#जीवन शैली

bolkar speaker

ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?

Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:21
नाचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों निश्चित तौर पर जरा ज्यादा सोचेंगे तो सोचते ही रह जाएंगे कार्यों को अंजाम कब देंगे तो बहुत जरूरी है कि प्रॉपर तरीके से बिल बना है और यह सुनिश्चित करें कि इस कार्य को काम करना है कब अंजाम देना है सिर्फ सोचने से कुछ नहीं होता है कार्यों को पूर्ण करने से ही कार्य पूरे होते हैं आपका दिन शुभ रहे थे निवास
Naachane vaala insaan kuchh nahin kar paata hai kyon nishchit taur par jara jyaada sochenge to sochate hee rah jaenge kaaryon ko anjaam kab denge to bahut jarooree hai ki propar tareeke se bil bana hai aur yah sunishchit karen ki is kaary ko kaam karana hai kab anjaam dena hai sirph sochane se kuchh nahin hota hai kaaryon ko poorn karane se hee kaary poore hote hain aapaka din shubh rahe the nivaas

और जवाब सुनें

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:18
मुसर दुसर का सोचने वाले इंसान कुछ नहीं कर सकती करने से पहले सोचता नहीं इतना करने में उसका इतना मन नहीं लगता जितना काम करने से क्या लाभ होगा क्या बिल्कुल उसका परिणाम बाद में आएगा क्या मतलब कर्म करो फल की चिंता ना करें क्योंकि वह तो अगर आप अच्छा काम करेंगे तो आपको अच्छा फल मिलेगा तो इसके अतिरिक्त अगर अपने बारे में सोचते हैं तो बहुत अच्छी बात है लेकिन पति क्योंकि दिखेगा आप में संघर्ष करने की क्षमता है तो दुनिया में ऐसी कोई भी चीज नहीं जो आप नहीं कर सकते क्योंकि देखी निश्चित तौर पर मनुष्य से बढ़कर कोई भी चीज नहीं हमने ऐसी कोई मनुष्य की एक इंसान है तो आप क्यों नहीं कर सकते लेकिन क्या होगा कि अगर ज्यादा वरदान स्वरुप आपने कुछ करने की क्षमता नहीं बच पाती है तुम इसको तुम सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Musar dusar ka sochane vaale insaan kuchh nahin kar sakatee karane se pahale sochata nahin itana karane mein usaka itana man nahin lagata jitana kaam karane se kya laabh hoga kya bilkul usaka parinaam baad mein aaega kya matalab karm karo phal kee chinta na karen kyonki vah to agar aap achchha kaam karenge to aapako achchha phal milega to isake atirikt agar apane baare mein sochate hain to bahut achchhee baat hai lekin pati kyonki dikhega aap mein sangharsh karane kee kshamata hai to duniya mein aisee koee bhee cheej nahin jo aap nahin kar sakate kyonki dekhee nishchit taur par manushy se badhakar koee bhee cheej nahin hamane aisee koee manushy kee ek insaan hai to aap kyon nahin kar sakate lekin kya hoga ki agar jyaada varadaan svarup aapane kuchh karane kee kshamata nahin bach paatee hai tum isako tum savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:33
चोदने वाला इंसान दोस्तों कुछ नहीं कर पाता क्योंकि वह दिनभर सोचता ही रहेगा तो किसी एक चीज पर फोकस कैसे करेगा और जब फोकस नहीं करेगा तो वह सफल नहीं बन सकता है इसीलिए ज्यादा सोचना नहीं चाहिए कोई बात गई तो गई उसको बस भूल जाना चाहिए और नई की तैयारी करना शुरू कर देना चाहिए और बिल्कुल फोकस से एकाग्र मन से हमें उस चीज की तरफ जाना चाहिए हमें पिछली बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए और उनको सोचना नहीं चाहिए तो दोस्तों अगर आपको जो अच्छा लगे हो तो प्लीज लाइक के बदले 14 आइएगा और सब्सक्राइब भी कर लीजिएगा
Chodane vaala insaan doston kuchh nahin kar paata kyonki vah dinabhar sochata hee rahega to kisee ek cheej par phokas kaise karega aur jab phokas nahin karega to vah saphal nahin ban sakata hai iseelie jyaada sochana nahin chaahie koee baat gaee to gaee usako bas bhool jaana chaahie aur naee kee taiyaaree karana shuroo kar dena chaahie aur bilkul phokas se ekaagr man se hamen us cheej kee taraph jaana chaahie hamen pichhalee baaton par dhyaan nahin dena chaahie aur unako sochana nahin chaahie to doston agar aapako jo achchha lage ho to pleej laik ke badale 14 aaiega aur sabsakraib bhee kar leejiega

