#भारत की राजनीति

bolkar speaker

कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?

Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Subhas Srivastava  Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Subhas जी का जवाब
Unknown
3:40
वेलकम अगेन किसान देशद्रोही कोई किसानों को देशद्रोही तो कोई नहीं कह रहा है पर जो किसानों के नाम पर वहां पर किया जा रहा है कि किसी दोस्त देशद्रोह से कम नहीं है अभी हाल ही में आप लोगों ने न्यूज़ में देखा होगा वहां पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं वजीरे आजम पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं ठीक है वह जो सरजील इमाम और जो जो दिल्ली में राइट सोए थे तो उनको जो है और समर्थन करने वाले लोगों को जेल से छुड़ाने के लिए नारे लगाए जा रहे हैं इसे देशद्रोह की बात है इसलिए उनका जो में बहुत सारे लोग विरोध कर रहे हैं और रही बात किसानों की तुम्हारे सर की उसमें बहुत सारे भोले वाले किसान है जिन को समझ में नहीं आ रहा है जो एक्चुअली जुने पढ़ाई नहीं है कि किसान बिल क्या है कर रहे हो उस पेज में कैसे रिएक्ट करना बट जो किसानों के नाम पर जो कि वहां पर राजनीति कर रहे हैं जैसे वह वहां पर एक पागल आदमी मैं तो उसको दोस्त ही कहूंगा योगेंद्र यादव बैठा है वह कहां का किसान है वह सिर्फ और सिर्फ झूठी राजनीति और सिर्फ क्या कहना चाहिए खून की राजनीति लाशों के ढेर पर ऊपर चढ़ने वाला व्यक्ति है ऐसे दोस्त और पापी व्यक्ति को वहां तो रहने नहीं चाहिए टिकट वह जो है जो कभी अपने वादों पर टिकते ही नहीं है तो और भी बहुत सारे वहां पर हैं यह सब तो इन लोगों ने किसान आंदोलन को हाईजैक कर लिया है और उस पर जो लोगों ने कब्जा कर लिया अब मेन बात आते हैं किसान आंदोलन पर किसान बिल पर किसान बिल जो है किसी भी उसे उसको समर्थन करना उचित नहीं है क्योंकि उस बिल में ऐसा कुछ है ही नहीं जो किसान के अगेंस्ट में हो या उसकी जो है और किसी भी बात को ना करता हो समर्थन ना करता हूं किसानों को एक ऑप्शन दिया गया है एक से ज्यादा ऑप्शन दिए गए हैं कि वह अभी अपने जो भी काम कर रहे हैं जैसे जो मंडी में सब भेजते हैं सामान मंडी के अलावा भी दूसरी जगह भेज सकते हैं मंडी बंद नहीं करी गई है ठीक है बाहर वह कर सकते हैं तो सब अफवाह है और यह एक नंबर का जो है आंदोलन हाईजैक कर लिया क्या किसानों की इसमें कोई भी हित नहीं है किसानों का कोई विस्मृत नहीं है तो इस आंदोलन को मैं तो कम से कम समर्थन नहीं करता हूं कि किस जो भी लाए हैं वह सिर्फ और सिर्फ किसान की भलाई के लिए आए हैं ठीक है और अगर यह सचमुच किसानों के विरुद्ध खराब में होता है या विरोध में होता और उसे किसानों का नुकसान हुआ होता तो सबसे ज्यादा तो धान की खेती में बंगाल में होती है यूपी में होती है तो वह के किसान क्यों नहीं आए सर पंजाब के किसान जो सबसे अमीर हैं ठीक है और सबसे ज्यादा एमएसपीपी वहां पर खरीदा जाता उन लोगों ने इसको बिजनेस बना लिया है और इसकी दलाली करते हैं वहीं लोगों को खोल रहा है कि हम दलाली करते हैं वह पैसा चला जाएगा बस और कुछ भी नहीं है तो मैं इस बिल को एकदम सपोर्ट करता हूं किसान आंदोलन को मैं सपोर्ट नहीं करता हूं यह फर्जी का आंदोलन है और जो कुछ भोले-भाले किसान बैठे हैं उनके साथी मेरी जानू और अगर वह मैया ऑडियो सुने तो उन से रिक्वेस्ट है कि वह बिल पढ़े और अपने घर जाएं किसान आंदोलन में ऐसा कुछ भी नहीं है जो उनके अगेंस्ट हो या उनके हितों को ना ध्यान में रखा क्या है धन्यवाद
