#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?

Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:23

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
A TO Z TECH VIDEOS Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए A जी का जवाब
बेरोजगार
0:49
लता दोस्त जैसा कि आप का सवाल है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है तो 10 में आपको देता हूं कि छोटे बच्चों पर दबाव बनाना उचित है या नहीं जैसे कि अगर आपका बच्चा बिल्कुल ही नहीं पड़ रहा है उसका पढ़ने में मन नहीं लग रहा है तो आप कैसे मनाया और जब बिल्कुल ना माने लेते हैं लगातार खेलने में जुटा रहे तो जा सकते हैं और इसे मारना तो गलत बात है उसे बच्चे को मारोगे तो फिर उससे बच्चे के मन में गलत प्रभाव पड़ता है तो बच्चे पर दबाव तो डालो लेकिन उस तरीके से नहीं की पिक्चर डिप्रेशन में जाए डिप्रेशन के और बच्चा नहीं जाना चाहिए ठीक है दोस्त अगर आपको ऑडियो अच्छी लगी हो तो लाइक करें और चैनल को सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Lata dost jaisa ki aap ka savaal hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai to 10 mein aapako deta hoon ki chhote bachchon par dabaav banaana uchit hai ya nahin jaise ki agar aapaka bachcha bilkul hee nahin pad raha hai usaka padhane mein man nahin lag raha hai to aap kaise manaaya aur jab bilkul na maane lete hain lagaataar khelane mein juta rahe to ja sakate hain aur ise maarana to galat baat hai use bachche ko maaroge to phir usase bachche ke man mein galat prabhaav padata hai to bachche par dabaav to daalo lekin us tareeke se nahin kee pikchar dipreshan mein jae dipreshan ke aur bachcha nahin jaana chaahie theek hai dost agar aapako odiyo achchhee lagee ho to laik karen aur chainal ko sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
1:15

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:29

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Sumit Goswami Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sumit जी का जवाब
Engineering, psychology, philosophy, Technology, health & fitness
2:55

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:15

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:23

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:55

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Vikas Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikas जी का जवाब
Student
1:14

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:53

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Saloni vishwkarma   Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Saloni जी का जवाब
Unknown
1:00

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Ñámãñ ẞïñgh Påtël Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ñámãñ जी का जवाब
Student & Social worker
1:55

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Arjun Vishvakrma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Arjun जी का जवाब
Only students
1:21

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Om Prakash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Om जी का जवाब
Now in home
1:41

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:33
अच्छा क्या छोटे बच्चों के पढ़ाई के लिए दबाव बनाना चित्र छोटे बच्चों पर पढ़ाई का दबाव बनाना बिल्कुल उचित नहीं है और इसमें इस टाइप के तरीकों से आप उनको पढ़ाएंगे पढ़ाने के तरीके बहुत है खाना हो गया आपका बच्चा इंटरेस्ट कैलकुलेशन जा रहे थे तभी उनका बुरा लगे और यह पसंद किया है अगर भूख बढ़ाने के साथ 8 साल का है 5 साल पहले किस चीज में ज्यादा प्लेट कैसे में कमी हो तो उसको समझाइए डाली हो तो किसी तरह का प्रचार मत के लिए उसका मानसिक विकास में भी दिक्कत हो सकता है और बड़ों में तो आपको पता ही होगा आपको नहीं पता चलेगा तेरे को बढ़ावा के इंजन में बंगाली डॉक्टर बनना है तो सब समझते हैं क्या जवाब ना बनाएं तो बहुत अच्छा लगा दो आपकी खुद की औलादे हैं तो उनको समझाना आपका फर्ज है लेकिन एक तरीका होता है जिसका तो कोशिश करें पहले ढूंढे व्यक्तीचे मतलब को किस तरह से पढ़ना अच्छा लगता है कुछ याद नहीं कर पाते चीज को प्रेक्टिकल हो सकता है विधानसभा सकते हैं
Achchha kya chhote bachchon ke padhaee ke lie dabaav banaana chitr chhote bachchon par padhaee ka dabaav banaana bilkul uchit nahin hai aur isamen is taip ke tareekon se aap unako padhaenge padhaane ke tareeke bahut hai khaana ho gaya aapaka bachcha intarest kailakuleshan ja rahe the tabhee unaka bura lage aur yah pasand kiya hai agar bhookh badhaane ke saath 8 saal ka hai 5 saal pahale kis cheej mein jyaada plet kaise mein kamee ho to usako samajhaie daalee ho to kisee tarah ka prachaar mat ke lie usaka maanasik vikaas mein bhee dikkat ho sakata hai aur badon mein to aapako pata hee hoga aapako nahin pata chalega tere ko badhaava ke injan mein bangaalee doktar banana hai to sab samajhate hain kya javaab na banaen to bahut achchha laga do aapakee khud kee aulaade hain to unako samajhaana aapaka pharj hai lekin ek tareeka hota hai jisaka to koshish karen pahale dhoondhe vyakteeche matalab ko kis tarah se padhana achchha lagata hai kuchh yaad nahin kar paate cheej ko prektikal ho sakata hai vidhaanasabha sakate hain

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
mehaansh kushwah Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mehaansh जी का जवाब
I am geologist and environmentalist
0:38
छोटी बच्ची पर पढ़ाई का दबाव बनाना उचित नहीं है उसको पढ़ाने का तरीका यही है कि खेलते खेलते हैं उसको पढ़ाया जाए जब उसका माइंड विकसित होने लगेगा तू हर चीज को खुद ही समझ में लगेगा कि कैसी है किसको कहते करना चाहिए तू उचित यही है कि छोटे बच्चों का पढ़ाई का जवाब ना बनाया जाए उसको खेलते खेलते जैसे कि उसको खेलते खेलते खाना खिलाया जाता है वैसे ही खेलते खेलते उसको पढ़ाया जाए इंटरेस्ट से पढ़ाई है जिसमें जागरूकता है पढ़ने के लिए और जैसे जैसे उसके माइंड इट लाभ होगा वह इनक्रीस करता जाएगा
Chhotee bachchee par padhaee ka dabaav banaana uchit nahin hai usako padhaane ka tareeka yahee hai ki khelate khelate hain usako padhaaya jae jab usaka maind vikasit hone lagega too har cheej ko khud hee samajh mein lagega ki kaisee hai kisako kahate karana chaahie too uchit yahee hai ki chhote bachchon ka padhaee ka javaab na banaaya jae usako khelate khelate jaise ki usako khelate khelate khaana khilaaya jaata hai vaise hee khelate khelate usako padhaaya jae intarest se padhaee hai jisamen jaagarookata hai padhane ke lie aur jaise jaise usake maind it laabh hoga vah inakrees karata jaega

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Amit Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Unknown
0:08

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:19
गुड मॉर्निंग चाइना का सामान है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है तो फिर मेरे हिसाब से तो यह बिल्कुल भी उचित नहीं है बच्चों के कोमल मन पर असर पड़ता है और इससे बच्चे टेंशन में आते हैं
Gud morning chaina ka saamaan hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai to phir mere hisaab se to yah bilkul bhee uchit nahin hai bachchon ke komal man par asar padata hai aur isase bachche tenshan mein aate hain

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:08

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Trainer Yogi Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trainer जी का जवाब
Motivational Speaker | Career Coach | Corporate Trainer | Marketing & Management Expert's. Follow Us YouTube channel : https://www.youtube.com/channel/UCKY3o0Bey-4L8mWF9hyTRdQ
1:28
हेलो फ्रेंड्स आज हम जिसके रोशन के बारे में बात करने वाले हैं वह हकीकत छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है कि बच्चों पर दबाव बनाना बिल्कुल भी उचित नहीं है क्योंकि जब आप उन पर दबाव बनाएंगे तो वह प्रभाव में नहीं आ पाएंगे और जब वह प्रभाव में आप आएंगे तो उन पर दबाव हावी कभी नहीं होगा इसलिए दबाव कभी ना बनाएं वह आपकी बात को माने ऐसा उनको बनाएं जब अगर आप बच्चे पर दबाव बनाएंगे उनके लड़ेंगे उनसे झगड़े तो वह आप से डरने लगेंगे और इस कारण वह झूठ बोलने लगेंगे और वही उनका झूठ बोलना आपको ज्यादा गुस्सा दिलाएगा और इससे उनको आप पीटने लगेंगे फिर से वह ज्यादा जो है झूठ बोलने लगेंगे इसलिए आप उनको उनके मन को जीतने की कोशिश करें उनको जीतने की कोशिश करें उनको लगे आप उनके एज ऑफ फ्रेंडली हो उनके फ्रेंड हो और उस तरीके से वह आपके साथ रहे वह आपसे सब कुछ कहेंगे और आप जैसे वह अपने फ्रेंड्स के साथ में एंजॉय करते हैं वैसे आपके साथ एंजॉय करेंगे और जब आप उनको कुछ एंजॉय के साथ पढ़ने में भी आप उनको भी लेकर बैठोगे मतलब वह भी उनको एंजॉय लगेगा आपके साथ तो आप जब उनके साथ में पढ़ने के लिए बैठोगे तो ऐसी पढ़ाई आप ऐसा कुछ मेथड बनाइए क्योंकि एंजॉय लगने लगे तो जब आप उनके साथ में पढ़ने के लिए इंजॉय के साथ बैठोगे तो आपके साथ वह पढ़ने भी बैठ जाएंगे और उसको भी एंजॉय के साथ भी पड़ेंगे वह पूरा फोकस लगा पाएगी पूरा माइंड लगा पाएंगे इसलिए दबाव कभी ना बनाएं बच्चों पर प्रभाव बनाएं जय हिंद
Helo phrends aaj ham jisake roshan ke baare mein baat karane vaale hain vah hakeekat chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai ki bachchon par dabaav banaana bilkul bhee uchit nahin hai kyonki jab aap un par dabaav banaenge to vah prabhaav mein nahin aa paenge aur jab vah prabhaav mein aap aaenge to un par dabaav haavee kabhee nahin hoga isalie dabaav kabhee na banaen vah aapakee baat ko maane aisa unako banaen jab agar aap bachche par dabaav banaenge unake ladenge unase jhagade to vah aap se darane lagenge aur is kaaran vah jhooth bolane lagenge aur vahee unaka jhooth bolana aapako jyaada gussa dilaega aur isase unako aap peetane lagenge phir se vah jyaada jo hai jhooth bolane lagenge isalie aap unako unake man ko jeetane kee koshish karen unako jeetane kee koshish karen unako lage aap unake ej oph phrendalee ho unake phrend ho aur us tareeke se vah aapake saath rahe vah aapase sab kuchh kahenge aur aap jaise vah apane phrends ke saath mein enjoy karate hain vaise aapake saath enjoy karenge aur jab aap unako kuchh enjoy ke saath padhane mein bhee aap unako bhee lekar baithoge matalab vah bhee unako enjoy lagega aapake saath to aap jab unake saath mein padhane ke lie baithoge to aisee padhaee aap aisa kuchh methad banaie kyonki enjoy lagane lage to jab aap unake saath mein padhane ke lie injoy ke saath baithoge to aapake saath vah padhane bhee baith jaenge aur usako bhee enjoy ke saath bhee padenge vah poora phokas laga paegee poora maind laga paenge isalie dabaav kabhee na banaen bachchon par prabhaav banaen jay hind