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:24
सवाल है कि ज्यादा सोचने वाले इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्या तो जो सादा सोचता है इंसान वह हमेशा अपनी प्लानिंग में ही सादा समय गुजार देता है और उसमें इंक्रीमेंटेशन काम करता है वह सोच में ही सहारा समय व्यर्थ कर देता है जिसमें से उसकी क्रिएटिविटी वगैरह सब खत्म हो जाती है और वह जब इंप्लीमेंटेशन करने की बारी आती है तब वह कुछ नहीं कर पाता
Savaal hai ki jyaada sochane vaale insaan kuchh nahin kar paata hai kya to jo saada sochata hai insaan vah hamesha apanee plaaning mein hee saada samay gujaar deta hai aur usamen inkreementeshan kaam karata hai vah soch mein hee sahaara samay vyarth kar deta hai jisamen se usakee krietivitee vagairah sab khatm ho jaatee hai aur vah jab impleementeshan karane kee baaree aatee hai tab vah kuchh nahin kar paata

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Sandeep Goyal Chandigarh  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Tabla player artist and music home tutor
1:56
नमस्कार आपने पूछा है ज्यादा सोचने वाला व्यक्ति कुछ नहीं कर पाता है कि देखो जी बात आपके सवाल के जवाब जो है इसमें छिपा हुआ है व्यक्ति जितना अधिक सोचता है उतना उस काम को करने में देरी कर देता है कई बार क्या होता है कि हमारा सोच अधिक सोच जो है हमारे उस काम को करने की समय सीमा पर्याप्त सीमा को पीछे छोड़ जाती है मतलब से में छूट जाता है और व्यक्ति के पास पछताने के अलावा कुछ नहीं रहता आप जैसे उदाहरण के लिए आप नौकरी जैसे किसी नौकरी के आवेदन के लिए आप जाना चाहते हैं आपको पता है कि हां यह नौकरी निकली है तो क्यों ना मैं भी भर देता हूं यार में भर लूंगा तो मेरा आएगा कि नहीं आएगा भर लूंगा तो कहीं कोई कुछ बोल ना हो आपको आपके घर से बहुत दूर नौकरी मिली है यार मैं जाऊंगा कैसे आपको मिली है कहां मिलेगी आपको पता नहीं है क्या सोच रहे हैं और इतने में क्या होता है कि सीटें फुल हो जाती हैं नौकरी का आवेदन खत्म हो जाता है या कुछ और उदाहरण कई तरह के उदाहरण है तो क्या हुआ अधिक सोचा और काम नहीं हुआ तो यह चीज होती है तो यहीं पर काम है जी परिणाम है अधिक सोच का कि आप अपने काम को करने की पर्याप्त समय सीमा जो है समाप्त कर देते हैं जिसके कारण आपके पास पछतावे के सिवा और कुछ नहीं रह जाता उम्मीद करता हूं आपको जवाब भी मिल गया होगा मैं अच्छे से आपके सवाल का जवाब दे पाया हूं लूंगा जो आप ज्यादा से ज्यादा लाइक करें धन्यवाद
Namaskaar aapane poochha hai jyaada sochane vaala vyakti kuchh nahin kar paata hai ki dekho jee baat aapake savaal ke javaab jo hai isamen chhipa hua hai vyakti jitana adhik sochata hai utana us kaam ko karane mein deree kar deta hai kaee baar kya hota hai ki hamaara soch adhik soch jo hai hamaare us kaam ko karane kee samay seema paryaapt seema ko peechhe chhod jaatee hai matalab se mein chhoot jaata hai aur vyakti ke paas pachhataane ke alaava kuchh nahin rahata aap jaise udaaharan ke lie aap naukaree jaise kisee naukaree ke aavedan ke lie aap jaana chaahate hain aapako pata hai ki haan yah naukaree nikalee hai to kyon na main bhee bhar deta hoon yaar mein bhar loonga to mera aaega ki nahin aaega bhar loonga to kaheen koee kuchh bol na ho aapako aapake ghar se bahut door naukaree milee hai yaar main jaoonga kaise aapako milee hai kahaan milegee aapako pata nahin hai kya soch rahe hain aur itane mein kya hota hai ki seeten phul ho jaatee hain naukaree ka aavedan khatm ho jaata hai ya kuchh aur udaaharan kaee tarah ke udaaharan hai to kya hua adhik socha aur kaam nahin hua to yah cheej hotee hai to yaheen par kaam hai jee parinaam hai adhik soch ka ki aap apane kaam ko karane kee paryaapt samay seema jo hai samaapt kar dete hain jisake kaaran aapake paas pachhataave ke siva aur kuchh nahin rah jaata ummeed karata hoon aapako javaab bhee mil gaya hoga main achchhe se aapake savaal ka javaab de paaya hoon loonga jo aap jyaada se jyaada laik karen dhanyavaad

