#भारत की राजनीति

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:37
किसान आंदोलन की वास्तविकता क्या है क्या बात नहीं बनवा रहे थे कि किसान आंदोलन की वास्तविकता यह है कि यह किसान आंदोलन नहीं है मेरी किसान आंदोलन करता तब तक बात बन गई होती क्योंकि यह केवल एक ऐसा मोमेंट है कैसा एक्सपेरिमेंट है जिसको इस तरीके से देखा जा रहा है कि आप आगे आने वाले बिलों का विरोध कैसे करेंगे एक तरीके से तैयारी हो रही है आगे आने वाली बिलु क्योंकि आगे आने वाली डिश टीवी ज्यादा पावरफुल होंगे और देश के हित में होंगे जैसे कि अपना यूनिवर्सल सिविल कोड है अपना यूनिफॉर्म में अपना-अपना पापुलेशन कंट्रोल
Kisaan aandolan kee vaastavikata kya hai kya baat nahin banava rahe the ki kisaan aandolan kee vaastavikata yah hai ki yah kisaan aandolan nahin hai meree kisaan aandolan karata tab tak baat ban gaee hotee kyonki yah keval ek aisa moment hai kaisa eksaperiment hai jisako is tareeke se dekha ja raha hai ki aap aage aane vaale bilon ka virodh kaise karenge ek tareeke se taiyaaree ho rahee hai aage aane vaalee bilu kyonki aage aane vaalee dish teevee jyaada paavaraphul honge aur desh ke hit mein honge jaise ki apana yoonivarsal sivil kod hai apana yooniphorm mein apana-apana paapuleshan kantrol

और जवाब सुनें

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:35
साल की सजा मिल गई वास्तविकता क्या है उसमें सरकारों की शान के बीच में बातचीत नहीं हो पा रहे हैं किसानों की वास्तविकता यह है कि जो बीच के बीच वाले हैं वहीं किसान आंदोलन के संतों की सेवा देने दिल में नहीं है बिजोलिया जो भी है मंडियों के जो भी है वहीं किसान आंदोलन में सबसे ज्यादा जनता को पैसे देकर इकट्ठा कर रहे हैं और सरकार पर दबाव बना रही हैं किसके जो भी कानून दिया है उसको वापिस ले इसलिए सरकार को किसानों के बीच मेरे ख्याल से बात नहीं हो रहे हैं धन्यवाद
Saal kee saja mil gaee vaastavikata kya hai usamen sarakaaron kee shaan ke beech mein baatacheet nahin ho pa rahe hain kisaanon kee vaastavikata yah hai ki jo beech ke beech vaale hain vaheen kisaan aandolan ke santon kee seva dene dil mein nahin hai bijoliya jo bhee hai mandiyon ke jo bhee hai vaheen kisaan aandolan mein sabase jyaada janata ko paise dekar ikattha kar rahe hain aur sarakaar par dabaav bana rahee hain kisake jo bhee kaanoon diya hai usako vaapis le isalie sarakaar ko kisaanon ke beech mere khyaal se baat nahin ho rahe hain dhanyavaad

Ashok Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए Ashok जी का जवाब
कृषक👳💦
0:43
किसानों का शोषण किया जा रहा है और पूंजीवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है यही किसान आंदोलन की आवश्यकता है और सरकार अंबानी जी के लिए राफेल घोटाले करती है और अंबानी जी के सारे पर यह तीनों कृषि कानून बनाए गए ताकि अंबानी किसानों की फसलों का स्टाक कर सके और ऊंचे दामों में बेचकर लाभ कमा सके और किसानों को सर पर पेंशन मिलती रहे और इसलिए मोदी जी इन कानूनों को वापस नहीं ले रहा है और किसानों से बात भी नहीं कर रहा है 40 के साल से ऊपर शहीद हो चुके
Kisaanon ka shoshan kiya ja raha hai aur poonjeevaad ko badhaava diya ja raha hai yahee kisaan aandolan kee aavashyakata hai aur sarakaar ambaanee jee ke lie raaphel ghotaale karatee hai aur ambaanee jee ke saare par yah teenon krshi kaanoon banae gae taaki ambaanee kisaanon kee phasalon ka staak kar sake aur oonche daamon mein bechakar laabh kama sake aur kisaanon ko sar par penshan milatee rahe aur isalie modee jee in kaanoonon ko vaapas nahin le raha hai aur kisaanon se baat bhee nahin kar raha hai 40 ke saal se oopar shaheed ho chuke

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान आंदोलन की वास्तविकता क्या है सरकार और किसानों के बीच बात
URL copied to clipboard