#भारत की राजनीति

bolkar speaker

क्या किसान आंदोलन में राजनेताओं का साथ लेकर राकेश टिकैत ने बड़ी गलती कर दी है?

Kya Kisan Aandolan Mein Raajnetao Ka Saath Lekar Rakesh Tikait Ne Badi Galti Kar Di Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:56
इसमें कोई दो राय नहीं है कि साथ जो किसान आंदोलन नहीं सकता क्योंकि साल तो देश का भला वाला है कि संदेश का एहसास है हंड्रेड परसेंट सही है लेकिन प्राकृतिक के जैसे योगेंद्र यादव जैसे जो नेता हैं इन नेताओं ने अपना भविष्य बनाने के लिए क्योंकि भविष्य के बनने वाले एमएलए एमपी के चुनाव में यह तुम देख लेना यह आगे जाकर खड़े होंगे अपना भविष्य बना रहे हैं इनकी बातों में आकर के जो भारतीय राजनीतिज्ञों का जो दामन नैनो ने संभाला है या उनके समर्थन को स्वीकार किया है वहां जाकर कि यह किसान आंदोलन सबसे हिंसक बन गया उसका रिजल्ट इन खेतों की चालों का रिजल्ट 26 जनवरी सन 2021 को दिल्ली में दिखाई दिया था यहां तक कि देश के राष्ट्रीय ध्वज का भी अपमान किया गया था अब आप सोचिए कि राष्ट्र भविष्य इन किसान आंदोलन का क्या लेना देना यदि यह किसान ही होते सच्चाई में किसानी होते तो यह राष्ट्रध्वज का अपमान ना करते क्योंकि किसान तो भारत का ही है आकर राष्ट्रध्वज भारत का है देश का है लेकिन इन किसान नेताओं ने किसानों ने जो देश की विभाजन विभाजन चाहने वाली शक्तियां हैं देश को तोड़ने वाली शक्तियां हैं उन लोगों का साथ लेकर कि आज किसानों के प्रति भारतीय जनों की सिंपैथी को एकदम समाप्त कर डाला है
Isamen koee do raay nahin hai ki saath jo kisaan aandolan nahin sakata kyonki saal to desh ka bhala vaala hai ki sandesh ka ehasaas hai handred parasent sahee hai lekin praakrtik ke jaise yogendr yaadav jaise jo neta hain in netaon ne apana bhavishy banaane ke lie kyonki bhavishy ke banane vaale emele emapee ke chunaav mein yah tum dekh lena yah aage jaakar khade honge apana bhavishy bana rahe hain inakee baaton mein aakar ke jo bhaarateey raajaneetigyon ka jo daaman naino ne sambhaala hai ya unake samarthan ko sveekaar kiya hai vahaan jaakar ki yah kisaan aandolan sabase hinsak ban gaya usaka rijalt in kheton kee chaalon ka rijalt 26 janavaree san 2021 ko dillee mein dikhaee diya tha yahaan tak ki desh ke raashtreey dhvaj ka bhee apamaan kiya gaya tha ab aap sochie ki raashtr bhavishy in kisaan aandolan ka kya lena dena yadi yah kisaan hee hote sachchaee mein kisaanee hote to yah raashtradhvaj ka apamaan na karate kyonki kisaan to bhaarat ka hee hai aakar raashtradhvaj bhaarat ka hai desh ka hai lekin in kisaan netaon ne kisaanon ne jo desh kee vibhaajan vibhaajan chaahane vaalee shaktiyaan hain desh ko todane vaalee shaktiyaan hain un logon ka saath lekar ki aaj kisaanon ke prati bhaarateey janon kee simpaithee ko ekadam samaapt kar daala hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या किसान आंदोलन में राजनेताओं का साथ लेकर राकेश टिकैत ने बड़ी गलती कर दी है क्या राकेश टिकैत ने बड़ी गलती कर दी है
URL copied to clipboard