#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:23
हेलो जी महाराज आप का सवाल है कि बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं उनकी हर एक बात मतलब पापा के सामने मतलब बोलती है आंख में हुई है या फिर पापा नहीं है गांव में या फिर किसी जगह से भी अगर यह बात सुनी है तो ऐसे अचानक से कुछ भी चीज बताना और फिर से क्या होता है कि किसी इंसान के सामने आकर बोलेंगे कि आज पड़ोस में कोई गुजर गया है या फिर किसी का कंडीशन बहुत खराब हो गया दिनों से पता नहीं था तो अच्छे इंसान के बारे में यह बात बता रहे हैं और जिसके सामने बता रहे हैं उस इंसान को भी बुखार है तो वह क्या सोचेगा और उस पर क्या असर पड़ेगा किसी को कुत्ता का नेता है और आपके सामने हिस्टोरी बताते हैं कि मैसेज हड़ताल हुआ था उनके साथ इतना बुरा हुआ है उसको काट कैसे खुद को ठीक कर पाएगा तो कोई इंसान उसके सामने यह सब बातें नेगेटिव चीज नहीं करेंगे बीमारी से क्या होता नहीं होता पॉजिटिव पॉजिटिव सराउंडिंग लाइए की हसरत थी सच्चा होता है यह इंसान तू इतनी बड़ी बीमारी थी वह ठीक हो गया मुंह से इतनी बड़ी बीमारी थी कि मैं ठीक हूं ठीक नहीं होंगे तो बहुत ही अच्छी बात है पॉजिटिव पॉजिटिव सराउंडिंग लाना चाहिए ताकि वह इंसान ठीक हो सके और जब भी कुछ भी आशीष जानते हैं सुनते ही गांव में कुछ हुआ कोई हादसा हो गया या फिर उधर कहीं भी वक्त अचानक बीमारी और पहचान के सामने कभी भी मजबूरी में भी वह बेड पर सोया हुआ पेशेंट नहीं है उसे उसको बीमारियों से डायबिटीज को लेकर अचानक धन मजबूरी हो गया वह हो गया कुछ नहीं कर पाएंगे और चुप हो सकता प्रॉब्लम हो सकता है हर इंसान को यह सब चीजों का ध्यान देना चाहिए ताकि तबीयत ठीक भी रहे और वह इंसान खुद को रिकवर भी अच्छे से करता है
Helo jee mahaaraaj aap ka savaal hai ki beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain unakee har ek baat matalab paapa ke saamane matalab bolatee hai aankh mein huee hai ya phir paapa nahin hai gaanv mein ya phir kisee jagah se bhee agar yah baat sunee hai to aise achaanak se kuchh bhee cheej bataana aur phir se kya hota hai ki kisee insaan ke saamane aakar bolenge ki aaj pados mein koee gujar gaya hai ya phir kisee ka kandeeshan bahut kharaab ho gaya dinon se pata nahin tha to achchhe insaan ke baare mein yah baat bata rahe hain aur jisake saamane bata rahe hain us insaan ko bhee bukhaar hai to vah kya sochega aur us par kya asar padega kisee ko kutta ka neta hai aur aapake saamane historee bataate hain ki maisej hadataal hua tha unake saath itana bura hua hai usako kaat kaise khud ko theek kar paega to koee insaan usake saamane yah sab baaten negetiv cheej nahin karenge beemaaree se kya hota nahin hota pojitiv pojitiv saraunding laie kee hasarat thee sachcha hota hai yah insaan too itanee badee beemaaree thee vah theek ho gaya munh se itanee badee beemaaree thee ki main theek hoon theek nahin honge to bahut hee achchhee baat hai pojitiv pojitiv saraunding laana chaahie taaki vah insaan theek ho sake aur jab bhee kuchh bhee aasheesh jaanate hain sunate hee gaanv mein kuchh hua koee haadasa ho gaya ya phir udhar kaheen bhee vakt achaanak beemaaree aur pahachaan ke saamane kabhee bhee majabooree mein bhee vah bed par soya hua peshent nahin hai use usako beemaariyon se daayabiteej ko lekar achaanak dhan majabooree ho gaya vah ho gaya kuchh nahin kar paenge aur chup ho sakata problam ho sakata hai har insaan ko yah sab cheejon ka dhyaan dena chaahie taaki tabeeyat theek bhee rahe aur vah insaan khud ko rikavar bhee achchhe se karata hai

