#पढ़ाई लिखाई

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:09

और जवाब सुनें

Nav kishor Aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nav जी का जवाब
Service
1:02

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:06

G Dewasi Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए G जी का जवाब
Unknown
1:03

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:21

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Berojgar
1:21

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:59

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:34

Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
1:00

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:13

VP Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए VP जी का जवाब
Unknown
0:34

JOHAR Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए JOHAR जी का जवाब
Unknown
1:28

ravi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravi जी का जवाब
Unknown
0:14

Avinash Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Avinash जी का जवाब
Berojgaar
0:35

T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
1:39

Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Student
1:04

ABHIJEET RANA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ABHIJEET जी का जवाब
Unknown
0:24

Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
4:05

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:07
आपका सवाल जिस वस्तु का कोई ग्राहक ही ना हो उस वस्तु की कीमत कैसे निर्धारित की जा सकती है मैं बता दूं बाजार के नियम होते हैं की मांग के आधार पर वस्त्र कुर्ती मत लगती है जब बाजार में किसी चीज की मांग बढ़ जाती है तो उसके भाव अचानक बढ़ जाते हैं और जब उसकी मांग कम हो जाती है तो उसके भाव कम हो जाते हैं और एक कारण और होता है कि जब किसी भी सामान के साथ बिजी हो जाती है कमी हो जाती है तब भी उसके भाव बढ़ जाता है मांग बराबर रहे भगवान वस्तु की आमद कम हो जाए तो उसके भाव बढ़ जाते हैं और किसी भी चीज की आमद ज्यादा हो जाती है तथा उसके कम हो जाते हैं एक दो पहलू होते हैं या तो बाजार में सामान की मात्रा बढ़ जाए तन्हा छोड़ जाएंगे या तुम मांग बढ़ जाए तब उसके भाव बढ़ जाएंगे
Aapaka savaal jis vastu ka koee graahak hee na ho us vastu kee keemat kaise nirdhaarit kee ja sakatee hai main bata doon baajaar ke niyam hote hain kee maang ke aadhaar par vastr kurtee mat lagatee hai jab baajaar mein kisee cheej kee maang badh jaatee hai to usake bhaav achaanak badh jaate hain aur jab usakee maang kam ho jaatee hai to usake bhaav kam ho jaate hain aur ek kaaran aur hota hai ki jab kisee bhee saamaan ke saath bijee ho jaatee hai kamee ho jaatee hai tab bhee usake bhaav badh jaata hai maang baraabar rahe bhagavaan vastu kee aamad kam ho jae to usake bhaav badh jaate hain aur kisee bhee cheej kee aamad jyaada ho jaatee hai tatha usake kam ho jaate hain ek do pahaloo hote hain ya to baajaar mein saamaan kee maatra badh jae tanha chhod jaenge ya tum maang badh jae tab usake bhaav badh jaenge

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:16
आपने प्रश्न किया है जिस वक्त का कोई ग्राहक ही ना हो उस वस्तु की कीमत कैसे निर्धारित की जा सकती है लेकिन अगर कोई वस्तु ऐसा है जिसका कोई ग्राहक नहीं है तो उसका मूल्य बिल्कुल ही नहीं होगा क्योंकि किसी भी वस्तु का मूल्य मांग और पूर्ति के आधार पर निर्धारित होता है कितनी उसकी डिमांड है कितनी उसकी सप्लाई हो रही है अगर कोई बस सप्लाई हो रही है लेकिन उसकी डिमांड जीरो है उसका कोई मोल नहीं हो सकता यही अर्थशास्त्र का यही सिद्धांत है अगर किसी वस्तु का मूल्य निर्धारित करना हो तो कम से कम एक ग्रहण तो चाहिए कि जो क्रेता विक्रेता में आपस में बाहर है आप आपस में बात हो सके या आपस में चर्चा पर चर्चा हो सके आपस में चर्चा परिचर्चा करके किसी राज को तय कर सकें सौदेबाजी कर सकें लेकिन जब भी ग्राहक नहीं होगा तो बेचने वाला किससे सौदा करेगा जो कोई सौदा ही नहीं करेगा तो उसका मूल्य सुन्न हो जाएगा धन्यवाद
Aapane prashn kiya hai jis vakt ka koee graahak hee na ho us vastu kee keemat kaise nirdhaarit kee ja sakatee hai lekin agar koee vastu aisa hai jisaka koee graahak nahin hai to usaka mooly bilkul hee nahin hoga kyonki kisee bhee vastu ka mooly maang aur poorti ke aadhaar par nirdhaarit hota hai kitanee usakee dimaand hai kitanee usakee saplaee ho rahee hai agar koee bas saplaee ho rahee hai lekin usakee dimaand jeero hai usaka koee mol nahin ho sakata yahee arthashaastr ka yahee siddhaant hai agar kisee vastu ka mooly nirdhaarit karana ho to kam se kam ek grahan to chaahie ki jo kreta vikreta mein aapas mein baahar hai aap aapas mein baat ho sake ya aapas mein charcha par charcha ho sake aapas mein charcha paricharcha karake kisee raaj ko tay kar saken saudebaajee kar saken lekin jab bhee graahak nahin hoga to bechane vaala kisase sauda karega jo koee sauda hee nahin karega to usaka mooly sunn ho jaega dhanyavaad

