#जीवन शैली

bolkar speaker

अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?

Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:00
हेलो जी बाजा बाजी की अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है कि जब हम किसी के लिए अपने रजिस्ट्रेशन अपनी मंजिल में हम अच्छे लगते हैं हर बार क्या होता है जिनकी जानकारी ली रिजल्ट एग्जाम के लिए सपोर्ट में प्रैक्टिस कर रही हूं कर रही हूं तू अगर मैं अभी बोलने लगे कि हां मैं भी सिर्फ रिपेयर करने लगी हूं मेरी मंजिल क्या है कि मुझे एग्जाम भी अच्छी होती है ना उस समय पढ़ो तो मेरे बहुत सारे ऐसे दोस्त होंगे मुझे उसी वक्त डिस्टर्ब करेंगे परेशान करेंगे तो जान जाएंगे कि मैं इसी वक्त लाइक पढ़ती हूं पैसा होता है तो हम लोग इसमें झूठ बोलने की नहीं पड़ जाए तो बहुत बार होता है कि आपको इस तरह की बातें और फिर इस तरह का झूठ बोलना पड़ता है और बहुत बार क्या होता है कि लोग यह भी आपसे पूछते हैं जब आप किसी चीज के लिए तैयारी करते कह सकते हैं कि शाम के लिए जॉब के लिए तो बहुत बताना चाहते हैं कि नहीं क्वालीफाई कर पाया मुझे जवाब नहीं मिला और टेंशन सबको बता दिया कि हम जॉब इंटरव्यू देने के लिए जा रहे और अगर नहीं हो पाया तो लोग पता नहीं क्या सोचेंगे क्या बोलेंगे क्या नहीं यहां पर भी थोड़ा झूठ बोलना पड़ता है और बहुत बार क्या होता है प्रमोशन अगर जॉब में हो तो बहुत बार अपनी सीनियर्स के साथ और अच्छे से बोलता है यह सब करके रहना पड़ता में भी वह जितना भी बुरा होना होगा तो देखिए हर किसी को इंप्रेस करना या फिर अच्छे से थोड़ा बात कर रहे हो आपको उसकी चीज़ नहीं पसंद आ रहे हैं तो आप बार-बार उन्हें ऐसा बोल रहे थे यह भी नहीं होता तो कभी कदार यह सब मतलब चलता आपको कभी कदार जानबूझकर ऐसा करना पड़ता को दिखाना कोई मजबूरी होती है
Helo jee baaja baajee kee apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai ki jab ham kisee ke lie apane rajistreshan apanee manjil mein ham achchhe lagate hain har baar kya hota hai jinakee jaanakaaree lee rijalt egjaam ke lie saport mein praiktis kar rahee hoon kar rahee hoon too agar main abhee bolane lage ki haan main bhee sirph ripeyar karane lagee hoon meree manjil kya hai ki mujhe egjaam bhee achchhee hotee hai na us samay padho to mere bahut saare aise dost honge mujhe usee vakt distarb karenge pareshaan karenge to jaan jaenge ki main isee vakt laik padhatee hoon paisa hota hai to ham log isamen jhooth bolane kee nahin pad jae to bahut baar hota hai ki aapako is tarah kee baaten aur phir is tarah ka jhooth bolana padata hai aur bahut baar kya hota hai ki log yah bhee aapase poochhate hain jab aap kisee cheej ke lie taiyaaree karate kah sakate hain ki shaam ke lie job ke lie to bahut bataana chaahate hain ki nahin kvaaleephaee kar paaya mujhe javaab nahin mila aur tenshan sabako bata diya ki ham job intaravyoo dene ke lie ja rahe aur agar nahin ho paaya to log pata nahin kya sochenge kya bolenge kya nahin yahaan par bhee thoda jhooth bolana padata hai aur bahut baar kya hota hai pramoshan agar job mein ho to bahut baar apanee seeniyars ke saath aur achchhe se bolata hai yah sab karake rahana padata mein bhee vah jitana bhee bura hona hoga to dekhie har kisee ko impres karana ya phir achchhe se thoda baat kar rahe ho aapako usakee cheez nahin pasand aa rahe hain to aap baar-baar unhen aisa bol rahe the yah bhee nahin hota to kabhee kadaar yah sab matalab chalata aapako kabhee kadaar jaanaboojhakar aisa karana padata ko dikhaana koee majabooree hotee hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:23
पीके मंजिल पाने के लिए हमें एक खूबसूरत बाल बनाना होगा एक विशाल समृद्धि साले भावनाओं को लेना होगा गानों से मुक्त होना होगा तब कोई शक्ति आप को पराजित नहीं कर सकती है और एक अक्षर या शक्ति का समावेश आपके मन मस्तिष्क में पानी आने लगेगी जो वीर पुरुष की भांति मैदान ई जंग में लगा रहेगा
Peeke manjil paane ke lie hamen ek khoobasoorat baal banaana hoga ek vishaal samrddhi saale bhaavanaon ko lena hoga gaanon se mukt hona hoga tab koee shakti aap ko paraajit nahin kar sakatee hai aur ek akshar ya shakti ka samaavesh aapake man mastishk mein paanee aane lagegee jo veer purush kee bhaanti maidaan ee jang mein laga rahega