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:32
पूछा गया ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता क्यों देखिए इसके पीछे कारण मैं अगर आपको बताऊं तुझे कि अगर आप बहुत ज्यादा कुछ सोचोगे तो बहुत ज्यादा सोच समझ लीजिए एक बीमारी होती है आप अच्छी तरह से सोचने के बाद अगर बोलते हो तो यह समझदारी की बात अगर आप इतना ज्यादा सोचते हो कि आप काम करने में पीछे रह जाते हैं या आपको बेचैनी हो जाती है तुझे क्या आपके लिए बहुत बड़ी समस्या है तो ज्यादा बिल्कुल भी कभी ना सोचे मैं आपको यही बोलना चाहते थे कि बहुत से लोग सोचते हैं कि मैं यह करूंगा वह करूंगा सुबह उठूंगा रनिंग करूंगा यह करूंगा और कुछ सुन लेते हैं बहुत कुछ उनके सपने होते ख्वाब होते देखे सपने देखिए हर इंसान को सपने देखने का हक है मैं भी सपने देखता हूं लेकिन इतना भी नहीं कि आप सपने देखते रहो और सुबह हो जाए फिर सपने को पूरे भी ना कर पाऊं तो ज्यादा सोचना कभी कभी घातक होता है कि आपका जो टाइम वेस्ट हो रहो ज्यादा सोच नहीं हो रहा बस आप सोते रहते हो 24 घंटे आपको मिलते हैं 24 घंटे में आप बहुत समय तो आप सोचने में लगाते तो आप खुद सोचिए कि समय तो आपका ज्यादा सोचने में लगा रहा है तो नहीं उस चीज को आप घर करें अगर आप कहीं जॉब कर रहे हो कुछ करो तो जॉब करो चीज को आप सीखो कि आपको वह जो कार्य कर रहे हो वह आपको फ्यूचर में कैसे काम देगा लेकिन जरूरत किसको नहीं हो तो मैं आपको बता दूंगा जब भी बहुत मैं भी सपने देखता हूं मतलब यह नहीं कि मुझे यह भी लेना वह भी लेना है या नहीं इससे क्या इंसान में टेंशन हो जाता मैं आपको बताऊं मुझे जो लेना है मैं लेता हूं उसके लिए मेहनत करता हूं आगे बढ़ता हूं तो क्यों किस समय बर्बाद होता ज्यादा सोचने ज्यादा नहीं सोची यह मैं नहीं कह रहा हूं सोचिए और उस चीज को करना बैटरी अगर आपको सुबह उठना तो सुबह होती है यह नहीं कि आप बस सोचते रहो उठना उठना फिर आपको नींद इतनी अच्छी लग गई है कि चलो आप फिर सोचो नहीं चलो कल सोचेंगे लोग का होता है यही होता है कि चलो परसों से कर लेंगे अब आज टाइम विद कि आप कल से करते हैं परसों से करते हैं नेक्स्ट दिखे तो कल देकर कभी नहीं आता जीवन मिला है तो सोचने में टाइम बर्बाद ना करें उस चीज को काम करना चालू कर दिया क्योंकि कभी-कभी यही होता जैसे आप पूछ रहे ज्यादा सोचना इंसान कुछ नहीं कर पाता हकीकत में कुछ नहीं कर पाता अगर कुछ करना है तो ज्यादा सोचना बंद करें उस चीज को करना चालू करें ठीक है सोचने में पूरा समय बर्बाद ना करें जय हिंद जय भारत
Poochha gaya jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar paata kyon dekhie isake peechhe kaaran main agar aapako bataoon tujhe ki agar aap bahut jyaada kuchh sochoge to bahut jyaada soch samajh leejie ek beemaaree hotee hai aap achchhee tarah se sochane ke baad agar bolate ho to yah samajhadaaree kee baat agar aap itana jyaada sochate ho ki aap kaam karane mein peechhe rah jaate hain ya aapako bechainee ho jaatee hai tujhe kya aapake lie bahut badee samasya hai to jyaada bilkul bhee kabhee na soche main aapako yahee bolana chaahate the ki bahut se log sochate hain ki main yah karoonga vah karoonga subah uthoonga raning karoonga yah karoonga aur kuchh sun lete hain bahut kuchh unake sapane hote khvaab hote dekhe sapane dekhie har insaan ko sapane dekhane ka hak hai main bhee sapane dekhata hoon lekin itana bhee nahin ki aap sapane dekhate raho aur subah ho jae phir sapane ko poore bhee na kar paoon to jyaada sochana kabhee kabhee ghaatak hota hai ki aapaka jo taim vest ho raho jyaada soch nahin ho raha bas aap sote rahate ho 24 ghante aapako milate hain 24 ghante mein aap bahut samay to aap sochane mein lagaate to aap khud sochie ki samay to aapaka jyaada sochane mein laga raha hai to nahin us cheej ko aap ghar karen agar aap kaheen job kar rahe ho kuchh karo to job karo cheej ko aap seekho ki aapako vah jo kaary kar rahe ho vah aapako phyoochar mein kaise kaam dega lekin jaroorat kisako nahin ho to main aapako bata doonga jab bhee bahut main bhee sapane dekhata hoon matalab yah nahin ki mujhe yah bhee lena vah bhee lena hai ya nahin isase kya insaan mein tenshan ho jaata main aapako bataoon mujhe jo lena hai main leta hoon usake lie mehanat karata hoon aage badhata hoon to kyon kis samay barbaad hota jyaada sochane jyaada nahin sochee yah main nahin kah raha hoon sochie aur us cheej ko karana baitaree agar aapako subah uthana to subah hotee hai yah nahin ki aap bas sochate raho uthana uthana phir aapako neend itanee achchhee lag gaee hai ki chalo aap phir socho nahin chalo kal sochenge log ka hota hai yahee hota hai ki chalo parason se kar lenge ab aaj taim vid ki aap kal se karate hain parason se karate hain nekst dikhe to kal dekar kabhee nahin aata jeevan mila hai to sochane mein taim barbaad na karen us cheej ko kaam karana chaaloo kar diya kyonki kabhee-kabhee yahee hota jaise aap poochh rahe jyaada sochana insaan kuchh nahin kar paata hakeekat mein kuchh nahin kar paata agar kuchh karana hai to jyaada sochana band karen us cheej ko karana chaaloo karen theek hai sochane mein poora samay barbaad na karen jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:19
आपके सोने की ज्यादा सोचने वाला व्यक्ति है इंसान कुछ नहीं कर सकता है सर क्यों पूजा दशहरा ऐसा नहीं करते हैं क्योंकि उनके बारे में सोचते हैं और कहां का न्याय पाने के उपाय
Aapake sone kee jyaada sochane vaala vyakti hai insaan kuchh nahin kar sakata hai sar kyon pooja dashahara aisa nahin karate hain kyonki unake baare mein sochate hain aur kahaan ka nyaay paane ke upaay