Velakam agen kisaan deshadrohee koee kisaanon ko deshadrohee to koee nahin kah raha hai par jo kisaanon ke naam par vahaan par kiya ja raha hai ki kisee dost deshadroh se kam nahin hai abhee haal hee mein aap logon ne nyooz mein dekha hoga vahaan par paakistaan jindaabaad ke naare lagae ja rahe hain vajeere aajam paakistaan jindaabaad ke naare lagae ja rahe hain theek hai vah jo sarajeel imaam aur jo jo dillee mein rait soe the to unako jo hai aur samarthan karane vaale logon ko jel se chhudaane ke lie naare lagae ja rahe hain ise deshadroh kee baat hai isalie unaka jo mein bahut saare log virodh kar rahe hain aur rahee baat kisaanon kee tumhaare sar kee usamen bahut saare bhole vaale kisaan hai jin ko samajh mein nahin aa raha hai jo ekchualee june padhaee nahin hai ki kisaan bil kya hai kar rahe ho us pej mein kaise riekt karana bat jo kisaanon ke naam par jo ki vahaan par raajaneeti kar rahe hain jaise vah vahaan par ek paagal aadamee main to usako dost hee kahoonga yogendr yaadav baitha hai vah kahaan ka kisaan hai vah sirph aur sirph jhoothee raajaneeti aur sirph kya kahana chaahie khoon kee raajaneeti laashon ke dher par oopar chadhane vaala vyakti hai aise dost aur paapee vyakti ko vahaan to rahane nahin chaahie tikat vah jo hai jo kabhee apane vaadon par tikate hee nahin hai to aur bhee bahut saare vahaan par hain yah sab to in logon ne kisaan aandolan ko haeejaik kar liya hai aur us par jo logon ne kabja kar liya ab men baat aate hain kisaan aandolan par kisaan bil par kisaan bil jo hai kisee bhee use usako samarthan karana uchit nahin hai kyonki us bil mein aisa kuchh hai hee nahin jo kisaan ke agenst mein ho ya usakee jo hai aur kisee bhee baat ko na karata ho samarthan na karata hoon kisaanon ko ek opshan diya gaya hai ek se jyaada opshan die gae hain ki vah abhee apane jo bhee kaam kar rahe hain jaise jo mandee mein sab bhejate hain saamaan mandee ke alaava bhee doosaree jagah bhej sakate hain mandee band nahin karee gaee hai theek hai baahar vah kar sakate hain to sab aphavaah hai aur yah ek nambar ka jo hai aandolan haeejaik kar liya kya kisaanon kee isamen koee bhee hit nahin hai kisaanon ka koee vismrt nahin hai to is aandolan ko main to kam se kam samarthan nahin karata hoon ki kis jo bhee lae hain vah sirph aur sirph kisaan kee bhalaee ke lie aae hain theek hai aur agar yah sachamuch kisaanon ke viruddh kharaab mein hota hai ya virodh mein hota aur use kisaanon ka nukasaan hua hota to sabase jyaada to dhaan kee khetee mein bangaal mein hotee hai yoopee mein hotee hai to vah ke kisaan kyon nahin aae sar panjaab ke kisaan jo sabase ameer hain theek hai aur sabase jyaada emesapeepee vahaan par khareeda jaata un logon ne isako bijanes bana liya hai aur isakee dalaalee karate hain vaheen logon ko khol raha hai ki ham dalaalee karate hain vah paisa chala jaega bas aur kuchh bhee nahin hai to main is bil ko ekadam saport karata hoon kisaan aandolan ko main saport nahin karata hoon yah pharjee ka aandolan hai aur jo kuchh bhole-bhaale kisaan baithe hain unake saathee meree jaanoo aur agar vah maiya odiyo sune to un se rikvest hai ki vah bil padhe aur apane ghar jaen kisaan aandolan mein aisa kuchh bhee nahin hai jo unake agenst ho ya unake hiton ko na dhyaan mein rakha kya hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
1:12
किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे थे कि मैं पहले ही आपको बता दूं किसानों को देशद्रोही नहीं कहा जा रहा है वहां के जो लोग हैं आप भी जानते हैं मैं भी जानता हूं ऐसी बात नहीं आपने क्वेश्चन पूछा था कि आपके आसपास के साथ लेते होंगे किस हालत में रहते हैं अब टीवी पर देख लो किसानों के क्या हाल है प्रीति क्या आपने देखा किसी के साथ को जो mercedes-benz में आता हूं जो पिज़्ज़ा खाता हूं बर्गर खाता हूं जिनको जैसी सुविधाएं मिलती हो अभी जब पलायन हुआ था मजदूरों का बेचारे पैदल आ रहे थे खाने तक को नेताओं ने के लिए उनके लिए कुछ व्यवस्था थी कुछ थी नहीं थी इस समय पर देखी कितनी अच्छी व्यवस्था कर रखी है वह फ्री वाई-फाई दिया जा रहा है यह सब कोई विरोध नहीं है यह एक्सपेरिमेंट है कि कैसे हम आने वाले बिलों का विरोध करेंगे कैसे सड़क पर आकर विरोध कर सकते एक बार फिर तो हम सब कुछ कर डालेंगे तो किसलिए आया एनआरसी आया शाहीन बाग में खूब विरोध हुआ था बट गया सब क्लियर हो गया अब यह एक तरीके से एक्सपेरिमेंट हो रहे हैं और पीछे से बहुत बैट मजबूत करके पैसा कसूर है परंतु हो ना जाने कुछ नहीं है कोई किसान भी देशद्रोही नहीं है जय जवान जय किसान वाला देश है हमारा जब तक जवान और किसान है तो प्रदेश तो खुद ही रह सकते हैं कुछ देश विरोधी ताकते हैं क्या
Kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar kar rahe the ki main pahale hee aapako bata doon kisaanon ko deshadrohee nahin kaha ja raha hai vahaan ke jo log hain aap bhee jaanate hain main bhee jaanata hoon aisee baat nahin aapane kveshchan poochha tha ki aapake aasapaas ke saath lete honge kis haalat mein rahate hain ab teevee par dekh lo kisaanon ke kya haal hai preeti kya aapane dekha kisee ke saath ko jo mairchaidais-bainz mein aata hoon jo pizza khaata hoon bargar khaata hoon jinako jaisee suvidhaen milatee ho abhee jab palaayan hua tha majadooron ka bechaare paidal aa rahe the khaane tak ko netaon ne ke lie unake lie kuchh vyavastha thee kuchh thee nahin thee is samay par dekhee kitanee achchhee vyavastha kar rakhee hai vah phree vaee-phaee diya ja raha hai yah sab koee virodh nahin hai yah eksaperiment hai ki kaise ham aane vaale bilon ka virodh karenge kaise sadak par aakar virodh kar sakate ek baar phir to ham sab kuchh kar daalenge to kisalie aaya enaarasee aaya shaaheen baag mein khoob virodh hua tha bat gaya sab kliyar ho gaya ab yah ek tareeke se eksaperiment ho rahe hain aur peechhe se bahut bait majaboot karake paisa kasoor hai parantu ho na jaane kuchh nahin hai koee kisaan bhee deshadrohee nahin hai jay javaan jay kisaan vaala desh hai hamaara jab tak javaan aur kisaan hai to pradesh to khud hee rah sakate hain kuchh desh virodhee taakate hain kya

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:50
आप ने सवाल पूछा है कि कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं तो सबसे पहले बात कर लेते हैं देशद्रोही देशद्रोही इन लोगों को बोल रहे हैं जो किसानों के यहां जल में दखल देकर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं इन्हें वीडियो आ चुके हैं मैंने खुद ने देखा है खालिस्तान के नारे लगाते हैं वीडियो इनको लोग देशद्रोही बोल रहे जो किसानों के बीच में आकर किसानों को भड़काने का काम कर रहे हो रही बात कि शायद इश्क बात कर रखा जाए तो किसान अगर केंद्र सरकार द्वारा अभी 3:00 भी लाए गए उनका विरोध कर रहे हैं धन्यवाद
