#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या किसी व्यक्ति की नैसर्गिक प्रवृत्ति को बदला जा सकता है?

Kya Kisi Wyakti Ki Naisargik Pravritti Ko Badla Ja Sakta Hain
आचार्य समशेरसिंह यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए आचार्य जी का जवाब
हिन्दी/संस्कृत व्याख्याता और वास्तुविद्
0:44
आपका पश्चिम है क्या किसी व्यक्ति को नैसर्गिक प्रवृत्ति को बदला जा सकता है तो इसमें मेरा उत्तर होगा बिल्कुल नहीं किसी कारणवश किसी अवसर के आधार पर या यह समझिए की परिस्थितियों के अनुरूप कुछ दिनों तक कुछ समय तक उस व्यक्ति को उनके अनुकूल रखा जा सकता है लेकिन अंततः उसकी जो नैसर्गिक पर बढ़ती है वह उजागर हो ही जाती है और वह अपने पूर्व पूर्व के बुर्के नेचर में पूर्व की प्रवृत्ति में लीन हो जाता है और यह निश्चित रूप से होता है
Aapaka pashchim hai kya kisee vyakti ko naisargik pravrtti ko badala ja sakata hai to isamen mera uttar hoga bilkul nahin kisee kaaranavash kisee avasar ke aadhaar par ya yah samajhie kee paristhitiyon ke anuroop kuchh dinon tak kuchh samay tak us vyakti ko unake anukool rakha ja sakata hai lekin antatah usakee jo naisargik par badhatee hai vah ujaagar ho hee jaatee hai aur vah apane poorv poorv ke burke nechar mein poorv kee pravrtti mein leen ho jaata hai aur yah nishchit roop se hota hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या किसी व्यक्ति की नैसर्गिक प्रवृत्ति को बदला जा सकता है?Kya Kisi Wyakti Ki Naisargik Pravritti Ko Badla Ja Sakta Hain
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:29
गुड इवनिंग सवाल यह है कि क्या किसी व्यक्ति को नैसर्गिक प्रवृत्ति को बदला जा सकता है जिंदगी बड़ा मुश्किल काम है नैसर्गिक प्रवृत्ति का मतलब यह नैसर्गिक हुआ जो मतलब उसे विरासत में मिला हुआ है उसे जन्मजात मिला हुआ उसकी नैसर्गिक प्रवृत्ति होती है ईश्वर ने बना कर भेजा है उसी तरह का स्वभाव तो शायद यह बदलता हो किसी को मुझे लगता है अन्यथा यह नैसर्गिक प्रवृत्ति किसी के नहीं बदलती कोई व्यक्ति अगर अच्छे स्वभाव का है मदद देने वाला सवाल है उसका हर किसी से प्रेम करने वाला स्वभाव है नफरत नहीं करने वाला स्वभाव है तो वह चाहकर भी उस अभाव को बदल नहीं सकता है कि प्रगति है उसकी फितरत राशि होती है और जो धोखेबाज टाइपिंग होते हैं लोग जो शादी होते हैं कपटी होते हैं उनकी भी फितरत होती वह चाहे कुछ भी हो जाए उसे बाज नहीं आते हैं वह करेंगे ही करेंगे चाहे कुछ भी हो जाए तो नशे की प्रवृत्ति को बदलना मुझे लगता है कि कठिन काम है अपवाद स्वरूप हो सकता है कि कोई कोई बदल जाता है हमें था यह मुझे लगता है कि बहुत ही कठिन कार्य थैंक यू
Gud ivaning savaal yah hai ki kya kisee vyakti ko naisargik pravrtti ko badala ja sakata hai jindagee bada mushkil kaam hai naisargik pravrtti ka matalab yah naisargik hua jo matalab use viraasat mein mila hua hai use janmajaat mila hua usakee naisargik pravrtti hotee hai eeshvar ne bana kar bheja hai usee tarah ka svabhaav to shaayad yah badalata ho kisee ko mujhe lagata hai anyatha yah naisargik pravrtti kisee ke nahin badalatee koee vyakti agar achchhe svabhaav ka hai madad dene vaala savaal hai usaka har kisee se prem karane vaala svabhaav hai napharat nahin karane vaala svabhaav hai to vah chaahakar bhee us abhaav ko badal nahin sakata hai ki pragati hai usakee phitarat raashi hotee hai aur jo dhokhebaaj taiping hote hain log jo shaadee hote hain kapatee hote hain unakee bhee phitarat hotee vah chaahe kuchh bhee ho jae use baaj nahin aate hain vah karenge hee karenge chaahe kuchh bhee ho jae to nashe kee pravrtti ko badalana mujhe lagata hai ki kathin kaam hai apavaad svaroop ho sakata hai ki koee koee badal jaata hai hamen tha yah mujhe lagata hai ki bahut hee kathin kaary thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • नैसर्गिक का मतलब, नैसर्गिक अधिकार क्या है, नैसर्गिक अधिकार का अर्थ
URL copied to clipboard