और जवाब सुनें

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:18
खरा कपास में बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं तो आपको बता दें देखे तो किसी भी बीमार व्यक्ति के सामने नकारात्मक बातें नहीं करनी चाहिए कई बार अनजाने में लोग इस तरह की बातें कर बैठते हैं मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Khara kapaas mein beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain to aapako bata den dekhe to kisee bhee beemaar vyakti ke saamane nakaaraatmak baaten nahin karanee chaahie kaee baar anajaane mein log is tarah kee baaten kar baithate hain main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:36
बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं कभी भी बीमार व्यक्ति के सामने बैठे थे नेगेटिव बातें नहीं करनी चाहिए भले ही उसकी रिपोर्ट कैसी भी हो उसका जो है जितना भी क्लोरेट क्यों ना हो कभी भी उस व्यक्ति के सामने यह सब बातें दिक्कत नहीं करनी चाहिए है क्योंकि जो बीमार व्यक्ति होते वह पहले से ही डेबिट कार्ड से गिरे हुए होते हैं बहुत अगस्त में होते हैं जो चढ़ा रहे होते हैं ऐसे में उनके सामने ही आप नेगेटिव बातें करेंगे तो यह उनके लिए जरूरी है कि मैं हमेशा बातें करें
Beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain kabhee bhee beemaar vyakti ke saamane baithe the negetiv baaten nahin karanee chaahie bhale hee usakee riport kaisee bhee ho usaka jo hai jitana bhee kloret kyon na ho kabhee bhee us vyakti ke saamane yah sab baaten dikkat nahin karanee chaahie hai kyonki jo beemaar vyakti hote vah pahale se hee debit kaard se gire hue hote hain bahut agast mein hote hain jo chadha rahe hote hain aise mein unake saamane hee aap negetiv baaten karenge to yah unake lie jarooree hai ki main hamesha baaten karen

Ekta Sahni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ekta जी का जवाब
Unknown
2:22
नमस्कार आपका प्रश्न है बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग कहते हैं ऐसी बात तो सही है बीमार व्यक्ति के सामने तो आप खुद ही पेशेंट है अपनी बीमारी से खुद ही परेशान है और हम जा रहे हैं चलिए हम उसका हालचाल पता करने जा रहे हैं हम एक बिगिनिंग तो कर सकते हैं हल्की फुल्की मगर सबसे पहले हम उससे बड़े ही अच्छी बेबी अतिक्रमण से नामली बस से मिलना चाहिए जैसे हम मिलते हैं हम यह सोचते हैं कि वह बीमार है और हम सब पता करने जा रहे हैं और हमें उसके सामने उसकी बीमारी को लेकर डीप में नहीं जाना चाहिए उसे नुस्खे ज्यादा नहीं बता नहीं चाहिए क्योंकि वह पर्सनैलिटी अभी बीमारी को लेकर काफी परेशान है और जो भी लोग आते होंगे सब उसकी बीमारी के लिए गाड़ी की बात करते होंगे कि आप ऐसा कर लीजिए आप उधर दिखा लीजिए आप ऐसे कर लीजिए वैसे कर लीजिए लेकिन जैसे-जैसे शाम बीमारी होती ऐसी काफी हद तक मारता है उसे मतलब फ्री के डॉक्टर भी बहुत मिल जाते हैं और तलाक देने वाले तो बहुत ही ज्यादा मिल जाते हैं एडवाइजर बहुत ज्यादा उसके पास होते हैं तो मैं तो सब से यही रिक्वेस्ट करूंगी अभी भी है मेरी और नाखून कैसे करती हो और कोई व्यक्ति पहले से ही बीमार है तो उसके सामने कम से कम उसकी बीमारी के रिगार्डिंग बात मत करें उसके सामने बड़ी की जोड़ी रे छन भर रहा है क्या खास बातें करें आउट ऑफ द वे जागकर कोशिश करें क्या अभी तक टाइम उसके साथ रहे और इस्माइल करता रे आप स्माइल करते एकदम से ही आप तो आप चुप जाएंगे वहां से तो वह बड़ा खुश होगा अंदर ही अंदर तो अपने आप को नार्मल महसूस करेगा इससे उसकी वीवो व 20 कम होगी अगर हम लोग चाहते हैं और हम उसी की बीमारी के बाद में बात करते हैं कि कितना टाइम हो गया ऐसे क्या करो कि डॉक्टर को दिखा रहे हो यार और में जाते हैं तो इससे और व्यक्ति सामने वाला स्पीड प्रश्न आ जाता है तो हमें उसे बीमारी को छोड़कर बाकी सारी हल्की इधर उधर की कुल बातें करनी चाहिए आते रहना चाहिए एक तो टाइम कोचिंग करके आना चाहिए जिससे कि उसका जो उसकी जो विल पावर है वह बड़े की और अपनी बीमारी को जल्दी से रिकवर कर पाएगा थैंक यू
Namaskaar aapaka prashn hai beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log kahate hain aisee baat to sahee hai beemaar vyakti ke saamane to aap khud hee peshent hai apanee beemaaree se khud hee pareshaan hai aur ham ja rahe hain chalie ham usaka haalachaal pata karane ja rahe hain ham ek bigining to kar sakate hain halkee phulkee magar sabase pahale ham usase bade hee achchhee bebee atikraman se naamalee bas se milana chaahie jaise ham milate hain ham yah sochate hain ki vah beemaar hai aur ham sab pata karane ja rahe hain aur hamen usake saamane usakee beemaaree ko lekar deep mein nahin jaana chaahie use nuskhe jyaada nahin bata nahin chaahie kyonki vah parsanailitee abhee beemaaree ko lekar kaaphee pareshaan hai aur jo bhee log aate honge sab usakee beemaaree ke lie gaadee kee baat karate honge ki aap aisa kar leejie aap udhar dikha leejie aap aise kar leejie vaise kar leejie lekin jaise-jaise shaam beemaaree hotee aisee kaaphee had tak maarata hai use matalab phree ke doktar bhee bahut mil jaate hain aur talaak dene vaale to bahut hee jyaada mil jaate hain edavaijar bahut jyaada usake paas hote hain to main to sab se yahee rikvest karoongee abhee bhee hai meree aur naakhoon kaise karatee ho aur koee vyakti pahale se hee beemaar hai to usake saamane kam se kam usakee beemaaree ke rigaarding baat mat karen usake saamane badee kee jodee re chhan bhar raha hai kya khaas baaten karen aaut oph da ve jaagakar koshish karen kya abhee tak taim usake saath rahe aur ismail karata re aap smail karate ekadam se hee aap to aap chup jaenge vahaan se to vah bada khush hoga andar hee andar to apane aap ko naarmal mahasoos karega isase usakee veevo va 20 kam hogee agar ham log chaahate hain aur ham usee kee beemaaree ke baad mein baat karate hain ki kitana taim ho gaya aise kya karo ki doktar ko dikha rahe ho yaar aur mein jaate hain to isase aur vyakti saamane vaala speed prashn aa jaata hai to hamen use beemaaree ko chhodakar baakee saaree halkee idhar udhar kee kul baaten karanee chaahie aate rahana chaahie ek to taim koching karake aana chaahie jisase ki usaka jo usakee jo vil paavar hai vah bade kee aur apanee beemaaree ko jaldee se rikavar kar paega thaink yoo

