#भारत की राजनीति

bolkar speaker

क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?

Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:57

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:42

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Dinesh Kumar mahi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Students life
0:39

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
0:50

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:20

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Trainer Yogi Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trainer जी का जवाब
Motivational Speaker | Career Coach | Corporate Trainer | Marketing & Management Expert's. Follow Us YouTube channel : https://www.youtube.com/channel/UCKY3o0Bey-4L8mWF9hyTRdQ
0:29

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:48

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:40

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Naman Singh Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Naman जी का जवाब
Student & Social worker
1:10

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:01
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए सुप्रीम कोर्ट से बाहर निकाल सकते तो चाहिए संगठनों को और सरकार को और दोनों का जो पक्ष है अभी जो बातचीत हुई है लगभग 2 मुद्दों पर सहमति दो पर रह गई लेकिन किसी भी कानून को बदलना या रद्द करना यह ठीक नहीं है उसमें बदलाव किया जा सकता संशोधन किए जा सकते हैं तो अब तक हमने देखा कि दोनों जिद करके बैठे हुए और अब थोड़ी सी पी ली है उनके बीच में बरसा होगा और यह सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि जो आंदोलन कर रहे लोग हैं उसमें किसानों की संख्या भी ज्यादा है और कुछ शरारती तत्वों को उसको नियंत्रित किया जाए और भेज और सुप्रीम कोर्ट क्या है जी सुप्रीम कोर्ट में दोनों पक्ष जाते हैं तो अपने-अपने पक्ष रखेगी सरकार के मेरा पक्ष ठीक है किसान के है क्या मेरे को सही और कि सरकार या किसान के बीच में सर दोनों को सुप्रीम कोर्ट कोई डायरेक्ट आर्डर नहीं दे सकता है कि भाई आप यह कीजिए मैं आप को कह रहा हूं ना वह सरकार को कह सकते कि आप भानु वापस लीजिए क्योंकि उसने संसद से पास किया और प्रेसिडेंट्स पर सिग्नेचर किया तो जब संसद में बहुमत से पास किया गया तो सुप्रीम कोर्ट ऐसे कानून को निरस्त नहीं कर सकती है और किसानों को भी ऐसे नहीं कह सकते कि आप इसको अमल नहीं करेंगे या जो भी निश्चित तौर पर सुप्रीम कोर्ट में कोई समाधान नहीं निकल सकता है हां दोनों को अपना पक्ष रखने की बात कह सकती सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम कोर्ट समिति के लिए बनाने को कह सकती है उसमें सेक्स पढ़कर समित जो समीक्षा करके दोनों पक्षों का रखेगी तीसरा मजबूत बनाया जा सकता है ऐसा भी हो सकता है
Kya kisaan aandolan ka supreem kort ke jarie supreem kort se baahar nikaal sakate to chaahie sangathanon ko aur sarakaar ko aur donon ka jo paksh hai abhee jo baatacheet huee hai lagabhag 2 muddon par sahamati do par rah gaee lekin kisee bhee kaanoon ko badalana ya radd karana yah theek nahin hai usamen badalaav kiya ja sakata sanshodhan kie ja sakate hain to ab tak hamane dekha ki donon jid karake baithe hue aur ab thodee see pee lee hai unake beech mein barasa hoga aur yah sarakaar kee jimmedaaree banatee hai ki jo aandolan kar rahe log hain usamen kisaanon kee sankhya bhee jyaada hai aur kuchh sharaaratee tatvon ko usako niyantrit kiya jae aur bhej aur supreem kort kya hai jee supreem kort mein donon paksh jaate hain to apane-apane paksh rakhegee sarakaar ke mera paksh theek hai kisaan ke hai kya mere ko sahee aur ki sarakaar ya kisaan ke beech mein sar donon ko supreem kort koee daayarekt aardar nahin de sakata hai ki bhaee aap yah keejie main aap ko kah raha hoon na vah sarakaar ko kah sakate ki aap bhaanu vaapas leejie kyonki usane sansad se paas kiya aur presidents par signechar kiya to jab sansad mein bahumat se paas kiya gaya to supreem kort aise kaanoon ko nirast nahin kar sakatee hai aur kisaanon ko bhee aise nahin kah sakate ki aap isako amal nahin karenge ya jo bhee nishchit taur par supreem kort mein koee samaadhaan nahin nikal sakata hai haan donon ko apana paksh rakhane kee baat kah sakatee supreem kort supreem kort samiti ke lie banaane ko kah sakatee hai usamen seks padhakar samit jo sameeksha karake donon pakshon ka rakhegee teesara majaboot banaaya ja sakata hai aisa bhee ho sakata hai

