aise matalab aur padhaee kee duniya mein hee nahin ghuse rahana hai saath hee saath yah matalab aas-pados kya ho raha hai kya nahin ho raha hai politiks mein kya ho rahee hai sab cheejon ke baare mein bhee jaanakaaree honee chaahie tujhe kya hota hai ki kabhee kadar ham kuchh padhate rahate hain kisee cheej ke baare mein sochate ki ham hee banenge pata chalata usamen se naee naee cheej aur jab aapako us cheej mein aur yah sab kraiteriya ek aid ho ja main yahaan yah sachiv bhee aap jab kar paenge tabhee aapako yah cheej job mil sakata hai to bahut saaree cheej aapako pata hee nahin hoga ki 3 taareekh ko egjaam ho raha hai aapako ek taayar ke baare mein bataen 22 taayar kab aid ho aapako pata hee nahin aap usake lie par hee nahin ho paenge to har ek cheej mein ektiv rahana chaahie ek stoodent ko apane kaam ko samay par karana chaahie apane sehat ka dhyaan rakhana chaahie dedalain ko hamesha dhyaan mein rakhana chaahie meree sabase ek vidyaarthee ka jeevan kis tarah hona chaahie

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Chandan Kumar bharati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chandan जी का जवाब
Teacher
2:35
हेलो गुड मॉर्निंग आपका ब्रोकन में स्वागत है चंदन कुमार भारती आपका प्रश्न है एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए एक विद्यार्थी का जीवन एकदम कठिन और परिश्रम फील होना चाहिए विद्यार्थी का मतलब होता है कि वह अनुशासन में रहें अनुशासन की नियम के पीछे चल वस्तु प्रकृति में सब कुछ नियम से होता है सूरज और चांद नियम से उगते हैं इसी तरह व्यस्त भी होते हैं पेट में पत्ते समय पर चढ़ते हैं और आते आवा नियम से चलती रहती है समय से आती जाती हैं जब ऐसा नहीं होता तब तो भाई मर जाती इसी तरह छात्र को विद्यार्थी को अनुशासन में रहना चाहता है रहना चाहिए क्योंकि अनुशासन ही देश को महान बनाता है आज भारत के जन जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अनुशासनहीनता दृष्ट कोचर हो रही है अधिकारी अपना काम ठीक से नहीं करते हैं जनसेवा का कम मेवा पर अधिक ध्यान देते हैं विद्यार्थी की रूचि पढ़ाई की ओर नहीं है कभी ऐसा विश्वविद्यालय में कभी दूसरी विश्वविद्यालय की परीक्षा केंद्र में कभी दूसरी परीक्षा केंद्र में एक विद्यालय महाविद्यालय में कभी दूसरे विद्यालय तथा महाविद्यालय में हड़ताल मारपीट पर चर्चा नकल करते रहते हैं यह विद्यार्थी की प्रभाव नहीं विद्यार्थी को यह सब नहीं करना चाहिए उनका तो विद्यार्थियों में अनुशासन हीनता दूर करने के लिए जरूरत है कि मां-बाप उनके समस्त आदर्श प्रस्तुत करें राजनेताओं ने अपना हथियार ना बने और शिक्षक पूरी निष्ठा से उन्हें शिक्षा दें विद्यार्थी जीवन में मनुष्य हीरा होता है विद्यार्थी जीवन में मनुष्य हीरा की तरह होता है यदि यह अनुशासन के सांचे में ढाला जा तू यह चमक उठे अनुशासन से माता समय से अपनी संपत्ति है जो उन्नति का मार्ग प्रशस्त करता है वह अनुशासित विद्यार्थी ही देश को भ्रष्टाचार और गरीबी की दलदल से निकाला जा सकता है इसीलिए बोला जाता है कि जो छात्र होता इसका जीवन बहुत कठिन होता है एनी बहुत परेशानी में होता है इसी के साथ अपनी बॉडी को विराम देता
Helo gud morning aapaka brokan mein svaagat hai chandan kumaar bhaaratee aapaka prashn hai ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie ek vidyaarthee ka jeevan ekadam kathin aur parishram pheel hona chaahie vidyaarthee ka matalab hota hai ki vah anushaasan mein rahen anushaasan kee niyam ke peechhe chal vastu prakrti mein sab kuchh niyam se hota hai sooraj aur chaand niyam se ugate hain isee tarah vyast bhee hote hain pet mein patte samay par chadhate hain aur aate aava niyam se chalatee rahatee hai samay se aatee jaatee hain jab aisa nahin hota tab to bhaee mar jaatee isee tarah chhaatr ko vidyaarthee ko anushaasan mein rahana chaahata hai rahana chaahie kyonki anushaasan hee desh ko mahaan banaata hai aaj bhaarat ke jan jeevan ke pratyek kshetr mein anushaasanaheenata drsht kochar ho rahee hai adhikaaree apana kaam theek se nahin karate hain janaseva ka kam meva par adhik dhyaan dete hain vidyaarthee kee roochi padhaee kee or nahin hai kabhee aisa vishvavidyaalay mein kabhee doosaree vishvavidyaalay kee pareeksha kendr mein kabhee doosaree pareeksha kendr mein ek vidyaalay mahaavidyaalay mein kabhee doosare vidyaalay tatha mahaavidyaalay mein hadataal maarapeet par charcha nakal karate rahate hain yah vidyaarthee kee prabhaav nahin vidyaarthee ko yah sab nahin karana chaahie unaka to vidyaarthiyon mein anushaasan heenata door karane ke lie jaroorat hai ki maan-baap unake samast aadarsh prastut karen raajanetaon ne apana hathiyaar na bane aur shikshak pooree nishtha se unhen shiksha den vidyaarthee jeevan mein manushy heera hota hai vidyaarthee jeevan mein manushy heera kee tarah hota hai yadi yah anushaasan ke saanche mein dhaala ja too yah chamak uthe anushaasan se maata samay se apanee sampatti hai jo unnati ka maarg prashast karata hai vah anushaasit vidyaarthee hee desh ko bhrashtaachaar aur gareebee kee daladal se nikaala ja sakata hai iseelie bola jaata hai ki jo chhaatr hota isaka jeevan bahut kathin hota hai enee bahut pareshaanee mein hota hai isee ke saath apanee bodee ko viraam deta

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:26
अबे साले के विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए तो एक विद्यार्थी का एक विद्यार्थी को अपने जीवन में दिन अपनी दिनचर्या में व्यवहार और अपनी कार्यशैली के लिए मन मस्ती को न्यूनतम एक्शन फुल रखना चाहिए विचलित नहीं होना चाहिए दूसरी विश्वास था में चयन पर इस तरह के चंचल मछली की तरह दृष्टि जमाए रखनी चाहिए एनिमल
Abe saale ke vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie to ek vidyaarthee ka ek vidyaarthee ko apane jeevan mein din apanee dinacharya mein vyavahaar aur apanee kaaryashailee ke lie man mastee ko nyoonatam ekshan phul rakhana chaahie vichalit nahin hona chaahie doosaree vishvaas tha mein chayan par is tarah ke chanchal machhalee kee tarah drshti jamae rakhanee chaahie enimal

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
3:18
