#undefined

bolkar speaker

क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?

Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:23
आकाश वाले की जय जगदीश सिर्फ किसानों के लिए बने या फिर निजी में कर लिए तो धरती में सभी प्रकार के जीव जंतु रहते हैं क्या नुकसान होते देखा जाए तो धरती पर स्वास्थ लेने वाले प्रत्येक जीव जंतु निवास करता है धन्यवाद
Aakaash vaale kee jay jagadeesh sirph kisaanon ke lie bane ya phir nijee mein kar lie to dharatee mein sabhee prakaar ke jeev jantu rahate hain kya nukasaan hote dekha jae to dharatee par svaasth lene vaale pratyek jeev jantu nivaas karata hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:46
नमस्कार दोस्तों क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी तो दोस्तों यह धरती सामान्य रूप से सबके लिए बनी गई है इंसानों का इस पर कब्जा नहीं होना चाहिए जीवो को भी यहां रहने का पूरा अधिकार है और सारे पशु पक्षियों को पूरा अधिकार है हमारे देश में रहने का यह दुनिया बिना पेड़ पौधे और जानवरों के बिना जीवित नहीं रह सकती तो हर संतुलन बनाने के लिए यहां पर पूरी एक साथ काम करना पड़ता है जीव के बिना इंसान नहीं रह सकते और इंसान के बिना जी नहीं रह सकते दोनों एक दूसरे पर डिपेंड करते हैं तो दोस्तों अगर आपको हमारा जवाब पसंद आया हो तो प्लीज लाइक करें
Namaskaar doston kya dharatee sirph insaanon ke rahane ke lie banee hai ya any jeevo ke lie bhee to doston yah dharatee saamaany roop se sabake lie banee gaee hai insaanon ka is par kabja nahin hona chaahie jeevo ko bhee yahaan rahane ka poora adhikaar hai aur saare pashu pakshiyon ko poora adhikaar hai hamaare desh mein rahane ka yah duniya bina ped paudhe aur jaanavaron ke bina jeevit nahin rah sakatee to har santulan banaane ke lie yahaan par pooree ek saath kaam karana padata hai jeev ke bina insaan nahin rah sakate aur insaan ke bina jee nahin rah sakate donon ek doosare par dipend karate hain to doston agar aapako hamaara javaab pasand aaya ho to pleej laik karen

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:08
धरती पर इंसान के लिए अन्य जीवो के लिए और तथा हर जीव के लिए और पक्षी पक्षियों के लिए और सभी इंसानों के लिए बनी है ना कि सिर्फ इंसान के लिए क्योंकि हर चीज के पीछे एक शत्रु भी छुपा होता है तथा हर चीज के पीछे 9 हर चीज के आगे एक सफलता भी होती है जैसे कि सांप को मार खाता हुआ था जैसे कि छोटे जियो को मंडप खाता मेंढक और सांप का था वह आपको बहुत खाता हूं ठीक और ठीक इसी प्रकार मनुष्य को कोई जानवर खा जाता है जैसे कि डायनासोर को खा जाता हूं जहर भी खा सकता है इसलिए धरती पर सभी का होना जरूरी है
Dharatee par insaan ke lie any jeevo ke lie aur tatha har jeev ke lie aur pakshee pakshiyon ke lie aur sabhee insaanon ke lie banee hai na ki sirph insaan ke lie kyonki har cheej ke peechhe ek shatru bhee chhupa hota hai tatha har cheej ke peechhe 9 har cheej ke aage ek saphalata bhee hotee hai jaise ki saamp ko maar khaata hua tha jaise ki chhote jiyo ko mandap khaata mendhak aur saamp ka tha vah aapako bahut khaata hoon theek aur theek isee prakaar manushy ko koee jaanavar kha jaata hai jaise ki daayanaasor ko kha jaata hoon jahar bhee kha sakata hai isalie dharatee par sabhee ka hona jarooree hai

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Chandan Kumar bharati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chandan जी का जवाब
Teacher
0:37
हेलो गुड मॉर्निंग आपका ब्रोकर में स्वागत आपका प्रश्न है कि क्या धरती सिर्फ इंसानों के लिए रहने के लिए बनी है या जीवों के लिए भी देखी जो धरती है यह शान और अंशु के रहने के लिए ही बनी हुई है जो कि यहां पर जो भी पृथ्वी पर आता है वह जी वह जंतु सबके लिए एक ही प्रक्रिया होते हैं मनुष्य होता है उसकी प्रक्रिया अलग होती है और जीव-जंतुओं पर की राय अलग होते फिर भी इस धरती पर ही सबको रहना है इसी के साथ
Helo gud morning aapaka brokar mein svaagat aapaka prashn hai ki kya dharatee sirph insaanon ke lie rahane ke lie banee hai ya jeevon ke lie bhee dekhee jo dharatee hai yah shaan aur anshu ke rahane ke lie hee banee huee hai jo ki yahaan par jo bhee prthvee par aata hai vah jee vah jantu sabake lie ek hee prakriya hote hain manushy hota hai usakee prakriya alag hotee hai aur jeev-jantuon par kee raay alag hote phir bhee is dharatee par hee sabako rahana hai isee ke saath

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:15
धरती इंसान के लिए नहीं बना है धरती बना है रिटर्न बड़ों के लिए शारीरिक जंतुओं के लिए मगर उसमें इंसान आता है तो हम इंसान के लिए भी करते हैं सिर्फ आपके लिए
Dharatee insaan ke lie nahin bana hai dharatee bana hai ritarn badon ke lie shaareerik jantuon ke lie magar usamen insaan aata hai to ham insaan ke lie bhee karate hain sirph aapake lie

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:51
करती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी दोस्तों यदि बात करें धरती को लेकर की और यहां पर जीवन तो देखिए पृथ्वी के अंदर इंसान ही नहीं अपितु बाकी जितने भी जीव जंतु है चाहे वह भेड़ बकरी हो चाय पी लो चाय हाथियों और चाहिए के वनस्पति इन सब के लिए ही है जो धरती बनी है दोस्तों प्रकृति ने इसकी रचना की है इसके अंदर जीव जंतु रहेंगे वनस्पति रहेगी यह इन्हीं लोगों के लिए बनी है ना की किसी अन्य चीजों के लिए और यही है कि मनुष्य जो है जो जी रहा है यह प्रकृति की देन है जो पक्षी और पशु पक्षियों पर जो जी रहे हैं वह भी प्रकृति की देन है स्पेशली जो है यह इंसानों के लिए नहीं बनी है यह सभी जीव जंतुओं के लिए बनी है परंतु इसके अंदर से सबसे आगे जो बढ़ पाया है वह मानव है
Karatee sirph insaanon ke rahane ke lie banee hai ya any jeevo ke lie bhee doston yadi baat karen dharatee ko lekar kee aur yahaan par jeevan to dekhie prthvee ke andar insaan hee nahin apitu baakee jitane bhee jeev jantu hai chaahe vah bhed bakaree ho chaay pee lo chaay haathiyon aur chaahie ke vanaspati in sab ke lie hee hai jo dharatee banee hai doston prakrti ne isakee rachana kee hai isake andar jeev jantu rahenge vanaspati rahegee yah inheen logon ke lie banee hai na kee kisee any cheejon ke lie aur yahee hai ki manushy jo hai jo jee raha hai yah prakrti kee den hai jo pakshee aur pashu pakshiyon par jo jee rahe hain vah bhee prakrti kee den hai speshalee jo hai yah insaanon ke lie nahin banee hai yah sabhee jeev jantuon ke lie banee hai parantu isake andar se sabase aage jo badh paaya hai vah maanav hai

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:53
ट्रैक्टर की जाएगी दोस्तो उन्होंने प्रश्न किया है चलिए प्लेन का फोटो देखते हैं उन्होंने पूछा है कि क्या धरती सिर्फ इंसानों की रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी दोस्तों धरती एक इंसान के लिए नहीं बनी है अन्य जीव के लिए भी बनी है और इंसान के साथ साथ जीवन का भी उतना ही धरती पे रहना आवश्यक आवश्यक है जितना के मनुष्य का धरती नमन उसके लिए जीवो के लिए भी यह पक्षियों के लिए सबके लिए है दर्दे भेजें इसमें यह नहीं है कि मनुष्य के लिए धरती बाकी g55 चाहिए भाड़ में आया था कुछ नहीं है भगवान ने सृष्टि रची है तो उत्सव के लिए सबको अधिकार दे रखे और सब रह सकते हैं पृथ्वी वैसा नहीं है ठीक है दोस्तों
Traiktar kee jaegee dosto unhonne prashn kiya hai chalie plen ka photo dekhate hain unhonne poochha hai ki kya dharatee sirph insaanon kee rahane ke lie banee hai ya any jeevo ke lie bhee doston dharatee ek insaan ke lie nahin banee hai any jeev ke lie bhee banee hai aur insaan ke saath saath jeevan ka bhee utana hee dharatee pe rahana aavashyak aavashyak hai jitana ke manushy ka dharatee naman usake lie jeevo ke lie bhee yah pakshiyon ke lie sabake lie hai darde bhejen isamen yah nahin hai ki manushy ke lie dharatee baakee g55 chaahie bhaad mein aaya tha kuchh nahin hai bhagavaan ne srshti rachee hai to utsav ke lie sabako adhikaar de rakhe aur sab rah sakate hain prthvee vaisa nahin hai theek hai doston

