#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:28

और जवाब सुनें

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:34
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा कि आपका फेस नहीं क्यों माना जाता है कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी किसी को कुछ हासिल नहीं हो पाता यह बात जो है वह एकदम प्योर बात सत्य बात है क्योंकि जो हमारे भाग्य में होता है हमारी किस्मत में होता है वह जो है वही मिलता है उससे अधिक नहीं मिलता कभी कभी कुछ ऐसी कंडीशन नहीं होती है फ्रेंड के भाग्य में वह चीज ना होते हुए भी हमें उसकी प्राप्ति हो जाती है लेकिन वह प्राप्ति कब होती है जो हमारे कर्म जो है हमारे भाग्य से ज्यादा प्रबल हो यानी कि हमारा जो कर्म है वह जो है हमारी भाग्य की तुलना में बहुत ज्यादा स्ट्रांग हो तब जो है हमें उस चीज की प्राप्ति होती है यानी कि मैं अपना कर्म जो है वह बहुत ही लगन से बहुत ही मेहनत से करूंगा जिस में जो है मेरी भाग्य भी हार मान जाती है उस कंडीशन में कुछ ऐसा होता है जो मिल जाता है लेकिन जो समय होता है इंसान की एक है पानी की सक्सेस पानी की बात हो जाए कुछ भी पाने की बात होती है तो उसे एक समय के तहत ही मिलता है मान लीजिए कि आप को जो है जॉब करनी है तो आप जो है बिना पढ़ाई लिखाई किए जो है बिना एक-एक हुए जैसे कि 18 वर्ष हुआ 15 वर्ष हुआ है फिर से इस वर्ष बा 25 वर्ष यानी कि एक ही रंग जब तक नहीं हो जाते तब तक आप चाह के भी जॉब नहीं कर सकते जब आप यंग हो जाते हैं तब आपको जो है जॉब मिल जाती है और ऐसा देखते देखने को भी मिलता है कि अगर आप जानते भी हो गए तो भी आपको जॉब नहीं मिलती है उसका रीजन होता है कि आपकी किस्मत पर आपकी नसीब में यह लकीरों में जब तक यह नहीं लिखा हुआ कि आप इस जगह जाएंगे आपको इस पोस्ट की जो है जॉब मिलेगी तो आप लाख जॉब ढूंढ लेंगे आपको वह जवाब नहीं मिलेगी जब वह समय आएगा उस कंडीशन में आएंगे उस पर इसका जवाब आप जो है उस रास्ते पर आप जाएंगे तो आपको सोचा है ही उस चीज की प्राप्ति हो जाती है रास्ता कितना भी कठिन हो उसे लेकिन अगर आपकी मंजिल पर आपके जो है कदम थे वही लिखा हुआ कि आप उस चीज के काबिल हो आपको वही चीज मिलेगा तो आप देखेंगे कि आंखें बंद होने के बाद भी इंसान की को वह चीज की प्राप्ति जो है वह हो जाती है आशा है कि आप सभी को मैं जवाब पसंद आया होगा शुक्रिया
Helo phrend namaskaar jaisa ki aapaka phes nahin kyon maana jaata hai ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kabhee kisee ko kuchh haasil nahin ho paata yah baat jo hai vah ekadam pyor baat saty baat hai kyonki jo hamaare bhaagy mein hota hai hamaaree kismat mein hota hai vah jo hai vahee milata hai usase adhik nahin milata kabhee kabhee kuchh aisee kandeeshan nahin hotee hai phrend ke bhaagy mein vah cheej na hote hue bhee hamen usakee praapti ho jaatee hai lekin vah praapti kab hotee hai jo hamaare karm jo hai hamaare bhaagy se jyaada prabal ho yaanee ki hamaara jo karm hai vah jo hai hamaaree bhaagy kee tulana mein bahut jyaada straang ho tab jo hai hamen us cheej kee praapti hotee hai yaanee ki main apana karm jo hai vah bahut hee lagan se bahut hee mehanat se karoonga jis mein jo hai meree bhaagy bhee haar maan jaatee hai us kandeeshan mein kuchh aisa hota hai jo mil jaata hai lekin jo samay hota hai insaan kee ek hai paanee kee sakses paanee kee baat ho jae kuchh bhee paane kee baat hotee hai to use ek samay ke tahat hee milata hai maan leejie ki aap ko jo hai job karanee hai to aap jo hai bina padhaee likhaee kie jo hai bina ek-ek hue jaise ki 18 varsh hua 15 varsh hua hai phir se is varsh ba 25 varsh yaanee ki ek hee rang jab tak nahin ho jaate tab tak aap chaah ke bhee job nahin kar sakate jab aap yang ho jaate hain tab aapako jo hai job mil jaatee hai aur aisa dekhate dekhane ko bhee milata hai ki agar aap jaanate bhee ho gae to bhee aapako job nahin milatee hai usaka reejan hota hai ki aapakee kismat par aapakee naseeb mein yah lakeeron mein jab tak yah nahin likha hua ki aap is jagah jaenge aapako is post kee jo hai job milegee to aap laakh job dhoondh lenge aapako vah javaab nahin milegee jab vah samay aaega us kandeeshan mein aaenge us par isaka javaab aap jo hai us raaste par aap jaenge to aapako socha hai hee us cheej kee praapti ho jaatee hai raasta kitana bhee kathin ho use lekin agar aapakee manjil par aapake jo hai kadam the vahee likha hua ki aap us cheej ke kaabil ho aapako vahee cheej milega to aap dekhenge ki aankhen band hone ke baad bhee insaan kee ko vah cheej kee praapti jo hai vah ho jaatee hai aasha hai ki aap sabhee ko main javaab pasand aaya hoga shukriya

