#undefined

bolkar speaker

ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?

Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
0:56
नमस्कार सोता ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है तो आपके पूरे शरीर को वैसे डायरेक्टली हम नहीं करता वह आपके दिमाग पर असर डालता है जब आप ज्यादा ही सोचते हैं तो आप के दिमाग पर काफी शोर पड़ता है आपके दिमाग में दर्द होने लग सकता है एक सर दर्द भी हो सकते हैं और जब सर दर्द होता है तो पूरी बॉडी काम करने बंद कर देते क्योंकि जो हमारा ब्रेन है वही हमारे हर पार्ट पर सिग्नल भेजता है कि अब तुम्हें मुंह करना है या अब ऐसे काम करना है तुम प्रेम हमारा पूरा हेड है मतलब वैसे भी वही बताता है बाकी और कंस को और हमारे बॉडी पार्ट्स को कि कब क्या करना है तो अप्रैल में ही आपको दिक्कत है सर दर्द है तो आपके बाकी के काम भी नहीं हो पाएगा बॉडी का और इसी के चलते स्वास्थ्य खराब होने लगता है
Namaskaar sota jyaada sochane se svaasthy par kya prabhaav padata hai to aapake poore shareer ko vaise daayarektalee ham nahin karata vah aapake dimaag par asar daalata hai jab aap jyaada hee sochate hain to aap ke dimaag par kaaphee shor padata hai aapake dimaag mein dard hone lag sakata hai ek sar dard bhee ho sakate hain aur jab sar dard hota hai to pooree bodee kaam karane band kar dete kyonki jo hamaara bren hai vahee hamaare har paart par signal bhejata hai ki ab tumhen munh karana hai ya ab aise kaam karana hai tum prem hamaara poora hed hai matalab vaise bhee vahee bataata hai baakee aur kans ko aur hamaare bodee paarts ko ki kab kya karana hai to aprail mein hee aapako dikkat hai sar dard hai to aapake baakee ke kaam bhee nahin ho paega bodee ka aur isee ke chalate svaasthy kharaab hone lagata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:08
सवाल है ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है देखिए चिंता चिता के समान है मानसिक रोग से बचना है तो किसी भी बात को अधिक ना सोचो और ना किसी बात की चिंता बनाओ कहते हैं चिंता चिता से बढ़कर है मानसिक रोगों से बचना है तो किसी भी बात को सोचने के बजाय उसका हल तलाश पूरी नींद सोने से दिमाग को आराम मिलेगा मानसिक रोग चिकित्सकों का इस बात पर जोर है कि लोग किसी भी बात को लगातार न सूची लगातार सोचने की आदत मौत के मुंह तक ले जा सकती है हर 1 मिनट का हिसाब व्यक्ति भागदौड़ भरी आज की जीवनशैली में सबसे बड़ी और उभरती हुई समस्या है मानसिक तनाव हर किसी के जीवन में अस्थाई रूप से अपने पैर पसार चुका तनाव व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित कर रहा है इसके प्रति जागरूक होने के साथ टेंशन को दूर करना ही ठीक रहेगा धन्यवाद
Savaal hai jyaada sochane se svaasthy par kya prabhaav padata hai dekhie chinta chita ke samaan hai maanasik rog se bachana hai to kisee bhee baat ko adhik na socho aur na kisee baat kee chinta banao kahate hain chinta chita se badhakar hai maanasik rogon se bachana hai to kisee bhee baat ko sochane ke bajaay usaka hal talaash pooree neend sone se dimaag ko aaraam milega maanasik rog chikitsakon ka is baat par jor hai ki log kisee bhee baat ko lagaataar na soochee lagaataar sochane kee aadat maut ke munh tak le ja sakatee hai har 1 minat ka hisaab vyakti bhaagadaud bharee aaj kee jeevanashailee mein sabase badee aur ubharatee huee samasya hai maanasik tanaav har kisee ke jeevan mein asthaee roop se apane pair pasaar chuka tanaav vyakti ke maanasik svaasthy ko buree tarah se prabhaavit kar raha hai isake prati jaagarook hone ke saath tenshan ko door karana hee theek rahega dhanyavaad

