#undefined

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:49
बीटी स्वास्थ्य की दृष्टि से सप्ताह में एक बार ब्रशिंग रखना चाहिए उसका सबसे अच्छा तरीका यह है बेटे आप अपना डेट निश्चित करने जैसी मंगलवार को रहना चाहिए तो श्री हनुमान जी की स्तवन करें और हनुमान जी की स्तुति मानते हुए और मंगलवार का व्रत ना करें या शनिवार को हनुमानजी का ध्यान करते हुए बरत रहे सोमवार को रहते हैं तो भगवान शिव का ध्यान किया करें बुधवार को रहते हैं तो भगवान गणेश जी का ध्यान किया करें गुरुवार को रहना चाहिए तो भगवान विष्णु का ध्यान किया करें तो शुक्रवार को रहना चाहिए तो भगवान भगवती जगदंबा जग जननी का नाम से व्रत रहे और इतवार को रहना चाहिए सूर्यदेव की उपासना करते हुए आप व्रत रहें तो बेटी किसी एक उसको बना ले जिससे दोनों ही लाभ है नंबर 1 मन को शांति प्राप्त होती है और हम हमारे धर्म के अनुसार अपने देव का चिंतन भी कर लेते हैं और नंबर दो स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है क्योंकि डॉक्टर से इस बात के लिए आपको सजेस्ट करते हैं कि आप 1 दिन कम से कम पड़ते हैं जिससे कि आपका डाइजेशन प्रक्रिया सही हो सकती है इसलिए आपको एक दिन अवश्य व्रत रहना चाहिए उससे वैसे भी फायदे हैं डाइजेशन की जो समस्या होती है वह भी दूर होती है और धार्मिक प्रक्रिया के अनुसार अपने भगवान का हम ध्यान करके मानसिक शांति प्राप्त कर लेते हैं
Beetee svaasthy kee drshti se saptaah mein ek baar brashing rakhana chaahie usaka sabase achchha tareeka yah hai bete aap apana det nishchit karane jaisee mangalavaar ko rahana chaahie to shree hanumaan jee kee stavan karen aur hanumaan jee kee stuti maanate hue aur mangalavaar ka vrat na karen ya shanivaar ko hanumaanajee ka dhyaan karate hue barat rahe somavaar ko rahate hain to bhagavaan shiv ka dhyaan kiya karen budhavaar ko rahate hain to bhagavaan ganesh jee ka dhyaan kiya karen guruvaar ko rahana chaahie to bhagavaan vishnu ka dhyaan kiya karen to shukravaar ko rahana chaahie to bhagavaan bhagavatee jagadamba jag jananee ka naam se vrat rahe aur itavaar ko rahana chaahie sooryadev kee upaasana karate hue aap vrat rahen to betee kisee ek usako bana le jisase donon hee laabh hai nambar 1 man ko shaanti praapt hotee hai aur ham hamaare dharm ke anusaar apane dev ka chintan bhee kar lete hain aur nambar do svaasthy ke lie bhee laabhadaayak hai kyonki doktar se is baat ke lie aapako sajest karate hain ki aap 1 din kam se kam padate hain jisase ki aapaka daijeshan prakriya sahee ho sakatee hai isalie aapako ek din avashy vrat rahana chaahie usase vaise bhee phaayade hain daijeshan kee jo samasya hotee hai vah bhee door hotee hai aur dhaarmik prakriya ke anusaar apane bhagavaan ka ham dhyaan karake maanasik shaanti praapt kar lete hain

और जवाब सुनें

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:37
स्वास्थ्य की दृष्टि से शब्दों में एक 1 वर्ष करने का तरीका बहुत सिंपल या फ्रूट खा कर रही है या फिर आप उसमें से ट्राई कर सकते हो जाता है इसी वक्त होता है क्योंकि आपकी पाचन शक्ति उत्पन्न होगी उसका नाम भी मिलेगा क्या पूरे रहते हैं वहां पर भी बनती है मेरे पास से नहीं कर सकते रिप्लाई किया ट्राई करो तो एकादशी का व्रत रखना मंडे का व्रत कब तक हो जाएगा स्वास्थ्य अच्छा रहेगा
