#भारत की राजनीति

Deepak Perwani7017127373 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak जी का जवाब
Job
2:16
प्रश्न है केंद्र द्वारा पास किए हुए किसी बिल को राज्य सरकार लागू करने से रोक सकती है तो दोस्तों वैसे तो केंद्र द्वारा पास के लिए कोई कानून क्या बिल्कुल राज्य सरकारें नहीं रोक सकती यह खुद जो है गृहमंत्री ने ऐलान किया था कि कोई भी कहना अगर केंद्र सरकार की लिस्ट में आता है राज्य सरकार ने उन्हें जो है लागू होने से यह है नहीं रोक सकती लेकिन इसके पीछे एक नियम है एक शर्त है कि वह कानून जो है केंद्र में पूर्ण बहुमत से पास हुआ हो जैसे कि लोकसभा की 500 सीटें हैं तो 500 में से 28 सीटों पर या 260 सीटों पर है 500 भाग 260 सांसदों ने उसको मानव और उसके बाद जब यह विधानसभा में पेश हुआ हो तो उसमें विधायकों की भी पूर्ण बहुमत हो तभी यह जो है केंद्र में और राज्य सरकार में काम करेगा या ने की पूर्ण बहुमत से कोई बिल पास हो तो यही काम करेगा अगर कोई बिल पास होने के बाद अगर कोई सांसद या विधायक उससे समर्थन से वापस लेते हैं अपना तो वहां की वहां उसके हिसाब से जो है वह बिल राज्य सरकार रोक सकती है अब प्रश्न यह है कि महाराष्ट्र सरकार कृषि भी लोगों को क्यों रोक रही है अपने यार लागू होने से तो दोस्तों देखिए यह जो क्लिक तीनों कृषि कानून है यह जो है ध्वनि मतों से पास हुए थे और यह बिल केवल केंद्र पर पास हुआ था और राज्य में पेश होने के बाद यह ध्वनि मतों से भी नहीं पास हुआ था इसीलिए जो है महाराष्ट्र सरकार पर चाहे तो अपना प्रतिबंध लगा सकती है विधान लोकसभा में पूर्ण बहुमत से पास होता तो फिर यह केंद्र की तरफ से जो है केंद्र के जो भी कानून है यह कृषि बिल कोई भी राज्य सरकार देश की नहीं रोक सकती थी तो यह है इसका उत्तर
Prashn hai kendr dvaara paas kie hue kisee bil ko raajy sarakaar laagoo karane se rok sakatee hai to doston vaise to kendr dvaara paas ke lie koee kaanoon kya bilkul raajy sarakaaren nahin rok sakatee yah khud jo hai grhamantree ne ailaan kiya tha ki koee bhee kahana agar kendr sarakaar kee list mein aata hai raajy sarakaar ne unhen jo hai laagoo hone se yah hai nahin rok sakatee lekin isake peechhe ek niyam hai ek shart hai ki vah kaanoon jo hai kendr mein poorn bahumat se paas hua ho jaise ki lokasabha kee 500 seeten hain to 500 mein se 28 seeton par ya 260 seeton par hai 500 bhaag 260 saansadon ne usako maanav aur usake baad jab yah vidhaanasabha mein pesh hua ho to usamen vidhaayakon kee bhee poorn bahumat ho tabhee yah jo hai kendr mein aur raajy sarakaar mein kaam karega ya ne kee poorn bahumat se koee bil paas ho to yahee kaam karega agar koee bil paas hone ke baad agar koee saansad ya vidhaayak usase samarthan se vaapas lete hain apana to vahaan kee vahaan usake hisaab se jo hai vah bil raajy sarakaar rok sakatee hai ab prashn yah hai ki mahaaraashtr sarakaar krshi bhee logon ko kyon rok rahee hai apane yaar laagoo hone se to doston dekhie yah jo klik teenon krshi kaanoon hai yah jo hai dhvani maton se paas hue the aur yah bil keval kendr par paas hua tha aur raajy mein pesh hone ke baad yah dhvani maton se bhee nahin paas hua tha iseelie jo hai mahaaraashtr sarakaar par chaahe to apana pratibandh laga sakatee hai vidhaan lokasabha mein poorn bahumat se paas hota to phir yah kendr kee taraph se jo hai kendr ke jo bhee kaanoon hai yah krshi bil koee bhee raajy sarakaar desh kee nahin rok sakatee thee to yah hai isaka uttar

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • केंद्र द्वारा पास किए हुए किसी बिल को राज्य सरकार लागू करने से रोक सकती है किसी बिल को राज्य सरकार लागू करने से रोक सकती है
URL copied to clipboard