#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

आदि कटे तो सबको तारे मध्य कटे तो सबको मार है अंत कटे तो सबको डीठा बताओ क्या?

Aadi Kate To Sabako Taare Madhy Kate To Sabako Maar Hai Ant Kate To Sabako Deetha Batao Kya
Rajesh Kumar Naveriya  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Ast. Teacher
1:08

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आदि कटे तो सबको तारे मध्य कटे तो सबको मार है अंत कटे तो सबको डीठा बताओ क्या?Aadi Kate To Sabako Taare Madhy Kate To Sabako Maar Hai Ant Kate To Sabako Deetha Batao Kya
Ramvriksh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Ramvriksh जी का जवाब
CivilEngineer
2:07
नमस्कार मित्रों बोलकर परिवार के समस्त साथियों दीवाना परिजनों को नमस्कार तो एक प्रश्न है कि अधिक कटे तो सबको तारे मध्य कटे तो सबको मार अंत कटे तो सबको देता है बताओ क्या देखें तो शुरू आप की पहेलियां है पहेली बुझाई जाती थी बड़ा आनंद आता था यह सब फैमिली स्टेज में था जब हमलोग चार-पांच में पढ़ते थे तो भी क्या दिन थे वो क्या समय था पहेलियां लघु जाते फिर तुझे पहली उसी समय लोग पूजा करते थे बढ़ाना इसका उत्तर होगा काजल आदि कटे मेरे पहला अक्षर कट जाएगा तो सबको तारे तो रास्ता कट जाएगा जल बचेगा सबको तारता है और मध्य कटे तो सबको मालूम है मध्य कट जाएगा जो कट जाएगा तो कॉल बन जाएगा कल जो किसी को छोड़ता नहीं है इस मृत्युलोक में ताल प्रधान है काल जय भगवान राम भगवान श्रीकृष्ण रहे हो या लड़का कर या का रावण का हो या मथुरा का राजा कंस रहा हो कोई बचा नहीं आज तक काम से चलो मारे गए हैं जो जो गए बहुर नहीं आए नहीं पटवत संदेश पता नहीं कहां लोग मरने के बाद चले जाते हैं और पुनः उनकी उत्पत्ति बताना होती भी है कि नहीं होती सब रात में तो अंत कटे तो सबको डिटेल और अंत जब कट जाएगा काजल में तो काजल हटा दीजिए तो का आज का जो बचेगा तो कोई भी कार्य कार्य सर आता है तो बहुत अच्छा लगता है तू ही है उसका उत्तर काजल
Namaskaar mitron bolakar parivaar ke samast saathiyon deevaana parijanon ko namaskaar to ek prashn hai ki adhik kate to sabako taare madhy kate to sabako maar ant kate to sabako deta hai batao kya dekhen to shuroo aap kee paheliyaan hai pahelee bujhaee jaatee thee bada aanand aata tha yah sab phaimilee stej mein tha jab hamalog chaar-paanch mein padhate the to bhee kya din the vo kya samay tha paheliyaan laghu jaate phir tujhe pahalee usee samay log pooja karate the badhaana isaka uttar hoga kaajal aadi kate mere pahala akshar kat jaega to sabako taare to raasta kat jaega jal bachega sabako taarata hai aur madhy kate to sabako maaloom hai madhy kat jaega jo kat jaega to kol ban jaega kal jo kisee ko chhodata nahin hai is mrtyulok mein taal pradhaan hai kaal jay bhagavaan raam bhagavaan shreekrshn rahe ho ya ladaka kar ya ka raavan ka ho ya mathura ka raaja kans raha ho koee bacha nahin aaj tak kaam se chalo maare gae hain jo jo gae bahur nahin aae nahin patavat sandesh pata nahin kahaan log marane ke baad chale jaate hain aur punah unakee utpatti bataana hotee bhee hai ki nahin hotee sab raat mein to ant kate to sabako ditel aur ant jab kat jaega kaajal mein to kaajal hata deejie to ka aaj ka jo bachega to koee bhee kaary kaary sar aata hai to bahut achchha lagata hai too hee hai usaka uttar kaajal

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आदि, अंत, मध्य कटे क्या
URL copied to clipboard