#जीवन शैली

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:37
मस्ताना का प्रश्न खुली आंखों से सपने देखने का और नींद में सोते हुए सपने देखने का दोनों में क्या अंतर है तो आपको बता दें लेकिन दोनों में ही अंतर होता है बेहतर तो यह है कि आप यहां पर जो भी सपने देखना चाहते हो जो भी सपने देख रहे हो उनको पूरा करने के लिए जवाब प्रयास करते हैं सपने कभी पूरे होते हैं सिर खुली आंखों से बंद आंखों से सपने देखने से सपने पूरे नहीं होते हैं उन सपनों को पूरा करने के लिए मेहनत करनी होती है प्रयास करने पड़ते हैं तब जाकर आपको सपने पूरे होते हैं मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Mastaana ka prashn khulee aankhon se sapane dekhane ka aur neend mein sote hue sapane dekhane ka donon mein kya antar hai to aapako bata den lekin donon mein hee antar hota hai behatar to yah hai ki aap yahaan par jo bhee sapane dekhana chaahate ho jo bhee sapane dekh rahe ho unako poora karane ke lie javaab prayaas karate hain sapane kabhee poore hote hain sir khulee aankhon se band aankhon se sapane dekhane se sapane poore nahin hote hain un sapanon ko poora karane ke lie mehanat karanee hotee hai prayaas karane padate hain tab jaakar aapako sapane poore hote hain main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:45
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब वाले खुली आंखों से सपने देखने का और नींद में सब कुछ होते हुए सपने देखने का दोनों में क्या अंतर है क्या नीचे अपनी आंखों से जो सपने देखेगा तो उन्हें हम साकार करना चाहते हैं कि मतलब यह जो हम सपने देख रहे हैं कि हम हैं जो भविष्य में कभी ना कभी साकार करेंगे हम सोचते हैं तभी तो हम खुली आंखों से सपने देख कर नींद में काशी कैसा क्या माहौल चल रहा है वह सब मिलकर बनते रहते हैं और इसलिए आपको सपने देखते हैं नींद में दिखते हैं तो आपको दिखाई देता है तो आपने अपने जीवन में कभी ना कभी जरूर देखा होता है क्या तेरे पास कोई है भी तो नहीं रहता कि जो आपने नींद में सपना देखा था वह कहां से शुरू हुआ था तब अधिकांश अपने सपने ही रह जाती हो मतलब सच नहीं होते लेकिन जो खुली आंखों से सपने होते हैं हम अगर हम लगातार प्रयास करते हैं और निश्चित तौर पर उनके प्रतिनिधि ठान लेते कि मुझे सपने सच करने तो सच करना तो विश्वास मैंने एक दिन आपके जो मिला खुली आंखों से सपने देखते तो आपके सपने जरूर सोचो कि बस आप लोग करने की क्षमता हो यानी कि आप जितना अधिक संघर्ष कर लेते हैं और आपके सपने मुझे मुझे सच होते हैं खुली आंखों में सपने और नींद वाली सपने में बहुत बड़ा क्योंकि इन सब को आप साकार कर सकते हैं अगर आप मतलब अधिक संघर्ष करते हो मेहनत करते हो नींद वाले सब अपने तो मतलब सपने बन कर रह जाते हैं उम्मीद करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Namaskaar doston kaise hain aap sab vaale khulee aankhon se sapane dekhane ka aur neend mein sab kuchh hote hue sapane dekhane ka donon mein kya antar hai kya neeche apanee aankhon se jo sapane dekhega to unhen ham saakaar karana chaahate hain ki matalab yah jo ham sapane dekh rahe hain ki ham hain jo bhavishy mein kabhee na kabhee saakaar karenge ham sochate hain tabhee to ham khulee aankhon se sapane dekh kar neend mein kaashee kaisa kya maahaul chal raha hai vah sab milakar banate rahate hain aur isalie aapako sapane dekhate hain neend mein dikhate hain to aapako dikhaee deta hai to aapane apane jeevan mein kabhee na kabhee jaroor dekha hota hai kya tere paas koee hai bhee to nahin rahata ki jo aapane neend mein sapana dekha tha vah kahaan se shuroo hua tha tab adhikaansh apane sapane hee rah jaatee ho matalab sach nahin hote lekin jo khulee aankhon se sapane hote hain ham agar ham lagaataar prayaas karate hain aur nishchit taur par unake pratinidhi thaan lete ki mujhe sapane sach karane to sach karana to vishvaas mainne ek din aapake jo mila khulee aankhon se sapane dekhate to aapake sapane jaroor socho ki bas aap log karane kee kshamata ho yaanee ki aap jitana adhik sangharsh kar lete hain aur aapake sapane mujhe mujhe sach hote hain khulee aankhon mein sapane aur neend vaalee sapane mein bahut bada kyonki in sab ko aap saakaar kar sakate hain agar aap matalab adhik sangharsh karate ho mehanat karate ho neend vaale sab apane to matalab sapane ban kar rah jaate hain ummeed karata hoon savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

Dhruv Singh Ghosh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Dhruv जी का जवाब
Student🖍️
2:57
तो भेज रहे हैं बोलकर सवाल पूछे कि खुली आंखों से सपना देखने का हो नींद में सोते हुए सपने देखने दोनों में क्या अंतर है देखिए दोनों में बहुत ज्यादा अंतर क्यों नींद में सपना देखते हैं ना वह कमाल है सर पर मैं जी नहीं सकता है वो कोई खास ऐसा कोई शक नहीं डालता नींद में सपने देखना मतलब तुम उसकी सोने से पहले जो कुछ सोच रहे होंगे चीज पसंद के बारे में सोच रहे हैं जिस चीज के बारे में सोच रहा होगा कि मुझे मिल जाता तो मजा आ जाता कहां से मिल जाता तो बढ़िया होता या फिर इस वचन के बारे में बात करते हैं किसी से सोचते हैं या कोई मूवी देखते हैं तो पता चलता है सपने में वही सीनरी क्रिएट करके हम उस में है तो वह हमारा नींद में सपना होता है होती होते हुए सपना देखने का लेकिन अगर आप खुली आंखों से सपना देखते हैं ना तो सपना देखे तो ऐसा देखेंगे आप पर आंख बंद ना हो सपना के गाना प्लीज आप सपना ऐसा देखिए कि वह सपना जब तक आपका पूरा ना हो जाए आप को ठीक से नहीं सुना है ऐसा नहीं कि आप नींद में सपना देखते हैं खुली आंखों से सपने खुली आंखों से करना बहुत ज्यादा पावरफुल होता है और अब खुली आंखों से सपना कुछ कुछ लोग तो ऐसा करते हैं कि हवा महल बनाते हैं मैं उन लोगों को टारगेट नहीं कर रहा खुली आंखों से सपने से मतलब है आपका इस आ सकता जो आपको सोने ना दे जब तक वह पूरा नहीं हो जाता आप कुछ बड़े रहते हैं कुछ भी हो जाए मुझे की कंप्लीट करना है बट कुछ कुछ लोग इसको गलत तरीके से भी लेते हैं तुम्हें वह भी डिफाइंड कर रहा हूं कि कुलिया का सपना देखना है कि साब से ऐसा होता है कि हवा महल बनाना होता है मतलब हम है कुछ नहीं और पर्स लगे इमेजिन करने सबको सिस्माइंड को मेल सर अगर आप का टारगेट है कि मैं कोई एयरफोर्स में चला जाऊं या फिर आईआईटी में एडमिशन मिलता है खुली आंखों से सपना देखने का मतलब यह कि आप आईआईटी में पहुंच चुके हैं अब आपको थोड़ा सके समझ रहे होंगे मैं क्या कहना चाह रहा हूं क्या आप अपनी खुली आंखों से सपना जब देख रहे होंगे कि मैं आईआईटी में हूं ऐसी ऐसी लाइक है वहां पर पड़ी है मेरी लाइफ चल रही हूं मैं जो चाहती थी वह खुली आंखों से दिन में देख रहे हैं तो यह सब से बैठे-बैठे होती है फिर धीरे-धीरे चीज है जो है उठ कर बैठ जाती हो बहुत बेकार चीज होती है क्योंकि अब धीरे-धीरे उसको सोच ले जाएंगे भजन करते जाएंगे तब खुली आंखों से सपना देखे तो क्या होगा कि आपका माइंड जो है आपको सब कुछ शाम 8:00 बजे चीज बहुत बढ़िया लगती है सोचते जाते सोचते हैं आप थोड़ा बढ़िया लगा फिर होता है पर अचानक से क्या होता कि एक अगर हम 45 मिनट भी मुझे सोचते तुम्हारे सिर दर्द होने लगता है इससे हमारे मेमोरी पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है सो आई होप कि आप कौन सा मिल गया होगा थैंक्स फॉर लिसनिंग
To bhej rahe hain bolakar savaal poochhe ki khulee aankhon se sapana dekhane ka ho neend mein sote hue sapane dekhane donon mein kya antar hai dekhie donon mein bahut jyaada antar kyon neend mein sapana dekhate hain na vah kamaal hai sar par main jee nahin sakata hai vo koee khaas aisa koee shak nahin daalata neend mein sapane dekhana matalab tum usakee sone se pahale jo kuchh soch rahe honge cheej pasand ke baare mein soch rahe hain jis cheej ke baare mein soch raha hoga ki mujhe mil jaata to maja aa jaata kahaan se mil jaata to badhiya hota ya phir is vachan ke baare mein baat karate hain kisee se sochate hain ya koee moovee dekhate hain to pata chalata hai sapane mein vahee seenaree kriet karake ham us mein hai to vah hamaara neend mein sapana hota hai hotee hote hue sapana dekhane ka lekin agar aap khulee aankhon se sapana dekhate hain na to sapana dekhe to aisa dekhenge aap par aankh band na ho sapana ke gaana pleej aap sapana aisa dekhie ki vah sapana jab tak aapaka poora na ho jae aap ko theek se nahin suna hai aisa nahin ki aap neend mein sapana dekhate hain khulee aankhon se sapane khulee aankhon se karana bahut jyaada paavaraphul hota hai aur ab khulee aankhon se sapana kuchh kuchh log to aisa karate hain ki hava mahal banaate hain main un logon ko taaraget nahin kar raha khulee aankhon se sapane se matalab hai aapaka is aa sakata jo aapako sone na de jab tak vah poora nahin ho jaata aap kuchh bade rahate hain kuchh bhee ho jae mujhe kee kampleet karana hai bat kuchh kuchh log isako galat tareeke se bhee lete hain tumhen vah bhee diphaind kar raha hoon ki kuliya ka sapana dekhana hai ki saab se aisa hota hai ki hava mahal banaana hota hai matalab ham hai kuchh nahin aur pars lage imejin karane sabako sismaind ko mel sar agar aap ka taaraget hai ki main koee eyaraphors mein chala jaoon ya phir aaeeaeetee mein edamishan milata hai khulee aankhon se sapana dekhane ka matalab yah ki aap aaeeaeetee mein pahunch chuke hain ab aapako thoda sake samajh rahe honge main kya kahana chaah raha hoon kya aap apanee khulee aankhon se sapana jab dekh rahe honge ki main aaeeaeetee mein hoon aisee aisee laik hai vahaan par padee hai meree laiph chal rahee hoon main jo chaahatee thee vah khulee aankhon se din mein dekh rahe hain to yah sab se baithe-baithe hotee