#भारत की राजनीति

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:56

और जवाब सुनें

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:14
जब किसानों ने सरकार से नहीं मांगा तो किसानों के लिए सरकार ने यह बिल क्यों पास किया हकीकत बात है कि वह हमें आप अगर वह हम कुछ नहीं मांग रहे हैं अगर हमारे बीच अगर आप कुछ दे रहे तो कहीं ना कहीं उसका स्वार्थ है आपके पीछे आपका हमारे प्रति स्वार्थ छिपा है वही स्वाद आज है कि जो आज किसान भाई लोग आंदोलन कर रहे हैं और सबसे बड़ी बात है कि अगर कोई चीज अगर हम नहीं मांगते हैं वह चीज जबरदस्ती हमें दी जाती है तो यह क्या होता है अडॉप्टेशन होता है बताओ थोपना किसी को जबरदस्ती अडॉप्ट करवाना कि आप एक काम करोगे आप को यही काम करना मतलब जो अंग्रेज जब अंग्रेज के गुलाम भारत था उस समय भी यही होता था कि आपको ही करना है तो करना है आपको लगान लगान देनी है तो लगान देने आपको एक काम करने हैं तो यही काम करने में तो फिक्स कर दिया जाता था जिससे कि लोग परेशान थे आज वही हालत है कि यह जो सरकार एक तानाशाही की तरह सरकार करके किसान भाइयों को पता ही नहीं है कि हमारे बेबी कानून बन गया है हमारे ऊपर कृषि कानून लगाए गए हैं हम अलग अलग तरीके से हम बात कर सकते हैं और ज्यादा अपने अनाजों का विरोध नहीं कर सकते हैं अब बताइए कि एक कहीं ना कहीं तो एक एडेप्टेशन की बात हो जाती है यहां कानून बना दिया आपको एक्सेप्ट करना है तू ही सबसे बड़ी बात है सरकार के लिए किस तरह का एडेप्टेशन ना रखें अगर हम उसमें अच्छे हैं स्वीकार करते हैं क्योंकि आपके और भी लाए और चीज सराहनीय काम सरकार ने किए जिसमें देश साथ दिया अगर इस तरह से अगर गलत काम करेगी सरकार तो मुझे लगता है कि सरकार के साथ-साथ देश में कोई लोग उनकी उनके साथ नहीं खड़े होंगे आज वही है कि किसान भाई लोग आंदोलन कर रहे हैं और आज करीब 1 महीने से ऊपर हो गए अभी भी आंदोलन चलना है और सरकार को 4 मांगे रखकर सरकार को मंगलवार तक का समय दिया गया है अब देखिए सरकार क्या करती है
Jab kisaanon ne sarakaar se nahin maanga to kisaanon ke lie sarakaar ne yah bil kyon paas kiya hakeekat baat hai ki vah hamen aap agar vah ham kuchh nahin maang rahe hain agar hamaare beech agar aap kuchh de rahe to kaheen na kaheen usaka svaarth hai aapake peechhe aapaka hamaare prati svaarth chhipa hai vahee svaad aaj hai ki jo aaj kisaan bhaee log aandolan kar rahe hain aur sabase badee baat hai ki agar koee cheej agar ham nahin maangate hain vah cheej jabaradastee hamen dee jaatee hai to yah kya hota hai adopteshan hota hai batao thopana kisee ko jabaradastee adopt karavaana ki aap ek kaam karoge aap ko yahee kaam karana matalab jo angrej jab angrej ke gulaam bhaarat tha us samay bhee yahee hota tha ki aapako hee karana hai to karana hai aapako lagaan lagaan denee hai to lagaan dene aapako ek kaam karane hain to yahee kaam karane mein to phiks kar diya jaata tha jisase ki log pareshaan the aaj vahee haalat hai ki yah jo sarakaar ek taanaashaahee kee tarah sarakaar karake kisaan bhaiyon ko pata hee nahin hai ki hamaare bebee kaanoon ban gaya hai hamaare oopar krshi kaanoon lagae gae hain ham alag alag tareeke se ham baat kar sakate hain aur jyaada apane anaajon ka virodh nahin kar sakate hain ab bataie ki ek kaheen na kaheen to ek edepteshan kee baat ho jaatee hai yahaan kaanoon bana diya aapako eksept karana hai too hee sabase badee baat hai sarakaar ke lie kis tarah ka edepteshan na rakhen agar ham usamen achchhe hain sveekaar karate hain kyonki aapake aur bhee lae aur cheej saraahaneey kaam sarakaar ne kie jisamen desh saath diya agar is tarah se agar galat kaam karegee sarakaar to mujhe lagata hai ki sarakaar ke saath-saath desh mein koee log unakee unake saath nahin khade honge aaj vahee hai ki kisaan bhaee log aandolan kar rahe hain aur aaj kareeb 1 maheene se oopar ho gae abhee bhee aandolan chalana hai aur sarakaar ko 4 maange rakhakar sarakaar ko mangalavaar tak ka samay diya gaya hai ab dekhie sarakaar kya karatee hai