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Sandeep Goyal Chandigarh  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Tabla player artist and music home tutor
1:07
आप नमस्कार आपने कहा अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए नहीं बिल्कुल नहीं सत्य की राह पर चलेंगे तो निश्चित ही थोड़ा समय जरूर लगेगा लेकिन आपको शायद ही चाहे तो हम नहीं कह सकते थोड़ा कठिनाई जरूर आती है लेकिन हां आपको आपकी मंजिल जरूर मिलेगी लेकिन अगर झूठ की बुनियाद पर कोई भी कदम दूर क्यों नहीं आते कोई भी चीज हो वह ज्यादा देर तक उसका समय लंबा जरूर होता है मगर वह टिकी नहीं रह सकती ठीक है तो आपको आपकी मंजिल जल्द ही मिल तो जाएगी मगर सीमित समय के लिए ही लेकिन सत्य की राह पर चलकर अगर आप अपनी मंजिल हासिल करोगे तो थोड़ा समय जरूर लगेगा लेकिन आपको आपकी मंजिल बहुत अच्छे से मिलेगी और आप अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं तो सत्य की राह पर चलिए पर अपनी मंजिल को हासिल कीजिए धन्यवाद
Aap namaskaar aapane kaha apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena chaahie nahin bilkul nahin saty kee raah par chalenge to nishchit hee thoda samay jaroor lagega lekin aapako shaayad hee chaahe to ham nahin kah sakate thoda kathinaee jaroor aatee hai lekin haan aapako aapakee manjil jaroor milegee lekin agar jhooth kee buniyaad par koee bhee kadam door kyon nahin aate koee bhee cheej ho vah jyaada der tak usaka samay lamba jaroor hota hai magar vah tikee nahin rah sakatee theek hai to aapako aapakee manjil jald hee mil to jaegee magar seemit samay ke lie hee lekin saty kee raah par chalakar agar aap apanee manjil haasil karoge to thoda samay jaroor lagega lekin aapako aapakee manjil bahut achchhe se milegee aur aap apanee manjil tak pahunch sakate hain to saty kee raah par chalie par apanee manjil ko haasil keejie dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:04
देखिए झूठ के पैर नहीं होते झूठ तो आप हो वैसे भी खूबसूरत दिखेगा लेकिन जब वह फूट खुलता है तो बिल्कुल उसी तरह से हो जाता है कि जिस प्रकार से आंधी आती है और रखी हुई सारी जो राख होती वह सब उड़ जाती है और वह सारा का पहाड़ बता कर क्यों है रख दीजिए तो बड़ी अच्छी देखने में लगे उसको सजा दी जाए लेकिन जब आती आती है शादी का मतलब है सच्चाई तो सच्चाई के सामने कभी छुपता नहीं है और उसे ढेर का इस्तेमाल जो है लोगों को कि भावनाओं को गंदा करने के लिए तो गंदगी फैलाने के लिए होता है इसलिए जिस जीवन में अगर कुछ कार्य करता है स्थायित्व लाना है मन में प्रसन्नता लानी है अपनी गुडविल तैयार करनी है तो कड़ी मेहनत 210 पक्का इरादा अनुशासन के साथ आप जो कार्य करेंगे अपनी मंजिल पाने के लिए वह स्थाई होगी और आप को प्रगति के लिए पढ़ने में बहुत ही सहायक होगी और झूठ का आदर्श आरा लेंगे तो मंजिला पिकअप धराशाई हो जाएगी आपको पता नहीं चलेगा
Dekhie jhooth ke pair nahin hote jhooth to aap ho vaise bhee khoobasoorat dikhega lekin jab vah phoot khulata hai to bilkul usee tarah se ho jaata hai ki jis prakaar se aandhee aatee hai aur rakhee huee saaree jo raakh hotee vah sab ud jaatee hai aur vah saara ka pahaad bata kar kyon hai rakh deejie to badee achchhee dekhane mein lage usako saja dee jae lekin jab aatee aatee hai shaadee ka matalab hai sachchaee to sachchaee ke saamane kabhee chhupata nahin hai aur use dher ka istemaal jo hai logon ko ki bhaavanaon ko ganda karane ke lie to gandagee phailaane ke lie hota hai isalie jis jeevan mein agar kuchh kaary karata hai sthaayitv laana hai man mein prasannata laanee hai apanee gudavil taiyaar karanee hai to kadee mehanat 210 pakka iraada anushaasan ke saath aap jo kaary karenge apanee manjil paane ke lie vah sthaee hogee aur aap ko pragati ke lie padhane mein bahut hee sahaayak hogee aur jhooth ka aadarsh aara lenge to manjila pikap dharaashaee ho jaegee aapako pata nahin chalega

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:21
कसम है कि अपनी मंजिल को पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है जी नहीं बिल्कुल भी नहीं झूठ का सहारा लेकर के पाई गई मन से जो भी आपको सुख मिलेगा यह जो भी सफलता मिलेगी ओषणिक होगी देखेगी नहीं इसीलिए हमेशा अपने कार्यों पर अपने प्रयासों पर खुद पर भरोसा रखें और सही तरीके से लाइफ में सफल होने का प्रयास करें आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Kasam hai ki apanee manjil ko paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai jee nahin bilkul bhee nahin jhooth ka sahaara lekar ke paee gaee man se jo bhee aapako sukh milega yah jo bhee saphalata milegee oshanik hogee dekhegee nahin iseelie hamesha apane kaaryon par apane prayaason par khud par bharosa rakhen aur sahee tareeke se laiph mein saphal hone ka prayaas karen aapaka din shubh rahe dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:44
उसने पूछा गया अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है देखे मुझे नहीं लगता कि आप झूठ का सहारा लेकर आप मंजिल को पाऊं मैं तो यही कहूंगा कि समय लग रहा है घर आपके साथ समय लग रहा है उचित कठिनाई आ रही तो मेहनत करते रहिए आपका समय भी सही होगा आपका झूठ सहारा ले लोगे आप को मंजिल तो मिल जाएगी ठीक है लेकिन जब उस झूठ का पर्दाफाश होगा जब लोगों को पता चले कि आपने झूठ बोला था ठीक तो आपको सोचे आप अपने दिल से सोचा कि क्या होगा आपको साथ उसका दिल टूटेगा प्लस आप एक झूठ छुपाने के लिए कितनी झूठ बोलोगे तो एक सच बोल कर आप ईमानदारी से आगे बढ़े ना अगर मंजिल पाना ही है समस्या हो रही है मेहनत करके और सच बोल के आगे बढ़े मैं तो यह कहूंगा झूठ का क्यों सहारा लो मैं आपको बता दूं बहुत से ऐसे लोग हैं एक झूठ बोलते हैं एक झूठ छुपाने के चक्कर में 50 और झूठ बोल देते हैं तो आप खुश हो झूठ का सहारा लेकर मंजिल तो पालो है लेकिन अपने दिल से आप सोचे कि मंजिल जब पाओगे आप फिर सोचोगे मैंने मंजिल कैसे पाए किसी को झूठ बोलकर किसी को अपना मतलब जो आप पर इतना विश्वास करता था आपने उसका विश्वास आपने कहा जीता झूठ बोल दिया और जब उसको पता चलेगा तो वह आपको सोचे क्या वह तो नहीं बताऊंगा समय लग रहा है समय लगे इंसान बहुत से ऐसे झूठे लोग आपको मिल जाएंगे लाइफ में कि क्या है की चापलूसी करके तरकीब आना चाहता चापलूसी करते यह सब चीज नहीं इमानदारी से आप आगे बढ़े और देखिए आपका हर पल हर दिन सब कुछ अच्छा होगा वह भी सही का रास्ता पकड़े वह ज्यादा सही है जय हिंद जय भारत
Usane poochha gaya apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai dekhe mujhe nahin lagata ki aap jhooth ka sahaara lekar aap manjil ko paoon main to yahee kahoonga ki samay lag raha hai ghar aapake saath samay lag raha hai uchit kathinaee aa rahee to mehanat karate rahie aapaka samay bhee sahee hoga aapaka jhooth sahaara le loge aap ko manjil to mil jaegee theek hai lekin jab us jhooth ka pardaaphaash hoga jab logon ko pata chale ki aapane jhooth bola tha theek to aapako soche aap apane dil se socha ki kya hoga aapako saath usaka dil tootega plas aap ek jhooth chhupaane ke lie kitanee jhooth bologe to ek sach bol kar aap eemaanadaaree se aage badhe na agar manjil paana hee hai samasya ho rahee hai mehanat karake aur sach bol ke aage badhe main to yah kahoonga jhooth ka kyon sahaara lo main aapako bata doon bahut se aise log hain ek jhooth bolate hain ek jhooth chhupaane ke chakkar mein 50 aur jhooth bol dete hain to aap khush ho jhooth ka sahaara lekar manjil to paalo hai lekin apane dil se aap soche ki manjil jab paoge aap phir sochoge mainne manjil kaise pae kisee ko jhooth bolakar kisee ko apana matalab jo aap par itana vishvaas karata tha aapane usaka vishvaas aapane kaha jeeta jhooth bol diya aur jab usako pata chalega to vah aapako soche kya vah to nahin bataoonga samay lag raha hai samay lage insaan bahut se aise jhoothe log aapako mil jaenge laiph mein ki kya hai kee chaapaloosee karake tarakeeb aana chaahata chaapaloosee karate yah sab cheej nahin imaanadaaree se aap aage badhe aur dekhie aapaka har pal har din sab kuchh achchha hoga vah bhee sahee ka raasta pakade vah jyaada sahee hai jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:27
सवाल अपनी मंजिल पाने के लिए क्या जाने के लिए झूठ बोलने पड़ते हैं कि बाहर आना ही है तो हम जानते नहीं जा रहे हैं तो जब जाना चाहते हैं तो कोई ना जाने जाना जाने देना चाहते हैं तो इसलिए झूठा बहुत आती है बाद में आकर बता सकते हैं ताकि वह झूठ झूठ ना कहा जाए इसलिए इस तरीके को झूठा बताते हैं और इसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन अगर आप की दूसरी झूठ के बात करें बहुत तरीके होते हैं कि बहुत बड़ा झूठ बोल देते हैं झूठ को छुपाने के लिए झूठ बोलने पड़ते अपनी मंजिल को प्राप्त नहीं कर सकते हैं इसलिए झूठ का सहारा लेने से अच्छा है कि हम सच बोलकर यह अपनी मंजिल को प्राप्त करें उम्मीद करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा और हमारी शुभकामनाएं आपके साथ रहेंगे और आप जाना चाहते हो कि आपका लक्ष्य उद्देश्यों को जरूर प्राप्त हो आपको तो बस हमेशा खुश रहिए और कुछ रहता नहीं अपनी मंजिल को पाने का प्रयास कीजिए और अपने साथ
Savaal apanee manjil paane ke lie kya jaane ke lie jhooth bolane padate hain ki baahar aana hee hai to ham jaanate nahin ja rahe hain to jab jaana chaahate hain to koee na jaane jaana jaane dena chaahate hain to isalie jhootha bahut aatee hai baad mein aakar bata sakate hain taaki vah jhooth jhooth na kaha jae isalie is tareeke ko jhootha bataate hain aur isamen koee buraee nahin hai lekin agar aap kee doosaree jhooth ke baat karen bahut tareeke hote hain ki bahut bada jhooth bol dete hain jhooth ko chhupaane ke lie jhooth bolane padate apanee manjil ko praapt nahin kar sakate hain isalie jhooth ka sahaara lene se achchha hai ki ham sach bolakar yah apanee manjil ko praapt karen ummeed karate hain savaal ka javaab pasand aaega aur hamaaree shubhakaamanaen aapake saath rahenge aur aap jaana chaahate ho ki aapaka lakshy uddeshyon ko jaroor praapt ho aapako to bas hamesha khush rahie aur kuchh rahata nahin apanee manjil ko paane ka prayaas keejie aur apane saath

