#जीवन शैली

bolkar speaker

किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?

Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
2:37
प्रश्न है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम नहीं आंकना चाहिए या समझना जाए विंस कमजोर नहीं समझना है मैं बताना चाहता हूं कि आखिर कमजोर कौन कमजोर वह होता है जो अपनी कमियों पर जान दे देता अपनी आकांक्षाओं पर ध्यान नहीं देता इच्छाओं को मारता रहता ही कमजोर है उसको कमजोर बनाता है भले वह पतला हम याद दिलाओ मोटा नाटक उससे फर्क नहीं पड़ता है उसको ऐसा कमजोर बना दे कि मैं उस लायक नहीं हूं जो मैं अभिषेक कर पाऊं यह मैं औरों से अलग हूं यह कतई थिंकिंग जो रखना होता है वह गलत होता वैसे भी किसी इंसान को कमाना नहीं चाहिए कि की बुद्धि भले ही वतन से कमजोर हो लेकिन मन से इंसान कम जिओ नेटवर्क विवेक का इस्तेमाल करके इंसान को हर कंडीशन में चिपक दे सकता बस कर सकता है इसलिए इंसान कितना भी वह हमसे अवधि में कम हो या वह दे में छोटा हो बड़ा हो वह मणिनगर का भविष्य के प्रति हमारे क्या थिंकिंग हमारी क्या सोच है वह ज्यादा मायने रखता है हर परिस्थिति में इंसान सोचता है बड़े वाले बड़े लोग सोचते हैं कि छोटे लोगों की क्या औकात है तुममे इस बात का खंडन करता हूं कि तुम्हारी उस कंडीशन में तुम्हारी क्या औकात थी जब तुम फ्री ने शेलपॉइंट में से शुरुआत में तुम थी तो अपनी-अपनी जब कोई बोलता है कि तुम्हारी क्या औकात है जब कुछ भी हो तो अपने अपने अंदर झांक कर देखो कि मैंने क्या फिर वह मेरे मेरे अपने मेरे साथ में क्या था क्या मैं उससे बड़ा था कि छोटा था या अपनी सोच के अनुसार में बदला जो है वह आसमान की तरह सोचते तो कभी भी कमजोर नहीं हो सकता इसलिए कोई भी इंसान तो हम काम आप नहीं सकते वह कभी भी तो हम से आगे बढ़ सकता है उसे हम से वह सब कार्य कर सकते हैं जो जो दूसरे इंसान नहीं कर सकते हैं चाहे कोई भी पढ़ लेती हो चाहे कुछ भी कंडीशन घटित क्यों ना हो फिर
Prashn hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam nahin aankana chaahie ya samajhana jae vins kamajor nahin samajhana hai main bataana chaahata hoon ki aakhir kamajor kaun kamajor vah hota hai jo apanee kamiyon par jaan de deta apanee aakaankshaon par dhyaan nahin deta ichchhaon ko maarata rahata hee kamajor hai usako kamajor banaata hai bhale vah patala ham yaad dilao mota naatak usase phark nahin padata hai usako aisa kamajor bana de ki main us laayak nahin hoon jo main abhishek kar paoon yah main auron se alag hoon yah katee thinking jo rakhana hota hai vah galat hota vaise bhee kisee insaan ko kamaana nahin chaahie ki kee buddhi bhale hee vatan se kamajor ho lekin man se insaan kam jio netavark vivek ka istemaal karake insaan ko har kandeeshan mein chipak de sakata bas kar sakata hai isalie insaan kitana bhee vah hamase avadhi mein kam ho ya vah de mein chhota ho bada ho vah maninagar ka bhavishy ke prati hamaare kya thinking hamaaree kya soch hai vah jyaada maayane rakhata hai har paristhiti mein insaan sochata hai bade vaale bade log sochate hain ki chhote logon kee kya aukaat hai tumame is baat ka khandan karata hoon ki tumhaaree us kandeeshan mein tumhaaree kya aukaat thee jab tum phree ne shelapoint mein se shuruaat mein tum thee to apanee-apanee jab koee bolata hai ki tumhaaree kya aukaat hai jab kuchh bhee ho to apane apane andar jhaank kar dekho ki mainne kya phir vah mere mere apane mere saath mein kya tha kya main usase bada tha ki chhota tha ya apanee soch ke anusaar mein badala jo hai vah aasamaan kee tarah sochate to kabhee bhee kamajor nahin ho sakata isalie koee bhee insaan to ham kaam aap nahin sakate vah kabhee bhee to ham se aage badh sakata hai use ham se vah sab kaary kar sakate hain jo jo doosare insaan nahin kar sakate hain chaahe koee bhee padh letee ho chaahe kuchh bhee kandeeshan ghatit kyon na ho phir

और जवाब सुनें

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
स्वागत है आपका आपका प्रश्न है किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए कि हम फ्रेंड कोई भी इंसान किसी से कम नहीं होता है मामा ने हर व्यक्ति को अपने अपने अंदर एक अजीब शक्ति दी है एक अजूबा कर दिया है कि तो अलग ही मगर दिया है सबके अंदर कोई ना कोई होना जरूरी होता है वह सब के अंदर कोई ना कोई ज्ञान जरूर होता है तो किसी भी इंसान को कभी किसी से कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि हर इंसान में अपनी अलग अलग योग्यता होती है किसी न किसी मत होना जरूरी होता है जो हर इंसान से अलग बनाता है तो आपको फ्रेंड से अगर मेरी जॉब पसंद आए तो प्लीज मुझे लाइक जरूर करते रहिएगा धन्यवाद
Svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie ki ham phrend koee bhee insaan kisee se kam nahin hota hai maama ne har vyakti ko apane apane andar ek ajeeb shakti dee hai ek ajooba kar diya hai ki to alag hee magar diya hai sabake andar koee na koee hona jarooree hota hai vah sab ke andar koee na koee gyaan jaroor hota hai to kisee bhee insaan ko kabhee kisee se kam nahin samajhana chaahie kyonki har insaan mein apanee alag alag yogyata hotee hai kisee na kisee mat hona jarooree hota hai jo har insaan se alag banaata hai to aapako phrend se agar meree job pasand aae to pleej mujhe laik jaroor karate rahiega dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:45
नमस्ते किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम कितने नहीं समझना चाहिए क्योंकि व्यक्ति का पता नहीं चलता कि कब जीवन में किस से काम पड़ जाए ही इसकी जरूरत पड़ जाए कौन है वह आप से आगे निकल जाए यह कौन है वह किसी को कब मिल जाए इसलिए किसी को कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि हम किसी को हम समझते हैं कि उस वक्त आने वाले समय में हुआ हमसे बड़ा बन जाए तो हमें उसके आगे झुकना पड़े हमें उससे कुछ मांगना पड़ेगा हमने उस वक्त कम समझा था और आज हम उसको एक मदर्स के सामने झुकने तो हमें बताना घोषित होगी इसलिए किसी को कम मत समझो आपको कभी भी लग जा महसूस नहीं होगी कभी भी शर्म महसूस नहीं होगी धन्यवाद
Namaste kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kitane nahin samajhana chaahie kyonki vyakti ka pata nahin chalata ki kab jeevan mein kis se kaam pad jae hee isakee jaroorat pad jae kaun hai vah aap se aage nikal jae yah kaun hai vah kisee ko kab mil jae isalie kisee ko kam nahin samajhana chaahie kyonki ham kisee ko ham samajhate hain ki us vakt aane vaale samay mein hua hamase bada ban jae to hamen usake aage jhukana pade hamen usase kuchh maangana padega hamane us vakt kam samajha tha aur aaj ham usako ek madars ke saamane jhukane to hamen bataana ghoshit hogee isalie kisee ko kam mat samajho aapako kabhee bhee lag ja mahasoos nahin hogee kabhee bhee sharm mahasoos nahin hogee dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
कमल मोबाइल शॉप पिंटू बैटरी सर्विस
0:56
सवाल है किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए देखिए कोई भी इंसान छोटा या बड़ा नहीं होता है हमारी सोच छोटी बड़ी होती है जिसकी जैसी सोच होती है वह वैसा ही सोचता है किसी भी इंसान को कभी छोटा नहीं समझना चाहिए चाहे वह शत्रु हो साफ हो छोटी सी बीमारी क्यों न हो क्योंकि जब यह अपनी हद में आ जाते हैं तो बहुत कुछ नुकसान कर सकते देसी साथ जितना छोटा होता है उतना ही ज्यादा जहरीला होता है शत्रु को कम नहीं आंकना चाहिए सत्तू छोटा नहीं मानना चाहिए शत्रु आपको वक्त आने पर बहुत ही ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता है धन्यवाद
Savaal hai kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie dekhie koee bhee insaan chhota ya bada nahin hota hai hamaaree soch chhotee badee hotee hai jisakee jaisee soch hotee hai vah vaisa hee sochata hai kisee bhee insaan ko kabhee chhota nahin samajhana chaahie chaahe vah shatru ho saaph ho chhotee see beemaaree kyon na ho kyonki jab yah apanee had mein aa jaate hain to bahut kuchh nukasaan kar sakate desee saath jitana chhota hota hai utana hee jyaada jahareela hota hai shatru ko kam nahin aankana chaahie sattoo chhota nahin maanana chaahie shatru aapako vakt aane par bahut hee jyaada nukasaan pahuncha sakata hai dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Ramlal Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ramlal जी का जवाब
Students
0:45

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:58
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए दिखी फ्रेंड दुनिया में भगवान के द्वारा जिस चीज की उत्पत्ति की गई है चाहे वह मानव हो चाहे वह बस पंछी हूं चाहे वह पेड़ पौधे हो चाहे वह घास वगैरह ही क्यों ना हो सबकी अपनी अपनी एक अलग महत्व है अपना अपना एक अलग ही स्थान है कहीं पर न कहीं पर किसी का जो है रोल होता है फ्रेंड कोई भी व्यर्थ के लिए इस धरती पर नहीं आया है आप देखेंगे कि कोई छोटा सा छोटा इंसान है आप उसे तुझे समझ देते हैं कि अरे यार यह मेरे कौन से काम में आएगा कि इसे मेरी कोई प्रॉफिट नहीं है लेकिन फ्रेंड लाइफ है और लाइफ में हम जानते हैं कि एक इंसान से हम कहीं न कहीं किसी न किसी मोड़ पर जो है टकराव हो ही जाता है और जब हम किसी इंसान से ऐसा सोचते हैं या फिर अपने मन में इस तरीके से बात भर के चलते हैं कि मेरी किसी काम का नहीं आएगा तो फ्रेंड यह मैंने देखा है कि उल्टा पता नहीं क्या होता है इसका मैंने आज तक समझ नहीं आया लेकिन आप यह अगर जानना चाहते हैं तो यह आप कोशिश करके देख लीजिएगा किसी इंसान को आप तो समझिए ठीक है फ्रेंड आप यह समझ जी कि यह मेरे लिए यूज ले से बेकार है लेकिन कुछ टाइम बाद आप देखेंगे कि घूम फिर कहीं न कहीं वह इंसान आपके लिए अच्छा साबित होता है आपके लिए मददगार साबित होता है कहीं ना कहीं उस इंसान का जो है आवश्यकता आपको पड़ जाती है लाइफ में मुलाकातें हैं उनसे फिर दोबारा हो जाती है फिर इसका जो साइंटिफिक रीजन है वह मुझे अभी तक समझ नहीं आया फिर सर आपने इसका मैं दूसरा एग्जांपल दे रहा हूं कि एक इंसान हो मान लीजिए उसे आप रोज रोज आते जाते देख जो है आता जाता हो लेकिन आप कभी देखे ना हो कभी परिचय ना हो उसे लेकिन एक दिन अगर आपकी उस इंसान से परिचय हो जाती है तो आप देखेंगे कि लगभग हर समय जो है कहीं कहीं वह इंसान आपसे मुलाकात करता रहता है कि यह प्रकृति का नियम है फ्रेंड धरती है आपने सुना होगा कि धरती गोल है घूम फिर के इंसान उसी इंसान पर फिर आता है जहां से वह चलना स्टार्ट करता है तू कभी भी फ्रेंड किसी इंसान को तुझे नहीं समझना चाहिए इंसान को क्या मेरी नजर में तो फ्रेंड इंसान प्राणी घास फूस कभी भी किसी को कुछ नहीं समझना चाहिए क्योंकि अगर घास फूस नहीं रहेंगे तो हमारे पास पंछी को जो है वह जिंदा नहीं रहेंगे वह अपना भोजन जो है नहीं बना पाएंगे क्या खाएंगे फ्रेंड्स क्योंकि उनका यही घास वगैरह ही उनका भोजन होता है तो भगवान के द्वारा जिस चीज की रचना की गई है वह अपने आप में फ्रेंड अवैध नहीं है जिसका कोई वर्णन नहीं किया जा सकता फ्रेंड उसे हम शब्दों में नहीं उतार सकते फ्रेंड आ जाए जवाब पसंद आया होगा नमस्कार
Helo phrend namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie dikhee phrend duniya mein bhagavaan ke dvaara jis cheej kee utpatti kee gaee hai chaahe vah maanav ho chaahe vah bas panchhee hoon chaahe vah ped paudhe ho chaahe vah ghaas vagairah hee kyon na ho sabakee apanee apanee ek alag mahatv hai apana apana ek alag hee sthaan hai kaheen par na kaheen par kisee ka jo hai rol hota hai phrend koee bhee vyarth ke lie is dharatee par nahin aaya hai aap dekhenge ki koee chhota sa chhota insaan hai aap use tujhe samajh dete hain ki are yaar yah mere kaun se kaam mein aaega ki ise meree koee prophit nahin hai lekin phrend laiph hai aur laiph mein ham jaanate hain ki ek insaan se ham kaheen na kaheen kisee na kisee mod par jo hai takaraav ho hee jaata hai aur jab ham kisee insaan se aisa sochate hain ya phir apane man mein is tareeke se baat bhar ke chalate hain ki meree kisee kaam ka nahin aaega to phrend yah mainne dekha hai ki ulta pata nahin kya hota hai isaka mainne aaj tak samajh nahin aaya lekin aap yah agar jaanana chaahate hain to yah aap koshish karake dekh leejiega kisee insaan ko aap to samajhie theek hai phrend aap yah samajh jee ki yah mere lie yooj le se bekaar hai lekin kuchh taim baad aap dekhenge ki ghoom phir kaheen na kaheen vah insaan aapake lie achchha saabit hota hai aapake lie madadagaar saabit hota hai kaheen na kaheen us insaan ka jo hai aavashyakata aapako pad jaatee hai laiph mein mulaakaaten hain unase phir dobaara ho jaatee hai phir isaka jo saintiphik reejan hai vah mujhe abhee tak samajh nahin aaya phir sar aapane isaka main doosara egjaampal de raha hoon ki ek insaan ho maan leejie use aap roj roj aate jaate dekh jo hai aata jaata ho lekin aap kabhee dekhe na ho kabhee parichay na ho use lekin ek din agar aapakee us insaan se parichay ho jaatee hai to aap dekhenge ki lagabhag har samay jo hai kaheen kaheen vah insaan aapase mulaakaat karata rahata hai ki yah prakrti ka niyam hai phrend dharatee hai aapane suna hoga ki dharatee gol hai ghoom phir ke insaan usee insaan par phir aata hai jahaan se vah chalana staart karata hai too kabhee bhee phrend kisee insaan ko tujhe nahin samajhana chaahie insaan ko kya meree najar mein to phrend insaan praanee ghaas phoos kabhee bhee kisee ko kuchh nahin samajhana chaahie kyonki agar ghaas phoos nahin rahenge to hamaare paas panchhee ko jo hai vah jinda nahin rahenge vah apana bhojan jo hai nahin bana paenge kya khaenge phrends kyonki unaka yahee ghaas vagairah hee unaka bhojan hota hai to bhagavaan ke dvaara jis cheej kee rachana kee gaee hai vah apane aap mein phrend avaidh nahin hai jisaka koee varnan nahin kiya ja sakata phrend use ham shabdon mein nahin utaar sakate phrend aa jae javaab pasand aaya hoga namaskaar

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Md Mahmud Alam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Md जी का जवाब
स्टूडेंट विद्यार्थी
0:37

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:50
आपका प्रश्न यह है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए देखिए रावण ने अपने अहंकार में भगवान राम को अपने से बहुत छोटा समझा आपने से बहुत कम समझा नतीजे में रावण मारा गया कंस ने भगवान कृष्ण को अपनी ताकत के बदले में बहुत कम समझा कि छोटा सा बालक है क्या करेगा कंस मारा गया आप राजा बलि को देखिए जिन्होंने वामन वामन अवतार भगवान को एक बालक के रूप में समझा साधारण नतीजे में वह अपने तीनों लोगों की श्रद्धा दवा विकी ऐसा कुछ नहीं होता है कि कोई व्यक्ति हम अपने अहंकार में दूसरे व्यक्ति को हम सदैव कम समझने लगे हैं तो कई बार बहुत भारी पड़ जाता है पर आपने देखा होगा कई बार बड़े-बड़े बाहुबली को एक साधारण व्यक्ति इसी कारण से बदले के स्वरूप समाप्त कर देता है ठीक इसी तरीके से अपने सामान्य जीवन में किसी भी व्यक्ति को कमतर आंकने की गलती नहीं करना चाहिए खास करके जो अपना प्रतियोगी है आपको भी प्रतियोगी परीक्षा दे रहे हैं समझे आपने बहुत अच्छी पढ़ाई करी लेकिन जरूरी नहीं है कि आप से अच्छी पढ़ाई किसी और ने नहीं कर रखी हो तो हम यह समझे कि नहीं मैं प्रतिदिन 6 घंटे पढ़ाई कर रहा हूं यह बहुत है हो सकता है कोई व्यक्ति आप से 10 घंटे ज्यादा भी पड़ेगा तो हमेशा इस मुगालते में कभी नहीं रहना चाहिए कि मैं बहुत बड़ा हूं या मेरे में बहुत ज्यादा ज्ञान है और सामने वाले व्यक्ति में या दूसरे लोगों में नहीं हमको यह विश्वास हमको यह मानना चाहिए कि वह भी व्यक्ति है वह भी इंसान हैं ईश्वर ने दूसरे वाले दूसरों को भी बुद्धि दी है और वह भी दूसरा व्यक्ति भी कुछ भी कर सकता है इसलिए किसी भी इंसान को कभी भी अपने से कमतर आंकने की गलती नहीं करना चाहिए बल्कि सामने वाले को सक्षम समझ कर के उस अनुसार आप भी प्रयास करें तो आपके सफल होने की उम्मीद ज्यादा होगी की संभावना बढ़ जाएगी यही मेरा मत धन्यवाद
Aapaka prashn yah hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie dekhie raavan ne apane ahankaar mein bhagavaan raam ko apane se bahut chhota samajha aapane se bahut kam samajha nateeje mein raavan maara gaya kans ne bhagavaan krshn ko apanee taakat ke badale mein bahut kam samajha ki chhota sa baalak hai kya karega kans maara gaya aap raaja bali ko dekhie jinhonne vaaman vaaman avataar bhagavaan ko ek baalak ke roop mein samajha saadhaaran nateeje mein vah apane teenon logon kee shraddha dava vikee aisa kuchh nahin hota hai ki koee vyakti ham apane ahankaar mein doosare vyakti ko ham sadaiv kam samajhane lage hain to kaee baar bahut bhaaree pad jaata hai par aapane dekha hoga kaee baar bade-bade baahubalee ko ek saadhaaran vyakti isee kaaran se badale ke svaroop samaapt kar deta hai theek isee tareeke se apane saamaany jeevan mein kisee bhee vyakti ko kamatar aankane kee galatee nahin karana chaahie khaas karake jo apana pratiyogee hai aapako bhee pratiyogee pareeksha de rahe hain samajhe aapane bahut achchhee padhaee karee lekin jarooree nahin hai ki aap se achchhee padhaee kisee aur ne nahin kar rakhee ho to ham yah samajhe ki nahin main pratidin 6 ghante padhaee kar raha hoon yah bahut hai ho sakata hai koee vyakti aap se 10 ghante jyaada bhee padega to hamesha is mugaalate mein kabhee nahin rahana chaahie ki main bahut bada hoon ya mere mein bahut jyaada gyaan hai aur saamane vaale vyakti mein ya doosare logon mein nahin hamako yah vishvaas hamako yah maanana chaahie ki vah bhee vyakti hai vah bhee insaan hain eeshvar ne doosare vaale doosaron ko bhee buddhi dee hai aur vah bhee doosara vyakti bhee kuchh bhee kar sakata hai isalie kisee bhee insaan ko kabhee bhee apane se kamatar aankane kee galatee nahin karana chaahie balki saamane vaale ko saksham samajh kar ke us anusaar aap bhee prayaas karen to aapake saphal hone kee ummeed jyaada hogee kee sambhaavana badh jaegee yahee mera mat dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:02
छा गया है किसी भी इंसान को कभी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए तो देखिए ईश्वर ने हर इंसान को एक स्पेशल विशेषता देकर भेजा है और वह बाकी सारे इंसान से यूनिक विशेषता है कोई भी इंसान अब पूरी तरीके से किसी दूसरे इंसान की तरह नहीं है और कोई भी इंसान परफेक्ट नहीं हो सकता है कोई पढ़ाई में अच्छा हो तो कोई दूसरा बंदा स्पोर्ट्स अच्छा होगा कोई म्यूजिक में अच्छा होगा यह हो सकता है कुछ सिर्फ खाली बैठने में अच्छा होगा तब किसी की भी जैसा उससे बेहतर वह काम नहीं कर सकते हैं तो फिर आप किसी और को किसी से कम कैसे समझ सकते सिर्फ एक प्रोस्पेक्टिव में देखकर आप किसी को यह नहीं बता सकते कि यह बेहतर है या यह कम करें क्योंकि किसी और चीज में दूसरा इंसान इतना बेहतर होगा कि पहला इंसान उसके लेवल पर भी ना पाए तो यही कारण है कि हमें यह सोचना चाहिए कि हर इंसान बराबर है कोई भी किसी से कम नहीं है उम्मीद करती हूं आपको पसंद आया होगा धन्यवाद
Chha gaya hai kisee bhee insaan ko kabhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie to dekhie eeshvar ne har insaan ko ek speshal visheshata dekar bheja hai aur vah baakee saare insaan se yoonik visheshata hai koee bhee insaan ab pooree tareeke se kisee doosare insaan kee tarah nahin hai aur koee bhee insaan paraphekt nahin ho sakata hai koee padhaee mein achchha ho to koee doosara banda sports achchha hoga koee myoojik mein achchha hoga yah ho sakata hai kuchh sirph khaalee baithane mein achchha hoga tab kisee kee bhee jaisa usase behatar vah kaam nahin kar sakate hain to phir aap kisee aur ko kisee se kam kaise samajh sakate sirph ek prospektiv mein dekhakar aap kisee ko yah nahin bata sakate ki yah behatar hai ya yah kam karen kyonki kisee aur cheej mein doosara insaan itana behatar hoga ki pahala insaan usake leval par bhee na pae to yahee kaaran hai ki hamen yah sochana chaahie ki har insaan baraabar hai koee bhee kisee se kam nahin hai ummeed karatee hoon aapako pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
2:21
जीके क्वेश्चन चाहिए किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए देखिए बहुत सारा रीजन एक नहीं क्योंकि हर एक इंसान में कौन सी क्वालिटी होती है जो दूसरे इंसान में नहीं होती है कि तुमने कैरेक्टर को इसी में ना किसी में हर इंसान में कुछ यूनिक करैक्टर होता है लेकिन वह ऐसी बात होती है कि वह खुद को पहचान नहीं पता कि उसमें क्या ऐसी क्वालिटी हैं दूसरों से डिफरेंट है इसीलिए हमें हर इंसान का रिस्पेक्ट करना चाहिए क्योंकि ऐसी चीज सीख सकते हैं जो हमारे पास नहीं तो यह क्वालिटी अपने अंदर रखनी चाहिए और मतलब ऐसा थॉट्स रखना चाहिए कि अगर भगवान ने मुझे पृथ्वी पर भेजा ऐड लिस्ट मेरे में एक ऐसी क्वालिटी होगी जो मेरे को यूनिक बनाती होगी या फिर हर इंसान में सी क्वालिटी होती है लेकिन वह ऐसी बात है कि वह अपने को अंडर एस्टीमेट कर देता है वह मैं आपको समझता नहीं है आम इंसान को इंसान अपनी क्वालिटी को समझ लेता है और उस पर वर्क कर देता है तो फिर वह इंसान जो चाहे लाइफ में वह चेक कर लेता है और वह एक ग्रेट पर्सन बन जाता है तो यह सारी बातें उसी लिए हमें कभी भी किसी से कम नहीं समझना चाहिए और क्योंकि इंसान को कहते हैं ना कि अगर इंसान जैसा सोचता फिर वह ऑटोमेटिक ऐसा बनने लगता तुझे सारी चीज है इंसान बहुत कुछ कर सकता है सबको कर सकता है लेकिन उसको बस अपने पर ज्यादा विश्वास रखने की जरूरत पड़ती है और आज क्या कहते हैं कि क्योंकि मुकदमा मुझ पर विश्वास कर लेता है तो फिर वह लाइफ में कुछ भेज चुप कर लेता है तो यह सारी चीज है इसीलिए इंसान को कभी भी किसी से कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि कोई भी आया है वो इंसान है और उसने अपने हार्ड वर्किंग से कुछ भी अजीब किया है यह सारी चीजें हैं जिससे कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम नहीं समझना चाहिए और हर इंसान को गढ़ाकोटा से रिस्पेक्ट करना चाहिए क्योंकि उसमें बस यह रखना चाहिए अपने मन में कि उसमें एक ऐसे ही स्पेशल क्वालिटी है जो मेरे में नहीं है जो मैं उससे सीख सकता हूं अगर की भावना रहेगी तो आप कभी भी किसी को अपने से कम नहीं समझोगे और कोई बड़ा हो या छोटा ऑलवेज रिस्पेक्ट दो थैंक यू
Jeeke kveshchan chaahie kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie dekhie bahut saara reejan ek nahin kyonki har ek insaan mein kaun see kvaalitee hotee hai jo doosare insaan mein nahin hotee hai ki tumane kairektar ko isee mein na kisee mein har insaan mein kuchh yoonik karaiktar hota hai lekin vah aisee baat hotee hai ki vah khud ko pahachaan nahin pata ki usamen kya aisee kvaalitee hain doosaron se dipharent hai iseelie hamen har insaan ka rispekt karana chaahie kyonki aisee cheej seekh sakate hain jo hamaare paas nahin to yah kvaalitee apane andar rakhanee chaahie aur matalab aisa thots rakhana chaahie ki agar bhagavaan ne mujhe prthvee par bheja aid list mere mein ek aisee kvaalitee hogee jo mere ko yoonik banaatee hogee ya phir har insaan mein see kvaalitee hotee hai lekin vah aisee baat hai ki vah apane ko andar esteemet kar deta hai vah main aapako samajhata nahin hai aam insaan ko insaan apanee kvaalitee ko samajh leta hai aur us par vark kar deta hai to phir vah insaan jo chaahe laiph mein vah chek kar leta hai aur vah ek gret parsan ban jaata hai to yah saaree baaten usee lie hamen kabhee bhee kisee se kam nahin samajhana chaahie aur kyonki insaan ko kahate hain na ki agar insaan jaisa sochata phir vah otometik aisa banane lagata tujhe saaree cheej hai insaan bahut kuchh kar sakata hai sabako kar sakata hai lekin usako bas apane par jyaada vishvaas rakhane kee jaroorat padatee hai aur aaj kya kahate hain ki kyonki mukadama mujh par vishvaas kar leta hai to phir vah laiph mein kuchh bhej chup kar leta hai to yah saaree cheej hai iseelie insaan ko kabhee bhee kisee se kam nahin samajhana chaahie kyonki koee bhee aaya hai vo insaan hai aur usane apane haard varking se kuchh bhee ajeeb kiya hai yah saaree cheejen hain jisase ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam nahin samajhana chaahie aur har insaan ko gadhaakota se rispekt karana chaahie kyonki usamen bas yah rakhana chaahie apane man mein ki usamen ek aise hee speshal kvaalitee hai jo mere mein nahin hai jo main usase seekh sakata hoon agar kee bhaavana rahegee to aap kabhee bhee kisee ko apane se kam nahin samajhoge aur koee bada ho ya chhota olavej rispekt do thaink yoo

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:37
टेंशन है किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए मैं आपको बताना चाहता हूं किसी भी इंसान को तुझे कसम गुस्सा नहीं करना चाहिए क्योंकि जो बातें जो वह कर सकता है वह आप नहीं कर सकते जो वह कर सकता है वह आप नहीं कर सकते जो वह सोच रहा है वह आप नहीं सोच रहे हैं आप दूसरा जो सोचते हैं वह दूसरा कुछ सोच रहा है इसी के वजह से किसी भी इंसान को कभी किसी से कम नहीं समझना चाहिए धन्यवाद
Tenshan hai kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie main aapako bataana chaahata hoon kisee bhee insaan ko tujhe kasam gussa nahin karana chaahie kyonki jo baaten jo vah kar sakata hai vah aap nahin kar sakate jo vah kar sakata hai vah aap nahin kar sakate jo vah soch raha hai vah aap nahin soch rahe hain aap doosara jo sochate hain vah doosara kuchh soch raha hai isee ke vajah se kisee bhee insaan ko kabhee kisee se kam nahin samajhana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:36
नमस्कार आपका प्रश्न है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए देखिए दोस्त कभी भी किसी इंसान को कभी भी किसी इंसान को कभी कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि देखिए सभी इंसान मेरी नजर में बराबर है हम सभी धर्म को मानते हैं सभी इंसान को मानते हैं और यह अगर हम किसी को किसी से कम समझते हैं तो वह हमारी बहुत बड़ी गलती है बहुत बड़ी भूल है क्योंकि आज की डेट में कोई भी किसी से कम नहीं है यह फैक्ट है ठीक है कोई कभी-कभी वक्त ऐसा आ जाता है कि कोई आदमी दब जाता है यार डर जाता है या थोड़ा चुप हो जाता तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह हम किसी से कम है हो सकता है वह वक्त की नजाकत को समझ रहा हूं हो सकता है कि वह उस पर जवाब देने की या उस वक्त बात करने की स्थिति में ना हो लेकिन वक्त आने पर या सही मौका आने पर वह जवाब जरूर देगा और देता है यह मेरे साथ भी होता है अक्सर कई बार कि मैं काफी लोग मुझ सोचते कि यह हमसे बहुत छोटा है हमसे बहुत कम है वह दे में उम्र में लेकिन मैं भी यह सोच कर चुप हो जाता हूं कि अभी वक्त नहीं है मौका नहीं है इनको जवाब देने का लेकिन हां यह है कि जब भी मुझे गुस्सा आएगा या जब भी मेरे को लगता है कि हां सही मौका इस को जवाब देने का मैं उसकी बात को याद रखता हूं और सही मौका सही जगह देख कर उसको जवाब जरूर देता हूं यह इफेक्ट है इसका मतलब यह नहीं कि हम किसी से कम है नहीं हम किसी से कम नहीं है ना कोई सामने वाला हमसे कम है सब बराबर है और अगर आप यह बात समझेंगे तो शायद जिंदगी में अच्छी तरक्की करेंगे सफलता प्राप्त करेंगे धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie dekhie dost kabhee bhee kisee insaan ko kabhee bhee kisee insaan ko kabhee kam nahin samajhana chaahie kyonki dekhie sabhee insaan meree najar mein baraabar hai ham sabhee dharm ko maanate hain sabhee insaan ko maanate hain aur yah agar ham kisee ko kisee se kam samajhate hain to vah hamaaree bahut badee galatee hai bahut badee bhool hai kyonki aaj kee det mein koee bhee kisee se kam nahin hai yah phaikt hai theek hai koee kabhee-kabhee vakt aisa aa jaata hai ki koee aadamee dab jaata hai yaar dar jaata hai ya thoda chup ho jaata to isaka matalab yah nahin hai ki vah ham kisee se kam hai ho sakata hai vah vakt kee najaakat ko samajh raha hoon ho sakata hai ki vah us par javaab dene kee ya us vakt baat karane kee sthiti mein na ho lekin vakt aane par ya sahee mauka aane par vah javaab jaroor dega aur deta hai yah mere saath bhee hota hai aksar kaee baar ki main kaaphee log mujh sochate ki yah hamase bahut chhota hai hamase bahut kam hai vah de mein umr mein lekin main bhee yah soch kar chup ho jaata hoon ki abhee vakt nahin hai mauka nahin hai inako javaab dene ka lekin haan yah hai ki jab bhee mujhe gussa aaega ya jab bhee mere ko lagata hai ki haan sahee mauka is ko javaab dene ka main usakee baat ko yaad rakhata hoon aur sahee mauka sahee jagah dekh kar usako javaab jaroor deta hoon yah iphekt hai isaka matalab yah nahin ki ham kisee se kam hai nahin ham kisee se kam nahin hai na koee saamane vaala hamase kam hai sab baraabar hai aur agar aap yah baat samajhenge to shaayad jindagee mein achchhee tarakkee karenge saphalata praapt karenge dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:52
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है कि सवाल है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम नहीं समझना चाहिए ना कि आना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से वह श्याम को मृत्यु से आमंत्रित कर पाता है क्योंकि ऐसा करने से जैसे कि पतला व्यक्ति मोटे व्यक्ति को हरा सकता है ठीक इसी प्रकार मोटा व्यक्ति भी पतले व्यक्ति को भी हरा सकता है इन चीजों के पीछे हमें शक्ति और युक्ति और विचार और बात को सोचकर ही कुछ सवाल जवाब करें तो ही इस समाधान से मुक्ति मिल सकती है बीपीएम नहीं सोचना चाहिए कि जैसे कि कोई किसी का दुश्मन या शत्रु हो तो यह मत नहीं आंकना चाहिए कि वह कमजोर है क्या पता वह तो हार गया लेकिन कल पता नहीं कैसी कैसी युक्ति अपना आएगा कैसा कैसा चल चलेगा तो इससे हमें 17 करना चाहिए और हमें थोड़ा धैर्यवान से काम में लेना चाहिए अपने मन को इसी आधार पर हम किसी को समझा सकते हैं या किसी युद्ध को जीत सकते हैं या किसी को मार सकते हैं क्योंकि हम जब किसी व्यक्ति को तुच्छ समझते हैं वही व्यक्ति हमसे एक न एक दिन आगे बढ़कर चला ही जाता है इसलिए कभी भी व्यक्ति की शक्तियों एवं उसके चारों के समक्ष अपना गम अन्याय का नहीं दिखाना चाहिए
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai ki savaal hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam nahin samajhana chaahie na ki aana chaahie kyonki aisa karane se vah shyaam ko mrtyu se aamantrit kar paata hai kyonki aisa karane se jaise ki patala vyakti mote vyakti ko hara sakata hai theek isee prakaar mota vyakti bhee patale vyakti ko bhee hara sakata hai in cheejon ke peechhe hamen shakti aur yukti aur vichaar aur baat ko sochakar hee kuchh savaal javaab karen to hee is samaadhaan se mukti mil sakatee hai beepeeem nahin sochana chaahie ki jaise ki koee kisee ka dushman ya shatru ho to yah mat nahin aankana chaahie ki vah kamajor hai kya pata vah to haar gaya lekin kal pata nahin kaisee kaisee yukti apana aaega kaisa kaisa chal chalega to isase hamen 17 karana chaahie aur hamen thoda dhairyavaan se kaam mein lena chaahie apane man ko isee aadhaar par ham kisee ko samajha sakate hain ya kisee yuddh ko jeet sakate hain ya kisee ko maar sakate hain kyonki ham jab kisee vyakti ko tuchchh samajhate hain vahee vyakti hamase ek na ek din aage badhakar chala hee jaata hai isalie kabhee bhee vyakti kee shaktiyon evan usake chaaron ke samaksh apana gam anyaay ka nahin dikhaana chaahie

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Vicky Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vicky जी का जवाब
अभी हम पढ़ाई करते हैं
0:36
शिव इंसान को किसी स्कूल में इसलिए नहीं समझते हैं और किसी के लिए खास कौन सी होती है सही आसान नहीं होती मौत केंद्रों में उसके नाम लिख दीजिए कि किसी की संख्या ज्यादा क्यों किसी का नंबर ब्लैक लिस्ट में एक बेहतर होता है जिनके पास जो भी पूछना कभी खुशियों में क्या करता है यह ठीक है इसलिए किसी से कम नहीं समझना चाहिए
Shiv insaan ko kisee skool mein isalie nahin samajhate hain aur kisee ke lie khaas kaun see hotee hai sahee aasaan nahin hotee maut kendron mein usake naam likh deejie ki kisee kee sankhya jyaada kyon kisee ka nambar blaik list mein ek behatar hota hai jinake paas jo bhee poochhana kabhee khushiyon mein kya karata hai yah theek hai isalie kisee se kam nahin samajhana chaahie

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:25
अदनान को समझे किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए यह बात नहीं कि कभी इंसान को इंसान जो है किसी काम के भी ना हो तो उसे भी जो है हमें कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि एक छोटा सा जो है देखती भी कभी ना कभी जो है किसी भी बड़े कार्य के पात्र बन सकते हैं इसका उदाहरण हम कई जगह देखते थे
Adanaan ko samajhe kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie yah baat nahin ki kabhee insaan ko insaan jo hai kisee kaam ke bhee na ho to use bhee jo hai hamen kam nahin samajhana chaahie kyonki ek chhota sa jo hai dekhatee bhee kabhee na kabhee jo hai kisee bhee bade kaary ke paatr ban sakate hain isaka udaaharan ham kaee jagah dekhate the

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:25
अदनान को समझे किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए यह बात नहीं कि कभी इंसान को इंसान जो है किसी काम के भी ना हो तो उसे भी जो है हमें कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि एक छोटा सा जो है देखती भी कभी ना कभी जो है किसी भी बड़े कार्य के पात्र बन सकते हैं इसका उदाहरण हम कई जगह देखते थे
Adanaan ko samajhe kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie yah baat nahin ki kabhee insaan ko insaan jo hai kisee kaam ke bhee na ho to use bhee jo hai hamen kam nahin samajhana chaahie kyonki ek chhota sa jo hai dekhatee bhee kabhee na kabhee jo hai kisee bhee bade kaary ke paatr ban sakate hain isaka udaaharan ham kaee jagah dekhate the

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
1:01
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए तो दोस्तों हर इंसान में कोई ना कोई खूबी और खासियत होती है रही कम आंकने की बात हर व्यक्ति का अपना दिमाग है अपनी समझ है उसी के अनुसार वह अपने कार्यों को पूर्ण करता है कोई व्यक्ति के पास काफी पैसा है वह काफी पढ़ लिख गया अच्छी प्रदीप आ गया है उसकी तनख्वाह ₹10000 है मान लीजिए कोई व्यक्ति गरीब है और वह छोटा मोटा धंधा करता है और वह 10 हजार कमा लेता है अपना दिमाग अपनी मेहनत और सूझबूझ के अनुसार वह भी उतना ही पैदा करता है ऐसा नहीं कि उसके पास अक्ल कम है दिमाग नहीं है बुद्धि नहीं है ऐसा नहीं क्योंकि पड़ा पूछ से पैसा निकालना काफी कठिन कार्य होता है किसी इंसान को किसी से कम नहीं आंकना चाहिए धन्यवाद मित्र
Kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie to doston har insaan mein koee na koee khoobee aur khaasiyat hotee hai rahee kam aankane kee baat har vyakti ka apana dimaag hai apanee samajh hai usee ke anusaar vah apane kaaryon ko poorn karata hai koee vyakti ke paas kaaphee paisa hai vah kaaphee padh likh gaya achchhee pradeep aa gaya hai usakee tanakhvaah ₹10000 hai maan leejie koee vyakti gareeb hai aur vah chhota mota dhandha karata hai aur vah 10 hajaar kama leta hai apana dimaag apanee mehanat aur soojhaboojh ke anusaar vah bhee utana hee paida karata hai aisa nahin ki usake paas akl kam hai dimaag nahin hai buddhi nahin hai aisa nahin kyonki pada poochh se paisa nikaalana kaaphee kathin kaary hota hai kisee insaan ko kisee se kam nahin aankana chaahie dhanyavaad mitr

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:38
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए तो दोस्तों किसी भी व्यक्ति को उसकी वेशभूषा से उसके शब्दों से या उसकी स्थिति से कभी भी आपको उसके बारे में अंदाजा नहीं लगाना चाहिए कई बार ऐसा होता है उल्टा पड़ जाता है कई बार ऐसा लोग सोचते हैं कि जो साइकिल से जा रहा है या स्कूटर से जा रहा टक्कर मार देते हैं और गाड़ी वाला मारने की कोशिश करता है उसको कई बार उल्टा पड़ जाता है कई बार वह ज्यादा पावरफुल निकल जाता है तो आप इंसान हैं इंसान को इंसान के रूप में समझिए मैं आपको बताता हूं कई बार ऐसा होता तो निखार जिसे हम बोलते हैं पर्सनैलिटी ग्रुमिंग राजस्थान सरकार ही बहुत सारी चीजें आया लगा लेते लेकिन तरीका लोग धोखा ही खा जाते हैं कई बार ऐसा हुआ कि बैंक में प्राइवेट बैंक में केसीसी बैंक में हिंदी में बात कर ली तो मैडम ने इस काम को मना कर दिया और फिर जब मैं मैनेजर के रूम के तरफ जाने लगा तब उसे पता चला कि यार नहीं है तो बंदा है अलग है वही पूछ रही थी मैडम किसलिए आप जा रहे हो मैंने आदि ने तो काम मना किया है प्राइवेट सेक्टर में काम तो कोई मनाही नहीं कर सकता है यहां तक कि सरकारी डिपार्टमेंट में भी मैंने कहीं काम जो औरों को मना कर दिया जो मेरा अधिकार है वह करवाए हैं तो कई बार ऐसा होता है कि वेशभूषा से हम उसको गलत आंख लेते हैं और रॉन्ग नंबर लग जाता है तो आप हर व्यक्ति को इंसान समझे कभी वेशभूषा से उसके साथ न्याय अन्याय ना करें तो ज्यादा अच्छा रहता है लेकिन हम यह देखेंगे पैसे वाला है उसकी बातों के लिए हम बहुत सारी चीजें ऐसी चीज होती है जो उसको इग्नोर कर देते हैं और बहुत सारी चीजें जो गरीब आदमी है उसको हम पकड़ते रहते हैं इसके अंदर चीजें तो ऐसा नहीं होना चाहिए यह कभी भी हमें नुकसान जीवन में कर सकता है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhana chaahie to doston kisee bhee vyakti ko usakee veshabhoosha se usake shabdon se ya usakee sthiti se kabhee bhee aapako usake baare mein andaaja nahin lagaana chaahie kaee baar aisa hota hai ulta pad jaata hai kaee baar aisa log sochate hain ki jo saikil se ja raha hai ya skootar se ja raha takkar maar dete hain aur gaadee vaala maarane kee koshish karata hai usako kaee baar ulta pad jaata hai kaee baar vah jyaada paavaraphul nikal jaata hai to aap insaan hain insaan ko insaan ke roop mein samajhie main aapako bataata hoon kaee baar aisa hota to nikhaar jise ham bolate hain parsanailitee gruming raajasthaan sarakaar hee bahut saaree cheejen aaya laga lete lekin tareeka log dhokha hee kha jaate hain kaee baar aisa hua ki baink mein praivet baink mein keseesee baink mein hindee mein baat kar lee to maidam ne is kaam ko mana kar diya aur phir jab main mainejar ke room ke taraph jaane laga tab use pata chala ki yaar nahin hai to banda hai alag hai vahee poochh rahee thee maidam kisalie aap ja rahe ho mainne aadi ne to kaam mana kiya hai praivet sektar mein kaam to koee manaahee nahin kar sakata hai yahaan tak ki sarakaaree dipaartament mein bhee mainne kaheen kaam jo auron ko mana kar diya jo mera adhikaar hai vah karavae hain to kaee baar aisa hota hai ki veshabhoosha se ham usako galat aankh lete hain aur rong nambar lag jaata hai to aap har vyakti ko insaan samajhe kabhee veshabhoosha se usake saath nyaay anyaay na karen to jyaada achchha rahata hai lekin ham yah dekhenge paise vaala hai usakee baaton ke lie ham bahut saaree cheejen aisee cheej hotee hai jo usako ignor kar dete hain aur bahut saaree cheejen jo gareeb aadamee hai usako ham pakadate rahate hain isake andar cheejen to aisa nahin hona chaahie yah kabhee bhee hamen nukasaan jeevan mein kar sakata hai dhanyavaad

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:40
जब का आप किसी भी इंसान को किसी से कम नहीं समझेंगे इसका मतलब आप बिल्कुल प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार रहेंगे जिस दिन आपने समझ लिया कि मेरे साथ में क्लास मुझे इस क्लास में मैं पढ़ रहा हूं मैं सबसे तेज चल रहा है वह दूसरा बच्चा अब से नंबर ज्यादा ले आते इसका मतलब क्या है आप अपने आप को बहुत तेज समझ रहे तो दूसरे को कमजोर समझ रहे थे इसलिए अपने आप को हमेशा सतर्क रखना चाहिए दूसरे को कमजोर नहीं समझना चाहिए दुश्मन को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए जितने अधिक से अधिक ताकत का उपयोग आप कर सकते हैं जितने अधिक से अधिक बौद्धिक शक्ति का प्रयोग कर सकते हैं उसको हमेशा उस हिसाब से सतर्कता ग्रुप काम करेंगे तभी आप विजय हो सकते हैं
Jab ka aap kisee bhee insaan ko kisee se kam nahin samajhenge isaka matalab aap bilkul pratispardha ke lie taiyaar rahenge jis din aapane samajh liya ki mere saath mein klaas mujhe is klaas mein main padh raha hoon main sabase tej chal raha hai vah doosara bachcha ab se nambar jyaada le aate isaka matalab kya hai aap apane aap ko bahut tej samajh rahe to doosare ko kamajor samajh rahe the isalie apane aap ko hamesha satark rakhana chaahie doosare ko kamajor nahin samajhana chaahie dushman ko kabhee kamajor nahin samajhana chaahie jitane adhik se adhik taakat ka upayog aap kar sakate hain jitane adhik se adhik bauddhik shakti ka prayog kar sakate hain usako hamesha us hisaab se satarkata grup kaam karenge tabhee aap vijay ho sakate hain

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:21
नमस्ते मित्रों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि हमें किसी को कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि सब अपना अपना कर्म करते हैं जो इंसान ज्यादा अच्छा कर्म करता है उसको अच्छा परिणाम मिलता है जो बुरा कर्म करता है उसे बुरा परिणाम मिलता है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaste mitron aapake prashn ka uttar yah hai ki hamen kisee ko kam nahin samajhana chaahie kyonki sab apana apana karm karate hain jo insaan jyaada achchha karm karata hai usako achchha parinaam milata hai jo bura karm karata hai use bura parinaam milata hai dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:59
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझते कि किसी भी इंसान को कभी भी सच में दिखे कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि देखिए जरूरी नहीं कि हम जो कर पाते हैं उस सामने वाला कर पाए और एक बात और बता दो जरूरी नहीं कि जो सामने वाला कर पाई मैं ना कर पाऊं ओके देखिए इंसान की जो सोच होती ना सकारात्मक और नकारात्मक होती है ठीक है बहुत से ऐसे इंटेलिजेंट मिल जाएंगे मुझसे भी बहुत बड़े बड़े इंटेलिजेंट है आज की डेट में मैं जो नहीं कर पाता वह करके दिखा देते तो उनसे मुझे शिक्षा मिलती है उस समय से सीखने को मिलती है मैं यह सीखता हूं यार यह बंदा कैसे यह इतना इतना कर जाता कितनी मेहनत करता रात दिन इतनी प्रॉब्लम है वह कैसे मतलब जिंदगी को जीता है मेरे साथ तो कोई समस्या नहीं दुनिया में आप बाहर निकल कर देखिए कि लोगों के साथ कितनी समझते हैं उन समस्या का समाधान वह बंदा निकाल देता अकेले तो किसी को लेकिन कम नहीं समझना नहीं लाइफ में हर इंसान देखिए हर इंसान के अंदर अपने अपने एक टैलेंट होता है वह टैलेंट को निकालने की कोशिश करिए तो सब अपनी अपनी जगह हीरो है बस अपना हीरो पर निकालने की जरूरत है जो हीरो पन्ना निकाल पाए जिंदगी में कुछ नहीं कर पाया तो जो अपने लक्ष्य उसकी और आगे बढ़ो और जो आपकी पसंद का लक्ष्य वही करें दूसरे के कहने पर ना जाए आपको जो अच्छा लगता है लाइफ में वह करें देखी आपको सफलता जरूर मिलेगी देर से मिलेगी लेकिन मिलेगा जरूर और अच्छा मिलेगा तो मेहनत के आगे सब कुछ हार जाता है ठीक है मेहनत के आगे किस्मत भी आ जाती है किस्मत तो साथ नहीं देगी कब देगी कब नहीं देखी किस्मत के बारे में किसी को नहीं पता लेकिन हम मेहनत मेहनत से आप दो रोटी कमा कर खा सकते हो जीवन यापन कर सकते लेकिन आप भी यह बैठोगे कि मेरे साथ किस्मत है सही होगा अच्छा होगा तो यह चेन्नई मेहनत करो कुछ जरूर होगा मेहनत से इंसान खुद जरूर रहता है और किस्मत में जो लिखा है वह तो लिखा ही है किसी को नहीं पता तो मेहनत करते रहो आगे बढ़ते रहो जीवन का देखिए खुशहाल से सकारात्मक सोच की और आगे बढ़ो जय हिंद जय भारत
Kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam kyon nahin samajhate ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee sach mein dikhe kam nahin samajhana chaahie kyonki dekhie jarooree nahin ki ham jo kar paate hain us saamane vaala kar pae aur ek baat aur bata do jarooree nahin ki jo saamane vaala kar paee main na kar paoon oke dekhie insaan kee jo soch hotee na sakaaraatmak aur nakaaraatmak hotee hai theek hai bahut se aise intelijent mil jaenge mujhase bhee bahut bade bade intelijent hai aaj kee det mein main jo nahin kar paata vah karake dikha dete to unase mujhe shiksha milatee hai us samay se seekhane ko milatee hai main yah seekhata hoon yaar yah banda kaise yah itana itana kar jaata kitanee mehanat karata raat din itanee problam hai vah kaise matalab jindagee ko jeeta hai mere saath to koee samasya nahin duniya mein aap baahar nikal kar dekhie ki logon ke saath kitanee samajhate hain un samasya ka samaadhaan vah banda nikaal deta akele to kisee ko lekin kam nahin samajhana nahin laiph mein har insaan dekhie har insaan ke andar apane apane ek tailent hota hai vah tailent ko nikaalane kee koshish karie to sab apanee apanee jagah heero hai bas apana heero par nikaalane kee jaroorat hai jo heero panna nikaal pae jindagee mein kuchh nahin kar paaya to jo apane lakshy usakee aur aage badho aur jo aapakee pasand ka lakshy vahee karen doosare ke kahane par na jae aapako jo achchha lagata hai laiph mein vah karen dekhee aapako saphalata jaroor milegee der se milegee lekin milega jaroor aur achchha milega to mehanat ke aage sab kuchh haar jaata hai theek hai mehanat ke aage kismat bhee aa jaatee hai kismat to saath nahin degee kab degee kab nahin dekhee kismat ke baare mein kisee ko nahin pata lekin ham mehanat mehanat se aap do rotee kama kar kha sakate ho jeevan yaapan kar sakate lekin aap bhee yah baithoge ki mere saath kismat hai sahee hoga achchha hoga to yah chennee mehanat karo kuchh jaroor hoga mehanat se insaan khud jaroor rahata hai aur kismat mein jo likha hai vah to likha hee hai kisee ko nahin pata to mehanat karate raho aage badhate raho jeevan ka dekhie khushahaal se sakaaraatmak soch kee aur aage badho jay hind jay bhaarat

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए
URL copied to clipboard