#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?

Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
1:12

और जवाब सुनें

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Jeet Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Jeet जी का जवाब
Unknown
7:57

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
2:13

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
ashok pandit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ashok जी का जवाब
Godly service
1:42

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:53

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:25

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Gyanendra Rai. Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gyanendra जी का जवाब
Student
2:58

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:20
यह है कि राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग क्वेश्चन दिया था राजा परीक्षित है पहले कलयुग को जीवन दान देकर उनको पूरी पृथ्वी छोड़ने को कहा था क्योंकि कलयुग ऐसे होते हैं जो झूठ भाग चलिए सब चीजें होती है फ्री टाइम में छाया की कलियों को राजा परीक्षित ने स्थान दे दिया

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
5:27
सवाल यह है कि राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान श्री कृष्ण द्वारा बैकुंठ लोट जाने पर के बाद कलयुग की शुरुआत हुई थी कलयुग मानव के रूप में पृथ्वी पर आया और लीला रच कर पांडवों के वंशज को राजा को छल किया धर्म से बंधे राजा सब जानते हुए भी कलयुग को शरण दी और कुछ ही देर में कलयुग में अपना असली रंग दिखा दिया श्री कृष्ण द्वारा पृथ्वी छोड़ देने के बाद पांडव भी हिमालय के रास्ते पर चले गए इससे पहले पांडवों ने अपना राज्य अभिमन्यु अभिमन्यु और उत्तरा के पुत्र परीक्षित को सौंप दिया था 1 दिन राजा परीक्षित शिकार पर जा रहे थे क्यों नहीं रास्ते में एक व्यक्ति के हाथों में डंडा लिए बैठा बैल और गाय को पीटते हुए देखा उस बैल के बैल के एक पेड़ था और गाय कामधेनु दिख रही थी राजा ने अपना रात रुकवाया आकृति क्रोधित होकर उस व्यक्ति से पूछा तू कौन अधर में है जो निरी ही गाय और बैल पर अत्याचार कर रहा है तेरा सत्य ही ऐसा है कि तुझे मृत्यु दंड मिलना चाहिए राजा परीक्षित की बात सुनकर कलयुग और डर से कांपने लगा इस पर राजा ने बैल से पूछा हे देव आपके तीन पैर कहां है आप बैल है या कोई देवता मैंने कुछ ना कहते हुए भी सब कुछ कह दिया और बैल के वचन सुनकर राजा ने कलयुग का वध करके आ करने के लिए अपनी तरफ तलवार निकाल ली इस पर कलयुग त्राहि-त्राहि करते हुए राजा परीक्षित के पैरों में गिर गया और आधा अपनी शरण में आए हुए व्यक्ति की हत्या नहीं करते थे और तो उन्हें कलयुग को जीवनदान दे दिया राजा परीक्षित बहुत ज्ञानी पीछे स चंद शब्दों से कल के रूप में धर्म और गाय के रूप में धरती मां को पहचान गए थे कलयुग को जीवन दान देने के बाद राजा परीक्षित ने कहा कलयुग तू ही पाप लूट चोरी कपाट और दरिद्रता का कारण तू ही है तू मेरी शरण में आया तो मैं तुझे जीवन दान दिए मैंने तुझे जीवनदान दिया अब मेरे राज्य की सीमाओं से दूर निकल जाए कभी लौट कर मत आना इस पर कलयुग ने गिरे बढ़ाते हुए विनती करने लगा महाराज आपका राज्य तो संपूर्ण पृथ्वी पर है मैं आपकी शरण में आया हूं मुझे रहने का स्थान भी आपकी दीजिए कलयुग की विनती स्वीकार करते हुए राजा परीक्षित ने उसे रहने की के लिए दुआ मदिरा पर स्त्री गमन और हिंसा जैसी चाल जगह दे दी कि राजहंस यह चारों जगह मेरे लिए पर्याप्त नहीं है आप एक और स्थान मुझे दीजिए इस पर राजा ने उसे छोड़ने अर्थात वर्ण में रहने की शिकार के लिए आगे बढ़ गए भूल गए राजस्थान मिलते ही कलयुग तब तो वहां से चला गया लेकिन थोड़ी देर बाद सुषमा रुप में वापस आया और राजा से के मुकुट में बैठ गया शिकार केसर रास्ते में राजा पास लगी तुम्हें समझ ऋषि के पास में चले गए और समस्या में कृषि ध्यान में लीन थे और राजा द्वारा पानी मांगे जाने पर भी उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया ऊपर आजा के मुकुट में बैठी सहयोग ने अपना असर दिखाया और राजा के मन में ऋषि को मृत्युदंड देने का विचार आया किंतु अच्छे संस्कारों के कारण उन्होंने ऐसा करने से खुद को रोक लिया लेकिन कलयुग के बुरे प्रभाव के कारण उनकी मति भ्रष्ट हो गई और उन्होंने मरा हुआ सांप समय किसी के गले में डाल दिया पृथ्वी के किसी मनुष्य पर कलयुग पहला प्रभाव था और उसने सबसे संस्कारी राजा को ही अपना शिकार बना लिया जब सृष्टि के पुत्र स्ट्रंगी स्नान करने और लौटे उन्होंने देखा कि उनके पिता समाधि में बैठे हैं उनके गले में सांप मरा हुआ है यह देखकर बहुत क्रोधित हुए और पता करने गए और उन्हें एक राजा द्वारा ही प्राप्त करने के बारे में पता चला इस बार उन्होंने उन्हें उन्होंने स्टाफ दिया कि अगले 7 दिनों के अंदर राजा की मृत्यु पर तक्षक नाग के डसने से होगी जब समय कृष्ण जी का ध्यान पूरा हुआ और उन्हें इस बारे में पता चला तो उन्होंने राजा के पास सूचना भिजवा दी ताकि वह पूरी सतर्कता बरसे इस पर राजा ने अपने आप को मृत्यु के लिए पूरी तरह तैयार कर लिया और अपने बेटे जन्मेजय का राजतिलक कर उन्हें राज्य पर सौंप दिया फिर सातवें दिन तक्षक के काटने से राजा की मृत्यु हो गई अमेजॉन पिता की मृत्यु का कारण पता चला तो उन्होंने सभी सांपों को मारने के लिए सर पर सत्र यज्ञ किया इस पर सभी ऐसा पाकर हवन कुंड में गिरने लगे हुए तक्षक ने इंद्र के सिंहासन में लपेट लपेट लिया सपेरा ले लिया और फिर आज तक ऋषि को समझाने पर जनमेजय ने अपनाया केरोका पर पृथ्वी पर इतना सक्षम कोई राजा नहीं बचा जो को रोक सके

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
N. A. tuition centre Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए N. जी का जवाब
Teaching
2:06
जैसा कि आप का सवाल है राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दे दिया था राजा परीक्षित कलयुग को मारने वाले थे तो कल विनती करते हुए कहा कि महाराज मुझे अपने प्राणों की मेरे प्राणों की रक्षा कीजिए और मुझे अपने पास स्थान दीजिए तब राजा परीक्षित ने कलयुग की विनती स्वीकार करते हुए उससे कहा और उसे चार जगह रहने के लिए दी जिसमें से पहली थी जुआ दूसरी मदिरा तीसरी पर स्त्री गमन और चौथी हिंसा जैसी चार जगह है उसे उन्होंने कलयुग को दे दी इस पर कलयुग ने विनती की कि हे राजन यह चारों जगह मेरे लिए पर्याप्त नहीं है एक और स्थान मुझे दे दीजिए इस पर राजा ने उसे शो अर्थात स्वर्ग में रहने की अनुमति दे दी और शिकार के लिए आगे बढ़ गए स्थान देते समय राजा यह भूल गए कि उन्होंने सिर्फ पर सोने का ही मुकुट पहना है राजस्थान मिलते ही कलयुग तब तो वहां से चला गया लेकिन थोड़ी देर बाद सूक्ष्म रूप में वापस आया और राजा के मुकुट में बैठ गया शिकार के रास्ते में राजा को प्यास लगी तो वह शमीक ऋषि के आश्रम में चले गए उस समय शमीक ऋषि ध्यान में लीन थे और राजा द्वारा पानी मांगे जाने पर भी उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया इस पर राजा के मुकुट में बैठक कलयुग ने अपना असर दिखाया और राधा के मन में ऋषि को मृत्युदंड देने का विचार है अच्छे संस्कारों के कारण उन्हें ऐसा करने से खुद को रोक लिया लेकिन कलयुग के कारण उनकी मति भ्रष्ट हो गई और उन्होंने एक मरा हुआ सांप तनिक ऋषि के गले में डाल दिया पृथ्वी के किसी मनुष्य पर कलयुग का यह पहला प्रभाव था और उसने सबसे संघ अपना शिकार बनाया धन्यवाद

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
Divya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Divya जी का जवाब
Unknown
0:47
सवाल है राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को फोन दे दिया था तो रोक लो राजा परीक्षित में कलयुग के विनती स्वीकार करते हुए उसे रहने के लिए दुआ में तेरा नाम आए और हिंसा जैसे चार चीजें देखी थी बस किसी कथा के अनुसार इस पर कल यूनिटी के लिए राजन विचारों से कम मेरे लिए पर्याप्त नहीं है ऐसा कहते हुए कहा तो इसके साथ उसने एक और स्थान की मांग की इस वजह से सोना अर्थात स्वयं में रहने की अनुमति दे दी तो सबसे पहले राजा के स्वयंभू खत्म हो गया

bolkar speaker
राजा परीक्षित ने क्या सोचकर कलयुग को स्थान दिया था?Raja Pareekshit Ne Kya Sochkar Kalyug Ko Sthaan Diya The
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
4:58

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • राजा परीक्षित की कथा कलयुग का आगमन, जनमेजय की वंशावली, राजा परीक्षित कौन थे
URL copied to clipboard