#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना ज़रूरी हैं?

Kya Vaivaahik Jeevan Khushaal Bitane Ke Lie Samjhauta Karna Zaruri Hain
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:05
नमस्कार आपका प्रश्न है कि क्या विवाहित जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना जरूरी है जी हां बहुत हद तक आपकी बात सही है अगर हम एक वैवाहिक जीवन जीना चाहते हैं और खुशहाल तरीके से बिताना चाहते हैं तो हमें आपस में कुछ समझौते भी करने पड़ते हैं तो और यह जरूरी नहीं है कि वैवाहिक जीवन एक परिवार के लिए बहुत जरूरी है अगर हम चाहते कि हमारा परिवार ना टूटे सब सदस्य आपस में मिलजुल कर रहे हैं एक साथ रहें उसके लिए आपस में बहुत सारे समझौते भी करने पड़ते हैं और वह जरूरी हैं क्योंकि अगर आप समझौते नहीं करेंगे आप अपने मन की करते रहेंगे तो सामने वाला भी फिर अपने मन की करेगा और उस से क्या होगा कि दरार बढ़ेगी झगड़े बढ़ेंगे और फिर क्या होगा कि परिवार से अलग अलग हो जाएगा और फिर कोई खुशहाल ही नहीं आएगी फिर तो समझ लीजिए परेशानियां ही परेशानियां खड़ी हो जाएंगे इसलिए जरूरी है कि अगर परिवार में साथ रहना है एक परिवार को एक बनाकर रखना है तो आपस में समझोता करें कुछ आप दवे कुछ सामने वाला दवे कुछ उसकी उन्हें कुछ अपनी सुनाए ऐसे जीवन चलेगा तो बहुत अच्छा रहेगा धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki kya vivaahit jeevan khushahaal bitaane ke lie samajhauta karana jarooree hai jee haan bahut had tak aapakee baat sahee hai agar ham ek vaivaahik jeevan jeena chaahate hain aur khushahaal tareeke se bitaana chaahate hain to hamen aapas mein kuchh samajhaute bhee karane padate hain to aur yah jarooree nahin hai ki vaivaahik jeevan ek parivaar ke lie bahut jarooree hai agar ham chaahate ki hamaara parivaar na toote sab sadasy aapas mein milajul kar rahe hain ek saath rahen usake lie aapas mein bahut saare samajhaute bhee karane padate hain aur vah jarooree hain kyonki agar aap samajhaute nahin karenge aap apane man kee karate rahenge to saamane vaala bhee phir apane man kee karega aur us se kya hoga ki daraar badhegee jhagade badhenge aur phir kya hoga ki parivaar se alag alag ho jaega aur phir koee khushahaal hee nahin aaegee phir to samajh leejie pareshaaniyaan hee pareshaaniyaan khadee ho jaenge isalie jarooree hai ki agar parivaar mein saath rahana hai ek parivaar ko ek banaakar rakhana hai to aapas mein samajhota karen kuchh aap dave kuchh saamane vaala dave kuchh usakee unhen kuchh apanee sunae aise jeevan chalega to bahut achchha rahega dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना ज़रूरी हैं?Kya Vaivaahik Jeevan Khushaal Bitane Ke Lie Samjhauta Karna Zaruri Hain
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:38
स्वागत है आपका आपका प्रश्न क्या जगह है जीवन बिताने के लिए समझौता करना जरूरी है तो फ्रेंड सोती है शराब समझौता भी आर्टिस्ट में होंगे तो थोड़ा बहुत आता तो करना पड़ता है एक दूसरे की पसंद ना आए उनका ख्याल रखना पड़ता है और पता करना पड़ता पर बहुत ज्यादा नहीं क्या आपको बहुत तकलीफ हो रही हो आप नहीं पा रहे हो इतना भी समझौता नहीं करना है पता कर सकते हैं थोड़ा जस्ट मेंट कर सकते हैं एक दूसरे की भावनाओं का ख्याल रखिए दूसरों को खुश रखने की कोशिश कीजिए बस यही सब समझौते करने पड़ते हैं धन्यवाद
Svaagat hai aapaka aapaka prashn kya jagah hai jeevan bitaane ke lie samajhauta karana jarooree hai to phrend sotee hai sharaab samajhauta bhee aartist mein honge to thoda bahut aata to karana padata hai ek doosare kee pasand na aae unaka khyaal rakhana padata hai aur pata karana padata par bahut jyaada nahin kya aapako bahut takaleeph ho rahee ho aap nahin pa rahe ho itana bhee samajhauta nahin karana hai pata kar sakate hain thoda jast ment kar sakate hain ek doosare kee bhaavanaon ka khyaal rakhie doosaron ko khush rakhane kee koshish keejie bas yahee sab samajhaute karane padate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना ज़रूरी हैं?Kya Vaivaahik Jeevan Khushaal Bitane Ke Lie Samjhauta Karna Zaruri Hain
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:28
नमस्कार आपका सवाल है क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना जरूरी होता है समझौता एक परिवार में थोड़ा बहुत होता है और वह हर चीज के लिए होता है चाहे किसी चीज के लिए हो गया या फिर खाने पीने को यह पर कोई भी चीज हो गया हर चीज में होता है जैसे होता है जैसे मान लीजिए दो बच्चे हैं और एक को आई थी तो चेक भी वही चीज पसंद है अगर दोनों ही एक दोनों में से कोई एक पीछे नहीं हटेंगे समझौता नहीं करेंगे तो फिर आपस में झगड़ा भी हो सकता है तो कुछ बड़े लोगों में भी होता है किसी भी चीज को लेकर के तो हमें हमारे लिए समझौता वहां पर जरूरी हो जाता है ऐसा नहीं है कि आप एकदम हर एक चीज के लिए समझौता करे लेकिन हर छोटी-छोटी बातों के लिए भी समझौता करना और से पीछे हट जाना सही रहता है और इससे हमारा परिवार भी खुश जाता है और हम भी कुछ जानते हैं यह विवाहित जीवन में भी है कुछ इस प्रकार की बातें होती हैं जो कि समझौता करना ही पड़ता है करना ही पड़ता नहीं मतलब कि आप हर एक चीज में नहीं कह सकते हैं कि आज ऊंची एकदम बिल्कुल भी नहीं कर सकते उसको समझा था कि यह लेकिन हम आज छोटी-छोटी बातों पर भी ऐसे कुछ लोगों का गुस्सा करना तो इन सब बातों में आपको समझौता करना चाहिए उम्मीद करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा आप लोग को चाहिए दूसरों को भी खुश रखे थे
Namaskaar aapaka savaal hai kya vaivaahik jeevan khushahaal bitaane ke lie samajhauta karana jarooree hota hai samajhauta ek parivaar mein thoda bahut hota hai aur vah har cheej ke lie hota hai chaahe kisee cheej ke lie ho gaya ya phir khaane peene ko yah par koee bhee cheej ho gaya har cheej mein hota hai jaise hota hai jaise maan leejie do bachche hain aur ek ko aaee thee to chek bhee vahee cheej pasand hai agar donon hee ek donon mein se koee ek peechhe nahin hatenge samajhauta nahin karenge to phir aapas mein jhagada bhee ho sakata hai to kuchh bade logon mein bhee hota hai kisee bhee cheej ko lekar ke to hamen hamaare lie samajhauta vahaan par jarooree ho jaata hai aisa nahin hai ki aap ekadam har ek cheej ke lie samajhauta kare lekin har chhotee-chhotee baaton ke lie bhee samajhauta karana aur se peechhe hat jaana sahee rahata hai aur isase hamaara parivaar bhee khush jaata hai aur ham bhee kuchh jaanate hain yah vivaahit jeevan mein bhee hai kuchh is prakaar kee baaten hotee hain jo ki samajhauta karana hee padata hai karana hee padata nahin matalab ki aap har ek cheej mein nahin kah sakate hain ki aaj oonchee ekadam bilkul bhee nahin kar sakate usako samajha tha ki yah lekin ham aaj chhotee-chhotee baaton par bhee aise kuchh logon ka gussa karana to in sab baaton mein aapako samajhauta karana chaahie ummeed karate hain savaal ka javaab pasand aaega aap log ko chaahie doosaron ko bhee khush rakhe the

bolkar speaker
क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना ज़रूरी हैं?Kya Vaivaahik Jeevan Khushaal Bitane Ke Lie Samjhauta Karna Zaruri Hain
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:19
हर जुबान तो आज आप का सवाल है कि क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना जरूरी है जिंदगी की जगह करना जरूरी होता है कि जरूरी नहीं होता हमेशा आप के अकॉर्डिंग आपके अनुसार हर एक चीज और दूसरे की भी पसंद नापसंद दूसरे की वैल्यू देना पड़ता है दोस्ती में भी देखिए क्या होता है कि कभी कदार दोस्त बोलते कि नहीं आ जा मैं आ जा रहा है जवानी जाना मैं तुम्हारे साथ हूं प्लीज प्लीज जल्दी ठीक है चलो तुम कैसे बोल रहे हो उसी जगह जाते अगर ना होता था कि यह बांड आपके अच्छे से बनी रिलेशन पता चले कि हमेशा आपके साथ ही अच्छा और आपकी शादी हो तो अगला इंसान उनका कोई वैल्यू नहीं प्रेम पाटन से नहीं उस पर फाइन लगेगा उसे जो वैल्यू देगा उसकी दो बातों को समझेगा उसको जो इंपॉर्टेंट देगा वह उसके साथ इंसान होना पसंद करेगा तो कभी कदर थोड़ा बहुत है जिस करना पड़ता है थोड़ा बहुत समझौता करना पड़ता है दूसरों को भी चांदी का बटन वैल्यू पैक यार उनकी बातों को महत्व देना पड़ता है
Har jubaan to aaj aap ka savaal hai ki kya vaivaahik jeevan khushahaal bitaane ke lie samajhauta karana jarooree hai jindagee kee jagah karana jarooree hota hai ki jarooree nahin hota hamesha aap ke akording aapake anusaar har ek cheej aur doosare kee bhee pasand naapasand doosare kee vailyoo dena padata hai dostee mein bhee dekhie kya hota hai ki kabhee kadaar dost bolate ki nahin aa ja main aa ja raha hai javaanee jaana main tumhaare saath hoon pleej pleej jaldee theek hai chalo tum kaise bol rahe ho usee jagah jaate agar na hota tha ki yah baand aapake achchhe se banee rileshan pata chale ki hamesha aapake saath hee achchha aur aapakee shaadee ho to agala insaan unaka koee vailyoo nahin prem paatan se nahin us par phain lagega use jo vailyoo dega usakee do baaton ko samajhega usako jo importent dega vah usake saath insaan hona pasand karega to kabhee kadar thoda bahut hai jis karana padata hai thoda bahut samajhauta karana padata hai doosaron ko bhee chaandee ka batan vailyoo paik yaar unakee baaton ko mahatv dena padata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना ज़रूरी हैं वैवाहिक जीवन खुशहाल बिताने के लिए समझौता करना
URL copied to clipboard