Aap ne savaal poochha hai ki kuchh log kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar kar rahe hain to sabase pahale baat kar lete hain deshadrohee deshadrohee in logon ko bol rahe hain jo kisaanon ke yahaan jal mein dakhal dekar khaalistaan jindaabaad ke naare laga rahe hain inhen veediyo aa chuke hain mainne khud ne dekha hai khaalistaan ke naare lagaate hain veediyo inako log deshadrohee bol rahe jo kisaanon ke beech mein aakar kisaanon ko bhadakaane ka kaam kar rahe ho rahee baat ki shaayad ishk baat kar rakha jae to kisaan agar kendr sarakaar dvaara abhee 3:00 bhee lae gae unaka virodh kar rahe hain dhanyavaad

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:10
नमस्कार दोस्तों सवाल किया गया है कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं तो देखें दोस्तों किसान को देशद्रोही कहने से पहले मैं यह बताऊं कि किसान किस चीज का विरोध कर रहे हैं तो हम सब लोग जानते हैं कि किसान जो है वह जो तीन कृषि बिल हुए हैं और एमएसपी को लेकर के आए हुए हैं और इसी चीज के ऊपर ही आंदोलन कर रहे हैं अब अब क्यों बोल रहे थे कि इसके पीछे का कारण तो यह होता है कि दो सब होते हैं एक तो होता है सरकार का पक्ष लेने वाला और दूसरा होता है सरकार का विरोध करने वाला किसान कर रहे हैं समर्थन कर रहा है फिर भी नमक खाने के लिए तरस रहे हैं कि हमें नमक चाहिए तो वह लोग इन को देशद्रोही बता रहे हैं किसान विरोध कर रहे हैं दोस्तों टेबल खत्म करके प्रतिक्रिया दे रहे हैं अपनी
Namaskaar doston savaal kiya gaya hai kuchh log kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar kar rahe hain to dekhen doston kisaan ko deshadrohee kahane se pahale main yah bataoon ki kisaan kis cheej ka virodh kar rahe hain to ham sab log jaanate hain ki kisaan jo hai vah jo teen krshi bil hue hain aur emesapee ko lekar ke aae hue hain aur isee cheej ke oopar hee aandolan kar rahe hain ab ab kyon bol rahe the ki isake peechhe ka kaaran to yah hota hai ki do sab hote hain ek to hota hai sarakaar ka paksh lene vaala aur doosara hota hai sarakaar ka virodh karane vaala kisaan kar rahe hain samarthan kar raha hai phir bhee namak khaane ke lie taras rahe hain ki hamen namak chaahie to vah log in ko deshadrohee bata rahe hain kisaan virodh kar rahe hain doston tebal khatm karake pratikriya de rahe hain apanee

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:41
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कर रहे हैं किसान विरोध इस बात को लेकर कर रहे हैं सब लोगों को लोगों को वैसे कहने का अधिकार है लेकिन किसानों को देशद्रोही नहीं तो मैं मानता हूं कि 50 परसेंट किसान ऐसे हैं जो राजनीति से प्रेरित जो वास्तविकता में कुछ ऐसे आरती है उनको फाइनेंसियल कर रहे हैं इस ओर से 6 जुलाई 25 से 30 परसेंट है जो ऑनेस्ट के साथ उनका विरोध उस कानून से और प्लस चोपड़ा ली है और भी पर्यावरण को लेकर के अधिकार में अच्छा है कंपनी मालिक जाकर उसने देखा कि भैया हमने गोभी का कांट्रैक्ट कर लिया आपसे कि मैं आपको ₹10 किलो खरीद लूंगा या ₹20 किलो खरीदोगे प्रोडक्शन बढ़ गया और मार्केट में स्थित कीमत ₹3 हो गई तो क्या वह ₹10 में खरीदेगी सरकार गहरी ही नहीं वह खरीदेगा ₹10 में क्योंकि उसने कॉन्टैक्ट नो कांटेक्ट करने पर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है यानी कि एसडीम जैसे छोटी कोर्ट में पहुंचने का मतलब है कि वहां से काम रफा-दफा हो सकता है उसको जो है कोर्ट लेवल बढ़ाया जाए इसके अलावा और कुछ है जो उनकी कुछ मांगे जायज ऐसा भी नहीं कह सकता है कि बिल्कुल बेवकूफ ऑफिस राम बैठे हैं भीड़ इकट्ठा सरके जो रोड जाम किया और बहुत सारे ग्रुप है तो कहीं मैं तो आप देना नहीं रहता कुछ शरारती तत्वों से इनको बचना चाहिए निश्चित तौर पर बहुत सारे शरारती तत्वों में जुड़ गए हैं खास करके जो हमारे मार्क्सवादी कम्युनिस्ट के लोग हो गए हैं भारतीयों का एक बहुत बड़ा नेटवर्क जुड़ गया है खालिस्तान कमांडो वाले जो जुड़ गए हैं वह थोड़ा सा दुर्भाग्यपूर्ण के इसमें उनको ध्यान रखना पड़ेगा
