#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?

Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:23
हेलो जान तो आज आप का सवाल है कि भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्योंकि जब भी हम मोबाइल की बात करते हैं तो चाइना का ही नाम आता है बहुत सारे ब्रांड से बहुत सारी मोबाइल की कंपनियां हैं जो मतलब चाइना की तरफ से बनकर आती है तू जहां पर जो लाइन में जिस फील्ड में मतलब जो लोग ज्यादा ढक देते हैं ज्यादा बनाते हैं फैसिलिटी सोते भले ही वह आपका फोन अच्छे से चले या न चले जल्दी खराब हो जाए लेकिन आप एक बार में 100 शतक देते हैं और फिर फीचर्स भी उसके अंदर आपको भी फोन देखी है और किसी और कंपनी का इतनी दाम में अच्छी फीचर साहब को नहीं मिलेंगे कितना दिन चला था 2 साल से मुझे नहीं लगता ज्यादा कोई न्यू वर्जन आता है तो लोग उसकी तरफ भागते हैं तो 2 साल तक अगर देखा जाए तो जाने का फूल आराम से चल जाता है सब कोई प्रॉब्लम है तो फिर आप अच्छे से चलाते हैं तो तू इसी चीज को लेकर वह फोन की तरफ लोग ज्यादा तोते की हां सही दाम भी सही फीचर्स भी है और बहुत सारे आपके पास पर आईडी हो तब जाना को देखिए कि आपके बहुत सारे ऐसे कांड के नाम है जो आपके पास आ जाएंगे तो आपको दिखाएगा ग्रुप कहीं और की बात करते तो बहुत ही कॉस्टली और महंगा होता है और कुछ गलत टाइप हो नहीं आपको देखने के लिए मिलेगा तो इसलिए फोन किया हम जब भी बात करते हैं तो चीनी का ही बोलबाला रहता है
Helo jaan to aaj aap ka savaal hai ki bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakramon ka bolabaala kyonki jab bhee ham mobail kee baat karate hain to chaina ka hee naam aata hai bahut saare braand se bahut saaree mobail kee kampaniyaan hain jo matalab chaina kee taraph se banakar aatee hai too jahaan par jo lain mein jis pheeld mein matalab jo log jyaada dhak dete hain jyaada banaate hain phaisilitee sote bhale hee vah aapaka phon achchhe se chale ya na chale jaldee kharaab ho jae lekin aap ek baar mein 100 shatak dete hain aur phir pheechars bhee usake andar aapako bhee phon dekhee hai aur kisee aur kampanee ka itanee daam mein achchhee pheechar saahab ko nahin milenge kitana din chala tha 2 saal se mujhe nahin lagata jyaada koee nyoo varjan aata hai to log usakee taraph bhaagate hain to 2 saal tak agar dekha jae to jaane ka phool aaraam se chal jaata hai sab koee problam hai to phir aap achchhe se chalaate hain to too isee cheej ko lekar vah phon kee taraph log jyaada tote kee haan sahee daam bhee sahee pheechars bhee hai aur bahut saare aapake paas par aaeedee ho tab jaana ko dekhie ki aapake bahut saare aise kaand ke naam hai jo aapake paas aa jaenge to aapako dikhaega grup kaheen aur kee baat karate to bahut hee kostalee aur mahanga hota hai aur kuchh galat taip ho nahin aapako dekhane ke lie milega to isalie phon kiya ham jab bhee baat karate hain to cheenee ka hee bolabaala rahata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:54
नमस्कार मित्रों आपका सवाल है भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है तो मित्रों आपके सवाल का उत्तर यह है भारत में चीनी मोबाइलों का बोलबाला इसलिए है क्योंकि चीनी मोबाइल है वह सच्चे होते हैं जिन्हें आम लोग ज्यादा खरीदते हैं इसलिए चीनी उपकरणों का हमारे बोलबाला जाता है क्योंकि उनकी डिमांड ज्यादा रहती है और क्योंकि वह सस्ते पड़ते हैं इसलिए चीनी उपकरणों का बोलबाला जाता है चीनी उपक्रम जो जिस प्रकार चीनी मोबाइल है चीनी टीवी है लैपटॉप है चीनी खिलौना है और बर्तन है इसलिए चीनी उपक्रमों का ज्यादा बोलबाला है धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Namaskaar mitron aapaka savaal hai bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakramon ka bolabaala kyon hai to mitron aapake savaal ka uttar yah hai bhaarat mein cheenee mobailon ka bolabaala isalie hai kyonki cheenee mobail hai vah sachche hote hain jinhen aam log jyaada khareedate hain isalie cheenee upakaranon ka hamaare bolabaala jaata hai kyonki unakee dimaand jyaada rahatee hai aur kyonki vah saste padate hain isalie cheenee upakaranon ka bolabaala jaata hai cheenee upakram jo jis prakaar cheenee mobail hai cheenee teevee hai laipatop hai cheenee khilauna hai aur bartan hai isalie cheenee upakramon ka jyaada bolabaala hai dhanyavaad doston khush raho

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:24
पूछा कि चीनी उपकरणों का बोलबाला तुम्हें क्योंकि वह सस्ते होते हैं और काम दिखाओ तो बिल्कुल नहीं होते भारत में सबसे ज्यादा चीनी ज्यादा मिलती है जो शक्ति होती है और चीनी की तो होती बेकार है तो इसलिए बोल बाला है मैं कहता हूं आज इतनी सस्ती चीजें नहीं है ना वहां सबसे ज्यादा बोलबाला रहता हूं
Poochha ki cheenee upakaranon ka bolabaala tumhen kyonki vah saste hote hain aur kaam dikhao to bilkul nahin hote bhaarat mein sabase jyaada cheenee jyaada milatee hai jo shakti hotee hai aur cheenee kee to hotee bekaar hai to isalie bol baala hai main kahata hoon aaj itanee sastee cheejen nahin hai na vahaan sabase jyaada bolabaala rahata hoon

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi जी का जवाब
Unknown
1:42
नमस्कार आजकल हर कोई व्यक्ति टेक्नोलॉजी के साथ जोड़ना चाहता है और ऐसे में टेक्नोलॉजी की जरूरत एट होते हैं जो प्राइस होते बहुत ज्यादा हाई होते हैं इस चीज पर फोकस करें हमारी जेब को ध्यान में रखते हुए हमें कुछ चाइनीस ब्रांड जो है बहुत ही सस्ते और बजट में चीप रेट में बहुत अच्छी डिवाइस से इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस हमें देते हैं प्रोवाइड कर आते हैं जैसे कि अगर आपको आईफोन खरीदेंगे एप्पल के तो बहुत ज्यादा हैवी रेट होते उनके बहुत ज्यादा लग सीरियस होते हैं और बहुत ज्यादा अकॉस्ट भी होती है उनकी ₹100000 दो हर कोई सपोर्ट नहीं कर सकता लेकिन यही फीचर्स के साथ यही फंक्शन के साथ आपको बहुत से से चाइनीस ब्रांड के स्मार्टफोन मिल जाएंगे जो बहुत ही जाता है उससे दो-तीन गुना कम रेट पर आपको अच्छी खासी फीचर्स प्रोवाइड करा देंगे चाहे वह फास्ट चार्जिंग हो या अच्छा कैमरा हो या फास्ट बाउलिंग 11 जो भी फैसिलिटी होती है वह आपको सस्ते में मिल जाएगी मैं तो उसकी प्राइस इतनी हाईकोर्ट नहीं होगी तो यही कारण है कि चाइनीस जो एयरपोर्ट जॉइनिंग जो फोन है इतनी लोकप्रियता इसलिए हासिल कर पा रही क्योंकि कम बजट में ज्यादा सुविधा देना और हर कोई यही सपोर्ट करना चाहता हर कोई वोट कर सकता है तो यही कारण है कि इनकी लोकप्रियता बढ़ती जा री दिन प्रतिदिन आए हो सो दैट यह पोस्ट आप सभी को अच्छा लगा और आपको कोई भी बात है अपनी मन की तो कमेंट के माध्यम से जरूर आप हमसे साझा करें शेयर करें और लाइक करें इस पोस्ट को और धर्म से जुड़ने के लिए हमारे प्रोफाइल पेज को फॉलो कर ले
Namaskaar aajakal har koee vyakti teknolojee ke saath jodana chaahata hai aur aise mein teknolojee kee jaroorat et hote hain jo prais hote bahut jyaada haee hote hain is cheej par phokas karen hamaaree jeb ko dhyaan mein rakhate hue hamen kuchh chainees braand jo hai bahut hee saste aur bajat mein cheep ret mein bahut achchhee divais se ilektronik divais hamen dete hain provaid kar aate hain jaise ki agar aapako aaeephon khareedenge eppal ke to bahut jyaada haivee ret hote unake bahut jyaada lag seeriyas hote hain aur bahut jyaada akost bhee hotee hai unakee ₹100000 do har koee saport nahin kar sakata lekin yahee pheechars ke saath yahee phankshan ke saath aapako bahut se se chainees braand ke smaartaphon mil jaenge jo bahut hee jaata hai usase do-teen guna kam ret par aapako achchhee khaasee pheechars provaid kara denge chaahe vah phaast chaarjing ho ya achchha kaimara ho ya phaast bauling 11 jo bhee phaisilitee hotee hai vah aapako saste mein mil jaegee main to usakee prais itanee haeekort nahin hogee to yahee kaaran hai ki chainees jo eyaraport joining jo phon hai itanee lokapriyata isalie haasil kar pa rahee kyonki kam bajat mein jyaada suvidha dena aur har koee yahee saport karana chaahata har koee vot kar sakata hai to yahee kaaran hai ki inakee lokapriyata badhatee ja ree din pratidin aae ho so dait yah post aap sabhee ko achchha laga aur aapako koee bhee baat hai apanee man kee to kament ke maadhyam se jaroor aap hamase saajha karen sheyar karen aur laik karen is post ko aur dharm se judane ke lie hamaare prophail pej ko pholo kar le

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
5:43
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला किंग मैंने कॉरपोरेशन इसमें किया है कोई भी कहता है कि चीनी माली है टिकु टिकने वाला माल नहीं लेकिन इसके दुकानें हैं भरी हुई रहती है कस्टमर भी आती उसमें रहते हैं उनके धंधे भी चलते हैं जो चीनी वस्तुओं के विक्रेता होते हैं इस मोबाइल में आता है तो दूसरी बात इसमें यह है कि उसका जो दाम है ना वह कम होता है चाहे वह 6 महीने में 1 साल में 2 साल में खराब हो जाए लेकिन व्यक्ति को जरूरत होती है उस चीज की और ज्यादा पैसा उसके साथ नहीं रहता और ऐसा ज्यादा पैसा नहीं होता ऐसा भारत में 90 परसेंट तू नब्बे परसेंट की टोटल लगभग एक सौ करोड़ होती और कई लोगों को यह मालूम नहीं होता है क्या कि कोई सामान जो है वह किस कंपनी का है और किस नाम से नाम से आया था दूसरे नाम से भी चीनी प्रोडक्ट जो बाजार में आवाज आती जब किसी भी वस्तु का एक पाठ चिमनी पाठ हो सकता है तो इनका जो बढ़ता व्यापार है और जो उसने अंतरराष्ट्रीय बाजार में अपना स्थान निर्माण किया है किसकी वजह है और उसके लिए चाइना के ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार भी मिलता मिलता है तो और छोटे मोटे छोटे हो जो व्यवसाय होते हैं उनमें विनोद इनोवेशंस भी किए हैं जैसे खेल खिलौने वाली चीज होती है खिलौने की जो पहले हमारे यहां भरा था तो उन्होंने एक प्लास्टिक का बोरा बनाया है और उसको आसानी से आसानी से जोड़ जोड़ कर उसमें भी उसे वह भी कहीं भागों में बटा हुआ बताएं प्लास्टिक का होता है और उसको जो जो है जोड़ने के बाद वह घूमता है सही तरीके से और बच्चों में वह लोकप्रिय है बच्चों में प्रिय है और कम कीमत में भी मिलता है और उस पर चित्र भी होते हैं दादा करके ड्रैगन के और इस तरह के बच्चों को आकर्षित करने वाले चित्र होते हैं वह चित्र चित्र उसको होते हुए और कई वस्तुओं के लिए वस्तु के साथ-साथ कुछ खाने के लिए छोटी चीज जैसे एक छोटी सी कैडबरी की छोटी गोली से को दिखाने को उसने उसके साथ आती है मिलते हैं तो बच्चों में भी हो बहुत लोकप्रिय है तो इस तरीके से सेनानी छोटे से छोटे लेकर बड़े जो है प्रोडक्ट उनमें और ज्यादा ही शंकर के भजन जलाए जाते हैं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को होना उनके रोजगार मिलता है तो सामाजिक स्वास्थ्य विभाग पर रहता है हमारे यहां सामाजिक स्वास्थ्य नहीं रहता है शोषण ऊंच-नीच की भावना है इसलिए राष्ट्रभक्ति बहुत कम पाई जाती है राष्ट्रवाद कम पाया जाता राष्ट्रवाद को जनता जो है ना कि वो राष्ट्रवाद से बहुत ज्यादा प्रेरित होती है टाइम राष्ट्रवाद किसी भी माध्यम से आए चाहे चाहे मामू के कमीशन के माध्यम से आए शिव जिनपिंग किसी धारणाओं के माध्यम से होता है और मैं किलर इंस्टिंक्ट है और यह किलर इंस्टिंक्ट तब बनता है जब जीत की परंपरा होती है हर की परंपरा नहीं होती तो वह इंस्ट्रक्टिंग भी उनके पास में और ऐसे कारणों से भारत की ही बाजार में नहीं दुनियाभर के बाजारों में चीनी उपक्रमों का बोलबाला रहता है धन्यवाद
Bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakramon ka bolabaala king mainne koraporeshan isamen kiya hai koee bhee kahata hai ki cheenee maalee hai tiku tikane vaala maal nahin lekin isake dukaanen hain bharee huee rahatee hai kastamar bhee aatee usamen rahate hain unake dhandhe bhee chalate hain jo cheenee vastuon ke vikreta hote hain is mobail mein aata hai to doosaree baat isamen yah hai ki usaka jo daam hai na vah kam hota hai chaahe vah 6 maheene mein 1 saal mein 2 saal mein kharaab ho jae lekin vyakti ko jaroorat hotee hai us cheej kee aur jyaada paisa usake saath nahin rahata aur aisa jyaada paisa nahin hota aisa bhaarat mein 90 parasent too nabbe parasent kee total lagabhag ek sau karod hotee aur kaee logon ko yah maaloom nahin hota hai kya ki koee saamaan jo hai vah kis kampanee ka hai aur kis naam se naam se aaya tha doosare naam se bhee cheenee prodakt jo baajaar mein aavaaj aatee jab kisee bhee vastu ka ek paath chimanee paath ho sakata hai to inaka jo badhata vyaapaar hai aur jo usane antararaashtreey baajaar mein apana sthaan nirmaan kiya hai kisakee vajah hai aur usake lie chaina ke jyaada se jyaada logon ko rojagaar bhee milata milata hai to aur chhote mote chhote ho jo vyavasaay hote hain unamen vinod inoveshans bhee kie hain jaise khel khilaune vaalee cheej hotee hai khilaune kee jo pahale hamaare yahaan bhara tha to unhonne ek plaastik ka bora banaaya hai aur usako aasaanee se aasaanee se jod jod kar usamen bhee use vah bhee kaheen bhaagon mein bata hua bataen plaastik ka hota hai aur usako jo jo hai jodane ke baad vah ghoomata hai sahee tareeke se aur bachchon mein vah lokapriy hai bachchon mein priy hai aur kam keemat mein bhee milata hai aur us par chitr bhee hote hain daada karake draigan ke aur is tarah ke bachchon ko aakarshit karane vaale chitr hote hain vah chitr chitr usako hote hue aur kaee vastuon ke lie vastu ke saath-saath kuchh khaane ke lie chhotee cheej jaise ek chhotee see kaidabaree kee chhotee golee se ko dikhaane ko usane usake saath aatee hai milate hain to bachchon mein bhee ho bahut lokapriy hai to is tareeke se senaanee chhote se chhote lekar bade jo hai prodakt unamen aur jyaada hee shankar ke bhajan jalae jaate hain aur jyaada se jyaada logon ko hona unake rojagaar milata hai to saamaajik svaasthy vibhaag par rahata hai hamaare yahaan saamaajik svaasthy nahin rahata hai shoshan oonch-neech kee bhaavana hai isalie raashtrabhakti bahut kam paee jaatee hai raashtravaad kam paaya jaata raashtravaad ko janata jo hai na ki vo raashtravaad se bahut jyaada prerit hotee hai taim raashtravaad kisee bhee maadhyam se aae chaahe chaahe maamoo ke kameeshan ke maadhyam se aae shiv jinaping kisee dhaaranaon ke maadhyam se hota hai aur main kilar instinkt hai aur yah kilar instinkt tab banata hai jab jeet kee parampara hotee hai har kee parampara nahin hotee to vah instrakting bhee unake paas mein aur aise kaaranon se bhaarat kee hee baajaar mein nahin duniyaabhar ke baajaaron mein cheenee upakramon ka bolabaala rahata hai dhanyavaad

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:34
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी प्रमुख का बोलबाला था मैंने आपको बताया कि चीनी कंपनियों में पूरे इंटरनेशनल मार्केट पर कब्जा कर रहा था निंदिया में छोटे-छोटे कामों को लेकर के छोटे-छोटे चीजों से मोबाइल का हैंडसेट हो जाए मोबाइल का चार्ज हो जाए मोबाइल एसेसरीज हो कुछ भी हो कहीं ना कहीं सस्ते दामों पर भरमार में चीनी कंपनियों ने अपने प्रोडक्ट लेना भेज रखा अल्टीमेटली हम उधर ही डाइवर्ट हो जाए और दूसरा है कि चीनी क्रोम ऐसे हैं जिनके बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर और वो बिना किसी प्रोडक्ट हम सोचते हैं कि आप हमारी कंपनी आओगे सोचते हैं कि मार्केट में क्या डिमांड है किस तरह से निकाले वह लोग किसी भी प्रोडक्ट लाखों-करोड़ों में डाल दें और लीगल लीगल ढंग से हर मार्केट में पहुंचा देते हैं तो उनका इंफ्रास्ट्रक्चर इतना स्ट्रांग है कि वह अगर एक करोड़ प्रोडक्ट निकालते हैं मैं तो उनका बहुत सस्ता पड़ता है और मार्केट में जब बेच देते हैं वह कहीं से भी तो उनको ऐसी हो जाता है तो वह चीनी कंपनियां पहले से ही उनका इंफ्रास्ट्रक्चर चांद है इस कारण से उनके हर प्रोडक्ट हर जगह मिल जाते हैं और वह लीगल लीगल ढंग से मार्केट पर कब्जा कर लेते हैं
Bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee pramukh ka bolabaala tha mainne aapako bataaya ki cheenee kampaniyon mein poore intaraneshanal maarket par kabja kar raha tha nindiya mein chhote-chhote kaamon ko lekar ke chhote-chhote cheejon se mobail ka haindaset ho jae mobail ka chaarj ho jae mobail esesareej ho kuchh bhee ho kaheen na kaheen saste daamon par bharamaar mein cheenee kampaniyon ne apane prodakt lena bhej rakha alteemetalee ham udhar hee daivart ho jae aur doosara hai ki cheenee krom aise hain jinake behatar imphraastrakchar aur vo bina kisee prodakt ham sochate hain ki aap hamaaree kampanee aaoge sochate hain ki maarket mein kya dimaand hai kis tarah se nikaale vah log kisee bhee prodakt laakhon-karodon mein daal den aur leegal leegal dhang se har maarket mein pahuncha dete hain to unaka imphraastrakchar itana straang hai ki vah agar ek karod prodakt nikaalate hain main to unaka bahut sasta padata hai aur maarket mein jab bech dete hain vah kaheen se bhee to unako aisee ho jaata hai to vah cheenee kampaniyaan pahale se hee unaka imphraastrakchar chaand hai is kaaran se unake har prodakt har jagah mil jaate hain aur vah leegal leegal dhang se maarket par kabja kar lete hain

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:49
आपका प्रश्न भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपकरणों का बोलबाला क्यों है ऐसी बात नहीं है पहले सैन्य उपकरणों का ज्यादा बोल रहा था लेकिन अब मोबाइल चुनने के लिए आते हैं चीन से शुरू से लेकर आ रहे थे और ठीक रेट में भी मिल जाते थे इसलिए नहीं देते लेकिन सीमा पछताना पड़ गया तो चीनी सामान का बहिष्कार होने लगा धीरे-धीरे और अभी भी हो रहा है और भारत अब अपने उपकरण हर तरह से बना रहा है मोबाइल के क्षेत्र में भी हर क्षेत्र में भी आगे बढ़ रहा है और हर चीज बनाने की खुद कोशिश कर रहा है तो सिंह का बोलबाला बिल्कुल भी नहीं है और धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा चीन का बोलबाला प्रधानमंत्री मोदी जी ने मेक इन इंडिया के बाद जोड़ दिया है तो अब हमारे भारत में हर चीज स्वयं तैयार होगा और इनको हम लोग यहां से उखाड़ कर फेंक देंगे
Aapaka prashn bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakaranon ka bolabaala kyon hai aisee baat nahin hai pahale sainy upakaranon ka jyaada bol raha tha lekin ab mobail chunane ke lie aate hain cheen se shuroo se lekar aa rahe the aur theek ret mein bhee mil jaate the isalie nahin dete lekin seema pachhataana pad gaya to cheenee saamaan ka bahishkaar hone laga dheere-dheere aur abhee bhee ho raha hai aur bhaarat ab apane upakaran har tarah se bana raha hai mobail ke kshetr mein bhee har kshetr mein bhee aage badh raha hai aur har cheej banaane kee khud koshish kar raha hai to sinh ka bolabaala bilkul bhee nahin hai aur dheere-dheere khatm ho jaega cheen ka bolabaala pradhaanamantree modee jee ne mek in indiya ke baad jod diya hai to ab hamaare bhaarat mein har cheej svayan taiyaar hoga aur inako ham log yahaan se ukhaad kar phenk denge

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:26
जी आप ने सवाल पूछा कि भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपकरणों का बाल वाला क्यों है तो सीने की जो भी वस्तु आती है वह बहुत ही कम रुपए में आती है और इसलिए मेरे ख्याल से भारतीय ज्यादातर लोग कम पैसे की वजह से चीनी उपकरण को पीछे ज्यादा बैठते हैं
Jee aap ne savaal poochha ki bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakaranon ka baal vaala kyon hai to seene kee jo bhee vastu aatee hai vah bahut hee kam rupe mein aatee hai aur isalie mere khyaal se bhaarateey jyaadaatar log kam paise kee vajah se cheenee upakaran ko peechhe jyaada baithate hain

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:03
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी पुर में का बोलबाला क्यों है चाइना में टेक्नोलॉजी करीब है उस रमवा बहुत सस्ता माल प्रोडक्शन कॉस्ट इतनी कम आती है विश्व के सारे देशों ने उसकी को सप्लाई करते हैं उसके उनको दोहरा फायदा है चीन के सारे उत्पाद विश्व भर के बाजारों में प्रयोग किए जाते हैं जिससे चीन सस्ते में बेचने के बाद भी उसे प्रॉफिट काम आता है और चीन का अर्थव्यवस्था काफी तेजी से बढ़ चुकी है और आप जानते हैं क्रिकेट मालवीय प्रकृति होती है कि जो चीज सस्ती मिलती है और टेक्नोलॉजी में जो अच्छी होती है लोगों ने पसंद करते हैं और वह सारी चीजें चाइना जो सबको देता है भारत में जितने भी देश में हु मेड इन चाइना लिखे होने के बावजूद भी उसमें आपने मोहर लगाकर तो उसको विश्व के बाजारों में प्रस्तुत करते हैं बेचने के लिए
Bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee pur mein ka bolabaala kyon hai chaina mein teknolojee kareeb hai us ramava bahut sasta maal prodakshan kost itanee kam aatee hai vishv ke saare deshon ne usakee ko saplaee karate hain usake unako dohara phaayada hai cheen ke saare utpaad vishv bhar ke baajaaron mein prayog kie jaate hain jisase cheen saste mein bechane ke baad bhee use prophit kaam aata hai aur cheen ka arthavyavastha kaaphee tejee se badh chukee hai aur aap jaanate hain kriket maalaveey prakrti hotee hai ki jo cheej sastee milatee hai aur teknolojee mein jo achchhee hotee hai logon ne pasand karate hain aur vah saaree cheejen chaina jo sabako deta hai bhaarat mein jitane bhee desh mein hu med in chaina likhe hone ke baavajood bhee usamen aapane mohar lagaakar to usako vishv ke baajaaron mein prastut karate hain bechane ke lie

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:12
मेरे घरवाले भारत की मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला कि वह भारतीय लोग होते हैं उन्हें हर चीज देखने में सुंदर लगती है खरीदते हैं जबकि भारत की भारत की जो समान होती है अगर भारत की चीजों को और चीनी सामानों की जगह रखा जाए तो भारतीय अर्जुन समान होते जो क्वालिटी होती है बहुत अच्छी क्वालिटी होती है अच्छी कंपनी की भी होती है लेकिन चीनी सामानों के आगे आज जो है और ऊपर से इतना आकर्षित या फिर सुंदर नहीं दिखते जितने की चीनी सामान कैसे बनाया जाता है ताकि वह देखने में सुंदर लगे और आकर्षित लगे तो यही भारतीय लोगों की पसंद होती है क्योंकि उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता है कि यह कितना दिन चलेगा या फिर इसकी क्वालिटी क्या है देखने में कितना सुंदर लग रहा है भले ही वह चले या न चले तो इसलिए जो चीनी समान होते हैं जो चीनी समान होते हैं उसको यह भारतीय लोग खरीदते हैं जो कि से भारत में ही ज्यादा चीनी समान दिखती है हम लोग खरीदते हैं उनका जवाब चाहिए बच्चों को भी खुश रखे धन्यवाद
Mere gharavaale bhaarat kee mobail baajaar mein cheenee upakramon ka bolabaala ki vah bhaarateey log hote hain unhen har cheej dekhane mein sundar lagatee hai khareedate hain jabaki bhaarat kee bhaarat kee jo samaan hotee hai agar bhaarat kee cheejon ko aur cheenee saamaanon kee jagah rakha jae to bhaarateey arjun samaan hote jo kvaalitee hotee hai bahut achchhee kvaalitee hotee hai achchhee kampanee kee bhee hotee hai lekin cheenee saamaanon ke aage aaj jo hai aur oopar se itana aakarshit ya phir sundar nahin dikhate jitane kee cheenee saamaan kaise banaaya jaata hai taaki vah dekhane mein sundar lage aur aakarshit lage to yahee bhaarateey logon kee pasand hotee hai kyonki unhen isase phark nahin padata hai ki yah kitana din chalega ya phir isakee kvaalitee kya hai dekhane mein kitana sundar lag raha hai bhale hee vah chale ya na chale to isalie jo cheenee samaan hote hain jo cheenee samaan hote hain usako yah bhaarateey log khareedate hain jo ki se bhaarat mein hee jyaada cheenee samaan dikhatee hai ham log khareedate hain unaka javaab chaahie bachchon ko bhee khush rakhe dhanyavaad

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:38
डांस प्लस महाभारत मोबाइल बाजार में चीनी उपकरणों का बोलबाला कि मैं आपको बताना चाहूंगा भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपकरणों का बोलबाला इसलिए है क्योंकि वहां के बनाए प्रोडक्ट बहुत ही सस्ते दाम में वह देते हैं और यहां इंडिया में जो बने रहते हैं वह बहुत महंगे बने रहते हैं कि वहां जा रहा है इसकी जल्द लोग हैं और यहां कुछ काम है इसी के कारण वह बहुत ही सस्ती चीज बना लेते हैं और उसी चीज को कुछ माह में दमोह में बनाते हैं धन्यवाद
Daans plas mahaabhaarat mobail baajaar mein cheenee upakaranon ka bolabaala ki main aapako bataana chaahoonga bhaarat ke mobail baajaar mein cheenee upakaranon ka bolabaala isalie hai kyonki vahaan ke banae prodakt bahut hee saste daam mein vah dete hain aur yahaan indiya mein jo bane rahate hain vah bahut mahange bane rahate hain ki vahaan ja raha hai isakee jald log hain aur yahaan kuchh kaam hai isee ke kaaran vah bahut hee sastee cheej bana lete hain aur usee cheej ko kuchh maah mein damoh mein banaate hain dhanyavaad

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
SONU VERMA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए SONU जी का जवाब
Student
0:40
हेलो फ्रेंड्स भारत में मोबाइल बाजार में चीनी के ऊपर इसलिए ज्यादा दिखते हैं क्योंकि उनके रेट कम होते हैं और भारत में शक्ति चीजों को लाकर उसको अधिक मात्रा में मिलता है इसके दो कारण हैं एक तो भारत में गरीबी गरीब लोग अधिकतर सत्य वचन खरीदना ज्यादा पसंद करते हैं और चीन इसी चीज का हमारे फायदा उठाता है जिससे कि वह कम पैसों में अपनी वस्तु को भारत में सप्लाई करता है और इससे अच्छा खासा मुनाफा भी काम आता है थैंक यू
Helo phrends bhaarat mein mobail baajaar mein cheenee ke oopar isalie jyaada dikhate hain kyonki unake ret kam hote hain aur bhaarat mein shakti cheejon ko laakar usako adhik maatra mein milata hai isake do kaaran hain ek to bhaarat mein gareebee gareeb log adhikatar saty vachan khareedana jyaada pasand karate hain aur cheen isee cheej ka hamaare phaayada uthaata hai jisase ki vah kam paison mein apanee vastu ko bhaarat mein saplaee karata hai aur isase achchha khaasa munaapha bhee kaam aata hai thaink yoo

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
G Dewasi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए G जी का जवाब
Unknown
2:02
देखिए इसका आंसर बड़ा सिंपल है कि यह तो चाइना की जो प्रोडक्ट होता है जो स्मार्टफोन होते हैं वह काफी सस्ते होते हैं प्लस उनके अंदर फीचर काफी अच्छे होते हैं जिस वजह से इंडियन मार्केट में जो चाइनीस स्मार्टफोन है वो काफी ज्यादा पॉपुलर है अब ऐसा क्या होता है कि चाइनीस जो प्रोडक्ट होता है जो स्मार्टफोन होते हुए इतने सस्ते होते हैं जबकि इंडिया के स्मार्टफोन इतनी ज्यादा सस्ते नहीं होते देख इसका आंसर बड़ा सिंपल है कि चाइना के अंदर क्या होता है कि सपोर्ट कीजिए कंपनी है कोई स्मार्टफोन को अगर बनाती है तो वह कंपनी स्मार्टफोन के सभी कंपोनेंट को नहीं बना सकती है उस कंपनी को डिस्प्ले किसी और कंपनी से खरीदनी पड़ेगी उस कंपनी को जो मदरबोर्ड होता है जो राम होती है प्रोसेसर होता है वह किसी और कंपनी से लेना पड़ेगा और वह कंपनी में सभी प्रोडक्ट को सभी कंपोनेंट को असेंबल करती है और फिर उसे मार्केट में भेजती है और चाइना के अंदर क्या होता है कि यह जितने भी कंपनीज होती है जो अलग-अलग चीजें बनाती है अलग-अलग कंप्लेंट बनाती है उसे कंपनी एक शहर के अंदर ही होती है जिस वजह से क्या होता है कि जो ए कंपोनेंट होता है यह सब दूसरी कंपनी को दिए जाते हैं तो बीच में जो शिफ्टिंग चार्ज होता है वह हट जाता है यानी कि अलग से जो कंप्लेंट को भेजने का जो चार्ज होता है जो सिर्फ करने का चार्ज होता है वह आप इतना नहीं लगता है क्योंकि जो कंपनी रोती है वह बहुत आस पास होती है इस तरीके से और इंडिया में क्या होता है इंडिया में देखिए अगर स्मार्टफोन जो असेंबल करती है उसकी कंपनी सपोर्ट करो गुजरात में है तो अगर जो कंपोनेंट होता है जो मदरबोर्ड होते हैं उनकी कंपनी से आपको किसी और स्टेट में देखने को मिली जिस वजह से इन सभी कंपोनेंट को उस कंपनी को देने में बीच में जो शिफ्टिंग चार्ज होता है वह काफी ज्यादा लग जाता है जिस वजह से इंडिया के जो प्रोडक्ट होता है वह काफी महंगी हो जाते हैं और देखिए अब तू बल्कि इंडिया में चेंज हो रहा है थोड़े आपको पता होगा जो माइक्रोमैक्स ए लावा इन कंपनियों ने कम बैक किया जो कि काफी अच्छी बात है और अब देखिए मुझे लग रहा है कि आने वाले 3000 सालों में जो इंडियन का प्लीज है वही आपको देखने को मिलेगी धन्यवाद
Dekhie isaka aansar bada simpal hai ki yah to chaina kee jo prodakt hota hai jo smaartaphon hote hain vah kaaphee saste hote hain plas unake andar pheechar kaaphee achchhe hote hain jis vajah se indiyan maarket mein jo chainees smaartaphon hai vo kaaphee jyaada popular hai ab aisa kya hota hai ki chainees jo prodakt hota hai jo smaartaphon hote hue itane saste hote hain jabaki indiya ke smaartaphon itanee jyaada saste nahin hote dekh isaka aansar bada simpal hai ki chaina ke andar kya hota hai ki saport keejie kampanee hai koee smaartaphon ko agar banaatee hai to vah kampanee smaartaphon ke sabhee kamponent ko nahin bana sakatee hai us kampanee ko disple kisee aur kampanee se khareedanee padegee us kampanee ko jo madarabord hota hai jo raam hotee hai prosesar hota hai vah kisee aur kampanee se lena padega aur vah kampanee mein sabhee prodakt ko sabhee kamponent ko asembal karatee hai aur phir use maarket mein bhejatee hai aur chaina ke andar kya hota hai ki yah jitane bhee kampaneej hotee hai jo alag-alag cheejen banaatee hai alag-alag kamplent banaatee hai use kampanee ek shahar ke andar hee hotee hai jis vajah se kya hota hai ki jo e kamponent hota hai yah sab doosaree kampanee ko die jaate hain to beech mein jo shiphting chaarj hota hai vah hat jaata hai yaanee ki alag se jo kamplent ko bhejane ka jo chaarj hota hai jo sirph karane ka chaarj hota hai vah aap itana nahin lagata hai kyonki jo kampanee rotee hai vah bahut aas paas hotee hai is tareeke se aur indiya mein kya hota hai indiya mein dekhie agar smaartaphon jo asembal karatee hai usakee kampanee saport karo gujaraat mein hai to agar jo kamponent hota hai jo madarabord hote hain unakee kampanee se aapako kisee aur stet mein dekhane ko milee jis vajah se in sabhee kamponent ko us kampanee ko dene mein beech mein jo shiphting chaarj hota hai vah kaaphee jyaada lag jaata hai jis vajah se indiya ke jo prodakt hota hai vah kaaphee mahangee ho jaate hain aur dekhie ab too balki indiya mein chenj ho raha hai thode aapako pata hoga jo maikromaiks e laava in kampaniyon ne kam baik kiya jo ki kaaphee achchhee baat hai aur ab dekhie mujhe lag raha hai ki aane vaale 3000 saalon mein jo indiyan ka pleej hai vahee aapako dekhane ko milegee dhanyavaad

bolkar speaker
भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है?Bharat Ke Mobile Bazar Mein Chinese Upakranon Ka Bolbala Kyun Hai
Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:04
ईश्वर को शुरू करने से पहले आप बताओ मुझे 3:00 बजे वह धीरे धीरे 22:00 बजे खत्म होता है आप लोगों ने सुना होगा दिल्ली में चांदनी चौक चांदनी चौक में पहले के समय में आपको बता रहा हूं कौन-कौन से पहले के स्वर में 70% चाइना की मिलती थी लेकिन वह कल टू लोकल का एक मोटर शुरू किया है दुकान में जाने के लिए सरकारी तारीफ नहीं कर रहा है कि सरकार की आंखें बंद करो मैं आपको बाद में कॉल टू लोकल शुरू किया तब से उस जैसे बाजार में भी चाइना की चीजें 70% घटकर 10:00 1% रह गई है और यह भी दिल से घटती जा रही है यह कहना कि बाजार में मोबाइल चाइना के महीने लगेंगे ऐसा नहीं है मोबाइल की सेना के आते हैं वह पीछे चले ना चले कि नहीं चीजें कहने पर कटने लगी आपने फोन क्यों किया ऑनलाइन मंगाना मेड इन इंडिया धीरे धीरे भगति आ रही हो ना देखा जाएगा

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत के मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला क्यों है भारत में चीनी उपक्रमों का बोलबाला
URL copied to clipboard