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए थी कि बात करना चाहते हैं तो मैं आपको सुझाव दूंगा निश्चित तौर पर विद्यार्थी का जीवन बड़ा ही महत्वपूर्ण होता है जो कि निश्चित तौर पर इसको अपने कैरियर की सारी चीजों को ध्यान में रखना होता है और निश्चित अपने कैरियर के समय कि वह भारतीय भूल जाइए कि विद्यार्थी के पांच लक्षण की होनी चाहिए लेकिन मैं आज के विद्यार्थियों के घर में बात करता हूं मैं चित्तौड़ पर आज का विद्यार्थी की जो जीवन शैली है उसमें थोड़ा सा पर नंबर वन उसकी दिनचर्या निर्धारित होने यानी सुबह-शाम उसको उठने का अपना समय निर्धारित होना चाहिए दूसरा दिन विद्यार्थी अपने जीवन में कम से कम आधे घंटे एक्सरसाइज योगा मेडिटेशन जरूर करना चाहिए इसके बच्चे को विद्यार्थी को अपने खान-पान को बड़ा संतुलित ढंग से रखना पड़ेगा वैसे तौर पर उसका खान-पान जितना बेहतर होगा उतना ही अच्छा उसके स्वास्थ्य के लिए होगा अब हंसता है कि विद्यार्थी को पढ़ने के लिए किस तरह से निश्चित तौर पर ऐसे विद्यार्थियों को अपने समय सारणी के अनुसार जो भी उनको मिल रहा है चाहे वह स्कूल के हैं कॉलेज के हैं यूनिवर्सिटी है या कब डेट इन एग्जामिनेशन उसके तक उनको तत्पर रहना पड़ेगा यह तत्परता बहुत जरूरी है अपने सेलबस का ने कैरियर के प्रति उनकी जिम्मेदारी होनी चाहिए और जब यह सारी चीजें रहेगी तो निश्चित तौर पर वह बहुत बेहतर परिणाम लाएगा तो कहते हैं कि काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा तथैव च त्यागी विद्यार्थी पंच लक्षणम् आप उसकी जरूरत नहीं है विद्यार्थी अगर घर से दूर रहता हॉस्टल में रहता है कहीं पर विद निश्चित तौर पर अपनी पढ़ाई का ध्यान रखें और बेहतर करें तो ज्यादा अच्छा है ऐसी बात नहीं है क्योंकि वह कह रही है पॉजिटिव इसके लिए होती है जहां पर उसको जरूरत होती है अपने कैरियर के बारे में सोचना समझना जानना है और विद्यार्थियों का जुनून और वह सारी चीजें हैं तो मैं आपको बता दूं इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता तो विद्यार्थियों के अंदर एक तो आत्मविश्वास की कमी नहीं होनी चाहिए उनके अंदर पक्के इरादे होन के अंदर दृढ़ निश्चय है और निश्चित तौर पर कुछ करने की क्षमता और अपने कैरियर के प्रति को जागरुक हो और उस कैरियर को लेकर के हमेशा तत्पर रहें और निश्चित तौर पर ऐसे विद्यार्थी अगर रहेंगे तो वह अपने जीवन में सफल होते हैं ऐसे विद्यार्थियों को असफल होने का सबसे अधिक प्रश्न 4 से होता है तो निश्चित तौर पर ऐसे विद्यार्थी जीवन का जीवन चुनौतीपूर्ण तो होता है लेकिन इस चुनौतियों का अगर वह सही सामना कर लेता है तो निश्चित तौर पर बेहतर और अच्छा होगा उसके लिए
Ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie thee ki baat karana chaahate hain to main aapako sujhaav doonga nishchit taur par vidyaarthee ka jeevan bada hee mahatvapoorn hota hai jo ki nishchit taur par isako apane kairiyar kee saaree cheejon ko dhyaan mein rakhana hota hai aur nishchit apane kairiyar ke samay ki vah bhaarateey bhool jaie ki vidyaarthee ke paanch lakshan kee honee chaahie lekin main aaj ke vidyaarthiyon ke ghar mein baat karata hoon main chittaud par aaj ka vidyaarthee kee jo jeevan shailee hai usamen thoda sa par nambar van usakee dinacharya nirdhaarit hone yaanee subah-shaam usako uthane ka apana samay nirdhaarit hona chaahie doosara din vidyaarthee apane jeevan mein kam se kam aadhe ghante eksarasaij yoga mediteshan jaroor karana chaahie isake bachche ko vidyaarthee ko apane khaan-paan ko bada santulit dhang se rakhana padega vaise taur par usaka khaan-paan jitana behatar hoga utana hee achchha usake svaasthy ke lie hoga ab hansata hai ki vidyaarthee ko padhane ke lie kis tarah se nishchit taur par aise vidyaarthiyon ko apane samay saaranee ke anusaar jo bhee unako mil raha hai chaahe vah skool ke hain kolej ke hain yoonivarsitee hai ya kab det in egjaamineshan usake tak unako tatpar rahana padega yah tatparata bahut jarooree hai apane selabas ka ne kairiyar ke prati unakee jimmedaaree honee chaahie aur jab yah saaree cheejen rahegee to nishchit taur par vah bahut behatar parinaam laega to kahate hain ki kaak cheshta bako dhyaanan shvaan nidra tathaiv ch tyaagee vidyaarthee panch lakshanam aap usakee jaroorat nahin hai vidyaarthee agar ghar se door rahata hostal mein rahata hai kaheen par vid nishchit taur par apanee padhaee ka dhyaan rakhen aur behatar karen to jyaada achchha hai aisee baat nahin hai kyonki vah kah rahee hai pojitiv isake lie hotee hai jahaan par usako jaroorat hotee hai apane kairiyar ke baare mein sochana samajhana jaanana hai aur vidyaarthiyon ka junoon aur vah saaree cheejen hain to main aapako bata doon isase behatar kuchh nahin ho sakata to vidyaarthiyon ke andar ek to aatmavishvaas kee kamee nahin honee chaahie unake andar pakke iraade hon ke andar drdh nishchay hai aur nishchit taur par kuchh karane kee kshamata aur apane kairiyar ke prati ko jaagaruk ho aur us kairiyar ko lekar ke hamesha tatpar rahen aur nishchit taur par aise vidyaarthee agar rahenge to vah apane jeevan mein saphal hote hain aise vidyaarthiyon ko asaphal hone ka sabase adhik prashn 4 se hota hai to nishchit taur par aise vidyaarthee jeevan ka jeevan chunauteepoorn to hota hai lekin is chunautiyon ka agar vah sahee saamana kar leta hai to nishchit taur par behatar aur achchha hoga usake lie

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:59
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए तो विद्यार्थी शब्द का अर्थ है विद्या पानी के लिए उत्सुक है वह व्यक्ति और वैसे तो इंसान जो है वह मरते दम तक विद्यार्थी होता है कुछ न कुछ सीखता है लेकिन जो संस्था तमक विद्यार्थी होता है उसका जीवन जो है वह एक निश्चित रूप से विशिष्ट तरह का होना चाहिए क्योंकि एक सिस्टर जो है वह हमें हमें ढोलक हो जाना यह जीवन जीने के लिए बाद में बहुत अच्छी बात होती है और यह हम विद्यार्थी जीवन में शिक्षक ते हैं व्यस्त जीवन में हम विद्या के ऊपर हमारा कंसंट्रेट कंसंट्रेशन करना चाहिए जो भी हमें डाउट्स होते हैं वह हमारे शिक्षकों या प्राध्यापक या अन्य हमारे आजू-बाजू में कुछ नॉलेज के प्रश्न होते हैं उसे लेना चाहिए समझ लेना चाहिए क्लियर करके लेना चाहिए हमें ज्यादा से ज्यादा जल्दी सोना और ज्यादा से ज्यादा जल्दी उठना इसकी आदत हमें विद्यार्थी जीवन में डालनी चाहिए और सुबह जल्दी उठकर हमें एक्सरसाइज दिया गया वह भी जरूरत के अनुसार उम्र के अनुसार करने की आदत डालनी चाहिए हमें कुछ घंटे घंटे जो है वह हमारे रोज के स्टडी के लिए देनी चाहिए और हर रोज स्टडी करना चाहिए थोड़ा थोड़ा हर रोज थोड़ी किया जाता है तो एकदम जो होते हैं वह एग्जाम तक अच्छे तरीके से चली हो जाता है कुछ विद्यार्थी ऐसा करते नहीं है तो एग्जाम जाते हैं और उनको कोई याद नहीं आता है और उनको कम मार्क्स मिलते हैं और कहीं पर भी कोशिश में ज्वाइन करनी हुई मार्च की जरूरत होती है और मार्च के 1 मार्च में ही है नॉलेज है वह वाली जो है वह में आत्मसात करना चाहिए उसी से हमारा जीवन किस तरीके का आगे जाकर बनेगा यह बात तय हो जाती इसलिए विद्यार्थी को नॉलेज जो भी पाठ्यक्रम में है वह सब ग्रहणी करना चाहिए उसे कुछ डाउट नहीं छोड़ना चाहिए कुछ कविताएं नहीं छोड़नी चाहिए इसके लिए पूरा समय भी होता है फैमिली की याद में जो जिम्मेदारी होती है वह विद्यार्थी के ऊपर नहीं रहती है मां बाप के ऊपर रहती है तो उसके बारे में भी डर से नहीं सोचना चाहिए लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए अगर हमारे माता-पिता हमारे लिए सपने देख रहे हैं आप हमारे लिए बहुत ज्यादा शर्म करने लगे हैं उनको भी मदद करना हमें सीखना चाहिए पढ़ने का जो जिसे रीडिंग हैबिट कहते हैं अभी कहते हैं पढ़ोगे तो बच्चों के जो ज्यादा पढ़ते हैं वह बड़े विद्वान हो जाते हैं या उनके क्षेत्र में वह प्रॉपर हो जाते हैं इसलिए हमेशा पुस्तकों के सहवास में भी रहना चाहिए पुस्तक से ज्यादा ग्रंथ के ज्यादा अच्छा कोई मित्र नहीं होता है ऐसा बताया जाता है और यह बात सही है हमें पढ़ने की आदत सिलेबस का पोषण होता है उसके साथ साथ अवंत्र पढ़ने की आदत चाहिए और किसी ने किसी एक ख्वाब जैसे बच्चों को पोस्ट टिकट संग्रह करने के बाद भी होती है और ऐसे अभिश्रुति कोई भी हो लेकिन हां भी और जरूर रखना चाहिए और भाभी जी से कह दो उसे कहते हैं जो उसमें कोई सिर्फ उसको आनंद मिलता है बाकी चीजें उसको मिलने की कोई अपेक्षा नहीं रहती है तो कम से कम एक हाथ भी विद्यार्थी ने अपने हर रोज की जिंदगी में रखनी चाहिए और उसके लिए कुछ समझ लेना चाहिए हमारे गुरुओं का और माता-पिता का आदर सम्मान करना चाहिए उन पर विश्वास रखना चाहिए ऐसी बातें जो मेरे मन में आने की कोशिश करो
Ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie to vidyaarthee shabd ka arth hai vidya paanee ke lie utsuk hai vah vyakti aur vaise to insaan jo hai vah marate dam tak vidyaarthee hota hai kuchh na kuchh seekhata hai lekin jo sanstha tamak vidyaarthee hota hai usaka jeevan jo hai vah ek nishchit roop se vishisht tarah ka hona chaahie kyonki ek sistar jo hai vah hamen hamen dholak ho jaana yah jeevan jeene ke lie baad mein bahut achchhee baat hotee hai aur yah ham vidyaarthee jeevan mein shikshak te hain vyast jeevan mein ham vidya ke oopar hamaara kansantret kansantreshan karana chaahie jo bhee hamen dauts hote hain vah hamaare shikshakon ya praadhyaapak ya any hamaare aajoo-baajoo mein kuchh nolej ke prashn hote hain use lena chaahie samajh lena chaahie kliyar karake lena chaahie hamen jyaada se jyaada jaldee sona aur jyaada se jyaada jaldee uthana isakee aadat hamen vidyaarthee jeevan mein daalanee chaahie aur subah jaldee uthakar hamen eksarasaij diya gaya vah bhee jaroorat ke anusaar umr ke anusaar karane kee aadat daalanee chaahie hamen kuchh ghante ghante jo hai vah hamaare roj ke stadee ke lie denee chaahie aur har roj stadee karana chaahie thoda thoda har roj thodee kiya jaata hai to ekadam jo hote hain vah egjaam tak achchhe tareeke se chalee ho jaata hai kuchh vidyaarthee aisa karate nahin hai to egjaam jaate hain aur unako koee yaad nahin aata hai aur unako kam maarks milate hain aur kaheen par bhee koshish mein jvain karanee huee maarch kee jaroorat hotee hai aur maarch ke 1 maarch mein hee hai nolej hai vah vaalee jo hai vah mein aatmasaat karana chaahie usee se hamaara jeevan kis tareeke ka aage jaakar banega yah baat tay ho jaatee isalie vidyaarthee ko nolej jo bhee paathyakram mein hai vah sab grahanee karana chaahie use kuchh daut nahin chhodana chaahie kuchh kavitaen nahin chhodanee chaahie isake lie poora samay bhee hota hai phaimilee kee yaad mein jo jimmedaaree hotee hai vah vidyaarthee ke oopar nahin rahatee hai maan baap ke oopar rahatee hai to usake baare mein bhee dar se nahin sochana chaahie lekin is baat ka bhee dhyaan rakhana chaahie agar hamaare maata-pita hamaare lie sapane dekh rahe hain aap hamaare lie bahut jyaada sharm karane lage hain unako bhee madad karana hamen seekhana chaahie padhane ka jo jise reeding haibit kahate hain abhee kahate hain padhoge to bachchon ke jo jyaada padhate hain vah bade vidvaan ho jaate hain ya unake kshetr mein vah propar ho jaate hain isalie hamesha pustakon ke sahavaas mein bhee rahana chaahie pustak se jyaada granth ke jyaada achchha koee mitr nahin hota hai aisa bataaya jaata hai aur yah baat sahee hai hamen padhane kee aadat silebas ka poshan hota hai usake saath saath avantr padhane kee aadat chaahie aur kisee ne kisee ek khvaab jaise bachchon ko post tikat sangrah karane ke baad bhee hotee hai aur aise abhishruti koee bhee ho lekin haan bhee aur jaroor rakhana chaahie aur bhaabhee jee se kah do use kahate hain jo usamen koee sirph usako aanand milata hai baakee cheejen usako milane kee koee apeksha nahin rahatee hai to kam se kam ek haath bhee vidyaarthee ne apane har roj kee jindagee mein rakhanee chaahie aur usake lie kuchh samajh lena chaahie hamaare guruon ka aur maata-pita ka aadar sammaan karana chaahie un par vishvaas rakhana chaahie aisee baaten jo mere man mein aane kee koshish karo

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:29
एक विद्यार्थी पंच लक्षणम् एक के है यह तो साला उत्तर है विद्यार्थी को हमेशा हेल्प निद्रा रखना चाहिए स्वामी की तरह उसको हमेशा जागृत रहना चाहिए भक्तों के द्वारा और हो तो हमेशा गृह त्याग करना चाहिए कोई सफलता पाने के लिए और अल्कोहल पूजन करने की जरूरत है और उसको व्यसन और जो काम ना मनोभावे सब चीजों से दूर रहना चाहिए उसका विद्या में ध्यान लगाना चाहिए धन्यवाद
Ek vidyaarthee panch lakshanam ek ke hai yah to saala uttar hai vidyaarthee ko hamesha help nidra rakhana chaahie svaamee kee tarah usako hamesha jaagrt rahana chaahie bhakton ke dvaara aur ho to hamesha grh tyaag karana chaahie koee saphalata paane ke lie aur alkohal poojan karane kee jaroorat hai aur usako vyasan aur jo kaam na manobhaave sab cheejon se door rahana chaahie usaka vidya mein dhyaan lagaana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:41