Svaasthy kee drshti se shabdon mein ek 1 varsh karane ka tareeka bahut simpal ya phroot kha kar rahee hai ya phir aap usamen se traee kar sakate ho jaata hai isee vakt hota hai kyonki aapakee paachan shakti utpann hogee usaka naam bhee milega kya poore rahate hain vahaan par bhee banatee hai mere paas se nahin kar sakate riplaee kiya traee karo to ekaadashee ka vrat rakhana mande ka vrat kab tak ho jaega svaasthy achchha rahega

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:13
सवाल ही है कि स्वास्थ्य की दृष्टि से सप्ताह में एक बार उपवास करने का तरीका क्या है ताकि पाचन शक्ति को भी आराम मिल सके विशेषज्ञों का मानना है कि सप्ताह में कम से कम 1 दिन उपवास जरूर रखना चाहिए जिससे पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है जब दिनभर कुछ नहीं खाते तो बुर्जा भोजन पचाने में लगाती है वही उर्जा एक नई दिशा में मूर्ति है और फिर और ध्यान में परिवर्तित हो सकती है कुछ लोग उपवास अपनी धार्मिक परंपराओं को निभाने के लिए करते हैं तो कुछ लोग व्रत इसलिए रखते हैं ताकि अतिरिक्त वजन को कुछ कम किया जा सके कम खाने और वजन कम करने के चक्कर में अक्सर ऐसी चीजें खाते हैं जो स्वास्थ्य की दृष्टि से हमारे लिए फायदेमंद नहीं होगी इसलिए उपवास में सिर्फ सात्विक भोजन ही करना चाहिए इसका मतलब यह नहीं होता कि पूरे दिन भूखा रहा जाए उपवास का मतलब करने का मतलब ध्यान लगाने से भी होता है ध्यान करने से मस्तिष्क स्वस्थ रहता है वहीं ध्यान करने से दिमाग को शांति मिलती है ठीक उसी तरह कोई प्रयोजन घर में आ जाए या कोई बड़ी उपलब्धि मुझे तो भूख ही नहीं लगती लगता है कि खुशी से ही पेट भर गया उपवास के दिन ध्यान भी करें तो उनका उपवास एक दिन एकदम आत्मा को गहराई लेगा और उन्हें आत्मिक ताकत देगा जिसकी उन्हें बहुत जरूरत है
Savaal hee hai ki svaasthy kee drshti se saptaah mein ek baar upavaas karane ka tareeka kya hai taaki paachan shakti ko bhee aaraam mil sake visheshagyon ka maanana hai ki saptaah mein kam se kam 1 din upavaas jaroor rakhana chaahie jisase paachan tantr svasth rahata hai jab dinabhar kuchh nahin khaate to burja bhojan pachaane mein lagaatee hai vahee urja ek naee disha mein moorti hai aur phir aur dhyaan mein parivartit ho sakatee hai kuchh log upavaas apanee dhaarmik paramparaon ko nibhaane ke lie karate hain to kuchh log vrat isalie rakhate hain taaki atirikt vajan ko kuchh kam kiya ja sake kam khaane aur vajan kam karane ke chakkar mein aksar aisee cheejen khaate hain jo svaasthy kee drshti se hamaare lie phaayademand nahin hogee isalie upavaas mein sirph saatvik bhojan hee karana chaahie isaka matalab yah nahin hota ki poore din bhookha raha jae upavaas ka matalab karane ka matalab dhyaan lagaane se bhee hota hai dhyaan karane se mastishk svasth rahata hai vaheen dhyaan karane se dimaag ko shaanti milatee hai theek usee tarah koee prayojan ghar mein aa jae ya koee badee upalabdhi mujhe to bhookh hee nahin lagatee lagata hai ki khushee se hee pet bhar gaya upavaas ke din dhyaan bhee karen to unaka upavaas ek din ekadam aatma ko gaharaee lega aur unhen aatmik taakat dega jisakee unhen bahut jaroorat hai

Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:33
