#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?

Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:44

और जवाब सुनें

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
GIRISH PARJAPTI Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए GIRISH जी का जवाब
Computer operators
2:28

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Trainer Yogi Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trainer जी का जवाब
Motivational Speaker | Career Coach | Corporate Trainer | Marketing & Management Expert's. Follow Us YouTube channel : https://www.youtube.com/channel/UCKY3o0Bey-4L8mWF9hyTRdQ
0:56

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
vikas Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए vikas जी का जवाब
Unknown
6:56

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
vikas Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए vikas जी का जवाब
Unknown
6:56

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Akash Chaudhary  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Akash जी का जवाब
Motivational speaker
2:28

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:25

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Pihu Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Pihu जी का जवाब
Unknown
0:42

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Monesh Bhogade Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Monesh जी का जवाब
Unknown
2:54

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
3:37

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:40

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:17

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:51

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
BK. SHYAAM. KARWA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BK. जी का जवाब
Unknown
0:55

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
1:45

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
BHEEMA RAM Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BHEEMA जी का जवाब
Student
0:43

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
4:30

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
0:45

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
balkrishan Karauli Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए balkrishan जी का जवाब
Study
0:05

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
0:53

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Pradeep Reswal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Pradeep जी का जवाब
Unknown
0:13

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
भुवन चुटानी Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए भुवन जी का जवाब
Unknown
2:04

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:20

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Sandeep pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Student
0:22

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Manish Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Defence
2:28

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
anushka prajapati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anushka जी का जवाब
Unknown
1:24

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:58
आपका सामान एक काम ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति तुम्हें बता दूं आपको बिना कर्म के कुछ होने वाला नहीं है जब तक आप कर्म नहीं करोगे आप सुखी नहीं रहोगे जब तक आप सुखी नहीं रहोगे तो आप कुछ भी करने लायक नहीं जब आप अच्छे कर्म करोगे तो आपको मस्ती कीजिए कोई जरूरत नहीं है भगवान आपके साथ खुद-ब-खुद रहेंगे अच्छे कर्म कीजिए भक्ति आपको खुद हो जाएगी बात करने की कोई जरूरत नहीं है आपकी और कर्मों को अपने से बड़ों के प्रति आपका नजरिया सजाना चाहिए आप नेपाल में चाहिए हमें चाहिए
Aapaka saamaan ek kaam jyaada achchha hota hai ya bhakti tumhen bata doon aapako bina karm ke kuchh hone vaala nahin hai jab tak aap karm nahin karoge aap sukhee nahin rahoge jab tak aap sukhee nahin rahoge to aap kuchh bhee karane laayak nahin jab aap achchhe karm karoge to aapako mastee keejie koee jaroorat nahin hai bhagavaan aapake saath khud-ba-khud rahenge achchhe karm keejie bhakti aapako khud ho jaegee baat karane kee koee jaroorat nahin hai aapakee aur karmon ko apane se badon ke prati aapaka najariya sajaana chaahie aap nepaal mein chaahie hamen chaahie

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:57
गाना छोड़ दे या फिर भक्ति भक्ति भी अच्छी होती है कर्म के अलावा क्योंकि भक्ति में मन को हटा ले ध्यान लगाकर भक्ति करें पूजा एवं रचना कर्म करें और अपने जीवन में कर्म को महत्व देना चाहिए अपने को पूरा करना चाहती हूं हमें पसंद आएगा आपको चाहिए तो चोखी धनी
Gaana chhod de ya phir bhakti bhakti bhee achchhee hotee hai karm ke alaava kyonki bhakti mein man ko hata le dhyaan lagaakar bhakti karen pooja evan rachana karm karen aur apane jeevan mein karm ko mahatv dena chaahie apane ko poora karana chaahatee hoon hamen pasand aaega aapako chaahie to chokhee dhanee

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:43
गरम ज्यादा अच्छा होता यह भक्ति इसको समझने के लिए हम उस कैरेक्टर में जाते हैं जय श्री कृष्ण अर्जुन से बोलते हैं कि हमारे हमारे भक्ति या हमें समझने के लिए जो मार्ग को प्रशस्त करना पड़ेगा या तो आकर वहां माल को चुनिए या तो आप भक्ति मार्ग उसने तो उसमें दोनों की महत्व सेम कंडीशन में अपने कर्म के माध्यम से आम पुरुषार्थ के दम पर हम भक्ति ईश्वर की प्राप्ति कर पाते हैं वही भक्ति के माध्यम से भक्ति के अनुदान से अपनी अपनी श्रद्धा भाव से अपनी स्वर को ध्यान और चिंतन कर पाते हैं लेकिन पुरुषार्थ जो है पुरुषार्थ और कर्म के बिना जीवन की स्थितियों को समझना बहुत कंप्लीट हो जाती है तो इसलिए कर्म करना बहुत ही अनिवार्य होती है चाहे वो कोई भी अच्छा या बुरा कर्म तो इंसान को करना ही पड़ता है क्या करें या बुरा कर्म कर रहे हैं भक्ति भक्ति भक्ति भक्ति में होता है उसे कंट्रोल नहीं रख पाता हम इश्वर के रूप में ध्यान लगाने की कोशिश करते हैं लेकिन ध्यान हमेशा अब मन ही तो बताते रहता है तो हम ऐसा प्रोसेस मार्ग प्रशस्त करें कि हमें ईश्वर तक पहुंचने के लिए हमें हम अपने आप को पूरी तरह से समर्पित हो जाना पड़ेगा
Garam jyaada achchha hota yah bhakti isako samajhane ke lie ham us kairektar mein jaate hain jay shree krshn arjun se bolate hain ki hamaare hamaare bhakti ya hamen samajhane ke lie jo maarg ko prashast karana padega ya to aakar vahaan maal ko chunie ya to aap bhakti maarg usane to usamen donon kee mahatv sem kandeeshan mein apane karm ke maadhyam se aam purushaarth ke dam par ham bhakti eeshvar kee praapti kar paate hain vahee bhakti ke maadhyam se bhakti ke anudaan se apanee apanee shraddha bhaav se apanee svar ko dhyaan aur chintan kar paate hain lekin purushaarth jo hai purushaarth aur karm ke bina jeevan kee sthitiyon ko samajhana bahut kampleet ho jaatee hai to isalie karm karana bahut hee anivaary hotee hai chaahe vo koee bhee achchha ya bura karm to insaan ko karana hee padata hai kya karen ya bura karm kar rahe hain bhakti bhakti bhakti bhakti mein hota hai use kantrol nahin rakh paata ham ishvar ke roop mein dhyaan lagaane kee koshish karate hain lekin dhyaan hamesha ab man hee to bataate rahata hai to ham aisa proses maarg prashast karen ki hamen eeshvar tak pahunchane ke lie hamen ham apane aap ko pooree tarah se samarpit ho jaana padega

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
kaalki Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए kaalki जी का जवाब
Marketing executive,,deals with wellness products,,Driver,
2:58
अच्छा सवाल है कि कर्म ज्यादा हो अच्छा होता है या भक्ति देखो हमारे शास्त्रों में बताया गया है कि कर्म ओ कर्म को करने से आप बंधन में बंध जाते हैं इसलिए उन कर्मों को त्याग कर काफी ज्यादा जो लोग हैं वह संन्यास ले लेते हैं ताकि उन्हें किसी प्रकार का कोई कर्म ना करना पड़े और वह ईश्वर के ध्यान में आत्म साक्षात्कार हो जाए इसे ब्रह्मा निराकार कहते हैं मतलब जो ब्रह्मा की जो आत्मसाक्षात्कार चाहता है आत्म साक्षात्कार करते जो स्वर्ग नहीं जाना चाहता जो ब्रह्मलोक नहीं जाना चाहता जो मुक्ति चाहता है इस शरीर से शरीर के बंधन से विभाग चक्र थे जो मुक्ति पाना चाहता है वह संन्यास लेता है फिर आत्मसाक्षात्कार होने के लिए बहुत कठिन प्रयास करने पड़ते हैं जैसे कि उसे प्रातः सुबह नहाना पड़ता है उसे संध्या के समय नहाना पड़ता है हमेशा ईश्वर का नाम लेना पड़ता है और ध्यान मग्न रहना पड़ता है साक्षात्कार के कुछ पद हैं जिनमें चल के इंसान आत्म साक्षात्कार हो सकता है लेकिन गीता गीता ने हमें यह बताया कि अगर आप सन्यासी नहीं बन सकते अगर आपको अपने मां-बाप के लिए कर्म करना ही पड़ेगा तो इग्नोर इन का सवाल है कर्म ज्यादा अच्छा होता है भक्ति तो हमारे में उसमें जो बताया गया है वह यह बताया गया है कि आप कर्मों के साथ-साथ भक्ति कर सकते हैं कहीं काम कर रहा हूं अब वहां मेरे को पिया उठा के एक साइड से दूसरी साइड रखनी है लेकिन एक जगह में उन पेड़ों को उठाते हुए अपने मन में तरह-तरह के विचार कर रहा हूं कई में किसी टेंशन को लेकर बैठा हूं कहीं मैं अपने मन में मन बना कर बैठा हूं कि मैं वहां जाऊंगा पैसे आएंगे तो यह करूंगा वह करो यह क्या है यह आपको आपके मन को फंसा लेती है यह बातें और आपका वह जो कर्म होता है वह कर्म का एक पल बन जाता है अब चाहे वह अच्छा है या बुरा अब इस पल की क्या होता है आपको उत्पल को भोगना पड़ता है आपको दोबारा ही धरती लोक पर आना पड़ता है लेकिन अगर आप वही ईश्वर का नाम लेते हुए देते हरे कृष्णा हरे रामा हरे कृष्णा हरे रामा इस तरह का महा जब का उच्चारण करते हुए हर काम करेंगे लेकिन एक पेटी उठा रहा हूं मैं पेटी उठाते हुए उसे दूसरी साइड रखनी है तो मैं रख सकता हूं हरे कृष्णा का नाम लेते आप गाना गाते हुए भी तो करते हैं ना तो आपको बस यह हरे कृष्णा हरे कृष्णा का नाम लेते हुए हर काम को करने से क्या होगा आप सुख और दुख इन दोनों की भावनाओं से बच जाएंगे इच्छाओं से बच जाएंगे इच्छा है क्या होती है जो मन में आती है कि मैं यह करूंगा आज ढाई ₹100 मिलेंगे ₹300 मिले मैं आ जाऊंगा यहां करूंगा वह करो यह सब गलत है दोस्त अगर ईश्वर का नाम लेकर अपना कर्म करोगे कर्म ज्यादा अच्छा होता है कर्म करो लेकिन भक्ति के साथ कर्म करो अगर आप इस तरीके से कर्म करेंगे तो उसका जो भी फल बनेगा ईश्वर अपने ऊपर ले लेते हैं जिससे आपका जब मृत्यु काल आती है उस टैंक आपका कोई पल नहीं बनता और
Achchha savaal hai ki karm jyaada ho achchha hota hai ya bhakti dekho hamaare shaastron mein bataaya gaya hai ki karm o karm ko karane se aap bandhan mein bandh jaate hain isalie un karmon ko tyaag kar kaaphee jyaada jo log hain vah sannyaas le lete hain taaki unhen kisee prakaar ka koee karm na karana pade aur vah eeshvar ke dhyaan mein aatm saakshaatkaar ho jae ise brahma niraakaar kahate hain matalab jo brahma kee jo aatmasaakshaatkaar chaahata hai aatm saakshaatkaar karate jo svarg nahin jaana chaahata jo brahmalok nahin jaana chaahata jo mukti chaahata hai is shareer se shareer ke bandhan se vibhaag chakr the jo mukti paana chaahata hai vah sannyaas leta hai phir aatmasaakshaatkaar hone ke lie bahut kathin prayaas karane padate hain jaise ki use praatah subah nahaana padata hai use sandhya ke samay nahaana padata hai hamesha eeshvar ka naam lena padata hai aur dhyaan magn rahana padata hai saakshaatkaar ke kuchh pad hain jinamen chal ke insaan aatm saakshaatkaar ho sakata hai lekin geeta geeta ne hamen yah bataaya ki agar aap sanyaasee nahin ban sakate agar aapako apane maan-baap ke lie karm karana hee padega to ignor in ka savaal hai karm jyaada achchha hota hai bhakti to hamaare mein usamen jo bataaya gaya hai vah yah bataaya gaya hai ki aap karmon ke saath-saath bhakti kar sakate hain kaheen kaam kar raha hoon ab vahaan mere ko piya utha ke ek said se doosaree said rakhanee hai lekin ek jagah mein un pedon ko uthaate hue apane man mein tarah-tarah ke vichaar kar raha hoon kaee mein kisee tenshan ko lekar baitha hoon kaheen main apane man mein man bana kar baitha hoon ki main vahaan jaoonga paise aaenge to yah karoonga vah karo yah kya hai yah aapako aapake man ko phansa letee hai yah baaten aur aapaka vah jo karm hota hai vah karm ka ek pal ban jaata hai ab chaahe vah achchha hai ya bura ab is pal kee kya hota hai aapako utpal ko bhogana padata hai aapako dobaara hee dharatee lok par aana padata hai lekin agar aap vahee eeshvar ka naam lete hue dete hare krshna hare raama hare krshna hare raama is tarah ka maha jab ka uchchaaran karate hue har kaam karenge lekin ek petee utha raha hoon main petee uthaate hue use doosaree said rakhanee hai to main rakh sakata hoon hare krshna ka naam lete aap gaana gaate hue bhee to karate hain na to aapako bas yah hare krshna hare krshna ka naam lete hue har kaam ko karane se kya hoga aap sukh aur dukh in donon kee bhaavanaon se bach jaenge ichchhaon se bach jaenge ichchha hai kya hotee hai jo man mein aatee hai ki main yah karoonga aaj dhaee ₹100 milenge ₹300 mile main aa jaoonga yahaan karoonga vah karo yah sab galat hai dost agar eeshvar ka naam lekar apana karm karoge karm jyaada achchha hota hai karm karo lekin bhakti ke saath karm karo agar aap is tareeke se karm karenge to usaka jo bhee phal banega eeshvar apane oopar le lete hain jisase aapaka jab mrtyu kaal aatee hai us taink aapaka koee pal nahin banata aur

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
Medical care
1:22
नमस्कार दोस्त सवाल आया है कर्मचारी अच्छा होता है या पति तो दोस्तों भक्ति अच्छी है अपनी शक्ति करना चाहिए भक्ति करने से जीवन यापन की सुख-सुविधाओं नहीं मिलेंगे हमें जीवन यापन करने के लिए जो सुख सुविधाएं चाहिए जो शीशे से उसके लिए कर्म करना पड़ेगा और कर्म करना अब हर इंसान का कर्म करना चाहिए कम करने के बाद ही हमें अपने होते हैं उनको करने के लिए जीवन यापन के लिए सुविधाएं जो दैनिक जीवन में जो चीजें चाहिए भोजन पेट भरने के लिए शरीर ढकने के लिए कपड़े उन सब चीजों की आवश्यकता जो है उसका वह कर्म करने से पूरा होगा भक्ति करने से नहीं चूकते करना अपनी जगह है भक्ति करना चाहिए लेकिन कर्म ज्यादा अच्छा है और कर्म करना हर इंसान का फर्ज है कर्तव्य अपने कर्म को करो कर्म करने से ही हमें आगे आपका जाता है कर्म करो फल की इच्छा ना करो तो वही है कर्म करना चाहिए इंसान को कम करने के बाद ही आपको जो भी चीजें जो भी पाना चाहते हो उसके लिए आपको कर्म करना पड़ेगा तो सब ठीक है ना अच्छा होता है बात कर मत करना ज्यादा सबसे ज्यादा अच्छा होता
Namaskaar dost savaal aaya hai karmachaaree achchha hota hai ya pati to doston bhakti achchhee hai apanee shakti karana chaahie bhakti karane se jeevan yaapan kee sukh-suvidhaon nahin milenge hamen jeevan yaapan karane ke lie jo sukh suvidhaen chaahie jo sheeshe se usake lie karm karana padega aur karm karana ab har insaan ka karm karana chaahie kam karane ke baad hee hamen apane hote hain unako karane ke lie jeevan yaapan ke lie suvidhaen jo dainik jeevan mein jo cheejen chaahie bhojan pet bharane ke lie shareer dhakane ke lie kapade un sab cheejon kee aavashyakata jo hai usaka vah karm karane se poora hoga bhakti karane se nahin chookate karana apanee jagah hai bhakti karana chaahie lekin karm jyaada achchha hai aur karm karana har insaan ka pharj hai kartavy apane karm ko karo karm karane se hee hamen aage aapaka jaata hai karm karo phal kee ichchha na karo to vahee hai karm karana chaahie insaan ko kam karane ke baad hee aapako jo bhee cheejen jo bhee paana chaahate ho usake lie aapako karm karana padega to sab theek hai na achchha hota hai baat kar mat karana jyaada sabase jyaada achchha hota

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Abdul_Ahad  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abdul_Ahad जी का जवाब
Unknown
1:20
यहां पर आपने जो सवाल पूछा है कर्म ज्यादा अच्छा होता है या तो दोनों का ही अपना अपना एक अलग मकान है जैसे कर्म जो होते हैं वह अपने दिए तथा लोगों के लिए होते हैं टिकट का उसमें भगवान का और कोई सुंदर इन्वॉल्यूशन नहीं रहता है लेकिन भक्ति जब आप करते हैं तो भक्ति से आप तो ईश्वर हे अल्लाह हे भगवान है उसकी इबादत अगर आप करते हैं तो उसी को आप से मनाते हैं और यहां पर जो गलत बताते हैं कि इंसान को सिर्फ और सिर्फ भक्ति के लिए ही पैदा किया गया है इबादत के लिए ही पैदा किया गया है ठीक है और यहां पर कर्म जवाब भक्ति करते हैं तो भक्ति के साथ में उसका जो पैरालाल है वह कर्म आते हैं तो कर्म फिर उसके साथ में जरूरी होता है पहले भक्ति सुन रही है उसके बाद करण जरूरी है सर माफ करेंगे तो उसके अंदर क्या है कि आपकी भक्ति नजर आने लगेगी और लोग आपको ऐसा नहीं कि भगवान की उपासना करता है भगवानों के साथ में साल हो गए बाहर थे तो पहले तो आपको करनी है उसके बाद
Yahaan par aapane jo savaal poochha hai karm jyaada achchha hota hai ya to donon ka hee apana apana ek alag makaan hai jaise karm jo hote hain vah apane die tatha logon ke lie hote hain tikat ka usamen bhagavaan ka aur koee sundar involyooshan nahin rahata hai lekin bhakti jab aap karate hain to bhakti se aap to eeshvar he allaah he bhagavaan hai usakee ibaadat agar aap karate hain to usee ko aap se manaate hain aur yahaan par jo galat bataate hain ki insaan ko sirph aur sirph bhakti ke lie hee paida kiya gaya hai ibaadat ke lie hee paida kiya gaya hai theek hai aur yahaan par karm javaab bhakti karate hain to bhakti ke saath mein usaka jo pairaalaal hai vah karm aate hain to karm phir usake saath mein jarooree hota hai pahale bhakti sun rahee hai usake baad karan jarooree hai sar maaph karenge to usake andar kya hai ki aapakee bhakti najar aane lagegee aur log aapako aisa nahin ki bhagavaan kee upaasana karata hai bhagavaanon ke saath mein saal ho gae baahar the to pahale to aapako karanee hai usake baad

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Gulab Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gulab जी का जवाब
Student
1:46

bolkar speaker
कर्म ज्यादा अच्छा होता है या भक्ति?Karm Jyada Acha Hota Hai Ya Bhakti
Tej Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Tej जी का जवाब
Unknown
0:27

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कर्म किसे कहते है,कर्म ,भक्ति
URL copied to clipboard