#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?

Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:52
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि क्या बेटी किसी और किसी और की अमानत होती है बोलने से ही हम पहले से यह तय कर लेते हैं और लड़की के भी दिमाग में मन में यह बात डाल देते हैं कि नहीं तुम्हारा घर तुम्हारा ससुराल है तो वहां की अमानत हो मेरे हिसाब से यह सब सिर्फ भूलने की बात है और हम दिमाग में एक लड़की के डाल देते हैं जो अपने घर पर ही रह कर अपने घर पर शांति से हो नहीं रह पाती है उनके मन में भी है चलता है कि नहीं क्या सच में मैं यहां अमानत ही हूं क्या मेरा ससुराल है मेरा घर है तो मेरे साथ यह सच बोलना ही नहीं चाहिए तुम ही नहीं करना चाहिए क्या करना होता है तो शादी और वह भी अब देखे डिपेंड करता है लड़की और लड़का शादी करना चाहे तो आजकल बहुत सारे तरह के दिमाग में है कि वह सरप्राइज नहीं करते कि हाथ में शादी करना नहीं करना है तो मेरे हिसाब से ऐसे दिमाग में नहीं डालना चाहिए और ऐसा नहीं है कि वह अमानत होती है दोनों उसका अपना ही घर होता है वहां पर जैसे वह रहती है जैसे ससुर एक मम्मी पापा की तरह रोल निभाते हैं यहां पर भी अपने घर में भी उनके मम्मी-पापा है जब वह चाहे यहां पर आते हैं जब वह चाहे वहां पर आके तो कहे कि वह मेरे सबसे अमानत नहीं और ऐसे दिमाग में डालना भी नहीं चाहिए कि वह कहीं किसी की अमानत है जैसे है जहां है खुशी से रहना चाहिए अपना घर समझना चाहिए और मेरे हिसाब से यह सब मेंटालिटी को चेंज करने की जरूरत है क्या तुम यहां और वहां जमाना तो यह सब नहीं डालना चाहिए अभी सोसाइटी और बहुत सारे पेरेंट्स से मतलब सोच बदल रहा है आगे और भी बदलेगा तू ही अमानत या फिर वहां उसका घर है यह सब मेरे हिसाब से सही नहीं है
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki kya betee kisee aur kisee aur kee amaanat hotee hai bolane se hee ham pahale se yah tay kar lete hain aur ladakee ke bhee dimaag mein man mein yah baat daal dete hain ki nahin tumhaara ghar tumhaara sasuraal hai to vahaan kee amaanat ho mere hisaab se yah sab sirph bhoolane kee baat hai aur ham dimaag mein ek ladakee ke daal dete hain jo apane ghar par hee rah kar apane ghar par shaanti se ho nahin rah paatee hai unake man mein bhee hai chalata hai ki nahin kya sach mein main yahaan amaanat hee hoon kya mera sasuraal hai mera ghar hai to mere saath yah sach bolana hee nahin chaahie tum hee nahin karana chaahie kya karana hota hai to shaadee aur vah bhee ab dekhe dipend karata hai ladakee aur ladaka shaadee karana chaahe to aajakal bahut saare tarah ke dimaag mein hai ki vah sarapraij nahin karate ki haath mein shaadee karana nahin karana hai to mere hisaab se aise dimaag mein nahin daalana chaahie aur aisa nahin hai ki vah amaanat hotee hai donon usaka apana hee ghar hota hai vahaan par jaise vah rahatee hai jaise sasur ek mammee paapa kee tarah rol nibhaate hain yahaan par bhee apane ghar mein bhee unake mammee-paapa hai jab vah chaahe yahaan par aate hain jab vah chaahe vahaan par aake to kahe ki vah mere sabase amaanat nahin aur aise dimaag mein daalana bhee nahin chaahie ki vah kaheen kisee kee amaanat hai jaise hai jahaan hai khushee se rahana chaahie apana ghar samajhana chaahie aur mere hisaab se yah sab mentaalitee ko chenj karane kee jaroorat hai kya tum yahaan aur vahaan jamaana to yah sab nahin daalana chaahie abhee sosaitee aur bahut saare perents se matalab soch badal raha hai aage aur bhee badalega too hee amaanat ya phir vahaan usaka ghar hai yah sab mere hisaab se sahee nahin hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:37
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं तो जब तक जब तक वह अपने माता-पिता या अभिभावक के घर पर रहती है तो वह किसी और की अमानत ही होती है आमतौर पर यही देखा जाता है कि माता पिता अपनी बेटी को किसी दूसरे की अमानत पराया धन इत्यादि संज्ञा से नवा नव जाते हैं वही विवाह के पश्चात भी ससुराल जाने वाले किसी दूसरे घर की आई बहू ही समझते हैं धन्यवाद
Kya betee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hain to jab tak jab tak vah apane maata-pita ya abhibhaavak ke ghar par rahatee hai to vah kisee aur kee amaanat hee hotee hai aamataur par yahee dekha jaata hai ki maata pita apanee betee ko kisee doosare kee amaanat paraaya dhan ityaadi sangya se nava nav jaate hain vahee vivaah ke pashchaat bhee sasuraal jaane vaale kisee doosare ghar kee aaee bahoo hee samajhate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Yogi Prashant Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Yogi जी का जवाब
Business Owner
4:31
मुस्कान भारत में प्रथम चली आ रही है दहेज प्रथा अगर जैसा कि आप ने सवाल किया है कि अगर बेटियां किसी और की अमानत होती जिस व्यक्ति को वह मान लेती जा रही है तो उसे हमें तय करना चाहिए कि यहां तो उल्टी प्रथा चल रही है एक तो लड़कियां दो ठीक है उसके बावजूद भी आप एक अच्छी खासी रकम दहेज के रूप में देते हैं और इस सदियों से चला रहा है सरकार इतनी ज्यादा शक्ति कानून बना रही है इसके बावजूद भी इन चीजों पर लगाम नहीं लगा पा रही है कहीं ना कहीं इसमें हमारी और आपकी कमी है बहुत ही कड़वी शब्द है कि किसी की जागीर नहीं है किसी की बेटियां वो खुद की मालिक हैं ठीक है खुद की अमानत है अपना डिसीजन खुद चाहे ले सकते हैं जो चाहे वह कर सकती हैं इस पर कोई रोक टोक नहीं है परिचय दें हमारी बेटियों को समझना चाहिए कहीं ना कहीं बहुत समझदार होती हैं बेटियां वो अपने आप को अपने स्वार्थ को अपने शहर को हटाकर सबकी परवाह करती है यही कारण है कहीं ना कहीं से उनकी कमजोरी बन जाती है आज के समय में मैं यह कहूंगा कि किसी तरह की किसी भी दबाव में आकर कोई डिसीजन लेना बहुत गलत है आपकी रिस्पेक्ट तभी होगी जब आप अपनी रिस्पेक्ट करेंगे तो आप खुद की अमानत है अपने आप को संभाल लिया आप किसी की जागीर किसी और की अमानत नहीं है और यह सिर्फ एक से भ्रांति बना रखी है सपने में क्या करता है तो जिनके साथ आप का विवाह होता जिनके साथ जीवन आपका यापन होना था पूरी लाइफ आप किसको सपोर्ट करते हैं उनको आपको पे करना चाहिए आपके लिए बदले वह क्या करते हैं आपके बदले कुछ भी नहीं बस सारी जिंदगी यही कहते रहते हैं कि हां भाई हमने तुम्हारे लिए क्या हमने तुम्हारे लिए क्या पता भी लड़कियों की यह बहुत अच्छी बात होती है कि कभी वह जाति नहीं है उन्होंने जिंदगी भर सबके लिए बहुत कुछ किया होता है पहले अपने मां बाप के लिए अपने घर के लिए रितेश घर में वह जाती है वहां के लिए लेकिन कभी भी इस चीज को बताती नहीं है जैसा कि मैंने क्या किया है मैंने कितना सैक्रिफाइस क्या कितना बड़ा त्याग बलिदान दिया और यही कारण होता कि उनकी महत्वता को हर कोई नहीं समझ पाता बहुत कम लोग होते हैं जो बेटियों की महत्वता को समझते हैं बेटियां सौभाग्य से मिलती हैं और वह हर तरफ से सक्षम होती हैं किसी की आवश्यकता नहीं होने किसी चीज पर आश्रित रहने की आवश्यकता है खुद का भी ख्याल रख सकती हैं और दूसरों का भी बहुत अच्छे से ख्याल रख सकते हैं यह सब हम जानते हैं बखूबी पहचानते बस हम अनजान बनने का नाटक करते रहते हैं शुरू से ही लड़कियां क्या किसी भी घर परिवार से दूर हैं वह हर एक चीज को बहुत अच्छे से संभाल लेती है उनमें यह क्षमता होती हर परिस्थिति को समझने की देखने की सोचने की है और उसके ऊपर रखते रिजेक्ट करने की आसान लेने की तो सबसे पहली बात तो बहुत ना ठीक है उनको आप इस तरह के सवाल जवाब से कहीं इंसल्ट ना करें बहुत ऊंची होती हैं लड़कियां लड़कों से भी बढ़कर मेरी सोच है मेरी दिन तुम और मैं यही चाहूंगा कि आप भी अपनी सोच बदले रिस्पेक्ट करें लड़कियों की किसी भी प्रकार से यह भावना देता है तो वह रोज होती है या किसी और की अमानत होती हैं ऐसी कोई चीज नहीं है वह कोई सामान नहीं है कोई वस्तु नहीं है कि किसी की अमानत है ठीक है वह खुद एक जीता जाता इंसान हैं उनको भी अपने फैसले करने की आजादी है वह अपने फैसले खुद भी कर सकती हैं ले सकते हैं और इसमें हमें सहयोग करना चाहिए ना कि उनका विरोध अवश्य दे दिए पोस्ट सभी नेशनल्स को अच्छा लगा और सभी के लिए एक सबक होगा थैंक यू फॉर लिसनिंग दिस पोस्ट
