#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
1:40
प्रश्न है कि क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहन सकता हूं क्या यह सही है देखिए अगर आप समाज में रह रहे हो और अपने आसपास के लोगों को देखते हुए उनकी सोच के बारे में जानते हो तो यह शायद आपके लिए थोड़ा शर्मनाक भी हो सकता है आपने अक्सर देखा होगा कि लड़कियां अपनों से ज्यादा लड़कों की तरह दिखने वाले कपड़े ज्यादा पहनना पसंद करती है और वह काफी आक्रोशित भी लगती हैं और उन्हें काफी सराहा भी जाता है और उन पर वह कपड़े खूब पकते भी है लेकिन अगर यही सोच लड़का लड़कियों के कपड़े पहने तो वह बड़ा ही अजीब लगता है क्योंकि यही एक फैशन है जो ट्रेंड है जो कुछ लोगों के समझ में नहीं आता लेकिन सच में यह भी फ्रेंड है कि अगर लड़कियां लड़कों के कपड़े पहनकर बाहर जाएं तो वह काफी आकर्षण का कारण बनती हैं और उन्हें काफी सराहा जाता है लेकिन वहीं दूसरी तरफ अगर कोई लड़कियों के कपड़े पहनकर बाहर जाएगा तो उसका मजाक बनाया जाता है क्योंकि उस जो डिजाइन में कुछ इस तरह की आकृति बनाई होती है कि जिसकी वजह से वह चीजें लड़कों पर शायद एक हंसी का पात्र बन सकते हैं तो अच्छा होगा कि केवल आप जो लड़कों के बनाए हुए कपड़े हैं या फिर जो लड़कों के लिए ही कपड़े हैं आप उन्हीं चीजों को पहने और आप उन्हीं में इतना आकर्षण लग सकते हैं आपको इस चीज की आवश्यकता नहीं है कि आप लड़कियों के कपड़े पहने अगर आप ऐसा करते हैं तो शायद आप हंसी का पात्र बन सकते हैं धन्यवाद
Prashn hai ki kya main ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahan sakata hoon kya yah sahee hai dekhie agar aap samaaj mein rah rahe ho aur apane aasapaas ke logon ko dekhate hue unakee soch ke baare mein jaanate ho to yah shaayad aapake lie thoda sharmanaak bhee ho sakata hai aapane aksar dekha hoga ki ladakiyaan apanon se jyaada ladakon kee tarah dikhane vaale kapade jyaada pahanana pasand karatee hai aur vah kaaphee aakroshit bhee lagatee hain aur unhen kaaphee saraaha bhee jaata hai aur un par vah kapade khoob pakate bhee hai lekin agar yahee soch ladaka ladakiyon ke kapade pahane to vah bada hee ajeeb lagata hai kyonki yahee ek phaishan hai jo trend hai jo kuchh logon ke samajh mein nahin aata lekin sach mein yah bhee phrend hai ki agar ladakiyaan ladakon ke kapade pahanakar baahar jaen to vah kaaphee aakarshan ka kaaran banatee hain aur unhen kaaphee saraaha jaata hai lekin vaheen doosaree taraph agar koee ladakiyon ke kapade pahanakar baahar jaega to usaka majaak banaaya jaata hai kyonki us jo dijain mein kuchh is tarah kee aakrti banaee hotee hai ki jisakee vajah se vah cheejen ladakon par shaayad ek hansee ka paatr ban sakate hain to achchha hoga ki keval aap jo ladakon ke banae hue kapade hain ya phir jo ladakon ke lie hee kapade hain aap unheen cheejon ko pahane aur aap unheen mein itana aakarshan lag sakate hain aapako is cheej kee aavashyakata nahin hai ki aap ladakiyon ke kapade pahane agar aap aisa karate hain to shaayad aap hansee ka paatr ban sakate hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
2:03