नमस्कार जैसा की आप पोस्ट अनेक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए जो एक विद्यार्थी का जीवन में बहुत साधारण होना कैसा ना को बताने का एक विद्यार्थी का जैसे मैंने की कहा कि एक सरल जीवन सरल जीवन जीने का मतलब है उसको दुनियादारी की बातों से कोई लेना-देना नहीं होना चाहिए उसे अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए साधारण वह अपने जो उसकी दिन की प्रक्रिया उसका चाल चलन उस आधार पर खैरियत हैं अनुभव होना चाहिए ने विद्यार्थी कोई भी नहीं करता कि वह इस तरीके की कपड़े कपड़े के लोहिया बातचीत के लोग या कुछ मूवीस वगैरा के लोग इस तरीके की देखते हैं हम बोलते हैं तो पहनते हैं कि उन्हें लगता नहीं कि एंड स्टूडेंट स्टूडेंट लाइफ में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं भूत आ जाए तो आज हर स्टूडेंट जानते कि ने 2 साल तक के बच्चों की बात सुन तो हर स्टूडेंट देख कोई भी नशे का शिकार हो रहा है नशा कोई भी हो सकता है नशा प्यार का हो शराब का हो या कोई भी धातु का भी सहारा नशे में चूर है करना चाहिए और एक विद्यार्थी का गोल होना चाहिए किसको पढ़ाई में कुछ करना है अपनी फैमिली के लिए अपने स्कूल के लिए ही उनकी गोल सेट होने चाहिए तुझे एक विद्यार्थी का जीवन है जो एक अच्छे तरीके से बीता जा सकता है और बताया जा सकता है माई से जस्ट धन्यवाद
Namaskaar jaisa kee aap post anek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie jo ek vidyaarthee ka jeevan mein bahut saadhaaran hona kaisa na ko bataane ka ek vidyaarthee ka jaise mainne kee kaha ki ek saral jeevan saral jeevan jeene ka matalab hai usako duniyaadaaree kee baaton se koee lena-dena nahin hona chaahie use apanee padhaee par dhyaan dena chaahie saadhaaran vah apane jo usakee din kee prakriya usaka chaal chalan us aadhaar par khairiyat hain anubhav hona chaahie ne vidyaarthee koee bhee nahin karata ki vah is tareeke kee kapade kapade ke lohiya baatacheet ke log ya kuchh moovees vagaira ke log is tareeke kee dekhate hain ham bolate hain to pahanate hain ki unhen lagata nahin ki end stoodent stoodent laiph mein apana jeevan vyateet kar rahe hain bhoot aa jae to aaj har stoodent jaanate ki ne 2 saal tak ke bachchon kee baat sun to har stoodent dekh koee bhee nashe ka shikaar ho raha hai nasha koee bhee ho sakata hai nasha pyaar ka ho sharaab ka ho ya koee bhee dhaatu ka bhee sahaara nashe mein choor hai karana chaahie aur ek vidyaarthee ka gol hona chaahie kisako padhaee mein kuchh karana hai apanee phaimilee ke lie apane skool ke lie hee unakee gol set hone chaahie tujhe ek vidyaarthee ka jeevan hai jo ek achchhe tareeke se beeta ja sakata hai aur bataaya ja sakata hai maee se jast dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Naman Singh Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Naman जी का जवाब
Student & Social worker
1:18
मुस्कान जैसा कि प्रश्न है कि एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए एक विद्यार्थी का जीवन सरल सहज और कुछ ग्रहण करने वाला होना चाहिए ज्ञान होना चाहिए उसे जहां से भी किसी भी प्रकार की चीज़ सीखने को मिले वह सीखने वाला होना चाहिए ना की जानकारी होना चाहिए कि कोई लंबा व्यक्ति को हमसे छोटा आदमी हमें कौन दिखा रहा है कोई हमारे अमीरी और दूसरा कोई गरीब है में कुछ खाना है तो हम उसे नाशिक है यह विद्यार्थी के ऊपर लागू नहीं होता विद्यार्थियों को गरीब हो चाहे अमीर व है सीखने वाला होता है वह किसी से भी सीखें तू बैठ जाती है मां सरल स्वभाव वाला होता है मूल स्वभाव वाला विनम्र स्वभाव वाला पाई जाती है और उनकी हूं चीजों को अपने जीवन में उतारे और उसे अपने व्यवहार और अपनी शिक्षा अपने ज्ञान से दूसरों का भला करें वही विद्यार्थी हैं जो एक विद्यार्थी का जीवन संभव मदद करने वाला संस्कारी और सीखने वाला होना चाहिए धन्यवाद
Muskaan jaisa ki prashn hai ki ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie ek vidyaarthee ka jeevan saral sahaj aur kuchh grahan karane vaala hona chaahie gyaan hona chaahie use jahaan se bhee kisee bhee prakaar kee cheez seekhane ko mile vah seekhane vaala hona chaahie na kee jaanakaaree hona chaahie ki koee lamba vyakti ko hamase chhota aadamee hamen kaun dikha raha hai koee hamaare ameeree aur doosara koee gareeb hai mein kuchh khaana hai to ham use naashik hai yah vidyaarthee ke oopar laagoo nahin hota vidyaarthiyon ko gareeb ho chaahe ameer va hai seekhane vaala hota hai vah kisee se bhee seekhen too baith jaatee hai maan saral svabhaav vaala hota hai mool svabhaav vaala vinamr svabhaav vaala paee jaatee hai aur unakee hoon cheejon ko apane jeevan mein utaare aur use apane vyavahaar aur apanee shiksha apane gyaan se doosaron ka bhala karen vahee vidyaarthee hain jo ek vidyaarthee ka jeevan sambhav madad karane vaala sanskaaree aur seekhane vaala hona chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:11
विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए यह मैं आपको बताता हूं कि विद्यार्थी को सदा एकाग्रता प्राप्त करनी चाहिए तथा विद्यार्थी को अपने दिनचर्या में अच्छा नियम पालन करना चाहिए अच्छा कार्य करना चाहिए अच्छा व्यवहार करना चाहिए अपने मन मस्तिष्क को संतुलित बनाए रखना चाहिए और किसी से बात करते हो सोच समझ कर बात करना चाहिए सवाल करें तो ही जवाब देना चाहिए धन्यवाद ज्यादा फालतू ना बोल नहीं बोलना चाहिए था कभी किसी बातों में आकर विचलित नहीं होना चाहिए लेकिन एक विद्यार्थी के जीवन में एक टारगेट या लक्ष्य को लेकर चलेगा तो वह कभी असफलता को प्राप्त नहीं होगा क्योंकि विद्यार्थी का काम है पढ़ लिख कर आगे बढ़ना है माता पिता की सेवा करना अपने कर्म करते रहना तथा अधिक से अधिक ज्ञान अर्जित करना या प्राप्त करना
Vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie yah main aapako bataata hoon ki vidyaarthee ko sada ekaagrata praapt karanee chaahie tatha vidyaarthee ko apane dinacharya mein achchha niyam paalan karana chaahie achchha kaary karana chaahie achchha vyavahaar karana chaahie apane man mastishk ko santulit banae rakhana chaahie aur kisee se baat karate ho soch samajh kar baat karana chaahie savaal karen to hee javaab dena chaahie dhanyavaad jyaada phaalatoo na bol nahin bolana chaahie tha kabhee kisee baaton mein aakar vichalit nahin hona chaahie lekin ek vidyaarthee ke jeevan mein ek taaraget ya lakshy ko lekar chalega to vah kabhee asaphalata ko praapt nahin hoga kyonki vidyaarthee ka kaam hai padh likh kar aage badhana hai maata pita kee seva karana apane karm karate rahana tatha adhik se adhik gyaan arjit karana ya praapt karana

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Sanjeev Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sanjeev जी का जवाब
Financial consultant and Ex banker
1:02