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:18

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:22

GIRISH PARJAPTI Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए GIRISH जी का जवाब
Computer operators
2:22
मेरे सभी भाग्यवान भाइयों और बहनों को गिरी जी की तरफ से आज का शिकार करना जी तो क्वेश्चन है क्यों माना जाता है कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी किसी को कुछ हासिल नहीं हो पाता है ना इसके उदाहरण समझे कि जैसा आपने कहा आम का वृक्ष होता है ना तो एक निश्चित अवधि के बाद फल देगा है ना ठीक है कभी आपको जो जन्म मिला है ना तो आपको जो जन्म में पूर्व जन्म में जो आपने कर्म करे थे अच्छे या बुरे हैं ना उसके आधार पर आपको जीवन मिलता है ना ठीक है और उसके अच्छे कर्म की भूख ना आपको भूख नहीं है ना इसमें परमात्मा भी कुछ नहीं कर सकते कर सकता है इससे बताया है समय और भाग्य से ज्यादा नहीं मिलता है ठीक है हो सकता है कि पूर्व जन्म में आपने जो चक्कर में करें उसका अपमान की प्रारब्ध बोलेंगे और जो ने अपने अनजाने अनजाने में विक्रम करें थे उनका आपको मैंने भोगना भोगनी पड़ेगी लेकिन अगर आप उस को सकारात्मक रूप से परमात्मा की याद में करेंगे तो भोगना तो आएगी लेकिन आप उसको अच्छी तरह से हैंडल कर सकते हैं ना ठीक है गीता में भी लिखा है जो होगा अच्छा होगा जो राव बहुत अच्छा होगा ना मने हर चीज फिक्स है ठीक है लेकिन क्या होता है बाकी जो है आपका भाग्य को भी आपको किस करना पड़ेगा दूसरी बात आपको भाग्य भाग्य भाग्य को आपने ज्यादा खर्च कर दिया तो वह भी मैंने कि खत्म होते जाएगा बच्चेदानी जिससे आपके पास जब मैं पैसा खराब खर्च करता गया तो खर्चा होते जाएगा अगली बार अभी जो आप कर रहे हो अब इसमें कुछ चेंज नहीं हो सकता है अगर आप भी अच्छा कर रहे हो तो अगले जन्म में आपको कुछ अच्छा प्राप्त होगा दान भी करते हैं यह भी करते हैं तो क्या सोचते कि उसका अभी फायदा मिलता नहीं उसका आपको आगे का जन्म मिलेगा और पूर्व जन्म में जो आपने दान करा था अच्छे कार्य करा था उसकी प्रारंभ होकर आपको अभी मैंने मिलती है ठीक है तो अपने कार्य को आप समतुल्य था से करें ना पाप और पुण्य को समझ कर कार्य करें तो निश्चित ही अभी इस समय इस जन्म में आप संतो लेता से अच्छी तरह से जीवन जी सकेंगे तो प्रश्न पूछने के लिए धन्यवाद थैंक्स और शुक्रिया
Mere sabhee bhaagyavaan bhaiyon aur bahanon ko giree jee kee taraph se aaj ka shikaar karana jee to kveshchan hai kyon maana jaata hai ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kabhee kisee ko kuchh haasil nahin ho paata hai na isake udaaharan samajhe ki jaisa aapane kaha aam ka vrksh hota hai na to ek nishchit avadhi ke baad phal dega hai na theek hai kabhee aapako jo janm mila hai na to aapako jo janm mein poorv janm mein jo aapane karm kare the achchhe ya bure hain na usake aadhaar par aapako jeevan milata hai na theek hai aur usake achchhe karm kee bhookh na aapako bhookh nahin hai na isamen paramaatma bhee kuchh nahin kar sakate kar sakata hai isase bataaya hai samay aur bhaagy se jyaada nahin milata hai theek hai ho sakata hai ki poorv janm mein aapane jo chakkar mein karen usaka apamaan kee praarabdh bolenge aur jo ne apane anajaane anajaane mein vikram karen the unaka