#undefined

bolkar speaker

बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?

Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:58
तो आज आप का सवाल है कि बार-बार किसी चीज के शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है इंसान का दिमाग होता है बहुत बार होता है रिपीटेड 10 बार 20 बार से कि अगर मैं आज 10 20 50 बार सोच रही हूं कि आने नहीं है प्रॉब्लम हो सकता नहीं नहीं प्रॉब्लम हो सकता दिमाग होगा ही होगा मैं यह नहीं कर सकती मेरे से यह काम नहीं होगा शायद मैं इसके लिए बनी नहीं है इस काम के लिए बहुत ज्यादा कर दिमाग में इतनी बार बोलते हमारे दिमाग में इतना चलता था एक्सेप्ट कर लेता है तुझे कोई भी इंसान भी आकर बार-बार शिकायत करता है आपसे किसी इंसान के बारे में या फिर आप किसी के बारे में शिकायत सुनते हैं उनके बारे में बहुत अच्छा सोचते हैं लेकिन कहीं ना कहीं आपके मन में 5050 ऐसा होने लगता है इंसान बार-बार उसका कंप्लेन करता है या फिर हम ही कुछ गलत उसके बारे में सोच रहे हैं ऐसा कहीं ना कहीं किसी भी इंसान की इमेज पर बात आ जाती है कि शिकायत कर रहे हैं इतने सारे लोग अगर कर रहे तो क्या सच में वह इंसान ही गलत है और मैं ही सही सोच रहा हूं या फिर शायद मैं गलत ऐसा 5050 टाइप का आपके मन में जो सवाल आने लगता है कि यह सही है या गलत है तो कोई भी इंसान जब कंटीन्यूअसली आपके सामने किसी भी चीज के बारे में बोलता तो कहीं आपका तो दिमाग है वह ज्यादा रिपीट होने के बाद जब बार-बार मुझे होता तो कहीं ना कहीं वह एक्सेप्ट करने लगता है अब देखेगा ब्रेनवाश कैसे होता है आपके दिमाग में इतना वह चीज डाला जाता है इतना डाला जाता है कि आप उस चीज को बहुत तरह से एक्सेप्ट कर लेते हैं और उसके आगे कुछ सुनेंगे नहीं तो उसी तरह से बार बार भी कोई अगर आपके सामने किसी का शिकायत करता तो कहीं ना कहीं कितना है आप उस इंसान के बारे में अच्छा सोच रहे हो लेकिन कहीं ना कि आपके मन में थोड़ा संकोच होता है कि नहीं सही है या नहीं है ऐसे लोग अगर बोल रहे हैं तो शायद वह इंसान गलत भी हो सकता है
To aaj aap ka savaal hai ki baar-baar kisee cheej ke shikaayat karana hamen kis tarah se prabhaavit karata hai insaan ka dimaag hota hai bahut baar hota hai ripeeted 10 baar 20 baar se ki agar main aaj 10 20 50 baar soch rahee hoon ki aane nahin hai problam ho sakata nahin nahin problam ho sakata dimaag hoga hee hoga main yah nahin kar sakatee mere se yah kaam nahin hoga shaayad main isake lie banee nahin hai is kaam ke lie bahut jyaada kar dimaag mein itanee baar bolate hamaare dimaag mein itana chalata tha eksept kar leta hai tujhe koee bhee insaan bhee aakar baar-baar shikaayat karata hai aapase kisee insaan ke baare mein ya phir aap kisee ke baare mein shikaayat sunate hain unake baare mein bahut achchha sochate hain lekin kaheen na kaheen aapake man mein 5050 aisa hone lagata hai insaan baar-baar usaka kamplen karata hai ya phir ham hee kuchh galat usake baare mein soch rahe hain aisa kaheen na kaheen kisee bhee insaan kee imej par baat aa jaatee hai ki shikaayat kar rahe hain itane saare log agar kar rahe to kya sach mein vah insaan hee galat hai aur main hee sahee soch raha hoon ya phir shaayad main galat aisa 5050 taip ka aapake man mein jo savaal aane lagata hai ki yah sahee hai ya galat hai to koee bhee insaan jab kanteenyooasalee aapake saamane kisee bhee cheej ke baare mein bolata to kaheen aapaka to dimaag hai vah jyaada ripeet hone ke baad jab baar-baar mujhe hota to kaheen na kaheen vah eksept karane lagata hai ab dekhega brenavaash kaise hota hai aapake dimaag mein itana vah cheej daala jaata hai itana daala jaata hai ki aap us cheej ko bahut tarah se eksept kar lete hain aur usake aage kuchh sunenge nahin to usee tarah se baar baar bhee koee agar aapake saamane kisee ka shikaayat karata to kaheen na kaheen kitana hai aap us insaan ke baare mein achchha soch rahe ho lekin kaheen na ki aapake man mein thoda sankoch hota hai ki nahin sahee hai ya nahin hai aise log agar bol rahe hain to shaayad vah insaan galat bhee ho sakata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Life coach
2:59
आपको प्रश्न है बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरीके से प्रभावित करता है तो हो सकता है कि आप अपने काम में पड़ सकते हैं ठीक है लेकिन हो सकता है कोई आया और आपको बुरा बुरा बोलने लगा कि तुम्हारी वजह से यह हो गया तुम्हारी वजह से हो गई है वह तुम्हें सुना नहीं लगा दूसरा या फिर वह भी तुम्हें ब्लेम करना शुरू कर दिया तीसरा है वह भी तुम्हें हॉट करना शुरू कर दिया इससे क्या हो रहा है कहीं ना कहीं आप अपने अंदर लव नहीं दे पा रहे हैं और वही चीज यह हो रहा है कि पूरी ब्लेमिंग मोड ओपन हो गई है चारों तरफ से आप पर अटैक हो रहे हैं आपके अंदर की दुनिया इस तरीके से हिल गई है कि बाहर उस इसका पूरा रिफ्लेक्शन नजर आ रहा है तो आप अंदर से उदास हैं और अंदर शिवलिंग खुद को कर रहे हैं यह भी किसी और को कर रहे हैं जो भी है वह सब रिफ्लेक्शन आपको बाहर आपकी आंखों के सामने नजर आएगा क्योंकि अंदर की दुनिया ही हमारी बाहर कर फ्लेक्शन