उसने कई विद्यार्थी का जीवन कैसा ना चाहिए तो विद्यार्थी का जीवन में सबसे बड़ी चीज होती है उसका लक्ष्य होता है यदि उसके जीवन में कोई लक्ष्य नहीं है तो फिर वो एक विद्यार्थी का जीवन नहीं है अपने लक्ष्य को पहले बनाई है उस लक्ष्य को छोटे-छोटे बच्चों में थोड़ी है छोटे छोटे लक्ष्य को जब प्राप्त करेंगे तो बड़े लक्ष्य को प्राप्त करेंगे भैया ठीक है जीवन एक सहमति जीवन है उसको पता होना चाहिए कि अपने जिंदगी में किस काम को करे तो उसके लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायक होगा कौन सी चीजों का ना करें जिससे उसके लक्ष्य को भटका आएगी इसलिए विद्यार्थी के जीवन के लिए बहुत ही आवश्यक है को अपने जिंदगी में डिसिप्लिन बनाए रखें अपने आत्मज्ञान को बढ़ाएं साजन सामाजिकता को समझे अपने लक्ष्य को समझें और कैरियर से बड़ा कुछ नहीं है तो बीजेपी को अपने कैरियर को पाने के लिए जितनी मदद करनी हो करना चाहिए क्योंकि उसे कैरियर उसके सफर जिंदगी का सूत्र
Usane kaee vidyaarthee ka jeevan kaisa na chaahie to vidyaarthee ka jeevan mein sabase badee cheej hotee hai usaka lakshy hota hai yadi usake jeevan mein koee lakshy nahin hai to phir vo ek vidyaarthee ka jeevan nahin hai apane lakshy ko pahale banaee hai us lakshy ko chhote-chhote bachchon mein thodee hai chhote chhote lakshy ko jab praapt karenge to bade lakshy ko praapt karenge bhaiya theek hai jeevan ek sahamati jeevan hai usako pata hona chaahie ki apane jindagee mein kis kaam ko kare to usake lakshy ko praapt karane mein sahaayak hoga kaun see cheejon ka na karen jisase usake lakshy ko bhataka aaegee isalie vidyaarthee ke jeevan ke lie bahut hee aavashyak hai ko apane jindagee mein disiplin banae rakhen apane aatmagyaan ko badhaen saajan saamaajikata ko samajhe apane lakshy ko samajhen aur kairiyar se bada kuchh nahin hai to beejepee ko apane kairiyar ko paane ke lie jitanee madad karanee ho karana chaahie kyonki use kairiyar usake saphar jindagee ka sootr

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:31
कुछ नहीं गुजराती का जीवन कैसा होना चाहिए तो देखिए अगर सीधे सरल शब्दों में कहा जाता है कि विद्यार्थी का जीवन एक बहुत ही अनुशासन से भरा होना चाहिए समय से उठना समय पर खाना समय पर पढ़ाई करना समझदारी काम करना और विद्यार्थियों को जो है उसे कुत्ते के समान होना चाहिए कि अगर थोड़ा सा भी हमें लगता है कि कोई और उठा रहा है उठना है तो वह कुत्ते के समान तुरंत ही खुल जाना चाहिए तो विद्यार्थी कि नहीं होना चाहिए विद्यार्थी का जीवन जो है उसमें पूरी तरीके से अनुशासन ही होना चाहिए धन्यवाद
Kuchh nahin gujaraatee ka jeevan kaisa hona chaahie to dekhie agar seedhe saral shabdon mein kaha jaata hai ki vidyaarthee ka jeevan ek bahut hee anushaasan se bhara hona chaahie samay se uthana samay par khaana samay par padhaee karana samajhadaaree kaam karana aur vidyaarthiyon ko jo hai use kutte ke samaan hona chaahie ki agar thoda sa bhee hamen lagata hai ki koee aur utha raha hai uthana hai to vah kutte ke samaan turant hee khul jaana chaahie to vidyaarthee ki nahin hona chaahie vidyaarthee ka jeevan jo hai usamen pooree tareeke se anushaasan hee hona chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:22
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका दोस्त आपका सवाल ही विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए दोस्तों विद्यार्थी का जीवन बिल्कुल सिंपल और सादगी भरा होना चाहिए 1 विद्यार्थियों को अपने पढ़ने में मन लगाना चाहिए फालतू के कामों में बिल्कुल मन नहीं लगाना चाहिए और विद्यार्थी का जीवन अपनी पढ़ाई में ही समर्पित होना चाहिए तो धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka dost aapaka savaal hee vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie doston vidyaarthee ka jeevan bilkul simpal aur saadagee bhara hona chaahie 1 vidyaarthiyon ko apane padhane mein man lagaana chaahie phaalatoo ke kaamon mein bilkul man nahin lagaana chaahie aur vidyaarthee ka jeevan apanee padhaee mein hee samarpit hona chaahie to dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Arjun Vishvakrma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Arjun जी का जवाब
Only students
1:04
सबसे पहली बार वेरी बहुत इंपोर्टेंट और बहुत जरूरी बात एक विद्यार्थी का जीवन शांत होना चाहिए क्योंकि किसी भी काम की प्लानिंग हुई यह कोई सभी पेपर होगा किसी भी काम की प्लानिंग आप बिना एकाग्रता के नहीं कर सकते हो इसलिए एक विद्यार्थी का जीवन शांत होना बहुत जरूरी है अगर आपका मन शांत रहेगा तभी आप सक्सेस की तरफ जाने वाले हर रास्ते पर फोकस कर पाओगे नहीं तो कभी नहीं कर पाओगे अगर आपका मन शांत नहीं रहेगा तो मालूम होते हुए भी आप गड्ढे खो दोगे गैरों के लिए और बुरे को खुद उसमें वजह क्या आपका ध्यान गड्डे नीचे खो दोगे और देखो कोई ऊपर कैसा होगा फिर उसी गड्ढे में गिर जाओ मेरा कहने का तात्पर्य है यह हर विद्यार्थी का जीवन पूर्ण परेशान तो सुखी होना बहुत जरूरी है गुरु सक्सेस पाना है
Sabase pahalee baar veree bahut importent aur bahut jarooree baat ek vidyaarthee ka jeevan shaant hona chaahie kyonki kisee bhee kaam kee plaaning huee yah koee sabhee pepar hoga kisee bhee kaam kee plaaning aap bina ekaagrata ke nahin kar sakate ho isalie ek vidyaarthee ka jeevan shaant hona bahut jarooree hai agar aapaka man shaant rahega tabhee aap sakses kee taraph jaane vaale har raaste par phokas kar paoge nahin to kabhee nahin kar paoge agar aapaka man shaant nahin rahega to maaloom hote hue bhee aap gaddhe kho doge gairon ke lie aur bure ko khud usamen vajah kya aapaka dhyaan gadde neeche kho doge aur dekho koee oopar kaisa hoga phir usee gaddhe mein gir jao mera kahane ka taatpary hai yah har vidyaarthee ka jeevan poorn pareshaan to sukhee hona bahut jarooree hai guru sakses paana hai

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Ekta Sahni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ekta जी का जवाब
Unknown
0:38
नमस्कार आप कैसे हैं एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए तो डिसिप्लिन एंड डेडीकेशन दो ऐसे शब्द है जो 1 विद्यार्थियों ने अपना आए तो अपने उद्देश्य को बहुत जल्दी बहुत अच्छी तरह से प्राप्त कर सकता है विद्यार्थी तो अपनी जीवन में नियम बद रहना चाहिए और साथ साथ में समर्पण भावना भी होनी चाहिए कि वह जो करना चाहता है उसके प्रति पूरी तरह से संबंधित है तभी वह अपने उद्देश्य को प्राप्त करना है अगर आपको पसंद आया तो लाइक करें थैंक यू