Kuchh log kisaan ko deshadrohee kar rahe hain kisaan virodh is baat ko lekar kar rahe hain sab logon ko logon ko vaise kahane ka adhikaar hai lekin kisaanon ko deshadrohee nahin to main maanata hoon ki 50 parasent kisaan aise hain jo raajaneeti se prerit jo vaastavikata mein kuchh aise aaratee hai unako phainensiyal kar rahe hain is or se 6 julaee 25 se 30 parasent hai jo onest ke saath unaka virodh us kaanoon se aur plas chopada lee hai aur bhee paryaavaran ko lekar ke adhikaar mein achchha hai kampanee maalik jaakar usane dekha ki bhaiya hamane gobhee ka kaantraikt kar liya aapase ki main aapako ₹10 kilo khareed loonga ya ₹20 kilo khareedoge prodakshan badh gaya aur maarket mein sthit keemat ₹3 ho gaee to kya vah ₹10 mein khareedegee sarakaar gaharee hee nahin vah khareedega ₹10 mein kyonki usane kontaikt no kaantekt karane par usake khilaaph kaanoonee kaarravaee ho sakatee hai yaanee ki esadeem jaise chhotee kort mein pahunchane ka matalab hai ki vahaan se kaam rapha-dapha ho sakata hai usako jo hai kort leval badhaaya jae isake alaava aur kuchh hai jo unakee kuchh maange jaayaj aisa bhee nahin kah sakata hai ki bilkul bevakooph ophis raam baithe hain bheed ikattha sarake jo rod jaam kiya aur bahut saare grup hai to kaheen main to aap dena nahin rahata kuchh sharaaratee tatvon se inako bachana chaahie nishchit taur par bahut saare sharaaratee tatvon mein jud gae hain khaas karake jo hamaare maarksavaadee kamyunist ke log ho gae hain bhaarateeyon ka ek bahut bada netavark jud gaya hai khaalistaan kamaando vaale jo jud gae hain vah thoda sa durbhaagyapoorn ke isamen unako dhyaan rakhana padega

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:37
प्रश्न है कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे थे कि किसान देशद्रोही नहीं है किसान अपने हक की बात कर रहे हैं जिन लोगों की बात की जाए वह कहीं ना कहीं भाजपा समर्थक होंगे यह कहा जाए कि भाजपा का ही गुणगान करते होंगे लेकिन इस बात का सबसे बड़ा असर करता है कि दिखा जाए अगर भाजपा के पक्ष में अगर जो भी बातें होती है वह कहा जाता है कि देशभक्ति की बात हो रही है वहीं अगर भाजपा के विरोधी की बात की जाए तो वही देशद्रोही की बात होती है कि कई सालों से ऐसा ही चला आ रहा है लेकिन हमें मुद्दा है किसान की तो किसान की ही बात करेंगे किसान किस बात का विरोध करने देखिए कृषि कानून जो नया नियम लागू हुआ है उस पर बात कर रहे हैं उसके साथ साथ वह एक एमएसपी पर अच्छी अच्छा कानून चाहते हैं जो एस एम एस पी अपने हिसाब से सब के लिए लागू कराने की बात करें वही एक और नियम है कि पर आलू पराली पर बने जो कानून है उसमें भी संशोधन की बात कर रहे हैं उसके अलावा विद्युत संशोधन विधेयक जो आया है उसमें भी वह बदलाव चाहते हैं तो ईद चार मुद्दे हैं चारों में दो फिर लेकर लेकिन सबसे बड़ा मुद्दा किसान जो कानून कृषि कानून लागू किया गया उसको लेकर बहुत ज्यादा एमएसपी और किसान कृषि कृषि कानून बहुत ज्यादा मुद्दा लेकर आ रही है यही कारण है कि आज किसान आंदोलन कर रहे हैं