aapako mainne bhogana bhoganee padegee lekin agar aap us ko sakaaraatmak roop se paramaatma kee yaad mein karenge to bhogana to aaegee lekin aap usako achchhee tarah se haindal kar sakate hain na theek hai geeta mein bhee likha hai jo hoga achchha hoga jo raav bahut achchha hoga na mane har cheej phiks hai theek hai lekin kya hota hai baakee jo hai aapaka bhaagy ko bhee aapako kis karana padega doosaree baat aapako bhaagy bhaagy bhaagy ko aapane jyaada kharch kar diya to vah bhee mainne ki khatm hote jaega bachchedaanee jisase aapake paas jab main paisa kharaab kharch karata gaya to kharcha hote jaega agalee baar abhee jo aap kar rahe ho ab isamen kuchh chenj nahin ho sakata hai agar aap bhee achchha kar rahe ho to agale janm mein aapako kuchh achchha praapt hoga daan bhee karate hain yah bhee karate hain to kya sochate ki usaka abhee phaayada milata nahin usaka aapako aage ka janm milega aur poorv janm mein jo aapane daan kara tha achchhe kaary kara tha usakee praarambh hokar aapako abhee mainne milatee hai theek hai to apane kaary ko aap samatuly tha se karen na paap aur puny ko samajh kar kaary karen to nishchit hee abhee is samay is janm mein aap santo leta se achchhee tarah se jeevan jee sakenge to prashn poochhane ke lie dhanyavaad thainks aur shukriya

Rahul Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:23
क्यों माना जाता है कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी किसी को हासिल नहीं पता है तू किसी और समय से पहले हाथी जरूर होता है हम तो एक इंसान हैं हम चाहे जो चाहे वह कर सकते हैं हमारा एक भी मत हमारा दिमाग कंप्यूटर से भी ज्यादा तेज है और तीन में हिम्मत रहना चाहिए कि हम को एक करके दिखाना है यह तो सब झूठ है कि समय से पहले और भाग्य से पहले कुछ हासिल नहीं होता यह सब झूठ है हम इंसान जब जरूर हासिल होगा जब उसने थाना कैमूर जाना है तो जाना है तो गया है इसीलिए कुछ करने के लिए करना पड़ता है दिल और दिमाग में लोड कर लो हमें सब कुछ कर जाऊं तो कोई नहीं किया है आपको मेरी तरफ से हैप्पी न्यू ईयर का हार्दिक हार्दिक स्वागत है और हमेशा 2021 में खुश रहे हैं और ऐसा ही प्रश्न हमेशा पूछते रहो और आंसर लेते रहें
Kyon maana jaata hai ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kabhee kisee ko haasil nahin pata hai too kisee aur samay se pahale haathee jaroor hota hai ham to ek insaan hain ham chaahe jo chaahe vah kar sakate hain hamaara ek bhee mat hamaara dimaag kampyootar se bhee jyaada tej hai aur teen mein himmat rahana chaahie ki ham ko ek karake dikhaana hai yah to sab jhooth hai ki samay se pahale aur bhaagy se pahale kuchh haasil nahin hota yah sab jhooth hai ham insaan jab jaroor haasil hoga jab usane thaana kaimoor jaana hai to jaana hai to gaya hai iseelie kuchh karane ke lie karana padata hai dil aur dimaag mein lod kar lo hamen sab kuchh kar jaoon to koee nahin kiya hai aapako meree taraph se haippee nyoo eeyar ka haardik haardik svaagat hai aur hamesha 2021 mein khush rahe hain aur aisa hee prashn hamesha poochhate raho aur aansar lete rahen

