#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
यह एक अनुरोध क्वेश्चन है मैं प्रश्न करता का नाम नहीं बता रही हूं क्योंकि इन्होंने कुछ पर्सनल टॉपिक निजी जानकारी के ऊपर पूछा है कि जो है कि जब लोग उसे किसी लड़की की जासूसी की पीछे लगा देते हैं तो वह इंसान क्या करें लोग इतने फालतू है यह सब जो उन्होंने पूछा है तो यह आपने बड़ी चीज तो आपने जो प्रश्न करता है आपने क्वेश्चन जो है जिस संदर्भ में पूछा है वह आप सही से आपको खुशी व्यक्त नहीं कर पा रहा है क्योंकि मुझे नहीं समझ में आ रहा है कि वह इंसान आपको अपने अपने ऊपर पूछा है आपने किसी थर्ड पर्सन के ऊपर पूछा है ठीक है रही बात लड़की के पीछे जासूसी करने के लिए तो देखेंगे तो मानसिकता पर निर्भर करता है बहुत से ऐसे घर होते हैं जिनमें आज भी जो हमारे बड़े बुजुर्ग होते हैं उनमें रूढ़िवादी सोच होती है कहीं ना कहीं वह अपनी जगह जो सोचते हैं जो भी होता है क्योंकि वह उसी पर वरिष्ठ से निकली हो तो उन्होंने वैसे माहौल देखा होता है उन्होंने वह रूढ़िवादी सोच लिया होता है अपने बचपन में अपने चाइल्डहुड में बट आजकल लाइफ में पहले की लाइफ में बहुत ज्यादा डिफरेंस है पहले कंप्यूटर है या पहले हम लैपटॉप या पहले फोन का हमें नाम भी नहीं सुना होता है बेटा क्योंकि बच्चे छोटे-छोटे बच्चे पढ़ते हैं यूट्यूब पर है वह सब जानते हैं तो पहले की लाइफ में आज क्लास में जमीन आसमान का अंतर है पहली चीज दो और दूसरी चीज लेकिन यह इंसान की सोच पर निर्भर करता है अगर लड़की के पीछे जाए उसके लिए जासूसी के लिए लगा रहे हैं तो वह लड़की से पहले से तो आप का क्या संबंध है उस इंसान का क्या संबंध है अगर वह आपकी वाइफ है अब आपकी बहन है क्या वह भी है अक्सर गेट कौन सी पसंद है आपके रिलेटिव में आती है तो पहले से तो यह करना गलत है ठीक है अगर कोई भी बात को लेकर किसी भी चीज को लेकर किसी भी इंसान को इंसान आपको जासूसी के लिए कह रहा है या रूम पर किस दूसरे पर्सन को जासूसी के लिए कह रहा है तू उस बजे को जानती आप डायरेक्टली उस इंसान से पूछ लेना कि उसके पीछे जब छुट्टी करके या फिर जो है इन सबको देखकर इतना सब कुछ करके आप बैटिंग उस इंसान से बात करें उस टॉपिक को लेकर जिस टॉपिक हो जैसे आपको जासूसी करनी पड़ रही है फर्स्ट और सेकंड चीज है कि आपने प्रकोष्ठ में यह भी लिखा कि बहुत से लोग के शादी को सुमन मानते तो देखेगी मानसिकता पर निर्भर करता है जिसकी जैसी मानसिकता होती है वह वैसे ही सोचता है तो किसी दूसरे की सोच को आप खुद की खुद दुखी मत होइए और उस इंसान से बात करी लड़की का अपने भूख लगी है उससे अब बैटरी बात करिए या जिस इंसान के ऊपर आपने क्वेश्चन पूछा है वह नकली उस इंसान से बात करें ताकि आपको जासूसी ना करनी पड़े
Yah ek anurodh kveshchan hai main prashn karata ka naam nahin bata rahee hoon kyonki inhonne kuchh parsanal topik nijee jaanakaaree ke oopar poochha hai ki jo hai ki jab log use kisee ladakee kee jaasoosee kee peechhe laga dete hain to vah insaan kya karen log itane phaalatoo hai yah sab jo unhonne poochha hai to yah aapane badee cheej to aapane jo prashn karata hai aapane kveshchan jo hai jis sandarbh mein poochha hai vah aap sahee se aapako khushee vyakt nahin kar pa raha hai kyonki mujhe nahin samajh mein aa raha hai ki vah insaan aapako apane apane oopar poochha hai aapane kisee thard parsan ke oopar poochha hai theek hai rahee baat ladakee ke peechhe jaasoosee karane ke lie to dekhenge to maanasikata par nirbhar karata hai bahut se aise ghar hote hain jinamen aaj bhee jo hamaare bade bujurg hote hain unamen roodhivaadee soch hotee hai kaheen na kaheen vah apanee jagah jo sochate hain jo bhee hota hai kyonki vah usee par varishth se nikalee ho to unhonne vaise maahaul dekha hota hai unhonne vah roodhivaadee soch liya hota hai apane bachapan mein apane chaildahud mein bat aajakal laiph mein pahale kee laiph mein bahut jyaada dipharens hai pahale kampyootar hai ya pahale ham laipatop ya pahale phon ka hamen naam bhee nahin suna hota hai beta kyonki bachche chhote-chhote bachche padhate hain yootyoob par hai vah sab jaanate hain to pahale kee laiph mein aaj klaas mein jameen aasamaan ka antar hai pahalee cheej do aur doosaree cheej lekin yah insaan kee soch par nirbhar karata hai agar ladakee ke peechhe jae usake lie jaasoosee ke lie laga rahe hain to vah ladakee se pahale se to aap ka kya sambandh hai us insaan ka kya sambandh hai agar vah aapakee vaiph hai ab aapakee bahan hai kya vah bhee hai aksar get kaun see pasand hai aapake riletiv mein aatee hai to pahale se to yah karana galat hai theek hai agar koee bhee baat ko lekar kisee bhee cheej ko lekar kisee bhee insaan ko insaan aapako jaasoosee ke lie kah raha hai ya room par kis doosare parsan ko jaasoosee ke lie kah raha hai too us baje ko jaanatee aap daayarektalee us insaan se poochh lena ki usake peechhe jab chhuttee karake ya phir jo hai in sabako dekhakar itana sab kuchh karake aap baiting us insaan se baat karen us topik ko lekar jis topik ho jaise aapako jaasoosee karanee pad rahee hai pharst aur sekand cheej hai ki aapane prakoshth mein yah bhee likha ki bahut se log ke shaadee ko suman maanate to dekhegee maanasikata par nirbhar karata hai jisakee jaisee maanasikata hotee hai vah vaise hee sochata hai to kisee doosare kee soch ko aap khud kee khud dukhee mat hoie aur us insaan se baat karee ladakee ka apane bhookh lagee hai usase ab baitaree baat karie ya jis insaan ke oopar aapane kveshchan poochha hai vah nakalee us insaan se baat karen taaki aapako jaasoosee na karanee pade

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard