#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

आदिवासी के बारे में कुछ जानकरी दे?

Aadivasi Ke Baare Mein Kuch Jaankari De
Vikas Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikas जी का जवाब
Student
2:13
आदाब काश वाले गीत आदिवासी के बारे में जानकारी दें आदिवासियों का आदिवासी का नाम का अर्थ है मूलवासी इनकी भारत मिशन जन संख्या तकरीबन 10 करोड है और फ्रेंडशिप का संस्कृत ग्रंथों में भी फ्रेंड इनको इनको बताया गया है इनका नाम मन बसिया आदिवासी ठीक है फिर आदिवासी के लिए अनुचित जाती पद का उपयोग किया गया है आपको भारत की प्रमुख आदिवासी बताएं जानो समुद्र ठीक है सबसे प्रमुख जो आदिवासी समुदाय है भिवानी में भारत में सबसे पहला है मुंडा खड़िया हो बोलो कोली फना संताल आदि ठीक है यह हमारे भारत के प्रमुख जनजाति अनुसूचित जनजाति उसके बाद फ्रेंड यह कहां पाए जाते हैं फ्रेंड आदिवासी गण शशी पाएंगे उड़ीसा में मध्यप्रदेश में छत्तीसगढ़ में राजस्थान में पाए जाएंगे सेंड साहब को तीन चार शहरों में बजेंगे राजस्थान के उदयपुर चित्तौड़गढ़ भीलवाड़ा और पाली और अजमेर से ठीक है या या या अदीबाशी पाए जाएंगे और फ्रेंड्स मैं आपको आदिवासी भाषा बताएं जा रहा हूं सबसे पहले जो आदिवासी भाषा सेंड चूहे बिल्ली गोंडी संताली यह अपने प्रमुख आदिवासी भाषाएं जो भारत की 10114 मुख्य भाषा में से हमें 22 को ही संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल के आगे हैं इसका क्या है इसका कहने का मतलब है भारत की जो 22 भाषाएं फ्रेंड्स जो मतलब सही से दान में हमारे हैं उनमें से फ्रेंड्स 4 भाषाएं आदिवासियों की भाषा भी है जो प्रमुख भाषाओं में से हैं ठीक है फ्रेंड अगर आपको अच्छा लगा हो तो प्लीज फ्रेंड्स लाइक कर देना जय हिंद जय भारत
Aadaab kaash vaale geet aadivaasee ke baare mein jaanakaaree den aadivaasiyon ka aadivaasee ka naam ka arth hai moolavaasee inakee bhaarat mishan jan sankhya takareeban 10 karod hai aur phrendaship ka sanskrt granthon mein bhee phrend inako inako bataaya gaya hai inaka naam man basiya aadivaasee theek hai phir aadivaasee ke lie anuchit jaatee pad ka upayog kiya gaya hai aapako bhaarat kee pramukh aadivaasee bataen jaano samudr theek hai sabase pramukh jo aadivaasee samudaay hai bhivaanee mein bhaarat mein sabase pahala hai munda khadiya ho bolo kolee phana santaal aadi theek hai yah hamaare bhaarat ke pramukh janajaati anusoochit janajaati usake baad phrend yah kahaan pae jaate hain phrend aadivaasee gan shashee paenge udeesa mein madhyapradesh mein chhatteesagadh mein raajasthaan mein pae jaenge send saahab ko teen chaar shaharon mein bajenge raajasthaan ke udayapur chittaudagadh bheelavaada aur paalee aur ajamer se theek hai ya ya ya adeebaashee pae jaenge aur phrends main aapako aadivaasee bhaasha bataen ja raha hoon sabase pahale jo aadivaasee bhaasha send choohe billee gondee santaalee yah apane pramukh aadivaasee bhaashaen jo bhaarat kee 10114 mukhy bhaasha mein se hamen 22 ko hee sanvidhaan kee aathaveen anusoochee mein shaamil ke aage hain isaka kya hai isaka kahane ka matalab hai bhaarat kee jo 22 bhaashaen phrends jo matalab sahee se daan mein hamaare hain unamen se phrends 4 bhaashaen aadivaasiyon kee bhaasha bhee hai jo pramukh bhaashaon mein se hain theek hai phrend agar aapako achchha laga ho to pleej phrends laik kar dena jay hind jay bhaarat

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आदिवासी के बारे में कुछ जानकरी दे?Aadivasi Ke Baare Mein Kuch Jaankari De
Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:23
दिवाली के बारे में जानकारी चाहिए भाई पहले आदिवासी पुणे थे ठीक है तुम्हारे पूर्वज थे आदिवासी जरा उनसे पूछ कर देखना क्या आदिवासी के बारे में सारी जानकारी तुम्हें डिटेल में मिल जाएंगे हमरा जैसे बन चुके
Divaalee ke baare mein jaanakaaree chaahie bhaee pahale aadivaasee pune the theek hai tumhaare poorvaj the aadivaasee jara unase poochh kar dekhana kya aadivaasee ke baare mein saaree jaanakaaree tumhen ditel mein mil jaenge hamara jaise ban chuke