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:18
इसकी आपका प्रश्न है कि ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता क्यों ऐसा नहीं है ज्यादा सोचने वाला ही सब कुछ कर लेता है बशर्ते कि कल सोचता ही ना रहे जब कोई नक्शा बनाते हैं किसी चीज के परिक्रमा करते हैं वह परिकल्पना को साकार करने के लिए जवाब कार्य करने के लिए आप बिल्कुल एक तन मन धन सब जुड़ जाते हैं तो करो कार्य पूरा हो जाता है और हम कॉल पर कल्पना ही करते हैं कि मैं हवाई जहाज उड़ना है हवाई जहाज छोड़ कर दे हमको जाना है तो हवाई जहाज उड़ने के लिए आपको उसके लिए पैसा भी कट्ठा करना पड़ेगा उसके लिए टिकट बुक कराने के लिए वहां जाना पड़ेगा उसके बीच में पता भी करना पड़ेगा उसके हो सकता उसके लिए कौन-कौन सी सीमाओं की जरूरत होती है सबको पता करना पड़ेगा वैसा नहीं बोलना है तो थोड़ी उड़ जाओगे इसके लिए आपको पैसा इकट्ठा करना ही पड़ेगा दूध पक्का राधा अनुशासन के साथ आगे बढ़ कर के जब हम उसके लिए लगते हैं तो जरूर हमारी बातों को यह हमारी आवश्यकता है उनको हम पूरा करने में सफल हो जाते लेकिन हमें काम के प्रति सतर्क होकर के अपने सोते हुए व्यक्ति को पूर्ण करने के लिए बढ़कर के आगे आना पड़ेगा
Isakee aapaka prashn hai ki jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar paata kyon aisa nahin hai jyaada sochane vaala hee sab kuchh kar leta hai basharte ki kal sochata hee na rahe jab koee naksha banaate hain kisee cheej ke parikrama karate hain vah parikalpana ko saakaar karane ke lie javaab kaary karane ke lie aap bilkul ek tan man dhan sab jud jaate hain to karo kaary poora ho jaata hai aur ham kol par kalpana hee karate hain ki main havaee jahaaj udana hai havaee jahaaj chhod kar de hamako jaana hai to havaee jahaaj udane ke lie aapako usake lie paisa bhee kattha karana padega usake lie tikat buk karaane ke lie vahaan jaana padega usake beech mein pata bhee karana padega usake ho sakata usake lie kaun-kaun see seemaon kee jaroorat hotee hai sabako pata karana padega vaisa nahin bolana hai to thodee ud jaoge isake lie aapako paisa ikattha karana hee padega doodh pakka raadha anushaasan ke saath aage badh kar ke jab ham usake lie lagate hain to jaroor hamaaree baaton ko yah hamaaree aavashyakata hai unako ham poora karane mein saphal ho jaate lekin hamen kaam ke prati satark hokar ke apane sote hue vyakti ko poorn karane ke lie badhakar ke aage aana padega

