#undefined

bolkar speaker

ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?

Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:58
एंड के दिनों में सारे वह तो ठंडी क्यों होने लगती है दोस्तों यदि बात करें तापमान को लेकर कि जब किसी चीज का तापमान अधिक होता है तो वह अपने पास रखी हुई कम तो आपके बस अपने तापमान में ग्रहण कर लेती है यदि कोई चीज ठंडी है और गर्मी के मौसम में आप उसे खुली छोड़ देते हैं तो गर्मी का तापमान ज्यादा होने की वजह से वह चीज गर्म हो जाती है और इसके विपरीत यदि बात करें ठंड के दौर के अंदर तो ठंड के अंदर जो है ठंड का तापमान ज्यादा रहता है यानी कि तापमान किस तरह से कम देखा जाता है तो क्या होता है कि अपने आसपास की चीजें हैं जो गर्म भी होते हैं उनको भी वह अपने तापमान में बदल देते हैं और इसी वजह से वह सारी चीजें ठंडी हो जाती है तो तापमान ठंड का ज्यादा होने की वजह से जो है वह अपने आप ही कुछ भक्तों को अपनी जगह बना लेती है यह दोस्तों से बोल सकते हैं
End ke dinon mein saare vah to thandee kyon hone lagatee hai doston yadi baat karen taapamaan ko lekar ki jab kisee cheej ka taapamaan adhik hota hai to vah apane paas rakhee huee kam to aapake bas apane taapamaan mein grahan kar letee hai yadi koee cheej thandee hai aur garmee ke mausam mein aap use khulee chhod dete hain to garmee ka taapamaan jyaada hone kee vajah se vah cheej garm ho jaatee hai aur isake vipareet yadi baat karen thand ke daur ke andar to thand ke andar jo hai thand ka taapamaan jyaada rahata hai yaanee ki taapamaan kis tarah se kam dekha jaata hai to kya hota hai ki apane aasapaas kee cheejen hain jo garm bhee hote hain unako bhee vah apane taapamaan mein badal dete hain aur isee vajah se vah saaree cheejen thandee ho jaatee hai to taapamaan thand ka jyaada hone kee vajah se jo hai vah apane aap hee kuchh bhakton ko apanee jagah bana letee hai yah doston se bol sakate hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:27
शायरी वस्तु ठंडी क्यों लगने लगते हैं सभी किसी का जो टेंपरेचर होता है वह भारत मौसम टेंपरेचर पर ही डिपेंड करता है टेंपरेचर और यही वजह है बाकी जो चीजें हैं जो नॉन लिविंग थिंग्स होती है उनका टेंपरेचर भी अपने आप ही स्मार्ट है कि टेंपरेचर की वजह से ठंडा महसूस होने लगता है ठीक उसी तरीके से जैसे गर्मियों के दिनों में सारी वस्तुएं गर्मी महसूस होती हैं आपका दिन शुभ रहे थे नेपाल
Shaayaree vastu thandee kyon lagane lagate hain sabhee kisee ka jo temparechar hota hai vah bhaarat mausam temparechar par hee dipend karata hai temparechar aur yahee vajah hai baakee jo cheejen hain jo non living things hotee hai unaka temparechar bhee apane aap hee smaart hai ki temparechar kee vajah se thanda mahasoos hone lagata hai theek usee tareeke se jaise garmiyon ke dinon mein saaree vastuen garmee mahasoos hotee hain aapaka din shubh rahe the nepaal

