#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?

Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:45
आरा का प्रश्न कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत कर रहे हैं तो आपको बता दें कि देखिए व्यक्ति के जीवन में कठिन समय आता है और ऐसे में व्यक्ति को अपने आप पर काबू रखना होता है अपनी परेशानियों पर काबू रखना होता है आप जितना ज्यादा यहां पर अपने प्रयासों में पोस्ट बेटी रखेंगे साथ ही साथ कहा भी जाता है कि सो सच को हराए एक चुप तो कई बार आपको अपनी सच्चाई का बखान नहीं करना होता आपको सिर्फ चुप रहना होता है और समय आने पर अपने आप लोगों के सामने सच्चाई सामने आ जाती है तो थोड़ा सा धैर्य रखें जीवन में निश्चित रूप से आपको सफलता मिलेगी मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Aara ka prashn kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant kar rahe hain to aapako bata den ki dekhie vyakti ke jeevan mein kathin samay aata hai aur aise mein vyakti ko apane aap par kaaboo rakhana hota hai apanee pareshaaniyon par kaaboo rakhana hota hai aap jitana jyaada yahaan par apane prayaason mein post betee rakhenge saath hee saath kaha bhee jaata hai ki so sach ko harae ek chup to kaee baar aapako apanee sachchaee ka bakhaan nahin karana hota aapako sirph chup rahana hota hai aur samay aane par apane aap logon ke saamane sachchaee saamane aa jaatee hai to thoda sa dhairy rakhen jeevan mein nishchit roop se aapako saphalata milegee main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:31
क्या आपका प्रश्न ही कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें दिखी गहरी सांस लेने का अभ्यास करें यदि पी यह सुझाव आपको अजीब प्रतीत हो रहा होगा पर गहरी सांस लेने का अभ्यास आपके मस्तिष्क को शांत रखने में असर जनक रूप से कारगर है इनका प्रतिदिन अभ्यास करें और तनाव के समय में यह उसे कम करने में मदद करेगा अपने मुंह को बंद कर नाक से गहरी सांस लें
Kya aapaka prashn hee kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen dikhee gaharee saans lene ka abhyaas karen yadi pee yah sujhaav aapako ajeeb prateet ho raha hoga par gaharee saans lene ka abhyaas aapake mastishk ko shaant rakhane mein asar janak roop se kaaragar hai inaka pratidin abhyaas karen aur tanaav ke samay mein yah use kam karane mein madad karega apane munh ko band kar naak se gaharee saans len

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student 🇮🇳🇮🇳🇮🇳 mission Indian Army🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳
0:55
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सवारी कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें करें कि निश्चित तौर पर अपने दिमाग पर घबराने से कोई काम नहीं बन जाता नहीं थी तब आप चाहे जितना कपड़ा ले अपने मन को ही दबदबा हम आएंगे और घबराने से आपका कोई काम नहीं बनेगा इसकी मतलब तुम जरा इसकी आराम से शांति के साथ चुपचाप बैठ कर क्यों उस मतलब जो समझते हो उसका निवारण सोचे और मतलब शांति स्तूप में रहना पसंद करें क्योंकि ज्यादा दूर चलते पूछते रहते हैं जो पिटेंस में आते हैं जो मतलब उसने बोलने से उस समस्या का समाधान नहीं मिलता है और निश्चित तौर पर अगर आप शांत मन से मन से धन और साहस के साथ मिलकर उस कार्य को करते हैं तो निश्चित तौर पर आपको सफलता मिलती तो मैं करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Namaskaar doston kaise hain aap savaaree kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen karen ki nishchit taur par apane dimaag par ghabaraane se koee kaam nahin ban jaata nahin thee tab aap chaahe jitana kapada le apane man ko hee dabadaba ham aaenge aur ghabaraane se aapaka koee kaam nahin banega isakee matalab tum jara isakee aaraam se shaanti ke saath chupachaap baith kar kyon us matalab jo samajhate ho usaka nivaaran soche aur matalab shaanti stoop mein rahana pasand karen kyonki jyaada door chalate poochhate rahate hain jo pitens mein aate hain jo matalab usane bolane se us samasya ka samaadhaan nahin milata hai aur nishchit taur par agar aap shaant man se man se dhan aur saahas ke saath milakar us kaary ko karate hain to nishchit taur par aapako saphalata milatee to main karata hoon savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:48
कंप्लेंट रात में कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें मैं आपको बताना चाहता हूं कठिन समय में अपने दिमाग को शांत रखने का तरीका मैंने खुद अपनाया है इस तरीके को से आप शांत रह सकते हैं जब आप कठिन समय पर हो अगर आपको कुछ समझ नहीं आ रहा हो तो आप एक गहरी सांस लें जैसे आपको तनाव से छुटकारा मिलेगा गहरी सांस मुंह बंद करके एक गहरी सांस लें सांस लेना छोड़ दे और छोरे दो तीन बार ऐसा करें तो आपको कठिन समय में दिमाग अच्छी तरह काम करेगा धन्यवाद
Kamplent raat mein kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen main aapako bataana chaahata hoon kathin samay mein apane dimaag ko shaant rakhane ka tareeka mainne khud apanaaya hai is tareeke ko se aap shaant rah sakate hain jab aap kathin samay par ho agar aapako kuchh samajh nahin aa raha ho to aap ek gaharee saans len jaise aapako tanaav se chhutakaara milega gaharee saans munh band karake ek gaharee saans len saans lena chhod de aur chhore do teen baar aisa karen to aapako kathin samay mein dimaag achchhee tarah kaam karega dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
0:56
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है कि सवाल एक कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें तो मेरा मानना यह है कि अपने दिमाग को शांत करने के लिए हमें मेरी सांस लेने का अभ्यास करना चाहिए तथा गहरी सांस लेने से हमारा दिमाग शांत हो सकता और हमें रोजाना गहरी सांस लेते रहना चाहिए अपने मुंह को बंद करके नाक के द्वारा ही गहरी सांस लेनी चाहिए ना कि वह खोलकर गहरी सांस लें इसीलिए हमें नाक के एक चित्र से गहरी सांस लेनी चाहिए और दूसरे छिद्र से सांस छोड़नी चाहिए इस तरह हम अपना दिमाग को शांत कर सकते हैं
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai ki savaal ek kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen to mera maanana yah hai ki apane dimaag ko shaant karane ke lie hamen meree saans lene ka abhyaas karana chaahie tatha gaharee saans lene se hamaara dimaag shaant ho sakata aur hamen rojaana gaharee saans lete rahana chaahie apane munh ko band karake naak ke dvaara hee gaharee saans lenee chaahie na ki vah kholakar gaharee saans len iseelie hamen naak ke ek chitr se gaharee saans lenee chaahie aur doosare chhidr se saans chhodanee chaahie is tarah ham apana dimaag ko shaant kar sakate hain

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:13
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा की आप का प्रेस में कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें दिखी सेंड कठिन समय जो होता है वह पहली बार तो आपके दिमाग में जो नेगेटिव है नकारात्मक विचार चलते रहते हैं कि आपको जो है उतावला कर देते हैं यह जो हमारे अंदर जो है तीसरा बना देते हैं घबराहट पैदा कर देते हैं कि अब क्या होगा अगर आप सबसे पहली बार जो है कि नकारात्मक ना सोचे अपने आप हमेशा जो है पॉजिटिव रखे अपने आप को तो आप देखेंगे कि कोई भी प्रॉब्लम आएगी तो आप उतना ज्यादा घबराहट नहीं महसूस करेंगे जितना कि आप जीती जो सोचते हैं उस वक्त क्योंकि आप जानते हैं कि कोई भी चीज हो चाहे सुख हो या दुख हो वह रहने के लिए नहीं आता फ्रेंड हमें कुछ हमको सिखाने के लिए हमारे थोड़े बहुत तुझे कर्म होते हैं अगर गड़बड़ हो गए होते हैं तू उसी के अनुसार जो है हमें उसकी प्राप्ति होती है अगर भाई चाहे सुख हो या दुख हो आपने देखा होगा कि ज्यादा दिन तक हमारे साथ नहीं रहते तो उसमें बस से कुछ करना नहीं है आपको बस पास टीवी चलाना है अपने अंदर वह आटोमेटिक जो है आप देखेंगे कि कम हो जाएगा तुम चली जाएगी मामला शांत हो जाएगा दिमाग ठंडा हो जाएगा फ्रेंड और अगर यह सब नहीं कर सकती तो बस एक चीज आप कहिए प्रभु पर विश्वास रखें क्योंकि फ्रेंड इस संसार का कर्ताधर्ता जो है एक वही है फिर अगर उन्हें आपको कष्ट दिया है तो कहीं न कहीं जो है आप स्कोर निकालने के लिए उसने रास्ता भी दिया है लेकिन आप जो है आपकी निगाहें जो है उस रास्ते खुद ढूंढ नहीं पा रही हैं देख नहीं पा रही हैं इसलिए आपको तकलीफ होती है आप कल्पना करके सोचिए कि हमें कष्ट मिले फ्रेंड और हमें पता लग जाए कि हमें हमारी दर्द का यही राज है तो हम तुरंत कर लेंगे और प्रॉब्लम खत्म हो जाएगी विश्वास रखिए सब कुछ ठीक हो जाएगा हां शायद जवाब पसंद आया होगा उसका
Helo phrends namaskaar jaisa kee aap ka pres mein kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen dikhee send kathin samay jo hota hai vah pahalee baar to aapake dimaag mein jo negetiv hai nakaaraatmak vichaar chalate rahate hain ki aapako jo hai utaavala kar dete hain yah jo hamaare andar jo hai teesara bana dete hain ghabaraahat paida kar dete hain ki ab kya hoga agar aap sabase pahalee baar jo hai ki nakaaraatmak na soche apane aap hamesha jo hai pojitiv rakhe apane aap ko to aap dekhenge ki koee bhee problam aaegee to aap utana jyaada ghabaraahat nahin mahasoos karenge jitana ki aap jeetee jo sochate hain us vakt kyonki aap jaanate hain ki koee bhee cheej ho chaahe sukh ho ya dukh ho vah rahane ke lie nahin aata phrend hamen kuchh hamako sikhaane ke lie hamaare thode bahut tujhe karm hote hain agar gadabad ho gae hote hain too usee ke anusaar jo hai hamen usakee praapti hotee hai agar bhaee chaahe sukh ho ya dukh ho aapane dekha hoga ki jyaada din tak hamaare saath nahin rahate to usamen bas se kuchh karana nahin hai aapako bas paas teevee chalaana hai apane andar vah aatometik jo hai aap dekhenge ki kam ho jaega tum chalee jaegee maamala shaant ho jaega dimaag thanda ho jaega phrend aur agar yah sab nahin kar sakatee to bas ek cheej aap kahie prabhu par vishvaas rakhen kyonki phrend is sansaar ka kartaadharta jo hai ek vahee hai phir agar unhen aapako kasht diya hai to kaheen na kaheen jo hai aap skor nikaalane ke lie usane raasta bhee diya hai lekin aap jo hai aapakee nigaahen jo hai us raaste khud dhoondh nahin pa rahee hain dekh nahin pa rahee hain isalie aapako takaleeph hotee hai aap kalpana karake sochie ki hamen kasht mile phrend aur hamen pata lag jae ki hamen hamaaree dard ka yahee raaj hai to ham turant kar lenge aur problam khatm ho jaegee vishvaas rakhie sab kuchh theek ho jaega haan shaayad javaab pasand aaya hoga usaka

