#भारत की राजनीति

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:17

और जवाब सुनें

VP Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए VP जी का जवाब
Unknown
1:02

Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Life coach
2:54

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:19

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:40

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:23

harshit kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए harshit जी का जवाब
Unknown
2:59
तो सवाल है क्या किसान बिल की वजह से आगामी चुनाव में मोदी सरकार को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा आगामी चुनाव की बात करें तो लोकसभा चुनाव अभी काफी दूर है 3 साल बाद यानी कि 2024 में है अगर हम सबसे नजदीकी चुनाव को देखें तो बंगाल का चुनाव है उसके बाद तमिलनाडु का चुनाव है तमिलनाडु के चुनाव में बीजेपी अपने आप को देश से बाहर ही मानकर चलती है और इस बार भी लगभग बाहर ईमान के चल रही है असली गेम जो वो खेल रही है वह वेस्ट बंगाल में खेल रही है तो जी नहीं मोदी सरकार को बिल्कुल भी इससे कोई नुकसान नहीं होने वाला है उल्टा सरकार को इससे काफी फायदा बीजेपी को होने वाला है तभी तो आप सोचो तभी तो वह इतने शांति से चीजों को होने दे रहे हैं नहीं तो वह जिस दिन चाहते इसे खत्म कर देते हैं जिस दिन वह चाहते इस मूवमेंट को खत्म कर देते हैं वह लोगों को देख रहे दे रहे कि भाई तुम देखो कि हां यह जो विपक्ष की पार्टी का है यह कितना सत्ता यह कितना लोगों के विरोध में है यह कितना देश के विरोध में काम करती है वह बोलोगे सर आप यह कैसे बोल रहे हो अगर आप फार्म लो जो भी किसान बिल है इस के बराबर में जाओगे तो उसके जन्म है मिनिमम सपोर्ट प्राइस मिनिमम सपोर्ट प्राइस वह ग्रेट होता है जिस दिन रेट पर सरकार जिस रेट पर सरकार कोई भी फसल किसानों से खरीदी है यानी कि अगर बात करें तो गेहूं का एमएसपी जो है वह लगभग और ₹950 है मक्के मक्के की एमएसपी ₹24 के आसपास है धान धान की एमएसपी ₹2000 के आसपास है आप अक्सर सुनते होंगे कि अक्सर क्या यह फैक्ट है कि एमएसपी पर जो सरकार फसल खरीद ती है चाहे गेहूं हो या फिर ध्यान हो वह पंजाब से ही करती है या हरियाणा से करती है आजकल कुछ पांच-छह सालों से मध्य प्रदेश से भी खरीदने लगी है बाकी स्टेट में वह कुछ नहीं खरीदते हैं सरकार कुछ नहीं खरीदना है सरकार के लोग कुछ नहीं खरीदते हैं जैसे कि मैं बिहार के बात करूं बिहार यह जो एमएसपी है वह पूरे देश में लागू होता है बिहार में बिहार में भी 1950 रुपए में छुपी है लेकिन बिहार में जो है कहीं भी आप चले जाओ आपको एमएसपी से नीचे की हूं मक्के की बात करें ₹24 में छुपी है लेकिन आप बिहार में कहीं भी देखो 11 से 12 से मिल जाएगा बाजरे की एमएसपी 2000 है लेकिन कहीं भी 1120 जाएगा यानी कि हम जाने कि पंजाब और हरियाणा को छोड़कर के बाकी सब 26 राज्य में किसी राज्य को इस बिल से एस एम एस पी से कोई फर्क नहीं पड़ता है क्योंकि उसे इससे कोई फायदा नहीं होता है फायदा उनको होगा यह लो आने से यह पर ग्लो आने से क्योंकि जो एमएसपी के नीचे इनके फसल जो बिक रही है बाकी स्टेट के किसानों की अब वह प्राइवेट व्यापारी को महंगे दामों में बेच सकते हैं जैसे की हम मक्के की बात करें तो अपने देश में मक्के की खपत कम होती है मुर्गे को खाने में ही यूज होता है ज्यादातर इसलिए उसको बहुत सस्ता बिकता है लेकिन अमेरिका में इसका डिमांड काफी ज्यादा है तो लेकिन यह अभी अब नहीं सकते दूसरे देश में लेकिन यह फार्म लो के आने के बाद आप अमेरिका को भी भेज सकते तो सोच लो कितना ज्यादा बाकी स्टेट के किसानों को होने वाला है इससे तो डेफिनेटली बीजेपी को है यह फायदा करेगा