Namaskaar aap kaise hain ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie to disiplin end dedeekeshan do aise shabd hai jo 1 vidyaarthiyon ne apana aae to apane uddeshy ko bahut jaldee bahut achchhee tarah se praapt kar sakata hai vidyaarthee to apanee jeevan mein niyam bad rahana chaahie aur saath saath mein samarpan bhaavana bhee honee chaahie ki vah jo karana chaahata hai usake prati pooree tarah se sambandhit hai tabhee vah apane uddeshy ko praapt karana hai agar aapako pasand aaya to laik karen thaink yoo

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Rajesh Kumar swami Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Student
0:42
एक विद्यार्थी का जीवन सरल स्वभाव और ईमानदार होना चाहिए कुछ मिजाज का भी होना चाहिए और सभी साथ उसका व्यवहार हो उठ वेट हो सब कुछ हंसी खुशी हो स्टूडेंट के लिए ही काफी है विद्यार्थी के जीवन में ईमानदार होना चाहिए कौवे की तरह उसकी दिमाग तेज होना चाहिए बगुले की तरह से दिमाग भी होना चाहिए किधर चालू है जो चाहिए सब कुछ उसमें से बवाना जरूरी है और इमानदारी और व्यक्तित्व व्यार सब हो ना उसके अंदर जरूरी है एक विद्यार्थी के जीवन में
Ek vidyaarthee ka jeevan saral svabhaav aur eemaanadaar hona chaahie kuchh mijaaj ka bhee hona chaahie aur sabhee saath usaka vyavahaar ho uth vet ho sab kuchh hansee khushee ho stoodent ke lie hee kaaphee hai vidyaarthee ke jeevan mein eemaanadaar hona chaahie kauve kee tarah usakee dimaag tej hona chaahie bagule kee tarah se dimaag bhee hona chaahie kidhar chaaloo hai jo chaahie sab kuchh usamen se bavaana jarooree hai aur imaanadaaree aur vyaktitv vyaar sab ho na usake andar jarooree hai ek vidyaarthee ke jeevan mein

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:48
देखे पुरानी महान नेता ने तो स्टूडेंट के लिए कहा गया कि विद्यार्थी का जीवन ऐसा होना चाहिए काक चेष्टा बको ध्यानम में कवि की तरफ चला कि करें चेष्टा करता रहे नौकरी की तरह अपना ध्यान केंद्रित करें जैसे बकुला ध्यान लगाता है और मछली मिलती है तो तुरंत अपनी सोच को पकड़ता है तो ज्ञान की बात को पकड़े स्वान निद्रा कुत्ते की नींद सोए मैंने इतनी गहरी नींद में न सोए अवसर हाथ से चला जाए काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा तथैव च अल्पाहारी सदाचारी अल्पाहारी का मतलब बहुत अधिक भोजन करने वाला ना हो वालपार का मतलब यह नहीं है कि बिल्कुल भोजन न करें और कम भोजन करें तुम इतना भोजन जो उसके लिए पर्याप्त सदाचारी और सदाचार संयुक्त तो यह पुरानी मान्यता थी आज भी यह गुण एक विद्यार्थी के लिए जरूरी है लेकिन उससे भी ज्यादा जरूरी है अब यह है कि भटकाव के जो रास्ते पुराने थे वह बहुत ज्यादा बदल गए हैं मायाजाल बहुत ज्यादा फैल चुका है तो विद्यार्थी को अब अपना लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए अपनी क्षमताओं को समझना चाहिए और उसके अनुसार उसे प्रयास करना चाहिए उसी क्षेत्र में प्रयास करना जिसमें हो जा सके कल्पना जी बी बनके उसे मेरा ना चाहिए जो दूसरों को देख करके उपकल्पना करने लगे और कुछ भी हाथ ना लगे वह समर्थ है अपना आज कक्षा 4 5 के विद्यार्थी भी पिछली कक्षा आठ नौ के विद्यार्थी से कहीं ज्यादा समझदार हो चुका तो उसे अपनी समाज का प्रयोग करना चाहिए
Dekhe puraanee mahaan neta ne to stoodent ke lie kaha gaya ki vidyaarthee ka jeevan aisa hona chaahie kaak cheshta bako dhyaanam mein kavi kee taraph chala ki karen cheshta karata rahe naukaree kee tarah apana dhyaan kendrit karen jaise bakula dhyaan lagaata hai aur machhalee milatee hai to turant apanee soch ko pakadata hai to gyaan kee baat ko pakade svaan nidra kutte kee neend soe mainne itanee gaharee neend mein na soe avasar haath se chala jae kaak cheshta bako dhyaanan shvaan nidra tathaiv ch alpaahaaree sadaachaaree alpaahaaree ka matalab bahut adhik bhojan karane vaala na ho vaalapaar ka matalab yah nahin hai ki bilkul bhojan na karen aur kam bhojan karen tum itana bhojan jo usake lie paryaapt sadaachaaree aur sadaachaar sanyukt to yah puraanee maanyata thee aaj bhee yah gun ek vidyaarthee ke lie jarooree hai lekin usase bhee jyaada jarooree hai ab yah hai ki bhatakaav ke jo raaste puraane the vah bahut jyaada badal gae hain maayaajaal bahut jyaada phail chuka hai to vidyaarthee ko ab apana lakshy nirdhaarit karana chaahie apanee kshamataon ko samajhana chaahie aur usake anusaar use prayaas karana chaahie usee kshetr mein prayaas karana jisamen ho ja sake kalpana jee bee banake use mera na chaahie jo doosaron ko dekh karake upakalpana karane lage aur kuchh bhee haath na lage vah samarth hai apana aaj kaksha 4 5 ke vidyaarthee bhee pichhalee kaksha aath nau ke vidyaarthee se kaheen jyaada samajhadaar ho chuka to use apanee samaaj ka prayog karana chaahie

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
 Nida Rajput       Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Student Computer Science Education
0:18
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए विद्यार्थी को अपनी पढ़ाई लिखाई अपनी कार्य और अपने व्यवहार में अपने मन मस्तिष्क में एक निरंतर संतुलन बनाए रखना चाहिए ऐसा होना चाहिए एक विद्यार्थी का जीवन धन्यवाद
Ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie vidyaarthee ko apanee padhaee likhaee apanee kaary aur apane vyavahaar mein apane man mastishk mein ek nirantar santulan banae rakhana chaahie aisa hona chaahie ek vidyaarthee ka jeevan dhanyavaad

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Saloni vishwkarma   Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Saloni जी का जवाब
Unknown
1:48
तू कोई क्वेश्चन है कि विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए जो विद्यार्थी होती उनकी पांच लक्षण होते हैं काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा अल्पाहारी विद्यार्थी मित्रों ने विद्यार्थियों को और बको ध्यानम हमें बबली की तरह ही ध्यान लगाना चाहिए तारा में आराम से खड़ा रहता है एक भी मछली आती तो उसे तुरंत पोस्ट डालते हैं और तुरंत निकाल देता है ऐसे ही इतना ध्यान लगाना चाहिए इतनी बारीकी से हर एक विद्यार्थी का और फिर तीसरा है स्वर्ण मुद्रा यानी हमें कुत्ते की तरह होना चाहिए फिर है अल्फा दैनिक कम भोजन खाइए इतना भी नहीं कि भूख से भी पेट भी ना भरे पट्टी थोड़ा अपनी तरफ से कमी पूजन करना चाहिए ज्यादा महेंद्र को नहीं करना चाहिए और फिर है गृह त्यागी पढ़ाई के मामले में घर को बिल्कुल नहीं जाना चाहिए और मेन चीज जो घर को छोड़कर पढ़ने लगा वही सचिव यादव की पुराने जमाने में ऐसा होता था ऋषि मुनि लोग यहां पर घर से दूर लेकर जाते थे जंगल में पढ़ाते थे वहीं पर रहते थे सबकुछ हो रही थी मम्मी पापा से जुड़ जाएगी पर स्थित है
