#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?

Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:43
तो आज आप का सवाल है कि एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है तू दिखे अगर किसी का एक ही बच्चा होता है तो अब पूरी तरह से फोकस कर पाते अपनी उसी के बच्चे पर अब सारी फैसिलिटी सारी सुविधाएं उपलब्ध तू रोने दे पाते हैं आप पूरी तरह से ध्यान दे पाती है जिम्मेदारियां जो भी आपके मम्मी पापा दोनों को भी आप निभा पाते हैं ऐसा नहीं कि हां दो-चार बच्चे होते हैं तो देख नहीं पाते हम कौन कब कहां चला गया इतना थोड़ा इधर-उधर ध्यान हो जाता है जिस वजह से वह कुछ भी प्रॉब्लम हो जाता तो आप अच्छे से ध्यान दे पाते हैं जो भी पैसा जो कि आपका इनकम है वह पूरी तरह से उन ऐसा नहीं कि बहुत बार होता है दो चार बच्चे होते तो पैसे की कमी के वजह से हम लोग देते हैं बढ़ाई गई पर कि हमें एकदम कम कर देते हम खत्म कर देते लेकिन अगर आपका एक बच्चा तो आप उनको जब तक मन करे तब बच्चे का पढ़ने का तब तक आप उन्हें पढ़ा सकते तो यह सब इसके फायदे लेकर नुकसान यह है कि अगर आपका बच्चा गलती से भी अगर अलग ट्रैक में चला जा गंदी चीजें का गलत लग जाता है इनके अगर वह आपसे मतलब बतमीजी या फिर अच्छा व्यवहार नहीं करता वह बिगड़ जाता है तो आप जितना भी समझाना चाहती हो नहीं समझ पाता है घर छोड़कर भागने जैसे कोई भी बात करता है तू ऐसे समय पैसा लगता है कि एक ही बच्चा था और उस उसको भी मैंने खो दिया और फिर अगर कोई और होता उसकी भाई बहन होते तो शायद उसे समझा पाते या फिर मम्मी पापा से बहुत प्यार होता है ना कि बच्चे शेयर नहीं करते भाई बहन से शेयर करते तो आपको ऐसा लगता है कि तुम उसका कोई भाई बहन होता तो शायद उसे पता होता है शेयर कर पाते और उसे भी हम सब अच्छा लगता किला पर नहीं लगता मूवी भाई-बहन के साथ अच्छे से रहता तो शायद एक फैमिली कंप्लीट हो पाता तो यही नुकसान और घी के फायदे
To aaj aap ka savaal hai ki ekamaatr santaan hone ke kya laabh aur haaniyaan hai too dikhe agar kisee ka ek hee bachcha hota hai to ab pooree tarah se phokas kar paate apanee usee ke bachche par ab saaree phaisilitee saaree suvidhaen upalabdh too rone de paate hain aap pooree tarah se dhyaan de paatee hai jimmedaariyaan jo bhee aapake mammee paapa donon ko bhee aap nibha paate hain aisa nahin ki haan do-chaar bachche hote hain to dekh nahin paate ham kaun kab kahaan chala gaya itana thoda idhar-udhar dhyaan ho jaata hai jis vajah se vah kuchh bhee problam ho jaata to aap achchhe se dhyaan de paate hain jo bhee paisa jo ki aapaka inakam hai vah pooree tarah se un aisa nahin ki bahut baar hota hai do chaar bachche hote to paise kee kamee ke vajah se ham log dete hain badhaee gaee par ki hamen ekadam kam kar dete ham khatm kar dete lekin agar aapaka ek bachcha to aap unako jab tak man kare tab bachche ka padhane ka tab tak aap unhen padha sakate to yah sab isake phaayade lekar nukasaan yah hai ki agar aapaka bachcha galatee se bhee agar alag traik mein chala ja gandee cheejen ka galat lag jaata hai inake agar vah aapase matalab batameejee ya phir achchha vyavahaar nahin karata vah bigad jaata hai to aap jitana bhee samajhaana chaahatee ho nahin samajh paata hai ghar chhodakar bhaagane jaise koee bhee baat karata hai too aise samay paisa lagata hai ki ek hee bachcha tha aur us usako bhee mainne kho diya aur phir agar koee aur hota usakee bhaee bahan hote to shaayad use samajha paate ya phir mammee paapa se bahut pyaar hota hai na ki bachche sheyar nahin karate bhaee bahan se sheyar karate to aapako aisa lagata hai ki tum usaka koee bhaee bahan hota to shaayad use pata hota hai sheyar kar paate aur use bhee ham sab achchha lagata kila par nahin lagata moovee bhaee-bahan ke saath achchhe se rahata to shaayad ek phaimilee kampleet ho paata to yahee nukasaan aur ghee ke phaayade

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:01
सवाल है कि एकमात्र संतान होने का क्या लाभ और हानियां हैं एकमात्र संतान होने की भी दोपहर यहां उसके लाभ यह है कि अकेला बच्चा होने पर उस बच्चे को चाहे वह लड़का हो या लड़की भरपूर प्यार सबसे मिलता है घर में सबकी आंखों का तारा होता है उसकी हर इच्छा पूरी की जाती है कई भाई-बहन होने पर भी हो सकता है बच्चे को इतनी सुविधाएं देने में माता-पिता असमर्थ होते हैं अकेला बच्चा होने के कारण उसके रास्ते में कोई बात है नहीं आती माता-पिता उसको कपड़ों खिलौनों खाने-पीने और पढ़ाई पर काफी खर्च करते हैं बच्चों को पढ़ाई में कोई डिस्टर्ब करनेवाला नहीं होता इसको अपने व्यक्तित्व को निखारने के लिए संपूर्ण अवसर प्राप्त होते हैं और उसकी हानियां यह है कि एकमात्र संतान होने पर बच्चे सिद्धि हो जाया करते हैं अकेलापन महसूस करते हैं और बच्चा भाई बहन चाहता है जो किसके पास नहीं होता बच्ची का जरा सा बीमार पड़ने पर मां-बाप घबरा जाते हैं कि उसको कुछ हो ना जाए हर वक्त भी इसी आशंका से ग्रस्त रहते हैं अकेला बच्चा कभी-कभी अपनी इज्जत से मां-बाप को भी बहुत पर कौन करता है
Savaal hai ki ekamaatr santaan hone ka kya laabh aur haaniyaan hain ekamaatr santaan hone kee bhee dopahar yahaan usake laabh yah hai ki akela bachcha hone par us bachche ko chaahe vah ladaka ho ya ladakee bharapoor pyaar sabase milata hai ghar mein sabakee aankhon ka taara hota hai usakee har ichchha pooree kee jaatee hai kaee bhaee-bahan hone par bhee ho sakata hai bachche ko itanee suvidhaen dene mein maata-pita asamarth hote hain akela bachcha hone ke kaaran usake raaste mein koee baat hai nahin aatee maata-pita usako kapadon khilaunon khaane-peene aur padhaee par kaaphee kharch karate hain bachchon ko padhaee mein koee distarb karanevaala nahin hota isako apane vyaktitv ko nikhaarane ke lie sampoorn avasar praapt hote hain aur usakee haaniyaan yah hai ki ekamaatr santaan hone par bachche siddhi ho jaaya karate hain akelaapan mahasoos karate hain aur bachcha bhaee bahan chaahata hai jo kisake paas nahin hota bachchee ka jara sa beemaar padane par maan-baap ghabara jaate hain ki usako kuchh ho na jae har vakt bhee isee aashanka se grast rahate hain akela bachcha kabhee-kabhee apanee ijjat se maan-baap ko bhee bahut par kaun karata hai

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:25
स्वागत है आपका काम करने के क्या लाभ और हानियां होती है तो फ्रेंड के बदलाव होते हैं तो बताना पड़ता है एक संतान के लिए फीस माफी भी रोती है जिसे सिंगल गर्ल चाइल्ड होती है और एक बचने के लिए काफी है आसानी से बचा है तो आप उस को आसानी से समालखा में हैं और उसके खर्चे भी कम होंगे और हम लोग खाना चाहेंगे खरीदना चाहते हैं देना चाहते हैं पर एक बच्चा बच्चा खिला होगा अकेला पड़ जाएगा सहयोग मिल जाता लेकिन अगर वह संतान अकेली है फिर आगे चलकर अपने आपको थोड़ा अकेला ज्यादा है तो उसकी पूजा
Svaagat hai aapaka kaam karane ke kya laabh aur haaniyaan hotee hai to phrend ke badalaav hote hain to bataana padata hai ek santaan ke lie phees maaphee bhee rotee hai jise singal garl chaild hotee hai aur ek bachane ke lie kaaphee hai aasaanee se bacha hai to aap us ko aasaanee se samaalakha mein hain aur usake kharche bhee kam honge aur ham log khaana chaahenge khareedana chaahate hain dena chaahate hain par ek bachcha bachcha khila hoga akela pad jaega sahayog mil jaata lekin agar vah santaan akelee hai phir aage chalakar apane aapako thoda akela jyaada hai to usakee pooja

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
4:36