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
5:35
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवन के लिए भी पृथ्वी पर इंसान का जो अस्तित्व है उसके सोच जो है वह लगभग 500000 साल पीछे तक मिलते बाकी जो सृष्टि है उसके प्रूफ धरती पर देसी डायनासोरस के दो करोड़ साल पीछे के अवशेष मिलते इंसान की उत्क्रांति हुई होगी या है या अन्य किसी तरह से इंसान धरती पर उपस्थित हुआ इस के संदर्भ में जो इंफॉर्मेशन मिलती है वह इतनी पुरानी तो नहीं है तो पूछी तो मालूम है इंसान के सिवाय चलती थी अन्य प्राणी किट वायरस इस बैक्टीरिया डायनासोर सबसे पुरानी ऐसी पुरानी जगह प्राणियों शिवपुरी का संक्रमण करोड़ों साल रहा है और पुरानी यहां पर रहने के भूत मिलते इसलिए यह नहीं कहा जा सकता कि सिर्फ इंसानों के रहने के लिए कुर्सी बनी है इंसान तो बाद में निर्माण हुआ है कैसे धन के बारे में इंसान को किसी परग्रही ऊंचे दर्जे की टेक्नोलॉजी वाले हैं एलियंस ने इंसान को पृथ्वी पर पेंट किया है या पृथ्वी पर जैसे इंसान सब दृश्य पुरानी थे उनमें कुछ जेनेटिक बदलाव करके उसको बदल दिया और इंसान निर्मल कुमार या अभी भी एलियंस जो है वह ऊंची पर सारी सारा नियंत्रण करते रहे करते और उसका संचालन करते हैं ऐसे तो बताएं इवोल्यूशन कचहरी सबसे महत्वपूर्ण है इसमें से जो निर्जीव घटक है युसूफ मलिक बल पर जो है ऑटोमेटिक पार्टिकल्स व्हाट्सएप पार्टिकल जब भूषण बना बिग बैंक के समय में पीछे जाते जाते हैं हमको शान हमारा पूर्वज और बाकी सब चीजें स्टार्गेस्ट भी है ऐसा भी बताया जाता है और इंसान का ग्रहण देखते हैं तो अन्य जो के संदर्भ में एक संतुलन है जीवन जीवन जीवन में ऐसा लिखा जाता है इंसान कुछ चीजों से बनता है जो इस प्रकृति में ही उपलब्ध है और बाद में इंसान का सारा मृत्यु के बाद जो डिस्ट्रक्शन होता है उसके बॉडी का वह भी सहारा विघटित होकर उनके उनके मूल स्वरूप में जाता है और अन्य जीवित या मृत चीजों के नतीजों के रूप में रहता है उत्सव प्राणियों का वनस्पतियों का और सृष्टि का एक बैलेंस है इसलिए धरती इंसानों के लिए तो बनी हुई है और अन्य प्राणियों के लिए भी बनी हुई है उसमें एक बैलेंस होता है अगर मेरा जॉब सही लगे तो कृपया इसे लाइक कीजिए धन्यवाद
Kya dharatee sirph insaanon ke rahane ke lie banee hai ya any jeevan ke lie bhee prthvee par insaan ka jo astitv hai usake soch jo hai vah lagabhag 500000 saal peechhe tak milate baakee jo srshti hai usake prooph dharatee par desee daayanaasoras ke do karod saal peechhe ke avashesh milate insaan kee utkraanti huee hogee ya hai ya any kisee tarah se insaan dharatee par upasthit hua is ke sandarbh mein jo imphormeshan milatee hai vah itanee puraanee to nahin hai to poochhee to maaloom hai insaan ke sivaay chalatee thee any praanee kit vaayaras is baikteeriya daayanaasor sabase puraanee aisee puraanee jagah praaniyon shivapuree ka sankraman karodon saal raha hai aur puraanee yahaan par rahane ke bhoot milate isalie yah nahin kaha ja sakata ki sirph insaanon ke rahane ke lie kursee banee hai insaan to baad mein nirmaan hua hai kaise dhan ke baare mein insaan ko kisee paragrahee oonche darje kee teknolojee vaale hain eliyans ne insaan ko prthvee par pent kiya hai ya prthvee par jaise insaan sab drshy puraanee the unamen kuchh jenetik badalaav karake usako badal diya aur insaan nirmal kumaar ya abhee bhee eliyans jo hai vah oonchee par saaree saara niyantran karate rahe karate aur usaka sanchaalan karate hain aise to bataen ivolyooshan kachaharee sabase mahatvapoorn hai isamen se jo nirjeev ghatak hai yusooph malik bal par jo hai otometik paartikals vhaatsep paartikal jab bhooshan bana big baink ke samay mein peechhe jaate jaate hain hamako shaan hamaara poorvaj aur baakee sab cheejen staargest bhee hai aisa bhee bataaya jaata hai aur insaan ka grahan dekhate hain to any jo ke sandarbh mein ek santulan hai jeevan jeevan jeevan mein aisa likha jaata hai insaan kuchh cheejon se banata hai jo is prakrti mein hee upalabdh hai aur baad mein insaan ka saara mrtyu ke baad jo distrakshan hota hai usake bodee ka vah bhee sahaara vighatit hokar unake unake mool svaroop mein jaata hai aur any jeevit ya mrt cheejon ke nateejon ke roop mein rahata hai utsav praaniyon ka vanaspatiyon ka aur srshti ka ek bailens hai isalie dharatee insaanon ke lie to banee huee hai aur any praaniyon ke lie bhee banee huee hai usamen ek bailens hota hai agar mera job sahee lage to krpaya ise laik keejie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
2:09
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc',null,

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
0:59
जैसा कि प्रश्न है कि क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए ही बनी है या आने जीवो के लिए भी तो हम सभी इस चीज से भलीभांति परिचित हैं कि इस पृथ्वी पर केवल मानव नहीं रहते हैं इसके अलावा बहुत सारा जीव ही रहते हैं जैसे हम अपने आसपास में देखते हैं बकर यह गाय बैल भैंस अनेक प्रकार का जीव हम लोग देखते हैं तो इसमें कोई रहस्य नहीं होना चाहिए जब पृथ्वी है तो इस पर जीवन जरूर होगा और एक प्राकृतिक को संतुलन बनाने के लिए सारे जीवो को होना हमारे लिए फायदेमंद है अगर हम केवल एक पक्ष सोचे कि नहीं केवल इंसान ही इस पृथ्वी पर रहे तो कहीं ना कहीं हमारे लिए संकट हो सकता है तो इस दृष्टि से ना सोचकर हमें तो यही सोचना है कि हम सब देखते हैं कि हमारे आसपास में विभिन्न तरह के जीव जंतु रहते हैं तो इसमें हमारे अंदर एक जिज्ञासा ज्यादा नहीं होना चाहिए
Jaisa ki prashn hai ki kya dharatee sirph insaanon ke rahane ke lie hee banee hai ya aane jeevo ke lie bhee to ham sabhee is cheej se bhaleebhaanti parichit hain ki is prthvee par keval maanav nahin rahate hain isake alaava bahut saara jeev hee rahate hain jaise ham apane aasapaas mein dekhate hain bakar yah gaay bail bhains anek prakaar ka jeev ham log dekhate hain to isamen koee rahasy nahin hona chaahie jab prthvee hai to is par jeevan jaroor hoga aur ek praakrtik ko santulan banaane ke lie saare jeevo ko hona hamaare lie phaayademand hai agar ham keval ek paksh soche ki nahin keval insaan hee is prthvee par rahe to kaheen na kaheen hamaare lie sankat ho sakata hai to is drshti se na sochakar hamen to yahee sochana hai ki ham sab dekhate hain ki hamaare aasapaas mein vibhinn tarah ke jeev jantu rahate hain to isamen hamaare andar ek jigyaasa jyaada nahin hona chaahie

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:29

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
SONU VERMA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए SONU जी का जवाब
Student
0:27
जैसा कि आप जानते हैं कि धरती में सिर्फ इंसानों के लिए रहने के लिए ही नहीं बनी है अभी तो अन्य जिलों के लिए भी है या पृथ्वी सबके लिए समान है सभी व्यक्ति जीव-जंतु पेड़-पौधे इस धरती पर रह सकते हैं सब का सामान बराबर अधिकार है और सब एक दूसरे से जुड़े हुए हैं थैंक यू
Jaisa ki aap jaanate hain ki dharatee mein sirph insaanon ke lie rahane ke lie hee nahin banee hai abhee to any jilon ke lie bhee hai ya prthvee sabake lie samaan hai sabhee vyakti jeev-jantu ped-paudhe is dharatee par rah sakate hain sab ka saamaan baraabar adhikaar hai aur sab ek doosare se jude hue hain thaink yoo

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
himanshu bansal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए himanshu जी का जवाब
Influencer, trainer,motivate speaker
2:26
स्कार सभी को यहां पर सवाल किया गया है या मैं अगर कहूं तो यहां पर सवाल नहीं आप एक बहुत ही स्वाभाविक सी बात पूछी गई है जो कि बहुत लोग सोचते हैं लेकिन जो लोग ऐसा सोचते हैं वह बिल्कुल गलत है और बिल्कुल ही यह अमान्य बात है कि सिद्धकी जो है वह इंसानों के लिए बनी है और अन्य जीवो के लिए नहीं यह जो धरती है यह ना सिर्फ इंसानों की है कि सभी जीवो की है चाहे वह कोई पशु हो चाहे वह कोई पक्की हो चाहे वह कोई जानवर हो कोई भी हो यह धरती है यह सभी के लिए बनी है कभी भी हम लोगों को यह नहीं समझना चाहिए कि हम इंसान हैं हम लोगों को जानवरों से पशु पक्षियों से ज्यादा अधिकार दिए गए हैं हम लोगों के पास पशु पक्षी और जानवरों से ज्यादा सुख सुख संपत्ति है संसाधन है क्यों करने के लिए तो हमारे लिए धरती का निर्माण हुआ है ऐसा बिल्कुल नहीं है हम इन सब चीजों को अगर निकाल दे धरती से तो हम धरती की कल्पना भी नहीं कर सकते तो अगर कोई ऐसा सोच रहा है कि धरती इंसानों के लिए बनी है और इंसानों से ही धरती की सुंदरता है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है सभी जीव सभी जंतु सभी पशु सभी पक्षी इस धरती की सुंदरता को बनाए रखे हैं और किसी एक के बिना भी मैं यहां पर इंसानों की भी नहीं बोल रहा हूं किसी एक के बिना भी चाहे वह इंसानों की बात हो जाए वह जिओ की बात हो जाए और पशु पक्षियों की बात हो हम इस धरती की कल्पना नहीं कर सकते तो यह धरती ना सिर्फ इंसानों के लिए अपितु हर उस जी के लिए बनी है जो कि भगवान द्वारा ईश्वर द्वारा निर्मित है और हम कोई नहीं होते ऐसा कहने वाले यह धरती हमारी है भगवान ने धरती हमारे लिए बनाई है बल्कि हम तो बहुत ही ज्यादा खुश नसीब है जो कि भगवान ने हमें इतनी सुंदर धरती तो दिलजीत उसके साथ रहने वाले उसके सुंदरता में आने वाली ऐसे जीव को ऐसे पशु को ऐसे पशुओं को भी हमारे साथ दिया है पेड़ पौधों को दिया है पेड़ पौधों से सुंदरता बढ़ रही है पशुओं की छेड़छाड़ से हर वक्त हलचल रहती है हर वक्त हमारे घर मोहल्ले में आसपास हमारे हम हर वक्त रौनक रहती है हम तो खुश नसीब है कि भगवान ने धरती हम सब को प्रदान की है और यह गलती हम सब की है ना कि सिर्फ इंसानों की धनी
Skaar sabhee ko yahaan par savaal kiya gaya hai ya main agar kahoon to yahaan par savaal nahin aap ek bahut hee svaabhaavik see baat poochhee gaee hai jo ki bahut log sochate hain lekin jo log aisa sochate hain vah bilkul galat hai aur bilkul hee yah amaany baat hai ki siddhakee jo hai vah insaanon ke lie banee hai aur any jeevo ke lie nahin yah jo dharatee hai yah na sirph insaanon kee hai ki sabhee jeevo kee hai chaahe vah koee pashu ho chaahe vah koee pakkee ho chaahe vah koee jaanavar ho koee bhee ho yah dharatee hai yah sabhee ke lie banee hai kabhee bhee ham logon ko yah nahin samajhana chaahie ki ham insaan hain ham logon ko jaanavaron se pashu pakshiyon se jyaada adhikaar die gae hain ham logon ke paas pashu pakshee aur jaanavaron se jyaada sukh sukh sampatti hai sansaadhan hai kyon karane ke lie to hamaare lie dharatee ka nirmaan hua hai aisa bilkul nahin hai ham in sab cheejon ko agar nikaal de dharatee se to ham dharatee kee kalpana bhee nahin kar sakate to agar koee aisa soch raha hai ki dharatee insaanon ke lie banee hai aur insaanon se hee dharatee kee sundarata hai aisa bilkul bhee nahin hai sabhee jeev sabhee jantu sabhee pashu sabhee pakshee is dharatee kee sundarata ko banae rakhe hain aur kisee ek ke bina bhee main yahaan par insaanon kee bhee nahin bol raha hoon kisee ek ke bina bhee chaahe vah insaanon kee baat ho jae vah jio kee baat ho jae aur pashu pakshiyon kee baat ho ham is dharatee kee kalpana nahin kar sakate to yah dharatee na sirph insaanon ke lie apitu har us jee ke lie banee hai jo ki bhagavaan dvaara eeshvar dvaara nirmit hai aur ham koee nahin hote aisa kahane vaale yah dharatee hamaaree hai bhagavaan ne dharatee hamaare lie banaee hai balki ham to bahut hee jyaada khush naseeb hai jo ki bhagavaan ne hamen itanee sundar dharatee to dilajeet usake saath rahane vaale usake sundarata mein aane vaalee aise jeev ko aise pashu ko aise pashuon ko bhee hamaare saath diya hai ped paudhon ko diya hai ped paudhon se sundarata badh rahee hai pashuon kee chhedachhaad se har vakt halachal rahatee hai har vakt hamaare ghar mohalle mein aasapaas hamaare ham har vakt raunak rahatee hai ham to khush naseeb hai ki bhagavaan ne dharatee ham sab ko pradaan kee hai aur yah galatee ham sab kee hai na ki sirph insaanon kee dhanee

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:04
हेलो जवाब का सवाल है कि क्या धरती सिर्फ इंसान उनके रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी एक ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि धरती पर सिर्फ इंसान ही रहते हैं हम और बहुत सारे जीव को भी देखते हैं पेड़ पौधे और फिर आगे अगर ऐसा ही चलता रहा एंड आयरनमैन पोलूशन आएंगे कुछ चेंज होगा वातावरण में तो ऐसे बहुत सारे आगे भी हमें जीव जंतु देखने के लिए मिलेगा क्योंकि टाइम के हिसाब से बात करें तो देखिए और जो भी इन बारे में जिस तरह से चेंज हुआ जो भी परिवर्तन आया है जो भी इवोल्यूशन आया उस हिसाब से हम भी एक और ज्ञानी सिंह और हम भी जैसे बने हैं तो कल को अगर ऐसी कोई भी परिवर्तन हुआ कोई भी ऐसे बदलाव आए तो मैं और भी बहुत सारे जीव जंतु देखने के लिए मिलेगा ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि धरती पर सिर्फ और सिर्फ इंसान ही रहेंगे और जो लोग जिस तरह के जीव जंतु ऐसे इन डायमीटर से वातावरण में हिसाब से ही जीव जंतु विज्ञान से गुस्सा होते हैं
Helo javaab ka savaal hai ki kya dharatee sirph insaan unake rahane ke lie banee hai ya any jeevo ke lie bhee ek aisa bilkul bhee nahin hai ki dharatee par sirph insaan hee rahate hain ham aur bahut saare jeev ko bhee dekhate hain ped paudhe aur phir aage agar aisa hee chalata raha end aayaranamain polooshan aaenge kuchh chenj hoga vaataavaran mein to aise bahut saare aage bhee hamen jeev jantu dekhane ke lie milega kyonki taim ke hisaab se baat karen to dekhie aur jo bhee in baare mein jis tarah se chenj hua jo bhee parivartan aaya hai jo bhee ivolyooshan aaya us hisaab se ham bhee ek aur gyaanee sinh aur ham bhee jaise bane hain to kal ko agar aisee koee bhee parivartan hua koee bhee aise badalaav aae to main aur bhee bahut saare jeev jantu dekhane ke lie milega aisa bilkul bhee nahin hai ki dharatee par sirph aur sirph insaan hee rahenge aur jo log jis tarah ke jeev jantu aise in daayameetar se vaataavaran mein hisaab se hee jeev jantu vigyaan se gussa hote hain

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:49
खरा कपास में क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए ही बनी है या न जीवो के लिए भी तो आपको बता दें कि इस धरती पर इस जमीन पर सबसे पहला हाथ चुम्मे जीवो का है दूसरा हक सेकंड जो राइट करते हैं वह इंसानों का है तो यहां पर सभी जीव समान है और एवं सरकारी भी समय-समय पर दिशा निर्देश जारी करते रहती हैं जो एनजीओ है उनकी तो उसे भी लोगों को जागरूकता दी जाती है कि जो सबसे पहला हक है इस भूमि पर जमीन पर रहने का है वह प्राणियों का है जो जानवर है उनका है उसके बाद जो सेकंड है वह इंसानों का है आपकी क्या राय है इस बारे में कमेंट सेक्शन अपनी राय जरुर व्यक्त करें मैं शुभकामनाएं खुश धन्यवाद
Khara kapaas mein kya dharatee sirph insaanon ke rahane ke lie hee banee hai ya na jeevo ke lie bhee to aapako bata den ki is dharatee par is jameen par sabase pahala haath chumme jeevo ka hai doosara hak sekand jo rait karate hain vah insaanon ka hai to yahaan par sabhee jeev samaan hai aur evan sarakaaree bhee samay-samay par disha nirdesh jaaree karate rahatee hain jo enajeeo hai unakee to use bhee logon ko jaagarookata dee jaatee hai ki jo sabase pahala hak hai is bhoomi par jameen par rahane ka hai vah praaniyon ka hai jo jaanavar hai unaka hai usake baad jo sekand hai vah insaanon ka hai aapakee kya raay hai is baare mein kament sekshan apanee raay jarur vyakt karen main shubhakaamanaen khush dhanyavaad