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
0:51
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है देखें अगर मंजिल पाने के लिए झूठ के सहारा लेने की आदत पड़ जाएगी तो एक झूठी बुनियाद तो मंजिल खड़ी रहेगी जो कभी भी डाल सकते क्योंकि झूठ एग्जिट नहीं करता है जो सच्चाई नहीं होती है कई बार ऐसा होता है कि आपको ऑडिशन लेने होते क्योंकि अगला आदमी भी स्मार्ट होता है और उस समय आप ऐसा ही कोई झूठ बोलते हो जिस झूठ के वजह से नहीं आपको नुकसान हो रहा है आगे वाले इंसान को नुकसान हो रहा है पैसा छुट का सहारा लेते हो आप आगे इंटेंशन अगर उसमें अच्छा है आपका किसी को फसाने का इंटेंशन नहीं है तो उस समय में आपने बोल भी दिया तो उससे फर्क नहीं पड़ता कि जो आपकी स्मार्टनेस लेकिन लेकिन ऐसा है कि अगर झूठ की आदत पड़ रही है और झूठ की बुनियाद पर चीजें खड़ी हो रही है और आप किसी को भी टोपी देते फिर तो कभी ना कभी उठा लेगी यह तो हंड्रेड परसेंट है
Apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai dekhen agar manjil paane ke lie jhooth ke sahaara lene kee aadat pad jaegee to ek jhoothee buniyaad to manjil khadee rahegee jo kabhee bhee daal sakate kyonki jhooth egjit nahin karata hai jo sachchaee nahin hotee hai kaee baar aisa hota hai ki aapako odishan lene hote kyonki agala aadamee bhee smaart hota hai aur us samay aap aisa hee koee jhooth bolate ho jis jhooth ke vajah se nahin aapako nukasaan ho raha hai aage vaale insaan ko nukasaan ho raha hai paisa chhut ka sahaara lete ho aap aage intenshan agar usamen achchha hai aapaka kisee ko phasaane ka intenshan nahin hai to us samay mein aapane bol bhee diya to usase phark nahin padata ki jo aapakee smaartanes lekin lekin aisa hai ki agar jhooth kee aadat pad rahee hai aur jhooth kee buniyaad par cheejen khadee ho rahee hai aur aap kisee ko bhee topee dete phir to kabhee na kabhee utha legee yah to handred parasent hai

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:00
नमस्कार आपका प्रश्न है कि कि अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए कि नहीं मेरी नजर में यह बहुत गलत बात है अपनी मंजिल पाने के लिए कभी भी झूठ का सहारा लेना सही नहीं होता है बहुत गलत बात है और देखे हमेशा मंजिल पाने के लिए ईमानदार मेहनती और सच्चाई का सामना करना चाहिए और उसी का सहारा लेकर के अपनी मंजिल तक जाना चाहिए क्योंकि अगर आप झूठ बोलेंगे और ईमानदारी और सच्चाई से अगर आप नहीं अपने रास्ते पर चलेंगे तो हो सकता है कि आपकी मंजिल आपसे और दूर हो जाए या फिर आप किसी गलत मंजिल की तरफ चले रहा है तो यह गलत चीज है कि अपनी मंजिल पाने के लिए झूठ का सहारा लेना सही है ऐसा गलत है आप हमेशा इमानदारी मेहनत सच्चाई और अपने अच्छे व्यवहार को अपने प्यार मोहब्बत को बनाए रखिए और अपनी मंजिल को सही तरीके से पाने की कोशिश करें तभी आप एक सही मंजिल तक जाएंगे धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki ki apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena chaahie ki nahin meree najar mein yah bahut galat baat hai apanee manjil paane ke lie kabhee bhee jhooth ka sahaara lena sahee nahin hota hai bahut galat baat hai aur dekhe hamesha manjil paane ke lie eemaanadaar mehanatee aur sachchaee ka saamana karana chaahie aur usee ka sahaara lekar ke apanee manjil tak jaana chaahie kyonki agar aap jhooth bolenge aur eemaanadaaree aur sachchaee se agar aap nahin apane raaste par chalenge to ho sakata hai ki aapakee manjil aapase aur door ho jae ya phir aap kisee galat manjil kee taraph chale raha hai to yah galat cheej hai ki apanee manjil paane ke lie jhooth ka sahaara lena sahee hai aisa galat hai aap hamesha imaanadaaree mehanat sachchaee aur apane achchhe vyavahaar ko apane pyaar mohabbat ko banae rakhie aur apanee manjil ko sahee tareeke se paane kee koshish karen tabhee aap ek sahee manjil tak jaenge dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:38
सवाल यह है कि अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है तो ध्यान रहे आप दूसरों से तो झूठ बोल सकते हैं लेकिन कभी भी खुद से झूठ ना बोले आप खुद के प्रति ईमानदार रहेंगे तभी आपको आपकी मंजिल मिलेगी पर अगर दूसरों से भी झूठ बोल रहे हैं तो एक लिमिट में और सिचुएशन के हिसाब से झूठ बोले वरना लिमिट से ज्यादा झूठ बोलने पर आपको इसका भविष्य में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है लेकिन ध्यान रहे अपने आप से कभी भी झूठ ना बोलें खुद पर विश्वास रखें और अपनी पूरी अपनी मेहनत को पूरी लगन से करें
Savaal yah hai ki apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai to dhyaan rahe aap doosaron se to jhooth bol sakate hain lekin kabhee bhee khud se jhooth na bole aap khud ke prati eemaanadaar rahenge tabhee aapako aapakee manjil milegee par agar doosaron se bhee jhooth bol rahe hain to ek limit mein aur sichueshan ke hisaab se jhooth bole varana limit se jyaada jhooth bolane par aapako isaka bhavishy mein mushkilon ka saamana karana pad sakata hai lekin dhyaan rahe apane aap se kabhee bhee jhooth na bolen khud par vishvaas rakhen aur apanee pooree apanee mehanat ko pooree lagan se karen