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:20

Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:38
न्यू माना जाता है कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी किसी को कुछ नहीं हो पाता तूफान क्या होता है कि कभी-कभी हम बहुत मेहनत करनी है और हमें अपनी आंखों पर नहीं मान लेता है तब हम सोच लेते हैं कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कुछ नहीं लेकिन मेरा मानना यह है कि अगर हम मेहनत करें और हमारी लगन सच्चे दिल से हो तो हमारे भाग्य में हम से स्कूली ही आते हैं जिसके लिए मेहनत की जाती है
Nyoo maana jaata hai ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kabhee kisee ko kuchh nahin ho paata toophaan kya hota hai ki kabhee-kabhee ham bahut mehanat karanee hai aur hamen apanee aankhon par nahin maan leta hai tab ham soch lete hain ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kuchh nahin lekin mera maanana yah hai ki agar ham mehanat karen aur hamaaree lagan sachche dil se ho to hamaare bhaagy mein ham se skoolee hee aate hain jisake lie mehanat kee jaatee hai

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:10
यह सत्य है बेटी समय से पहले कुछ भी नहीं मिल पाता है मानव चाहता तो बहुत कुछ है लेकिन उसके चाहने मात्र से कुछ नहीं होता है उसकी तुम प्रयास करते हो वह समय के अनुसार ही फल प्राप्त कर पाते हैं जैसे कि आपने आज ही आम का पहला आया है और आप आज ही जाते हैं किस की छाया में बैठी हूं इसके आम के फल खा लूं तो आपको कदापि संभव नहीं उस समय के अनुसार अपने समय पर ही ऋतु आने पर ही फल देगा और उसके लिए आपको इंतजार करना होगा धीरे धीरे रे मना धीरे सब कुछ होय और माली सींचे सौ घड़ा ऋतु आए फल होय तुम भी समय का इंतजार कीजिए आपको अपने प्रयास करने चाहिए सभी के अनुसार आपकी किए हुए कर्मों का फल आपको अवश्य ही प्राप्त होगा अच्छा भाग्य से ज्यादा भी कुछ नहीं मिल पाते यह भी बात बिल्कुल हंड्रेड परसेंट सकते हैं मैंने ऐसे उदाहरणों को देखा है कि जिन्होंने जीवन भर कुछ कार्य नहीं किया वेट करके खाया लेकिन किस्मत में कुछ उनको इतनी जमीन ज्यादा दे रखी थी तो जीवन उनका बैठे-बैठे गुजर गया और धनाढ्य घर में पैदा हुए धनाढ्य मरे और बहुत से लोगों को इतना देखा कि जिन्होंने जीवन भर संघर्ष किया लेकिन वह हमेशा हम कुमावत की कंडीशन भी देखे थे परंतु बहुत की कंडीशन में ही मर गए तो बेटा भाग्य से अधिक भी कुछ नहीं मिल पाता है तो उस समय का इंतजार करना चाहिए आप भी कर्म अच्छे होंगे तो उनके फल भी अच्छे मिलेंगे हम बुरे हैं तो उनके परिणाम भी बुरे ही मिलेंगे
Yah saty hai betee samay se pahale kuchh bhee nahin mil paata hai maanav chaahata to bahut kuchh hai lekin usake chaahane maatr se kuchh nahin hota hai usakee tum prayaas karate ho vah samay ke anusaar hee phal praapt kar paate hain jaise ki aapane aaj hee aam ka pahala aaya hai aur aap aaj hee jaate hain kis kee chhaaya mein baithee hoon isake aam ke phal kha loon to aapako kadaapi sambhav nahin us samay ke anusaar apane samay par hee rtu aane par hee phal dega aur usake lie aapako intajaar karana hoga dheere dheere re mana dheere sab kuchh hoy aur maalee seenche sau ghada rtu aae phal hoy tum bhee samay ka intajaar keejie aapako apane prayaas karane chaahie sabhee ke anusaar aapakee kie hue karmon ka phal aapako avashy hee praapt hoga achchha bhaagy se jyaada bhee kuchh nahin mil paate yah bhee baat bilkul handred parasent sakate hain mainne aise udaaharanon ko dekha hai ki jinhonne jeevan bhar kuchh kaary nahin kiya vet karake khaaya lekin kismat mein kuchh unako itanee jameen jyaada de rakhee thee to jeevan unaka baithe-baithe gujar gaya aur dhanaadhy ghar mein paida hue dhanaadhy mare aur bahut se logon ko itana dekha ki jinhonne jeevan bhar sangharsh kiya lekin vah hamesha ham kumaavat kee kandeeshan bhee dekhe the parantu bahut kee kandeeshan mein hee mar gae to beta bhaagy se adhik bhee kuchh nahin mil paata hai to us samay ka intajaar karana chaahie aap bhee karm achchhe honge to unake phal bhee achchhe milenge ham bure hain to unake parinaam bhee bure hee milenge

nitu Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nitu जी का जवाब
Online Store
0:16

Arjun Vishvakrma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Arjun जी का जवाब
Only students
1:43
यह बात सही भी और गलत भी है क्योंकि है ना वक्त वक्त आने पर फल देखो कोई सा भी आम का फल हुआ मौसम आने पर ही आम में मम्मी आएंगे मौसम आने पर यह पक्का करो वक्त आने पर भी पक्का नीचे गिरेगा तभी अपन खाएंगे समय से कह लो कुछ प्राप्त नहीं होता बट यह बात भी सही है भाग्य के भरोसे नहीं बैठना चाहिए क्योंकि भाभी के भरोसे बैठने वाले को ही प्राप्त होता है जो कोशिश करने वाले छोड़ जाता है एग्जांपल के लिए अपन शादी ब्याह में किसी बेनूर फंक्शन में जाने पर बाद में अपन कितने बड़े खानदान से ताल्लुक से कितने पत्नी बनियों मतलब जिससे खर्च आदि है वहां पर तुम कितनी भागीदारी हो अगर अब अंतिम जानू तो अपने को जूठा भोजन पर जो टूटा भोजन प्राप्त हुआ की ताजा ताजा भोजन अगर आपको ताजा भोजन खाना है तो आप को स्टार्ट में जाना पड़ेगा और आपको लाइफ में कुछ हासिल हासिल करना है तो गैरों पर नहीं खुद पर भरोसा पर भरोसा करना होगा अगर अगर अगर इंसान अब अगर इंसान अपनों को छोड़ दूसरे से दूसरों से सफलता के राज पूछने लग लग लग जाता है ना तो और आज नहीं पूछता सफलता के लिए अपनी बर्बादी के राजपूतों की जमाना कभी चाहता ही नहीं कोई कोई हमसे आगे बढ़े कोई हमसे बेहतर करें कोशिश क्योंकि यह बात बिल्कुल सही है जो भाग्य के भरोसे बेचने वाले वही प्राप्त होता है जो कोशिश करने वाला छोड़ जाता है बाकी तो आप को समझदार हो
Yah baat sahee bhee aur galat bhee hai kyonki hai na vakt vakt aane par phal dekho koee sa bhee aam ka phal hua mausam aane par hee aam mein mammee aaenge mausam aane par yah pakka karo vakt aane par bhee pakka neeche girega tabhee apan khaenge samay se kah lo kuchh praapt nahin hota bat yah baat bhee sahee hai bhaagy ke bharose nahin baithana chaahie kyonki bhaabhee ke bharose baithane vaale ko hee praapt hota hai jo koshish karane vaale chhod jaata hai egjaampal ke lie apan shaadee byaah mein kisee benoor phankshan mein jaane par baad mein apan kitane bade khaanadaan se taalluk se kitane patnee baniyon matalab jisase kharch aadi hai vahaan par tum kitanee bhaageedaaree ho agar ab antim jaanoo to apane ko jootha bhojan par jo toota bhojan praapt hua kee taaja taaja bhojan agar aapako taaja bhojan khaana hai to aap ko staart mein jaana padega aur aapako laiph mein kuchh haasil haasil karana hai to gairon par nahin khud par bharosa par bharosa karana hoga agar agar agar insaan ab agar insaan apanon ko chhod doosare se doosaron se saphalata ke raaj poochhane lag lag lag jaata hai na to aur aaj nahin poochhata saphalata ke lie apanee barbaadee ke raajapooton kee jamaana kabhee chaahata hee nahin koee koee hamase aage badhe koee hamase behatar karen koshish kyonki yah baat bilkul sahee hai jo bhaagy ke bharose bechane vaale vahee praapt hota hai jo koshish karane vaala chhod jaata hai baakee to aap ko samajhadaar ho