काटो तो सवाल काफी रोचक है आपका पेपर सवाल पढ़ लूं फिर आपकी प्रतिक्रिया दूंगा इस चीज को लेकर 200 साल लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है क्या देखें दोस्तों का पेंट सूट या निगम के कोट पेंट हो जाते हैं यदि पुरुषों के कपड़े पहनती है लेकिन सो गया उनके कोई कुछ भी जो कपड़े कपड़े पहनता है तो वह हंसी का पात्र बन ही जाता है दोस्तों या फिर यह बात आप को जानना बहुत आवश्यक हो जाती है यदि मान लीजिए आप समलैंगिक है यदि पुरुष लड़का यदि कोई पुरुष होते हुए उसके अंदर ज्यादा पर उसके गुण नदी बन जाती है दोस्तों की चूड़ियां खनके बिंदिया लगाना पसंद भी करते हैं और समाज के प्रति तो गलत हो ही जाते हैं परंतु इस सवाल का जवाब दूंगा बिल्कुल बिल्कुल किसी लड़की का आगे की प्लानिंग तो समाज के अंदर आप हंसी के पात्र बन जाएंगे अन्यथा आपकी इच्छा के अनुसार यदि आप मान लीजिए करते हैं अन्यथा मैं आपको बिल्कुल भी ऐसा नहीं कहा कि आप लड़कियों के कपड़े पहनने क्योंकि हमारे समाज दोस्तों उसके मध्य में आप हंसी के पात्र बन सकते हैं
Kaato to savaal kaaphee rochak hai aapaka pepar savaal padh loon phir aapakee pratikriya doonga is cheej ko lekar 200 saal ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahanana sahee hai kya dekhen doston ka pent soot ya nigam ke kot pent ho jaate hain yadi purushon ke kapade pahanatee hai lekin so gaya unake koee kuchh bhee jo kapade kapade pahanata hai to vah hansee ka paatr ban hee jaata hai doston ya phir yah baat aap ko jaanana bahut aavashyak ho jaatee hai yadi maan leejie aap samalaingik hai yadi purush ladaka yadi koee purush hote hue usake andar jyaada par usake gun nadee ban jaatee hai doston kee choodiyaan khanake bindiya lagaana pasand bhee karate hain aur samaaj ke prati to galat ho hee jaate hain parantu is savaal ka javaab doonga bilkul bilkul kisee ladakee ka aage kee plaaning to samaaj ke andar aap hansee ke paatr ban jaenge anyatha aapakee ichchha ke anusaar yadi aap maan leejie karate hain anyatha main aapako bilkul bhee aisa nahin kaha ki aap ladakiyon ke kapade pahanane kyonki hamaare samaaj doston usake madhy mein aap hansee ke paatr ban sakate hain

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
0:56
मेरा सवाल है कि क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है क्या आपका अलग है तो फिर दूसरे जेंडर का कपड़ा क्यों पहनते हो हम आंतों की साइड से एक जैसी हो सकती है लेकिन अब देखेंगे बॉडी स्ट्रक्चर्स में मेल और फीमेल का काफी अंतर होता है और निश्चित तौर पर अगर लड़का है तो उसका अपना देखेंगे हिप का स्ट्रक्चर या लड़की के हिप का स्ट्रक्चर से उसके बोर्डिंग तक के सब अलग-अलग होते हैं तो इस तरह से अगर पहनते हो तो मैं नहीं समझता हूं कि ऐसा कुछ सही है यह बिल्कुल नहीं सही है और ना ही ऐसा पहनना चाहिए और ना ही करना चाहिए तो ज्यादा अच्छा रहेगा जिसका जो प्रधान है उसी प्रधान के अंतर्गत करना चाहिए तो ज्यादा बेहतर होगा
Mera savaal hai ki kya main ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahanana sahee hai kya aapaka alag hai to phir doosare jendar ka kapada kyon pahanate ho ham aanton kee said se ek jaisee ho sakatee hai lekin ab dekhenge bodee strakchars mein mel aur pheemel ka kaaphee antar hota hai aur nishchit taur par agar ladaka hai to usaka apana dekhenge hip ka strakchar ya ladakee ke hip ka strakchar se usake bording tak ke sab alag-alag hote hain to is tarah se agar pahanate ho to main nahin samajhata hoon ki aisa kuchh sahee hai yah bilkul nahin sahee hai aur na hee aisa pahanana chaahie aur na hee karana chaahie to jyaada achchha rahega jisaka jo pradhaan hai usee pradhaan ke antargat karana chaahie to jyaada behatar hoga

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:21
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि मेरा सवाल है क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है क्या तो दोस्तों आपके मन में हो सकता है कि ऐसा ख्याल आ रहा हूं जो आप कपिल शर्मा शो में देखते हैं और उसका देखा देखी और नसों में भी आ रहे हैं तो उसमें लोग लड़कियों के कपड़े पहन के उसमें किरदार निभाते हैं और लोगों से काफी पसंद कर रहे हैं तो देखिए उनका तो वह पैसा है प्रकार से उन्हें अच्छा लगता है और कि ऑडियंस खुश हूं ऑडियो का आकर्षण हो और उसका एक फायदा भी होता है क्योंकि आप लड़की नहीं है लेकिन लड़की का वेश पहना हुआ है पुरुष है तो आप भद्दे मजाक भी कर सकते हैं कहीं पर आप अश्लील टच भी कर सकते हैं लोग ज्यादा ध्यान नहीं देंगे इसके अंदर वह इसलिए तो हर पल में चलाया जाता है और लोगों से काफी पसंद कर रहे हैं लेकिन आप सामाजिक तौर पर उसे पहनेंगे तो लोग मजाक उड़ाएंगे आपका हां अब देखा जा रहा है कि लड़कियां काफी लड़कों के परिधान पहन रही हैं और आजकल तो ऐसा हो रहा है कि लड़कियां लड़का बनना चाहती हूं लड़का लड़की बनना चाहती है लड़के भी कान खेतवा रहे हैं और आजकल जो भी काफी पहनते हैं उल्टा हो रहा है लेकिन लड़कियां जाकर आप देखेंगे प्रधान लोगों को ज्यादा ट्राई करती रहती है लेकिन तेरी सुंदरता के लिए पहनना अलग है आप लड़कियों के लेकिन वस्त्र पहनेंगे तो बिल्कुल भी नजर आएंगे तो आपको नहीं पहनना चाहिए धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki mera savaal hai kya main ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahanana sahee hai kya to doston aapake man mein ho sakata hai ki aisa khyaal aa raha hoon jo aap kapil sharma sho mein dekhate hain aur usaka dekha dekhee aur nason mein bhee aa rahe hain to usamen log ladakiyon ke kapade pahan ke usamen kiradaar nibhaate hain aur logon se kaaphee pasand kar rahe hain to dekhie unaka to vah paisa hai prakaar se unhen achchha lagata hai aur ki odiyans khush hoon odiyo ka aakarshan ho aur usaka ek phaayada bhee hota hai kyonki aap ladakee nahin hai lekin ladakee ka vesh pahana hua hai purush hai to aap bhadde majaak bhee kar sakate hain kaheen par aap ashleel tach bhee kar sakate hain log jyaada dhyaan nahin denge isake andar vah isalie to har pal mein chalaaya jaata hai aur logon se kaaphee pasand kar rahe hain lekin aap saamaajik taur par use pahanenge to log majaak udaenge aapaka haan ab dekha ja raha hai ki ladakiyaan kaaphee ladakon ke paridhaan pahan rahee hain aur aajakal to aisa ho raha hai ki ladakiyaan ladaka banana chaahatee hoon ladaka ladakee banana chaahatee hai ladake bhee kaan khetava rahe hain aur aajakal jo bhee kaaphee pahanate hain ulta ho raha hai lekin ladakiyaan jaakar aap dekhenge pradhaan logon ko jyaada traee karatee rahatee hai lekin teree sundarata ke lie pahanana alag hai aap ladakiyon ke lekin vastr pahanenge to bilkul bhee najar aaenge to aapako nahin pahanana chaahie dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:11
क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है तो अगर आप छोटे हैं छोटे बच्चे हैं तो फिर कर के कपड़े पहन सकते हैं लेकिन अगर आप बड़े हो गए हैं तो आप लड़का है क्योंकि कपड़े पहनेंगे तो हमारे समाज में शोभा नहीं देता है अगर आप लड़के हैं और साड़ी पहनेंगे सलवार सूट पहनेंगे फ्रॉम पहनेंगे टॉप स्कर्ट कुर्ता पहनेंगे तो यह आपको शोभा नहीं देगा आपके ऊपर अच्छा नहीं लगेगा लड़कों पर टेंशन ही अच्छा लगता है जींस पैंट कुर्ता जींस टॉप एंड शर्ट ब्लेजर कोट ए सब लड़कों के ऊपर अच्छा लगता है और वह लड़कियों के कपड़े पहनने से खराब लगेगी बल्कि लड़कियां लड़कों की टीशर्ट तो खराब नहीं लगती है समाज में पहना जाता है लेकिन समाज में लड़के लड़कियों के डर से नहीं पहनती क्योंकि लड़कियों की ड्रेस है साड़ी सूट यही सब होती है तो क्या लड़की साड़ी पिन के थोड़ी घूमेंगे इसलिए आप लड़कियों के कपड़े नहीं पहन सकते हैं वह आपको शोभा नहीं देंगे
Kya main ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahanana sahee hai to agar aap chhote hain chhote bachche hain to phir kar ke kapade pahan sakate hain lekin agar aap bade ho gae hain to aap ladaka hai kyonki kapade pahanenge to hamaare samaaj mein shobha nahin deta hai agar aap ladake hain aur sari pahanenge salavaar soot pahanenge phrom pahanenge top skart kurta pahanenge to yah aapako shobha nahin dega aapake oopar achchha nahin lagega ladakon par tenshan hee achchha lagata hai jeens paint kurta jeens top end shart blejar kot e sab ladakon ke oopar achchha lagata hai aur vah ladakiyon ke kapade pahanane se kharaab lagegee balki ladakiyaan ladakon kee teeshart to kharaab nahin lagatee hai samaaj mein pahana jaata hai lekin samaaj mein ladake ladakiyon ke dar se nahin pahanatee kyonki ladakiyon kee dres hai sari soot yahee sab hotee hai to kya ladakee sari pin ke thodee ghoomenge isalie aap ladakiyon ke kapade nahin pahan sakate hain vah aapako shobha nahin denge

Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:34
स्वार्थ वाली है कि तुम लड़की होने के बाद भी लड़कों के सबसे पहले सही है तुम्हारी अपनी सोच है जैसी तुम्हें अच्छा लगे वैसी पहनो क्योंकि हम नहीं रोक सकते तुम्हें दुनिया का कोई भी कोई भी इंसान नहीं रोक सकता सब देते हो कुछ भी पहनो खाओ पियो कोई भी रोक टोक नहीं है इस देश में एक ऐसे ही हिंदुस्तान देश है जहां पर कुछ भी कर लो तुम
Svaarth vaalee hai ki tum ladakee hone ke baad bhee ladakon ke sabase pahale sahee hai tumhaaree apanee soch hai jaisee tumhen achchha lage vaisee pahano kyonki ham nahin rok sakate tumhen duniya ka koee bhee koee bhee insaan nahin rok sakata sab dete ho kuchh bhee pahano khao piyo koee bhee rok tok nahin hai is desh mein ek aise hee hindustaan desh hai jahaan par kuchh bhee kar lo tum

Aditya Dangayach  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Aditya जी का जवाब
Student
2:32
क्या लड़का होने के बाद भी लड़की के कपड़े बताइए जाना चाहते कि क्या मेरा लड़की सबसे पहले हमें जाना पड़ेगा कि कपड़े वास्तव में इंटरनेट सही है क्या सुंदर दिखने के लिए कपड़े पहनते हो लड़का और लड़की के कपड़े होते हुए संरचनाओं की सबसे बनाए जाते हैं ऐसे अधिकतर लड़कों के लिए कमी होती है कुर्ता पजामा बनाए जाते हैं लड़कियों के लिए कटवाने जाता है मुझे फैशन देख रहे हैं कि लड़की आजकल लड़कों के कपड़े पहन रही है जो कि 1 साल होने जा रहा है इसके लिए उनकी प्रशंसा की जा रही है और उन कपड़ों में काफी अच्छी भी लग रही है सुंदर भी दिखती और आपकी बॉडी ज्यादा अनकंफरटेबल भी नहीं जाते हैं कि लड़का और लड़की दोनों की बॉडी स्ट्रक्चर थोड़ा बहुत अलग है कि आपकी बॉडी में बॉडी को थोड़ी प्रॉब्लम हो आप अनकंफरटेबल प्लीज प्ले लड़के ने सीबीआई की टीम को लड़कों के कपड़े में कोई नहीं होती वह लड़की लड़कों के कपड़े पहन कर देखेंगे तो हम काफी ज्यादा कपड़े पहने नहीं जा रही और असली हम लोग लड़की को कपड़े नहीं पहनते हैं यही कारण है कि लड़के लड़कियों के कपड़े नहीं पहनते जबकि लड़कियां लड़कियों को लड़को को पड़ता है मेरी राय मानो तो मेरी राय यही है कि आपने जो कपड़े रखने वाली पर कोई ना हो जाए आपको कपड़े पहनी है अगर आपको लड़कों वाले कपड़े फट आते तो आप लड़के हो लड़के वाले करते हैं अगर आपको लड़की वाला कपड़े फिटनेस बॉडी में जो लड़की वाले कपड़े पहन सकते हैं या फिर आपकी जोड़ी सही पर फिर भी कुछ नहीं कर सकता आपको जो जो कपड़े आपने सबसे कम पर टेबल लगते हैं आपको पहनी है आशा करता हूं आप मेरा जवाब देना होगा इसे लेकर मुझसे और शेयर करें धन्यवाद
Kya ladaka hone ke baad bhee ladakee ke kapade bataie jaana chaahate ki kya mera ladakee sabase pahale hamen jaana padega ki kapade vaastav mein intaranet sahee hai kya sundar dikhane ke lie kapade pahanate ho ladaka aur ladakee ke kapade hote hue sanrachanaon kee sabase banae jaate hain aise adhikatar ladakon ke lie kamee hotee hai kurta pajaama banae jaate hain ladakiyon ke lie katavaane jaata hai mujhe phaishan dekh rahe hain ki ladakee aajakal ladakon ke kapade pahan rahee hai jo ki 1 saal hone ja raha hai isake lie unakee prashansa kee ja rahee hai aur un kapadon mein kaaphee achchhee bhee lag rahee hai sundar bhee dikhatee aur aapakee bodee jyaada anakampharatebal bhee nahin jaate hain ki ladaka aur ladakee donon kee bodee strakchar thoda bahut alag hai ki aapakee bodee mein bodee ko thodee problam ho aap anakampharatebal pleej ple ladake ne seebeeaee kee teem ko ladakon ke kapade mein koee nahin hotee vah ladakee ladakon ke kapade pahan kar dekhenge to ham kaaphee jyaada kapade pahane nahin ja rahee aur asalee ham log ladakee ko kapade nahin pahanate hain yahee kaaran hai ki ladake ladakiyon ke kapade nahin pahanate jabaki ladakiyaan ladakiyon ko ladako ko padata hai meree raay maano to meree raay yahee hai ki aapane jo kapade rakhane vaalee par koee na ho jae aapako kapade pahanee hai agar aapako ladakon vaale kapade phat aate to aap ladake ho ladake vaale karate hain agar aapako ladakee vaala kapade phitanes bodee mein jo ladakee vaale kapade pahan sakate hain ya phir aapakee jodee sahee par phir bhee kuchh nahin kar sakata aapako jo jo kapade aapane sabase kam par tebal lagate hain aapako pahanee hai aasha karata hoon aap mera javaab dena hoga ise lekar mujhase aur sheyar karen dhanyavaad

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:00
पीटी भारत में एजुकेशन बढ़ गई है लेकिन अंधविश्वास और कुरीतियों भी पीछा नहीं छोड़ रही हैं इसलिए यही कारण है कि जिन परिवारों में वह लड़की हो गई है उसके बाद एक लड़का हुआ है तो वहां उस लड़की की चाहत होने के कारण यह मानते हैं कि वह इसको लड़कियों के कपड़े बनाओ जिससे दूसरों की नजर ना लगे और दूसरे दूसरे हाय ना पानी इस प्रकार की भावना है इसलिए लोग उस गलतफहमी में ही लड़कों को लड़कियों के कपड़े पहनाते हैं या लड़कियों को लड़के के कपड़े पहना देते हैं अपने अपने विचार हैं बाकी मेरे विचार से साइन अनुचित है जो लड़का है उसको लड़के के कपड़े पहने जाएं क्या बात है और यह हमारे लगाए करना या नजर लगना यह सब मैं कल आप इन को सार्थक नहीं मानता हूं और यह अनुचित ही हैं और मेरे विचार से यह हमारी कुरीतियां अंतरिक्ष