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:57
आपका प्रश्न है कि अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है देखिए बिल्कुल सही मैं तो नहीं मानता है क्योंकि यह एक आपको अल्पकालिक स्थिति में हो सकता है आपको फायदेमंद नजर आए लेकिन जिस दिन लोगों को आप हकीकत का पता चलेगा आप की वास्तविकता का पता चलेगा आप रिजल्ट झूठ और सत्य का पता चलेगा उस दिन आप लोगों की नजर जाएंगे और जो व्यक्ति कल तक आपको साथ देता था जिस व्यक्ति ने आपको कल तक सहारा दिया था वह एक क्षण में अपने हाथ पीछे खींचने का यह संसार में आज के दौर में एक गलत परंपरा चल पड़ी है कि हम किसी एक व्यक्ति को अगर गलत रास्तों से सफल होता देखते हैं तो एक परंपरा चल पड़ती है और यह बात चलाई जाती है कि देखिए वास्तविक सफल तो इस तरह से हुआ जाता है क्या फिर नहीं मानते कि दुनिया में कोई व्यक्ति बिना झूठ बोले सफल नहीं हो सकता क्या दुनिया में कोई व्यक्ति सही रास्ते पर चलते हुए सफल नहीं हो सकता है यह गलत बात है और इस तरह की बातों से बचना चाहिए सफल होने के लिए जिन चीजों की जरूरत है आपकी मंजिल पाने के लिए जिन चीजों की जरूरत है वह है कि आप जिस भी कार्य क्षेत्र में जो भी कार्य करना चाहे उसके बारे में पूरी जानकारी जुटाना उस तारीख को पढ़ने के लिए पूरे सही प्लानिंग करना योजना बनाना और उस योजना के लिए सही से रणनीति तैयार करना क्या क्या उसके लिए उस रणनीति को सही से लागू करने के लिए योजना को सही में लागू करने के लिए किन-किन संसाधनों की जरूरत पड़ेगी उन संसाधनों के बारे में जानकारी जुटाना और जो आपने सारी प्लानिंग योजना बनाई है रणनीति बनाई है उसको सही से जमीन पर लागू करना इसके साथ में आपका दृढ़ निश्चय आत्मविश्वास आपका कठिन परिश्रम और निरंतरता के साथ कार्य करना अगर यह आप करेंगे तो आपको सफल होने से आपकी मंजिल पाने से कोई नहीं रोक
Aapaka prashn hai ki apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai dekhie bilkul sahee main to nahin maanata hai kyonki yah ek aapako alpakaalik sthiti mein ho sakata hai aapako phaayademand najar aae lekin jis din logon ko aap hakeekat ka pata chalega aap kee vaastavikata ka pata chalega aap rijalt jhooth aur saty ka pata chalega us din aap logon kee najar jaenge aur jo vyakti kal tak aapako saath deta tha jis vyakti ne aapako kal tak sahaara diya tha vah ek kshan mein apane haath peechhe kheenchane ka yah sansaar mein aaj ke daur mein ek galat parampara chal padee hai ki ham kisee ek vyakti ko agar galat raaston se saphal hota dekhate hain to ek parampara chal padatee hai aur yah baat chalaee jaatee hai ki dekhie vaastavik saphal to is tarah se hua jaata hai kya phir nahin maanate ki duniya mein koee vyakti bina jhooth bole saphal nahin ho sakata kya duniya mein koee vyakti sahee raaste par chalate hue saphal nahin ho sakata hai yah galat baat hai aur is tarah kee baaton se bachana chaahie saphal hone ke lie jin cheejon kee jaroorat hai aapakee manjil paane ke lie jin cheejon kee jaroorat hai vah hai ki aap jis bhee kaary kshetr mein jo bhee kaary karana chaahe usake baare mein pooree jaanakaaree jutaana us taareekh ko padhane ke lie poore sahee plaaning karana yojana banaana aur us yojana ke lie sahee se rananeeti taiyaar karana kya kya usake lie us rananeeti ko sahee se laagoo karane ke lie yojana ko sahee mein laagoo karane ke lie kin-kin sansaadhanon kee jaroorat padegee un sansaadhanon ke baare mein jaanakaaree jutaana aur jo aapane saaree plaaning yojana banaee hai rananeeti banaee hai usako sahee se jameen par laagoo karana isake saath mein aapaka drdh nishchay aatmavishvaas aapaka kathin parishram aur nirantarata ke saath kaary karana agar yah aap karenge to aapako saphal hone se aapakee manjil paane se koee nahin rok