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:59
जो व्यक्ति बीमार होता है उसके सामने हमेशा ऐसी बातें करनी चाहिए जिससे उसके मन को प्रसन्नता हो उस को तकलीफ देने वाली बात है नहीं और कभी देखी अभी आपकी बहुत जरूरत है अभी आपने ढेर सारे कार्य कर डाले हैं जिन लोगों को बड़ा फायदा हुआ है अभी हमें आपकी बहुत जरूरत है आप बहुत जल्दी अच्छे हो जाएंगे हम सारे प्रयास कर रहे हैं थोड़ा आप हिम्मत बांध दिए और हिम्मत बांधने से बहुत बड़े-बड़े मर्जी दूर हो जाते हैं तो उसको जो है हिम्मत को बनाना चाहिए और यह हमेशा कहना चाहिए बहुत जल्दी अच्छा हो जाएगी तो सामान लोगों को हो जाता है लेकिन जल्दी ठीक हो जाता है बहुत तेजी से बढ़ती है और जल्दी ठीक हो जाते हैं क्योंकि बीमार व्यक्ति के अंदर जो है अगर आत्मविश्वास की कमी हो जाती है तो और ज्यादा फिर बीमार होने लगता इसलिए आत्मविश्वास को बढ़ावा देना चाहिए ताकि वह अपने अंदर से मजबूती प्रदान कर सके और लोगों से लड़ कर के फिर से स्वस्थ हो सके
Jo vyakti beemaar hota hai usake saamane hamesha aisee baaten karanee chaahie jisase usake man ko prasannata ho us ko takaleeph dene vaalee baat hai nahin aur kabhee dekhee abhee aapakee bahut jaroorat hai abhee aapane dher saare kaary kar daale hain jin logon ko bada phaayada hua hai abhee hamen aapakee bahut jaroorat hai aap bahut jaldee achchhe ho jaenge ham saare prayaas kar rahe hain thoda aap himmat baandh die aur himmat baandhane se bahut bade-bade marjee door ho jaate hain to usako jo hai himmat ko banaana chaahie aur yah hamesha kahana chaahie bahut jaldee achchha ho jaegee to saamaan logon ko ho jaata hai lekin jaldee theek ho jaata hai bahut tejee se badhatee hai aur jaldee theek ho jaate hain kyonki beemaar vyakti ke andar jo hai agar aatmavishvaas kee kamee ho jaatee hai to aur jyaada phir beemaar hone lagata isalie aatmavishvaas ko badhaava dena chaahie taaki vah apane andar se majabootee pradaan kar sake aur logon se lad kar ke phir se svasth ho sake

Chetan Chandrawanshi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chetan जी का जवाब
Finding a part time job
1:34
देखिए विमान व्यक्ति उस स्थिति में जब किसी बीमारी से ग्रसित रहता है तो उस बीमारी हो अगर ठीक होना चाहता है तो लड़ते रहते हैं और नहीं होना चाहता है ठीक तो वह हिम्मत हार जाता है और क्यों होता है बस चुपचाप से आते रहता है अगर उसके सामने किसी भी प्रकार की बात करें तो कोई परेशानी नहीं लेकिन अगर वो जीना चाहता है उस बीमारी से लड़ना चाहता है ठीक होना चाहता है तब उसके सामने नकारात्मक बातें करेंगे तो उसके पास पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और वहां बीमारी से लड़ने की कोशिश को वही रोक देगा उसका बीमारी बढ़ जाए और फिर आज खतरा होगा इसलिए मुझे मार जाती उसका हौसला बढ़ाना की करवाएं ताकि वो जल्द से जल्द पूरी खबर हो सके धन्यवाद 1 मिनट के बाद आते हैं और वह बीमारी ही ऐसी है कि उसका इलाज संभव नहीं है जैसे कि कैंसर ब्रेन ट्यूमर ऐसी बीमारी हो गई तो भी उसका भी विश्वास दिला देना क्योंकि विश्वास नहीं रहेंगे तो ज्यादा जिएगा धन्यवाद
Dekhie vimaan vyakti us sthiti mein jab kisee beemaaree se grasit rahata hai to us beemaaree ho agar theek hona chaahata hai to ladate rahate hain aur nahin hona chaahata hai theek to vah himmat haar jaata hai aur kyon hota hai bas chupachaap se aate rahata hai agar usake saamane kisee bhee prakaar kee baat karen to koee pareshaanee nahin lekin agar vo jeena chaahata hai us beemaaree se ladana chaahata hai theek hona chaahata hai tab usake saamane nakaaraatmak baaten karenge to usake paas par bura prabhaav padega aur vahaan beemaaree se ladane kee koshish ko vahee rok dega usaka beemaaree badh jae aur phir aaj khatara hoga isalie mujhe maar jaatee usaka hausala badhaana kee karavaen taaki vo jald se jald pooree khabar ho sake dhanyavaad 1 minat ke baad aate hain aur vah beemaaree hee aisee hai ki usaka ilaaj sambhav nahin hai jaise ki kainsar bren tyoomar aisee beemaaree ho gaee to bhee usaka bhee vishvaas dila dena kyonki vishvaas nahin rahenge to jyaada jiega dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:54
स्वागत है आपका अपने बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बात ही नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं फ्रेंड्स बीमार व्यक्ति के सामने ऐसी बातें नहीं करना चाहिए जिसमें कि वे और बीमार हो जाए उसे अच्छी बातें करना चाहिए उसे हम जाना चाहिए कि आपको जो बीमारी है यह दवा होगी तो ठीक हो जाएगी और दुनिया में सभी लोग बीमार होते हैं और वह ठीक भी हो जाते हैं तो उसे अच्छी बातें करनी चाहिए इसलिए बीमार व्यक्ति के सामने हम लोगों को हमेशा सांत्वना देते रहना चाहिए कि अगर आप बीमार हैं तो ठीक भी हो जाएंगे दुनिया में बहुत सारे लोग बीमार होते हैं और वे दवा खाकर ठीक भी हो जाती है तो कुल मिलाकर हमें उसे सकारात्मक बातें कहनी चाहिए अच्छी बातें कहनी चाहिए तो बीमार व्यक्ति का मनोबल जिससे बढ़ जाएगा कि हम उसके सामने उसको समझाना है अच्छे थे कि आप ठीक हो जाओगे आप चिंता मत करिए धन्यवाद
Svaagat hai aapaka apane beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baat hee nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain phrends beemaar vyakti ke saamane aisee baaten nahin karana chaahie jisamen ki ve aur beemaar ho jae use achchhee baaten karana chaahie use ham jaana chaahie ki aapako jo beemaaree hai yah dava hogee to theek ho jaegee aur duniya mein sabhee log beemaar hote hain aur vah theek bhee ho jaate hain to use achchhee baaten karanee chaahie isalie beemaar vyakti ke saamane ham logon ko hamesha saantvana dete rahana chaahie ki agar aap beemaar hain to theek bhee ho jaenge duniya mein bahut saare log beemaar hote hain aur ve dava khaakar theek bhee ho jaatee hai to kul milaakar hamen use sakaaraatmak baaten kahanee chaahie achchhee baaten kahanee chaahie to beemaar vyakti ka manobal jisase badh jaega ki ham usake saamane usako samajhaana hai achchhe the ki aap theek ho jaoge aap chinta mat karie dhanyavaad

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:58
दवा ली है कि बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं तो बीमार व्यक्ति के सामने नकारात्मक बातें नहीं करनी चाहिए जैसे कि लोग करते हैं कि यह बीमारी किसी हमारे कितनी दूर के रिश्तेदार को हो गई थी उसके साथ यही हुआ था ऐसी बातें बिल्कुल भी व्यक्ति बीमार व्यक्ति के सामने ना करें धारण बिल्कुल भी ना दें हम उस दिन बीमार व्यक्ति को ठीक नहीं कर सकते लेकिन कम से कम उसको उसकी हिम्मत तो ना तोड़ी है उसकी उसको अच्छी अच्छी बातें करें उसे साथ के साथ पॉजिटिव बातें करें उसके साथ ऐसा माहौल बनाए जो खुशनुमा को कभी अकेला छोड़ उनके साथ हंसी की बातें करें कुछ मजेदार के उनके साथ जीने की हिम्मत दें
Dava lee hai ki beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain to beemaar vyakti ke saamane nakaaraatmak baaten nahin karanee chaahie jaise ki log karate hain ki yah beemaaree kisee hamaare kitanee door ke rishtedaar ko ho gaee thee usake saath yahee hua tha aisee baaten bilkul bhee vyakti beemaar vyakti ke saamane na karen dhaaran bilkul bhee na den ham us din beemaar vyakti ko theek nahin kar sakate lekin kam se kam usako usakee himmat to na todee hai usakee usako achchhee achchhee baaten karen use saath ke saath pojitiv baaten karen usake saath aisa maahaul banae jo khushanuma ko kabhee akela chhod unake saath hansee kee baaten karen kuchh majedaar ke unake saath jeene kee himmat den

NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:23
वाले बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं देखिए बीमार व्यक्ति के सामने उसकी बीमारी की चर्चा बार-बार नहीं करनी चाहिए नकारात्मक सोच से उसे दूर रखना चाहिए विचार तन मन को स्वस्थ रखने में अहम भागीदारी निभाते जबकि उसका हिंसा हिंसा और दुर्बलता ओं के विचार हमें तन मन दोनों के स्तर पर भी मार करती है यूं देखा जाए तो नकारात्मक विचार केवल एक अकेले इंसान को नहीं गिरते हैं बल्कि उसके पूरे परिवार को बीमार बना देते हैं वही मन के भीतर की सकारात्मक वैचारिक ऊर्जा बड़ी से बड़ी समस्या को हल करने की राहत मिल जाती है जीवन की प्रतिकूल परिस्थितियों में खुद को दृढ़ता और संयम के साथ था में रखने में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह काम करता है इसलिए मनोबल मानते हैं कि अगर बीमार भी है तो भी बीमारी की बात होगी को कम से कम करनी चाहिए किसी शारीरिक और मानसिक बार-बार याद करना भी नकारात्मक को जन्म देती है इसलिए किसी रोगी के सामने नकारात्मक बातें न करें धन्यवाद
Vaale beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain dekhie beemaar vyakti ke saamane usakee beemaaree kee charcha baar-baar nahin karanee chaahie nakaaraatmak soch se use door rakhana chaahie vichaar tan man ko svasth rakhane mein aham bhaageedaaree nibhaate jabaki usaka hinsa hinsa aur durbalata on ke vichaar hamen tan man donon ke star par bhee maar karatee hai yoon dekha jae to nakaaraatmak vichaar keval ek akele insaan ko nahin girate hain balki usake poore parivaar ko beemaar bana dete hain vahee man ke bheetar kee sakaaraatmak vaichaarik oorja badee se badee samasya ko hal karane kee raahat mil jaatee hai jeevan kee pratikool paristhitiyon mein khud ko drdhata aur sanyam ke saath tha mein rakhane mein sakaaraatmak oorja ka pravaah kaam karata hai isalie manobal maanate hain ki agar beemaar bhee hai to bhee beemaaree kee baat hogee ko kam se kam karanee chaahie kisee shaareerik aur maanasik baar-baar yaad karana bhee nakaaraatmak ko janm detee hai isalie kisee rogee ke saamane nakaaraatmak baaten na karen dhanyavaad

Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
2:16
श्री कृष्णा आपने प्रसाद बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए अक्सर लोग कहते हैं बिल्कुल सत्य बात है बीमार है कोई भी व्यक्ति के साथ में खाते में चार बातें नहीं करनी चाहिए जिससे उन्हें नकद विचार-विमर्श हो जाते हैं और अपने विचारों से मिटाने के उपाय तो मैंने वह पुलिस में काफी ऑडियो अपलोड किए वेदना का विचार कैसे मीठी मेरे को नहीं आती कैसे मिली तो मैंने भक्ति के बारे में बताएं जब इस वर्ष की भक्ति शुरू की तरह इस वर्ष जून क्या बेबी सहायता करने के मदद कर लगे तब मुझे कि मैं अकेला नहीं हूं मेरे को देखते रहते हैं तो फिर मैं यह हमेशा के लिए तनाव समाप्त हो क्या नहीं होते जाते दिखाते विचार करने से बच्चों में प्रसन्न होते तो टेंशन सलमान खान से निवृत्ति रात को ठीक 10:00 बजे पूरी कीजिए इसकी भक्ति की है या फिर किसी चालू कीजिए आपको मदद मिलेगी की फोटो दिखाओ मैंने बकुल एक काफी वीडियो अपलोड के पीछे एक बहुत बड़ा महत्व है ठीक करने में मेरी शुभकामना है अब हम आगे बढ़ते रहिए बदली बदली बदली
Shree krshna aapane prasaad beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie aksar log kahate hain bilkul saty baat hai beemaar hai koee bhee vyakti ke saath mein khaate mein chaar baaten nahin karanee chaahie jisase unhen nakad vichaar-vimarsh ho jaate hain aur apane vichaaron se mitaane ke upaay to mainne vah pulis mein kaaphee odiyo apalod kie vedana ka vichaar kaise meethee mere ko nahin aatee kaise milee to mainne bhakti ke baare mein bataen jab is varsh kee bhakti shuroo kee tarah is varsh joon kya bebee sahaayata karane ke madad kar lage tab mujhe ki main akela nahin hoon mere ko dekhate rahate hain to phir main yah hamesha ke lie tanaav samaapt ho kya nahin hote jaate dikhaate vichaar karane se bachchon mein prasann hote to tenshan salamaan khaan se nivrtti raat ko theek 10:00 baje pooree keejie isakee bhakti kee hai ya phir kisee chaaloo keejie aapako madad milegee kee photo dikhao mainne bakul ek kaaphee veediyo apalod ke peechhe ek bahut bada mahatv hai theek karane mein meree shubhakaamana hai ab ham aage badhate rahie badalee badalee badalee

मोहित कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मोहित जी का जवाब
बिजनेस
0:29
दोस्तों सवाल है बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं दोस्तों यह बिल्कुल सही बात है कि बीमार व्यक्ति के सामने से ही बात करनी चाहिए जैसा कि लगे वह मैं मान नहीं है जैसा आप आप हार्ट के मरीज के सामने किसी भी प्रकार की जोर आवाज में बात नहीं कर सकते उसी प्रकार विद्वान व्यक्ति के दूसरी अवस्था में बात कर सकते हैं धन्यवाद

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:18
किसी के पास जाकर के आपको निराशा और हताशा कौन बातें नहीं करनी चाहिए हमेशा उसे प्रोत्साहित करने के लिए और हमेशा ही उसे उत्तम शुभकामनाओं के साथ पर्व की भावनाएं व्यक्त करनी चाहिए सब तो चेन पर विशेष ध्यान देना चाहिए किसी को निराश्रित करने के लिए किसी को हटा चित करने के लिए आप वहां नहीं गए हैं आप उसको सब कुशल समाचार लेने के लिए गए हैं आप उस को प्रोत्साहित करने के लिए गए हैं आप उसे जीने की प्रेरणा देने के लिए गए हैं लेकिन लोग अक्सर रूप में बाल सफेद कर लेते हैं और वह जाकर के ऐसी बातें करती है जिससे रूबी को भी यह लगता है कि कार्तिक जब मुलाकात नहीं होती तो कहीं अच्छा होता तो किसी को न राष्ट्र करना किसी को आधारित करना किसी को परेशान करना किसी को दुख देना हम सब का कर्तव्य नहीं है हम सब एक दूसरे की सेवा सहायता करें एक दूसरे को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें यह हमारी कार्य होने चाहिए
Kisee ke paas jaakar ke aapako niraasha aur hataasha kaun baaten nahin karanee chaahie hamesha use protsaahit karane ke lie aur hamesha hee use uttam shubhakaamanaon ke saath parv kee bhaavanaen vyakt karanee chaahie sab to chen par vishesh dhyaan dena chaahie kisee ko niraashrit karane ke lie kisee ko hata chit karane ke lie aap vahaan nahin gae hain aap usako sab kushal samaachaar lene ke lie gae hain aap us ko protsaahit karane ke lie gae hain aap use jeene kee prerana dene ke lie gae hain lekin log aksar roop mein baal saphed kar lete hain aur vah jaakar ke aisee baaten karatee hai jisase roobee ko bhee yah lagata hai ki kaartik jab mulaakaat nahin hotee to kaheen achchha hota to kisee ko na raashtr karana kisee ko aadhaarit karana kisee ko pareshaan karana kisee ko dukh dena ham sab ka kartavy nahin hai ham sab ek doosare kee seva sahaayata karen ek doosare ko aage badhane ke lie prerit karen yah hamaaree kaary hone chaahie