Ekta Sahni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ekta जी का जवाब
Unknown
1:18
नमस्कार आपका प्रश्न है कि ऐसा क्यों माना जाता है कि समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी किसी को कुछ हासिल नहीं हो पाता है यह तो मैं बचपन से सुनते आ रही हूं लेकिन अगर हम इसी पर ही बिलीव करें फिर तो हमें कोई आफत करने के लिए आईडिया नहीं है क्योंकि मैं तो हर चीज अपने समय पर ही मिलनी है और भाग्य के अकॉर्डिंग ली मिलनी है फिर तो हम आराम से बैठ जाते हैं हमें कुछ भी करने की जरूरत नहीं है सब कुछ आप अपने आप मिल ही जाएगा हमारे भाग्य से और हमारे समय से उन्होंने टू डू एफर्ट्स तो हमें पर्सनल छोड़ देना लेकिन ऐसा नहीं होता है भाग्य और समय इन सब से भी कहीं ज्यादा अप्रोच हमारे आपस की होती है आप अगर कुछ भी देख ले हम कहते तो यही हैं कि भाग्य से और समय से इस समय हमें यह मिलना था तो क्या आपने उसके लिए एफर्ट्स नहीं किए उसके लिए प्रयास नहीं किया तो सबसे रोल आपके प्रयासों का होता है आप प्रयास करना बंद ना करें आप प्यार करें जितना जल्द जितना हाई आपके अप्रोच हो के चित्र अच्छे आपके एफर्ट्स होंगे समय उतनी ही जल्दी आएगा भाग्य भी उतनी ही चलती आपका चमकेगा थैंक यू
Namaskaar aapaka prashn hai ki aisa kyon maana jaata hai ki samay se pahale aur bhaagy se jyaada kabhee kisee ko kuchh haasil nahin ho paata hai yah to main bachapan se sunate aa rahee hoon lekin agar ham isee par hee bileev karen phir to hamen koee aaphat karane ke lie aaeediya nahin hai kyonki main to har cheej apane samay par hee milanee hai aur bhaagy ke akording lee milanee hai phir to ham aaraam se baith jaate hain hamen kuchh bhee karane kee jaroorat nahin hai sab kuchh aap apane aap mil hee jaega hamaare bhaagy se aur hamaare samay se unhonne too doo epharts to hamen parsanal chhod dena lekin aisa nahin hota hai bhaagy aur samay in sab se bhee kaheen jyaada aproch hamaare aapas kee hotee hai aap agar kuchh bhee dekh le ham kahate to yahee hain ki bhaagy se aur samay se is samay hamen yah milana tha to kya aapane usake lie epharts nahin kie usake lie prayaas nahin kiya to sabase rol aapake prayaason ka hota hai aap prayaas karana band na karen aap pyaar karen jitana jald jitana haee aapake aproch ho ke chitr achchhe aapake epharts honge samay utanee hee jaldee aaega bhaagy bhee utanee hee chalatee aapaka chamakega thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भाग्यशाली व्यक्ति भाग्य का अर्थ
URL copied to clipboard