T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:27

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:58

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:47

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
0:32

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:04
भाई आप का सवाल है कि जब किसानों ने सरकार से नहीं मांगा तो किसानों के लिए सरकार ने यह बिल क्यों मांगा तो मैं आपको बता देना चाहता हूं देश में केवल पंजाब और हरियाणा या राजस्थान में या उत्तर प्रदेश में किसान नहीं है भारत में लगभग 29 राज्य हैं और 9 केंद्र शासित प्रदेश है इनमें भी किसान तो बसते हैं इन्हीं किसानों की मांग मांग की थी कि हमें इस प्रकार का कानून चाहिए और सरकार ने भी पहले सभी राज्यों के मुखिया से पूछताछ करके इस कानून या जो भी नया बिल है मेल आया है इसे लागू किया गया था अब अगर किसान दो तीन राज्यों की मांग पर यह बिल वापस ले ले ले लेती है तो पीछे बचे हुए राज्य ने फिर कोई और उदल कर दिया तो क्या हो बोसी में सोचने वाली बात है धन्यवाद
Bhaee aap ka savaal hai ki jab kisaanon ne sarakaar se nahin maanga to kisaanon ke lie sarakaar ne yah bil kyon maanga to main aapako bata dena chaahata hoon desh mein keval panjaab aur hariyaana ya raajasthaan mein ya uttar pradesh mein kisaan nahin hai bhaarat mein lagabhag 29 raajy hain aur 9 kendr shaasit pradesh hai inamen bhee kisaan to basate hain inheen kisaanon kee maang maang kee thee ki hamen is prakaar ka kaanoon chaahie aur sarakaar ne bhee pahale sabhee raajyon ke mukhiya se poochhataachh karake is kaanoon ya jo bhee naya bil hai mel aaya hai ise laagoo kiya gaya tha ab agar kisaan do teen raajyon kee maang par yah bil vaapas le le le letee hai to peechhe bache hue raajy ne phir koee aur udal kar diya to kya ho bosee mein sochane vaalee baat hai dhanyavaad

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:40
हैप्पी न्यू ईयर को तहे दिल से नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं दोस्तों चलिए अजीब रिश्ते तोड़ देते हैं कृष्ण की सरकार किसानों की सरकार ने दिल के पास नहीं हो रहा है सही बात है सरकार को ऐसा नहीं करना चाहिए था तो मैंने कहा था ना करें तथा किसानों के खेत में ही बिल पारित होना चाहिए तो दोस्तों के साथ में उसके बाद यह द्वारा बिल पारित किया जाना चाहिए बाकी है
Haippee nyoo eeyar ko tahe dil se nae saal kee haardik shubhakaamanaen doston chalie ajeeb rishte tod dete hain krshn kee sarakaar kisaanon kee sarakaar ne dil ke paas nahin ho raha hai sahee baat hai sarakaar ko aisa nahin karana chaahie tha to mainne kaha tha na karen tatha kisaanon ke khet mein hee bil paarit hona chaahie to doston ke saath mein usake baad yah dvaara bil paarit kiya jaana chaahie baakee hai

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:32
देखिए यह कंट्री जो है ना इंडिया उसको सिर्फ नरेंद्र मोदी की सरकार नहीं चला रहे हैं उसको टाटा बिड़ला और अंबानी जैसे बड़े-बड़े उद्योगपति ही चला रहे हैं जब भूत होता है यही तारी उद्योगपतियों यही सारी बिजनेसमैन सारी फंडिंग करते हैं यह बात आपको ही पता होगा और सारे जनता कोई करता है तो कोई भी बिल पास जो हो रहा है इस तरह के किसानों के अधिकारों का अतिक्रमण हो रहा है उसमें सिर्फ मोदी का ही आते हैं मोदी से जुड़े हुए जितने भी बड़े-बड़े उद्योगपतियों हैं उनका हाथ है और वह से चाह रहे हैं ना कि उनका हक मार ले और अपना प्रॉफिट कर ले यह हो नहीं पाएगा क्योंकि यह बहुत ही व्यापक आंदोलन हो चुका व्यापक और किसानों का हक किसी भी कीमत पर किसी को भी जीने का कोई हक नहीं है लाल बहादुर शास्त्री जी भूल गए थे जय जवान जय किसान और जवान और किसान और उसके बाद एक डॉक्टर तीनों का बराबरी कोई नहीं कर सकता क्योंकि कोई भी सिचुएशन हो इनको काम करना ही पड़ता है इनके कारण हम लोग आज सरवाइव कर रहे हैं जो हो रहा है वह गलत हो रहा है और वह बदलेगा आज नहीं तो कल थैंक यू थैंक यू
Dekhie yah kantree jo hai na indiya usako sirph narendr modee kee sarakaar nahin chala rahe hain usako taata bidala aur ambaanee jaise bade-bade udyogapati hee chala rahe hain jab bhoot hota hai yahee taaree udyogapatiyon yahee saaree bijanesamain saaree phanding karate hain yah baat aapako hee pata hoga aur saare janata koee karata hai to koee bhee bil paas jo ho raha hai is tarah ke kisaanon ke adhikaaron ka atikraman ho raha hai usamen sirph modee ka hee aate hain modee se jude hue jitane bhee bade-bade udyogapatiyon hain unaka haath hai aur vah se chaah rahe hain na ki unaka hak maar le aur apana prophit kar le yah ho nahin paega kyonki yah bahut hee vyaapak aandolan ho chuka vyaapak aur kisaanon ka hak kisee bhee keemat par kisee ko bhee jeene ka koee hak nahin hai laal bahaadur shaastree jee bhool gae the jay javaan jay kisaan aur javaan aur kisaan aur usake baad ek doktar teenon ka baraabaree koee nahin kar sakata kyonki koee bhee sichueshan ho inako kaam karana hee padata hai inake kaaran ham log aaj saravaiv kar rahe hain jo ho raha hai vah galat ho raha hai aur vah badalega aaj nahin to kal thaink yoo thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान विरोधी बिल सरकार की राजनीति
URL copied to clipboard