Peetee bhaarat mein ejukeshan badh gaee hai lekin andhavishvaas aur kureetiyon bhee peechha nahin chhod rahee hain isalie yahee kaaran hai ki jin parivaaron mein vah ladakee ho gaee hai usake baad ek ladaka hua hai to vahaan us ladakee kee chaahat hone ke kaaran yah maanate hain ki vah isako ladakiyon ke kapade banao jisase doosaron kee najar na lage aur doosare doosare haay na paanee is prakaar kee bhaavana hai isalie log us galataphahamee mein hee ladakon ko ladakiyon ke kapade pahanaate hain ya ladakiyon ko ladake ke kapade pahana dete hain apane apane vichaar hain baakee mere vichaar se sain anuchit hai jo ladaka hai usako ladake ke kapade pahane jaen kya baat hai aur yah hamaare lagae karana ya najar lagana yah sab main kal aap in ko saarthak nahin maanata hoon aur yah anuchit hee hain aur mere vichaar se yah hamaaree kureetiyaan antariksh

Dhiraj Gurjar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dhiraj जी का जवाब
Unknown
1:58

Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
Unknown
1:31
सोलापुर क्या है मेरा सवाल है क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है क्या आप लड़का होने के बावजूद है आप को लड़की वाले कपड़े पहनना पसंद करते हैं आप तो उसमें कोई गलत नहीं है तो मेरा ही मानना है कि आप बेशक लड़कियों वाले कपड़े पहन सकते हो पर हम समाज में जो है यह माना जाता है कि मतलब जो लड़के होते हैं उनका जो पर्सनालिटी होती है सिर्फ उन लड़कों वाली पर्सनल चीज है उनको ज्यादा सूट करती है अगर कोई लड़का जो है ना लड़कियों वाले कपड़े पहनते हैं तो उनका मानना है कि उन्हें जो है वह गुण नहीं है जो एक लड़का एक मर्द को होनी चाहिए तो यही कारण होता है कि मतलब समाज कहीं ना कहीं तो है अगर कोई लड़का लड़कियों वाले कपड़े पहनते हैं तो उनको मतलब थोड़ा कम समझते हैं या फिर उनको लगता है कि ऐसे व्यक्ति चाहे उनमें वह गुल नहीं है जो मतलब एक लड़की को होनी चाहिए और एक कारण होती है कि कभी कबार जो है लोग मतलब मजाक उड़ाते हैं फिर लोग जो है गलत तरीके से बोलते हैं अगर लड़के से हैं लड़कियां वाले कपड़े पहनते हैं पर आर्थिक रूप से जो है आप पहन सकते हो लड़कियों वाले कपड़े उसमें कोई भी गलत नहीं है तेरा क्या शीशपाल का शासक
Solaapur kya hai mera savaal hai kya main ladaka hone ke baad bhee ladakiyon ke kapade pahanana sahee hai kya aap ladaka hone ke baavajood hai aap ko ladakee vaale kapade pahanana pasand karate hain aap to usamen koee galat nahin hai to mera hee maanana hai ki aap beshak ladakiyon vaale kapade pahan sakate ho par ham samaaj mein jo hai yah maana jaata hai ki matalab jo ladake hote hain unaka jo parsanaalitee hotee hai sirph un ladakon vaalee parsanal cheej hai unako jyaada soot karatee hai agar koee ladaka jo hai na ladakiyon vaale kapade pahanate hain to unaka maanana hai ki unhen jo hai vah gun nahin hai jo ek ladaka ek mard ko honee chaahie to yahee kaaran hota hai ki matalab samaaj kaheen na kaheen to hai agar koee ladaka ladakiyon vaale kapade pahanate hain to unako matalab thoda kam samajhate hain ya phir unako lagata hai ki aise vyakti chaahe unamen vah gul nahin hai jo matalab ek ladakee ko honee chaahie aur ek kaaran hotee hai ki kabhee kabaar jo hai log matalab majaak udaate hain phir log jo hai galat tareeke se bolate hain agar ladake se hain ladakiyaan vaale kapade pahanate hain par aarthik roop se jo hai aap pahan sakate ho ladakiyon vaale kapade usamen koee bhee galat nahin hai tera kya sheeshapaal ka shaasak

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहनना सही है क्या
URL copied to clipboard