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:13
नमस्कार आपका प्रश्न है कि ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर सकता क्यों लिखे वैसे तो मैं समझता हूं कि कोई भी काम किया जाए कुछ भी बोला जाए या कहीं भी कोई भी कदम उठाने से पहले सोच लेना चाहिए और सोच कर के ही कुछ करना चाहिए लेकिन कई बार क्या होता है कि हम लोग ज्यादा सोचते हैं हम उस व्यक्ति के मुद्दे ऐसे होते हैं कि हम उस पर ज्यादा ही सोच विचार कर पाते हैं और करने लग जाते हैं जिसकी वजह से वह मुद्दा हमारे हाथ से बाहर हो जाता है और वह चीज हमारी पहुंच से बाहर हो जाती इसलिए कई बार क्या होता है कई मौके ऐसे आते कि हमें तुरंत तुरंत निर्णय लेने होते जरा सोच विचार नहीं करना तो यह कभी कभी जिंदगी में ऐसे मौके आते हैं और मैं समझता हूं कि ज्यादा सोचने वाला इंसान करता हूं और हो सकता है लेकिन ज्यादा वह इसलिए नहीं कर पाता कि कई बार क्या होता है कि उसकी सोच जो है वह ज्यादा डबल हो जाती है तो इसलिए हमेशा अपनी सोच को काबू में रख कर और जल्दी से तुरंत सही सोच सही समय सही वक्त पर निर्णय लेना चाहिए ताकि हम उसे जिंदगी में सफल हो सके धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar sakata kyon likhe vaise to main samajhata hoon ki koee bhee kaam kiya jae kuchh bhee bola jae ya kaheen bhee koee bhee kadam uthaane se pahale soch lena chaahie aur soch kar ke hee kuchh karana chaahie lekin kaee baar kya hota hai ki ham log jyaada sochate hain ham us vyakti ke mudde aise hote hain ki ham us par jyaada hee soch vichaar kar paate hain aur karane lag jaate hain jisakee vajah se vah mudda hamaare haath se baahar ho jaata hai aur vah cheej hamaaree pahunch se baahar ho jaatee isalie kaee baar kya hota hai kaee mauke aise aate ki hamen turant turant nirnay lene hote jara soch vichaar nahin karana to yah kabhee kabhee jindagee mein aise mauke aate hain aur main samajhata hoon ki jyaada sochane vaala insaan karata hoon aur ho sakata hai lekin jyaada vah isalie nahin kar paata ki kaee baar kya hota hai ki usakee soch jo hai vah jyaada dabal ho jaatee hai to isalie hamesha apanee soch ko kaaboo mein rakh kar aur jaldee se turant sahee soch sahee samay sahee vakt par nirnay lena chaahie taaki ham use jindagee mein saphal ho sake dhanyavaad