Too koee kveshchan hai ki vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie jo vidyaarthee hotee unakee paanch lakshan hote hain kaak cheshta bako dhyaanan shvaan nidra alpaahaaree vidyaarthee mitron ne vidyaarthiyon ko aur bako dhyaanam hamen babalee kee tarah hee dhyaan lagaana chaahie taara mein aaraam se khada rahata hai ek bhee machhalee aatee to use turant post daalate hain aur turant nikaal deta hai aise hee itana dhyaan lagaana chaahie itanee baareekee se har ek vidyaarthee ka aur phir teesara hai svarn mudra yaanee hamen kutte kee tarah hona chaahie phir hai alpha dainik kam bhojan khaie itana bhee nahin ki bhookh se bhee pet bhee na bhare pattee thoda apanee taraph se kamee poojan karana chaahie jyaada mahendr ko nahin karana chaahie aur phir hai grh tyaagee padhaee ke maamale mein ghar ko bilkul nahin jaana chaahie aur men cheej jo ghar ko chhodakar padhane laga vahee sachiv yaadav kee puraane jamaane mein aisa hota tha rshi muni log yahaan par ghar se door lekar jaate the jangal mein padhaate the vaheen par rahate the sabakuchh ho rahee thee mammee paapa se jud jaegee par sthit hai

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Som Prakash Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Som जी का जवाब
Open to work
2:59
विद्यार्थी का जीवन बहुत ही मेहनत भरा होता है एक विद्यार्थी अपने विद्यार्थी जीवन एक ग्रुप के अंडर भी कर सकता है मुझे अच्छा गुरु मिलता है हो सकता है वह अच्छा भी धरती बने परिणीति एक अच्छा गुरु ही एक विद्यार्थी को अच्छा बना सकता है एक विद्यार्थी के अंदर ही होना चाहिए कि वह एक अच्छा इंसान बन सके आगे जाकर वह बहुत मेहनत करेगा हो सकता है उसने उसका विद्यार्थी दिन 12 साल का रहा हूं 15 साल का है 18 साल का है 25 साल का है 25 साल के विद्यार्थी जीवन होता है जिसे हम ब्रह्मचारी आश्रम बोलते तो उसने उसे बहुत मेहनती करनी जरूरत होती है बहुत कुछ सीखता है वह पैसे नहीं कमाते पर चिंता बहुत ज्यादा है उसे अच्छा गुरु मिलता है तो भी सीखता ही दिया गुरु भी अच्छा नहीं लगता है पुराने जीवन में आश्रम व्यवस्था होती थी आजकल स्कूल कॉलेज हो गए हैं स्कूल कॉलेज से आपको मतलब टेंथ ट्वेल्थ ग्रेजुएशन पहुंच गए डॉक्टर तक की डिग्रियां मिल सकती हो सकता है उसके बाद में आप अपना बिजनेस स्टार्ट करें या आईएएस बन जाए यह किसी फॉरेन कंपनीज में जाकर के करोड़ों का पैकेज दे या हो सकता है कि कुछ ना करें अपने माता-पिता की सेवा करें अपने आस-पड़ोस का ध्यान रखें सफाई बनाए रखें हर बड़े छोटे सभी से विद्यार्थी वही है जो हर किसी से सीखना चाहते हो सकता है कि यह 50 हो गई हो पर फिर भी आप किसी छोटे से बच्चे से कुछ नहीं जी सीख जाएं आजकल कंप्यूटर का जमाना है बच्चे के हाथ में मोबाइल तो वह सारी उसमें पीएचडी करके दिखा देगा उसके वह आपको तुरंत ही उसके सारे फीचर्स बता देगा कि यह यह है यह है और हो सकता है कि 50 साल की उम्र का व्यक्ति है ना कर पाए तो चक्कर है कि यदि आप ऐसा कुछ करते हैं तब विद्यार्थियों 50 की उम्र में भी सीख सकते हैं पढ़ाई कभी खत्म नहीं होती पड़ेगा कभी अंत नहीं होता आप जितना चाहे पढ़ सकते हैं जितना से सीख सकते हैं तो सीखने की ललक होनी चाहिए वह सीखने की ललक यदि आपके अंदर है तो आप कहीं पर भी बंदा हाजिर कर सकते हैं सादा जीवन सरल विचार ही विद्यार्थी को अपनाने चाहिए कुछ लोगों का जीवन ऊंचा होता है उस लोग गरीबी में जीवन यापन करते हैं करीब होते हैं तो उनके पास किताबी नहीं होती है पढ़ने के लिए फीस नहीं होती है देने के लिए बड़ी मुश्किल से पढ़ाई कर पाते हैं बड़ी मुश्किल से डॉक्टर इंजीनियर वकील जज बनते हैं पोस्टल भरा जीवन होता है उसी से कुछ सीखने को मिलता है अमीर लोग होते हैं तो उनके पास सारी सुख सुविधाएं होती हैं उनका स्ट्रगल भरा जीवन नहीं होता है पर वह भी मतलब कुछ अच्छा कर पाते हो सर ऐसा जीवन जी जो दूसरों के काम आए खुद ही अभी काम है दूसरों के भी काम आए
Vidyaarthee ka jeevan bahut hee mehanat bhara hota hai ek vidyaarthee apane vidyaarthee jeevan ek grup ke andar bhee kar sakata hai mujhe achchha guru milata hai ho sakata hai vah achchha bhee dharatee bane parineeti ek achchha guru hee ek vidyaarthee ko achchha bana sakata hai ek vidyaarthee ke andar hee hona chaahie ki vah ek achchha insaan ban sake aage jaakar vah bahut mehanat karega ho sakata hai usane usaka vidyaarthee din 12 saal ka raha hoon 15 saal ka hai 18 saal ka hai 25 saal ka hai 25 saal ke vidyaarthee jeevan hota hai jise ham brahmachaaree aashram bolate to usane use bahut mehanatee karanee jaroorat hotee hai bahut kuchh seekhata hai vah paise nahin kamaate par chinta bahut jyaada hai use achchha guru milata hai to bhee seekhata hee diya guru bhee achchha nahin lagata hai puraane jeevan mein aashram vyavastha hotee thee aajakal skool kolej ho gae hain skool kolej se aapako matalab tenth tvelth grejueshan pahunch gae doktar tak kee digriyaan mil sakatee ho sakata hai usake baad mein aap apana bijanes staart karen ya aaeeees ban jae yah kisee phoren kampaneej mein jaakar ke karodon ka paikej de ya ho sakata hai ki kuchh na karen apane maata-pita kee seva karen apane aas-pados ka dhyaan rakhen saphaee banae rakhen har bade chhote sabhee se vidyaarthee vahee hai jo har kisee se seekhana chaahate ho sakata hai ki yah 50 ho gaee ho par phir bhee aap kisee chhote se bachche se kuchh nahin jee seekh jaen aajakal kampyootar ka jamaana hai bachche ke haath mein mobail to vah saaree usamen peeechadee karake dikha dega usake vah aapako turant hee usake saare pheechars bata dega ki yah yah hai yah hai aur ho sakata hai ki 50 saal kee umr ka vyakti hai na kar pae to chakkar hai ki yadi aap aisa kuchh karate hain tab vidyaarthiyon 50 kee umr mein bhee seekh sakate hain padhaee kabhee khatm nahin hotee padega kabhee ant nahin hota aap jitana chaahe padh sakate hain jitana se seekh sakate hain to seekhane kee lalak honee chaahie vah seekhane kee lalak yadi aapake andar hai to aap kaheen par bhee banda haajir kar sakate hain saada jeevan saral vichaar hee vidyaarthee ko apanaane chaahie kuchh logon ka jeevan ooncha hota hai us log gareebee mein jeevan yaapan karate hain kareeb hote hain to unake paas kitaabee nahin hotee hai padhane ke lie phees nahin hotee hai dene ke lie badee mushkil se padhaee kar paate hain badee mushkil se doktar injeeniyar vakeel jaj banate hain postal bhara jeevan hota hai usee se kuchh seekhane ko milata hai ameer log hote hain to unake paas saaree sukh suvidhaen hotee hain unaka stragal bhara jeevan nahin hota hai par vah bhee matalab kuchh achchha kar paate ho sar aisa jeevan jee jo doosaron ke kaam aae khud hee abhee kaam hai doosaron ke bhee kaam aae