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है तो फ्रेंड से बहुत ज्यादा झूठ हमें अपने जीवन में नहीं बोलना चाहिए लेकिन कहीं कभी अगर हमें झूठ बोलना पड़ेगा मरकाम बन रहा है यह हमारी जानते ही पड़ी है यह से हमारा भविष्य ठीक हो रहा है तो हम कभी झूठ बोल सकते हैं लेकिन हमें अपनी जिंदगी झूठ के बल पर नहीं पीनी चाहिए ज्यादा झूठ का अखाड़ा नहीं लेना चाहिए क्योंकि झूठ एक दिन सबके सामने आ जाता है और सच्चाई का पता चल जाता है तब हमारी बहुत बेइज्जती होती है इसीलिए जब बहुत ही ज्यादा आवश्यक हो किसी की जान ही जा रही हो तब आप झूठ बोल सकते हैं अन्यथा अपने जीवन में आपको झूठ नहीं अपनाना है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai to phrend se bahut jyaada jhooth hamen apane jeevan mein nahin bolana chaahie lekin kaheen kabhee agar hamen jhooth bolana padega marakaam ban raha hai yah hamaaree jaanate hee padee hai yah se hamaara bhavishy theek ho raha hai to ham kabhee jhooth bol sakate hain lekin hamen apanee jindagee jhooth ke bal par nahin peenee chaahie jyaada jhooth ka akhaada nahin lena chaahie kyonki jhooth ek din sabake saamane aa jaata hai aur sachchaee ka pata chal jaata hai tab hamaaree bahut beijjatee hotee hai iseelie jab bahut hee jyaada aavashyak ho kisee kee jaan hee ja rahee ho tab aap jhooth bol sakate hain anyatha apane jeevan mein aapako jhooth nahin apanaana hai dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:27
लिखी मंजिल पाने के लिए झूठ का सहारा एक हद तक आप ले सकते हैं मतलब आपको कुछ करना है आप फैशन डिजाइनर जाना चाहते हो आप आर्किटेक्ट बनना चाहते हो या आपको ऐसा प्रोसेशन मैं जाना चाहता हूं जहां आपके फैमिली के थ्रू आपको परमिशन नहीं लेकिन आप बिल्कुल कंफर्म हो हंड्रेड परसेंट कि आप उसमें अच्छा करो अपनी पहचान को पाने के लिए आप झूठ बोलो तो कोई दिक्कत नहीं है इसके बाद में वह आज ना कल समझ जाएंगे लेकिन हां हर बात पर झूठ बोलना वह गलत बात बताता है कि पॉकेट मनी चाहिए तो लोग बोल दिए गर्लफ्रेंड रिलेशनशिप में है और आप ड्यूटी कर रहे हैं वहां झूठ बोल रहे हैं तो अन्य से बिल्कुल बोलना पड़ रहा है तू वह फिर भी ठीक है कि आज नहीं तो कल आपके घर वाले शादी वाले समझेंगे इस बात को झूठ किस कंटेंट में बोला जा रहा है वहीं पर इसलिए बोला जा रहा है वही मंजिल पाने के लिए सही है लेकिन रिलेशनशिप में चीज करने के लिए और हंसने के लिए सच के लिए बिल्कुल विषय थैंक यू
Likhee manjil paane ke lie jhooth ka sahaara ek had tak aap le sakate hain matalab aapako kuchh karana hai aap phaishan dijainar jaana chaahate ho aap aarkitekt banana chaahate ho ya aapako aisa proseshan main jaana chaahata hoon jahaan aapake phaimilee ke throo aapako paramishan nahin lekin aap bilkul kampharm ho handred parasent ki aap usamen achchha karo apanee pahachaan ko paane ke lie aap jhooth bolo to koee dikkat nahin hai isake baad mein vah aaj na kal samajh jaenge lekin haan har baat par jhooth bolana vah galat baat bataata hai ki poket manee chaahie to log bol die garlaphrend rileshanaship mein hai aur aap dyootee kar rahe hain vahaan jhooth bol rahe hain to any se bilkul bolana pad raha hai too vah phir bhee theek hai ki aaj nahin to kal aapake ghar vaale shaadee vaale samajhenge is baat ko jhooth kis kantent mein bola ja raha hai vaheen par isalie bola ja raha hai vahee manjil paane ke lie sahee hai lekin rileshanaship mein cheej karane ke lie aur hansane ke lie sach ke lie bilkul vishay thaink yoo

