#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?

Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
5:17

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:23

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
1:36

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Jeet Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Jeet जी का जवाब
Unknown
2:27

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
N. A. tuition centre Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए N. जी का जवाब
Teaching
1:44

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:17

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:49

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
10:00

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
himanshu bansal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए himanshu जी का जवाब
Influencer, trainer,motivate speaker
2:57

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
2:21

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:36

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
0:34

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
vivekanand kashyap Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vivekanand जी का जवाब
Unknown
0:28

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:15
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या सी मूर्ति के रूप में आया उसकी प्रतिमा को ले करके हम एक भावना धारण कर लेते हैं कि हां भैया ऐसे होंगे और इस तरह भगवान शंकर का काम करते हैं कि पार्वती जी हम उनके साथ उनकी पुत्री है कि विद्या मंदिर के अंदर जाना और भी कई चीजों पर रखता है हम दर्शन तो नहीं कर लेते हैं लेकिन हमने ऐसा लगता है कि जो धारा है कि जो है तो उसे हम सगुण भक्ति धारा के पानी में विदेशी निवेश को मन को शांत करने के लिए कहीं पर बैठ कर के जानती थी उसको पसंद किया जा सकता है तो नहीं लगती परंपराओं में मान्यता में अंतर निर्भय आराम से बैठ कर के मन को एकाग्र चित्त करके मन को किसी बिंदु पर केंद्र बंद करके उसको राम भगवान का स्वरूप मानकर कैसे लेकिन कहते हैं कि हमारा भगवान मिशन के रूप में इंसान के बीच में पशु के बीच में कहीं गए जबकि साउंड वाले किसी न किसी से मांग के चलते हैं और उनके उनके और वह सब विसरू मानते हैं

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
4:18
आपका प्रश्न है कि सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है देखिए भारतीय सनातन संस्कृति में दोनों ही विचारधारा को मानने वाले अनेकों महान साधु संत और महापुरुष हुए सगुण भक्ति परंपरा से आशय है जो लोग मूर्ति पूजा में विश्वास करते हैं जैसे भगवान कृष्ण को मारना भगवान राम को मानना बुद्ध को मानना महादेव को मानना तो इन सबको शगुन परंपरा वाले यह मानते हैं कि वास्तव में भगवान कृष्ण भगवान राम हैं भगवान महादेव हैं जबकि निर्गुण भक्ति परंपरा वाले मानते हैं कि कोई अदृश्य शक्ति है जो इस सारे ब्रह्मांड को संचालित करती है और वह उस अदृश्य शक्ति की उपासना करते हैं आराधना करते हैं दोनों ही भक्ति परंपरा को मानने वालों की अपने-अपने तर्क हैं अपने-अपने मत हैं लेकिन दोनों ही परंपराओं को मानने वाले अपने अपने विचारधारा से अपने अपने स्तर को को प्रस्तुत करते हुए अपनी अपनी श्रद्धा विश्वास रखते हुए अपनी अपनी परंपराओं का निर्वहन करते हैं अगर बहुतायत में देखा जाए तो सगुण भक्ति के परंपरा को मानने वाले लोग ज्यादा है और निर्गुण भक्ति परंपरा को मानने वाले अपेक्षाकृत कम है लेकिन हम दोनों ही परंपराओं का सम्मान करते हैं आदर करते हैं और अपनी-अपनी आस्था अनुसार दोनों की अपनी-अपनी भक्ति परंपराओं को मारने का पूरा उनको अधिकार है मुख्य रूप से चित्रकूट और निर्गुण भक्ति परंपरा में यही अंतर है उम्मीद करता हूं मेरे उत्तर से आप सहमत होंगे और सही से समझ गए होंगे सभी अपना अपना ध्यान रखें कोरोनावायरस मारी से बचाव के लिए मात्र पहन के रखें सामाजिक दूरी बनाए रखें अनावश्यक रूप से भीड़ का हिस्सा ना बने क्योंकि आपका जीवन आपके अपनों के लिए आपके परिवार को आपके चाहने वालों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है अमूल्य है इसकी रक्षा करें सावधानी रखें और जितना उतना लोगों से दूरी बनाए रखें अपने हाथ धोते रहें साबुन से सैनिटाइज करते रहें यही मेरा आप सब से निवेदन है धन्यवाद

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Ashok Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए Ashok जी का जवाब
कृषक👳💦
0:55
निर्गुण भक्ति का मतलब है उसे निराकार निर्विकार ईश्वर की पूजा करना जो की जन्म और मृत्यु से भी परे हैं ज्ञान से भी परे है जिसे लोग हैं शिवलिंग के रोज रूप में भी पूछते हैं जो जो तेरी बिंदु है जो परमधाम का रहने वाला है तो जिसमें आत्मा निर्विकार हो जाती है तो निर्विकार ही लोग निरंकार निर्विकार ईश्वर को वास्ते और शगुन का अर्थ है जैसे सतोगुण ब्रह्मा और रजोगुण विष्णु और तमोगुण शंकर जो इन तीन बड़े से बड़े देवताओं की उपासना करते हैं यह सगुण भक्ति है जो कि साकार रूप में जिनके जन्म और मृत्यु होते हैं यह सगुण भक्ति है धन्यवाद

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Divya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Divya जी का जवाब
Unknown
0:59
सवाल है शगुन और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है तू देगी सबसे पहले हम सगुण भक्ति को लेते हैं तो सगुण भक्ति के अनुसार ईश्वर का शरीर होता है लेकिन निर्गुण भक्ति के अनुसार ऐसा कुछ नहीं होता है दोस्तों सगुण भक्ति करते हैं मैं किसी ना किसी शरीर धारी इंसान को ईश्वर मानते हैं अर्थात थम मूर्ति भी कह सकते हैं और उसी की पूजा करते हैं जैसे रामकृष्ण से इन सभी का एक समय था लेकिन निर्गुण निर्गुण भक्ति में ईश्वर को कोई भी शरीर नहीं होता उन्हें आदेश अनंत कहा जाता है जिसका ना कोई प्रारंभ हो और ना ही कोई अंतर नहीं है उन्हें उन्हें लगता है कि भगवान

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक:
1:34
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है सदैव भक्ति हो या निर्गुण भक्ति हो इन दोनों में जब अंदर है वह देखिए इनका अंतर में ही समाया हुआ है या इनका अर्थ जो है वह इनमें ही समाया हुआ है जिसे शगुन का देखिए गुणों सहित जो आकार है अलग गुणों सहित ठीक है फिर निर्गुण है * विरहित तो यह दिन का अर्थ हुआ और सगुण भक्ति व होती है जिसमें सहकारी की भक्ति सगुण भक्ति कहलाती है जो माया की भक्ति है और निर्गुण भक्ति निरंकारी की भक्ति निर्गुण भक्ति कहलाती है जो ब्रह्म की भक्ति है सब में विशेष बात यह दोनों भक्त या परमात्मा की भक्ति समझकर दुनिया के लोग भक्ति कर रहे हैं लेकिन यह दोनों परमात्मा की भक्ति नहीं है सगुण भक्ति का फल मृत्यु पश्चात तीन लोक 14 भवन में मिलता है जो कि काल के मुख्य में है और निर्गुण भक्ति का फल मृत्यु पश्चात 3 ब्रह्मा के 13 लोग में मिलता है जो कि काल के मुख्य में ही है क्योंकि पारब्रह्म स्वयं महाकाल है तो यह सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा का आशय है धन्यवाद

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:44
संस्कृति परंपरा से क्या आशाएं लिखिए इसका एक और क्वेश्चन भी पहले ही था तो उन दोनों का अंतर सेम ही है उसे आपको पहले भी बताया कि निर्गुण और सगुण भक्ति में अंतर निर्गुण भक्ति में ईश्वर कोई आकार नहीं होता पर सगुण भक्ति में ईश्वर का एक आकार होता है निर्गुण भक्ति जो इंसान करता है वह यह मानता है कि ईश्वर का कोई आकार नहीं हो सकती इस प्रकार मनाया गया है उनकी मूर्ति पूजा पर भी विशेष ध्यान दिया गया है बल्कि निर्गुण भक्ति में ऐसा कुछ भी नहीं है और निर्गुण भक्ति के अनुसार लेकिन सगुण भक्ति के अनुसार ईश्वर एक है किंतु उसके रूप अनेक है धन्यवाद

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:28

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Yogi Prashant Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Yogi जी का जवाब
Businessman
2:59

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
0:48

bolkar speaker
सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा से क्या आशय है?Sagun Aur Nirgun Bhakti Parampara Se Kya Ashya Hai
Rahul kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:49

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सगुण और निर्गुण भक्ति परंपरा,निर्गुण और सगुण भक्ति में अंतर,सगुण और निर्गुण
URL copied to clipboard