Muskaan bhaarat mein pratham chalee aa rahee hai dahej pratha agar jaisa ki aap ne savaal kiya hai ki agar betiyaan kisee aur kee amaanat hotee jis vyakti ko vah maan letee ja rahee hai to use hamen tay karana chaahie ki yahaan to ultee pratha chal rahee hai ek to ladakiyaan do theek hai usake baavajood bhee aap ek achchhee khaasee rakam dahej ke roop mein dete hain aur is sadiyon se chala raha hai sarakaar itanee jyaada shakti kaanoon bana rahee hai isake baavajood bhee in cheejon par lagaam nahin laga pa rahee hai kaheen na kaheen isamen hamaaree aur aapakee kamee hai bahut hee kadavee shabd hai ki kisee kee jaageer nahin hai kisee kee betiyaan vo khud kee maalik hain theek hai khud kee amaanat hai apana diseejan khud chaahe le sakate hain jo chaahe vah kar sakatee hain is par koee rok tok nahin hai parichay den hamaaree betiyon ko samajhana chaahie kaheen na kaheen bahut samajhadaar hotee hain betiyaan vo apane aap ko apane svaarth ko apane shahar ko hataakar sabakee paravaah karatee hai yahee kaaran hai kaheen na kaheen se unakee kamajoree ban jaatee hai aaj ke samay mein main yah kahoonga ki kisee tarah kee kisee bhee dabaav mein aakar koee diseejan lena bahut galat hai aapakee rispekt tabhee hogee jab aap apanee rispekt karenge to aap khud kee amaanat hai apane aap ko sambhaal liya aap kisee kee jaageer kisee aur kee amaanat nahin hai aur yah sirph ek se bhraanti bana rakhee hai sapane mein kya karata hai to jinake saath aap ka vivaah hota jinake saath jeevan aapaka yaapan hona tha pooree laiph aap kisako saport karate hain unako aapako pe karana chaahie aapake lie badale vah kya karate hain aapake badale kuchh bhee nahin bas saaree jindagee yahee kahate rahate hain ki haan bhaee hamane tumhaare lie kya hamane tumhaare lie kya pata bhee ladakiyon kee yah bahut achchhee baat hotee hai ki kabhee vah jaati nahin hai unhonne jindagee bhar sabake lie bahut kuchh kiya hota hai pahale apane maan baap ke lie apane ghar ke lie ritesh ghar mein vah jaatee hai vahaan ke lie lekin kabhee bhee is cheej ko bataatee nahin hai jaisa ki mainne kya kiya hai mainne kitana saikriphais kya kitana bada tyaag balidaan diya aur yahee kaaran hota ki unakee mahatvata ko har koee nahin samajh paata bahut kam log hote hain jo betiyon kee mahatvata ko samajhate hain betiyaan saubhaagy se milatee hain aur vah har taraph se saksham hotee hain kisee kee aavashyakata nahin hone kisee cheej par aashrit rahane kee aavashyakata hai khud ka bhee khyaal rakh sakatee hain aur doosaron ka bhee bahut achchhe se khyaal rakh sakate hain yah sab ham jaanate hain bakhoobee pahachaanate bas ham anajaan banane ka naatak karate rahate hain shuroo se hee ladakiyaan kya kisee bhee ghar parivaar se door hain vah har ek cheej ko bahut achchhe se sambhaal letee hai unamen yah kshamata hotee har paristhiti ko samajhane kee dekhane kee sochane kee hai aur usake oopar rakhate rijekt karane kee aasaan lene kee to sabase pahalee baat to bahut na theek hai unako aap is tarah ke savaal javaab se kaheen insalt na karen bahut oonchee hotee hain ladakiyaan ladakon se bhee badhakar meree soch hai meree din tum aur main yahee chaahoonga ki aap bhee apanee soch badale rispekt karen ladakiyon kee kisee bhee prakaar se yah bhaavana deta hai to vah roj hotee hai ya kisee aur kee amaanat hotee hain aisee koee cheej nahin hai vah koee saamaan nahin hai koee vastu nahin hai ki kisee kee amaanat hai theek hai vah khud ek jeeta jaata insaan hain unako bhee apane phaisale karane kee aajaadee hai vah apane phaisale khud bhee kar sakatee hain le sakate hain aur isamen hamen sahayog karana chaahie na ki unaka virodh avashy de die post sabhee neshanals ko achchha laga aur sabhee ke lie ek sabak hoga thaink yoo phor lisaning dis post

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:52
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न किया बेटी किसी और के घर की अमानत होती है तो फ्रेंड सा हमारे बड़े बुजुर्ग भी यही कहते हैं कि बेटी पराई घर की अमानत होती है पर आजकल के जमाने में ऐसा नहीं है ऐसा नहीं समझना चाहिए कि मुझे शादी कर दिया बस बेटी से हमारा हाथ धो लिया बिल्कुल कोई मतलब नहीं है और पीछा छुड़ा लिया इस तरह के विचार नहीं करना चाहिए बेटी किसी और की अमानत तो होती है हम उसे पढ़ा लिखा कर बड़ा करते हैं फिर उसकी शादी कर लेते हैं दोस्तों में दे देते हैं लेकिन समय-समय पर उसके हाल चाल लेते रहना चाहिए देखते रहना चाहिए कि हमारी बेटी जिस घर में शादी किया है खुश है कि नहीं है या उसे कोई छोटी मोटी परेशानी है दिक्कत है पैसों की कोई परेशानी है तो आप उनकी मदद करें आप अपनी बेटी के हाल-चाल पूछे और बेटी की मदद भी जरूर करें धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn kiya betee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hai to phrend sa hamaare bade bujurg bhee yahee kahate hain ki betee paraee ghar kee amaanat hotee hai par aajakal ke jamaane mein aisa nahin hai aisa nahin samajhana chaahie ki mujhe shaadee kar diya bas betee se hamaara haath dho liya bilkul koee matalab nahin hai aur peechha chhuda liya is tarah ke vichaar nahin karana chaahie betee kisee aur kee amaanat to hotee hai ham use padha likha kar bada karate hain phir usakee shaadee kar lete hain doston mein de dete hain lekin samay-samay par usake haal chaal lete rahana chaahie dekhate rahana chaahie ki hamaaree betee jis ghar mein shaadee kiya hai khush hai ki nahin hai ya use koee chhotee motee pareshaanee hai dikkat hai paison kee koee pareshaanee hai to aap unakee madad karen aap apanee betee ke haal-chaal poochhe aur betee kee madad bhee jaroor karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
1:20
ऐसे ही का बेटी किसी और के घर के अमानत होती है मुझे तो नहीं पता पर जब मैं छोटी हम छोटे होते हैं तो मेरी मम्मी पापा हमारी मम्मी पापा हमको इतना बड़ा देते हैं उतना लाल पाल से हमको प्यार देकर बड़ा करके पर जब शादी होता है तो हम तुम्हारा के घर चले जाते हैं और वहीं से हमारे जो कि हमारी सब उठते हैं तो यह कहना है मेरी दादा-दादी नाना-नानी जो हमें बताते हैं कि तुम तो पर की अमानत हो हम तुमको से बाल गोपाल कर और बहुत ही जतन से तुमको रखे हैं और तुम एक दिन तो पढ़ाई हो कर चले जाओगे हमें यह बात हमेशा उनके सुनते हुए क्या बोल रहे हैं पराई नाम में तो दादी से हमेशा पूछते हो मैं तो आपके घर के हूं मेरे मम्मी पापा है तो मैं पक्का अमानत कैसे हुई मैं उसे बहुत सारे सवाल पूछती थी पर वह बोलते हैं कि मैं भी हम सब जो लड़के होते हैं वह तो जन्म लेते हैं हमारे माता-पिता पर हमारा जोशी सर हमारा जो परमानेंट एड्रेस है तुम्हारा वह तुम्हारा ससुराल है वही तुम्हारा घर होगा वही तुम्हारा नया संसार होगा वही से तुम्हारा सब कुछ होगा
Aise hee ka betee kisee aur ke ghar ke amaanat hotee hai mujhe to nahin pata par jab main chhotee ham chhote hote hain to meree mammee paapa hamaaree mammee paapa hamako itana bada dete hain utana laal paal se hamako pyaar dekar bada karake par jab shaadee hota hai to ham tumhaara ke ghar chale jaate hain aur vaheen se hamaare jo ki hamaaree sab uthate hain to yah kahana hai meree daada-daadee naana-naanee jo hamen bataate hain ki tum to par kee amaanat ho ham tumako se baal gopaal kar aur bahut hee jatan se tumako rakhe hain aur tum ek din to padhaee ho kar chale jaoge hamen yah baat hamesha unake sunate hue kya bol rahe hain paraee naam mein to daadee se hamesha poochhate ho main to aapake ghar ke hoon mere mammee paapa hai to main pakka amaanat kaise huee main use bahut saare savaal poochhatee thee par vah bolate hain ki main bhee ham sab jo ladake hote hain vah to janm lete hain hamaare maata-pita par hamaara joshee sar hamaara jo paramaanent edres hai tumhaara vah tumhaara sasuraal hai vahee tumhaara ghar hoga vahee tumhaara naya sansaar hoga vahee se tumhaara sab kuchh hoga

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:21
बेटी किसी और की अमानत है यह तो वही परंपरा है मैं लंबी किसी और के घर की अमानत होती है यह बचपन से मेरे बाबू से कितना प्यार कर ले पर वह अमानत तू किसी और की होती है यह बात तो सच ही है बेटी कभी घर में नहीं रह सकते वह दूसरों की है
Betee kisee aur kee amaanat hai yah to vahee parampara hai main lambee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hai yah bachapan se mere baaboo se kitana pyaar kar le par vah amaanat too kisee aur kee hotee hai yah baat to sach hee hai betee kabhee ghar mein nahin rah sakate vah doosaron kee hai

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
4:52
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती है अमरुद तो नहीं होती है एक जिंदा इंसान है जो इंसान होती है लेकिन हमारे मुझे टी रिवाजों के अनुसार ऐसी एक कहावत बनाई बनी हुई है वह इसलिए है कि जब बेटी हो होती है और उसकी शादी की उम्र होती है वह शादी की उम्र भी निश्चित है नहीं है कई जगह पर हूं तो पालने में पालने में ही शादियां हुई जब हुई हुई है हमारी एक रिश्ते मेरी एक रिश्तेदार है अब वह नहीं रही है उसकी हुई थी तो बहुत छोटा से छोटा समय है अपने मां-बाप के घर में बैठी रहती थी रहती है लगभग आज के दौर में भी लगभग एवरेज 20 साल तक रहती है बाकि पूरा विषय जो अगर सब सब ठीक चला तो अब उसका भी प्रॉब्लम हो गया है शादी अभी नहीं है और गड्ढा वर्सेस का प्रमाण भी बढ़ गया है तो वह बाकी जिंदगी अपने पति के साथ में अपने बच्चों के साथ होने वाले अपने सास-ससुर के साथ अपनी जिंदगी बची जिंदगी जो है गुजरती है इसलिए ज्यादा समय को पराई घर में ही जिंदगी काट कांति को काटती है और इसे अमानत इसलिए कहा गया था कि वह दूसरे घर में जाकर उनके संतान पैदा करेंगे आपका करने वाली है और करने वाली जी फोन के लिए एक बहुत बढ़िया अमानत होती है और किसी के लिए भी संतान ऐसे अमानत होती है कि जिसका खुशी पैसों में इसकी तुलना नहीं हो सकती तो एक तरह से यह हमारा भी है लेकिन हम जो बाकी जो अमानत के अर्थ है उनको अगर हम इस तरीके से देखकर तो वह गलत होता है तो अब के जमाने में बेटी इस तरीके से नहीं रहती है अपनी माई के आती जाती रहती है तो इतना लंबी दूरी है तू नहीं तो नहीं रह पाती और एक रखना भी नहीं चाहिए उसे एक प्रकार का शोषण होता है मानसिक रूप से भावनिक रूप से उसको अपने बाप घर माता पिता के घर भाई बहन के साथ भी उसकी भेंट होनी चाहिए बीच-बीच में तो अब जमाना बदल गया है उसके साथ जमाने की कई रश्मि रीति रिवाज बदल जाते हैं अंखियों में शिक्षा आधुनिक विचार टेक्नोलॉजी और स्वतंत्रता की भावना अरुण कानून से मिला मिला हुआ स्वतंत्रता का हक और समान दर्जा इसके बारे में जागृत हो रही है तो अब बेटी जो है वह एक पुरुष की तरह एक आम नागरिक बन रही है बनती जा रही है और इसके आगे इस दिशा में समाज व्यवस्था जारी की जाएगी धन्यवाद
Kya betee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hai amarud to nahin hotee hai ek jinda insaan hai jo insaan hotee hai lekin hamaare mujhe tee rivaajon ke anusaar aisee ek kahaavat banaee banee huee hai vah isalie hai ki jab betee ho hotee hai aur usakee shaadee kee umr hotee hai vah shaadee kee umr bhee nishchit hai nahin hai kaee jagah par hoon to paalane mein paalane mein hee shaadiyaan huee jab huee huee hai hamaaree ek rishte meree ek rishtedaar hai ab vah nahin rahee hai usakee huee thee to bahut chhota se chhota samay hai apane maan-baap ke ghar mein baithee rahatee thee rahatee hai lagabhag aaj ke daur mein bhee lagabhag evarej 20 saal tak rahatee hai baaki poora vishay jo agar sab sab theek chala to ab usaka bhee problam ho gaya hai shaadee abhee nahin hai aur gaddha varses ka pramaan bhee badh gaya hai to vah baakee jindagee apane pati ke saath mein apane bachchon ke saath hone vaale apane saas-sasur ke saath apanee jindagee bachee jindagee jo hai gujaratee hai isalie jyaada samay ko paraee ghar mein hee jindagee kaat kaanti ko kaatatee hai aur ise amaanat isalie kaha gaya tha ki vah doosare ghar mein jaakar unake santaan paida karenge aapaka karane vaalee hai aur karane vaalee jee phon ke lie ek bahut badhiya amaanat hotee hai aur kisee ke lie bhee santaan aise amaanat hotee hai ki jisaka khushee paison mein isakee tulana nahin ho sakatee to ek tarah se yah hamaara bhee hai lekin ham jo baakee jo amaanat ke arth hai unako agar ham is tareeke se dekhakar to vah galat hota hai to ab ke jamaane mein betee is tareeke se nahin rahatee hai apanee maee ke aatee jaatee rahatee hai to itana lambee dooree hai too nahin to nahin rah paatee aur ek rakhana bhee nahin chaahie use ek prakaar ka shoshan hota hai maanasik roop se bhaavanik roop se usako apane baap ghar maata pita ke ghar bhaee bahan ke saath bhee usakee bhent honee chaahie beech-beech mein to ab jamaana badal gaya hai usake saath jamaane kee kaee rashmi reeti rivaaj badal jaate hain ankhiyon mein shiksha aadhunik vichaar teknolojee aur svatantrata kee bhaavana arun kaanoon se mila mila hua svatantrata ka hak aur samaan darja isake baare mein jaagrt ho rahee hai to ab betee jo hai vah ek purush kee tarah ek aam naagarik ban rahee hai banatee ja rahee hai aur isake aage is disha mein samaaj vyavastha jaaree kee jaegee dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Laxmi  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:03
हां किसी की बीवी के मारकर की अमानत हो सकती है

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
2:00
सवाल पूछा गया है कि क्या बेटी किसी और की घर की अमानत होती है तो बहुत खूब प्रश्न है और इसका तो जवाब है अगर सटीक देंगे तो शायद किसी को अच्छा ना लगे परंतु जो बेटी होती है वह दोनों के दोनों घरों की अमानत होती है शादी से पहले जो घर है वहां की भी और शादी के बाद जो वह देवघर में जाती है वहां की क्योंकि दोनों घरों की इज्जत दोनों घरों के संस्कार उन उन को मिलते हैं और वह अपने अपने इच्छा से अपने बल से अपने संस्कारों से और अपने व्यवहार से वह दोनों के दोनों घरों का दिल जीत भी है और अपने व्यवहार से अपने मां बाप की भी बेटी बनकर रहती है और अपने सास-ससुर और अपने पति की भी चाहती बनकर रहती है इसलिए जो बेटी है वह सिर्फ एक घर की अमानत के हैं तो यह सही नहीं है परंतु मेरे हिसाब से यह बेटी जो है वह दोनों की दोनों घरों की हमारा तो थैंक यू बहुत ज्यादा लकी होती है और कितनी लगी होती है कि उनके जो पैदा होते हैं उनको कन्यादान करने का मौका मिलता है और जो पति होता है उनका तो उनको एक हमेशा के लिए जीवनसाथी मिलता है बच्चों को मां मिलती है और जो सास बहू होती है उनको उनको अपने बच्चों के भविष्य उसके अंदर दिखता है इसलिए बेटी अगर दूसरे घर की अमर हो सके वह बहुत ही पुरानी सीखे रात हो गई यह सब की दूसरे की घर की अमानत होती है और आज की जो बैठी है वह दोनों की दोनों घर की अमानत है यह मेरा मानना है अगर इस जवाब के साथ आप संतुष्ट हुए हैं तो अगले सवाल के साथ मुझसे जरूर जुड़िए गा धन्यवाद
Savaal poochha gaya hai ki kya betee kisee aur kee ghar kee amaanat hotee hai to bahut khoob prashn hai aur isaka to javaab hai agar sateek denge to shaayad kisee ko achchha na lage parantu jo betee hotee hai vah donon ke donon gharon kee amaanat hotee hai shaadee se pahale jo ghar hai vahaan kee bhee aur shaadee ke baad jo vah devaghar mein jaatee hai vahaan kee kyonki donon gharon kee ijjat donon gharon ke sanskaar un un ko milate hain aur vah apane apane ichchha se apane bal se apane sanskaaron se aur apane vyavahaar se vah donon ke donon gharon ka dil jeet bhee hai aur apane vyavahaar se apane maan baap kee bhee betee banakar rahatee hai aur apane saas-sasur aur apane pati kee bhee chaahatee banakar rahatee hai isalie jo betee hai vah sirph ek ghar kee amaanat ke hain to yah sahee nahin hai parantu mere hisaab se yah betee jo hai vah donon kee donon gharon kee hamaara to thaink yoo bahut jyaada lakee hotee hai aur kitanee lagee hotee hai ki unake jo paida hote hain unako kanyaadaan karane ka mauka milata hai aur jo pati hota hai unaka to unako ek hamesha ke lie jeevanasaathee milata hai bachchon ko maan milatee hai aur jo saas bahoo hotee hai unako unako apane bachchon ke bhavishy usake andar dikhata hai isalie betee agar doosare ghar kee amar ho sake vah bahut hee puraanee seekhe raat ho gaee yah sab kee doosare kee ghar kee amaanat hotee hai aur aaj kee jo baithee hai vah donon kee donon ghar kee amaanat hai yah mera maanana hai agar is javaab ke saath aap santusht hue hain to agale savaal ke saath mujhase jaroor judie ga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
0:59
नमस्कार मित्रों जैसे आपका प्रश्न है क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती है तो देखिए मित्रों जी हां बिल्कुल होती है मां बाप बेटी को जितना ही चाहे पढ़ा-लिखा कर के महान बना दे लेकिन एक न एक दिन उसे पराई घर जाना ही होगा यही दुनिया का दस्तूर है लेकिन बेटी से हमें वह मान सम्मान मिलते हैं जो कि सबसे बड़ा पुण्य की भागीदारी वह मिलते हैं जो हमें उनका कन्यादान करते हैं इससे बड़ा पुण्य के भागी और क्या हो सकती है लेकिन जहां तक यह परंपरा मरे आज के पूर्वजों से चलते आ रहे हैं बेटी पराई धन है एक ना एक दिन अपने मां बाप को छोड़कर के ससुराल जाना ही पड़ेगा उसे धन्यवाद
Namaskaar mitron jaise aapaka prashn hai kya betee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hai to dekhie mitron jee haan bilkul hotee hai maan baap betee ko jitana hee chaahe padha-likha kar ke mahaan bana de lekin ek na ek din use paraee ghar jaana hee hoga yahee duniya ka dastoor hai lekin betee se hamen vah maan sammaan milate hain jo ki sabase bada puny kee bhaageedaaree vah milate hain jo hamen unaka kanyaadaan karate hain isase bada puny ke bhaagee aur kya ho sakatee hai lekin jahaan tak yah parampara mare aaj ke poorvajon se chalate aa rahe hain betee paraee dhan hai ek na ek din apane maan baap ko chhodakar ke sasuraal jaana hee padega use dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:33
पता नहीं क्या-क्या बेटी किसी और के घर के मना तो होती है जी हां बिल्कुल क्योंकि आज की तारीख में यह कह लें या फिर हमेशा से जैसे भी खेलेंगे समाज में है वह पुरुष प्रधान समाज है और इस पुरुष प्रधान समाज में हमेशा से ही बेटियों को दूसरे की अमानत ही माना जाता है कभी भी जो है वह अपने घर की अमानत नहीं माना जाता है शादी करती हूं नहीं दूसरों के घर भेज दे जाता है उसके बाद में भूल जाते हैं कि उनके घर में कि बेटी जो है वह दुखी रहे दुखी है किस तरीके से रह रही है कि संजीव ने अपने करियर के बारे में अधिक अधिकांश परिवार आज भी अपना पल्ला झाड़ करके उनको भूल जाते हैं आपका दिन शुभ शनिवार
Pata nahin kya-kya betee kisee aur ke ghar ke mana to hotee hai jee haan bilkul kyonki aaj kee taareekh mein yah kah len ya phir hamesha se jaise bhee khelenge samaaj mein hai vah purush pradhaan samaaj hai aur is purush pradhaan samaaj mein hamesha se hee betiyon ko doosare kee amaanat hee maana jaata hai kabhee bhee jo hai vah apane ghar kee amaanat nahin maana jaata hai shaadee karatee hoon nahin doosaron ke ghar bhej de jaata hai usake baad mein bhool jaate hain ki unake ghar mein ki betee jo hai vah dukhee rahe dukhee hai kis tareeke se rah rahee hai ki sanjeev ne apane kariyar ke baare mein adhik adhikaansh parivaar aaj bhee apana palla jhaad karake unako bhool jaate hain aapaka din shubh shanivaar

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
Unknown
0:41
सवाल आपने किया है क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती है अगर आप सोचते हो कि आपकी बेटी जो है वह किसी और के घर की अमानत हो है तो आपसे हम अपनी बेटी की 4 साल ही रखेंगे क्योंकि आपका यह मानना होगा कि इतनी शादी करके चली जाएगी फिर हमारा उसका अच्छे से ख्याल रखना क्या फायदा है तो इसलिए जरूरी है कि आप ही अपने बेटी को अपना समझे क्योंकि आपका बेटी आपका गुरूर है आपका बेटी ही आपके लक्ष्मी है और आपका बेटी कि आपका कहीं ना कहीं तो है आपका सौभाग्य भी हो सकती है मेरे ख्याल से कहीं ना कहीं तो है आपका यही सवाल का जवाब है
Savaal aapane kiya hai kya betee kisee aur ke ghar kee amaanat hotee hai agar aap sochate ho ki aapakee betee jo hai vah kisee aur ke ghar kee amaanat ho hai to aapase ham apanee betee kee 4 saal hee rakhenge kyonki aapaka yah maanana hoga ki itanee shaadee karake chalee jaegee phir hamaara usaka achchhe se khyaal rakhana kya phaayada hai to isalie jarooree hai ki aap hee apane betee ko apana samajhe kyonki aapaka betee aapaka guroor hai aapaka betee hee aapake lakshmee hai aur aapaka betee ki aapaka kaheen na kaheen to hai aapaka saubhaagy bhee ho sakatee hai mere khyaal se kaheen na kaheen to hai aapaka yahee savaal ka javaab hai

bolkar speaker
क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं?Kya Beti Kisi Aur Ke Ghar Ki Amaanat Hoti Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:29
संस्कृति के अनुसार बेटी को शुरू से ही पढ़ाई करके अमानत समझा जाता है इसलिए उसका सर्वाधिक सम्मान देता है क्योंकि लड़की दो घरों को इज्जत को स्वार्थी है तो परिवारों को संभालती है यह परिवार को और 100 साल परिवार को इसलिए बेटी का सम्मान हमारे भारतीय संस्कृति में सर्वाधिक होता है
Sanskrti ke anusaar betee ko shuroo se hee padhaee karake amaanat samajha jaata hai isalie usaka sarvaadhik sammaan deta hai kyonki ladakee do gharon ko ijjat ko svaarthee hai to parivaaron ko sambhaalatee hai yah parivaar ko aur 100 saal parivaar ko isalie betee ka sammaan hamaare bhaarateey sanskrti mein sarvaadhik hota hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं बेटी किसी और के घर की अमानत होती हैं
URL copied to clipboard