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:58
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें कठिन समय में जयपुर वह जैसे किसी के साथ झगड़ा होता है या कोई ऐसी परिस्थिति आती है इसका मुकाबला करने के लिए बहुत कठिन पड़ता है तो ऐसी स्थिति में वैसे तो अपने रूम में किसी शांत जगह पर जाकर बड़ी स्वास्थ जो है वह लेकर शांतिपूर्ण तरीके से श्वास को अंदर ले ले लेना है और सत्ता के रूप से शांतता कितना से अपनी श्वास को बाहर फेंकना भी है ऐसा 20 या 3 बार शांतिपूर्वक करने करने से हमारा ब्रेव होता है उसके लिए ब्लड सपना है और ऑक्सीजन सप्लाई अच्छा अच्छा हो तो हो जाता है या ऐसे विषयों को भूलने के लिए कई पब्लिक प्लेस में जाना जाकर पब्लिक में मिल जाना चाहिए जैसे बस बाजार होता है इंडिया कुछ ऐसे लोगों को हमें देखना चाहिए जो शहर में या गांव में होते हैं जो हमारे भी ज्यादा हम से भी ज्यादा गरीब गरीबी में और कुछ लोग हमसे भी ज्यादा टेंशन में होते हैं ऐसे लोगों को देखकर समझना चाहिए कि यह व्हाट्सएप मेरे साथ नहीं हो रही है लाखों करोड़ों लोगों के साथ हो रही है और यह भी समझ लेना चाहिए कि ऐसी बातें जो होती है वह परिवर्तन नहीं होती है काल इसका सबसे बड़ा उपाय है काल के साथ-साथ सभी कठिन प्रश्न किया गुजर जाती है परिवर्तन हर चीज में होता है और तो वहीं से परिस्थितियों में भी होता है निश्चित रूप से होता है एक लेकिन हमारे इस पर विश्वास नहीं होता है इसलिए हमें लगता है कि ऐसा ही तो इसी तरीके से जिंदगी रह जाएगी तो कैसे चलेगा तो जिंदगी जीने में क्या रखा है या किसी की जिंदगी लेने के सिवाय और कोई चारा नहीं है लेकिन दोनों तरह की सोच है जो है वो एक्सट्रीमिस्ट सोचे हैं थोड़ा रुकना चाहिए थोड़ा वेट एंड वॉच करना चाहिए यह भी एक अच्छा तरीका होता है वचन वेट करो और देखते रहो क्या क्या होता है इसके साथ-साथ मेडिटेशन का उपयोग भी किया जा सकता है उसकी विधियां मालूम होनी चाहिए और वह जो मेडिटेशन है वह जिंदगी का हिस्सा बनना चाहिए तो दिमाग हमेशा शांत रहता है और जब कटिंग पर उस दिन सामने आ जाती है 24 तीव्रता से हाउस चित्र प्रज्ञता से इंसान उसको देख सकता है और इसके बावजूद भी नहीं हुआ तो डॉक्टर के पास जाना चाहिए डॉक्टर ऐसी दवाइयां देते हैं जिस पर जो विचार है वह ड्रिंक एक्टिविटी होती है उसको कंट्रोल करके या फ्रेश करने वाले गोलियां होती है क्या नींद आने वाली भी गोलियां होती है और एक बात मैं यहां पर बता देता हूं कि कभी भी थोड़ी नींद लेनी है लेने की जरूरत होती है जब दिमाग शांत नहीं होता है किसी भी माध्यम से अगर नींद हो जिनको नींद अच्छी आ जाए तो नींद हो जाने के बाद बहुत हल्का सा महसूस होता है उसके बाद हमें दूसरी जगह जाकर अपने जो अच्छे मित्र होते हैं या कुछ मूवीस देखने के लिए जा जा जा सकते हैं या कुछ खाने के लिए किसी जगह पर बाहर जा सकते हैं अच्छे मित्र हो तो उनके साथ नहीं तो जयपुर गार्डन जैसे रिकॉर्ड होते हैं वहां पर जाकर भी बच बच्चे छोटे बच्चे खेलते हैं और हर तरीके के लोग वहां पर इकट्ठा हुए होते हैं तो स्ट्रेस कम हो जाता है और इसके साथ-साथ अपराध से कार्यक्रम अपने अच्छे कार्यक्रम अच्छे पुस्तक पढ़ने चाहिए अच्छे कार्यक्रम देखने चाहिए रिप्लेस करनी चाहिए अपने दिमाग में जो चल रहा है उसको रिप्लेस करना चाहिए
Kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen kathin samay mein jayapur vah jaise kisee ke saath jhagada hota hai ya koee aisee paristhiti aatee hai isaka mukaabala karane ke lie bahut kathin padata hai to aisee sthiti mein vaise to apane room mein kisee shaant jagah par jaakar badee svaasth jo hai vah lekar shaantipoorn tareeke se shvaas ko andar le le lena hai aur satta ke roop se shaantata kitana se apanee shvaas ko baahar phenkana bhee hai aisa 20 ya 3 baar shaantipoorvak karane karane se hamaara brev hota hai usake lie blad sapana hai aur okseejan saplaee achchha achchha ho to ho jaata hai ya aise vishayon ko bhoolane ke lie kaee pablik ples mein jaana jaakar pablik mein mil jaana chaahie jaise bas baajaar hota hai indiya kuchh aise logon ko hamen dekhana chaahie jo shahar mein ya gaanv mein hote hain jo hamaare bhee jyaada ham se bhee jyaada gareeb gareebee mein aur kuchh log hamase bhee jyaada tenshan mein hote hain aise logon ko dekhakar samajhana chaahie ki yah vhaatsep mere saath nahin ho rahee hai laakhon karodon logon ke saath ho rahee hai aur yah bhee samajh lena chaahie ki aisee baaten jo hotee hai vah parivartan nahin hotee hai kaal isaka sabase bada upaay hai kaal ke saath-saath sabhee kathin prashn kiya gujar jaatee hai parivartan har cheej mein hota hai aur to vaheen se paristhitiyon mein bhee hota hai nishchit roop se hota hai ek lekin hamaare is par vishvaas nahin hota hai isalie hamen lagata hai ki aisa hee to isee tareeke se jindagee rah jaegee to kaise chalega to jindagee jeene mein kya rakha hai ya kisee kee jindagee lene ke sivaay aur koee chaara nahin hai lekin donon tarah kee soch hai jo hai vo eksatreemist soche hain thoda rukana chaahie thoda vet end voch karana chaahie yah bhee ek achchha tareeka hota hai vachan vet karo aur dekhate raho kya kya hota hai isake saath-saath mediteshan ka upayog bhee kiya ja sakata hai usakee vidhiyaan maaloom honee chaahie aur vah jo mediteshan hai vah jindagee ka hissa banana chaahie to dimaag hamesha shaant rahata hai aur jab kating par us din saamane aa jaatee hai 24 teevrata se haus chitr pragyata se insaan usako dekh sakata hai aur isake baavajood bhee nahin hua to doktar ke paas jaana chaahie doktar aisee davaiyaan dete hain jis par jo vichaar hai vah drink ektivitee hotee hai usako kantrol karake ya phresh karane vaale goliyaan hotee hai kya neend aane vaalee bhee goliyaan hotee hai aur ek baat main yahaan par bata deta hoon ki kabhee bhee thodee neend lenee hai lene kee jaroorat hotee hai jab dimaag shaant nahin hota hai kisee bhee maadhyam se agar neend ho jinako neend achchhee aa jae to neend ho jaane ke baad bahut halka sa mahasoos hota hai usake baad hamen doosaree jagah jaakar apane jo achchhe mitr hote hain ya kuchh moovees dekhane ke lie ja ja ja sakate hain ya kuchh khaane ke lie kisee jagah par baahar ja sakate hain achchhe mitr ho to unake saath nahin to jayapur gaardan jaise rikord hote hain vahaan par jaakar bhee bach bachche chhote bachche khelate hain aur har tareeke ke log vahaan par ikattha hue hote hain to stres kam ho jaata hai aur isake saath-saath aparaadh se kaaryakram apane achchhe kaaryakram achchhe pustak padhane chaahie achchhe kaaryakram dekhane chaahie riples karanee chaahie apane dimaag mein jo chal raha hai usako riples karana chaahie

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
घनश्याम वन Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए घनश्याम जी का जवाब
मंदिर सेवा
1:11
कठिन समय में अपने दिमाग को शांत करने के लिए अधिक नहीं बोलना चाहिए मूंगा धारण करना चाहिए सनम से रहना चाहिए और कोई भी बात कहे चाहे वह कोई क्रोध में कह रहा हूं उसकी बात पर हां यदि कोई बात आपके इस बात को समझना चाहिए और इस बात पर जाना चाहिए अधिकतर अपने दिमाग को शांत करने के लिए शास्त्रों का अध्ययन करना चाहिए किसी बच्चे को जल्दी दिमाग चलाओ दिमाग के डॉक्टर को दिखा सकते हैं आपको और ठीक करने की दवाई से आत्मा को शांति मिलती है भगवान के भजन में लगाना चाहिए
Kathin samay mein apane dimaag ko shaant karane ke lie adhik nahin bolana chaahie moonga dhaaran karana chaahie sanam se rahana chaahie aur koee bhee baat kahe chaahe vah koee krodh mein kah raha hoon usakee baat par haan yadi koee baat aapake is baat ko samajhana chaahie aur is baat par jaana chaahie adhikatar apane dimaag ko shaant karane ke lie shaastron ka adhyayan karana chaahie kisee bachche ko jaldee dimaag chalao dimaag ke doktar ko dikha sakate hain aapako aur theek karane kee davaee se aatma ko shaanti milatee hai bhagavaan ke bhajan mein lagaana chaahie

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:43
सवाली की कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें समय पर भरोसा रखें आज तक कोई ऐसी रात नहीं हुई जिसका सवेरा ना हो जंगल में भी लगी बड़ी से बड़ी आग दिशांत हो ही जाती है कुछ ना कुछ नया सीखने पड़ते रहे इन परिस्थितियों के उपहार स्वरूप आपको हमेशा याद रहेगा आत्म चिंतन मनन करने का यह सही समय होता है जबकि दरवाजे खुलने लगे तो फिर दौड़ शुरू हो जाती है यह समझ ईश्वर ने सबसे मुश्किल रोल के लिए आप जैसे बेहतर कलाकार को चुना है हर घटना के पीछे प्रकृति का कोई प्रयोजन होता है इस समय को टिक टिक करती घड़ी की सुइयां की तरह ले
Savaalee kee kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen samay par bharosa rakhen aaj tak koee aisee raat nahin huee jisaka savera na ho jangal mein bhee lagee badee se badee aag dishaant ho hee jaatee hai kuchh na kuchh naya seekhane padate rahe in paristhitiyon ke upahaar svaroop aapako hamesha yaad rahega aatm chintan manan karane ka yah sahee samay hota hai jabaki daravaaje khulane lage to phir daud shuroo ho jaatee hai yah samajh eeshvar ne sabase mushkil rol ke lie aap jaise behatar kalaakaar ko chuna hai har ghatana ke peechhe prakrti ka koee prayojan hota hai is samay ko tik tik karatee ghadee kee suiyaan kee tarah le

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:14
समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें तो सबसे पहले जितना भी कठिन समय है अभी सी गोविंद नेट करवाने के लिए हजारों लाखों करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए बिजनेस ठप हो गया बहुत सारी कुछ लोग सुसाइड भी कर ले रहे हैं और फिर जब अपने मन को स्थिर करने के लिए थोड़ा सा स्टेशन शांति होगी कि क्या इससे आगे कुछ जॉब का कोई भी दिखाई नहीं दे रहा कोई सपोर्ट करने वाला मैं मंदसौर आ जाते हैं मरने की जरूरत कोई न कोई रास्ता निकलेगा जब आप मन को शांत कर के बैठे हैं तो बेहतर होगा तो अपने मन को स्थिर करें और फिर सोचे कि परसों से कैसे बाहर निकले
Samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen to sabase pahale jitana bhee kathin samay hai abhee see govind net karavaane ke lie hajaaron laakhon karodon log berojagaar ho gae bijanes thap ho gaya bahut saaree kuchh log susaid bhee kar le rahe hain aur phir jab apane man ko sthir karane ke lie thoda sa steshan shaanti hogee ki kya isase aage kuchh job ka koee bhee dikhaee nahin de raha koee saport karane vaala main mandasaur aa jaate hain marane kee jaroorat koee na koee raasta nikalega jab aap man ko shaant kar ke baithe hain to behatar hoga to apane man ko sthir karen aur phir soche ki parason se kaise baahar nikale

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:43
प्रिय मेरे दोस्तों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि आप कठिन समय में दिमाग को शांत करने के लिए आप धैर्य को बनाए रखें क्योंकि मनुष्य जीवन में कभी खुशी कभी गम होता है मनुष्य जीवन में चलते रहते हैं इसलिए कठिन समय का डटकर मुकाबला करना चाहिए क्योंकि जिस प्रकार से रात दिन होते हैं आप अपने दिमाग पर बाहर मत डालो आप कर्म करते रहो आप चिंता मत करो और आप व्यायाम करो जिससे आपके दिमाग शांत रहेगा और सकारात्मक सोच को बनाए रखो धन्यवाद मित्रों खुश रहो
Priy mere doston aapake prashn ka uttar yah hai ki aap kathin samay mein dimaag ko shaant karane ke lie aap dhairy ko banae rakhen kyonki manushy jeevan mein kabhee khushee kabhee gam hota hai manushy jeevan mein chalate rahate hain isalie kathin samay ka datakar mukaabala karana chaahie kyonki jis prakaar se raat din hote hain aap apane dimaag par baahar mat daalo aap karm karate raho aap chinta mat karo aur aap vyaayaam karo jisase aapake dimaag shaant rahega aur sakaaraatmak soch ko banae rakho dhanyavaad mitron khush raho

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:39
आपके सवालों की कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत रखे तो अगर आप एक गहरी सांस लेने का अभ्यास करें यदि पीएस जाओ को अजीब प्रतीक हो सकता है गहरी सांस लेने के अभ्यास आपके मस्तिष्क को शांत रखने में सिर्फ जनक रूप में कारगर है इसका प्रतिदिन अभ्यास करें और तनाव के समय यह उसे कम करने में मदद करा अपने मुंह को और नाक से गहरी सांस लें इसे आप अपने दिमाग को शांत करने में मदद मिलेगी धन्यवाद
Aapake savaalon kee kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant rakhe to agar aap ek gaharee saans lene ka abhyaas karen yadi peees jao ko ajeeb prateek ho sakata hai gaharee saans lene ke abhyaas aapake mastishk ko shaant rakhane mein sirph janak roop mein kaaragar hai isaka pratidin abhyaas karen aur tanaav ke samay yah use kam karane mein madad kara apane munh ko aur naak se gaharee saans len ise aap apane dimaag ko shaant karane mein madad milegee dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Md Mahmud Alam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Md जी का जवाब
स्टूडेंट विद्यार्थी
0:58
आज का सवाल कठिन समय अपने दिमाग को कैसे शांत करें यह सवाल तो आप उन्हें जबरदस्त बहुत अच्छा पूछे एक कठिन समय में आपको सबसे पहले दिमाग को इस प्रकार के संग कर सकते हैं कि माली जी आप बहुत ही बुरी स्थिति में फंसे हुए हैं तो आपको एक बात का ध्यान रखना होगा क्या रखना होगा कि इस बात का ध्यान रखना होगा कि दीजिएगा कि आज कठिन है कठिनाइयों को कैसे निकाला जाए घबराने की बात नहीं है इस बार हम आराम आराम से चेंज करना पड़ेगा कैसे घटना यह मैंने गिर सकते हैं तो उसमें आप क्या करते हैं बहुत ही आनंददायक बहुत ही सोच समझकर कदम आगे बढ़ते हैं कि नहीं आप शांति दिमाग से तो स्वस्थ दिमाग से आप अपनी सोचिए इस कठिनाई से कैसे आगे बढ़ा जाए बस ऐसे ही आपका दिमाग शांत हो जाए धन्यवाद
Aaj ka savaal kathin samay apane dimaag ko kaise shaant karen yah savaal to aap unhen jabaradast bahut achchha poochhe ek kathin samay mein aapako sabase pahale dimaag ko is prakaar ke sang kar sakate hain ki maalee jee aap bahut hee buree sthiti mein phanse hue hain to aapako ek baat ka dhyaan rakhana hoga kya rakhana hoga ki is baat ka dhyaan rakhana hoga ki deejiega ki aaj kathin hai kathinaiyon ko kaise nikaala jae ghabaraane kee baat nahin hai is baar ham aaraam aaraam se chenj karana padega kaise ghatana yah mainne gir sakate hain to usamen aap kya karate hain bahut hee aanandadaayak bahut hee soch samajhakar kadam aage badhate hain ki nahin aap shaanti dimaag se to svasth dimaag se aap apanee sochie is kathinaee se kaise aage badha jae bas aise hee aapaka dimaag shaant ho jae dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:50
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें देखें अगर यह समय ऐसे दौर से हम हमेशा गुजरते हैं हो सकते मेरे मोबाइल का आवाज थोड़ा खराब हो लेकिन आप सुनते रहिए थोड़ी देर बाद अपने आप अच्छा हो जाने लगता है आज कठिन समय के समय जो है यह सब के ऊपर आता है और कठिन समय में क्या होता है कि हमारा मन हमें कुछ और सोचने नहीं देता है हम लोग कितना भी तय कर ले कि हम लोग एक करेंगे वह ऐसा रहेंगे हम पॉजिटिव रहेंगे वाइब्रेंट रहेंगे लेकिन कभी भी आप किसी अड़चन में पहुंच पढ़ते हैं तो उसका लाइन को ज्यादा सोचने नहीं देता है और मैं इमीडिएट कि मुझे ढूंढने लग जाता है कि अब मैं क्या करूं क्योंकि माइंड को तुरंत रिलीज सही होती है उस समय लेकिन याद रहे अगर आपके पास अगर आपका रोड में आपका तय है आपका अगर रोड मैप से है उस रोड मैप के अंदर में कई बार आपकी गाड़ी दाएं बाएं कहीं पर भी चली जाए तो अगर दाएं बाएं कार्यकारी उसको हम बोलते हैं गाड़ी अड़चन में आ रही है अरे हमें प्रॉब्लम हो रहा है अभी हम किसी प्रॉब्लम में है और उस समय फेल हो जाता है कि हमें कुछ प्रॉब्लम है या नहीं महसूस करने पैसे ही नहीं होती है ऐसे समय शांत रखो कि देखो कल नहीं थी आज आ गई कल नहीं थी आज आ गए उस दिन रहेगी चली जाएगी फिर से पहले जैसे हो जाओगे तो खोजो टाइमिंग रहेगा आपका पूरा टाइम के समय कुछ मत कीजिए अगर आप का रूटीन सेट है तो बस रूटीन वाले काम कीजिए ज्यादा दिमाग मत लगाइए ज्यादा इंटेंस मत हुई है ज्यादा फ्रस्ट्रेटेड मत होइए एनी उसके इसका मतलब यह कि उसके चले केयर मैं कुछ भी नहीं कर पा रहा हूं या फिर या फिर उसके वजह से कोई ऐसी चीज को या कुछ किसी चीज का रिएक्शन मत पकड़ लीजिए सिर्फ अपना रूटीन रखिए हो सकता यह फेस किसी के लाइफ में एक दिन आए हैं किसी के लाइफ में 4 5 6 10 15 20 दिन का है लेकिन अगर रूटीन सेट है आपका सर रूटीन रूटीन करते रहो ऐसे समय कंप्यूटर बन जाओ सुबह उठाओ अपना एक्सरसाइज करना है करो आने दो विचार जो मन में आ रहे लेकिन लिखा हुआ रोटी ने बसु रूटीन को करते रहो ज्यादा किसी के साथ नहीं बात करना चाहते मत करो जल्दी सो जाओ कुछ पढ़ना नहीं चाहते मत पढ़ो लेकिन रूटीन करते रहो क्योंकि फिजिकल मेनिफेस्टेशन जरूरी है फिजिकल एक्टिविटी जरूरी है तो माइंड नहीं करने देगा लेकिन आपको करना है सोच समझ के क्योंकि आप इंटेलीजेंट तो आपको पता है कि मुझे अपने आप को इस पेज से बाहर निकलना है तो यह करते रहिए कठिन समय में यह कठिन समय आपका निकल जाएगा क्योंकि आप सब डाउन हमेशा आते हैं तो आप कभी खुशी के माहौल में भी होते हो यह डाउन वाला माहौल है डाउन वाले कार्यक्रम बिगड़ता है हमारा रूटीन सेट करो रूटीन के हिसाब से चलो आपको समझ में आ जाएगा क्या रुटीन से कुछ अलग हो रहा है चलो क्या करना है फिर कुछ नहीं शांत हो जाए बस
Kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen dekhen agar yah samay aise daur se ham hamesha gujarate hain ho sakate mere mobail ka aavaaj thoda kharaab ho lekin aap sunate rahie thodee der baad apane aap achchha ho jaane lagata hai aaj kathin samay ke samay jo hai yah sab ke oopar aata hai aur kathin samay mein kya hota hai ki hamaara man hamen kuchh aur sochane nahin deta hai ham log kitana bhee tay kar le ki ham log ek karenge vah aisa rahenge ham pojitiv rahenge vaibrent rahenge lekin kabhee bhee aap kisee adachan mein pahunch padhate hain to usaka lain ko jyaada sochane nahin deta hai aur main imeediet ki mujhe dhoondhane lag jaata hai ki ab main kya karoon kyonki maind ko turant rileej sahee hotee hai us samay lekin yaad rahe agar aapake paas agar aapaka rod mein aapaka tay hai aapaka agar rod maip se hai us rod maip ke andar mein kaee baar aapakee gaadee daen baen kaheen par bhee chalee jae to agar daen baen kaaryakaaree usako ham bolate hain gaadee adachan mein aa rahee hai are hamen problam ho raha hai abhee ham kisee problam mein hai aur us samay phel ho jaata hai ki hamen kuchh problam hai ya nahin mahasoos karane paise hee nahin hotee hai aise samay shaant rakho ki dekho kal nahin thee aaj aa gaee kal nahin thee aaj aa gae us din rahegee chalee jaegee phir se pahale jaise ho jaoge to khojo taiming rahega aapaka poora taim ke samay kuchh mat keejie agar aap ka rooteen set hai to bas rooteen vaale kaam keejie jyaada dimaag mat lagaie jyaada intens mat huee hai jyaada phrastreted mat hoie enee usake isaka matalab yah ki usake chale keyar main kuchh bhee nahin kar pa raha hoon ya phir ya phir usake vajah se koee aisee cheej ko ya kuchh kisee cheej ka riekshan mat pakad leejie sirph apana rooteen rakhie ho sakata yah phes kisee ke laiph mein ek din aae hain kisee ke laiph mein 4 5 6 10 15 20 din ka hai lekin agar rooteen set hai aapaka sar rooteen rooteen karate raho aise samay kampyootar ban jao subah uthao apana eksarasaij karana hai karo aane do vichaar jo man mein aa rahe lekin likha hua rotee ne basu rooteen ko karate raho jyaada kisee ke saath nahin baat karana chaahate mat karo jaldee so jao kuchh padhana nahin chaahate mat padho lekin rooteen karate raho kyonki phijikal meniphesteshan jarooree hai phijikal ektivitee jarooree hai to maind nahin karane dega lekin aapako karana hai soch samajh ke kyonki aap inteleejent to aapako pata hai ki mujhe apane aap ko is pej se baahar nikalana hai to yah karate rahie kathin samay mein yah kathin samay aapaka nikal jaega kyonki aap sab daun hamesha aate hain to aap kabhee khushee ke maahaul mein bhee hote ho yah daun vaala maahaul hai daun vaale kaaryakram bigadata hai hamaara rooteen set karo rooteen ke hisaab se chalo aapako samajh mein aa jaega kya ruteen se kuchh alag ho raha hai chalo kya karana hai phir kuchh nahin shaant ho jae bas

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Vicky Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vicky जी का जवाब
अभी हम पढ़ाई करते हैं
0:41
हकीकत हिंदी में मीडिया को इस तरीके से कर सकते हैं कि कोई अच्छा मिल जाएंगे या फिर आप की कसम पूरी के बारे में उसकी जून को चाहते हैं उनके बारे में सोच के बता देना
Hakeekat hindee mein meediya ko is tareeke se kar sakate hain ki koee achchha mil jaenge ya phir aap kee kasam pooree ke baare mein usakee joon ko chaahate hain unake baare mein soch ke bata dena

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Ramlal Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ramlal जी का जवाब
Students
1:21

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:48
दोस्तों आप का सवाल है कि तीन समय में अपना दिमाग को कैसे शांत करें तो जहां तक संभव हो सके पॉजिटिव में रहे यह हमेशा याद रखें कि आज अगर आप हो जीतू रहेंगे तभी आपका दिमाग भी पॉजिटिव नहीं नहीं ले पाएगा से भी नहीं ले पाएगा पॉजिटिव है जहां तक संभव हो पॉजिटिव रे सच्चाई को स्वीकार 27 को पूरी तरह स्वीकार तभी आप पैसे तो फिर सही मायने समझेंगे सबसे खास बात होती है जब भी आप मतलब माइंड फ्रेश में हो तो धैर्य के साथ रहे खुद पर गर्व महसूस करें माइंड को डाइवर्ट करें और अपना खुद का हो सके तो फेवरेट कोई सॉन्ग सुन ले जिससे आपका माइंड डाइवर्ट होगा
Doston aap ka savaal hai ki teen samay mein apana dimaag ko kaise shaant karen to jahaan tak sambhav ho sake pojitiv mein rahe yah hamesha yaad rakhen ki aaj agar aap ho jeetoo rahenge tabhee aapaka dimaag bhee pojitiv nahin nahin le paega se bhee nahin le paega pojitiv hai jahaan tak sambhav ho pojitiv re sachchaee ko sveekaar 27 ko pooree tarah sveekaar tabhee aap paise to phir sahee maayane samajhenge sabase khaas baat hotee hai jab bhee aap matalab maind phresh mein ho to dhairy ke saath rahe khud par garv mahasoos karen maind ko daivart karen aur apana khud ka ho sake to phevaret koee song sun le jisase aapaka maind daivart hoga

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:25
सवाल है कि कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें अपने दिमाग को शांत करने के लिए बहुत जरूरी है कि आप थोड़ा सा मेडिटेशन करें इसके अलावा सोच को सकारात्मक रखें ज्यादा सकारात्मक रखेंगे चीजों में पॉजिटिविटी को ढूंढ लेंगे देखेंगे समझेंगे उतना ही ज्यादा आप खुद को शांत रह पाएंगे और सही समय पर सही निर्णय ले पाने में सक्षम होंगे आपका धन्यवाद
Savaal hai ki kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen apane dimaag ko shaant karane ke lie bahut jarooree hai ki aap thoda sa mediteshan karen isake alaava soch ko sakaaraatmak rakhen jyaada sakaaraatmak rakhenge cheejon mein pojitivitee ko dhoondh lenge dekhenge samajhenge utana hee jyaada aap khud ko shaant rah paenge aur sahee samay par sahee nirnay le paane mein saksham honge aapaka dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:26
सवाल है कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें देखिए जब मन अशांत होता है तो यह मुश्किल हो जाता है कि आप खुद को समझाएं लेकिन जब आप मन शांत करने के उपाय के बारे में सोच रहे हैं तो आप इसके लिए तैयार हूं पहले उस चुनौतियां समस्या के बारे में सोचें जिसके कारण आपका मन अशांत है उसे देख ले अब आप कल्पना कीजिए कि आप नहीं बल्कि आपका एक करीबी मित्र है जो इस समस्या का सामना कर रहा है आप उसे क्या चला देंगे जब आप ऐसा करेंगे तो आप अपने मित्र को खुद को बेहतर चला दे पाएंगे अपनी स्थिति को अब जब कर पाएंगे अपनी वर्तमान परेशानियों को अपनी सोच पर हावी न होने दें धैर्य रखें कुछ कदम पीछे हटे और अपने आप को इस दूरी का लाभ एक बार जब आप इस बारे में चिंता करना छोड़ देंगे कि दूसरे आपके बारे में क्या सोच रहे हैं जब आपका मन धीरे-धीरे शांत होने लगेगा केवल सकारात्मक चीजों पर ध्यान दें ऐसा करने से आप खुद नकारात्मक सोच और दूसरों की सोच के बारे में चिंता करना बंद कर देंगे अपना ध्यान दूसरी चीजों में लगाएं धन्यवाद
Savaal hai kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen dekhie jab man ashaant hota hai to yah mushkil ho jaata hai ki aap khud ko samajhaen lekin jab aap man shaant karane ke upaay ke baare mein soch rahe hain to aap isake lie taiyaar hoon pahale us chunautiyaan samasya ke baare mein sochen jisake kaaran aapaka man ashaant hai use dekh le ab aap kalpana keejie ki aap nahin balki aapaka ek kareebee mitr hai jo is samasya ka saamana kar raha hai aap use kya chala denge jab aap aisa karenge to aap apane mitr ko khud ko behatar chala de paenge apanee sthiti ko ab jab kar paenge apanee vartamaan pareshaaniyon ko apanee soch par haavee na hone den dhairy rakhen kuchh kadam peechhe hate aur apane aap ko is dooree ka laabh ek baar jab aap is baare mein chinta karana chhod denge ki doosare aapake baare mein kya soch rahe hain jab aapaka man dheere-dheere shaant hone lagega keval sakaaraatmak cheejon par dhyaan den aisa karane se aap khud nakaaraatmak soch aur doosaron kee soch ke baare mein chinta karana band kar denge apana dhyaan doosaree cheejon mein lagaen dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Sanjeev Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sanjeev जी का जवाब
Financial consultant and Ex banker
0:40
नया को सवाले कटिंग चलाना दिमाग को कैसे शांत करें तो कठिन समय में दिमाग शांत करने के लिए बहुत सारे होता है जैसे पहले तो आप अपने अंदर पॉजिटिविटी लाएं दूसरा है कि अपने दिमाग को डाइवर्ट करें तीसरा है कि अपने अंदर पेसेंस को डेवलप करा चौथा हर कठिन समय का एक समय होता है वह भी चला जाएगा तो यह सब चीजों को अपने दिमाग में रखी है और कभी भी अपने आप को कमजोर महसूस ना करें जितना भी आप कमजोर महसूस करेंगे आपको समय समय और कटे लगता है जाएगा अंदर से मैं दिमाग को और मन को मजबूत करें कठिन समय भी चला जाएगा क्योंकि हर अंधेरे के बाद एक सुबह होती है
Naya ko savaale kating chalaana dimaag ko kaise shaant karen to kathin samay mein dimaag shaant karane ke lie bahut saare hota hai jaise pahale to aap apane andar pojitivitee laen doosara hai ki apane dimaag ko daivart karen teesara hai ki apane andar pesens ko devalap kara chautha har kathin samay ka ek samay hota hai vah bhee chala jaega to yah sab cheejon ko apane dimaag mein rakhee hai aur kabhee bhee apane aap ko kamajor mahasoos na karen jitana bhee aap kamajor mahasoos karenge aapako samay samay aur kate lagata hai jaega andar se main dimaag ko aur man ko majaboot karen kathin samay bhee chala jaega kyonki har andhere ke baad ek subah hotee hai

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:28
दोस्तों प्रश्न ही कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत रखें तो दोस्तों में बताना चाहता हूं कि जब हम परेशानी में होते हैं तो हमारा जो है मन काफी व्यथित रहता है और हमारे पास जा रहा था नकारात्मक सोच ज्यादा होती है और हम काफी परेशान रहते हैं तो दोस्तों इसमें हमें आपका जो सहयोग कर सकता है आपकी मना स्थिति थोड़ी ठीक कर सकता है परेशानी तो नहीं का समाधान कर सकता है लेकिन जो जो है आपकी मन को शांति प्रदान कर सकता है अब हम भी प्रारंभ करें कोई योगा करें कोई भी आप और कोई एक्सरसाइज करें कोई आप खेल करते हैं खेल करें और कठिन समय में आप क्या करें कि जो आपकी समस्या है किसी ना किसी के साथ साझा करें चाहे आपका मित्र हो चाहे आपके माता पिता हूं चाय आपके कोई रिश्तेदार हूं उससे कई बार ऐसा होता है कठिन दौर कई बार धीरे-धीरे पास हो जाता है कई बार ऐसा पता है कि उसकी समस्या का समाधान भी कोई किसी के बाहर निकल आता है या जब लोगों का साथ रहता है तो निश्चित रूप से मन को शांति मिलती है यहां जी मेरे साथ लोग हैं और खाली बिल्कुल ना रहे हैं अकेले में ना सोचे नहीं तो काफी परेशानी वाला हो जाता है कई बार ब्लड प्रेशर को करा लो हो जाता है और समस्याएं हो जाती हैं तो ऐसी स्थिति में योग का सहारा भी ले तो ज्यादा अच्छा रहेगा आपको धन्यवाद
Doston prashn hee kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant rakhen to doston mein bataana chaahata hoon ki jab ham pareshaanee mein hote hain to hamaara jo hai man kaaphee vyathit rahata hai aur hamaare paas ja raha tha nakaaraatmak soch jyaada hotee hai aur ham kaaphee pareshaan rahate hain to doston isamen hamen aapaka jo sahayog kar sakata hai aapakee mana sthiti thodee theek kar sakata hai pareshaanee to nahin ka samaadhaan kar sakata hai lekin jo jo hai aapakee man ko shaanti pradaan kar sakata hai ab ham bhee praarambh karen koee yoga karen koee bhee aap aur koee eksarasaij karen koee aap khel karate hain khel karen aur kathin samay mein aap kya karen ki jo aapakee samasya hai kisee na kisee ke saath saajha karen chaahe aapaka mitr ho chaahe aapake maata pita hoon chaay aapake koee rishtedaar hoon usase kaee baar aisa hota hai kathin daur kaee baar dheere-dheere paas ho jaata hai kaee baar aisa pata hai ki usakee samasya ka samaadhaan bhee koee kisee ke baahar nikal aata hai ya jab logon ka saath rahata hai to nishchit roop se man ko shaanti milatee hai yahaan jee mere saath log hain aur khaalee bilkul na rahe hain akele mein na soche nahin to kaaphee pareshaanee vaala ho jaata hai kaee baar blad preshar ko kara lo ho jaata hai aur samasyaen ho jaatee hain to aisee sthiti mein yog ka sahaara bhee le to jyaada achchha rahega aapako dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Aditya Dangayach  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Aditya जी का जवाब
Student
1:27
करता जानना चाहते हैं कि कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें जैसे कि कई बार कई ऐसे समय हमारे साथ आते हैं जो कि काफी कठिन होते हैं उस वक्त जो भी सिचुएशन या बीजेपी परिस्थितियां हमारे सभी परिस्थितियां चल रही हो कि वह हमारे फेवर में नहीं होती सभी परिस्थितियां हमारे अगेंस्ट होती हमें नहीं समझ आ रहा होता उस पर हमें क्या करना चाहिए क्यों करना चाहिए कैसे करना चाहिए हम काफी ज्यादा हो स्टेटस हो जाता है काफी परेशान हो जाते हैं हमें क्या करना चाहिए ऐसे वक्त हमें जो करना चाहिए वह कई बार काफी लोग कर नहीं पाते क्योंकि यह काम थोड़ा मुश्किल पड़ता है यह काम यह है कि हमें जब भी टेंशन में आ रहा होता है तो हमें एक जाकर बैठ कर समय को ऑफ करो करना चाहिए कि अभी हमारा कठिन समय आ रहा है लेकिन हमें इस बात की आशा नहीं होनी चाहिए कि हमारे कठिन समय कभी ना कभी जाएगा जरूर तो हमें यही करना चाहिए कि कि जब हमारा कठिन शब्दों में लगातार मेहनत करते रहेंगे चाहिए और सही समय का इंतजार करना है तो सही समय आने के बाद आपका जो कठिन समय है वह आप का सबसे आसान समय में बदल जाएगा कि नहीं फिर वह समय आएगा जब हाफ कि आपका जीवन काफी आसानी से बीते लगेगा इसके लिए आपको यही करना है बस इंतजार करना है सही समय का और हम अपनी मेहनत करते जानी है आशा करता हूं आपका अपना जवाब आया होगा इसी प्रकार मुझसे और सवालों के जवाब पाने के लिए मुझे सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Karata jaanana chaahate hain ki kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen jaise ki kaee baar kaee aise samay hamaare saath aate hain jo ki kaaphee kathin hote hain us vakt jo bhee sichueshan ya beejepee paristhitiyaan hamaare sabhee paristhitiyaan chal rahee ho ki vah hamaare phevar mein nahin hotee sabhee paristhitiyaan hamaare agenst hotee hamen nahin samajh aa raha hota us par hamen kya karana chaahie kyon karana chaahie kaise karana chaahie ham kaaphee jyaada ho stetas ho jaata hai kaaphee pareshaan ho jaate hain hamen kya karana chaahie aise vakt hamen jo karana chaahie vah kaee baar kaaphee log kar nahin paate kyonki yah kaam thoda mushkil padata hai yah kaam yah hai ki hamen jab bhee tenshan mein aa raha hota hai to hamen ek jaakar baith kar samay ko oph karo karana chaahie ki abhee hamaara kathin samay aa raha hai lekin hamen is baat kee aasha nahin honee chaahie ki hamaare kathin samay kabhee na kabhee jaega jaroor to hamen yahee karana chaahie ki ki jab hamaara kathin shabdon mein lagaataar mehanat karate rahenge chaahie aur sahee samay ka intajaar karana hai to sahee samay aane ke baad aapaka jo kathin samay hai vah aap ka sabase aasaan samay mein badal jaega ki nahin phir vah samay aaega jab haaph ki aapaka jeevan kaaphee aasaanee se beete lagega isake lie aapako yahee karana hai bas intajaar karana hai sahee samay ka aur ham apanee mehanat karate jaanee hai aasha karata hoon aapaka apana javaab aaya hoga isee prakaar mujhase aur savaalon ke javaab paane ke lie mujhe sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:37
झारखंड किस नदी के बारे में प्रश्न किया चली वेलेन का प्रश्न देखते हैं उसके बारे में का विस्तार हुआ उत्तर दे गिरफ्तार नहीं किया कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें कठिन समय है तो आप हो उस तरफ ध्यान न लेयर कट नहीं हो रही हो अपने दिमाग को एकाग्र चित्त करें अपना ध्यान रखा उसने पढ़ाई करें 200 साल में घूमने जाएं उससे बात करें मैं दिमाग को इधर-उधर हटा यहां स्थित से हटाए तो आप अपने मन को शांति दे
Jhaarakhand kis nadee ke baare mein prashn kiya chalee velen ka prashn dekhate hain usake baare mein ka vistaar hua uttar de giraphtaar nahin kiya kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen kathin samay hai to aap ho us taraph dhyaan na leyar kat nahin ho rahee ho apane dimaag ko ekaagr chitt karen apana dhyaan rakha usane padhaee karen 200 saal mein ghoomane jaen usase baat karen main dimaag ko idhar-udhar hata yahaan sthit se hatae to aap apane man ko shaanti de

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
0:58
नमस्कार सोता कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें जरूरी होता है जब हमें भी कठिन समय होता है तो दिमाग कम हो जाता है अजब ऑक्सीजन कम जाती है तो दिमाग भी ज्यादा अच्छे से काम नहीं कर पाता है इसी कारण कहा जाता है कि जब भी कोई दिक्कत हो तो घर ही साथ जरूर लें साथ ही अगर आप रोज ध्यान करते हैं योग करते हैं मैं रिट्रीट करते हैं तो आपका एक आदत बन जाएगी और ऑक्सीजन भी अच्छी तरीके से आप मेंटेन कर पाएंगे अपनी बॉडी में चाहे कठिन समय हो चाहे सही समय हो तो अगर आप रोज योगा करेंगे तो आप अपने जो प्रीतम है जो सांस लेने की प्रक्रिया है उसे अच्छे से कर पाएंगे प्रक्रिया को अच्छे से निभा पाएंगे जो ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी आपको दिमाग में दिमाग में ऑक्सीजन जाएगी तो आपका दिमाग काफी बेहतर काम करेगा
Namaskaar sota kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen jarooree hota hai jab hamen bhee kathin samay hota hai to dimaag kam ho jaata hai ajab okseejan kam jaatee hai to dimaag bhee jyaada achchhe se kaam nahin kar paata hai isee kaaran kaha jaata hai ki jab bhee koee dikkat ho to ghar hee saath jaroor len saath hee agar aap roj dhyaan karate hain yog karate hain main ritreet karate hain to aapaka ek aadat ban jaegee aur okseejan bhee achchhee tareeke se aap menten kar paenge apanee bodee mein chaahe kathin samay ho chaahe sahee samay ho to agar aap roj yoga karenge to aap apane jo preetam hai jo saans lene kee prakriya hai use achchhe se kar paenge prakriya ko achchhe se nibha paenge jo okseejan kee kamee nahin hogee aapako dimaag mein dimaag mein okseejan jaegee to aapaka dimaag kaaphee behatar kaam karega

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Akash Chaudhary  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Akash जी का जवाब
Motivational speaker
1:25
नमस्कार आपका सवाल है कि कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत रखें तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि दो-तीन तरह का समय होता है एक दुख का समय होता है और एक गुस्से का समय होता है तो इसमें क्या होता कि हमारा जो दिमाग है वह अनियंत्रित हो जाता है बहुत सारे फिर हमारे दिमाग चंद्र विचार आते हैं कि हम यह कर ले वह कर ले ऐसा कर ले ना करें तो ऐसे समय पर ऐसा है कि अगर दुख का समय है तो दुख को ज्यादा से ज्यादा पाटने का प्रयास करें मतलब उसे सेंड करने का प्रयास करें दूसरा है गुस्सा अगर आपको गुस्सा आता है तो आप किसी किसी पंच बैंक पर गुस्सा निकाल सकते हैं यह आप जहां पर लड़ाई चल रही है गुस्सा वाली जगह है जहां गुस्से शक करना ही है तो उस जगह से अलग हटने की कोशिश करें दूसरा है ध्यान मन आत्मा पर चिंतन करें और इससे क्योंकि अगर जो इंसान ध्यान करता है पूजा पाठ करता है उससे हमारा जो गुस्सा है वह बहुत हद तक शांत हो जाता है धन्यवाद अगर आपको मेरा जवाब अच्छा लगा हो तो लाइक और शेयर जरूर करें
Namaskaar aapaka savaal hai ki kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant rakhen to main aapako bataana chaahata hoon ki do-teen tarah ka samay hota hai ek dukh ka samay hota hai aur ek gusse ka samay hota hai to isamen kya hota ki hamaara jo dimaag hai vah aniyantrit ho jaata hai bahut saare phir hamaare dimaag chandr vichaar aate hain ki ham yah kar le vah kar le aisa kar le na karen to aise samay par aisa hai ki agar dukh ka samay hai to dukh ko jyaada se jyaada paatane ka prayaas karen matalab use send karane ka prayaas karen doosara hai gussa agar aapako gussa aata hai to aap kisee kisee panch baink par gussa nikaal sakate hain yah aap jahaan par ladaee chal rahee hai gussa vaalee jagah hai jahaan gusse shak karana hee hai to us jagah se alag hatane kee koshish karen doosara hai dhyaan man aatma par chintan karen aur isase kyonki agar jo insaan dhyaan karata hai pooja paath karata hai usase hamaara jo gussa hai vah bahut had tak shaant ho jaata hai dhanyavaad agar aapako mera javaab achchha laga ho to laik aur sheyar jaroor karen

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Yogi Prashant Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Yogi जी का जवाब
Business Owner
4:33
बनाया हुआ है कि अपने दिमाग को कैसे शांत रखें वर्तमान स्थिति में जो व्यक्ति की मनोदशा है वह किस ढंग से शांत करना चाहता है सबसे पहली बार अधिकांश लोग किसी ना किसी समस्या में या शारीरिक या मानसिक पीड़ा में स्थित रहते हैं और उसके पश्चात हो कुछ देखना चाहते लेकिन इस ओर आकर्षित पैदल फंसे हुए हैं फिलहाल उद्देश्य मोल लेने देने वाले जबकि की लेने देने वाले की अगर दिमाग के संतुलन मतलब है स्वभाव में है तो वह इस भाषा को अलग प्रकार से समझ सकते हैं लेकिन रिसेंटली अगर किसी को ग्रसित दशा में है अर्थात जैसे एक्सीडेंट हो गया कोई अब उसको कैसे मानसिक दशा से कैसे हम उसको डिलीट कर सकते हैं 110 आई आ सकती जो बिल्कुल आफत उदाहरण स्थिति बोलते हैं उसको जिसको उसको शाम को नहीं पता होता वह ग्रसित भाव में रहता दूसरी बात हम जो भावना सुन रहे हैं अपने आगे भविष्य के लिए शांति की में कैसे बनाई दोनों चैप्टर अलग जाते हैं और मैं किसी भी चीज की विवेचना संपूर्णता देना चाहता है तोहफे में कोई काम हो तो फिलहाल मैं तुम्हारे को ही स्थिति बुलाता हूं जो आपस स्थिति में होता है आपस का मतलब ही होता है जिसमें आप अनभिज्ञ रहते हैं और वह घुटने किसी तरह की घटनाएं हैं आप के दौर में गुजर जाते हैं और जहां समाधान और कोई भी चीज का सहारा नहीं मिल पाता तो इसके लिए तो बंदूक और यही है कि अगर जिंदगी भर याद जीवन आपने किसी आस्था का पॉइंट अगर बनाया होगा चाहे पीपल का देवता हो या नदी की देवी हो गया जो व्यास सा का पहला जो भी आपके मुख मंडल में आता है उसे किस मर्ज में ध्यान में विलीन हो जाना चाहिए और उसके तक्षण छोड़ देना चाहिए जो परिस्थितियों क्योंकि अवश्य प्रवाह मान होता है अर्थात उसके वश में नहीं चलता वह बेहतर विधाता में बहता हुआ तिनका भी नहीं होता तो सिर्फ बस नाम के आश्रय पहली बात तो मैंने यहां खत्म करें जो पति स्थिति में होते हैं दूसरे चली जो लोग मानसिक रूप से प्रिपेयर होना चाहते हैं यानी कभी भी आए नहीं टेंशन वगैरह सब कुछ तो यहां से लोगों के अंदर पहली बात अलग है कि प्रति निष्ठा होनी चाहिए कि उसकी लाइफ का कारण क्या बना हुआ है कि कहीं ना कहीं हमारे आतम दोहन का विषय बनता अर्थात उसमें हमारा भी स्वार्थपारा संभावना है जुड़ी होती है जिसे जो लोग निर्बंध झूठा कल्याण सिंह यानी कल्याण रूप के स्वभाव में जीते हैं उनके लिए स्वाभाविक और सही गतिविधियां होते हैं तो ब्राह्मणों के लिए बोलो के होते हैं जो किसी अनुसंधान के बीच पर अगर किसी मंत्र से कोई दिव्य मंडल के प्रति आकर्षित भावनाएं प्रकट होती हैं उसका बार-बार स्मरण करें ध्यान करें चिंतन करें ही अभ्यास के दौर में होता है दूसरी बात अगर ऐसी बात है तो मोटे-मोटे उदाहरण के तौर पर भी आप शांत रह सकते हैं कहे कभी ज्यादा भाई जब से जीता सबसे सही ऐसे भी आप शांत रह सकते हैं इस तरह के कितने दिमाग के बारे में आप कहोगे हर एक बोलने से पहले हारे के दिमाग की कॉमेडी चलती रहती है और संसार लाखों करोड़ों में है लेकिन युक्ति पूर्वक एक परिभाषा में अगर समझाया जाए तो यही है कि अपने आप को शांति रखने का एक ही तरीका है कि आप सत्य पर आधारित एक ही सत्य और धर्म यह जिसको ज्ञान हो जाए स्वस्थ और धर्म वह कभी भी जिंदगी में कभी भी अशांत नहीं हो सकता है लेकिन अभी धर्म की परिभाषा नहीं पता है लोगों को और सत्य की भी परिभाषा नहीं पाता इसलिए वह डामाडोल होते रहते हैं जो स्थिर होता है वह दिखता है जो चलाएं मान होता है वह चंचल होता है धर्म में तैरता है पता है तो धर्म तत्व के बारे में अगर आप इसके बारे में जानकारी रखेंगे इत्यादि चीजों के बारे में फिलहाल मैं इतना ही कहना चाहता हूं क्योंकि इस समय का भी अभाव होने वाला शायद पहुंचने का समय होता है तो इसके विश्लेषण से आप अपने आप को कुछ समझ सकते हैं धन्यवाद मैं चाहता हूं कुछ ना कुछ आपको वकील पदार्थ मिला होगा धन्यवाद
Banaaya hua hai ki apane dimaag ko kaise shaant rakhen vartamaan sthiti mein jo vyakti kee manodasha hai vah kis dhang se shaant karana chaahata hai sabase pahalee baar adhikaansh log kisee na kisee samasya mein ya shaareerik ya maanasik peeda mein sthit rahate hain aur usake pashchaat ho kuchh dekhana chaahate lekin is or aakarshit paidal phanse hue hain philahaal uddeshy mol lene dene vaale jabaki kee lene dene vaale kee agar dimaag ke santulan matalab hai svabhaav mein hai to vah is bhaasha ko alag prakaar se samajh sakate hain lekin risentalee agar kisee ko grasit dasha mein hai arthaat jaise ekseedent ho gaya koee ab usako kaise maanasik dasha se kaise ham usako dileet kar sakate hain 110 aaee aa sakatee jo bilkul aaphat udaaharan sthiti bolate hain usako jisako usako shaam ko nahin pata hota vah grasit bhaav mein rahata doosaree baat ham jo bhaavana sun rahe hain apane aage bhavishy ke lie shaanti kee mein kaise banaee donon chaiptar alag jaate hain aur main kisee bhee cheej kee vivechana sampoornata dena chaahata hai tohaphe mein koee kaam ho to philahaal main tumhaare ko hee sthiti bulaata hoon jo aapas sthiti mein hota hai aapas ka matalab hee hota hai jisamen aap anabhigy rahate hain aur vah ghutane kisee tarah kee ghatanaen hain aap ke daur mein gujar jaate hain aur jahaan samaadhaan aur koee bhee cheej ka sahaara nahin mil paata to isake lie to bandook aur yahee hai ki agar jindagee bhar yaad jeevan aapane kisee aastha ka point agar banaaya hoga chaahe peepal ka devata ho ya nadee kee devee ho gaya jo vyaas sa ka pahala jo bhee aapake mukh mandal mein aata hai use kis marj mein dhyaan mein vileen ho jaana chaahie aur usake takshan chhod dena chaahie jo paristhitiyon kyonki avashy pravaah maan hota hai arthaat usake vash mein nahin chalata vah behatar vidhaata mein bahata hua tinaka bhee nahin hota to sirph bas naam ke aashray pahalee baat to mainne yahaan khatm karen jo pati sthiti mein hote hain doosare chalee jo log maanasik roop se pripeyar hona chaahate hain yaanee kabhee bhee aae nahin tenshan vagairah sab kuchh to yahaan se logon ke andar pahalee baat alag hai ki prati nishtha honee chaahie ki usakee laiph ka kaaran kya bana hua hai ki kaheen na kaheen hamaare aatam dohan ka vishay banata arthaat usamen hamaara bhee svaarthapaara sambhaavana hai judee hotee hai jise jo log nirbandh jhootha kalyaan sinh yaanee kalyaan roop ke svabhaav mein jeete hain unake lie svaabhaavik aur sahee gatividhiyaan hote hain to braahmanon ke lie bolo ke hote hain jo kisee anusandhaan ke beech par agar kisee mantr se koee divy mandal ke prati aakarshit bhaavanaen prakat hotee hain usaka baar-baar smaran karen dhyaan karen chintan karen hee abhyaas ke daur mein hota hai doosaree baat agar aisee baat hai to mote-mote udaaharan ke taur par bhee aap shaant rah sakate hain kahe kabhee jyaada bhaee jab se jeeta sabase sahee aise bhee aap shaant rah sakate hain is tarah ke kitane dimaag ke baare mein aap kahoge har ek bolane se pahale haare ke dimaag kee komedee chalatee rahatee hai aur sansaar laakhon karodon mein hai lekin yukti poorvak ek paribhaasha mein agar samajhaaya jae to yahee hai ki apane aap ko shaanti rakhane ka ek hee tareeka hai ki aap saty par aadhaarit ek hee saty aur dharm yah jisako gyaan ho jae svasth aur dharm vah kabhee bhee jindagee mein kabhee bhee ashaant nahin ho sakata hai lekin abhee dharm kee paribhaasha nahin pata hai logon ko aur saty kee bhee paribhaasha nahin paata isalie vah daamaadol hote rahate hain jo sthir hota hai vah dikhata hai jo chalaen maan hota hai vah chanchal hota hai dharm mein tairata hai pata hai to dharm tatv ke baare mein agar aap isake baare mein jaanakaaree rakhenge ityaadi cheejon ke baare mein philahaal main itana hee kahana chaahata hoon kyonki is samay ka bhee abhaav hone vaala shaayad pahunchane ka samay hota hai to isake vishleshan se aap apane aap ko kuchh samajh sakate hain dhanyavaad main chaahata hoon kuchh na kuchh aapako vakeel padaarth mila hoga dhanyavaad

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi जी का जवाब
Unknown
2:58
उसका एक बार एक व्यक्ति के घर में उसके चाहने वाले की मृत्यु हो जाते हैं जिसकी वजह से बहुत ज्यादा डिप्रेस्ड में रहने लगता है उसे बहुत सारे लोग समझाते हैं फिर भी वह समझता नहीं अचानक वो व्यक्ति डिप्रेशन में कहीं जा रहा था बहुत ज्यादा परेशान था और वह व्यक्ति किसी फकीर से टकराता है और उसका ध्यान ना होने की वजह से मोबाइल फकीर से टकरा जाता है जिसकी वजह से उसकी रखा जो खत पर होता है एक मिट्टी का कटोरा होता है उसके हाथ से छूटकर गिर जाता और तू चाहता है वह व्यक्ति उस से भी तेज रोने लगता है चिल्लाने लगता है गाने लगता है कि हाय मेरा खत पढ़ टूट गया हाय मेरा यह कटोरा टूट गया अब मैं इसको कैसे खाना मांग लूंगा लोगों से और कैसे खाना खाऊंगा तो यह देखकर वह व्यक्ति बहुत ज्यादा आश्चर्य में पड़ जाता है कि भाई इसका एक मिट्टी का घर पर ही है तो उसे कहता भी है भाई एक मीटिंग है खप्पर है मैं तुम्हें दूसरा दिला दूंगा इसमें इतना रोने गाने की क्या जरूरत है तो व्यक्ति कहता है कि जसवंत व्यक्ति था पूछता है कि तुम क्यों इतना उदास हो इतने हताश निराश क्यों कह रहा है मेरे कोई रीज़न है जिसमें बहुत ज्यादा प्रेम करता था वह अब इस दुनिया में नहीं है तो उन्होंने कहा तो इसमें हताश निराश होने की क्या बात है उसने कभी कैसी बात कर रहे हो क्या मैं तुम्हें ऐसी ही और भी प्रेम करने वाले लोग दिला दूंगा बोलो तो कहता है यार यह कोई बात हुई तो कहने का मतलब यही है कि समस्या कभी छोटी और बड़ी नहीं होती समस्या एक समान होती है बस हमारा जो नजरिया है दूसरे व्यक्ति को अपना समस्या बहुत ज्यादा बढ़ा सामने वाले की समस्या जब हम देखते हैं दोनों का समस्या छोटी लगती है और जब हम हमारी कोई समस्या को देखता है वह सोचता कि हमारी समस्या को समस्या कोई छोटी बड़ी नहीं होती इस नजरिए का फेरबदल होता है और जो समस्या में घिरा होता व्यक्ति उसको समझाओ इतना भी पोस्टर से नहीं समझेगा जब तक आप उसके सामने कोई एग्जांपल नहीं देते तब तक ले सकेगी उसे एग्जांपल दिया था मैंने उसी का उदाहरण पर ही उसे समझ में आता है यह जीवन का सत्य है अब तक हमारा दिमाग शांत होता है जो हमें हमारी समस्याओं से भारी कठिनाइयों से मुश्किलें आसान लगने लगते कि वाकई में वह कठिनाइयां कठिनाई नहीं होती कुछ भी कठिन होता नथिंग इंपॉसिबल सब कुछ उसी वाले सब कुछ आसान है बस यही सोच और नजरिया की बातें समझ ना हमको है आई होप सो दैट यह पोस्ट आप सभी के लिए सुविधाओं के लिए हेल्प खोलो
Usaka ek baar ek vyakti ke ghar mein usake chaahane vaale kee mrtyu ho jaate hain jisakee vajah se bahut jyaada dipresd mein rahane lagata hai use bahut saare log samajhaate hain phir bhee vah samajhata nahin achaanak vo vyakti dipreshan mein kaheen ja raha tha bahut jyaada pareshaan tha aur vah vyakti kisee phakeer se takaraata hai aur usaka dhyaan na hone kee vajah se mobail phakeer se takara jaata hai jisakee vajah se usakee rakha jo khat par hota hai ek mittee ka katora hota hai usake haath se chhootakar gir jaata aur too chaahata hai vah vyakti us se bhee tej rone lagata hai chillaane lagata hai gaane lagata hai ki haay mera khat padh toot gaya haay mera yah katora toot gaya ab main isako kaise khaana maang loonga logon se aur kaise khaana khaoonga to yah dekhakar vah vyakti bahut jyaada aashchary mein pad jaata hai ki bhaee isaka ek mittee ka ghar par hee hai to use kahata bhee hai bhaee ek meeting hai khappar hai main tumhen doosara dila doonga isamen itana rone gaane kee kya jaroorat hai to vyakti kahata hai ki jasavant vyakti tha poochhata hai ki tum kyon itana udaas ho itane hataash niraash kyon kah raha hai mere koee reezan hai jisamen bahut jyaada prem karata tha vah ab is duniya mein nahin hai to unhonne kaha to isamen hataash niraash hone kee kya baat hai usane kabhee kaisee baat kar rahe ho kya main tumhen aisee hee aur bhee prem karane vaale log dila doonga bolo to kahata hai yaar yah koee baat huee to kahane ka matalab yahee hai ki samasya kabhee chhotee aur badee nahin hotee samasya ek samaan hotee hai bas hamaara jo najariya hai doosare vyakti ko apana samasya bahut jyaada badha saamane vaale kee samasya jab ham dekhate hain donon ka samasya chhotee lagatee hai aur jab ham hamaaree koee samasya ko dekhata hai vah sochata ki hamaaree samasya ko samasya koee chhotee badee nahin hotee is najarie ka pherabadal hota hai aur jo samasya mein ghira hota vyakti usako samajhao itana bhee postar se nahin samajhega jab tak aap usake saamane koee egjaampal nahin dete tab tak le sakegee use egjaampal diya tha mainne usee ka udaaharan par hee use samajh mein aata hai yah jeevan ka saty hai ab tak hamaara dimaag shaant hota hai jo hamen hamaaree samasyaon se bhaaree kathinaiyon se mushkilen aasaan lagane lagate ki vaakee mein vah kathinaiyaan kathinaee nahin hotee kuchh bhee kathin hota nathing imposibal sab kuchh usee vaale sab kuchh aasaan hai bas yahee soch aur najariya kee baaten samajh na hamako hai aaee hop so dait yah post aap sabhee ke lie suvidhaon ke lie help kholo