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
DDS Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DDS जी का जवाब
Student, I am learning acting because I want to be a TV serial actor.
4:51
शायद आपको इसका आंसर मालूम है कि धरती सिर्फ इंसानों के लिए नहीं बनी है सभी जीव के लिए भी बनी है लेकिन फिर भी आप ने सवाल पूछा है तो मैं आपको बता देता हूं कि आप भी तो सिर्फ कोरोनावायरस आया है आने वाले टाइम पर औरतों को ध्यान नहीं दिया गया और इसी तरह साइंस बढ़ता रहा और किसी भी प्रकार की जिस साहित्य चीजें हैं और खासकर वह चीजें जो हमें मेहनत करती है नहीं किया गया तो वह दिन दूर नहीं है इस तरह के कई गुना और कई भयंकर वायरस सामने आएंगे तब बात यह नहीं है कि हम इन चीजों को जाने नहीं समझे ने खून कब किसने रोका है लेकिन हर जगह साइंस लगा देना अगर आपको एग्जांपल के तौर पर कहूंगा तो मैं स्टार्ट जैसे कि कोई बच्चा होता जन्म लेता है उसके टीके की स्टार्टिंग हो जाती है डीके लगाना स्टार्ट कर देता है तो उसको बचाने के लिए तो वह सही समझ में आता है हम बड़े हो रहे हैं घर के बाहर सारे प्रोडक्ट कितनी उसने क्या कौन सा केमिकल क्या मिला हुआ है हमें नहीं पता और जितना भी केमिकल नेचुरल ओनली आर्टिफिशियल कम कर उसके बाद हम बड़े हुए उन आर्टिफिशियल केमिकल में लगातार तरह-तरह की चीजें डाली जाती तो हमें काफी अच्छा लगता हमारी बॉडी अच्छी होती है और निकल जाती कार से आ जाती है ट्रेन हवाई जहाज तरह के न जाने बहुत सारी चीजें ध्यान देने योग्य बातें यह है यहां पर ओन्ली आर्टिफिशियल क्या सच में इंसानों के लिए या फिर सभी के लिए इतनी आर्टिफिशियल चीजें वह भी जरूरी थी शायद मेरे इस आंसर से हम लोगों को भी आंसर मिल जाएगा कि जो लोग यह सोचते हैं हम गरीब क्यों गरीब अगर आप की आवश्यकता लिमिटेशन में कर दीजिए लिमिट कर दीजिए कि जरूरत हो तो उस चीज में यूज करें वरना उसको वहीं पर रहने दे जहां क्यों चीजें हैं तो शायद हम कभी गरीब है ही नहीं अब हमें यह भी चाहिए वह भी चाहिए यह है वह है यह सारी चाहिए तो गरीब बनाते हैं तो इसलिए मैं बस कहना चाहूंगा कि सिर्फ इंसानों के लिए नहीं है सभी जीवो के लिए हैं और आपके मन को आपके शौक को कोई नहीं रुकता है बट उनका यूज करने की टाइम टेबल आर्टिफिशियल की आर्टिफिशियल चीजें इमरजेंसी के लिए बनाई है जिसकी मार लीजिए जो होते हैं वह तो हाइड्रोजन परमाणु बम है अणु बम क्या डेनिम करते हैं उन्हें क्रिकेट फेल है जब भी इनका टाइम आएगा तो यूज़ किया जाएगा वरना रखें सारी चीजें कूलर में ऐसी है खाने की प्रोडक्ट से और भी अपनी यूज करने के उनके लिए तो आप यूज कीजिए में डाल दिया हूं बहुत तेजी से बदल रहा है सभी लोग बहुत तेजी से मिला और निमृत का जमाना है प्लीज समझने की कोशिश करो वरना एज निकल जाने के बाद तो बड़े-बड़े समझ जाते हैं अब आप समझते हैं कि नहीं समझते मुझे लेकिन खुशी है कि मैं जिस फैमिली में पला बढ़ा हूं शुरू से मेरे नाना बाबा दादा दादी नानी एंड उसके बाद मेरी मम्मी पापा सिस्टर और ब्रदर और मेरे पापा उसे राम जी भाई साहब और भाभी सभी लोग थे उनसे में पला बढ़ा और मैं इस बात को समझ पाया कि वर्ड में रिलेशन के होते नहीं मालूम इंडिया के अंदर फैमिली रिलेशंस होता है इसीलिए क्या आपस में झगड़े नहीं होते हैं कभी-कभी कहासुनी भी हो जाती है कुछ भी हो जाए हम एक ही कुछ भी प्रॉब्लम होती है एक हो जाता है कुछ भी फंक्शन सोते हम एक हो जाते हैं प्लीज बात को समझो और यह धरती अपने आप ही रिलायंस करेगी अपने आप से जिस तरह चाहते वैसा करेंगे लेकिन इंसानों के साथ साथ सभी जीवो को इसमें मौका दो प्लीज क्योंकि अगर आज नहीं समझी तो कल कोई समझाने नहीं आएगा और ईश्वर को पूछते हुए ऐसे ही रह जाएंगे