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Chetan Chandrawanshi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chetan जी का जवाब
Finding a part time job
1:20
नमस्कार आपका सवाल है कि अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है तो मैं इस बात पर कहना चाहूंगा कि किसी मंजिल को पाने के लिए झूठ बोलना सही है या गलत यह इस पर डिपेंड करेगा कि वह मंजिल क्या है अगर उस मंजिल से किसी का नुकसान नहीं होता और अभी तो आप उस मंजिल को पाने के लिए झूठ बोलने वाले उससे भी किसी वाले इंसान का बुरा ना हो तो वहां झूठ बोलने में कोई परेशानी नहीं बेझिझक ना बोल सकते और अगर किसी को किसी प्रकार की क्षति पहुंचती है तो वह ऐसे ही झूठ ना बोले फिर सुबह सच का सहारा ले मंजिल ना मिले यह इस डर से कराइए नहीं मंजिल मिलेगी देर से ही सही मिलेगी जरूर अगर आपने काबिलियत है तो विश्वास रखें धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai to main is baat par kahana chaahoonga ki kisee manjil ko paane ke lie jhooth bolana sahee hai ya galat yah is par dipend karega ki vah manjil kya hai agar us manjil se kisee ka nukasaan nahin hota aur abhee to aap us manjil ko paane ke lie jhooth bolane vaale usase bhee kisee vaale insaan ka bura na ho to vahaan jhooth bolane mein koee pareshaanee nahin bejhijhak na bol sakate aur agar kisee ko kisee prakaar kee kshati pahunchatee hai to vah aise hee jhooth na bole phir subah sach ka sahaara le manjil na mile yah is dar se karaie nahin manjil milegee der se hee sahee milegee jaroor agar aapane kaabiliyat hai to vishvaas rakhen dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:33
सवाल अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए कि निश्चित तौर पर ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि आप मान के चलो किसी आपने अपनी मंजिल पाने के बारे में बता पाएंगे कि आपने मुझे झूठ का सहारा लेकर मंजिल का है तो आप का मतलब देकर कितना मतलब क्या आपके बारे में सोचेंगे कि देखिए ऐसी मंजिल पानी क्यों खाने का क्या फायदा जिसमें आपने झूठ का सहारा लिया इसी तो सब लोग मंजिल पा सकते लेकिन अगर आप वही लग रहा आप सच का सहारा लेकर पूर्ण रूप से अपने संघर्ष के मंजिल पाई है मुझे तो आपसे लोग सीख लेंगे कि आपने मतलब कितना अधिक में लिपट इनकार किया मतलब तभी आपने अपनी मंजिल पर लोग आपसे सीख लेंगे इसके मतलब के बारे में जानेंगे झूठ का सहारा लेकर मंजिल कुछ चाहता होगा लेकिन तुम लोग अच्छे लोगों की आवाज को बिल्कुल सम्मान नहीं करेंगे क्योंकि मैं भी एक तरह से मिलो गलत बात है क्योंकि आप ऐसा काम से जिससे दूसरे लोगों को प्रेरणा भी लेना कि उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचे वह भी सोचने लगे कि इसने मुझे बिल का सहारा लेकर जो मंजिल पाई है तो मतलब हम भी ऐसा करेंगे तो मैडम से तो सभी लोग वैसे हो जाएंगे तो ऐसा बिल्कुल आप सब का सहारा लेकर मंजिल पाते हैं तो दूसरे लोगों को भी सीख मिलेगी ताकि वह भी अच्छे-अच्छे काम करके अपनी मंजिल पा सकेंगे तुम्हे करता हूं कॉल का जवाब अच्छा लगा धन्यवाद
Savaal apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena chaahie ki nishchit taur par aisa bilkul nahin karana chaahie kyonki aap maan ke chalo kisee aapane apanee manjil paane ke baare mein bata paenge ki aapane mujhe jhooth ka sahaara lekar manjil ka hai to aap ka matalab dekar kitana matalab kya aapake baare mein sochenge ki dekhie aisee manjil paanee kyon khaane ka kya phaayada jisamen aapane jhooth ka sahaara liya isee to sab log manjil pa sakate lekin agar aap vahee lag raha aap sach ka sahaara lekar poorn roop se apane sangharsh ke manjil paee hai mujhe to aapase log seekh lenge ki aapane matalab kitana adhik mein lipat inakaar kiya matalab tabhee aapane apanee manjil par log aapase seekh lenge isake matalab ke baare mein jaanenge jhooth ka sahaara lekar manjil kuchh chaahata hoga lekin tum log achchhe logon kee aavaaj ko bilkul sammaan nahin karenge kyonki main bhee ek tarah se milo galat baat hai kyonki aap aisa kaam se jisase doosare logon ko prerana bhee lena ki unakee bhaavanaon ko thes pahunche vah bhee sochane lage ki isane mujhe bil ka sahaara lekar jo manjil paee hai to matalab ham bhee aisa karenge to maidam se to sabhee log vaise ho jaenge to aisa bilkul aap sab ka sahaara lekar manjil paate hain to doosare logon ko bhee seekh milegee taaki vah bhee achchhe-achchhe kaam karake apanee manjil pa sakenge tumhe karata hoon kol ka javaab achchha laga dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:26
गाना कपड़े उसने अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है तो आपको बता देंगे देखे अगर आप एक अच्छे रिश्ते की शुरुआत करना चाहते हैं तो और उसमें फिर झूठ की कोई जगह नहीं होती आप सच के साथ उस रिश्ते में आगे पढ़िए निश्चित रूप से अगर आप अच्छे और सच्चे मन से आगे बढ़ेगा तो आपको सफलता मिलेगी में शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Gaana kapade usane apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai to aapako bata denge dekhe agar aap ek achchhe rishte kee shuruaat karana chaahate hain to aur usamen phir jhooth kee koee jagah nahin hotee aap sach ke saath us rishte mein aage padhie nishchit roop se agar aap achchhe aur sachche man se aage badhega to aapako saphalata milegee mein shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:56
वर्षा जी आप का सवाल है अपनी मंजिल को पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है तो साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है हमारे देश में ज्यादातर लोग एक अच्छे में जल पाने के लिए ज्यादातर झूठ का ही सहारा लेते हैं और झूठ बोलकर वह पता नहीं कहां से कहां पहुंच जाते हैं लेकिन झूठ से उनका इतिहास उठाई बनेगा क्योंकि वह झूठ बोलकर कामयाब तो हो जाएंगे लेकिन वह उनका इतिहास एक अच्छाई का इतिहास में उनका नाम दर्ज नहीं होगा क्योंकि हमारे देश में कुछ नेता ऐसे प्रधानमंत्री बन जाते हैं जो अपने देश के आम जन को एक जुमला दिया धोखा और घोषणा पत्र से और आपको कामयाब बना लेते हैं लेकिन उस देश की जनता जब उनका रिपोर्ट को तैयार करेगी तब उनका जो इतिहास लिखा जाएगा यह के बारे में इतिहास लिखा जाएगा इसलिए आपको झूठ बोलकर मंजिल तो मिल जाएगी लेकिन आपको उसका जो अंत है बहुत ही बुरा होगा इसलिए आप जो भी कार्य करें तो आप एक सत्य का ही मारो को चुनना चाहिए जिनकी मंजिल लगभग होती रहेंगी झूठ का अंत बहुत जल्दी हो जाता है और उनका पतन हो जाते हैं और फिर वह वापस लौट कर नहीं आ पाता है इसलिए सहारा देना चाहिए झूठ का सहारा लेना चाहिए झूठ बोलना ही पाप है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Varsha jee aap ka savaal hai apanee manjil ko paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena sahee hai to saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar hai hamaare desh mein jyaadaatar log ek achchhe mein jal paane ke lie jyaadaatar jhooth ka hee sahaara lete hain aur jhooth bolakar vah pata nahin kahaan se kahaan pahunch jaate hain lekin jhooth se unaka itihaas uthaee banega kyonki vah jhooth bolakar kaamayaab to ho jaenge lekin vah unaka itihaas ek achchhaee ka itihaas mein unaka naam darj nahin hoga kyonki hamaare desh mein kuchh neta aise pradhaanamantree ban jaate hain jo apane desh ke aam jan ko ek jumala diya dhokha aur ghoshana patr se aur aapako kaamayaab bana lete hain lekin us desh kee janata jab unaka riport ko taiyaar karegee tab unaka jo itihaas likha jaega yah ke baare mein itihaas likha jaega isalie aapako jhooth bolakar manjil to mil jaegee lekin aapako usaka jo ant hai bahut hee bura hoga isalie aap jo bhee kaary karen to aap ek saty ka hee maaro ko chunana chaahie jinakee manjil lagabhag hotee rahengee jhooth ka ant bahut jaldee ho jaata hai aur unaka patan ho jaate hain aur phir vah vaapas laut kar nahin aa paata hai isalie sahaara dena chaahie jhooth ka sahaara lena chaahie jhooth bolana hee paap hai dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
Hitesh jain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hitesh जी का जवाब
Blogger- Content Writer
2:54
राक्षस वाले की अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए तो मैं तो कहूंगा नहीं लेना चाहिए क्योंकि मेरा पर्सनल एक्सप्रेस जो है मेरा एक फ्रेंड है उसने एक झूठ का सहारा लिया था एक कंपनी में उसने सब एक सर्टिफिकेट बनवा करके एक काम का जब कि उसको 1 महीने का तो तो 1 दिन का वक्त नहीं था लेकिन 1 साल का सर्टिफिकेट बना कर उसने जो जो भी है तो वह जो चली चली काफी चली लेकिन काफी देर तक नहीं चली तो कहीं ना कहीं मतलब उससे अब पछतावा हो रहा है कि उसने इस लाइन में नहीं आना चाहिए वह बिजनेस का सोच रहा है यह तो यह तो छोटे भाई को मैंने दिया है कि आप चाहे झूठ के सारे कितना भी आगे बढ़ गई है लेकिन झूठ में बहुत ताकत नहीं है जो सच में है सच से आप पी के रह सकते हैं सच पर आप मुझे धीरे ही सही लेकिन आगे बढ़ते जरूर है सब कुछ मिलता है आपको जिसके साथ सच्चाई है उसके साथ भगवान खुद रहता है यह बात फैक्ट है और जहां झूठे जहां धोखाधड़ी है वहां कुछ भी चाहे कितना भी बड़ा कोई भी बाप की नहीं कितनी भी बड़ी कोई कंपनी क्यों नहीं होगा वह झूठ के सहारे खड़ी है तो एक न एक दिन जरूर गिरेगी तो हमें अपनी मंजिल पाने के लिए झूठ का सहारा नहीं लेना चाहिए ठीक है मानता हूं छोटा मोटा छोटा छोटा झूठ कहीं ना कहीं आपको कहीं फायदा भी दिलाता है या कहीं किसी का नुकसान होने से बचाता है तब झूठ हमें बोलना चाहिए किसी का नुकसान नहीं हो तब झूठ बोल सकते लेकिन खुद का खुद सेल्फिश बंद करके या खुद के सेलफिशनेस के चलते झूठ का सहारा लेकर आगे नहीं बढ़ना चाहिए क्योंकि कहीं ना कहीं वह आपको फिर से पीछे ही धक्के लेगा आप झूठ बोल क्या चाय मान लीजिए जॉब ले ली है या फिर आपने अपनी मंजिल पा ली है लेकिन आगे जाकर आपको जरूर हंड्रेड एंड 10% कहीं ना कहीं झटका लगेगा और वह झटका तो लगेगा इतना जोर से लगेगा कि आप से नहीं कर पाएंगे क्योंकि झूठ बहुत जल्दी आगे ले जाता है लेकिन झटका भी उतना ही ज्यादा जल्दी और उतना ही तेज लगता है कि आप से नहीं कर पाते तो झूठ बोलना नहीं बोलना वह तो आपके ऊपर डिपेंड करता है बाकी अपनी तो यही रहा है कि झूठ बोलकर नहीं करना चाहिए कुछ भी तो वह बस आज का मेरा यही था कि अपनी मंजिल पाने के लिए क्या देख लेना अगर सही है तो हम तो यही कहेंगे कि नहीं भैया यह गलत है इसे मत कीजिए सच का सहारा लेकर देखी है आप जरुर आगे बढ़ेंगे भगवान पर विश्वास कीजिए सच्चाई पर विश्वास कीजिए अगर आप ब्रेड रहते ना किसी चीज में तो आप जरुर आगे बढ़ेंगे बस मेहनत करते रहिए और जीवन में पॉजिटिव लोगों के साथ रही है पॉजिटिविटी फैलाते रही है पॉजिटिव माइंड सेटर की है और अपने काम के प्रति प्रेरणादायक रही है खुद को सेल्फ मोटिवेटेड कीजिए और मोटिवेट लोगों के साथ रही है बस इतना कहना चाहूंगा थैंक यू वेरी मच और अगर आपको यह वीडियो अच्छा लगा हो तो प्लीज लाइक शेयर सब्सक्राइब कीजिए थैंक यू वेरी मच गई थैंक यू थैंक यू बहुत बहुत आभार
Raakshas vaale kee apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena chaahie to main to kahoonga nahin lena chaahie kyonki mera parsanal eksapres jo hai mera ek phrend hai usane ek jhooth ka sahaara liya tha ek kampanee mein usane sab ek sartiphiket banava karake ek kaam ka jab ki usako 1 maheene ka to to 1 din ka vakt nahin tha lekin 1 saal ka sartiphiket bana kar usane jo jo bhee hai to vah jo chalee chalee kaaphee chalee lekin kaaphee der tak nahin chalee to kaheen na kaheen matalab usase ab pachhataava ho raha hai ki usane is lain mein nahin aana chaahie vah bijanes ka soch raha hai yah to yah to chhote bhaee ko mainne diya hai ki aap chaahe jhooth ke saare kitana bhee aage badh gaee hai lekin jhooth mein bahut taakat nahin hai jo sach mein hai sach se aap pee ke rah sakate hain sach par aap mujhe dheere hee sahee lekin aage badhate jaroor hai sab kuchh milata hai aapako jisake saath sachchaee hai usake saath bhagavaan khud rahata hai yah baat phaikt hai aur jahaan jhoothe jahaan dhokhaadhadee hai vahaan kuchh bhee chaahe kitana bhee bada koee bhee baap kee nahin kitanee bhee badee koee kampanee kyon nahin hoga vah jhooth ke sahaare khadee hai to ek na ek din jaroor giregee to hamen apanee manjil paane ke lie jhooth ka sahaara nahin lena chaahie theek hai maanata hoon chhota mota chhota chhota jhooth kaheen na kaheen aapako kaheen phaayada bhee dilaata hai ya kaheen kisee ka nukasaan hone se bachaata hai tab jhooth hamen bolana chaahie kisee ka nukasaan nahin ho tab jhooth bol sakate lekin khud ka khud selphish band karake ya khud ke selaphishanes ke chalate jhooth ka sahaara lekar aage nahin badhana chaahie kyonki kaheen na kaheen vah aapako phir se peechhe hee dhakke lega aap jhooth bol kya chaay maan leejie job le lee hai ya phir aapane apanee manjil pa lee hai lekin aage jaakar aapako jaroor handred end 10% kaheen na kaheen jhataka lagega aur vah jhataka to lagega itana jor se lagega ki aap se nahin kar paenge kyonki jhooth bahut jaldee aage le jaata hai lekin jhataka bhee utana hee jyaada jaldee aur utana hee tej lagata hai ki aap se nahin kar paate to jhooth bolana nahin bolana vah to aapake oopar dipend karata hai baakee apanee to yahee raha hai ki jhooth bolakar nahin karana chaahie kuchh bhee to vah bas aaj ka mera yahee tha ki apanee manjil paane ke lie kya dekh lena agar sahee hai to ham to yahee kahenge ki nahin bhaiya yah galat hai ise mat keejie sach ka sahaara lekar dekhee hai aap jarur aage badhenge bhagavaan par vishvaas keejie sachchaee par vishvaas keejie agar aap bred rahate na kisee cheej mein to aap jarur aage badhenge bas mehanat karate rahie aur jeevan mein pojitiv logon ke saath rahee hai pojitivitee phailaate rahee hai pojitiv maind setar kee hai aur apane kaam ke prati preranaadaayak rahee hai khud ko selph motiveted keejie aur motivet logon ke saath rahee hai bas itana kahana chaahoonga thaink yoo veree mach aur agar aapako yah veediyo achchha laga ho to pleej laik sheyar sabsakraib keejie thaink yoo veree mach gaee thaink yoo thaink yoo bahut bahut aabhaar

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
mahendra meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mahendra जी का जवाब
Unknown
2:02
नमस्कार मैं हूं मैजिक रैंबो आप ने सवाल किया है अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है यदि मंजिल सही हो हमारे हित में हो तो हम अपनी मंजिल को पाने के लिए झूठ का सहारा भी ले सकते हैं जहां तक हो सके तो झूठ का सहारा प्ले नहीं नहीं चाहिए परंतु आज के इस युग में हम हमारे एक दिन 1 दिन में कई बार हम झूठ बोलते हैं यदि हम झूठ ना बोले तुम दुखी हो जाते परेशान हो जाते हैं हमारे सत्य के कोई दो लाभ उठा उठा लेता है उसी प्रकार तो गधी जहां पर हमें झूठ बोलने की जरूरत हो वहीं पर झूठ बोलना चाहिए बोले परंतु कम से कम अपनी मंजिल पाने के लिए यदि आपके रास्ते में सत्य बाधक बन रहा है तो हमें झूठ का सहारा भी लेना चाहिए क्योंकि एक दम है महाभारत के युद्ध में रामायण युद्ध में आज में देखा जाए तो छल कपट आदि का सहारा लिया गया तो युद्ध में किसी को अनुचित नहीं माना जाता जैसे भी आयोजित तो यह भी हमारी मंजिल है और हम जो पास में है ना वह हमें युद्ध करके उन्हें प्राप्त करना है तो उसके अंदर हम झूठ बोल सकते हैं हिंदू ज्यादा नहीं लिमिट से थैंक्स