होती है ठीक है अब क्या होगा आप उदास हो गए हैं सामने वाले को बोल दिया तो बोल दिया उसके बारे में सोच सोच कर आपकी वाइब्रेशन लो होने लगी कैटरीना अगर हम अच्छा सोचेंगे अच्छा बोलेंगे तो मारी वाइब्रेशन आई होगी लेकिन अगर हम वही चीज को बार बार सोचेंगे कि हमें ब्लेम किया गया हमें हॉट किया गया यह है वह थमाई वाइब्रेशन लो हो जाएगी फिर क्या होगा अगर हम उनकी शिकायत फिर किसी और के साथ करेंगे तो वह दोनों के साथ हमारी एनर्जी मिक्स हो गई सामने वाले ही नहीं सुनना हां हां किया वह भी सुन रहा उसके साथ ही वह एनर्जी क्रिएट हुई वह भी अपनी तरफ से बोले तो सही बात है जो तू कह रही है यह कह रहा है सही है आप भी बता रहे हैं उनकी शिकायतें जो आपके साथ हुआ तो वहां क्या हुआ जो भी वाइब्रेशन और लो हो गई और आपके सबकॉन्शियस माइंड में पूरी तरीके से नेगेटिविटी बैठ गई और जो भी रिकॉर्ड रिकॉर्डिंग मोड तो वैसे ही ओपन रहता है ना तो वह बिल्कुल भर गया और आपकी वाइब्रेशन एकदम लो हो गई जैसे ही भविष्य एकदम लो होगी उसके साथ फिर आप बिल्कुल लो होना शुरू करेंगे जैसे ही आप बहुत ज्यादा लोग हो जाएंगे आपका किसी काम में मन नहीं लगेगा आप उदास रहेंगे और हर छोटी बात में गुस्सा करेंगे हर छोटी छोटी बात नहीं हुआ जाएगा हर छोटी छोटी चीजों में आप भीम करना शुरू कर देंगे तो आपकी बॉडी परफेक्ट पड़ने लगेगा आपकी बॉडी सही टाइम में खाना नहीं खाएंगे गुस्सा करेंगे आपके रिलेशनशिप खराब होंगे तो यही होता है कि हमारी हमारे अंदर की दुनिया भी खराब होती हमारी बाहर की दुनिया भी खराब होती है ठीक है हमारा मन भी खराब होता है दिमाग भी खराब होता है तो यह सारी इफेक्ट पढ़ते हैं अगर हम हर एक चीज में शिकायतें करना शुरू कर का गरम जागरुक है तो हम देख पाएंगे कि हम खुद को कहां-कहां हर्ट कर रहे हैं जहां जहां खुद को हर्ट करें वहां वहां खुद को लाभ दें ताकि आपके अंदर की दुनिया अच्छी हो तो बाहर कितनी अच्छी हो
Aapako prashn hai baar-baar kis cheej kee shikaayat karana hamen kis tareeke se prabhaavit karata hai to ho sakata hai ki aap apane kaam mein pad sakate hain theek hai lekin ho sakata hai koee aaya aur aapako bura bura bolane laga ki tumhaaree vajah se yah ho gaya tumhaaree vajah se ho gaee hai vah tumhen suna nahin laga doosara ya phir vah bhee tumhen blem karana shuroo kar diya teesara hai vah bhee tumhen hot karana shuroo kar diya isase kya ho raha hai kaheen na kaheen aap apane andar lav nahin de pa rahe hain aur vahee cheej yah ho raha hai ki pooree bleming mod opan ho gaee hai chaaron taraph se aap par ataik ho rahe hain aapake andar kee duniya is tareeke se hil gaee hai ki baahar us isaka poora riphlekshan najar aa raha hai to aap andar se udaas hain aur andar shivaling khud ko kar rahe hain yah bhee kisee aur ko kar rahe hain jo bhee hai vah sab riphlekshan aapako baahar aapakee aankhon ke saamane najar aaega kyonki andar kee duniya hee hamaaree baahar kar phlekshan hotee hai theek hai ab kya hoga aap udaas ho gae hain saamane vaale ko bol diya to bol diya usake baare mein soch soch kar aapakee vaibreshan lo hone lagee kaitareena agar ham achchha sochenge achchha bolenge to maaree vaibreshan aaee hogee lekin agar ham vahee cheej ko baar baar sochenge ki hamen blem kiya gaya hamen hot kiya gaya yah hai vah thamaee vaibreshan lo ho jaegee phir kya hoga agar ham unakee shikaayat phir kisee aur ke saath karenge to vah donon ke saath hamaaree enarjee miks ho gaee saamane vaale hee nahin sunana haan haan kiya vah bhee sun raha usake saath hee vah enarjee kriet huee vah bhee apanee taraph se bole to sahee baat hai jo too kah rahee hai yah kah raha hai sahee hai aap bhee bata rahe hain unakee shikaayaten jo aapake saath hua to vahaan kya hua jo bhee vaibreshan aur lo ho gaee aur aapake sabakonshiyas maind mein pooree tareeke se negetivitee baith gaee aur jo bhee rikord rikording mod to vaise hee opan rahata hai na to vah bilkul bhar gaya aur aapakee vaibreshan ekadam lo ho gaee jaise hee bhavishy ekadam lo hogee usake saath phir aap bilkul lo hona shuroo karenge jaise hee aap bahut jyaada log ho jaenge aapaka kisee kaam mein man nahin lagega aap udaas rahenge aur har chhotee baat mein gussa karenge har chhotee chhotee baat nahin hua jaega har chhotee chhotee cheejon mein aap bheem karana shuroo kar denge to aapakee bodee paraphekt padane lagega aapakee bodee sahee taim mein khaana nahin khaenge gussa karenge aapake rileshanaship kharaab honge to yahee hota hai ki hamaaree hamaare andar kee duniya bhee kharaab hotee hamaaree baahar kee duniya bhee kharaab hotee hai theek hai hamaara man bhee kharaab hota hai dimaag bhee kharaab hota hai to yah saaree iphekt padhate hain agar ham har ek cheej mein shikaayaten karana shuroo kar ka garam jaagaruk hai to ham dekh paenge ki ham khud ko kahaan-kahaan hart kar rahe hain jahaan jahaan khud ko hart karen vahaan vahaan khud ko laabh den taaki aapake andar kee duniya achchhee ho to baahar kitanee achchhee ho

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:01
नमस्ते आप का सवाल है बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें प्रभावित करता है लेकिन बार-बार आप अगर आप यह शिकार करने कि आपको पैसे की कमी है आपको कुछ प्रॉब्लम है तो यह आपकी लाइफ को बहुत ज्यादा प्रभावित कर सकते क्योंकि आप जैसा पॉजिटिव एंड नेगेटिव परमिशन देते यूनिवर्सल वैसा ही आपको मिलता है तो यह सही है कि कभी-कभी हम बहुत ज्यादा टेंशन में रहते हैं डिप्रेशन रहते हैं तो कभी कोई चीज है निकल जाती है लेकिन लेकिन हमें जहां तक हो सके कोशिश करनी चाहिए कि क्वॉलिटी बाद ही निकले समय खराब भी चल रहा हूं थोड़ा स्ट्रगल भी चल रहा हो तो भी बोलिए यहां सही होगा अच्छा टाइम लगेगा अच्छा होगा तू कोशिश कीजिए पॉजिटिव वर्ड के साथ यूनिवर्स में मैसेज भेजने का से आपके लिए अच्छा होगा और आपके सराउंडिंग में भी
Namaste aap ka savaal hai baar-baar kis cheej kee shikaayat karana hamen prabhaavit karata hai lekin baar-baar aap agar aap yah shikaar karane ki aapako paise kee kamee hai aapako kuchh problam hai to yah aapakee laiph ko bahut jyaada prabhaavit kar sakate kyonki aap jaisa pojitiv end negetiv paramishan dete yoonivarsal vaisa hee aapako milata hai to yah sahee hai ki kabhee-kabhee ham bahut jyaada tenshan mein rahate hain dipreshan rahate hain to kabhee koee cheej hai nikal jaatee hai lekin lekin hamen jahaan tak ho sake koshish karanee chaahie ki kvolitee baad hee nikale samay kharaab bhee chal raha hoon thoda stragal bhee chal raha ho to bhee bolie yahaan sahee hoga achchha taim lagega achchha hoga too koshish keejie pojitiv vard ke saath yoonivars mein maisej bhejane ka se aapake lie achchha hoga aur aapake saraunding mein bhee

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:10
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से विरोध करना मालिनी एक ही आपको किसी बच्चे को उठा लीजिए और उसके बार-बार शिकायत करते हैं उसके मां-बाप से धीरे-धीरे आपके और कोई भी चीज हो उसके ऊपर डांस कभी नहीं जानती है जब एक या दो बार रस की शिकायतें हो और बारंबार अगर किसी कहते हो कि निश्चित तौर पर उसकी भी खत्म हो जाएगी और इस बात को तो आपको देखना पड़ेगा और जहां तक आपने किसी की याद करना चाहते हैं क्या कहना चाहते हैं वह तो देखने की शिकायत करने से निश्चित तौर पर उसकी वैल्यू खत्म होने लगती है और खास करके जब बार-बार शिकायत की जाती है और जाना
Baar-baar kis cheej kee shikaayat karana hamen kis tarah se virodh karana maalinee ek hee aapako kisee bachche ko utha leejie aur usake baar-baar shikaayat karate hain usake maan-baap se dheere-dheere aapake aur koee bhee cheej ho usake oopar daans kabhee nahin jaanatee hai jab ek ya do baar ras kee shikaayaten ho aur baarambaar agar kisee kahate ho ki nishchit taur par usakee bhee khatm ho jaegee aur is baat ko to aapako dekhana padega aur jahaan tak aapane kisee kee yaad karana chaahate hain kya kahana chaahate hain vah to dekhane kee shikaayat karane se nishchit taur par usakee vailyoo khatm hone lagatee hai aur khaas karake jab baar-baar shikaayat kee jaatee hai aur jaana

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:59
आपका प्रश्न बार-बार किस चीज की शिकायतकर्ता ने किस तरह से प्रभावित करता है जब हम किसी चीज की शिकायत करते हैं इसका मतलब हमारे अंदर बिल्कुल पसंद नहीं है क्या मुझ चीज को आप जरूर करके उसका स्वयं निस्तारण कर सके हर समस्या का कोई न कोई समाधान होता है जब हम समाधान स्वयं ने निकाल दे तो हम दूसरों से उसकी शिकायत करते हैं इसलिए हर समस्या का समाधान आपके अंदर निकालने की क्षमता नहीं है तो यह मान कर के चली है कि आप बहुत कमजोर हैं और जवाब कमजोर है तो आप किसी कार्य को करने के लिए सक्षम नहीं होंगे और आपका जो मानसिकता का जो दुष्प्रभाव है दूसरे लोग तैयारी कुछ करना नहीं चाहता हर आदमी की चुगली करता रहता है शिकायत करता रहता है तो उसको फिर वह व्यक्ति आपको अच्छी निगाह से कोई देखेगा नहीं इसलिए अपने अंदर थोड़ा सा विनम्रता लाई है और बार-बार शिकायत करने की प्रवृत्ति को छोड़िए
Aapaka prashn baar-baar kis cheej kee shikaayatakarta ne kis tarah se prabhaavit karata hai jab ham kisee cheej kee shikaayat karate hain isaka matalab hamaare andar bilkul pasand nahin hai kya mujh cheej ko aap jaroor karake usaka svayan nistaaran kar sake har samasya ka koee na koee samaadhaan hota hai jab ham samaadhaan svayan ne nikaal de to ham doosaron se usakee shikaayat karate hain isalie har samasya ka samaadhaan aapake andar nikaalane kee kshamata nahin hai to yah maan kar ke chalee hai ki aap bahut kamajor hain aur javaab kamajor hai to aap kisee kaary ko karane ke lie saksham nahin honge aur aapaka jo maanasikata ka jo dushprabhaav hai doosare log taiyaaree kuchh karana nahin chaahata har aadamee kee chugalee karata rahata hai shikaayat karata rahata hai to usako phir vah vyakti aapako achchhee nigaah se koee dekhega nahin isalie apane andar thoda sa vinamrata laee hai aur baar-baar shikaayat karane kee pravrtti ko chhodie

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:23
नमस्कार जैसा कि आप का क्वेश्चन है बार-बार इस किसी चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है जैसे कि आपका क्वेश्चन है वह क्वेश्चन बहुत अच्छे क्वेश्चन पूछने के लिए धन्यवाद आपको बताना चाहता हूं आप किसी भी चीज से बार बार कंप्लेंट कर रहे हो तो फिर चीज को समझिए आप उसमें पर्व आपके जीवन में डालती है नेगेटिव और पॉजिटिव एक आप तो डिपेंड करता है आप किस रिकॉर्डिंग कर रहे हैं बहुत मैटर करती है नहीं जैसे एक पैरंट्स अपने बच्चों को बार बार यह बोलते हैं कि तू पढ़ना सीख पढ़ना सीख उसके जीवन में एक तरीके की शिकायतें तरीके कंप्लेंट ही हो गई उस पर फोकस कर ठीक है भैया एक स्कूल के टीचर अपने बच्चों की शिकायत उनके पैरंट्स से करते हैं तो यह थी कि उनकी कंप्लेंट हो गई इनके फोकस हुए उनके जीवन में बदलाव करती है तुझे काफी चीज होती है जो हमारे जी हमारे लिए कंप्लेन वगैरा करने से मेरे जीवन को और भाव कर सकती है और प्रभाव से हमें इफेक्ट पॉजिटिव होता है नेगेटिव भी होता है डिपेंड करती स्टेशन की हर फील्ड की अलग-अलग सिचुएशन रहती है इसलिए मैं यहां जाऊंगा डिफरेंट सिचुएशंस धन्यवाद
Namaskaar jaisa ki aap ka kveshchan hai baar-baar is kisee cheej kee shikaayat karana hamen kis tarah se prabhaavit karata hai jaise ki aapaka kveshchan hai vah kveshchan bahut achchhe kveshchan poochhane ke lie dhanyavaad aapako bataana chaahata hoon aap kisee bhee cheej se baar baar kamplent kar rahe ho to phir cheej ko samajhie aap usamen parv aapake jeevan mein daalatee hai negetiv aur pojitiv ek aap to dipend karata hai aap kis rikording kar rahe hain bahut maitar karatee hai nahin jaise ek pairants apane bachchon ko baar baar yah bolate hain ki too padhana seekh padhana seekh usake jeevan mein ek tareeke kee shikaayaten tareeke kamplent hee ho gaee us par phokas kar theek hai bhaiya ek skool ke teechar apane bachchon kee shikaayat unake pairants se karate hain to yah thee ki unakee kamplent ho gaee inake phokas hue unake jeevan mein badalaav karatee hai tujhe kaaphee cheej hotee hai jo hamaare jee hamaare lie kamplen vagaira karane se mere jeevan ko aur bhaav kar sakatee hai aur prabhaav se hamen iphekt pojitiv hota hai negetiv bhee hota hai dipend karatee steshan kee har pheeld kee alag-alag sichueshan rahatee hai isalie main yahaan jaoonga dipharent sichueshans dhanyavaad

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:25
टॉप 10 वाले की बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित कर सकता है गरम एक ही चीज को बार बार दोहरा रहे हैं बार बार इसकी शिकायत करें तो सामने वाला सोचेगा यह तो फालतू में ऐसे ही रोजाना ड्रामा करता रहता है इसलिए हमें एक चीज को बार बार नहीं दोहराना चाहिए
Top 10 vaale kee baar-baar kis cheej kee shikaayat karana hamen kis tarah se prabhaavit kar sakata hai garam ek hee cheej ko baar baar dohara rahe hain baar baar isakee shikaayat karen to saamane vaala sochega yah to phaalatoo mein aise hee rojaana draama karata rahata hai isalie hamen ek cheej ko baar baar nahin doharaana chaahie

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:37
कव्वाली है कि बार-बार किसी चीज का की शिकायत करना में किस तरह से प्रभावित करता है बार-बार जिंदगी में किसी ना किसी चीज को लेकर शिकायत करना नकारात्मकता लाता है हम दुखी रहने लगते हैं ऐसा करने से हम हमेशा कमियां ढूंढने लगते हैं हर चीजों में तो बेहतर होगा शिकायत किसी चीज के लिए शिकायत करने से अच्छा हम उसके लिए मेहनत करें उस चीज को सुधारें खुद को बेहतर बनाएं और कुछ ना कुछ सीखते रहे ऐसे में सकारात्मकता बनी रहेगी और हम किसी चीज के लिए से शिकायत नहीं करेंगे
Kavvaalee hai ki baar-baar kisee cheej ka kee shikaayat karana mein kis tarah se prabhaavit karata hai baar-baar jindagee mein kisee na kisee cheej ko lekar shikaayat karana nakaaraatmakata laata hai ham dukhee rahane lagate hain aisa karane se ham hamesha kamiyaan dhoondhane lagate hain har cheejon mein to behatar hoga shikaayat kisee cheej ke lie shikaayat karane se achchha ham usake lie mehanat karen us cheej ko sudhaaren khud ko behatar banaen aur kuchh na kuchh seekhate rahe aise mein sakaaraatmakata banee rahegee aur ham kisee cheej ke lie se shikaayat nahin karenge

bolkar speaker
बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है?Baar Baar Kis Cheej Kee Shikayat Karaa Hume Kis Tarah Se Prabhavit Karta Hai
Trainer Yogi Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trainer जी का जवाब
Motivational Speaker | Career Coach | Corporate Trainer | Marketing & Management Expert's. Follow Us YouTube channel : https://www.youtube.com/channel/UCKY3o0Bey-4L8mWF9hyTRdQ
1:09

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बार-बार किस चीज की शिकायत करना हमें किस तरह से प्रभावित करता है किस चीज की शिकायत करना हमें प्रभावित करता है
URL copied to clipboard