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
2:05
आपका प्रश्न कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें लिखित दिमाग को को सांत्वना करेंगे तो आप विचार विमर्श नहीं कर सकते हैं मन था नहीं कर सकते हैं क्योंकि जब कठिन समय में आप अगर आपके दिमाग में नकारात्मकता भर जाएगी तो आप जीवन में कुछ कर नहीं सकते शिवा बीमार होने के और ब्लड प्रेशर बढ़ाने के शुगर बढ़ाने के अलावा और कोई काम नहीं रहेगा इसलिए जो व्यक्ति कठिन समय में कठिन परिस्थितियों में अपने आप आ को नहीं होता है अपने विवेक से शांति मंत्र हर चीज को विचार करता है क्योंकि देखिए अंग्रेजी में कहावत रिजवान एंड वह R15 का उर्दू के धागे में बंधे हुए हैं जो आए एंड वरूवेन फाइन क्लॉथिंग फॉर द सोल डिवाइन एंड एवरी पेन इन राइब्स 63521 चक्र में बंधे हुए हैं आज अगर दुख है तो कल सुख आएगा तो इसलिए अगर कठिन समय में अगर आपने मेहनत किया और अपने दिमाग को संतुलित बनाए रखा और विनम्रता पूर्वक हर चीज हर समस्या का समाधान होता है अगर घबराकर के आदमी ने सुसाइड कर लिया तो उसका समस्या का समाधान थोड़ी है उधर जिंदगी से उसने हम हार मान लिया और युद्ध के मैदान में वही जीते हैं जो बिल्कुल विवेकपूर्ण तरीके से जब घर की परिस्थितियां साइकिल कोई विश्व युद्ध हो चाहे जितना भी आजकल मिलिट्री में लोग जाते हैं तो बहुत सी ऐसी परेशानी में फंस जाते हैं और वहां पर सोता है उनका जो विवेक होता है जो उनके स्वयं की ताकत होती है वही काम करती है तो घबरा जाएगी मैं तो दुश्मनों के बीच में फस गया हूं तबीयत तो कैसे काम चलेगा इसलिए अपने मन को विनम्रता पूर्वक शांतिपूर्वक हर समस्या के समाधान के लिए प्रयास करना चाहिए और कभी एकदम से घबराना नहीं चाहिए हर समस्या का समाधान होता है थोड़ा देर से होता है खुशी का जल्दी होता है बहुत ज्यादा से ज्यादा आप चार रोटी कमाने के बजाय एक रोटी कमा पाएंगे लेकिन समस्या का सलूशन तो आज को ढूंढना है आपको अपनी समस्या खुद सोचने और खुद उसका सलूशन ऑनलाइन जब आप 16 साल की तरह बढ़ेंगे किसी भी समाधान की तरह बड़े नेता को सफलता जरूर मिलेगी और आपके सारी समस्याओं का निदान भी हो जाएगा और बुरे दिन भी आपके चल जाएंगे
Aapaka prashn kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen likhit dimaag ko ko saantvana karenge to aap vichaar vimarsh nahin kar sakate hain man tha nahin kar sakate hain kyonki jab kathin samay mein aap agar aapake dimaag mein nakaaraatmakata bhar jaegee to aap jeevan mein kuchh kar nahin sakate shiva beemaar hone ke aur blad preshar badhaane ke shugar badhaane ke alaava aur koee kaam nahin rahega isalie jo vyakti kathin samay mein kathin paristhitiyon mein apane aap aa ko nahin hota hai apane vivek se shaanti mantr har cheej ko vichaar karata hai kyonki dekhie angrejee mein kahaavat rijavaan end vah r15 ka urdoo ke dhaage mein bandhe hue hain jo aae end varooven phain klothing phor da sol divain end evaree pen in raibs 63521 chakr mein bandhe hue hain aaj agar dukh hai to kal sukh aaega to isalie agar kathin samay mein agar aapane mehanat kiya aur apane dimaag ko santulit banae rakha aur vinamrata poorvak har cheej har samasya ka samaadhaan hota hai agar ghabaraakar ke aadamee ne susaid kar liya to usaka samasya ka samaadhaan thodee hai udhar jindagee se usane ham haar maan liya aur yuddh ke maidaan mein vahee jeete hain jo bilkul vivekapoorn tareeke se jab ghar kee paristhitiyaan saikil koee vishv yuddh ho chaahe jitana bhee aajakal militree mein log jaate hain to bahut see aisee pareshaanee mein phans jaate hain aur vahaan par sota hai unaka jo vivek hota hai jo unake svayan kee taakat hotee hai vahee kaam karatee hai to ghabara jaegee main to dushmanon ke beech mein phas gaya hoon tabeeyat to kaise kaam chalega isalie apane man ko vinamrata poorvak shaantipoorvak har samasya ke samaadhaan ke lie prayaas karana chaahie aur kabhee ekadam se ghabaraana nahin chaahie har samasya ka samaadhaan hota hai thoda der se hota hai khushee ka jaldee hota hai bahut jyaada se jyaada aap chaar rotee kamaane ke bajaay ek rotee kama paenge lekin samasya ka salooshan to aaj ko dhoondhana hai aapako apanee samasya khud sochane aur khud usaka salooshan onalain jab aap 16 saal kee tarah badhenge kisee bhee samaadhaan kee tarah bade neta ko saphalata jaroor milegee aur aapake saaree samasyaon ka nidaan bhee ho jaega aur bure din bhee aapake chal jaenge

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
KANHAIYA  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KANHAIYA जी का जवाब
Student
1:14
गूगल तुम्हारा कल शनिवार साथ आपका हमारे बोलकर आपके चलो ना दुखाए तो आपने हमसे पूछा है कि कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें अगर आप कभी-कभी होता यार कैसे गिला गिला ना कुछ कठिन समय होता है जिसमें भी इंसान गलत फैसले जाते लेता क्योंकि मुश्किल के समय में इंसान हमेशा गलत फैसले रहता है मुश्किल समय में हम थोड़ा शांत तरीके से हर शास्त्र सोचेंगे तो हम उस परेशानी का हल आसानी से निकाल लेते हैं औरत से ज्यादा से ज्यादा कैसेट में हुआ क्या करूं उसका से में शांतिपूर्वक तरीके से सोचेंगे तो हम मुश्किलों का सामना कर सकते हो और उनका हल आसानी से ढूंढ लेते हैं अब बता दें कि मुझसे समय में कठिन समय अपने दिमाग को शांत कैसे रहे करें तो गायक मैं आपको बता दूं कि फिलहाल मुश्किल समय में हमें आने वाली टाइम के बारे में नहीं सोचा नहीं बल्कि अपने मां कसम करना और उसके लिए आपको यह सूचना है कि उसके बाद प्रॉब्लम के बारे में नहीं सोचना बल्कि उसके सॉल्यूशंस पर ज्यादा ध्यान देना इससे आप अपना दिमाग भी शांत कर सकते और आप उस कठिन समय से बाहर निकल सकते हैं आसानी से
Googal tumhaara kal shanivaar saath aapaka hamaare bolakar aapake chalo na dukhae to aapane hamase poochha hai ki kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karen agar aap kabhee-kabhee hota yaar kaise gila gila na kuchh kathin samay hota hai jisamen bhee insaan galat phaisale jaate leta kyonki mushkil ke samay mein insaan hamesha galat phaisale rahata hai mushkil samay mein ham thoda shaant tareeke se har shaastr sochenge to ham us pareshaanee ka hal aasaanee se nikaal lete hain aurat se jyaada se jyaada kaiset mein hua kya karoon usaka se mein shaantipoorvak tareeke se sochenge to ham mushkilon ka saamana kar sakate ho aur unaka hal aasaanee se dhoondh lete hain ab bata den ki mujhase samay mein kathin samay apane dimaag ko shaant kaise rahe karen to gaayak main aapako bata doon ki philahaal mushkil samay mein hamen aane vaalee taim ke baare mein nahin socha nahin balki apane maan kasam karana aur usake lie aapako yah soochana hai ki usake baad problam ke baare mein nahin sochana balki usake solyooshans par jyaada dhyaan dena isase aap apana dimaag bhee shaant kar sakate aur aap us kathin samay se baahar nikal sakate hain aasaanee se

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
harmandeep kaur Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए harmandeep जी का जवाब
Unknown
0:10

bolkar speaker
कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें?Kathin Samay Mein Apne Dimag Ko Kaise Shant Karein
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:46
फ्रेंड स्वागत है आपका आपका फेस नहीं कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करना है फ्रेंड कठिन समय में आप अपने दिमाग को शांत रखें और आप यह सोचिए कि अगर आपने किसी के साथ बुरा किया हुआ है तो भगवान उसका परिणाम उसको अवश्य टीका आज नहीं तो कल देगा इसलिए अपने दिमाग को शांत रखना है और भगवान में मन लगाना है थोड़ा पूजा भक्ति करना है अच्छी-अच्छी चीजें आपको किताबें पढ़नी है और आप अपने दोस्तों से बात करिए जिनसे आपको बात करने में अच्छा लगता है तो मन शांत होगा और आप लोग टीवी में अपने मनपसंद प्रोग्राम भी देख सकते हैं यही सब करने से आपका मन थोड़ा शांत हो जाएगा धन्यवाद
Phrend svaagat hai aapaka aapaka phes nahin kathin samay mein apane dimaag ko kaise shaant karana hai phrend kathin samay mein aap apane dimaag ko shaant rakhen aur aap yah sochie ki agar aapane kisee ke saath bura kiya hua hai to bhagavaan usaka parinaam usako avashy teeka aaj nahin to kal dega isalie apane dimaag ko shaant rakhana hai aur bhagavaan mein man lagaana hai thoda pooja bhakti karana hai achchhee-achchhee cheejen aapako kitaaben padhanee hai aur aap apane doston se baat karie jinase aapako baat karane mein achchha lagata hai to man shaant hoga aur aap log teevee mein apane manapasand prograam bhee dekh sakate hain yahee sab karane se aapaka man thoda shaant ho jaega dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कठिन समय में अपने दिमाग को कैसे शांत करें कठिन समय में दिमाग को कैसे शांत करें
URL copied to clipboard