bolkar speaker
एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए?Ek Vidyarthi Ka Jeevan Kaisa Hona Chaiye
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
3:59
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न एक विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए दोस्तों एक विद्यार्थी का जीवन बहुत ही अच्छा सोम में होना चाहिए चारित्रिक दृष्टि से बहुत ही अच्छा होना चाहिए और निस्वार्थ भाव से विद्या ग्रहण करने वाला होना चाहिए दोस्तों क्योंकि एक विद्यार्थी ही होता है जो हमारे देश की जड़ है नियम नियम है यदि वह मजबूत बनेगा तो हमारे देश का भविष्य भी सुधरेगा और देश विकसित होगा विकासशील बनेगा तू तो विज्ञान विद्यार्थी का जो जीवन है वह सादगी पूर्ण सदाचारी होना बहुत ही जरूरी है शिष्टाचार के नियम उनमें भरे जाने बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि दोस्तों उनकी जो चारित्रिक विशेषताएं हैं अच्छाइयां है और जो अच्छे व्यवहार हैं उनके अनुसार ही हम से ओतप्रोत होकर के ही और उनके संपर्क में जो भी आने वाले हैं तभी उनका भी भविष्य सुधारने वाला है तो एक विद्यार्थी जो होता है वह हम देश का भविष्य मान सकते हैं और देश का भविष्य जो होता है तो वह बहुत ही अच्छे से उसकी परवरिश होनी बहुत ही जरूरी होती है और उसको अच्छा माहौल मिला बहुत ही जरूरी होता है उनके जीवन में पढ़ाई से संबंधित मनोरंजन और भी तकनीकी शिक्षा से जुड़ी व्यवस्था होनी चाहिए खेल से जुड़ी व्यवस्था होनी चाहिए ताकि हम जानते हैं कि विद्यार्थी एक प्रकार का एक छुपा रुस्तम हीरा होता है तो न जाने किस दिशा में उसकी अच्छाइयां चलने लगे तकनीकी के क्षेत्र में खेल के क्षेत्र में कला के क्षेत्र में दोस्तों वह आगे चलकर एक बहुत बड़ा इंसान बहुत बड़ा महान विद्वान बनने वाला होता है तो उसको अच्छा माहौल मिले और अच्छा वातावरण अच्छी बोली भाषा व्यवहार ज्ञान ध्यान मिले तो वह एक बहुत ही अच्छा इंसान बन कर के और अपने देश की सेवा कर सकता है देश की सेवा करने में अच्छी आदतों को बनाने में और अपना सहयोग दे सकता है दूसरों का मार्गदर्शक अच्छा आदर्श अनुभवी बन सकता है तो इसलिए तो विद्यार्थी का जीवन है वह बहुत ही सौम्या सादगी से भरा व्यवहार से अच्छे व्यवहार से परिपूर्ण बनाना चाहिए और विद्यार्थियों को भी चाहिए कि वो अच्छे से अपने ज्ञान को अर्जित करें बहुत ही अच्छे ढंग से शांत भाव से ज्ञान को अर्जित करते रहेंगे तो एक न एक दिन उसका ज्ञान काम में आएगा देश के भविष्य को बनाने के लिए वह ज्ञान उनका काम में जरूर आएगा जैसा कि हम जानते हैं कि सोच विचार करने पर कार्य बहुत ही अच्छा बन जाता है तो धैर्य से धीरज से शांति भाव से गिरी विद्यार्थी स्वयं में ज्ञान अर्जित करता है तो वह काम आज वह ज्ञान ध्यान को शिक्षा आगे चलकर एक बड़ा रूप ले लेती है किसी बड़े कार्य को या फिर कोई बड़ी सफलता उन्हें मिल जाती है जो कि सभी के लिए बहुत ही अच्छी होती है ऐसे विद्यार्थी बहुत ही कम देखने को मिलते हैं लेकिन ऐसे होने जरूर चाहिए ताकि हमारा देश हमारे देश का भविष्य अच्छा हूं अच्छा बने धन्यवाद
Namaskaar doston aapaka prashn ek vidyaarthee ka jeevan kaisa hona chaahie doston ek vidyaarthee ka jeevan bahut hee achchha som mein hona chaahie chaaritrik drshti se bahut hee achchha hona chaahie aur nisvaarth bhaav se vidya grahan karane vaala hona chaahie doston kyonki ek vidyaarthee hee hota hai jo hamaare desh kee jad hai niyam niyam hai yadi vah majaboot banega to hamaare desh ka bhavishy bhee sudharega aur desh vikasit hoga vikaasasheel banega too to vigyaan vidyaarthee ka jo jeevan hai vah saadagee poorn sadaachaaree hona bahut hee jarooree hai shishtaachaar ke niyam unamen bhare jaane bahut hee jyaada jarooree hai kyonki doston unakee jo chaaritrik visheshataen hain achchhaiyaan hai aur jo achchhe vyavahaar hain unake anusaar hee ham se otaprot hokar ke hee aur unake sampark mein jo bhee aane vaale hain tabhee unaka bhee bhavishy sudhaarane vaala hai to ek vidyaarthee jo hota hai vah ham desh ka bhavishy maan sakate hain aur desh ka bhavishy jo hota hai to vah bahut hee achchhe se usakee paravarish honee bahut hee jarooree hotee hai aur usako achchha maahaul mila bahut hee jarooree hota hai unake jeevan mein padhaee se sambandhit manoranjan aur bhee takaneekee shiksha se judee vyavastha honee chaahie khel se judee vyavastha honee chaahie taaki ham jaanate hain ki vidyaarthee ek prakaar ka ek chhupa rustam heera hota hai to na jaane kis disha mein usakee achchhaiyaan chalane lage takaneekee ke kshetr mein khel ke kshetr mein kala ke kshetr mein doston vah aage chalakar ek bahut bada insaan bahut bada mahaan vidvaan banane vaala hota hai to usako achchha maahaul mile aur achchha vaataavaran achchhee bolee bhaasha vyavahaar gyaan dhyaan mile to vah ek bahut hee achchha insaan ban kar ke aur apane desh kee seva kar sakata hai desh kee seva karane mein achchhee aadaton ko banaane mein aur apana sahayog de sakata hai doosaron ka maargadarshak achchha aadarsh anubhavee ban sakata hai to isalie to vidyaarthee ka jeevan hai vah bahut hee saumya saadagee se bhara vyavahaar se achchhe vyavahaar se paripoorn banaana chaahie aur vidyaarthiyon ko bhee chaahie ki vo achchhe se apane gyaan ko arjit karen bahut hee achchhe dhang se shaant bhaav se gyaan ko arjit karate rahenge to ek na ek din usaka gyaan kaam mein aaega desh ke bhavishy ko banaane ke lie vah gyaan unaka kaam mein jaroor aaega jaisa ki ham jaanate hain ki soch vichaar karane par kaary bahut hee achchha ban jaata hai to dhairy se dheeraj se shaanti bhaav se giree vidyaarthee svayan mein gyaan arjit karata hai to vah kaam aaj vah gyaan dhyaan ko shiksha aage chalakar ek bada roop le letee hai kisee bade kaary ko ya phir koee badee saphalata unhen mil jaatee hai jo ki sabhee ke lie bahut hee achchhee hotee hai aise vidyaarthee bahut hee kam dekhane ko milate hain lekin aise hone jaroor chaahie taaki hamaara desh hamaare desh ka bhavishy achchha hoon achchha bane dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • विद्यार्थी का जीवन कैसा होना चाहिए एक विद्यार्थी का जीवन
URL copied to clipboard