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Siya Ram Dubey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Siya जी का जवाब
Youtuber, life coach, spiritual thinker, motivational speaker, social media influencer
1:09
नमस्कार आपका प्रश्न है कि क्या छोटे बच्चों को पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है तो देखिए मेरे हिसाब से तो ऐसा करना बिल्कुल उचित नहीं है क्योंकि जो काम दबाव में कोई व्यक्ति करता है तो या तो उसे उम्र कर करता है या फिर डर से करता है जिससे उसके माइंड में जो शिक्षा प्रवेश करती है वह सही रूप से नहीं कर पाती है और इसके साथ ही वह अच्छे तरीके से उस चीज को नहीं सीख पाता है दबाव में रहकर इसलिए फ्री ऑफ माइंड उसको जितना हो सके वह लाकर फुसलाकर और जितना हो सके उसे अच्छे से तरीके से समझा कर यदि आप गाइड करेंगे तो जरूर वह पड़ेगा और जितना भी पड़ेगा उसके माइंड में सेट हो जाएगा अर्थात मेरे कहने का अर्थ यह है कि आप दबाव बनाकर इस चीज को करवाएंगे तो उसको इतना प्रभावी ढंग से वह व्यक्ति नहीं कर पाएगा धन्यवाद आपके इस प्रश्न के लिए आपका दिन शुभ हो
Namaskaar aapaka prashn hai ki kya chhote bachchon ko padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai to dekhie mere hisaab se to aisa karana bilkul uchit nahin hai kyonki jo kaam dabaav mein koee vyakti karata hai to ya to use umr kar karata hai ya phir dar se karata hai jisase usake maind mein jo shiksha pravesh karatee hai vah sahee roop se nahin kar paatee hai aur isake saath hee vah achchhe tareeke se us cheej ko nahin seekh paata hai dabaav mein rahakar isalie phree oph maind usako jitana ho sake vah laakar phusalaakar aur jitana ho sake use achchhe se tareeke se samajha kar yadi aap gaid karenge to jaroor vah padega aur jitana bhee padega usake maind mein set ho jaega arthaat mere kahane ka arth yah hai ki aap dabaav banaakar is cheej ko karavaenge to usako itana prabhaavee dhang se vah vyakti nahin kar paega dhanyavaad aapake is prashn ke lie aapaka din shubh ho

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
MBA Govt job in PSU/Assistant Manager (HR)
0:35
आपने किया है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है मेरा ही मानना है कि पढ़ाई के दबाव न बनाएं बच्चों पर पर फिर भी चाहे पढ़ाई का जो आदत पर लगा दीजिए क्योंकि क्या होता है कि अगर आप सब कुछ है देखने को मिलेगा कि जो लोग बचपन से ही पढ़ाई में अच्छे होते हैं वह बाद में भी पढ़ाई में अच्छे होते हैं इसलिए जरूरी है कि आप अपने घर में अगर कोई बच्चा है तू तो बचपन से ही जो है वह पढ़ाई की आदत में डालिए ताकि बाद में जो है वह पढ़ाई में अच्छे बने अच्छे नौकरी मिले उनको मैं क्या सही सवाल का जवाब
Aapane kiya hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai mera hee maanana hai ki padhaee ke dabaav na banaen bachchon par par phir bhee chaahe padhaee ka jo aadat par laga deejie kyonki kya hota hai ki agar aap sab kuchh hai dekhane ko milega ki jo log bachapan se hee padhaee mein achchhe hote hain vah baad mein bhee padhaee mein achchhe hote hain isalie jarooree hai ki aap apane ghar mein agar koee bachcha hai too to bachapan se hee jo hai vah padhaee kee aadat mein daalie taaki baad mein jo hai vah padhaee mein achchhe bane achchhe naukaree mile unako main kya sahee savaal ka javaab

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
rohit paste Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rohit जी का जवाब
Unknown
1:52
ग्राफ का सवाल बहुत ही बढ़िया है बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है या नहीं अगर आज के हिसाब से हम देखे तो बच्चों पर दबाव करके उनसे पढ़ाई कर लेना यह बात उचित नहीं है हम जो सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे हैं पेपर मीडिया प्रिंट मीडिया या जो हम दूर तेल टीवी पर टेलीविजन पर जो कुछ भी देख रहे हैं उससे उन बच्चों पर बुरा असर हो रहा है और आप देख रहे हैं कि बच्चे आत्महत्या कर रहे हैं कि छोटी छोटी चीजों के कारण जैसे कि आपने मुझे पढ़ाई के लिए दबाव डाला मुझे मोबाइल नहीं दिया मेरा मोबाइल छीन लिया मुझे डांट लगाई ऐसे छोटे-छोटे अगर हम देखें इंटरनेट के जमाने से पहले यानी कि नब्बे के दशक दशक में तो उससे पहले कुछ ऐसा नहीं होता था कितना भी मारो कितना भी बोलो बच्चे हो वैसा कुछ नहीं करता था वह सिर्फ पढ़ाई करता करता था और अच्छे से करता था लेकिन आज का जो इंटरनेट का माहौल देखते हुए यह सवाल का बहुत अच्छा है और आप दबाव में डाल के प्यार से समझा कर उसे पढ़ाई करने दो ज्यादा से ज्यादा इंटरनेट से दूर रखो और उसको मोबाइल मत दो मोबाइल की समझ ना हो तो अच्छा है और ज्यादा से ज्यादा आप सवेरे जल्दी उठने का और रात को चल सोने का 9:10 बजे तक सोने का प्रयास कीजिए और उसके साथ आपके बच्चे भी सो सकते हैं अगर आप अगर दो 2:00 बजे तक रात की मोबाइल पर रहेंगे तो बच्चे भी वही कर सकते हैं
Graaph ka savaal bahut hee badhiya hai bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai ya nahin agar aaj ke hisaab se ham dekhe to bachchon par dabaav karake unase padhaee kar lena yah baat uchit nahin hai ham jo soshal meediya ka istemaal kar rahe hain pepar meediya print meediya ya jo ham door tel teevee par teleevijan par jo kuchh bhee dekh rahe hain usase un bachchon par bura asar ho raha hai aur aap dekh rahe hain ki bachche aatmahatya kar rahe hain ki chhotee chhotee cheejon ke kaaran jaise ki aapane mujhe padhaee ke lie dabaav daala mujhe mobail nahin diya mera mobail chheen liya mujhe daant lagaee aise chhote-chhote agar ham dekhen intaranet ke jamaane se pahale yaanee ki nabbe ke dashak dashak mein to usase pahale kuchh aisa nahin hota tha kitana bhee maaro kitana bhee bolo bachche ho vaisa kuchh nahin karata tha vah sirph padhaee karata karata tha aur achchhe se karata tha lekin aaj ka jo intaranet ka maahaul dekhate hue yah savaal ka bahut achchha hai aur aap dabaav mein daal ke pyaar se samajha kar use padhaee karane do jyaada se jyaada intaranet se door rakho aur usako mobail mat do mobail kee samajh na ho to achchha hai aur jyaada se jyaada aap savere jaldee uthane ka aur raat ko chal sone ka 9:10 baje tak sone ka prayaas keejie aur usake saath aapake bachche bhee so sakate hain agar aap agar do 2:00 baje tak raat kee mobail par rahenge to bachche bhee vahee kar sakate hain

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:58
सवाल पूछा गया है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित तो देखिए छोटे बच्चे हो या फिर कोई बड़ा इंसान अगर आप उसको किसी चीज के लिए प्रेशर टाइप करते हैं तो आपने देखा होगा कि वह इससे आपको पीटी करते हैं तो छोटे बच्चों पर भी पढ़ाई का दबाव बनाना बिल्कुल सही नहीं है अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे अच्छे से पढ़ाई करें तो आपको उनकी तरफ ध्यान देने की जरूरत है आपको यह ध्यान देने की जरूरत है कि उनका पढ़ने की कैपेबिलिटी और जब किसी चीज को याद रखने की या समझने की उनकी स्पीड कैसी है किसी चीज को कितने दिन तक याद रख पाते हैं फिर उसके अलावा कि किस तरीके से वह आसानी से चीजों को समझ पाते हैं और ज्यादातर हमारे आसपास आजकल यह समस्या है कि जो चीजें हम बच्चों को पढ़ाते हैं उसको प्रैक्टिकल लाइफ से डिलीट नहीं कर पाते तो हमको अपने तरीके जो पढ़ाई करवाने के हैं ऐसे रखने चाहिए जिससे वह अपने आसपास की चीजों को अपनी पढ़ाई से रिलेट करता है तो वह चीजों को ज्यादा आसानी से समझ पाएंगे उसके अलावा उसको याद रखने में भी उनको ज्यादा समय तक हो उस चीज को याद रख पाएंगे और दूसरी बात दबाव बनाने वाले तरह दबाव बनाएंगे तो हो सके तो बचपन में उनका व्यक्तित्व आखिर चाहते क्या है आखिर वह क्या बनना चाहते क्या पाना चाहते आपको क्या करना है कि आपको अपनी तरफ से कोशिश करनी चाहिए कि चीजें वह समझ जाए पर ऐसे नहीं कि वह का मसला है तो आप उन्हें डांट रही है कुछ भी हर बच्चे की चीजों को समझने की चीजों को क्रश करने की कैपेसिटी अलग-अलग होती है और अलग-अलग तरीके से बात करते तो पहले आपको यह टेक्निक सीखनी पड़ेगी जिससे आपका बच्चा उस चीज को अच्छे से समझ पाए उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Savaal poochha gaya hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit to dekhie chhote bachche ho ya phir koee bada insaan agar aap usako kisee cheej ke lie preshar taip karate hain to aapane dekha hoga ki vah isase aapako peetee karate hain to chhote bachchon par bhee padhaee ka dabaav banaana bilkul sahee nahin hai agar aap chaahate hain ki aapake bachche achchhe se padhaee karen to aapako unakee taraph dhyaan dene kee jaroorat hai aapako yah dhyaan dene kee jaroorat hai ki unaka padhane kee kaipebilitee aur jab kisee cheej ko yaad rakhane kee ya samajhane kee unakee speed kaisee hai kisee cheej ko kitane din tak yaad rakh paate hain phir usake alaava ki kis tareeke se vah aasaanee se cheejon ko samajh paate hain aur jyaadaatar hamaare aasapaas aajakal yah samasya hai ki jo cheejen ham bachchon ko padhaate hain usako praiktikal laiph se dileet nahin kar paate to hamako apane tareeke jo padhaee karavaane ke hain aise rakhane chaahie jisase vah apane aasapaas kee cheejon ko apanee padhaee se rilet karata hai to vah cheejon ko jyaada aasaanee se samajh paenge usake alaava usako yaad rakhane mein bhee unako jyaada samay tak ho us cheej ko yaad rakh paenge aur doosaree baat dabaav banaane vaale tarah dabaav banaenge to ho sake to bachapan mein unaka vyaktitv aakhir chaahate kya hai aakhir vah kya banana chaahate kya paana chaahate aapako kya karana hai ki aapako apanee taraph se koshish karanee chaahie ki cheejen vah samajh jae par aise nahin ki vah ka masala hai to aap unhen daant rahee hai kuchh bhee har bachche kee cheejon ko samajhane kee cheejon ko krash karane kee kaipesitee alag-alag hotee hai aur alag-alag tareeke se baat karate to pahale aapako yah teknik seekhanee padegee jisase aapaka bachcha us cheej ko achchhe se samajh pae ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
1:11
रोशन है क्या बच्चों पर पढ़ाई के दबाव बनाना सिखा दीजिए अगर देखा जाए सही मायने में तो उचित नहीं है लेकिन अगर हम व्यवहारवाद की बात करें एक व्यवहारिक रूप में इसकी चर्चा करें तो बिल्कुल दबाव बनाना चाहिए पढ़ने के लिए क्योंकि बच्चे अक्सर माय जाते हैं जहां उनको सिर्फ इंटरटेनमेंट मिलता है सिर्फ आनंद खेलने में खाने में घूमने में बहुत ही कम ही बच्चे होते हैं जो बिना दबाव के खुद ही समझ लेते हैं और पढ़ाई करते हैं लेकिन हमारे कर्तव्य है कि वह बच्चे पढ़ाई ना करें तुम पर हम दबाव बनाएं पढ़ने के लिए चाहे वह भाई से बने लेकिन वह पढ़ाई करें यह हर तुम में डालनी होगी अगर हम नहीं डाल पाते हैं तो फिर वह सब हो जाता है उनको यह बताना पड़ता है कि उनके कैरियर के लिए उनके भविष्य के लिए पढ़ाई जरूरी है बहुत ज्यादा फोर्स नहीं करना चाहिए लेकिन दबाव बनाना चाहिए
Roshan hai kya bachchon par padhaee ke dabaav banaana sikha deejie agar dekha jae sahee maayane mein to uchit nahin hai lekin agar ham vyavahaaravaad kee baat karen ek vyavahaarik roop mein isakee charcha karen to bilkul dabaav banaana chaahie padhane ke lie kyonki bachche aksar maay jaate hain jahaan unako sirph intaratenament milata hai sirph aanand khelane mein khaane mein ghoomane mein bahut hee kam hee bachche hote hain jo bina dabaav ke khud hee samajh lete hain aur padhaee karate hain lekin hamaare kartavy hai ki vah bachche padhaee na karen tum par ham dabaav banaen padhane ke lie chaahe vah bhaee se bane lekin vah padhaee karen yah har tum mein daalanee hogee agar ham nahin daal paate hain to phir vah sab ho jaata hai unako yah bataana padata hai ki unake kairiyar ke lie unake bhavishy ke lie padhaee jarooree hai bahut jyaada phors nahin karana chaahie lekin dabaav banaana chaahie

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Rakeshkothiyal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rakeshkothiyal जी का जवाब
Astrology and Yogacharya
1:34
नमस्कार दोस्तों सभी सज्जनों को मेरा नमस्कार सजनवा का प्रश्न है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है देखो दोस्तों को ज्यादा फटकार के ना पढ़ाई जाए तो अच्छा है जैसा उनके मन में आ रहा है उन्हें ऐसा करने कि आजकल हमारी माताएं बहने अपने बच्चों को बहुत मारती है छोटी बातों पर हालांकि माताएं बहने अपने बच्चों के लिए टाइम नहीं निकाल पा रही क्यों वह दिनभर मोबाइल में लगी हुई है कभी फेसबुक में तो कभी व्हाट्सएप में कभी स्टाग्राम में कई पलाना पलाना जरा शास्त्री करती तो फेसबुक का व्हाट्सएप का सारा गुस्सा बच्चे में उतार देते हैं आदते खराब हो गई है अब फिर पछताना पड़े याद कर नहीं करेगा तो तेरे तू अपना मानसिक तनाव में आकर के बाद में धीरे-धीरे बहुत ज्यादा बिगड़ रहे दोस्तों माताओं बहनों से अनुरोध करूंगा कि यह व्हाट्सएप फेसबुक इतना बंद कीजिए अपने बच्चों में ध्यान दीजिए अपने बच्चे के साथ खेलो अपने बच्चों के साथ पूरा समय बताओ अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा तो असली फेस मार दो अगर अभी आप संभल के तो संभल गए मिनट नेता रन बाद में ऐसा होगा वही बच्चे आप को घर से बाहर निकाल देना दोस्तों यह मोबाइल मोबाइल अपना साइड में रखो और अपने बच्चों से प्यार करो उनके लिए टाइम निकालो दोस्तों आनंद में रहो व्यस्त रहे क्या माताजी
Namaskaar doston sabhee sajjanon ko mera namaskaar sajanava ka prashn hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai dekho doston ko jyaada phatakaar ke na padhaee jae to achchha hai jaisa unake man mein aa raha hai unhen aisa karane ki aajakal hamaaree maataen bahane apane bachchon ko bahut maaratee hai chhotee baaton par haalaanki maataen bahane apane bachchon ke lie taim nahin nikaal pa rahee kyon vah dinabhar mobail mein lagee huee hai kabhee phesabuk mein to kabhee vhaatsep mein kabhee staagraam mein kaee palaana palaana jara shaastree karatee to phesabuk ka vhaatsep ka saara gussa bachche mein utaar dete hain aadate kharaab ho gaee hai ab phir pachhataana pade yaad kar nahin karega to tere too apana maanasik tanaav mein aakar ke baad mein dheere-dheere bahut jyaada bigad rahe doston maataon bahanon se anurodh karoonga ki yah vhaatsep phesabuk itana band keejie apane bachchon mein dhyaan deejie apane bachche ke saath khelo apane bachchon ke saath poora samay batao apane bachchon ko achchhee shiksha to asalee phes maar do agar abhee aap sambhal ke to sambhal gae minat neta ran baad mein aisa hoga vahee bachche aap ko ghar se baahar nikaal dena doston yah mobail mobail apana said mein rakho aur apane bachchon se pyaar karo unake lie taim nikaalo doston aanand mein raho vyast rahe kya maataajee

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:30
इस संबंध में भी तो मत हैं एक दो यूरोपीय कल्चर का जो मत है या वेस्टर्न विचारों मत है उसके अनुसार तो भी यह मानते हैं कि बच्चे को जैसे माहौल में आप डालेंगे बच्चा इन 12 मिनट के अनुसार देसी मॉल में ढल जाता है इसलिए उसको शुरू से ही पढ़ने के लिए आप प्रोत्साहित करें मैं जवाब तुम शब्द का प्रयोग नहीं करूंगा अभी तो प्रोत्साहित शब्द का प्रयोग करूंगा उसको मॉडिफाई किया जाए जबकि जो भारतीय प्राचीन मत है उसके अनुसार तो यह है कि बच्चे को अच्छे संस्कार अवश्य दिए जाएं बचपन से लेकिन उसको पढ़ने के लिए 6 वर्ष की कम उम्र तक उसको दबाव नहीं डाला जाए कि उसके विकास को करने दिया जाए और 6 वर्ष के पश्चात में उसके विकास में बाधा नहीं आए इस प्रकार से धीरे-धीरे धीरे-धीरे एजुकेशन का स्तर को उस पर बढ़ाए जाए क्योंकि जितना वह मानसिक परिपक्वता चला जाएगा इतनी जल्दी क्यों बातों को सीधा चला जाएगा
Is sambandh mein bhee to mat hain ek do yooropeey kalchar ka jo mat hai ya vestarn vichaaron mat hai usake anusaar to bhee yah maanate hain ki bachche ko jaise maahaul mein aap daalenge bachcha in 12 minat ke anusaar desee mol mein dhal jaata hai isalie usako shuroo se hee padhane ke lie aap protsaahit karen main javaab tum shabd ka prayog nahin karoonga abhee to protsaahit shabd ka prayog karoonga usako modiphaee kiya jae jabaki jo bhaarateey praacheen mat hai usake anusaar to yah hai ki bachche ko achchhe sanskaar avashy die jaen bachapan se lekin usako padhane ke lie 6 varsh kee kam umr tak usako dabaav nahin daala jae ki usake vikaas ko karane diya jae aur 6 varsh ke pashchaat mein usake vikaas mein baadha nahin aae is prakaar se dheere-dheere dheere-dheere ejukeshan ka star ko us par badhae jae kyonki jitana vah maanasik paripakvata chala jaega itanee jaldee kyon baaton ko seedha chala jaega

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:52
का प्रश्न है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है देखिए छोटे बच्चे को कम मन बहुत नाजुक होता है और उस को डरा धमका कर दबाव बनाकर डांट फटकार करना उचित नहीं है उसके लिए बहुत सारी तकलीफ दिए हुए हैं जैसे उसे खेल-खेल में पढ़ाने चाहिए उसे ऐसा नहीं लगना चाहिए कि उस से उस को पढ़ने के लिए उस पर दबाव बनाया जा रहा है उसको विभिन्न प्रकार के ऑडियो वीडियो आइटम उपलब्ध है उसके द्वारा भी पढ़ाया जा सकता है और बच्चों की रुचि के अनुकूल बहुत विभिन्न चीजों को लाकर कहा जा सकता है जैसे एग्जांपल के तौर पर अगर बच्चे को गिनती सिखाने हो और बच्चे को कुत्ते के कुत्ता पसंद है दाल पसंद है तो उसे यह दो ब्लैक डॉग है और यह दो वाइट दाग है बताइए कुल कितने हो गए तो अकाउंट के लिए तो 1234 इसमें क्या होगा बच्चे की रुचि बनी रहेगी बच्चे को पढ़ाई बोझ नहीं लगेगा तू अब इस तरह से पढ़ाना चाहिए जो बच्चे को पढ़ाई बिल्कुल बुझने लगे बल्कि उसका रुचि जो है और उस में बढ़ता रहे ऐसे लूडो का खेल है तो उस बेंगलुरु खिलाते हैं सांप सीढ़ी का खेल खिलाते हैं तो उसे बच्चे काउंटिंग सीख जाते हैं तो इस तरह बहुत सारे खेल द्वारा बच्चों को पढ़ाना ज्यादा उचित होता है धन्यवाद
Ka prashn hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai dekhie chhote bachche ko kam man bahut naajuk hota hai aur us ko dara dhamaka kar dabaav banaakar daant phatakaar karana uchit nahin hai usake lie bahut saaree takaleeph die hue hain jaise use khel-khel mein padhaane chaahie use aisa nahin lagana chaahie ki us se us ko padhane ke lie us par dabaav banaaya ja raha hai usako vibhinn prakaar ke odiyo veediyo aaitam upalabdh hai usake dvaara bhee padhaaya ja sakata hai aur bachchon kee ruchi ke anukool bahut vibhinn cheejon ko laakar kaha ja sakata hai jaise egjaampal ke taur par agar bachche ko ginatee sikhaane ho aur bachche ko kutte ke kutta pasand hai daal pasand hai to use yah do blaik dog hai aur yah do vait daag hai bataie kul kitane ho gae to akaunt ke lie to 1234 isamen kya hoga bachche kee ruchi banee rahegee bachche ko padhaee bojh nahin lagega too ab is tarah se padhaana chaahie jo bachche ko padhaee bilkul bujhane lage balki usaka ruchi jo hai aur us mein badhata rahe aise loodo ka khel hai to us bengaluru khilaate hain saamp seedhee ka khel khilaate hain to use bachche kaunting seekh jaate hain to is tarah bahut saare khel dvaara bachchon ko padhaana jyaada uchit hota hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Dr.Pragya Tiwari Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Dr.Pragya जी का जवाब
Medical student (future doctor)
0:24
नहीं छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना जरूरी नहीं है छोटे बच्चों को पढ़ाई के में इंटरेस्ट लाना जरूरी है हमें ऐसी एक्टिविटीज करनी चाहिए और बच्चों को इस तरीके से पढ़ाना पढ़ाना चाहिए कि पढ़ाई में उनका इंटरेस्ट बड़े और वह अच्छे से पढ़ाई कर सकें लेकिन दबाव बनाकर क्यों नहीं डांट पीठ करके पढ़ने के लिए बिठाना सही नहीं है
Nahin chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana jarooree nahin hai chhote bachchon ko padhaee ke mein intarest laana jarooree hai hamen aisee ektiviteej karanee chaahie aur bachchon ko is tareeke se padhaana padhaana chaahie ki padhaee mein unaka intarest bade aur vah achchhe se padhaee kar saken lekin dabaav banaakar kyon nahin daant peeth karake padhane ke lie bithaana sahee nahin hai

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Kanhiya Awasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Kanhiya जी का जवाब
Student
0:18
प्रश्न है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ने के लिए दबाव बनाना उचित नहीं किसी पर भी आत्माओं पढ़ाई या किसी भी अन्य कार्य के लिए दबाव दबाव बनाना उचित नहीं है किसी का जवाब नहीं
Prashn hai kya chhote bachchon par padhane ke lie dabaav banaana uchit nahin kisee par bhee aatmaon padhaee ya kisee bhee any kaary ke lie dabaav dabaav banaana uchit nahin hai kisee ka javaab nahin

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
jayprakash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए jayprakash जी का जवाब
Unknown
0:57

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
ravideep singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravideep जी का जवाब
students
0:34

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
 Neeraj Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Unknown
1:31
हेलो दोस्तो मैंने सवाल है क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है तो पढ़ाई तो हमें जानते हैं कि सभी के लिए जरूरी है क्योंकि वह हमारे दिमाग को विकसित करने में ज्यादा योगदान देती है साथ-साथ हमारा माइंड को और ज्यादा अच्छा मजबूत और सोचने समझने की शक्ति को बढ़ाने के लिए भी पढ़ाई बहुत जरूरी है लेकिन छोटे बच्चों को पढ़ाई के प्रति नहीं ज्यादा दबाव नहीं करना चाहिए उनको और भी एक्टिविटीज जैसे खेलकूद डांसिंग सिंगिंग इन में भी दिन को प्रैक्टिस करनी चाहिए और ध्यान देना चाहिए आपने अगर अखबार पढ़ा हुआ कभी तो आपने देखा हुआ कि एक 7 साल का यूट्यूब पर है जो उससे जो बच्चे खेलते हैं गेम उनके टॉय काेरिव्यू करता है और कम से कम 12 शो करो रुपए कमाता है आप सो सकते हैं से 7 साल का लड़का और 12 सौ करोड़ रुपए कमाता है तू हुस्ना जाट टैलेंट है तो आपको भी अपने बच्चों का इसी तरीके से कुछ ना कुछ टैलेंट होता है वह दिखाना चाहिए सिर्फ पढ़ाई सब कुछ नहीं होता है और भी चीजें होती है वह भी एक बच्चे के लिए जरूरी होते हैं शायद उसका उसमें कलियर बन जाए जरूरी नहीं कि उसका पढ़ाई में ही कैरियर बनी
Helo dosto mainne savaal hai kya chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai to padhaee to hamen jaanate hain ki sabhee ke lie jarooree hai kyonki vah hamaare dimaag ko vikasit karane mein jyaada yogadaan detee hai saath-saath hamaara maind ko aur jyaada achchha majaboot aur sochane samajhane kee shakti ko badhaane ke lie bhee padhaee bahut jarooree hai lekin chhote bachchon ko padhaee ke prati nahin jyaada dabaav nahin karana chaahie unako aur bhee ektiviteej jaise khelakood daansing singing in mein bhee din ko praiktis karanee chaahie aur dhyaan dena chaahie aapane agar akhabaar padha hua kabhee to aapane dekha hua ki ek 7 saal ka yootyoob par hai jo usase jo bachche khelate hain gem unake toy kaaerivyoo karata hai aur kam se kam 12 sho karo rupe kamaata hai aap so sakate hain se 7 saal ka ladaka aur 12 sau karod rupe kamaata hai too husna jaat tailent hai to aapako bhee apane bachchon ka isee tareeke se kuchh na kuchh tailent hota hai vah dikhaana chaahie sirph padhaee sab kuchh nahin hota hai aur bhee cheejen hotee hai vah bhee ek bachche ke lie jarooree hote hain shaayad usaka usamen kaliyar ban jae jarooree nahin ki usaka padhaee mein hee kairiyar banee

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Santosh Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Santosh जी का जवाब
Student
1:33
क्या हाल है छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है लेकिन सवाल बहुत ही अच्छा है अगर आप छोटे बच्चे को पढ़ाई के लिए नहीं चाहते हैं तो आगे चलकर आपको दिक्कत होगा और आपको भी दिक्कत होगा और फिर आपके आपके बच्चे को भी दिक्कत होगा जैसे मैं पढ़ाई लिखाई नहीं करने के बाद वहां पर तू कुछ नहीं कर पाता है लाइफ में अगर आपका बच्चा आप अगर उनको दबाव डालकर पढ़ाई लिखाई करा देते हैं तो अगर अभी बच्चे में आप उनको दबाव डालकर पढ़ाते हैं तो बड़े होने के कारण वह बड़ा काम करता है तो तब आपको पता चलेगा कि मैं जो बचपन बचपन में इसको दबाव डालकर पढ़ाई करवाया था तो अभी मुझे उसका रिजल्ट मिला और बच्चे को भी महसूस होगा कि मुझे मम्मी पापा ने दबाव डालकर पढ़ाया तो उसी का आज रिजल्ट है यह बातें महसूस आप और हम कर सकते हैं इसीलिए बच्चे को जवाब देकर पढ़ाना चाहिए अब पूरी दिक्कत पूरा दबाव भी नहीं देना चाहिए उतना रखना चाहिए कि बच्चे आपका पढ़े लिखे अनपढ़ ना रहे हो थैंक यू
Kya haal hai chhote bachchon par padhaee ke lie dabaav banaana uchit hai lekin savaal bahut hee achchha hai agar aap chhote bachche ko padhaee ke lie nahin chaahate hain to aage chalakar aapako dikkat hoga aur aapako bhee dikkat hoga aur phir aapake aapake bachche ko bhee dikkat hoga jaise main padhaee likhaee nahin karane ke baad vahaan par too kuchh nahin kar paata hai laiph mein agar aapaka bachcha aap agar unako dabaav daalakar padhaee likhaee kara dete hain to agar abhee bachche mein aap unako dabaav daalakar padhaate hain to bade hone ke kaaran vah bada kaam karata hai to tab aapako pata chalega ki main jo bachapan bachapan mein isako dabaav daalakar padhaee karavaaya tha to abhee mujhe usaka rijalt mila aur bachche ko bhee mahasoos hoga ki mujhe mammee paapa ne dabaav daalakar padhaaya to usee ka aaj rijalt hai yah baaten mahasoos aap aur ham kar sakate hain iseelie bachche ko javaab dekar padhaana chaahie ab pooree dikkat poora dabaav bhee nahin dena chaahie utana rakhana chaahie ki bachche aapaka padhe likhe anapadh na rahe ho thaink yoo

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
Manish Maurya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Manish जी का जवाब
Unknown
0:24
हर चीज का एक बैलेंस जरूरी है बहुत ज्यादा बनाना भी अच्छा नहीं होगा और बहुत ज्यादा खेलना कूदना भी अच्छा नहीं होगा दोनों का बैलेंस बहुत जरूरी है अगर आपने उसको ज्यादा खेलने दिया तो पढ़ने में इसका मन नहीं लगना कम हो जाएगा और अगर उसे ज्यादा पढ़ने को दबाव बनाते रहे तो वह एकदम तो पूछा बन के रह जाएगा तो इसीलिए बैलेंस जरूरी है बैलेंस बनाकर रखें
Har cheej ka ek bailens jarooree hai bahut jyaada banaana bhee achchha nahin hoga aur bahut jyaada khelana koodana bhee achchha nahin hoga donon ka bailens bahut jarooree hai agar aapane usako jyaada khelane diya to padhane mein isaka man nahin lagana kam ho jaega aur agar use jyaada padhane ko dabaav banaate rahe to vah ekadam to poochha ban ke rah jaega to iseelie bailens jarooree hai bailens banaakar rakhen

bolkar speaker
क्या छोटे बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव बनाना उचित है?Kya Chote Bachon Par Padhai Ke Lie Dabaav Banana Uchit Hai
ABHIMANYU KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ABHIMANYU जी का जवाब
Part time teaching
1:50

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पढ़ाई के लिए दबाव क्यों नहीं करना चाहिए
URL copied to clipboard