नमस्कार जैसा कि आपका क्वेश्चन है स्वास्थ्य की दृष्टि से सप्ताह में एक बार उपवास करने का तरीका क्या है ताकि पाचन शक्ति को भी आराम मिल सके देखो अगर आपने ऐसा क्वेश्चन पूछा तो आपका क्वेश्चन पूछने से बहुत-बहुत धन्यवाद बताना चाहता हूं अगर आप कोई भी एक सरप्राइज डेट ओं स्टेज किसी का भी आप रख है उसका एक बार एक टाइम खाना खाइए मॉर्निंग इवनिंग टाइम बैठेगा जैसे मैं आप जैसे आज-कल तो ट्यूसडे को दिन क्या करता हूं जैसे मैं मॉर्निंग में उठाया गया गर्भवती वगैरा की कोठी के फिर मेरा फास्ट है फिर मैं सारा दिन कुछ भी नहीं खाता फिर उसके बाद मैं नाइट में इवनिंग के टाइम 8:00 से 9:00 बजे साथ साथ एक टाइम खाना खाता हूं पूरे दिन 50 दिन के लिए कर सकते अगर आपको कोई और प्रॉब्लम है ना होता कुछ नोट्स वगैरा खा सकते हैं ड्राई फ्रूट्स खा सकते आप जो भी प्रसाद वगैरह बना सकते हैं लेकिन मेरा मैं नहीं खाता हूं लेकिन आपको अगर पाचन करने में कोई प्रॉब्लम है अगर आपको बात नहीं रख पा रहे तो आप उस टाइम मैं सजेस्ट धन्यवाद
Namaskaar jaisa ki aapaka kveshchan hai svaasthy kee drshti se saptaah mein ek baar upavaas karane ka tareeka kya hai taaki paachan shakti ko bhee aaraam mil sake dekho agar aapane aisa kveshchan poochha to aapaka kveshchan poochhane se bahut-bahut dhanyavaad bataana chaahata hoon agar aap koee bhee ek sarapraij det on stej kisee ka bhee aap rakh hai usaka ek baar ek taim khaana khaie morning ivaning taim baithega jaise main aap jaise aaj-kal to tyoosade ko din kya karata hoon jaise main morning mein uthaaya gaya garbhavatee vagaira kee kothee ke phir mera phaast hai phir main saara din kuchh bhee nahin khaata phir usake baad main nait mein ivaning ke taim 8:00 se 9:00 baje saath saath ek taim khaana khaata hoon poore din 50 din ke lie kar sakate agar aapako koee aur problam hai na hota kuchh nots vagaira kha sakate hain draee phroots kha sakate aap jo bhee prasaad vagairah bana sakate hain lekin mera main nahin khaata hoon lekin aapako agar paachan karane mein koee problam hai agar aapako baat nahin rakh pa rahe to aap us taim main sajest dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:05
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है स्वास्थ्य की दृष्टि से सप्ताह में एक बार उपवास करने का तरीका क्या है ताकि पाचन शक्ति को भी आराम मिल सके तो फ्रेंड से स्वस्थ की दृष्टि से सप्ताह में एक बार उपवास करना चाहिए इससे हमारे पेट को भी आराम मिलता है इसका तरीका यही है कि जब आप पोस्ट करें तो फल फ्रूट खा लीजिए पानी पी लीजिए चाय पी लीजिए आप तरल पदार्थ ले कर लेते रहे जिसमें हमारा पेट में पानी की कमी ना होने पाए आज करें आप खाना ना खाएं लेकिन आपको पानी पीते रहना है शरबत बनाकर पी सकती है जूस ले सकते हैं और खुद खा सकते हैं आप सीजन के जो भी फूट है आराम से फूट खाइए ड्राई फ्रूट भी खा सकते हैं तो 1 दिन जैसे आप खाना नहीं खाएंगे तो आपकी टीम को आराम मिलेगा आपकी पाचन शक्ति दुरुस्त होगी और आपको पाचन शक्ति कौन बनेगी तो एक-एक दिन तो बहुत जरूरी करना चाहिए सभी को फ्रेंड अगर आपको प्लीज मुझे लाइक जरूर करिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai svaasthy kee drshti se saptaah mein ek baar upavaas karane ka tareeka kya hai taaki paachan shakti ko bhee aaraam mil sake to phrend se svasth kee drshti se saptaah mein ek baar upavaas karana chaahie isase hamaare pet ko bhee aaraam milata hai isaka tareeka yahee hai ki jab aap post karen to phal phroot kha leejie paanee pee leejie chaay pee leejie aap taral padaarth le kar lete rahe jisamen hamaara pet mein paanee kee kamee na hone pae aaj karen aap khaana na khaen lekin aapako paanee peete rahana hai sharabat banaakar pee sakatee hai joos le sakate hain aur khud kha sakate hain aap seejan ke jo bhee phoot hai aaraam se phoot khaie draee phroot bhee kha sakate hain to 1 din jaise aap khaana nahin khaenge to aapakee teem ko aaraam milega aapakee paachan shakti durust hogee aur aapako paachan shakti kaun banegee to ek-ek din to bahut jarooree karana chaahie sabhee ko phrend agar aapako pleej mujhe laik jaroor kariega dhanyavaad

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:13
स्वास्थ्य के दृश्य सप्ताह में एक बार उपवास करने का तरीका क्या है ताकि पहचान को भी आराम मिले देखिए स्वास्थ्य के लिए एक दिन अगर अपन नहीं खाते हैं कोई ठोस पदार्थ नहीं खाते हैं तो आपके शरीर को काफी राहत मिल जाती इसके लिए आपको कोई कमजोरी ना हो इसके लिए आप लिक्विड चीज ले सकते हैं जिसमें सुबह आप मुसम्मी का जूस ले सकते हैं या नार का जूस ले सकते हैं दोपहर के समय आप एक गिलास मट्ठा ले सकते हैं नमक ना खाइए कुछ अस्वाद भोजन कीजिए आस्वाद भोजन में मतलब निनामा के लिए जाना शक्कर लिए ना बोलिए कुछ नहीं लीजिए और मिठाई तो बिल्कुल नहीं खाई है दही भी नहीं ली आपको जूस लीजिए जो उसको भी अनार का हो या मुसम्मी का हो या संतरे का तीनों को मिक्स करके भी आप ले सकते हैं फिर दोपहर में आप मट्ठा ले लीजिए रात में सोते समय एक गिलास दूध ले लीजिए अगर बीच में आपको पूछ रहे हो और पानी वगैरह पीना हो तो नींबू डालकर के गुनगुने पानी में नींबू डालकर को उसको कीजिए तो आपके पूरे पेट की सफाई हो जाएगी विटामिन सी भी मिलेगा पुष्यमित्र भी मिलेगा आपको और जितने भी उसे कैल्शियम भी मिल जाएगा सारी पुकार के सारी शक्तियां मिल जाएगी और लिक्विड होने के कारण पेट आपका बिल्कुल स्वस्थ हो जाएगा एक हफ्ते में एक दिन जरूर करना चाहिए
Svaasthy ke drshy saptaah mein ek baar upavaas karane ka tareeka kya hai taaki pahachaan ko bhee aaraam mile dekhie svaasthy ke lie ek din agar apan nahin khaate hain koee thos padaarth nahin khaate hain to aapake shareer ko kaaphee raahat mil jaatee isake lie aapako koee kamajoree na ho isake lie aap likvid cheej le sakate hain jisamen subah aap musammee ka joos le sakate hain ya naar ka joos le sakate hain dopahar ke samay aap ek gilaas mattha le sakate hain namak na khaie kuchh asvaad bhojan keejie aasvaad bhojan mein matalab ninaama ke lie jaana shakkar lie na bolie kuchh nahin leejie aur mithaee to bilkul nahin khaee hai dahee bhee nahin lee aapako joos leejie jo usako bhee anaar ka ho ya musammee ka ho ya santare ka teenon ko miks karake bhee aap le sakate hain phir dopahar mein aap mattha le leejie raat mein sote samay ek gilaas doodh le leejie agar beech mein aapako poochh rahe ho aur paanee vagairah peena ho to neemboo daalakar ke gunagune paanee mein neemboo daalakar ko usako keejie to aapake poore pet kee saphaee ho jaegee vitaamin see bhee milega pushyamitr bhee milega aapako aur jitane bhee use kailshiyam bhee mil jaega saaree pukaar ke saaree shaktiyaan mil jaegee aur likvid hone ke kaaran pet aapaka bilkul svasth ho jaega ek haphte mein ek din jaroor karana chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • स्वास्थ्य की दृष्टि से शुद्ध पेयजल कौन सा है..वर्त करने के क्या फायदे होते है
URL copied to clipboard