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:52
आपने पसंद किया है क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए हल निकल सकता है लेकिन मेरे ख्याल से हर कानून में सुप्रीम कोर्ट को बीच में नहीं लाना चाहिए अगर हर मामले का फैसला सुप्रीम कोर्ट के ही जरिए होगा तो फिर सरकार और जनता का कोई मतलब नहीं रह जाएगा मेरे ख्याल से इसको किसान और सरकार को आपस में बैठकर बातचीत करके ही इस मामले का हल निकालना चाहिए और हर बात में न्यायालय को बीच में लाना अच्छी बात नहीं है धन्यवाद
Aapane pasand kiya hai kya kisaan aandolan ka supreem kort ke jarie hal nikal sakata hai lekin mere khyaal se har kaanoon mein supreem kort ko beech mein nahin laana chaahie agar har maamale ka phaisala supreem kort ke hee jarie hoga to phir sarakaar aur janata ka koee matalab nahin rah jaega mere khyaal se isako kisaan aur sarakaar ko aapas mein baithakar baatacheet karake hee is maamale ka hal nikaalana chaahie aur har baat mein nyaayaalay ko beech mein laana achchhee baat nahin hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:45
देखिए भाई या तो कोर्ट फैसला करें या सोमवार फैसला करें हमारे हिसाब से जो भी फैसला करें लेकिन फैसला किसान के खेत में ही होना चाहिए उसका जहां अहित होता है वह फैसला हमारे लिए आपसे सबसे गलत होगा किसानों के दिल के बहुत बड़ी चोट होगी और पूरे देश के दिल पर चढ़ा दिया कि पूरे देश का दिल किसान ही है जिसके बलबूते पर ही धड़कता है कि किसान हमारे देश का दिल है
Dekhie bhaee ya to kort phaisala karen ya somavaar phaisala karen hamaare hisaab se jo bhee phaisala karen lekin phaisala kisaan ke khet mein hee hona chaahie usaka jahaan ahit hota hai vah phaisala hamaare lie aapase sabase galat hoga kisaanon ke dil ke bahut badee chot hogee aur poore desh ke dil par chadha diya ki poore desh ka dil kisaan hee hai jisake balaboote par hee dhadakata hai ki kisaan hamaare desh ka dil hai

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:49
गुड मॉर्निंग सर आपका सवाल है क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हर समाज में अलंकार कॉलेज का दिन है और 39 दिन से किसान हरियाणा पहले की बॉर्डर बॉर्डर पर डटे हुए हैं आज हर्ष तू जानता है देश के अंदर यह मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है और हो सकता है सुप्रीम कोर्ट इसके पक्ष में या किसकी किसकी किसकी जरूरत हो समय के अनुसार इसका हल दे और हो सकता है कि इसका हल सुप्रीम कोर्ट के द्वारा निकले
Gud morning sar aapaka savaal hai kya kisaan aandolan ka supreem kort ke jarie nikal sakata hai har samaaj mein alankaar kolej ka din hai aur 39 din se kisaan hariyaana pahale kee bordar bordar par date hue hain aaj harsh too jaanata hai desh ke andar yah maamala supreem kort bhee pahunch chuka hai aur ho sakata hai supreem kort isake paksh mein ya kisakee kisakee kisakee jaroorat ho samay ke anusaar isaka hal de aur ho sakata hai ki isaka hal supreem kort ke dvaara nikale

bolkar speaker
क्या किसान आंदोलन का सुप्रीम कोर्ट के जरिए निकल सकता है हल?Kya Kisaan Aandolan Ka Supreme Court Ke Jarie Nikal Sakta Hai Hal
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
3:52
माननीय सुप्रीम कोर्ट ने तो इनको समाधान भी दिया था माननीय सुप्रीम कोर्ट में एक कमेटी गठित की थी माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भारत सरकार को यह तीनों ब्लू पर पाबंदी लगाने के लिए या रोक लगाने के लिए स्थित दिया था लेकिन इन किसान नेताओं ने इन विभाजन कारी नेताओं ने इस देश को बर्बाद करने वाले नेताओं ने किसानों के क्षेत्रीय विधायक ने सुप्रीम कोर्ट के माननीय सुप्रीम कोर्ट के फल को स्वीकार नहीं किया था जिनके अंतर्गत आती क्योंकि देश को विभाजित करने के विचार बनाई हुई थी देश को तोड़ने की विचार थी देश में ही को कार्य करना चाहती थी देश में यूं बदलाव करना चाहते थे यही कारण था कि उन्होंने जा कर के वहां पर इस 34 लीटर सिनेमा जाकर के भारत सरकार से अनुमति दी पुलिस से अनुमति ली शांतिपूर्ण प्रदर्शन का वायदा किया ट्रैक्टर रैली निकालने का फायदा किया लेकिन इसके पीछे इनकी षड्यंत्र जो था जो दिल्ली में अराजकता का माहौल उत्पन्न करने का विचार था जो दिल्ली में तोड़फोड़ करने का विचार था जो दिल्ली की पुलिस को मारपीट करने का विचार था जो हथियारों का खुला प्रदर्शन करने का विचार था जो देश के ध्वज को अपमानित करने का विचार था उस दिन किसानों के प्रति प्रत्येक भारतवासी की संपत्ति समाप्त कर दी है आज ने प्रत्येक भारतवासी देशभक्त भारतवासी इन कृतियों के लिए इन पदों के लिए सारे जनता के माहौल के लिए कभी सम्मानित दृष्टि से नहीं देखा आप तो नफरत करेगा क्योंकि इन लोगों ने देश के संविधान को देश की गरिमा को देश के राष्ट्र ध्वज को जो अपमानित करने का दुस्साहस किया है उसका पनिशमेंट इन को मिलना ही चाहिए अवश्य मिलना चाहिए और इससे की यूट्यूब पर संगीत से संगीत देशद्रोह का अपमान पुलिसकर्मियों के साथ मारधाड़ जेसीबी संगीन धाराएं लगाकर किन को पढ़ना चाहिए जिससे कि यह कम से कम भविष्य में कभी ऐसा दुस्साहस न कर सकें कि राष्ट्र ध्वज का अपमान हो राष्ट्रीय संविधान का अपमान हो माननीय कोर्ट के आदेशों की अवहेलना हो यह कभी कोई ऐसा दुस्साहस न कर सके इसलिए मेरे विचार से सुप्रीम कोर्ट की संपत्ति थी इनके प्रति मेरे विचार से सहित प्रत्येक भारतवासी इन किसानों का समर्थक था 26 जनवरी सन 2021 के उस पार जूता या 15 के माहौल से पहले इन भारतीय किसानों को सिंपैथी प्रत्येक देशवासी सरकार पर दबाव बना रहे थे क्योंकि मांगेले मांगे मानी जाए उनकी जायज मांगे स्वीकार की जाए अन्नदाता को परेशान ना किया जाए लेकिन उन्होंने अपने कार्यों से अपने देश विरोधी विचारों से अपने देश विरोधी हरकतों से उपग्रहों से राष्ट्रध्वज के अपमान से अपने सबकी धरे पर पानी फेर लिया अभी तो यह ना कि हो गए हैं ना की दृष्टि से देख रहा है प्रत्येक देशवासी इनके को कार्यों का समर्थन कदापि नहीं करेगा और ना इनको सम्मान देगा यह तो देश का विभाजन चाहने वाले हैं यह तो देश को बर्बाद करने वाले हैं देश के राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने वाले हैं यह देश का जो इन्होंने उस दिन राष्ट्रध्वज के साथ में जो मिसबिहेव किया वह कदापि हम आपके लायक नहीं है अभी तुम को सजा का हकदार निश्चित करता है
Maananeey supreem kort ne to inako samaadhaan bhee diya tha maananeey supreem kort mein ek kametee gathit kee thee maananeey supreem kort ne bhaarat sarakaar ko yah teenon bloo par paabandee lagaane ke lie ya rok lagaane ke lie sthit diya tha lekin in kisaan netaon ne in vibhaajan kaaree netaon ne is desh ko barbaad karane vaale netaon ne kisaanon ke kshetreey vidhaayak ne supreem kort ke maananeey supreem kort ke phal ko sveekaar nahin kiya tha jinake antargat aatee kyonki desh ko vibhaajit karane ke vichaar banaee huee thee desh ko todane kee vichaar thee desh mein hee ko kaary karana chaahatee thee desh mein yoon badalaav karana chaahate the yahee kaaran tha ki unhonne ja kar ke vahaan par is 34 leetar sinema jaakar ke bhaarat sarakaar se anumati dee pulis se anumati lee shaantipoorn pradarshan ka vaayada kiya traiktar railee nikaalane ka phaayada kiya lekin isake peechhe inakee shadyantr jo tha jo dillee mein araajakata ka maahaul utpann karane ka vichaar tha jo dillee mein todaphod karane ka vichaar tha jo dillee kee pulis ko maarapeet karane ka vichaar tha jo hathiyaaron ka khula pradarshan karane ka vichaar tha jo desh ke dhvaj ko apamaanit karane ka vichaar tha us din kisaanon ke prati pratyek bhaaratavaasee kee sampatti samaapt kar dee hai aaj ne pratyek bhaaratavaasee deshabhakt bhaaratavaasee in krtiyon ke lie in padon ke lie saare janata ke maahaul ke lie kabhee sammaanit drshti se nahin dekha aap to napharat karega kyonki in logon ne desh ke sanvidhaan ko desh kee garima ko desh ke raashtr dhvaj ko jo apamaanit karane ka dussaahas kiya hai usaka panishament in ko milana hee chaahie avashy milana chaahie aur isase kee yootyoob par sangeet se sangeet deshadroh ka apamaan pulisakarmiyon ke saath maaradhaad jeseebee sangeen dhaaraen lagaakar kin ko padhana chaahie jisase ki yah kam se kam bhavishy mein kabhee aisa dussaahas na kar saken ki raashtr dhvaj ka apamaan ho raashtreey sanvidhaan ka apamaan ho maananeey kort ke aadeshon kee avahelana ho yah kabhee koee aisa dussaahas na kar sake isalie mere vichaar se supreem kort kee sampatti thee inake prati mere vichaar se sahit pratyek bhaaratavaasee in kisaanon ka samarthak tha 26 janavaree san 2021 ke us paar joota ya 15 ke maahaul se pahale in bhaarateey kisaanon ko simpaithee pratyek deshavaasee sarakaar par dabaav bana rahe the kyonki maangele maange maanee jae unakee jaayaj maange sveekaar kee jae annadaata ko pareshaan na kiya jae lekin unhonne apane kaaryon se apane desh virodhee vichaaron se apane desh virodhee harakaton se upagrahon se raashtradhvaj ke apamaan se apane sabakee dhare par paanee pher liya abhee to yah na ki ho gae hain na kee drshti se dekh raha hai pratyek deshavaasee inake ko kaaryon ka samarthan kadaapi nahin karega aur na inako sammaan dega yah to desh ka vibhaajan chaahane vaale hain yah to desh ko barbaad karane vaale hain desh ke raashtreey dhvaj ka apamaan karane vaale hain yah desh ka jo inhonne us din raashtradhvaj ke saath mein jo misabihev kiya vah kadaapi ham aapake laayak nahin hai abhee tum ko saja ka hakadaar nishchit karata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard