#भारत की राजनीति

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:49
सरकार कितना भी अच्छा काम क्यों ना करें लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए हर 5 वर्ष में अवश्य बदल देना चाहिए क्योंकि अगर लोकतंत्र को बचाना है तो 5 वर्ष में बदलना जरूरी ही है सरकार बनती है और लोगों को अगर अबकी बार भी बनाए जाते हैं क्योंकि हमारे देश में कितने प्रधानमंत्री हुए जो कि 3 बार बोल चुके हैं तो जब उन्होंने अच्छा काम किया तभी वह तीन बार प्रधानमंत्री नहीं और मोदी जी ने पहली बार अच्छा काम किया इस वजह से को दूसरी बार भी प्रधानमंत्री बनाया गया और रविवार खुश रखता है कि इस बात को देखकर ही किसानों के अजूबों के जो विरोध प्रदर्शन है या फिर कुछ ऐसे सवाल किया बचाना है तो 5 मिनट बाद प्रकार बदलना जरूरी है कि की अगर सोच होती है फिर सरकार मोदी प्रधानमंत्री जी की बात करें मोदी जी की तरह अच्छा काम किया है तो दूसरों अच्छा ही काम करेंगे लेकिन थोड़ा सा और कुछ भी अगर हमें ना समझ में आया कि हम समझने में कहीं देर हो रहे हैं फिर मैं कुछ समझ नहीं आ रहा इसके बाद हम कोई भी डिसीजन तुरंत नहीं ले सकते हैं और भी गलती हो तो माफ कीजिएगा क्योंकि सवाल के जवाब देती हमारी खुद की जान होती
Sarakaar kitana bhee achchha kaam kyon na karen lokatantr ko bachae rakhane ke lie har 5 varsh mein avashy badal dena chaahie kyonki agar lokatantr ko bachaana hai to 5 varsh mein badalana jarooree hee hai sarakaar banatee hai aur logon ko agar abakee baar bhee banae jaate hain kyonki hamaare desh mein kitane pradhaanamantree hue jo ki 3 baar bol chuke hain to jab unhonne achchha kaam kiya tabhee vah teen baar pradhaanamantree nahin aur modee jee ne pahalee baar achchha kaam kiya is vajah se ko doosaree baar bhee pradhaanamantree banaaya gaya aur ravivaar khush rakhata hai ki is baat ko dekhakar hee kisaanon ke ajoobon ke jo virodh pradarshan hai ya phir kuchh aise savaal kiya bachaana hai to 5 minat baad prakaar badalana jarooree hai ki kee agar soch hotee hai phir sarakaar modee pradhaanamantree jee kee baat karen modee jee kee tarah achchha kaam kiya hai to doosaron achchha hee kaam karenge lekin thoda sa aur kuchh bhee agar hamen na samajh mein aaya ki ham samajhane mein kaheen der ho rahe hain phir main kuchh samajh nahin aa raha isake baad ham koee bhee diseejan turant nahin le sakate hain aur bhee galatee ho to maaph keejiega kyonki savaal ke javaab detee hamaaree khud kee jaan hotee

और जवाब सुनें

RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:43
सरकार कितना भी अच्छा काम कर रहे हैं लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए 5 वर्ष तक उसे ध्यान देना चाहिए आपका प्रश्न तो लोकतंत्र यदि कार्य काम कर रहे हैं दोनों को खतरा में नहीं हो सकता है आपका प्रश्न यही टुडे कि हमें लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए वर्तमान में मोदी सरकार हमारे कार्य कर रहे हैं तो हमें लोकतंत्र को यह खतरा नहीं है यदि शामिल हुए सरकार यदि किसी प्रकार की करनी है हमारे देश की विकास के लिए खतरे हैं तो हमें लोकतंत्र की रक्षा के लिए लोकतंत्र को बनाए रखने के लिए सरकार को बदलने चाहिए ताकि देश में लोकतंत्र की व्यवस्था को वर्तमान संयम रखा जाता है कि नहीं ऐसा नहीं करने पर हुआ है राजतंत्र का रूप ले लेता है और संस्था किसी एक व्यक्ति के हाथ में बार-बार होने के कारण हो सकता को क्यों करता है और अपने देश के विकास में अपना योगदान ना के बराबर देता है यह हमें लगे कि यदि सरकार पोलूशन का काम नहीं कर रहा हो तो हम पांच प्रत्येक 5 वर्ष में उसे जरूर जिसे सरकार को लाना चाहिए क्योंकि लोकतंत्र उन संस्थाओं के द्वारा चुने गए सरकार में जनता हूं कि जो भी कार्य करेगा उसी को हम सुनकर मैं खाना बनाने का काम करेंगे यह लोकतंत्र की परंपरा है
Sarakaar kitana bhee achchha kaam kar rahe hain lokatantr ko bachae rakhane ke lie 5 varsh tak use dhyaan dena chaahie aapaka prashn to lokatantr yadi kaary kaam kar rahe hain donon ko khatara mein nahin ho sakata hai aapaka prashn yahee tude ki hamen lokatantr ko bachae rakhane ke lie vartamaan mein modee sarakaar hamaare kaary kar rahe hain to hamen lokatantr ko yah khatara nahin hai yadi shaamil hue sarakaar yadi kisee prakaar kee karanee hai hamaare desh kee vikaas ke lie khatare hain to hamen lokatantr kee raksha ke lie lokatantr ko banae rakhane ke lie sarakaar ko badalane chaahie taaki desh mein lokatantr kee vyavastha ko vartamaan sanyam rakha jaata hai ki nahin aisa nahin karane par hua hai raajatantr ka roop le leta hai aur sanstha kisee ek vyakti ke haath mein baar-baar hone ke kaaran ho sakata ko kyon karata hai aur apane desh ke vikaas mein apana yogadaan na ke baraabar deta hai yah hamen lage ki yadi sarakaar polooshan ka kaam nahin kar raha ho to ham paanch pratyek 5 varsh mein use jaroor jise sarakaar ko laana chaahie kyonki lokatantr un sansthaon ke dvaara chune gae sarakaar mein janata hoon ki jo bhee kaary karega usee ko ham sunakar main khaana banaane ka kaam karenge yah lokatantr kee parampara hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लोकतंत्र के गुण और दोष , लोकतांत्रिक और गैर-लोकतांत्रिक सरकार में अंतर स्पष्ट कीजिए, लोकतंत्र के लाभ और हानि
URL copied to clipboard