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
1:51
आप तो सवाल अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए नहीं झूठ का सहारा कब तक लोगे भाई एक बात बोलता हूं मैं आपको झूठ को अगर आप किसी से झूठ बोलते हो झूठ को याद करने की जरूरत होती है किसी को सच बोल तो सबको याद करने की जरूरत होती है झूठ बोला झूठ का सहारा नहीं लेना अगर आप झूठ का सहारा ले रहे हो को मंजिल को प्राप्त कर दो सच तो सामने आएगा एक न एक दिन तो सच तो सामने आएगा यह बात आप याद रख लीजिए जिस दिन सच सामने आएगा आप अपनी मंजिल से फिर से आप वहीं गिर जाओगे फिर आपको मंजिल प्राप्त करने का मजा कहां से आएगा मजा नहीं आएगा आप मंजिल प्राप्त कर लोगे लेकिन मजा नहीं आएगा आपको मजा तब आएगा जब आप आगे बढ़ो गियर मुश्किलों से लड़ो गे झूठ बोलने से क्या मिलेगा भाई सच तो 1 दिन आना ही है सामने तो फिर सोच का सहारा लो यार झूठ का सहारा मत लो ठीक है सच बोलो जो भी है सच बोलो जो भी होगा अच्छा बच्चे के लिए हुआ कुछ अच्छा ही हुआ ही पड़ा है तो फिर झूठ क्यों बोलना झूठ तो 1 दिन से खड़ा ही जाएगा 4 दिन छुपा नहीं रहेगा यह बात आप याद रख लीजिए ठीक है क्योंकि आप अपनी लाइफ में कुछ मैं पिछले दिनों आप देख सकते हो कौन सा से झूठ है जो पकड़ा नहीं है सब झूठ पकड़ा जाता है एक न एक दिन उसको समय आता है झूठ की उम्र नहीं होती ठीक है ना किसी दिन हम पकड़ पकड़ में आ जाता है सामने आ जाता है तो आप अगर मंजिल को प्राप्त कर दो झूठ बोलकर भी तो आपको मजा नहीं आएगा मंजिल को प्राप्त करने के लिए का मंदिर तो प्राप्त कर लूंगा आपको मजा नहीं आएगा उतना लेगा और झूठ जिस दिन सामने पकड़ा जाएगा अनके आपने झूठ बोला उस दिन आपको क्या होगा वह तो आपको पता ही है तो झूठ का सहारा नहीं लेना है नहीं लेना है नहीं लेना सच बोलना है जो हुआ जो भी होगा अच्छा हुआ चलेगा सच को नाजिया को सच बोलो ठीक है मैं तो यही बोलूंगा धन्यवाद
Aap to savaal apanee manjil paane ke lie kya jhooth ka sahaara lena chaahie nahin jhooth ka sahaara kab tak loge bhaee ek baat bolata hoon main aapako jhooth ko agar aap kisee se jhooth bolate ho jhooth ko yaad karane kee jaroorat hotee hai kisee ko sach bol to sabako yaad karane kee jaroorat hotee hai jhooth bola jhooth ka sahaara nahin lena agar aap jhooth ka sahaara le rahe ho ko manjil ko praapt kar do sach to saamane aaega ek na ek din to sach to saamane aaega yah baat aap yaad rakh leejie jis din sach saamane aaega aap apanee manjil se phir se aap vaheen gir jaoge phir aapako manjil praapt karane ka maja kahaan se aaega maja nahin aaega aap manjil praapt kar loge lekin maja nahin aaega aapako maja tab aaega jab aap aage badho giyar mushkilon se lado ge jhooth bolane se kya milega bhaee sach to 1 din aana hee hai saamane to phir soch ka sahaara lo yaar jhooth ka sahaara mat lo theek hai sach bolo jo bhee hai sach bolo jo bhee hoga achchha bachche ke lie hua kuchh achchha hee hua hee pada hai to phir jhooth kyon bolana jhooth to 1 din se khada hee jaega 4 din chhupa nahin rahega yah baat aap yaad rakh leejie theek hai kyonki aap apanee laiph mein kuchh main pichhale dinon aap dekh sakate ho kaun sa se jhooth hai jo pakada nahin hai sab jhooth pakada jaata hai ek na ek din usako samay aata hai jhooth kee umr nahin hotee theek hai na kisee din ham pakad pakad mein aa jaata hai saamane aa jaata hai to aap agar manjil ko praapt kar do jhooth bolakar bhee to aapako maja nahin aaega manjil ko praapt karane ke lie ka mandir to praapt kar loonga aapako maja nahin aaega utana lega aur jhooth jis din saamane pakada jaega anake aapane jhooth bola us din aapako kya hoga vah to aapako pata hee hai to jhooth ka sahaara nahin lena hai nahin lena hai nahin lena sach bolana hai jo hua jo bhee hoga achchha hua chalega sach ko naajiya ko sach bolo theek hai main to yahee boloonga dhanyavaad

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
er. ramphal bind Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए er. जी का जवाब
Private job
0:30
प्रश्न है अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेने पढ़ लेना सही है अरे दोस्त मंजिल पाने के लिए कोई झूठ का सहारा लेना नहीं होता सिर्फ सिर्फ यह होना चाहिए इमानदारी और सतत प्रयास सतत मेहनत रंग लगातार प्रयास लगातार मेहनत अपने मंजिल के प्रति और यह कौन सी बात हुई झूठ खईबु पता नहीं दोस्त आपकी कौन सी मंजिल है झूठ का सहारा लेना पड़ रहा है

bolkar speaker
अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है?Apni Manjil Pane Ke Lie Kya Jhuth Ka Sahara Lena Sahi Hai
sargam shukla Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए sargam जी का जवाब
I am only student👩‍🎓
1:28
राधे राधे जो आज का सवाल है कि हमें अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना चाहिए मेरा मानना है कि हमें झूठ का सहारा नहीं लेना चाहिए वह इसलिए क्योंकि जब आप सफलता की मंजिल पर पहुंच जाएंगे अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे तब आपको वह खुशी महसूस नहीं होगी हां दुनिया को जरूर बता देंगे कि मैंने यह चीटिंग करके नहीं किया मैंने अपने मन से किया या मैंने खुद अपने दम पर किया लेकिन यह आप खुद को नहीं समझा सकते क्योंकि हर बार झूठ बोल सकता है लेकिन अपने आपसे कभी झूठ नहीं बोल सकता तो फिर जवाब सफलता की मंजिल पर पहुंच जाएंगे तो अपने आप पर आपको गर्व महसूस नहीं होगा आप अपने आपको अब आप अब आप अपनी ही नजरों में गिर जाएंगे आपको लगे कि मैंने तो यह चीटिंग की प्राप्त किया है आपको खुशी होगी लेकिन खुशी नहीं होगी तो आप मेहनत करके अगर आपको सफलता को प्राप्त करेंगे तो आपको अधिक खुशी होगी लेकिन आप अगर सूट के साथ चैटिंग के साथ उस सफलता को प्राप्त करेंगे तो दूसरों को तो बड़ी खुशी होगी कि चलो मेरी बेटी मेरा बेटा मेरे पास हो गया और बड़ी मंजिल पर पहुंच गया आपको अपने ऊपर बिल्कुल भी महसूस नहीं होगी क्योंकि रियल्टी क्या है वह तो आपको पता ही होगी तो मेरा मानना है कि हमें जो आता है गलत है लेकिन हमें अपने मन से लिखना चाहिए और मैं इतनी रूल को फॉलो भी करती हूं राधे-राधे

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अपनी मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना सही है मंजिल पाने के लिए क्या झूठ का सहारा लेना
URL copied to clipboard