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:33
भाई आपने पूछा है कि जो सोचने पर स्वास्थ्य क्या हानिकारक पड़ता है देखो बहुत ज्यादा और कमजोरी हो जाती है बहुत सी चीजें ऐसी होती है जो बता नहीं सकता पर बहुत सारी चीज हो जाती है ज्यादा सोचने के बाद कारण इसके बारे में बताइए और इंसान बहुत परेशान रहता है ना कुछ कर पाता है और ना ही अच्छे पैसे लेगा तो सीधा सोचना नहीं चाहिए यार
Bhaee aapane poochha hai ki jo sochane par svaasthy kya haanikaarak padata hai dekho bahut jyaada aur kamajoree ho jaatee hai bahut see cheejen aisee hotee hai jo bata nahin sakata par bahut saaree cheej ho jaatee hai jyaada sochane ke baad kaaran isake baare mein bataie aur insaan bahut pareshaan rahata hai na kuchh kar paata hai aur na hee achchhe paise lega to seedha sochana nahin chaahie yaar

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:51
कि आपका पर्सनल ज्यादा सोचने से स्वास्थ पर क्या प्रभाव पड़ता है आदि क्षेत्रों से आपको सिर दर्द माइग्रेन उच्च या निम्न रक्तचाप हृदय से जुड़ी समस्याओं का शीघ्र बनाता है सबसे अधिक हार्ड अटैक का प्रमुख कारण मानसिक तनाव में आपका स्वागत विकसित करने के साथ आपकी मुस्कान को चुरा लेता है इससे बचने के लिए तनाव पैदा करने वाले अनावरण कुंवर जीवन से दूर करना जरूरी है दूर रखने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है संकल्प संकल्प ले कि किसी भी तरह की तनु को अपनी जिंदगी में स्थान नहीं देंगे तनु से शरीर को नुकसान होता है हर समय तनाव के बारे में सोचते रहेंगे तो हा हा समस्या का समाधान होने का वजह शरीर को नुकसान होगा
Ki aapaka parsanal jyaada sochane se svaasth par kya prabhaav padata hai aadi kshetron se aapako sir dard maigren uchch ya nimn raktachaap hrday se judee samasyaon ka sheeghr banaata hai sabase adhik haard ataik ka pramukh kaaran maanasik tanaav mein aapaka svaagat vikasit karane ke saath aapakee muskaan ko chura leta hai isase bachane ke lie tanaav paida karane vaale anaavaran kunvar jeevan se door karana jarooree hai door rakhane ke lie logon ko jaagarook kiya ja raha hai sankalp sankalp le ki kisee bhee tarah kee tanu ko apanee jindagee mein sthaan nahin denge tanu se shareer ko nukasaan hota hai har samay tanaav ke baare mein sochate rahenge to ha ha samasya ka samaadhaan hone ka vajah shareer ko nukasaan hoga