Hitesh jain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hitesh जी का जवाब
Blogger- Content Writer
2:59
हां देखे आज का सवाल है बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं तो बीमार व्यक्ति के सामने से काफी सारी बातें जो नहीं करनी चाहिए सबसे पहले तो यह है कि उसकी बीमारी के बारे में बात नहीं करनी चाहिए अगर हम हम क्या करते कि कोई बीमार व्यक्ति है हॉस्पिटल में या कहीं भी घर पर हम मिलने जाते तो बार-बार उसके बीमार का जिक्र करते तो उससे एक नेगेटिव एनवायरमेंट बनता है उसके दिमाग में बीमारी बैठ जाती है फिर हमें हमें कभी-कभी यह भी बोल देते कि भाई आप मेरे को तो बहुत टाइम लग जाएगा या फिर देना तेरे को तो बहुत टाइम लग जाएगा आपको बहुत टाइम लग जाएगा ठीक होने में तो यह एक नेगेटिव इफ़ेक्ट पड़ता है तो आपको यह सारी नेगेटिव बातें नहीं करनी चाहिए यह अगर कोई बीमार व्यक्ति तो उसका हौसला बढ़ाना चाहिए उसका उसका पॉजिटिव एनवायरमेंट बनाना चाहिए उससे अच्छी बातें करनी चाहिए और ज्यादा से ज्यादा उसको मोटिवेट करना चाहिए कि ताकि वह बीमारी से बाहर आए क्योंकि देखे भैया मैं तो यही कहूंगा कि अगर आप किसी के और नेगेटिव बेटी में बोलते तो वह नेगेटिव टीसी को उसके लिए नहीं बल्कि वह आपको भी बीमार करती हूं उसके साथ में अगर आप किसकी बीमारी का बार-बार करेंगे उसके सामने तो वह कहीं ना कहीं बीमारी आपके भी दिमाग में है उसको तो रियल बीमारी है लेकिन आपको जो बीमारी है वह आपको मानसिक बीमारी है कि आपके इस बीमारी को ज्यादा उसको बता रहे हो दुनिया में ऐसी कोई दवा नहीं बनी है कि जो बीमारी को एक झटके में खत्म कर दे सिवाय पॉजिटिविटी के अगर आप पॉजिटिव बातें करेंगे पॉजिटिव लोगों के साथ रहेंगे आप किसी से मिलने गए उसके साथ पॉजिटिव एटीट्यूड रखा है तो आप भी पॉजिटिव रहेंगे आपका मानसिक स्वास्थ्य ठीक रहेगा उस सामने वाला भी आपकी बातों से इंस्पायर्ड होगा मोटिवेट होगा और उसकी बीमारी जल्द ठीक हो जाएगी बीमारी आप देख लीजिए किसी डिप्रेशन वाले व्यक्ति को कैसे खुश हो जाता है वह चाहे कितनी भी दवाई ले रहा हो लेकिन उससे कब तक खुशी नहीं मिलती जब तक वह झूठी चाहता है या जो एनवायरमेंट जाता उसे नहीं मिलता जैसे उसको वह एनवायरमेंट मिल जाता है तो उसे दवाई की जरूरत नहीं पड़ती है तो हमें दवाई लेने की नहीं हमें माहौल की एक अच्छे इन्वायरमेंट जरूरत है हमें पॉजिटिविटी की जरूरत है हमें लोगों के साथ की जरूरत है प्यार की जरूरत है प्रेम से ऊपर कोई दवाई नहीं है लोगों के साथ से ऊपर कोई दवाई नहीं है आजकल दुनिया में लोग बहुत झगड़ा कर रहे हैं बात बात पर गालियां दे रहे हैं लेकिन वह यह नहीं सोचते कि वह अपने ही अपने ही रिपेयर पर कुल्हाड़ी मार रहे हो उनका खुद का मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ रहे हैं उनको मेंटली मजबूत होना चाहिए खुद से चाय सामने वाला कितना भी गालियां दे रहा हूं आपको इतना मजबूत होना चाहिए कि आपको कोई बीमारी तक नहीं पकड़ सके कोई भी चीज आपको इफेक्ट नहीं कर सके अगर आप मेंटली और फिजिकली स्ट्रांग एक आपको कोई बीमारी नहीं पकड़ी गायक रामलाल आपको हजार बार बोलो तो बीमार है तब भी आप बीमार नहीं होंगे यह मेरी गारंटी है तो आप फिजिकली मेंटली स्ट्रांग बने खुद भी बने दूसरों को भी बनाए पॉजिटिविटी फैलाएं और मैं यह फास्ट इसलिए बोल रहा हूं कि कि मुझे अधिकतम 3 मिनट का ही समय दिया गया है पता नहीं है बोल कर अपने 3 मिनट का समय मुझे क्यों दिया गया आई डोंट नो व्हाट में और भी बहुत कुछ देना चाहता हूं बहुत कुछ शेयर करना चाहता हूं लेकिन मेरे पास ज्यादा टाइम नहीं होने की वजह से मैं इतना ही कर पा रहा हूं तो आप प्लीज आप शेयर कीजिए सब्सक्राइब कीजिए लाइक कीजिए और कुछ बुरा लगा
Haan dekhe aaj ka savaal hai beemaar vyakti ke saamane kis prakaar kee baaten nahin karanee chaahie jo aksar log karate hain to beemaar vyakti ke saamane se kaaphee saaree baaten jo nahin karanee chaahie sabase pahale to yah hai ki usakee beemaaree ke baare mein baat nahin karanee chaahie agar ham ham kya karate ki koee beemaar vyakti hai hospital mein ya kaheen bhee ghar par ham milane jaate to baar-baar usake beemaar ka jikr karate to usase ek negetiv enavaayarament banata hai usake dimaag mein beemaaree baith jaatee hai phir hamen hamen kabhee-kabhee yah bhee bol dete ki bhaee aap mere ko to bahut taim lag jaega ya phir dena tere ko to bahut taim lag jaega aapako bahut taim lag jaega theek hone mein to yah ek negetiv ifekt padata hai to aapako yah saaree negetiv baaten nahin karanee chaahie yah agar koee beemaar vyakti to usaka hausala badhaana chaahie usaka usaka pojitiv enavaayarament banaana chaahie usase achchhee baaten karanee chaahie aur jyaada se jyaada usako motivet karana chaahie ki taaki vah beemaaree se baahar aae kyonki dekhe bhaiya main to yahee kahoonga ki agar aap kisee ke aur negetiv betee mein bolate to vah negetiv teesee ko usake lie nahin balki vah aapako bhee beemaar karatee hoon usake saath mein agar aap kisakee beemaaree ka baar-baar karenge usake saamane to vah kaheen na kaheen beemaaree aapake bhee dimaag mein hai usako to riyal beemaaree hai lekin aapako jo beemaaree hai vah aapako maanasik beemaaree hai ki aapake is beemaaree ko jyaada usako bata rahe ho duniya mein aisee koee dava nahin banee hai ki jo beemaaree ko ek jhatake mein khatm kar de sivaay pojitivitee ke agar aap pojitiv baaten karenge pojitiv logon ke saath rahenge aap kisee se milane gae usake saath pojitiv eteetyood rakha hai to aap bhee pojitiv rahenge aapaka maanasik svaasthy theek rahega us saamane vaala bhee aapakee baaton se inspaayard hoga motivet hoga aur usakee beemaaree jald theek ho jaegee beemaaree aap dekh leejie kisee dipreshan vaale vyakti ko kaise khush ho jaata hai vah chaahe kitanee bhee davaee le raha ho lekin usase kab tak khushee nahin milatee jab tak vah jhoothee chaahata hai ya jo enavaayarament jaata use nahin milata jaise usako vah enavaayarament mil jaata hai to use davaee kee jaroorat nahin padatee hai to hamen davaee lene kee nahin hamen maahaul kee ek achchhe invaayarament jaroorat hai hamen pojitivitee kee jaroorat hai hamen logon ke saath kee jaroorat hai pyaar kee jaroorat hai prem se oopar koee davaee nahin hai logon ke saath se oopar koee davaee nahin hai aajakal duniya mein log bahut jhagada kar rahe hain baat baat par gaaliyaan de rahe hain lekin vah yah nahin sochate ki vah apane hee apane hee ripeyar par kulhaadee maar rahe ho unaka khud ka maanasik svaasthy bigad rahe hain unako mentalee majaboot hona chaahie khud se chaay saamane vaala kitana bhee gaaliyaan de raha hoon aapako itana majaboot hona chaahie ki aapako koee beemaaree tak nahin pakad sake koee bhee cheej aapako iphekt nahin kar sake agar aap mentalee aur phijikalee straang ek aapako koee beemaaree nahin pakadee gaayak raamalaal aapako hajaar baar bolo to beemaar hai tab bhee aap beemaar nahin honge yah meree gaarantee hai to aap phijikalee mentalee straang bane khud bhee bane doosaron ko bhee banae pojitivitee phailaen aur main yah phaast isalie bol raha hoon ki ki mujhe adhikatam 3 minat ka hee samay diya gaya hai pata nahin hai bol kar apane 3 minat ka samay mujhe kyon diya gaya aaee dont no vhaat mein aur bhee bahut kuchh dena chaahata hoon bahut kuchh sheyar karana chaahata hoon lekin mere paas jyaada taim nahin hone kee vajah se main itana hee kar pa raha hoon to aap pleej aap sheyar keejie sabsakraib keejie laik keejie aur kuchh bura laga

