#भारत की राजनीति

bolkar speaker

किसान हर कोई नहीं बन सकता चौकीदार तो एक कुत्ता भी बन सकता है?

Kisaan Har Koi Nahi Ban Sakta Chaukidar To Ek Kutta Bhe Ban Sakta Hai
RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
1:51
सोचना क्या है कि किसान हर कोई नहीं बन सकता चौकीदार तो एक कुत्ता भी बन सकता है देश और धर्म से कभी बात तो अच्छी नहीं होती है बिल्कुल सही कहा है आपने किसान मर को नहीं बन सकता है लेकिन यह भी सही है कि चौकीदार और कोई नहीं बन सकता है दोनों काम बहुत मुश्किल है सकता है कभी और किसान का भी और दोनों को उनके मेहंदी सब से प्यार नहीं मिलता है वेतन नहीं मिलता है सदा चौकीदार नरेंद्र मोदी जी के बाद कर रहे हैं एक परिवार संभालना कितना मुश्किल होता है उसका मालिक जानता है परिवार का तो देश संभालना कितना मुश्किल होगा समझ सकते हैं हमारे इंडिया में तो हर स्टेट में एक अलग कलचर और एक अलग भाषा इतना टाइप के लैंग्वेज हैं इतने टाइप के कल्चरल अलगाववाद है आतंकवादी घर चाइना पाकिस्तान वालों से परेशान किया ऊपर से कोरोना की महामारी ठीक है और किसी मुद्दे पर दिक्कत है तो किसानों को सरकार से बात करनी चाहिए नहीं हम गांव के लोकतंत्र में यह अधिकार दिया गया है अगर उसमें कमी है तो कमी दूर हो जाएगी हो जाएगी शांत तरीके से हंसा कारण की बात सुने अनसुने के भी और उनका मन का होगा भी जितेंद्र जी यह मोदी सरकार है जनता के भी बसंती है और अपने मन की भी करते जहां जैसी जरूरत होगी वैसे काम करेगी
Sochana kya hai ki kisaan har koee nahin ban sakata chaukeedaar to ek kutta bhee ban sakata hai desh aur dharm se kabhee baat to achchhee nahin hotee hai bilkul sahee kaha hai aapane kisaan mar ko nahin ban sakata hai lekin yah bhee sahee hai ki chaukeedaar aur koee nahin ban sakata hai donon kaam bahut mushkil hai sakata hai kabhee aur kisaan ka bhee aur donon ko unake mehandee sab se pyaar nahin milata hai vetan nahin milata hai sada chaukeedaar narendr modee jee ke baad kar rahe hain ek parivaar sambhaalana kitana mushkil hota hai usaka maalik jaanata hai parivaar ka to desh sambhaalana kitana mushkil hoga samajh sakate hain hamaare indiya mein to har stet mein ek alag kalachar aur ek alag bhaasha itana taip ke laingvej hain itane taip ke kalcharal alagaavavaad hai aatankavaadee ghar chaina paakistaan vaalon se pareshaan kiya oopar se korona kee mahaamaaree theek hai aur kisee mudde par dikkat hai to kisaanon ko sarakaar se baat karanee chaahie nahin ham gaanv ke lokatantr mein yah adhikaar diya gaya hai agar usamen kamee hai to kamee door ho jaegee ho jaegee shaant tareeke se hansa kaaran kee baat sune anasune ke bhee aur unaka man ka hoga bhee jitendr jee yah modee sarakaar hai janata ke bhee basantee hai aur apane man kee bhee karate jahaan jaisee jaroorat hogee vaise kaam karegee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान आंदोलन किसान विरोधी बिल
URL copied to clipboard