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:56
तो आप का सवाल है ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ सकता है तो ज्यादा सोचने से दिमाग के अंदर तनाव बढ़ जाता है तनाव और इंसान बीमार भी हो सकता है यहां तक कि दिल का दौरा भी पड़ सकता है खतरा बढ़ जाता है उसका और शोधकर्ताओं का कहना है तनाव के सोचने की मात्रा बीमार इंसान हो सकता है डॉक्टरों का कहना है कि तनाव शिकायत वाले मरीज इलाज करते समय उसकी सोच के बारे में पता लगाना चाहिए और उसे हृदय रोग भी हो सकता है शोधकर्ताओं के अध्ययन के दौरान 50 से लेकर 50 के बीच की उम्र वाले लोगों को प्रश्न यह बहुत ज्यादा होता है यह जिम में 255 शराब सेवन करना खाना खा बांध का माध्यम से जुड़े प्रश्न भी शामिल है
To aap ka savaal hai jyaada sochane se svaasthy par kya prabhaav pad sakata hai to jyaada sochane se dimaag ke andar tanaav badh jaata hai tanaav aur insaan beemaar bhee ho sakata hai yahaan tak ki dil ka daura bhee pad sakata hai khatara badh jaata hai usaka aur shodhakartaon ka kahana hai tanaav ke sochane kee maatra beemaar insaan ho sakata hai doktaron ka kahana hai ki tanaav shikaayat vaale mareej ilaaj karate samay usakee soch ke baare mein pata lagaana chaahie aur use hrday rog bhee ho sakata hai shodhakartaon ke adhyayan ke dauraan 50 se lekar 50 ke beech kee umr vaale logon ko prashn yah bahut jyaada hota hai yah jim mein 255 sharaab sevan karana khaana kha baandh ka maadhyam se jude prashn bhee shaamil hai

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
0:58
अकबर से ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य जो है ना वह बुरी तरह से भी पड़ता है क्योंकि हमारे हिंदी में एक कहावत है की चिंता चिता समान है मत चिंता जगह कोई भी ज्यादा चिंता करेगा उसका हर प्रकार से नुकसान होगा क्योंकि आशंकाएं जो हैं आदमी के स्वास्थ्य को भी प्रभावित करती है उसने उसकी रचना धर्मिता को प्रभावित करती है इसलिए हमारे हैं मनोरंजन समझना उन्मुक्त था हंसी-खुशी सबसे मिल जुल कर रहना ऐसे संबंधों पर ज्यादा ध्यान दिया गया है आप के नेता को भी इसी क्रम में है एक बूढ़ी औरत माना गया है थैंक यू
Akabar se jyaada sochane se svaasthy par kya prabhaav padata hai jyaada sochane se svaasthy jo hai na vah buree tarah se bhee padata hai kyonki hamaare hindee mein ek kahaavat hai kee chinta chita samaan hai mat chinta jagah koee bhee jyaada chinta karega usaka har prakaar se nukasaan hoga kyonki aashankaen jo hain aadamee ke svaasthy ko bhee prabhaavit karatee hai usane usakee rachana dharmita ko prabhaavit karatee hai isalie hamaare hain manoranjan samajhana unmukt tha hansee-khushee sabase mil jul kar rahana aise sambandhon par jyaada dhyaan diya gaya hai aap ke neta ko bhee isee kram mein hai ek boodhee aurat maana gaya hai thaink yoo

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:48
नमस्कार दोस्तों आपका प्रसन्न है ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है तो दोस्तों आपके सवाल कमजोरी है ज्यादा सोचने से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि अगर हम सीमाओं से बाहर होते हैं तो हमें कंट्रोल नहीं कर पाते हैं क्योंकि हमें ज्यादा सोचना भी नुकसानदायक साबित होता है क्योंकि हमारे दिमाग पर असर डालता है इसलिए हमें ज्यादा नहीं सोचना चाहिए अगर हम ज्यादा सोचते हैं तो हमारे दिमाग की नस से पूछता फटने का बिल्डर रहता है इसलिए अपने दिमाग पर ज्यादा असर नहीं डालना चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka prasann hai jyaada sochane se svaasthy par kya prabhaav padata hai to doston aapake savaal kamajoree hai jyaada sochane se hamaare svaasthy par bura prabhaav padata hai kyonki agar ham seemaon se baahar hote hain to hamen kantrol nahin kar paate hain kyonki hamen jyaada sochana bhee nukasaanadaayak saabit hota hai kyonki hamaare dimaag par asar daalata hai isalie hamen jyaada nahin sochana chaahie agar ham jyaada sochate hain to hamaare dimaag kee nas se poochhata phatane ka bildar rahata hai isalie apane dimaag par jyaada asar nahin daalana chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर प्रभाव
URL copied to clipboard