To savaal hai kya kisaan bil kee vajah se aagaamee chunaav mein modee sarakaar ko bada nukasaan uthaana padega aagaamee chunaav kee baat karen to lokasabha chunaav abhee kaaphee door hai 3 saal baad yaanee ki 2024 mein hai agar ham sabase najadeekee chunaav ko dekhen to bangaal ka chunaav hai usake baad tamilanaadu ka chunaav hai tamilanaadu ke chunaav mein beejepee apane aap ko desh se baahar hee maanakar chalatee hai aur is baar bhee lagabhag baahar eemaan ke chal rahee hai asalee gem jo vo khel rahee hai vah vest bangaal mein khel rahee hai to jee nahin modee sarakaar ko bilkul bhee isase koee nukasaan nahin hone vaala hai ulta sarakaar ko isase kaaphee phaayada beejepee ko hone vaala hai tabhee to aap socho tabhee to vah itane shaanti se cheejon ko hone de rahe hain nahin to vah jis din chaahate ise khatm kar dete hain jis din vah chaahate is moovament ko khatm kar dete hain vah logon ko dekh rahe de rahe ki bhaee tum dekho ki haan yah jo vipaksh kee paartee ka hai yah kitana satta yah kitana logon ke virodh mein hai yah kitana desh ke virodh mein kaam karatee hai vah bologe sar aap yah kaise bol rahe ho agar aap phaarm lo jo bhee kisaan bil hai is ke baraabar mein jaoge to usake janm hai minimam saport prais minimam saport prais vah gret hota hai jis din ret par sarakaar jis ret par sarakaar koee bhee phasal kisaanon se khareedee hai yaanee ki agar baat karen to gehoon ka emesapee jo hai vah lagabhag aur ₹950 hai makke makke kee emesapee ₹24 ke aasapaas hai dhaan dhaan kee emesapee ₹2000 ke aasapaas hai aap aksar sunate honge ki aksar kya yah phaikt hai ki emesapee par jo sarakaar phasal khareed tee hai chaahe gehoon ho ya phir dhyaan ho vah panjaab se hee karatee hai ya hariyaana se karatee hai aajakal kuchh paanch-chhah saalon se madhy pradesh se bhee khareedane lagee hai baakee stet mein vah kuchh nahin khareedate hain sarakaar kuchh nahin khareedana hai sarakaar ke log kuchh nahin khareedate hain jaise ki main bihaar ke baat karoon bihaar yah jo emesapee hai vah poore desh mein laagoo hota hai bihaar mein bihaar mein bhee 1950 rupe mein chhupee hai lekin bihaar mein jo hai kaheen bhee aap chale jao aapako emesapee se neeche kee hoon makke kee baat karen ₹24 mein chhupee hai lekin aap bihaar mein kaheen bhee dekho 11 se 12 se mil jaega baajare kee emesapee 2000 hai lekin kaheen bhee 1120 jaega yaanee ki ham jaane ki panjaab aur hariyaana ko chhodakar ke baakee sab 26 raajy mein kisee raajy ko is bil se es em es pee se koee phark nahin padata hai kyonki use isase koee phaayada nahin hota hai phaayada unako hoga yah lo aane se yah par glo aane se kyonki jo emesapee ke neeche inake phasal jo bik rahee hai baakee stet ke kisaanon kee ab vah praivet vyaapaaree ko mahange daamon mein bech sakate hain jaise kee ham makke kee baat karen to apane desh mein makke kee khapat kam hotee hai murge ko khaane mein hee yooj hota hai jyaadaatar isalie usako bahut sasta bikata hai lekin amerika mein isaka dimaand kaaphee jyaada hai to lekin yah abhee ab nahin sakate doosare desh mein lekin yah phaarm lo ke aane ke baad aap amerika ko bhee bhej sakate to soch lo kitana jyaada baakee stet ke kisaanon ko hone vaala hai isase to dephinetalee beejepee ko hai yah phaayada karega

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान किसान बिल क्या है, किसान बिल क्या है इन हिंदी
URL copied to clipboard