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:25
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा की आप का प्रेस में है जिस वस्तु का कोई ग्राहक ही ना हो उस वक्त की कीमत कैसे निर्धारित की जा सकती है कभी-कभी ऐसी कंडीशन आती है कि वस्तु का जो है कस्टमर जो है वह नहीं मिलते हैं फिर नहीं रहते हैं उस चीज की में जो है हम कैसे धारण करते हैं इस प्रकार निर्धारण करते हैं कि वह चीज वस्तु जो है उसका जो है मूल्यांकन कितना है यानि कि उसकी उपयोगिता जो है वह कितनी है अगर जो है बस तू बहुत ज्यादा मायने रखती है उपयोगी वाली है तो आप उसी के अनुसार जो है उसका मूल्यांकन कर सकते हैं मुल्ले लगा सकते हैं यदि ट्यूशन निर्धारित कर सकते हैं कि फ्रेंड हमारी जो वैल्यू होती है वह हमारे वस्तु की जो वैल्यू होती हो वह बस चुके कीमत से ही निर्धारित करती है क्योंकि उसका उपयोगिता क्या है इस वस्तु के निर्धारित करती है मैं एग्जांपल के लिए देना चाहूंगा उदाहरण जैसे कि आप हीरा है हीरे की मांग जो है आप देखिए बहुत ज्यादा नहीं है लेकिन फिर भी उसकी जो कीमत होती है वह बहुत ज्यादा है रीजन यह होता फ्रेंड की हीरे की उपयोगिता जो है वह मायने रखती है उसी प्रकार से सोनी को देख लीजिए सोने की मांग जो है ज्यादा भी है राइस भी ज्यादा है तो उपयोगिता होनी चाहिए मार्केट में कि किस प्रकार की है कौन से उत्पाद की जो है उपयोगिता है चांदी के ले लीजिए आप सोने से जो है सस्ता 4G होता है इसके बाद आर्टिफिशियल में आ जाइए आप तो उसे तो कोई रेट ही नहीं होता फ्रेंड आप सो रुपए में पा सकते हैं ₹50 पा सकते हैं ₹10 पा सकते हैं बीच में पा सकते हैं 500 में भी पा सकते हैं और 5000 में भी पा सकते हैं और हम कभी किसी रिटेलर करते किसी वस्तु का सामान का तो उसको पहले ही देखने की उसकी उपयोगिता क्या है कहां-कहां पर उसकी डिमांड जो है हो सकती है किस काम में वह चीज है जो है आ सकती है उसी के आधार पर आप उसका मूल्यांकन करती थी उसे सेल कर सकते हैं भेज सकते हैं या फिर खरीद सकते हैं जैसी आपकी मर्जी हो आशा है कि आप सभी को है जवाब पसंद आया होगा नमस्कार
Helo phrend namaskaar jaisa kee aap ka pres mein hai jis vastu ka koee graahak hee na ho us vakt kee keemat kaise nirdhaarit kee ja sakatee hai kabhee-kabhee aisee kandeeshan aatee hai ki vastu ka jo hai kastamar jo hai vah nahin milate hain phir nahin rahate hain us cheej kee mein jo hai ham kaise dhaaran karate hain is prakaar nirdhaaran karate hain ki vah cheej vastu jo hai usaka jo hai moolyaankan kitana hai yaani ki usakee upayogita jo hai vah kitanee hai agar jo hai bas too bahut jyaada maayane rakhatee hai upayogee vaalee hai to aap usee ke anusaar jo hai usaka moolyaankan kar sakate hain mulle laga sakate hain yadi tyooshan nirdhaarit kar sakate hain ki phrend hamaaree jo vailyoo hotee hai vah hamaare vastu kee jo vailyoo hotee ho vah bas chuke keemat se hee nirdhaarit karatee hai kyonki usaka upayogita kya hai is vastu ke nirdhaarit karatee hai main egjaampal ke lie dena chaahoonga udaaharan jaise ki aap heera hai heere kee maang jo hai aap dekhie bahut jyaada nahin hai lekin phir bhee usakee jo keemat hotee hai vah bahut jyaada hai reejan yah hota phrend kee heere kee upayogita jo hai vah maayane rakhatee hai usee prakaar se sonee ko dekh leejie sone kee maang jo hai jyaada bhee hai rais bhee jyaada hai to upayogita honee chaahie maarket mein ki kis prakaar kee hai kaun se utpaad kee jo hai upayogita hai chaandee ke le leejie aap sone se jo hai sasta 4g hota hai isake baad aartiphishiyal mein aa jaie aap to use to koee ret hee nahin hota phrend aap so rupe mein pa sakate hain ₹50 pa sakate hain ₹10 pa sakate hain beech mein pa sakate hain 500 mein bhee pa sakate hain aur 5000 mein bhee pa sakate hain aur ham kabhee kisee ritelar karate kisee vastu ka saamaan ka to usako pahale hee dekhane kee usakee upayogita kya hai kahaan-kahaan par usakee dimaand jo hai ho sakatee hai kis kaam mein vah cheej hai jo hai aa sakatee hai usee ke aadhaar par aap usaka moolyaankan karatee thee use sel kar sakate hain bhej sakate hain ya phir khareed sakate hain jaisee aapakee marjee ho aasha hai ki aap sabhee ko hai javaab pasand aaya hoga namaskaar

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • वस्तु का कोई ग्राहक कैसे निर्धारित करे
URL copied to clipboard