Prashn hai kuchh log kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar kar rahe the ki kisaan deshadrohee nahin hai kisaan apane hak kee baat kar rahe hain jin logon kee baat kee jae vah kaheen na kaheen bhaajapa samarthak honge yah kaha jae ki bhaajapa ka hee gunagaan karate honge lekin is baat ka sabase bada asar karata hai ki dikha jae agar bhaajapa ke paksh mein agar jo bhee baaten hotee hai vah kaha jaata hai ki deshabhakti kee baat ho rahee hai vaheen agar bhaajapa ke virodhee kee baat kee jae to vahee deshadrohee kee baat hotee hai ki kaee saalon se aisa hee chala aa raha hai lekin hamen mudda hai kisaan kee to kisaan kee hee baat karenge kisaan kis baat ka virodh karane dekhie krshi kaanoon jo naya niyam laagoo hua hai us par baat kar rahe hain usake saath saath vah ek emesapee par achchhee achchha kaanoon chaahate hain jo es em es pee apane hisaab se sab ke lie laagoo karaane kee baat karen vahee ek aur niyam hai ki par aaloo paraalee par bane jo kaanoon hai usamen bhee sanshodhan kee baat kar rahe hain usake alaava vidyut sanshodhan vidheyak jo aaya hai usamen bhee vah badalaav chaahate hain to eed chaar mudde hain chaaron mein do phir lekar lekin sabase bada mudda kisaan jo kaanoon krshi kaanoon laagoo kiya gaya usako lekar bahut jyaada emesapee aur kisaan krshi krshi kaanoon bahut jyaada mudda lekar aa rahee hai yahee kaaran hai ki aaj kisaan aandolan kar rahe hain

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:52
जो लोग किसी दूसरे की परेशानी नहीं समझते हैं और किसी न किसी तरह से उसको उसको कीचड़ उछालना है वह देश के दुश्मन कहलाते हैं तो किसान वाकई राष्ट्र निर्माता है अनाज को पैदा करके पूरे देश को देता है सब लोग खाते हैं तो जिस प्रकार से एक नाकारा बेटा बाप का बाप को ही गालियां बकता रहता है उसी तरह से इस तरह के समाज में बहुत सारे लोग हैं जो किसान के आंदोलन को फेल करना चाहते हैं उसी का कमाया वह खाते हैं और उसी पत्थर पर छेद करते हैं ऐसे लोग समाज के दुश्मन हैं किसान समाज का दुश्मन कभी नहीं हो सकता है किसान तो राष्ट्र का निर्माता है फिर भी सरकार अगर उनके मन की बात को नहीं समझ पा रही है और इस किसान विरोधी कानून को नहीं अगर समाप्त कर रही है तो सरकार उनके प्रति अच्छा नहीं कर रही है मैं सरकारी कानून के पक्ष में नहीं हूं मैं किसानों के पक्ष में
Jo log kisee doosare kee pareshaanee nahin samajhate hain aur kisee na kisee tarah se usako usako keechad uchhaalana hai vah desh ke dushman kahalaate hain to kisaan vaakee raashtr nirmaata hai anaaj ko paida karake poore desh ko deta hai sab log khaate hain to jis prakaar se ek naakaara beta baap ka baap ko hee gaaliyaan bakata rahata hai usee tarah se is tarah ke samaaj mein bahut saare log hain jo kisaan ke aandolan ko phel karana chaahate hain usee ka kamaaya vah khaate hain aur usee patthar par chhed karate hain aise log samaaj ke dushman hain kisaan samaaj ka dushman kabhee nahin ho sakata hai kisaan to raashtr ka nirmaata hai phir bhee sarakaar agar unake man kee baat ko nahin samajh pa rahee hai aur is kisaan virodhee kaanoon ko nahin agar samaapt kar rahee hai to sarakaar unake prati achchha nahin kar rahee hai main sarakaaree kaanoon ke paksh mein nahin hoon main kisaanon ke paksh mein

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:37
प्रश्न है कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे थे कि किसान देशद्रोही नहीं है किसान अपने हक की बात कर रहे हैं जिन लोगों की बात की जाए वह कहीं ना कहीं भाजपा समर्थक होंगे यह कहा जाए कि भाजपा का ही गुणगान करते होंगे लेकिन इस बात का सबसे बड़ा असर करता है कि दिखा जाए अगर भाजपा के पक्ष में अगर जो भी बातें होती है वह कहा जाता है कि देशभक्ति की बात हो रही है वहीं अगर भाजपा के विरोधी की बात की जाए तो वही देशद्रोही की बात होती है कि कई सालों से ऐसा ही चला आ रहा है लेकिन हमें मुद्दा है किसान की तो किसान की ही बात करेंगे किसान किस बात का विरोध करने देखिए कृषि कानून जो नया नियम लागू हुआ है उस पर बात कर रहे हैं उसके साथ साथ वह एक एमएसपी पर अच्छी अच्छा कानून चाहते हैं जो एस एम एस पी अपने हिसाब से सब के लिए लागू कराने की बात करें वही एक और नियम है कि पर आलू पराली पर बने जो कानून है उसमें भी संशोधन की बात कर रहे हैं उसके अलावा विद्युत संशोधन विधेयक जो आया है उसमें भी वह बदलाव चाहते हैं तो ईद चार मुद्दे हैं चारों में दो फिर लेकर लेकिन सबसे बड़ा मुद्दा किसान जो कानून कृषि कानून लागू किया गया उसको लेकर बहुत ज्यादा एमएसपी और किसान कृषि कृषि कानून बहुत ज्यादा मुद्दा लेकर आ रही है यही कारण है कि आज किसान आंदोलन कर रहे हैं
Prashn hai kuchh log kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar kar rahe the ki kisaan deshadrohee nahin hai kisaan apane hak kee baat kar rahe hain jin logon kee baat kee jae vah kaheen na kaheen bhaajapa samarthak honge yah kaha jae ki bhaajapa ka hee gunagaan karate honge lekin is baat ka sabase bada asar karata hai ki dikha jae agar bhaajapa ke paksh mein agar jo bhee baaten hotee hai vah kaha jaata hai ki deshabhakti kee baat ho rahee hai vaheen agar bhaajapa ke virodhee kee baat kee jae to vahee deshadrohee kee baat hotee hai ki kaee saalon se aisa hee chala aa raha hai lekin hamen mudda hai kisaan kee to kisaan kee hee baat karenge kisaan kis baat ka virodh karane dekhie krshi kaanoon jo naya niyam laagoo hua hai us par baat kar rahe hain usake saath saath vah ek emesapee par achchhee achchha kaanoon chaahate hain jo es em es pee apane hisaab se sab ke lie laagoo karaane kee baat karen vahee ek aur niyam hai ki par aaloo paraalee par bane jo kaanoon hai usamen bhee sanshodhan kee baat kar rahe hain usake alaava vidyut sanshodhan vidheyak jo aaya hai usamen bhee vah badalaav chaahate hain to eed chaar mudde hain chaaron mein do phir lekar lekin sabase bada mudda kisaan jo kaanoon krshi kaanoon laagoo kiya gaya usako lekar bahut jyaada emesapee aur kisaan krshi krshi kaanoon bahut jyaada mudda lekar aa rahee hai yahee kaaran hai ki aaj kisaan aandolan kar rahe hain

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:47
को देशद्रोही करना पाप है मतलब यह कि राष्ट्रपति से मिलने जाने के लिए ग्रेस नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और पुलिस हिरासत में लिए जाने के बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा है कि हम राजनीति दल हैं हमें किसानों का समर्थन करना चाहिए समर्थन करने का अधिकार किसानों की बात सरकार को तक पहुंचने चाहिए सरकार को किसानों की बात सुनने भी चाहिए
Ko deshadrohee karana paap hai matalab yah ki raashtrapati se milane jaane ke lie gres netaon ko pulis ne hiraasat mein le liya aur pulis hiraasat mein lie jaane ke baad kaangres neta priyanka gaandhee ne kaha hai ki ham raajaneeti dal hain hamen kisaanon ka samarthan karana chaahie samarthan karane ka adhikaar kisaanon kee baat sarakaar ko tak pahunchane chaahie sarakaar ko kisaanon kee baat sunane bhee chaahie

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:41
नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर दोस्तों आपके सवाल को उतरी है कुछ लोग इंसान को देशद्रोही कह रहे हैं वह खुद भारत के पुरोहित उनको यह नहीं पता है कि किसान हमारे अन्नदाता हैं जो आम जनता का पेट भरने का काम करते हैं अगर हम किसान को अगर देशद्रोही कहेंगे तो सबसे पहले तो कहने वाला है वही देशद्रोही कहलाएगा क्योंकि हमारे अन्नदाता का अपमान करने वाले ही देशद्रोही होगा क्योंकि हमारे देश में जय जवान जय किसान अगर किसानों का जो भी अपमान करेगा वह खुद भारत का देश द्रोही माना जाएगा इसलिए किसान अगर विरोध कर रहे हैं तो उनका सबसे बड़ा विरोध का कारण यह है कि 32 काले कानून बनाए हैं उसमें एमएसपी की कोई गारंटी नहीं है और यह जमीन काले कानून बनाए इसमें चंद पूंजीपतियों को लाभ होगा हमारे किसानों को इनको कोई फायदा नहीं मिलेगा इसलिए किसान हमारे विरोध कर रहे हैं तीन काले कानूनों का धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston aapaka svaagat hai kuchh log kisaan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar doston aapake savaal ko utaree hai kuchh log insaan ko deshadrohee kah rahe hain vah khud bhaarat ke purohit unako yah nahin pata hai ki kisaan hamaare annadaata hain jo aam janata ka pet bharane ka kaam karate hain agar ham kisaan ko agar deshadrohee kahenge to sabase pahale to kahane vaala hai vahee deshadrohee kahalaega kyonki hamaare annadaata ka apamaan karane vaale hee deshadrohee hoga kyonki hamaare desh mein jay javaan jay kisaan agar kisaanon ka jo bhee apamaan karega vah khud bhaarat ka desh drohee maana jaega isalie kisaan agar virodh kar rahe hain to unaka sabase bada virodh ka kaaran yah hai ki 32 kaale kaanoon banae hain usamen emesapee kee koee gaarantee nahin hai aur yah jameen kaale kaanoon banae isamen chand poonjeepatiyon ko laabh hoga hamaare kisaanon ko inako koee phaayada nahin milega isalie kisaan hamaare virodh kar rahe hain teen kaale kaanoonon ka dhanyavaad doston

bolkar speaker
कुछ लोग किसान को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर कर रहे हैं?Kuch Log Kisan Ko Deshdrohi Keh Rahe Hain Kisaan Virodh Kis Baat Ko Lekar Kar Rahe Hain
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:33
दोस्तों स्वागत है आपका दोस्त आपका सवाल कुछ लोकेशन को देशद्रोही कह रहे हैं किसान विरोध किस बात को लेकर करें दोस्तों किसानों को देशद्रोही नहीं देना चाहिए अगर कुछ लोग कह रहे हैं तो यह गलत ऐसा नहीं कहना चाहिए किसानों के कुछ अपनी मांगे हैं जो उन्होंने रखी है और वही सरकार से बोल रहे हैं उसमें देश दूर की कोई बात नहीं है वह पराली जलाने के लिए दंड ना हो इसके लिए भी किसान सरकार से बोल रहे हैं किस का नियम कानून ना बनाया जाए पराली जलाने वाली और भी दो चार बातें हैं जो अपनी सरकार के सामने रख रहे हैं इसमें देशद्रोही की बात कहां से आ गई तो धन्यवाद दोस्तों
Doston svaagat hai aapaka dost aapaka savaal kuchh lokeshan ko deshadrohee kah rahe hain kisaan virodh kis baat ko lekar karen doston kisaanon ko deshadrohee nahin dena chaahie agar kuchh log kah rahe hain to yah galat aisa nahin kahana chaahie kisaanon ke kuchh apanee maange hain jo unhonne rakhee hai aur vahee sarakaar se bol rahe hain usamen desh door kee koee baat nahin hai vah paraalee jalaane ke lie dand na ho isake lie bhee kisaan sarakaar se bol rahe hain kis ka niyam kaanoon na banaaya jae paraalee jalaane vaalee aur bhee do chaar baaten hain jo apanee sarakaar ke saamane rakh rahe hain isamen deshadrohee kee baat kahaan se aa gaee to dhanyavaad doston

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान को देशद्रोही कौन कह रहा है
URL copied to clipboard