#भारत की राजनीति

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
4:19
स्नैप फ्रांस की क्रांति सामाजिक एवं आर्थिक व्यवस्था का परिणाम थी उपयुक्त कथन की किन्हीं पांच बिंदुओं द्वारा स्पष्ट कीजिए तो दिखे फ्रंट समाज की जो काम क्रांति थी बड़ी ही उत्तरदाई साबित हुई लेकिन इसका जो परिणाम बढ़ाई अजीबो तरीके से हुआ क्योंकि यह एक ऐसा क्रांति आई थी कि जो बहुत बड़ा लोगों को दहला दी थी पूरे विश्व को दहला दी थी कहीं न कहीं इनका जो कारण था वह बारूद में जैसे क्या होता है कि बारूद में अग्नि धीरे-धीरे क्या जो प्रचलित होती है और एक समय ऐसा भी आया था वह बारूद विस्फोट के रूप में हो जाता है ठीक उसी प्रकार एक क्रांति हुई थी क्योंकि आप जानते हैं कि राजनीतिक कारण बहुत ही गंदा होता है उसके साथ-साथ सामाजिक कारण था वहीं आर्थिक कारण था वही दूसरा चौथा था बौधि कारण मोदी कारण जो लोगों को बहुत ज्यादा क्या भाई की धर्मनिरपेक्ष वहां एक राजा राजा की व्यवस्था थी जो लोगों ने धीरे-धीरे उसे एकदम तंग आ गए थे और वहां की आर्थिक स्थिति इतनी ज्यादा जर्जर हो गई थी फिर भी जो राजा था एक भव्य महल का निर्माण करवा रहा था उसमें अपार धन खर्च हो रहे थे और लोग बहुत ज्यादा परेशान हो रहे थे वहां की आर्थिक स्थिति खराब हो गई इसके साथ-साथ लोगों में सामाजिकता थी वह बहुत ज्यादा बिगड़ने लगी और क्या हुआ कि दो भागों में बट गया एक तो था विशेषण का विशेषाधिकार वर्ग और दूसरा था विशेषाधिकार हिंद वर्ग था जो दोनों में इतना ज्यादा मतभेद हो गया कि प्रथम और समानता और अमीर जमीदारों क्या थे उत्पादन की वर्ग थे और एक थी कि निम्न पादरी के लोग थे बहुत कहा जाए कि लोग लोग थे उनके साथ साथ इसकी जो कारण आर्थिक कारण संबोधि कारण हुए उसके बाद जो परिणाम हुए परिणाम जैसे आपको कहा जाए कि एक तालाब में जवाब पत्थर फेंकते हैं तो क्या कहते हैं कि उसमें लहर जो होती है वह सारे तालाब के चारों तरफ फैल जाती है ठीक उसी प्रकार 88 1789 ईस्वी में राज्य क्रांति के परिणामों के समक्ष यूरोप को हिला मजदूरी यूरोप को हिला दिया था और यह कहावत आपने सुना होगा कि जब फ्रांस को जुखाम आता है तो पूरा संपूर्ण यूरोप सीखने लगता और आपको यह भी बता दें कि इस क्रांति जो भी क्रांति हुई थी इसे केवल यूरोप ही नहीं पूरे पूरा देश पूरा वर्ड ही इसे क्या हो गया था हिल गया था और राजनीति कारण 23 में बहुत ज्यादा परिणाम आए और लोगों के मत में कुछ ऐसे बातें रखी गई जो फिर से एक अच्छे मोड़ पर आ गया आर्थिक परिणाम जो थे आर्थिक जो राज्यों की शासकीय व्यवस्था थी योग्यता के कारण उन्हें आर्थिक व्यवस्था अत्यंत जर्जर हो गई थी जिसे बाद में इस युद्ध के बाद बहुत अच्छे स्तर पर सुधार आएगा वही सामाजिकता की परिणाम अच्छे आए लोगों में एक वर्चस्व जो भी कमियां थी उसे दूर किया गया उसके बाद धार्मिक जो परिणाम आया वहीं फ्रांस का धार्मिक वर्गों में दो वर्गों में विभाजित हो गया वहीं पादरी और क्या था कि जो पादरी बिलासी लोग थे वह धनी थे किंतु छोटे पादरी कर्तव्य परायण के साथ-साथ मुख्य निर्धारित है निर्धन होने के साथ-साथ आपको बता दें कि इसमें जो परिणाम आए लोगों के पास में आया इसे फिर क्रांति एक अच्छे रूप में ले गई वहीं किसानों और मजदूरों जनसाधारण के लिए पहले शोषण नहीं करते थे और उसके बाद क्या हुआ यह भी कहा गया कि जो एक फ्रांस की क्रांति क्रांति के प्रभाव से अत्यंत व्यापक हो गए व्यापक रूप से थे और इसमें फ्रांस देश ही नहीं साथ-साथ अमेरिका भारत भी इससे अछूते नहीं रहे तू इस तरह से फ्रांस की क्रांति हुई है और लोगों में बहुत ज्यादा वर्षा हो गया

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • फ्रांस की क्रांति ,फ्रांस की क्रांति का परिणाम
URL copied to clipboard