वापस आने की एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां हैं तो आज की दुनिया में हमारी जिस तरह से आर्थिक स्थिति बन गई हैं और साथ ही भले ही अनेक तरह की सुविधा मिलने लगी है बस वजह से हमारी खुद की बड़ी चाहते हुए हमारे खुद के लिए अधिक खर्च का कारण बन चुका है और आमदनी के स्रोत काम्या स्रोत भी अधिक है तो उसे भी बढ़ती बढ़ती चाहत भरी जिंदगी जिससे हम स्टेट के अनुसार बर्बाद बताओ करने का का अनुसरण करने में दिक्कत हो सकती हैं है या हर तरह के वर्क की समस्या है ऐसे में जब हमारे यहां पर एक चम्मच सदस्य संतान के रूप में बढ़ जाते हैं तो उसके घर आने से लेकर सारा खर्चा अधिक में हो जाता है फिर शुरू हो जाते हैं घर के मुखिया की डोडिया अधिक कमाने या फिर बचत के लिए हर जगह का छठ वाली नीति क्योंकि हमारा पूरा फोकस करने वाले नए सदस्य के ऊपर चला जाता है ऐसे में हम सिर्फ एक स्थान की चाहत रखते हैं तब हमारे लिए भविष्य की सारी योजना बनाना आसान हो जाता है हम अपने वह पूरी तरह से बच्चे पर केंद्रित कर सकते हमारी चिंताओं के अनुसार हम इसे बेस्ट ऑफ द बेस्ट दे सकते हैं और देते भी हैं आज शिक्षा ग्रहण करना भी एक पुजारी चुका है इसी बाजार में हमें अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए बेहतर विकल्प ढूंढना भी आसान होता है यदि एक से ज्यादा संतान है या दो जिंदगियों के लिए उज्जवल भविष्य का निर्माण मुश्किल में डाल देते हैं इन 1 राशियों में एक ही दो इसे हो जाते हैं जिसमें या तो किसी एक को क्रोम प्रायोजक करना पड़ता कॉम्प्रोमाइज इन करना पड़ता है या फिर दोनों का भविष्य अधर में लटका भी धोखा धोखा रहता है आर्थिक संपन्नता है तब आपको अवश्य निर्धारण से जरूर अच्छे से कर लेंगे अगर आगे चलकर आपके भविष्य का निर्धारण पाने की आकांक्षा रहने लगती हैं एक संतान जो एकमात्र हैं उससे भी आगे चलकर यह साथ रहते हैं कि उसके अभिभावक इसलिए उसके अलावा कोई विकल्प न है और उनको ऐसे ही पहुंचना है तब तक सरस्वती रहती हैं कि हमारे बुढ़ापे की लाठी एक मात्र स्थान है किंतु दो बच्चे यह वोडाफोन हो जाने पर माता-पिता के अनशन को लेकर विवाद की बताएं एक शेष बात भी करने योग्य है जो नैतिक मूल्यों से संबंधित हैं यह कि यदि संतान इकलौती हैं तो उसे मिले अतिरिक्त लाड प्यार से उसके अंदर एक अतिरिक्त लालच पैदा होता है माता-पिता किसी और से प्यार नहीं करते हुए सिर्फ उसी से करें और उसे अलग-अलग रिश्तो के गहन संधू का परिचय कम ही रहता है जिससे किसी के लिए त्याग की भावना दूसरों को अपने में समाहित करना रिश्तो का खट्टा मीठा ताना-बाना समझाना और उसका आनंद देना नहीं समझ पाते हैं ऐसे में बच्चे सेक्स साउथ की फ्रेंड बन जाने का खतरा सबसे ज्यादा होता है और साथ में फ्री डांस होना तथा किसी भी तनाव से अपने को निकाल पाना बस की बात नहीं रहती है ऐसे लोग भी बाहर से सारे से ही चलने वाला बन जाता है और सारा टूटने फूटने ही वे खुद को टूट जाता है फिर जीवन लीला समाप्त करने तक की उत्तर धरने पर फिसल जाते हैं एक मात्र स्थान जितनी सही लगती है इतनी गहराई से चुप चुप समझ आता है कि बाद में हम समाज उतारने में भी कम पड़ जाएंगे वैसे भी इस मामले में हर किसी को अपनी समस्त क्षमताओं को देख सोचकर यंग ने लेना उचित होगा धन्यवाद
Vaapas aane kee ekamaatr santaan hone ke kya laabh aur haaniyaan hain to aaj kee duniya mein hamaaree jis tarah se aarthik sthiti ban gaee hain aur saath hee bhale hee anek tarah kee suvidha milane lagee hai bas vajah se hamaaree khud kee badee chaahate hue hamaare khud ke lie adhik kharch ka kaaran ban chuka hai aur aamadanee ke srot kaamya srot bhee adhik hai to use bhee badhatee badhatee chaahat bharee jindagee jisase ham stet ke anusaar barbaad batao karane ka ka anusaran karane mein dikkat ho sakatee hain hai ya har tarah ke vark kee samasya hai aise mein jab hamaare yahaan par ek chammach sadasy santaan ke roop mein badh jaate hain to usake ghar aane se lekar saara kharcha adhik mein ho jaata hai phir shuroo ho jaate hain ghar ke mukhiya kee dodiya adhik kamaane ya phir bachat ke lie har jagah ka chhath vaalee neeti kyonki hamaara poora phokas