bolkar speaker
आदिवासी के बारे में कुछ जानकरी दे?Aadivasi Ke Baare Mein Kuch Jaankari De
मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
2:35
नमस्कार मित्रों जैसे आप का प्राइस नहीं आदिवासी के बारे में कुछ जानकारी दें तो चलिए मित्रों आज मैं आदिवासी के बारे में आपको ऐसी पांच जानकारी दूंगा जो कि वह हम सब से अलग करते हैं पहला जानकारी यह है कि वह लोग सब से हट जाते थे लोग का बोलने का जो तरीका होते हैं वह हम सब से अलग होते हैं उन लोग का भाषा जो है बहुत ही उल्टा होते हैं जिसे समझना बहुत ही मुश्किल हो जाती है और वह लोग जो चीज ठान लेते हैं वही करते हैं दूसरा लोग खाने में सबसे ज्यादा पसंद करते हैं मीट मछली अगर मीट मछली वालों को एक दिन ना हो तो वह लोग खाने में ज्यादा पसंद दूसरे चीज नहीं करते हैं तीसरा नंबर में आते हैं जैसे उन लोग का शादी विवाह किसी के साथ सगाई हुआ तो उन लोग को एक रसम होते हैं कि सगाई में जितने लोग भी बैठे हैं उन सब को अगर दारू नहीं हुआ जब पहुंचे नहीं हुआ तो लोग खाना खाने नहीं खाते उसके घर में उसके घर में रिश्ता नहीं करती और वो रिश्ता तोड़ कर के चले जाते हैं चौथा होते हैं कि उन लोग का जैसे कोई जात होते मुर्मू मरांडी इस तरह की जाते होते हैं वह लोग वह लोग मुरमुर में में शादी नहीं होगा उसी तरह मंडी मंडी में शादी नहीं होगा और एक रस्म आते हैं उन लोग को जब कोई मर जाते हैं उसका क्रिया कर्म वह लोग 1 साल या 2 साल 3 साल बाद करते हैं लेकिन उसका एक नियम बहुत ही कड़वा होती है एक सूअर को लेगा और उसको अपने घर के आंगन में उसे बैठा देगा और सब कोई आ करके कोई धाराधार जिससे उसका माथे में ठोकेगा और बार-बार यह पूछेगा कि मेरा जो भी डेट कर गया है उसके घर में वह चला गया स्वर्ग में तो यही पूछते रहता है और जो कंठा बंद करके बैठा रहता है उसको यही पूछता है और दारु पिलाते रहता है अंत में जब सभी कोई परिवार उसको वह काम कर देते हैं उसके बाद वह स्वर्ग चला जाता है और इस लिस्ट में आते हैं जैसे वह लोग का रहन-सहन का बात करें तो कपड़े बहुत कम पहनते हो लोग बहुत कम कपड़े में लोग अपना जिंदगी गुजार लेते हैं ठंड हो या गर्मी हो रुको कपड़े पहने का तरीका बहुत अलग होते हैं यदि कुछ जानकारी आदिवासी के बारे में धन्यवाद मित्र
Namaskaar mitron jaise aap ka prais nahin aadivaasee ke baare mein kuchh jaanakaaree den to chalie mitron aaj main aadivaasee ke baare mein aapako aisee paanch jaanakaaree doonga jo ki vah ham sab se alag karate hain pahala jaanakaaree yah hai ki vah log sab se hat jaate the log ka bolane ka jo tareeka hote hain vah ham sab se alag hote hain un log ka bhaasha jo hai bahut hee ulta hote hain jise samajhana bahut hee mushkil ho jaatee hai aur vah log jo cheej thaan lete hain vahee karate hain doosara log khaane mein sabase jyaada pasand karate hain meet machhalee agar meet machhalee vaalon ko ek din na ho to vah log khaane mein jyaada pasand doosare cheej nahin karate hain teesara nambar mein aate hain jaise un log ka shaadee vivaah kisee ke saath sagaee hua to un log ko ek rasam hote hain ki sagaee mein jitane log bhee baithe hain un sab ko agar daaroo nahin hua jab pahunche nahin hua to log khaana khaane nahin khaate usake ghar mein usake ghar mein rishta nahin karatee aur vo rishta tod kar ke chale jaate hain chautha hote hain ki un log ka jaise koee jaat hote murmoo maraandee is tarah kee jaate hote hain vah log vah log muramur mein mein shaadee nahin hoga usee tarah mandee mandee mein shaadee nahin hoga aur ek rasm aate hain un log ko jab koee mar jaate hain usaka kriya karm vah log 1 saal ya 2 saal 3 saal baad karate hain lekin usaka ek niyam bahut hee kadava hotee hai ek sooar ko lega aur usako apane ghar ke aangan mein use baitha dega aur sab koee aa karake koee dhaaraadhaar jisase usaka maathe mein thokega aur baar-baar yah poochhega ki mera jo bhee det kar gaya hai usake ghar mein vah chala gaya svarg mein to yahee poochhate rahata hai aur jo kantha band karake baitha rahata hai usako yahee poochhata hai aur daaru pilaate rahata hai ant mein jab sabhee koee parivaar usako vah kaam kar dete hain usake baad vah svarg chala jaata hai aur is list mein aate hain jaise vah log ka rahan-sahan ka baat karen to kapade bahut kam pahanate ho log bahut kam kapade mein log apana jindagee gujaar lete hain thand ho ya garmee ho ruko kapade pahane ka tareeka bahut alag hote hain yadi kuchh jaanakaaree aadivaasee ke baare mein dhanyavaad mitr

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आदिवासी के बारे में कुछ जानकरी दे आदिवासी के बारे में बताएं
URL copied to clipboard