sargam shukla Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए sargam जी का जवाब
I am only student👩‍🎓
1:18
राधे राधे आज क्वेश्चन किया गया है क्या मैं जो व्यक्ति बीमार है उसके सामने कैसी बातें करनी चाहिए या लोग अधिकतर कैसी बातें करती हैं देखिए मेरा मानना है कि हमें जो बीमार व्यक्ति है उसके सामने ऐसी बातें करनी चाहिए कि उसके अंदर की इच्छा इच्छा शक्ति बढ़ जाए और उसे ऐसा लगे कि हां अब मुझे ठीक होना ही होगा और हमें अपने घर में खुशियों का माहौल रखना चाहिए लड़ाई झगड़े नहीं करनी चाहिए उसके सामने उसकी आवाज में बात नहीं करनी चाहिए और जो परिवार की ओर से हैं उन्हें उसके साथ प्यार से बोलना चाहिए प्यार से बातचीत करनी चाहिए और उसे हमें बोर नहीं होने देना चाहिए हमें उसके साथ अब कोई भी व्यक्ति की चित्र परमानेंट हो तो नहीं रह सकता लेकिन हां उसे हमें अपना कुछ टाइम देना चाहिए जिससे वह अपने आप को अकेला ना करें और हमें उसे बार-बार यह बताना चाहिए कि आप जल्द खो जाएंगे तो उस व्यक्ति के अंदर की जो दृढ़ निश्चय होता है वह जाग उठता है उसका आत्मविश्वास बढ़ जाता कि हां मैं यह कर सकता हूं मैं ठीक हो सकता तू हमें जो व्यक्ति बीमार है उसके लिए ऐसी बातें करनी चाहिए राधे राधे

Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
3:00

Seema yadav   PGT Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Seema जी का जवाब
Teaching, PGT
2:20

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए जो अक्सर लोग करते हैं बीमार व्यक्ति के सामने किस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए
URL copied to clipboard