karane vaale nae sadasy ke oopar chala jaata hai aise mein ham sirph ek sthaan kee chaahat rakhate hain tab hamaare lie bhavishy kee saaree yojana banaana aasaan ho jaata hai ham apane vah pooree tarah se bachche par kendrit kar sakate hamaaree chintaon ke anusaar ham ise best oph da best de sakate hain aur dete bhee hain aaj shiksha grahan karana bhee ek pujaaree chuka hai isee baajaar mein hamen apane bachchon ke ujjaval bhavishy ke lie behatar vikalp dhoondhana bhee aasaan hota hai yadi ek se jyaada santaan hai ya do jindagiyon ke lie ujjaval bhavishy ka nirmaan mushkil mein daal dete hain in 1 raashiyon mein ek hee do ise ho jaate hain jisamen ya to kisee ek ko krom praayojak karana padata kompromaij in karana padata hai ya phir donon ka bhavishy adhar mein lataka bhee dhokha dhokha rahata hai aarthik sampannata hai tab aapako avashy nirdhaaran se jaroor achchhe se kar lenge agar aage chalakar aapake bhavishy ka nirdhaaran paane kee aakaanksha rahane lagatee hain ek santaan jo ekamaatr hain usase bhee aage chalakar yah saath rahate hain ki usake abhibhaavak isalie usake alaava koee vikalp na hai aur unako aise hee pahunchana hai tab tak sarasvatee rahatee hain ki hamaare budhaape kee laathee ek maatr sthaan hai kintu do bachche yah vodaaphon ho jaane par maata-pita ke anashan ko lekar vivaad kee bataen ek shesh baat bhee karane yogy hai jo naitik moolyon se sambandhit hain yah ki yadi santaan ikalautee hain to use mile atirikt laad pyaar se usake andar ek atirikt laalach paida hota hai maata-pita kisee aur se pyaar nahin karate hue sirph usee se karen aur use alag-alag rishto ke gahan sandhoo ka parichay kam hee rahata hai jisase kisee ke lie tyaag kee bhaavana doosaron ko apane mein samaahit karana rishto ka khatta meetha taana-baana samajhaana aur usaka aanand dena nahin samajh paate hain aise mein bachche seks sauth kee phrend ban jaane ka khatara sabase jyaada hota hai aur saath mein phree daans hona tatha kisee bhee tanaav se apane ko nikaal paana bas kee baat nahin rahatee hai aise log bhee baahar se saare se hee chalane vaala ban jaata hai aur saara tootane phootane hee ve khud ko toot jaata hai phir jeevan leela samaapt karane tak kee uttar dharane par phisal jaate hain ek maatr sthaan jitanee sahee lagatee hai itanee gaharaee se chup chup samajh aata hai ki baad mein ham samaaj utaarane mein bhee kam pad jaenge vaise bhee is maamale mein har kisee ko apanee samast kshamataon ko dekh sochakar yang ne lena uchit hoga dhanyavaad

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:48
उसका दोस्त फंसने की एकमात्र संतान होने क्या लाभ और हानियां हैं तो दोस्तों आजकल शहरों की बात करें तो शहरों में लोग एक संतान पर ही रुक गए हैं पुरुष इसलिए करता है कि उसे फुर्सत तो सिद्ध करना होता है और स्त्री इसलिए करती है कि वह भी है दिखाना चाहती है कि मैं भी संतान उत्पत्ति कर सकती हूं और लेकिन उसके लाभ तो लोगों को दिखाई देते कि 1 बच्चों का पालन पोषण कर सकते हम अच्छी शिक्षा दिला सकते हैं यह सारे उनके तर्क होते हैं लेकिन बहुत सारे मैनेजर धनाढ्य व्यक्ति देखे हैं वही लोग एक संतान पर अड़े हुए आजकल वह स्त्री को रहता है कि मेरी फिक्र खराब हो जाएगी और जो मैंने पहले कारण बताया उसकी वजह से एक संतान और अपना समय व्यतीत करने के लिए खिलौने के रूप में अब संतान उत्पत्ति करते हैं हानियां बहुत है दोस्तों एक बच्चे को खेलने के लिए उसका साथी चाहिए होता है आप देखेंगे कभी भी कोई छोटा जानवर छोटे बच्चे के साथ खेलता है जानवर के साथ बड़ा बड़े के साथ खेलता है वृद्ध व्यक्ति वृद्धि के साथ बैठना पसंद का बच्चा अकेलेपन का एक शिकार हो जाता है बाद में और उसे लगता है कि मैं अकेला हूं और बाद में वह फिर माता-पिता को जब बड़ा होगा तो छोड़ के अकेले रहने की विदेशों में सेट हो जाता है कोई उसको ऐसा भावनात्मक लगाव कम ही रह पाता है दूसरा बात इस चीज की है कि उसे जिद करने की आदत हो जाती है उसे पता है कि मां-बाप मेरे पर मैं ही अकेला हूं मेरे पर पूरा प्यार करते हैं मेरे को ही निर्भर है तो फालतू की आपसे मांग करता है और आप को ब्लैकमेल भी कर सकता है और जब भगवान ने यंत्र ज्यादातर दिए हैं जो भी कंपनी के हैं तो दो संतान रहेगी तो आपको एक माह उसका हृदय परिवर्तन हो सकता है सेवा भावना ना कम दूसरा तो करेगा तो कम से कम दो संतान होना आवश्यक है धन्यवाद
Usaka dost phansane kee ekamaatr santaan hone kya laabh aur haaniyaan hain to doston aajakal shaharon kee baat karen to shaharon mein log ek santaan par hee ruk gae hain purush isalie karata hai ki use phursat to siddh karana hota hai aur stree isalie karatee hai ki vah bhee hai dikhaana chaahatee hai ki main bhee santaan utpatti kar sakatee hoon aur lekin usake laabh to logon ko dikhaee dete ki 1 bachchon ka paalan poshan kar sakate ham achchhee shiksha dila sakate hain yah saare unake tark hote hain lekin bahut saare mainejar dhanaadhy vyakti dekhe hain vahee log ek santaan par ade hue aajakal vah stree ko rahata hai ki meree phikr kharaab ho jaegee aur jo mainne pahale kaaran bataaya usakee vajah se ek santaan aur apana samay vyateet karane ke lie khilaune ke roop mein ab santaan utpatti karate hain haaniyaan bahut hai doston ek bachche ko khelane ke lie usaka saathee chaahie hota hai aap dekhenge kabhee bhee koee chhota jaanavar chhote bachche ke saath khelata hai jaanavar ke saath bada bade ke saath khelata hai vrddh vyakti vrddhi ke saath baithana pasand ka bachcha akelepan ka ek shikaar ho jaata hai baad mein aur use lagata hai ki main akela hoon aur baad mein vah phir maata-pita ko jab bada hoga to chhod ke akele rahane kee videshon mein set ho jaata hai koee usako aisa bhaavanaatmak lagaav kam hee rah paata hai doosara baat is cheej kee hai ki use jid karane kee aadat ho jaatee hai use pata hai ki maan-baap mere par main hee akela hoon mere par poora pyaar karate hain mere ko hee nirbhar hai to phaalatoo kee aapase maang karata hai aur aap ko blaikamel bhee kar sakata hai aur jab bhagavaan ne yantr jyaadaatar die hain jo bhee kampanee ke hain to do santaan rahegee to aapako ek maah usaka hrday parivartan ho sakata hai seva bhaavana na kam doosara to karega to kam se kam do santaan hona aavashyak hai dhanyavaad

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Som Prakash Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Som जी का जवाब
Open to work
0:39
सबसे बड़ा भाभी है कि एक ऐतिहासिक महत्व संतान न तो आपको प्रॉपर्टी में से पूरा हिस्सा मिलेगा आनी है कि भाई बहनों का जो एक्सप्रेस होता हुआ पानी मिल पाएगा छोटे भाई बहन से आप सीख सकते हैं बड़े भाई बहनों का एक्सपीरियंस आप ही काम आता है हो सकता है फाइनेंसियल भी आपकी हेल्प कर देंगे सामाजिक ग्रुप में आपकी हेल्प करें मानसिक रूप से आपको मदद करें लावा को मिल सकते हैं यदि आप एक बार तो सुनता नहीं है तू और हानि हो सकती है जी आप एकमात्र संतान है आपको अनुभव की हानि हो सकती है उन लोगों के अनुभव कि उनके सपोर्ट की हानि हो सकती है
Sabase bada bhaabhee hai ki ek aitihaasik mahatv santaan na to aapako propartee mein se poora hissa milega aanee hai ki bhaee bahanon ka jo eksapres hota hua paanee mil paega chhote bhaee bahan se aap seekh sakate hain bade bhaee bahanon ka eksapeeriyans aap hee kaam aata hai ho sakata hai phainensiyal bhee aapakee help kar denge saamaajik grup mein aapakee help karen maanasik roop se aapako madad karen laava ko mil sakate hain yadi aap ek baar to sunata nahin hai too aur haani ho sakatee hai jee aap ekamaatr santaan hai aapako anubhav kee haani ho sakatee hai un logon ke anubhav ki unake saport kee haani ho sakatee hai

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Rajesh Kumar Naveriya  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Ast. Teacher
4:32
एकनाथ संतान होने से क्या लाभ क्या हानियां हैं 100001 सुल्तान वाले से बात तो यह है कि मैं किसी के साथ दिशा पाटनी करना पड़ता है हम उसका ध्यान अच्छे से रख सकते हैं उसे अच्छी शिक्षा दे सकते हैं और उसका ध्यान रखते हैं कृपया आप से साधन उपलब्ध करा सकते हैं वह चाहते हैं कि एक आंख खराब होती है वही तो पूछ लेना मैं तो अकेली संतान जो होती है वह कुछ भी नुकसान करता रहा है कोई भी गलती करता है और उसके बचाव में लगा रहता है और कोई संतान विरार का कारण बन जाती है तो अकेले होने का फायदा बच्चे उठाते हैं और प्यार होने से बिगड़ जाते हैं दो संतान कैटरीना दो ही बच्चे सबसे अच्छी कम से कम 2 बच्चे होना आवश्यक है आंख खराब होती है कभी फूट जाए तो फिर अंधे हो जाएंगे और दो आंखें हैं अभी 1 फुट भी आती है तो एग्जाम काम चला सकते हैं दो हाथ में एक टूट भी जाता है तो हम कल दिला सकते हैं इसीलिए कहा है कि श्री सद्दाम मैं हानियां बहुत है लाभ क्या है लग रही है कि किसी के बंटवारे नहीं करना ध्यान रखना और उसके परिवार को अच्छी तरह से भरण-पोषण करवाना और जाया का बंटवारा नहीं होना कष्ट का कारण बन जाती है हम सोचते हैं कि कहीं बच्चा बीच में निकला है वह किसी का बच्चा खत्म हो या तो फिर उसका पर आगे नाथ न पीछे पड़ा मैं तो अकेला पड़ जाता है और अपना जीवन पूरे दुख में कस्टमर भी ठीक कर देता है फिर हानि है तो कम से कम संतान दो बच्चे होना चाहिए और हानियां हैं क्योंकि यदि अधिक बच्चे होते हैं तो फिर भी एक कष्ट का काढ़ा गरीबी बढ़ती है और अकेली संतान में घर में वैभव आता है इज्जत बढ़ती है तरक्की होती है वहां पर आगे बढ़ते हैं तो तेरी संतान में बहुत से लोग हैं परंतु हानियां भी जोड़ना बताएंगे हो सकते हैं तो मेरा ही है कि संतान घोड़ा वाली नहीं देना है तो कम से कम 2 बच्चे हो और यदि संतान के कष्टों में जीना है तो अकेली संतान में फिर अपन को बहुत तरह के सुविचार के कदम उठाएं पाते हैं दोस्ती हानियां भी एक नहीं पड़ते हैं और ओशो ध्यान रखना पड़ता है कोई बकरी का बच्चा है तो सब का लाडा लाडी है और यदि यदि कोई रोग हो जाए कोई नानी बाई आए तो फिर जीवन और भ्रष्टाचार भी होता है जो जिसको बाहर नहीं उठाना तो तो अकेला भी जीवन छुपा सकता है परंतु यहां नहीं हैं सब तभी है जब घर के आंगन में हरा भरा हुआ बच्चे खेलते हो तो घर तभी परिवार तभी अच्छा लगता है हमारे घर में नन्हे-मुन्ने दो हम दो हमारे दो उसके पास एक ही है वह सब कुछ सही है थैंक यू धन्यवाद
Ekanaath santaan hone se kya laabh kya haaniyaan hain 100001 sultaan vaale se baat to yah hai ki main kisee ke saath disha paatanee karana padata hai ham usaka dhyaan achchhe se rakh sakate hain use achchhee shiksha de sakate hain aur usaka dhyaan rakhate hain krpaya aap se saadhan upalabdh kara sakate hain vah chaahate hain ki ek aankh kharaab hotee hai vahee to poochh lena main to akelee santaan jo hotee hai vah kuchh bhee nukasaan karata raha hai koee bhee galatee karata hai aur usake bachaav mein laga rahata hai aur koee santaan viraar ka kaaran ban jaatee hai to akele hone ka phaayada bachche uthaate hain aur pyaar hone se bigad jaate hain do santaan kaitareena do hee bachche sabase achchhee kam se kam 2 bachche hona aavashyak hai aankh kharaab hotee hai kabhee phoot jae to phir andhe ho jaenge aur do aankhen hain abhee 1 phut bhee aatee hai to egjaam kaam chala sakate hain do haath mein ek toot bhee jaata hai to ham kal dila sakate hain iseelie kaha hai ki shree saddaam main haaniyaan bahut hai laabh kya hai lag rahee hai ki kisee ke bantavaare nahin karana dhyaan rakhana aur usake parivaar ko achchhee tarah se bharan-poshan karavaana aur jaaya ka bantavaara nahin hona kasht ka kaaran ban jaatee hai ham sochate hain ki kaheen bachcha beech mein nikala hai vah kisee ka bachcha khatm ho ya to phir usaka par aage naath na peechhe pada main to akela pad jaata hai aur apana jeevan poore dukh mein kastamar bhee theek kar deta hai phir haani hai to kam se kam santaan do bachche hona chaahie aur haaniyaan hain kyonki yadi adhik bachche hote hain to phir bhee ek kasht ka kaadha gareebee badhatee hai aur akelee santaan mein ghar mein vaibhav aata hai ijjat badhatee hai tarakkee hotee hai vahaan par aage badhate hain to teree santaan mein bahut se log hain parantu haaniyaan bhee jodana bataenge ho sakate hain to mera hee hai ki santaan ghoda vaalee nahin dena hai to kam se kam 2 bachche ho aur yadi santaan ke kashton mein jeena hai to akelee santaan mein phir apan ko bahut tarah ke suvichaar ke kadam uthaen paate hain dostee haaniyaan bhee ek nahin padate hain aur osho dhyaan rakhana padata hai koee bakaree ka bachcha hai to sab ka laada laadee hai aur yadi yadi koee rog ho jae koee naanee baee aae to phir jeevan aur bhrashtaachaar bhee hota hai jo jisako baahar nahin uthaana to to akela bhee jeevan chhupa sakata hai parantu yahaan nahin hain sab tabhee hai jab ghar ke aangan mein hara bhara hua bachche khelate ho to ghar tabhee parivaar tabhee achchha lagata hai hamaare ghar mein nanhe-munne do ham do hamaare do usake paas ek hee hai vah sab kuchh sahee hai thaink yoo dhanyavaad

bolkar speaker
एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है?Ekamatr Santan Hone Ke Laabh Aur Haaniyaan
Shahin fidai Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shahin जी का जवाब
Career & Relationship Counselor
2:42
एकमात्र संतान होने की क्या लाभ और हानियां हैं सबसे पहले हम महानिया देखेंगे कि एक संतान होने से वह बच्चा जो है शायरी मरकरी करना नहीं सीखता है क्योंकि उसे हमेशा ही लगता है कि मैं इश्क हूं तू मुझ में जो भी मांग लूंगा तो मेरे मां-बाप मुझे लाकर देंगे मेरी जरूरतों को पूरा करेंगे और इसीलिए बच्चे बहुत ज्यादा तकलीफ दी हो जाते हैं तो यह बहुत जरूरी है कहीं ना कहीं की मां बाप ने ऐसा दिलाया कि पहले आप एक है लेकिन आप एक ऐसी दुनिया में रह रहे जहां पर और भी बहुत सारे बच्चे हैं कि जिन्हें हर वह चीजें नहीं मिलती है जो तुम्हारे पास है क्योंकि यह सभी चीजें बच्चों को रियल आइज करवाना बहुत ज्यादा जरूरी है तो सबसे पहली हानियां ही होती है दूसरी मानी होती है कि यह बच्चे थोड़ी सी एच ए जेड हो जाते हैं थोड़ी सी टाइम पर टेंशन है जिसे हम कहते हैं बहुत ज्यादा पैसे वाले हो जाते हैं अंदर वाले हो जाते हैं यह चीज है कि कहीं ना कहीं कुछ पढ़ाओ के बाद इनके अंदर एक पतीला पर आ जाता है और वही अकेले का जिसे वह बहुत ज्यादा अपने जीवन में देखते हैं और कहीं ना कहीं अगर आप देखोगे कि जो एकमात्र संतान होती है कभी कबार उसे सक्सेस मिलना भी थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है क्योंकि उसे सीनियर एक्सेप्ट करने नहीं आता है तो यह कुछ कहानियां है जो मां बाप को ध्यान में रखनी है और आप को बच्चों को क्लियर को एक्सेप्ट किस तरह से करना और आगे बढ़ना यह चीजें दिखानी चाहिए क्योंकि ज्यादातर बच्चे सुसाइड करते हैं अगर आप देखोगे तो उनमें से वही लोग संतान सुसाइड करते जो मां के एक-एक ही बच्चे होते एक ही बेटा होता है क्योंकि कहीं ना कहीं उन्हें फियर ऑफ सीनियर होता है या फिर यार तुम्हें बाबू अगर ना पास होते हैं तो एक्सेप्ट नहीं कर पाते हैं तो यह कुछ कारण होते हैं अब यह होती है कि मां-बाप का जो खर्चा है बच्चे के पीछे होता है तो एक ही बच्चे को आप को पढ़ाना है एक ही बचे पर आपको ध्यान देना है तो इससे आपकी प्राइम एनर्जी पैसा सब कुछ बचता है और इसी के साथ तो पॉजिटिविटी भी होती है कि जिसके लिए कि आपको से एक ही संतान पर ध्यान देना है तो आपकी जो मां-बाप की जब जवाबदारी है वह बढ़ जाती है क्योंकि अब मां बाप को यहां पर एक दोस्त बनकर अपने बच्चे के साथ रहना है ताकि उनका बच्चा जो है वह क्लियर को भी एक्सेप्ट करें सक्सेस कभी एक्सेप्ट करें और आगे बढ़ना चाहिए क्योंकि कहीं ना कहीं जब हम फेल होते हैं यह में मुझे नहीं मिलती है तो कहीं ना कहीं ईश्वर का संकेत होता है कि हम इन चीजों में कुछ हटकर कुछ प्ले करें ताकि हम अपने जीवन में कामयाब हो सके यह कुछ से लाभ और हानियां हैं धन्यवाद प्रश्न पूछने के लिए आपका दिन शुभ हो
Ekamaatr santaan hone kee kya laabh aur haaniyaan hain sabase pahale ham mahaaniya dekhenge ki ek santaan hone se vah bachcha jo hai shaayaree marakaree karana nahin seekhata hai kyonki use hamesha hee lagata hai ki main ishk hoon too mujh mein jo bhee maang loonga to mere maan-baap mujhe laakar denge meree jarooraton ko poora karenge aur iseelie bachche bahut jyaada takaleeph dee ho jaate hain to yah bahut jarooree hai kaheen na kaheen kee maan baap ne aisa dilaaya ki pahale aap ek hai lekin aap ek aisee duniya mein rah rahe jahaan par aur bhee bahut saare bachche hain ki jinhen har vah cheejen nahin milatee hai jo tumhaare paas hai kyonki yah sabhee cheejen bachchon ko riyal aaij karavaana bahut jyaada jarooree hai to sabase pahalee haaniyaan hee hotee hai doosaree maanee hotee hai ki yah bachche thodee see ech e jed ho jaate hain thodee see taim par tenshan hai jise ham kahate hain bahut jyaada paise vaale ho jaate hain andar vaale ho jaate hain yah cheej hai ki kaheen na kaheen kuchh padhao ke baad inake andar ek pateela par aa jaata hai aur vahee akele ka jise vah bahut jyaada apane jeevan mein dekhate hain aur kaheen na kaheen agar aap dekhoge ki jo ekamaatr santaan hotee hai kabhee kabaar use sakses milana bhee thoda sa mushkil ho jaata hai kyonki use seeniyar eksept karane nahin aata hai to yah kuchh kahaaniyaan hai jo maan baap ko dhyaan mein rakhanee hai aur aap ko bachchon ko kliyar ko eksept kis tarah se karana aur aage badhana yah cheejen dikhaanee chaahie kyonki jyaadaatar bachche susaid karate hain agar aap dekhoge to unamen se vahee log santaan susaid karate jo maan ke ek-ek hee bachche hote ek hee beta hota hai kyonki kaheen na kaheen unhen phiyar oph seeniyar hota hai ya phir yaar tumhen baaboo agar na paas hote hain to eksept nahin kar paate hain to yah kuchh kaaran hote hain ab yah hotee hai ki maan-baap ka jo kharcha hai bachche ke peechhe hota hai to ek hee bachche ko aap ko padhaana hai ek hee bache par aapako dhyaan dena hai to isase aapakee praim enarjee paisa sab kuchh bachata hai aur isee ke saath to pojitivitee bhee hotee hai ki jisake lie ki aapako se ek hee santaan par dhyaan dena hai to aapakee jo maan-baap kee jab javaabadaaree hai vah badh jaatee hai kyonki ab maan baap ko yahaan par ek dost banakar apane bachche ke saath rahana hai taaki unaka bachcha jo hai vah kliyar ko bhee eksept karen sakses kabhee eksept karen aur aage badhana chaahie kyonki kaheen na kaheen jab ham phel hote hain yah mein mujhe nahin milatee hai to kaheen na kaheen eeshvar ka sanket hota hai ki ham in cheejon mein kuchh hatakar kuchh ple karen taaki ham apane jeevan mein kaamayaab ho sake yah kuchh se laabh aur haaniyaan hain dhanyavaad prashn poochhane ke lie aapaka din shubh ho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • एकमात्र संतान होने के क्या लाभ और हानियां है एकमात्र संतान होने के लाभ और हानियां
URL copied to clipboard