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:03
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है तो देखिए क्या होता है कि किसी भी चीज का घर टेंपरेचर में परिवर्तन आता है तापमान में परिवर्तन आता है तो वह हमारे वातावरण के प्रति भी बहुत बार ऐसा होता तो बात आवरण का जैसा आप का तापमान होता है उस हिसाब से जितने भी ऑब्जेक्ट जितनी भी वस्तु होते हैं उस पर भी तापमान का प्रभाव पड़ता है जिस वजह से क्या होता है घर तापमान ठंडा हो तो कोई भी चीज भेजते हैं चाहे वह चेंज हुआ या फिर या फिर कोई पाटन तू अभी ठंडा हो जाता है क्योंकि तापमान आपका ठंडा आपने देखा होगा कि ऐसी वाला कोई भी रूम होता वहां पर जितने भी सामान होते वह सारे ठंडे होते क्योंकि आप ने चलाया तापमान ठंडा हो चुका अगर गर्मी का मौसम होता है तो तापमान गर्म होता है तो हर एक चीज मतलब आपको गर्म ही लगता है तो तापमान जिस तरह से मैं जिस तरह मतलब परिवर्तन आता है वातावरण में ठंडा गरम हिसाब से जो वस्तु है उसने भी परिवर्तन आता है
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki thand ke dinon mein saare vastu thandee kyon lagane lagatee hai to dekhie kya hota hai ki kisee bhee cheej ka ghar temparechar mein parivartan aata hai taapamaan mein parivartan aata hai to vah hamaare vaataavaran ke prati bhee bahut baar aisa hota to baat aavaran ka jaisa aap ka taapamaan hota hai us hisaab se jitane bhee objekt jitanee bhee vastu hote hain us par bhee taapamaan ka prabhaav padata hai jis vajah se kya hota hai ghar taapamaan thanda ho to koee bhee cheej bhejate hain chaahe vah chenj hua ya phir ya phir koee paatan too abhee thanda ho jaata hai kyonki taapamaan aapaka thanda aapane dekha hoga ki aisee vaala koee bhee room hota vahaan par jitane bhee saamaan hote vah saare thande hote kyonki aap ne chalaaya taapamaan thanda ho chuka agar garmee ka mausam hota hai to taapamaan garm hota hai to har ek cheej matalab aapako garm hee lagata hai to taapamaan jis tarah se main jis tarah matalab parivartan aata hai vaataavaran mein thanda garam hisaab se jo vastu hai usane bhee parivartan aata hai

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:01
ठंड के दिनों में शहरी वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है आप तो अच्छी तरह से जानते हैं जब ठंड तभी पड़ती है जब टेंपरेचर गिर जाता जब वो टेंपरेचर इन्वायरमेंट का गिरता है अब माली जी टेंपरेचर गिरने के बाद जो उस्मा की सुचालक होती है वह आसानी से उनका भी टेंपरेचर गिर जाता और फिर जब गिर जाता है तो निश्चित तौर पर जो है उनके अंदर भी यह हो जाता है उसी तरह से यह सारी चीजें मार्ग पर डिपेंड करती है और इन मारने पर जब टेंपरेचर गिरेगा तो जितने भी वस्तु है इस इन्वायरमेंट पर पाई जाएगी वह भी होगा तो किसी मेन कारण होता और ऐसा कोई कारण नहीं है कि ठंड अब देखेंगे जब गर्मियां होती है टेंपरेचर बढ़ जाता है तो ऑटोमेटिक ए बढ़ जाता है तू ही वातावरण की टेंपरेचर की कारण से यह सारी चीजें हम तो निश्चित तौर पर रही जो टेंपरेचर होता है इसके कारण से यह सब होता है और यही कारण है कि यह सब एनवायरमेंटल प्रभाव और टेंपरेचर के कारण से होती है उसमें यह परिवर्तन कम मिलता है और मिलता भी है तो थोड़ा बहुत प्रॉपर लेकिन आप लोहे की चीजें और दूसरी चीजों को देखेंगे तो बहुत तेजी से होता है तो यह सब उस्मा का क्या प्रभाव है और इन्वायरमेंट का प्रभाव है और कोई ऐसा कोई कारण नहीं है और ना ही इस तरह का कुछ है कि यह होता है और यह नहीं होता है तो यह सारी की सारी उस का प्रभाव
Thand ke dinon mein shaharee vastu thandee kyon lagane lagatee hai aap to achchhee tarah se jaanate hain jab thand tabhee padatee hai jab temparechar gir jaata jab vo temparechar invaayarament ka girata hai ab maalee jee temparechar girane ke baad jo usma kee suchaalak hotee hai vah aasaanee se unaka bhee temparechar gir jaata aur phir jab gir jaata hai to nishchit taur par jo hai unake andar bhee yah ho jaata hai usee tarah se yah saaree cheejen maarg par dipend karatee hai aur in maarane par jab temparechar girega to jitane bhee vastu hai is invaayarament par paee jaegee vah bhee hoga to kisee men kaaran hota aur aisa koee kaaran nahin hai ki thand ab dekhenge jab garmiyaan hotee hai temparechar badh jaata hai to otometik e badh jaata hai too hee vaataavaran kee temparechar kee kaaran se yah saaree cheejen ham to nishchit taur par rahee jo temparechar hota hai isake kaaran se yah sab hota hai aur yahee kaaran hai ki yah sab enavaayaramental prabhaav aur temparechar ke kaaran se hotee hai usamen yah parivartan kam milata hai aur milata bhee hai to thoda bahut propar lekin aap lohe kee cheejen aur doosaree cheejon ko dekhenge to bahut tejee se hota hai to yah sab usma ka kya prabhaav hai aur invaayarament ka prabhaav hai aur koee aisa koee kaaran nahin hai aur na hee is tarah ka kuchh hai ki yah hota hai aur yah nahin hota hai to yah saaree kee saaree us ka prabhaav

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:03
प्रस्तुत ठंडी क्यों लगती हैं और सब जगह नहीं होती है सब जगह ठंडी होती है इसलिए सारी वस्तुएं भी पूरी हो जाती है और सर्दी के दिनों में सूर्य भी कम निकलता है तो सूर्य के निकलने से वातावरण में कम होती है तो गर्मी कम होगी तो जाहिर सी बात है तो सर्दी ज्यादा होगी और सर्दी हवाएं चलने से सर्द मौसम होने से नवीन होने के कारण सारी वस्तुएं ठंडी हो जाती है इसलिए मैं चारों तरफ सब ठंडा लगता है चाहे ठंड खाना हो तो जल्दी ठंडा हो जाता है कपड़े हम 6 घंटे लगते हैं मैं बिस्तर देखेंगे ठंडा हो जाता है निभाने को जाती है सारा मौसम घर के अंदर घर के बाहर सब कुछ ठंडक हो जाती है मम्मी की वजह से ठंड की वजह से होता है तो फ्रेंड से आपको मेरा जवाब पसंद आए तो प्लीज मुझे धन्यवाद
Prastut thandee kyon lagatee hain aur sab jagah nahin hotee hai sab jagah thandee hotee hai isalie saaree vastuen bhee pooree ho jaatee hai aur sardee ke dinon mein soory bhee kam nikalata hai to soory ke nikalane se vaataavaran mein kam hotee hai to garmee kam hogee to jaahir see baat hai to sardee jyaada hogee aur sardee havaen chalane se sard mausam hone se naveen hone ke kaaran saaree vastuen thandee ho jaatee hai isalie main chaaron taraph sab thanda lagata hai chaahe thand khaana ho to jaldee thanda ho jaata hai kapade ham 6 ghante lagate hain main bistar dekhenge thanda ho jaata hai nibhaane ko jaatee hai saara mausam ghar ke andar ghar ke baahar sab kuchh thandak ho jaatee hai mammee kee vajah se thand kee vajah se hota hai to phrend se aapako mera javaab pasand aae to pleej mujhe dhanyavaad

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:10

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
ravideep singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravideep जी का जवाब
students
0:38

bolkar speaker
ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है?Thand Ke Dinon Mein Saari Vastu Thandi Kyun Lagne Lagti Hai
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
1:00
प्रश्न है ठंड के दिनों में सारी वस्तु ठंडी क्यों लगती है तो दोस्तों माता रानी के हिसाब से रात में काफी कोहरा और ठंड पड़ती है और इसी की वजह से हमारी जमीन नाम हो जाती है और वह भी ठंडी हो जाती है इसलिए तापमान और सर्द हवाओं की वजह से वातावरण ठंडा रहता है यही कारण है कि हमें सभी वस्तुएं ठंडी नजर आती हैं और यही चीज गर्मी में अगर देखा जाए तो तापमान गर्म होने के कारण सभी वस्तुएं घर नजर आती हैं यहां तक कि ठंडे तापमान की वजह से हम को सूखे हुए कपड़े भी हल्के गीले महसूस होते हैं क्योंकि उनमें भी नहीं आ जाती है धन्यवाद मित्र
Prashn hai thand ke dinon mein saaree vastu thandee kyon lagatee hai to doston maata raanee ke hisaab se raat mein kaaphee kohara aur thand padatee hai aur isee kee vajah se hamaaree jameen naam ho jaatee hai aur vah bhee thandee ho jaatee hai isalie taapamaan aur sard havaon kee vajah se vaataavaran thanda rahata hai yahee kaaran hai ki hamen sabhee vastuen thandee najar aatee hain aur yahee cheej garmee mein agar dekha jae to taapamaan garm hone ke kaaran sabhee vastuen ghar najar aatee hain yahaan tak ki thande taapamaan kee vajah se ham ko sookhe hue kapade bhee halke geele mahasoos hote hain kyonki unamen bhee nahin aa jaatee hai dhanyavaad mitr

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगने लगती है ठंड के दिनों में सारे वस्तु ठंडी क्यों लगती
URL copied to clipboard