Shaayad aapako isaka aansar maaloom hai ki dharatee sirph insaanon ke lie nahin banee hai sabhee jeev ke lie bhee banee hai lekin phir bhee aap ne savaal poochha hai to main aapako bata deta hoon ki aap bhee to sirph koronaavaayaras aaya hai aane vaale taim par auraton ko dhyaan nahin diya gaya aur isee tarah sains badhata raha aur kisee bhee prakaar kee jis saahity cheejen hain aur khaasakar vah cheejen jo hamen mehanat karatee hai nahin kiya gaya to vah din door nahin hai is tarah ke kaee guna aur kaee bhayankar vaayaras saamane aaenge tab baat yah nahin hai ki ham in cheejon ko jaane nahin samajhe ne khoon kab kisane roka hai lekin har jagah sains laga dena agar aapako egjaampal ke taur par kahoonga to main staart jaise ki koee bachcha hota janm leta hai usake teeke kee staarting ho jaatee hai deeke lagaana staart kar deta hai to usako bachaane ke lie to vah sahee samajh mein aata hai ham bade ho rahe hain ghar ke baahar saare prodakt kitanee usane kya kaun sa kemikal kya mila hua hai hamen nahin pata aur jitana bhee kemikal nechural onalee aartiphishiyal kam kar usake baad ham bade hue un aartiphishiyal kemikal mein lagaataar tarah-tarah kee cheejen daalee jaatee to hamen kaaphee achchha lagata hamaaree bodee achchhee hotee hai aur nikal jaatee kaar se aa jaatee hai tren havaee jahaaj tarah ke na jaane bahut saaree cheejen dhyaan dene yogy baaten yah hai yahaan par onlee aartiphishiyal kya sach mein insaanon ke lie ya phir sabhee ke lie itanee aartiphishiyal cheejen vah bhee jarooree thee shaayad mere is aansar se ham logon ko bhee aansar mil jaega ki jo log yah sochate hain ham gareeb kyon gareeb agar aap kee aavashyakata limiteshan mein kar deejie limit kar deejie ki jaroorat ho to us cheej mein yooj karen varana usako vaheen par rahane de jahaan kyon cheejen hain to shaayad ham kabhee gareeb hai hee nahin ab hamen yah bhee chaahie vah bhee chaahie yah hai vah hai yah saaree chaahie to gareeb banaate hain to isalie main bas kahana chaahoonga ki sirph insaanon ke lie nahin hai sabhee jeevo ke lie hain aur aapake man ko aapake shauk ko koee nahin rukata hai bat unaka yooj karane kee taim tebal aartiphishiyal kee aartiphishiyal cheejen imarajensee ke lie banaee hai jisakee maar leejie jo hote hain vah to haidrojan paramaanu bam hai anu bam kya denim karate hain unhen kriket phel hai jab bhee inaka taim aaega to yooz kiya jaega varana rakhen saaree cheejen koolar mein aisee hai khaane kee prodakt se aur bhee apanee yooj karane ke unake lie to aap yooj keejie mein daal diya hoon bahut tejee se badal raha hai sabhee log bahut tejee se mila aur nimrt ka jamaana hai pleej samajhane kee koshish karo varana ej nikal jaane ke baad to bade-bade samajh jaate hain ab aap samajhate hain ki nahin samajhate mujhe lekin khushee hai ki main jis phaimilee mein pala badha hoon shuroo se mere naana baaba daada daadee naanee end usake baad meree mammee paapa sistar aur bradar aur mere paapa use raam jee bhaee saahab aur bhaabhee sabhee log the unase mein pala badha aur main is baat ko samajh paaya ki vard mein rileshan ke hote nahin maaloom indiya ke andar phaimilee rileshans hota hai iseelie kya aapas mein jhagade nahin hote hain kabhee-kabhee kahaasunee bhee ho jaatee hai kuchh bhee ho jae ham ek hee kuchh bhee problam hotee hai ek ho jaata hai kuchh bhee phankshan sote ham ek ho jaate hain pleej baat ko samajho aur yah dharatee apane aap hee rilaayans karegee apane aap se jis tarah chaahate vaisa karenge lekin insaanon ke saath saath sabhee jeevo ko isamen mauka do pleej kyonki agar aaj nahin samajhee to kal koee samajhaane nahin aaega aur eeshvar ko poochhate hue aise hee rah jaenge

bolkar speaker
क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी?Kya Dharti Sirf Insanon Ke Rehne Ke Lie Bani Hai Ya Anya Jeevo Ke Lie Bhe
s Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए s जी का जवाब
Unknown
0:04

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है या अन्य जीवो के लिए भी क्या धरती सिर्फ इंसानों के रहने के लिए बनी है
URL copied to clipboard