hai phir dheere-dheere cheej hai jo hai uth kar baith jaatee ho bahut bekaar cheej hotee hai kyonki ab dheere-dheere usako soch le jaenge bhajan karate jaenge tab khulee aankhon se sapana dekhe to kya hoga ki aapaka maind jo hai aapako sab kuchh shaam 8:00 baje cheej bahut badhiya lagatee hai sochate jaate sochate hain aap thoda badhiya laga phir hota hai par achaanak se kya hota ki ek agar ham 45 minat bhee mujhe sochate tumhaare sir dard hone lagata hai isase hamaare memoree par bahut gahara prabhaav padata hai so aaee hop ki aap kaun sa mil gaya hoga thainks phor lisaning

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:09
पूछा गया कि खुली आंखों से सपने देखने का और नींद में सोते हुए सपने देखने का दोनों में क्या अंतर दिखे खुली आंखों से सपने देखने का और नींद में सोते हो सपने देखने का दोनों में से आपको कोई फर्क दिखेंगे और बहुत बड़ा फर्क भी है जो देखे सपने हम सोते हुए देख रहे हैं क्या होता है कि हमारी इमैजिनेशन होता है जो चाहे या ना चाहे आते ही आते दिखे सपने में आते आते में बहुत कुछ नींद में सपने देख लेते हैं लेकिन जो सपने देखे हम खुली आंखों से देखेंगे ना वह रियल्टी हैं जो हम लाइफ में करना चाहते हैं सपने यह सपने डिसाइड जो करते हैं हम लाइफ में हमें क्या बनना है क्या कहां तक पहुंचे मतलब किस मुकाम तक हम को पहुंचना है कितना सक्सेज होना है वह सब देखिए सपने डिसाइड करते हैं खुली आंखों से सपने और जिस तरह से हम सोचते हैं वह वैसे दिखी हम बनते चले जाते हैं तो काफी आपको फर्क मिलेगा आपको मतलब यह कह सकते हैं कि बहुत बड़ा फर्क है खुली आंखों और रात में जो हम सपने देखते हैं उनमें जय हिंद जय भारत
Poochha gaya ki khulee aankhon se sapane dekhane ka aur neend mein sote hue sapane dekhane ka donon mein kya antar dikhe khulee aankhon se sapane dekhane ka aur neend mein sote ho sapane dekhane ka donon mein se aapako koee phark dikhenge aur bahut bada phark bhee hai jo dekhe sapane ham sote hue dekh rahe hain kya hota hai ki hamaaree imaijineshan hota hai jo chaahe ya na chaahe aate hee aate dikhe sapane mein aate aate mein bahut kuchh neend mein sapane dekh lete hain lekin jo sapane dekhe ham khulee aankhon se dekhenge na vah riyaltee hain jo ham laiph mein karana chaahate hain sapane yah sapane disaid jo karate hain ham laiph mein hamen kya banana hai kya kahaan tak pahunche matalab kis mukaam tak ham ko pahunchana hai kitana saksej hona hai vah sab dekhie sapane disaid karate hain khulee aankhon se sapane aur jis tarah se ham sochate hain vah vaise dikhee ham banate chale jaate hain to kaaphee aapako phark milega aapako matalab yah kah sakate hain ki bahut bada phark hai khulee aankhon aur raat mein jo ham sapane dekhate hain unamen jay hind jay bhaarat

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:30
सवाल है कि खुली आंखों से सपने देखने का और दिन में सोते हुए सपने देखने का दोनों में क्या अंतर है तो अगर आप सोते हुए सपने देखते हैं तो वह तो आपको बहुत ही अच्छे लगते हैं पर मैं असल में पूरे नहीं हो सकते क्योंकि आप सोते टाइम कुछ भी सपने देखते हैं वह आपकी इमेज नेशन होती है लेकिन जब आप खुली आंखों से सपने देखते हैं तो मैं आपका टारगेट हो जाता है जो सब आप वही सपने देखते हैं जो आप करना चाहते हैं बनना चाहते फिर आप उस सपने को पूरा करने में दिन-रात एक कर देते हैं