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Khushi Agrawal Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Khushi जी का जवाब
Unknown
0:38
सवाल है ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता क्योंकि आप बहुत ज्यादा किसी चीज के बारे में सोचते हैं तो आपके मन में बहुत तरह के विचार आने लगते हैं आपका मन पूरी तरह से विचलित हो जाता है और आप किसी भी निर्णय पर या एक काम पर ध्यान नहीं दे पाते हैं यदि आप बहुत ज्यादा इसके बारे में सोचेंगे तो आपका दिमाग पूरी तरीके से ही चीज में लगा रहेगा आपको बहुत सारे थॉट्स आएंगे जिसकी वजह से आप कहीं भी फोकस नहीं कर पाएंगे इसलिए जहां भी जो भी काम आपको करना है आप उसे पूरे
Savaal hai jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar paata kyonki aap bahut jyaada kisee cheej ke baare mein sochate hain to aapake man mein bahut tarah ke vichaar aane lagate hain aapaka man pooree tarah se vichalit ho jaata hai aur aap kisee bhee nirnay par ya ek kaam par dhyaan nahin de paate hain yadi aap bahut jyaada isake baare mein sochenge to aapaka dimaag pooree tareeke se hee cheej mein laga rahega aapako bahut saare thots aaenge jisakee vajah se aap kaheen bhee phokas nahin kar paenge isalie jahaan bhee jo bhee kaam aapako karana hai aap use poore

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:22
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता क्योंकि ज्यादा सोचने से हाइपोथैलेमिक से अभी टिटिहरी एड्रेनल एक्सेस के निरंतर सक्रिय होने और तनाव होता है इसकी वजह से आपका ईमेल रेशम कमजोर हो जाता है और इसके चलते कुछ विशेष प्रकार के कैंसर की संभावना बन जाती है
Jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar paata kyonki jyaada sochane se haipothailemik se abhee titiharee edrenal ekses ke nirantar sakriy hone aur tanaav hota hai isakee vajah se aapaka eemel resham kamajor ho jaata hai aur isake chalate kuchh vishesh prakaar ke kainsar kee sambhaavana ban jaatee hai

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:22
अकबर से ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है कि वह तो आकर बता देते कि ऐसा नहीं है कि ज्यादा सोचने वाला इंसान ज्यादा कुछ नहीं कर पाता लेकिन सिर्फ सोचते रहने से ही कुछ नहीं होता उसके लिए भी आपको आगे बढ़ना होता है जब तक आवाज रिकॉर्ड करने के लिए आगे नहीं बढ़ेंगे तब तक किसी के समझ से आपके साथ बनी रहेगी मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Akabar se jyaada sochane vaala insaan kuchh nahin kar paata hai ki vah to aakar bata dete ki aisa nahin hai ki jyaada sochane vaala insaan jyaada kuchh nahin kar paata lekin sirph sochate rahane se hee kuchh nahin hota usake lie bhee aapako aage badhana hota hai jab tak aavaaj rikord karane ke lie aage nahin badhenge tab tak kisee ke samajh se aapake saath banee rahegee main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों?Jyada Sochne Vala Insaan Kuch Nahin Kar Pata Hai Kyun
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:36
वाले ज्यादा सोचने वाला एग्जाम कुछ नहीं कर पाता है कि श्री की ज्यादा सोचने वाला इंसान इसलिए कुछ नहीं कह पाता है क्योंकि जब उसे निर्णय लेने की बात होती है जीवन में कभी भी निर्णय लेना होता है तो मैं उसे 4 गुना ज्यादा करता है सोचता रहता है इसलिए मैंने ना जल्दी से नहीं दे पाता है और लेता भी है मैंने ज्यादा सोचने का है उसमें नकारात्मक प्रभाव भी पड़ता है तो मैं नकारात्मकता के साथ गलत मैंने भी ले लेता है इसलिए कुछ नहीं कर पाता है सफल नहीं हो पाता है
Vaale jyaada sochane vaala egjaam kuchh nahin kar paata hai ki shree kee jyaada sochane vaala insaan isalie kuchh nahin kah paata hai kyonki jab use nirnay lene kee baat hotee hai jeevan mein kabhee bhee nirnay lena hota hai to main use 4 guna jyaada karata hai sochata rahata hai isalie mainne na jaldee se nahin de paata hai aur leta bhee hai mainne jyaada sochane ka hai usamen nakaaraatmak prabhaav bhee padata hai to main nakaaraatmakata ke saath galat mainne bhee le leta hai isalie kuchh nahin kar paata hai saphal nahin ho paata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है क्यों ज्यादा सोचने वाला इंसान कुछ नहीं कर पाता है
URL copied to clipboard