#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?

Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:42
पहले क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है जी हां दोस्तों बिल्कुल यस क्योंकि भाग्य में क्या लिखा हुआ है यह आपका कर्म के ऊपर ही निर्भर करता है आपकी मेहनत के पर निर्भर करता है कि आपके भाग्य में कुछ चीजें लिखी हुई है वह चीज आपको मिलेंगे या ना मिलेगी वह आपके कर्म के ऊपर निर्भर करेगा क्योंकि आप अच्छे कर्म करते हैं तो आपके भाग्य अच्छा होगा आप मेहनत से करते हैं कर्म अच्छे करते तो भी आपका भाग्य अच्छा होगा तो जो चीज है कर्म और मेहनत यही आपका भाग्य लिखते हैं कि स्पेशली आगे से आपका भाग्य लिख करके नहीं आता है तो आप अपने कर्मों को और मेहनत को ज्यादा महत्व दे ना कि अपने भाग्य को धन्यवाद
Pahale kya bhaagy ka likha karm se mitaaya ja sakata hai jee haan doston bilkul yas kyonki bhaagy mein kya likha hua hai yah aapaka karm ke oopar hee nirbhar karata hai aapakee mehanat ke par nirbhar karata hai ki aapake bhaagy mein kuchh cheejen likhee huee hai vah cheej aapako milenge ya na milegee vah aapake karm ke oopar nirbhar karega kyonki aap achchhe karm karate hain to aapake bhaagy achchha hoga aap mehanat se karate hain karm achchhe karate to bhee aapaka bhaagy achchha hoga to jo cheej hai karm aur mehanat yahee aapaka bhaagy likhate hain ki speshalee aage se aapaka bhaagy likh karake nahin aata hai to aap apane karmon ko aur mehanat ko jyaada mahatv de na ki apane bhaagy ko dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:26
क्या लिखा कर मिटाया जा सकता है नशा कैसे मिटाया जा सकता है यदि आप अच्छे कर्म करेंगे तो आपके भाग्य में लिखा हुआ भी बिल्कुल अच्छे तरीके से बदल सकता है आपके भाग्य में लिखा हुआ अपने कर्म से प्रयास करेंगे तो उस को बदलने की कोशिश भी बिल्कुल कर सकते हैं पूरी तरीके से मिटा दें यह संभव नहीं होता लेकिन हां आप उस को बदलने का प्रयास ही नहीं करेंगे तो आप उसे बदल भी नहीं पाएंगे क्या करना चाहिए आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Kya likha kar mitaaya ja sakata hai nasha kaise mitaaya ja sakata hai yadi aap achchhe karm karenge to aapake bhaagy mein likha hua bhee bilkul achchhe tareeke se badal sakata hai aapake bhaagy mein likha hua apane karm se prayaas karenge to us ko badalane kee koshish bhee bilkul kar sakate hain pooree tareeke se mita den yah sambhav nahin hota lekin haan aap us ko badalane ka prayaas hee nahin karenge to aap use badal bhee nahin paenge kya karana chaahie aapaka din shubh rahe dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Ekta Sahni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ekta जी का जवाब
Unknown
2:05
कृष्णा भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है तो मैं इसका जवाब जरूर देना चाहूंगी आगे भी हमारे कर्म ही होते हैं जो हमें कर्म किए हैं जैसे भी हैं धंधे की हैं अच्छे के नीचे पिछले जन्म में किए हैं जो इस जन्म में थी उससे पहले चरण में किए हैं लेकिन हमें उसका फल तो मिलेगा ही मिलेगा अगर हम तो हम इस जन्म दुख भरे होंगे तो हम हमेशा यही कहते हैं भाग्य में हमारी लिखे थे वह अब उसका रिजल्ट बंद कर हमें मिल रहा है ईश्वरीय कार्य है आप जैसे कर्म करेंगे हमें वैसा ही फल मिलेगा अगर मैंने कुछ गंदे कर्म की इस जन्म में मैं तो पूछ रही हूं तो इसका मतलब मैं ऑन कर दे करूंगा भगवान से फल दे रही हैं लेकिन उनके कर्मों को मैं इस जन्म के अच्छे कर्मों से जैसे कि मैं नहीं देते हैं - - - लगाया में मैंने धीरे धीरे धीरे धीरे अच्छे कर्म करते हुए 12345 तक कर लिए तो मेरा - 5 प्लस 5 प्लस फाइव नहीं हुआ माइनस फाइव प्लस फाइव एनी इज इक्वल टू जीरो न्यूट्रल हो गया मेरे गंदे कर्म तो मैंने कब रख कर ली और अगर आगे भी मैं अपना मर्जी अच्छा मैं करने को अच्छा रखूंगी तो मुझे उसका भी ईश्वर है न्यायिक आ रही है उसका भी फल जरुर मिलेगा आगे भी मैं अच्छे ही कर्म करूंगी तो मुझे उसका भी समय मिलेगा तो हम अपने गंदे चरणों को या नहीं अपने भाग्य में तो अच्छी और गंदे दोनों का नाम आते हैं तो गंदे कर्मों को अच्छे कर्मों से मैं कवर कर सकती हूं और आगे और अच्छे कर्म कमाकर उसका आगे फल भी प्राप्त कर सकते हैं धन्यवाद
Krshna bhaagy ka likha karm se mitaaya ja sakata hai to main isaka javaab jaroor dena chaahoongee aage bhee hamaare karm hee hote hain jo hamen karm kie hain jaise bhee hain dhandhe kee hain achchhe ke neeche pichhale janm mein kie hain jo is janm mein thee usase pahale charan mein kie hain lekin hamen usaka phal to milega hee milega agar ham to ham is janm dukh bhare honge to ham hamesha yahee kahate hain bhaagy mein hamaaree likhe the vah ab usaka rijalt band kar hamen mil raha hai eeshvareey kaary hai aap jaise karm karenge hamen vaisa hee phal milega agar mainne kuchh gande karm kee is janm mein main to poochh rahee hoon to isaka matalab main on kar de karoonga bhagavaan se phal de rahee hain lekin unake karmon ko main is janm ke achchhe karmon se jaise ki main nahin dete hain - - - lagaaya mein mainne dheere dheere dheere dheere achchhe karm karate hue 12345 tak kar lie to mera - 5 plas 5 plas phaiv nahin hua mainas phaiv plas phaiv enee ij ikval too jeero nyootral ho gaya mere gande karm to mainne kab rakh kar lee aur agar aage bhee main apana marjee achchha main karane ko achchha rakhoongee to mujhe usaka bhee eeshvar hai nyaayik aa rahee hai usaka bhee phal jarur milega aage bhee main achchhe hee karm karoongee to mujhe usaka bhee samay milega to ham apane gande charanon ko ya nahin apane bhaagy mein to achchhee aur gande donon ka naam aate hain to gande karmon ko achchhe karmon se main kavar kar sakatee hoon aur aage aur achchhe karm kamaakar usaka aage phal bhee praapt kar sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
KARTIK MISHRA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KARTIK जी का जवाब
Student
0:25

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
3:16
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता अपने कहां पता लगाया किसने भाग्य लिखा है लेकिन भविष्यवक्ता बहुत सारी ज्योतिष शास्त्र है या अपनी कुंडली आपने बना लिया और बोला कि यह दोस्त है यह बहुत सारी चीजें आ जाती है क्या आप उससे भाग क्यों मांग लेते हो कि यह मेरा भाग्य होगा या आपको क्या हासिल होने वाला कोई ऐसा है जो आपके भविष्य की सारी बातों को ऐसी व्यवस्था वाडी कर दें कि आपको यह होने वाली कर्म के माध्यम से ही अपने भाग्य को तय करते हैं मेरा मानना है कि आप कर्म आपको सोचे कि मेरे भाग्य में खाना नहीं लिखा है और कोई अर्थ न करना है तो निश्चित तौर पर खाना नहीं मिलेगा आपको खाना खाने के लिए या तो कमाना पड़ेगा या भीख मांगने के लिए मंदिर तक जाना पड़ेगा या कहीं और करना पड़ेगा तो जब तक आप नहीं करेगी तब तक आप तो भाभी के भरोसे मत रहिए और ना ही भाग पर इतने भी कोई भी भाग्यविधाता नहीं और कोई भी इस तरह का बड़ा शास्त्री नहीं है जो आप के भाग्य को बता दे कहां से पता चला आपको किसने बता दिया क्या आपके भाग्य में ही है बाग में यह लिखा है इन सारी गलतफहमी ओके अपनी नकारे पन को कम मत करो बेहतर होगा अपने अंदर एक सकारात्मक पहलू रोग और अपने कर्तव्यों पर विश्वास करो जो अपने कर्तव्यों का पालन करते हैं अनुपालन करते हैं निश्चित तौर पर वह हमेशा सफल होते हैं और जो लोग सिर्फ भाग्य पर देख करके कि भाग्य होगा मेरा साथ है अब भाग्य देगा साथ तो कभी भी के भरोसे बैठे रहो और आकर मणिबंध जाओ कर्म हीन बन जाओ तो निश्चित तौर पर मेरे भाई भाग्य पर भरोसा करो लेकिन इतना नहीं भाभी को बदल सकते हो आप वाक्य में परिवर्तन ला सकते हो आप अपने कर्तव्यों का अपने लक्ष्यों का इन सब को सही बना कर चलिए गा जब आपका और अगर आप सिर्फ करनी होगी नहीं बनेंगे तो वही आप सोचते रहिए तो मैं आपको कहूंगा कि यह सारी चीजों को भूल जाइए आप अपने ढंग से अपने विश्वास अपने अंदर वह जुनून अपने अंदर वह जज्बा रखो और उसके जज्बे को कायम करो और उसके अनुरूप काम कीजिए सब कुछ ठीक हो जाएगा और निश्चित तौर पर मनुष्य अपने कर्मों से बदलता है और बढ़ाता चला जा तो गीता में भी कहा गया कर्म करते जाओ परिणाम भूल जाइए और जितना आप कर्म करते रहेंगे उतना ही आपको फायदा मिलेगा और वही आपको एक सही दिशा देगा
Kya bhaagy ka likha karm se mitaaya ja sakata apane kahaan pata lagaaya kisane bhaagy likha hai lekin bhavishyavakta bahut saaree jyotish shaastr hai ya apanee kundalee aapane bana liya aur bola ki yah dost hai yah bahut saaree cheejen aa jaatee hai kya aap usase bhaag kyon maang lete ho ki yah mera bhaagy hoga ya aapako kya haasil hone vaala koee aisa hai jo aapake bhavishy kee saaree baaton ko aisee vyavastha vaadee kar den ki aapako yah hone vaalee karm ke maadhyam se hee apane bhaagy ko tay karate hain mera maanana hai ki aap karm aapako soche ki mere bhaagy mein khaana nahin likha hai aur koee arth na karana hai to nishchit taur par khaana nahin milega aapako khaana khaane ke lie ya to kamaana padega ya bheekh maangane ke lie mandir tak jaana padega ya kaheen aur karana padega to jab tak aap nahin karegee tab tak aap to bhaabhee ke bharose mat rahie aur na hee bhaag par itane bhee koee bhee bhaagyavidhaata nahin aur koee bhee is tarah ka bada shaastree nahin hai jo aap ke bhaagy ko bata de kahaan se pata chala aapako kisane bata diya kya aapake bhaagy mein hee hai baag mein yah likha hai in saaree galataphahamee oke apanee nakaare pan ko kam mat karo behatar hoga apane andar ek sakaaraatmak pahaloo rog aur apane kartavyon par vishvaas karo jo apane kartavyon ka paalan karate hain anupaalan karate hain nishchit taur par vah hamesha saphal hote hain aur jo log sirph bhaagy par dekh karake ki bhaagy hoga mera saath hai ab bhaagy dega saath to kabhee bhee ke bharose baithe raho aur aakar manibandh jao karm heen ban jao to nishchit taur par mere bhaee bhaagy par bharosa karo lekin itana nahin bhaabhee ko badal sakate ho aap vaaky mein parivartan la sakate ho aap apane kartavyon ka apane lakshyon ka in sab ko sahee bana kar chalie ga jab aapaka aur agar aap sirph karanee hogee nahin banenge to vahee aap sochate rahie to main aapako kahoonga ki yah saaree cheejon ko bhool jaie aap apane dhang se apane vishvaas apane andar vah junoon apane andar vah jajba rakho aur usake jajbe ko kaayam karo aur usake anuroop kaam keejie sab kuchh theek ho jaega aur nishchit taur par manushy apane karmon se badalata hai aur badhaata chala ja to geeta mein bhee kaha gaya karm karate jao parinaam bhool jaie aur jitana aap karm karate rahenge utana hee aapako phaayada milega aur vahee aapako ek sahee disha dega

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:05
सिवान तो आज आप का सवाल है कि क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है तो देखिए और मेरे हिसाब से में भाग्य जैसे चीजों पर विश्वास नहीं करती इंसान जो भी है जिस तरह इंसान के कर्म होते हैं उसी हिसाब से उसे फल मिलता है उसका परिणाम मिलता है तो अगर मैं आज मेहनत करूंगी तो कल मुझे रिजल्ट अच्छा मिलेगा अगर मैं आज किसी चीज के लिए बहुत परिश्रम कर रही हो तो मुझे उसका फल आगे अच्छा ही मिलेगा अगर कल नहीं मिला तो जरूरी नहीं कि परसों नहीं मिलेगा जरूर एक न एक दिन मिलेगा तो अगर मतलब इंसान जिस तरह से मेहनत करेगा जिस तरह से कर्म करेगा अगर किसी से दुश्मनी करता है तो उसे रिटर्न में भी लोग उसके साथ तो दुश्मनी जैसे ही दुश्मन जैसे ही समझ के रहते हैं तो अगर आप दोस्ती का हाथ बढ़ाते आपका बेबी है वियर बहुत अच्छा है तो लोग इस तरह से आपसे दोस्ती करते तो चाहे वह रिलेशन को लेकर हो या फिर कामकाज को लेकर हो या फिर मेहनत को लेकर और जिस तरह से भी आज जो भी चीज करते हो आपको रिजल्ट भी मिलता तो ग्राम बच्चे कर्म करते तो आपको फल भी अच्छा ही मिलेगा
Sivaan to aaj aap ka savaal hai ki kya bhaagy ka likha karm se mitaaya ja sakata hai to dekhie aur mere hisaab se mein bhaagy jaise cheejon par vishvaas nahin karatee insaan jo bhee hai jis tarah insaan ke karm hote hain usee hisaab se use phal milata hai usaka parinaam milata hai to agar main aaj mehanat karoongee to kal mujhe rijalt achchha milega agar main aaj kisee cheej ke lie bahut parishram kar rahee ho to mujhe usaka phal aage achchha hee milega agar kal nahin mila to jarooree nahin ki parason nahin milega jaroor ek na ek din milega to agar matalab insaan jis tarah se mehanat karega jis tarah se karm karega agar kisee se dushmanee karata hai to use ritarn mein bhee log usake saath to dushmanee jaise hee dushman jaise hee samajh ke rahate hain to agar aap dostee ka haath badhaate aapaka bebee hai viyar bahut achchha hai to log is tarah se aapase dostee karate to chaahe vah rileshan ko lekar ho ya phir kaamakaaj ko lekar ho ya phir mehanat ko lekar aur jis tarah se bhee aaj jo bhee cheej karate ho aapako rijalt bhee milata to graam bachche karm karate to aapako phal bhee achchha hee milega

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:58
नमस्ते दोस्तों का प्रश्न है क्या भारत का लेखन कैसे बनाया जा सकता है या फ्रेंड हमारी मां कालिका में कौन से मिटा सकते हैं जब हम अच्छे कर्म करेंगे तो मरा भाग्य और हम बुरे कर्म करेंगे तो हम तो बनेगा ही अपनी सत्यवान सावित्री सती सावित्री सत्यवान की जान बचाई थी भाग्य को बदल दी थी तो उन्होंने अच्छा काम किया पूजा पाठ की भगवान की भगवान से प्रार्थना की तो उनके पति के वापस मिल गए थे इसी तरह अगर हम अच्छे कर्म करेंगे तो हरदम बदल सकते हैं हमें प्रति अच्छे कर्म करने चाहिए हमें कभी भी बुरे कर्म नहीं करना चाहिए अच्छे कर्मों से मुक्तिनाथ को अवश्य बदल फ्रेंड अगर आपको मेरे जवाब अच्छी लगे तो प्लीज लाइक जरूर करते रहिएगा और सब्सक्राइब भी करना ना भूलें धन्यवाद
Namaste doston ka prashn hai kya bhaarat ka lekhan kaise banaaya ja sakata hai ya phrend hamaaree maan kaalika mein kaun se mita sakate hain jab ham achchhe karm karenge to mara bhaagy aur ham bure karm karenge to ham to banega hee apanee satyavaan saavitree satee saavitree satyavaan kee jaan bachaee thee bhaagy ko badal dee thee to unhonne achchha kaam kiya pooja paath kee bhagavaan kee bhagavaan se praarthana kee to unake pati ke vaapas mil gae the isee tarah agar ham achchhe karm karenge to haradam badal sakate hain hamen prati achchhe karm karane chaahie hamen kabhee bhee bure karm nahin karana chaahie achchhe karmon se muktinaath ko avashy badal phrend agar aapako mere javaab achchhee lage to pleej laik jaroor karate rahiega aur sabsakraib bhee karana na bhoolen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है?Kya Bhagya Ka Likha Karm Se Mitaya Ja Sakta Hai
Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
3:20
चली बैलेंस समझते हैं कि यह भाग्य है क्या भाग्य कुछ ऐसा नहीं है कि अलग से आपको कुछ दे दिया गया है काम करो राम को यह दे दो अब्दुल को यह दे दो शाम को यह दे दो इनका यह भाग्य और का वह भाग्य ऐसा नहीं होता बाकी कुछ और नहीं है जो हमने कर्म किए हैं पहले उसी का जो कर्म फल है वही हमारा प्रारब्ध या हमारा भाग्य होता है उसमें भाग्य नहीं जो हमारे भाग में आते हैं अगर उसे आप भाग्य कहना चाहते हैं तो चलिए सही है लेकिन हम से अलग नहीं होता और पीछे भी चलता रहता है लाइफ लोंग रहता है एक लाइफ तक सीमित नहीं रहता जैसा हमने कर्म क्या है वैसा हमें कर्म फल मिलेगा इस जीवन में जो हमारे सामने आ रहा है जो घटित हो रहा है जो सरकमस्टेंसस आपको मिल रहे हैं अब यह सब प्रारब्ध है यह हमारे पुराने कर्मों के सारी हमको मिलता है तो आप बोलते हैं कि क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाए जा मिटाया जा सकता है ऐसा है कि भाग्य जो था वह भी आपका कर्मी था जो आपने किया उसका फल तो मिलेगा मिलेगा लेकिन आप जो आप जैसा कर्म करेंगे उसी हिसाब से आपका आने वाला कल बनेगा हां आप काफी हद तक चीजों को ठीक ठाक कर सकते हैं या और कुछ हद तक उस हिसाब से कर सकते हैं ताकि इन टाटा को ज्यादा ना हो एक मान लीजिए आप ने कुछ ऐसे कर्म किए थे जिसका कर्म फल या उसके कारण आपको ऐसे जीवन में परिस्थितियां देखने को मिलेंगे लेकिन अगर कर्म आपका सहयोग आप धर्म के रास्ते पर होंगे आप सही काम इस जीवन में इस समय करेंगे तो आप जो इंसान होता है राजू रिक्शा ढूंढते हैं या बनाते हैं अपने कर्मों द्वारा अगर वह आप सही रखते हैं तो आप उस प्रारब्ध को थोड़ा और बेहतर कर सकते हैं कोई भी चीज का घटना जो घटने वाली है उसको कंप्लीट नहीं डेडीकेट नहीं कर पाएंगे निकाल नहीं पाएंगे उसे अपने आप को बचा नहीं पाएंगे लेकिन हां काफी हद तक अपने आप को संभाल जरूर पाएंगे वह कर पाएंगे जो करना मुनासिब होता है जो करना मुंह तो प्रॉफिट होगा सही होगा कंपलीट यह नहीं हो सकता कि आप अपनी तकदीर बदल दे लेकिन हां यह जरूर हो सकता है कि आप उसको और बेहतर जरूर कर पाएंगे क्योंकि जो इसे अभी भी आपके हाथ में है भले ही आपको यह सारी परिस्थितियां मेरे जीवन में लेकिन उन परिस्थितियों में एक इंसान ऐसा काम कर सकता है ऐसा 5 या 5 ले सकता है वहीं पर अगर आप थोड़ा सा संभल कर अगर अपने आप को मैनेज करें सही डिस्प्ले चॉइस बनाएं अभिनेता जाए तो डेफिनिटी आपका आपके देश अलग हो सकती हो जल्दी से आ जा सकता है कि आपका भाग्य भी अलग हो जाए आने वाला कल और बेहतर हो जाए
Chalee bailens samajhate hain ki yah bhaagy hai kya bhaagy kuchh aisa nahin hai ki alag se aapako kuchh de diya gaya hai kaam karo raam ko yah de do abdul ko yah de do shaam ko yah de do inaka yah bhaagy aur ka vah bhaagy aisa nahin hota baakee kuchh aur nahin hai jo hamane karm kie hain pahale usee ka jo karm phal hai vahee hamaara praarabdh ya hamaara bhaagy hota hai usamen bhaagy nahin jo hamaare bhaag mein aate hain agar use aap bhaagy kahana chaahate hain to chalie sahee hai lekin ham se alag nahin hota aur peechhe bhee chalata rahata hai laiph long rahata hai ek laiph tak seemit nahin rahata jaisa hamane karm kya hai vaisa hamen karm phal milega is jeevan mein jo hamaare saamane aa raha hai jo ghatit ho raha hai jo sarakamastensas aapako mil rahe hain ab yah sab praarabdh hai yah hamaare puraane karmon ke saaree hamako milata hai to aap bolate hain ki kya bhaagy ka likha karm se mitae ja mitaaya ja sakata hai aisa hai ki bhaagy jo tha vah bhee aapaka karmee tha jo aapane kiya usaka phal to milega milega lekin aap jo aap jaisa karm karenge usee hisaab se aapaka aane vaala kal banega haan aap kaaphee had tak cheejon ko theek thaak kar sakate hain ya aur kuchh had tak us hisaab se kar sakate hain taaki in taata ko jyaada na ho ek maan leejie aap ne kuchh aise karm kie the jisaka karm phal ya usake kaaran aapako aise jeevan mein paristhitiyaan dekhane ko milenge lekin agar karm aapaka sahayog aap dharm ke raaste par honge aap sahee kaam is jeevan mein is samay karenge to aap jo insaan hota hai raajoo riksha dhoondhate hain ya banaate hain apane karmon dvaara agar vah aap sahee rakhate hain to aap us praarabdh ko thoda aur behatar kar sakate hain koee bhee cheej ka ghatana jo ghatane vaalee hai usako kampleet nahin dedeeket nahin kar paenge nikaal nahin paenge use apane aap ko bacha nahin paenge lekin haan kaaphee had tak apane aap ko sambhaal jaroor paenge vah kar paenge jo karana munaasib hota hai jo karana munh to prophit hoga sahee hoga kampaleet yah nahin ho sakata ki aap apanee takadeer badal de lekin haan yah jaroor ho sakata hai ki aap usako aur behatar jaroor kar paenge kyonki jo ise abhee bhee aapake haath mein hai bhale hee aapako yah saaree paristhitiyaan mere jeevan mein lekin un paristhitiyon mein ek insaan aisa kaam kar sakata hai aisa 5 ya 5 le sakata hai vaheen par agar aap thoda sa sambhal kar agar apane aap ko mainej karen sahee disple chois banaen abhineta jae to dephinitee aapaka aapake desh alag ho sakatee ho jaldee se aa ja sakata hai ki aapaka bhaagy bhee alag ho jae aane vaala kal aur behatar ho jae

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भाग्य और कर्म में आप किसे श्रेष्ठ मानते हैं,भाग्य और कर्म में आप किसे श्रेष्ठ मानते हैं,भाग्य और कर्म एक दूसरे के पूरक है
URL copied to clipboard