Savaal hai ki khulee aankhon se sapane dekhane ka aur din mein sote hue sapane dekhane ka donon mein kya antar hai to agar aap sote hue sapane dekhate hain to vah to aapako bahut hee achchhe lagate hain par main asal mein poore nahin ho sakate kyonki aap sote taim kuchh bhee sapane dekhate hain vah aapakee imej neshan hotee hai lekin jab aap khulee aankhon se sapane dekhate hain to main aapaka taaraget ho jaata hai jo sab aap vahee sapane dekhate hain jo aap karana chaahate hain banana chaahate phir aap us sapane ko poora karane mein din-raat ek kar dete hain

Satyam Srivastava Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Satyam जी का जवाब
Faculty for Civil Services Exams (UPSC PCS)
2:58
लिखे जो भी लोग हैं यूथ हैं यंगस्टर्स है या जो भी है उन सब का कोई ना कोई गोल होता है किसी का करियर गोल होता है तूने करियर में फ्यूचर में क्या करना है किसी का लाइफ का कोई जिंदगी का कोई गोल होता है कि उन्हें यह करना है करियर गोल होता है कि मैं डॉक्टर बनना है इंजीनियर प्रोफेसर आईएएस आईपीएस बनना है कहीं करिए अपना बनाना है उनका वह सपना है और किसी का लाइफ का होता है किसी को इंटेक्स बनना है किसी को अब अपनी पर्सनैलिटी डिवेलप करनी है फिजिकली पर्सनालिटी या उनको अपना व्यक्तित्व विकास करना है कम्युनिकेशन स्किल डेवलप करनी है और किसी को पावर चाहिए किसी को प्रेम फेमस होना है किसी को मनी की भूख है तो ईसबगोल है और यह सब गोल नहीं सपने हैं तो यह सब ने क्या है कि अभी सपने केवल हमें सपनों में ही आते हैं या केवल सपनों में आते हैं और हम उनके बारे में सोच सोच कर खुश हो लेते हैं तो यह क्या है कि मतलब हम अपने उसमें दिमाग में बस हॉट लाते हैं और एक तरह का यह बस मेंटल है पीने से 12 माइंड रिलीज हो जाता है आपके अंदर एक हार्मोन कुछ केमिकल चेंज हो जाते हैं शरीर में और आप खुश हो लेते हैं उनके लिए आप सही में इतने प्रयासरत हैं आप रात में ही सपने केवल देखते हैं या केवल सपने ही देखते रहते हैं इसका मतलब यह है इस क्वेश्चन का याद क्यों सपने ही देखते हैं उसके बारे में पूछो क्या कहते हैं ख्याली पुलाव ही पकाते रहते हैं या कुछ करते भी हैं उसके लिए कुछ एक्शन लेते हैं कि वह सोचना ही केवल सपने देख लेना ही केवल सही नहीं है हम जो सपने देखते हैं या उसके बारे में विचार करना सही है उसके बारे में सोचना चाहिए प्लान बनाना चाहिए स्टडी बनाना चाहिए लेकिन क्या वह स्टेट जी जो आपने बनाया है वह केवल क्या दिमाग में ही है क्या उसको रियल्टी में आपने बदलने की कोशिश करें कि केवल दिमाग में यह नई नई चीजें सोच रहे हैं बड़ा मकान बड़ी गाड़ी या बहुत सारा पैसा या आईएस बन गए इस तरह की सोच केवल दिमाग में ही है उसे वास्तविकता में लाने का कोई विचार है या रियल टीम उसे बदलना है तो अपने थॉट्स को एग्जीक्यूशन ने अपने थॉट्स अपने विचारों को जो आपने बड़े-बड़े सपने देखे हैं उनको आप अगर जमीन पर ले आते हैं और वह आप बन जाते हैं वह गोल अचीव कर लेते हैं अपना टारगेट पूरा कर लेते हैं इसे ही कहते हैं कि भाई खुली आंखों से आज है जो है हमें सोते हुए सपने नहीं देखने खुली आंखों से सपने देखने हैं का मतलब दिन में दिन में जब आप खुली आंख रखते हैं दिन में जब आप अभी और होते हैं जागरूक रहते हैं तो उस समय उस सपने के लिए काम करते हैं अगर आपका पढ़ने अगर आईएस वन
Likhe jo bhee log hain yooth hain yangastars hai ya jo bhee hai un sab ka koee na koee gol hota hai kisee ka kariyar gol hota hai toone kariyar mein phyoochar mein kya karana hai kisee ka laiph ka koee jindagee ka koee gol hota hai ki unhen yah karana hai kariyar gol hota hai ki main doktar banana hai injeeniyar prophesar aaeeees aaeepeees banana hai kaheen karie apana banaana hai unaka vah sapana hai aur kisee ka laiph ka hota hai kisee ko inteks banana hai kisee ko ab apanee parsanailitee divelap karanee hai phijikalee parsanaalitee ya unako apana vyaktitv vikaas karana hai kamyunikeshan skil devalap karanee hai aur kisee ko paavar chaahie kisee ko prem phemas hona hai kisee ko manee kee bhookh hai to eesabagol hai aur yah sab gol nahin sapane hain to yah sab ne kya hai ki abhee sapane keval hamen sapanon mein hee aate hain ya keval sapanon mein aate hain aur ham unake baare mein soch soch kar khush ho lete hain to yah kya hai ki matalab ham apane usamen dimaag mein bas hot laate hain aur ek tarah ka yah bas mental hai peene se 12 maind rileej ho jaata hai aapake andar ek haarmon kuchh kemikal chenj ho jaate hain shareer mein aur aap khush ho lete hain unake lie aap sahee mein itane prayaasarat hain aap raat mein hee sapane keval dekhate hain ya keval sapane hee dekhate rahate hain isaka matalab yah hai is kveshchan ka yaad kyon sapane hee dekhate hain usake baare mein poochho kya kahate hain khyaalee pulaav hee pakaate rahate hain ya kuchh karate bhee hain usake lie kuchh ekshan lete hain ki vah sochana hee keval sapane dekh lena hee keval sahee nahin hai ham jo sapane dekhate hain ya usake baare mein vichaar karana sahee hai usake baare mein sochana chaahie plaan banaana chaahie stadee banaana chaahie lekin kya vah stet jee jo aapane banaaya hai vah keval kya dimaag mein hee hai kya usako riyaltee mein aapane badalane kee koshish karen ki keval dimaag mein yah naee naee cheejen soch rahe hain bada makaan badee gaadee ya bahut saara paisa ya aaeees ban gae is tarah kee soch keval dimaag mein hee hai use vaastavikata mein laane ka koee vichaar hai ya riyal teem use badalana hai to apane thots ko egjeekyooshan ne apane thots apane vichaaron ko jo aapane bade-bade sapane dekhe hain unako aap agar jameen par le aate hain aur vah aap ban jaate hain vah gol acheev kar lete hain apana taaraget poora kar lete hain ise hee kahate hain ki bhaee khulee aankhon se aaj hai jo hai hamen sote hue sapane nahin dekhane khulee aankhon se sapane dekhane hain ka matalab din mein din mein jab aap khulee aankh rakhate hain din mein jab aap abhee aur hote hain jaagarook rahate hain to us samay us sapane ke lie kaam karate hain agar aapaka padhane agar aaeees van

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • स्वप्न शास्त्र, स्वप्न फल, खुली आँखों से सपने देखना
URL copied to clipboard