#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?

Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
2:34
क्या जाड़े की धूप में रेलवे से रंग सावला हो जाता है जाना एक मौसम का ग्रुप है जिसमें बहुत सर्दी होती है टेंपरेचर कम रहता है ठंड लग जाती है और अगर इसमें धूप पड़ जाती है यानी सूर्य होता है और अपनी किसने उसकी किरणें धरती पर फैल जाती है उसमें से उसमें जाकर इंसान जब बढ़ता है या रहता है तो ठंड है उसके लिए इस कारण से शरीर में एक तकलीफ पैदा हुई होती है वह एक तरीके से वह बंद होनी शुरू हो जाती है और यह जो अनुभव है जाड़े में धूप में बैठना एक बहुत आनंद आएगा और कुछ के लिए भी खुशी कारक होता है लेकिन इसकी दुख जो इतनी बड़ी इतनी ज्यादा नहीं होती है जिसने की विषुववृत्तीय उद्देश्यों में सूर्य किरण गिरते पड़ते हैं और वह का तापमान हमेशा ज्यादा रहता है और उसके कारण हमारी तो चल जो है वह खाली है सांवली बनती है इतनी धूप तो इस वक्त में नहीं रहती है तो इसलिए जाड़े की धूप में बैठने से रंग सांवला नहीं हो सकता इतने छोटे से टेंपरेचर से धन्यवाद
Kya jaade kee dhoop mein relave se rang saavala ho jaata hai jaana ek mausam ka grup hai jisamen bahut sardee hotee hai temparechar kam rahata hai thand lag jaatee hai aur agar isamen dhoop pad jaatee hai yaanee soory hota hai aur apanee kisane usakee kiranen dharatee par phail jaatee hai usamen se usamen jaakar insaan jab badhata hai ya rahata hai to thand hai usake lie is kaaran se shareer mein ek takaleeph paida huee hotee hai vah ek tareeke se vah band honee shuroo ho jaatee hai aur yah jo anubhav hai jaade mein dhoop mein baithana ek bahut aanand aaega aur kuchh ke lie bhee khushee kaarak hota hai lekin isakee dukh jo itanee badee itanee jyaada nahin hotee hai jisane kee vishuvavrtteey uddeshyon mein soory kiran girate padate hain aur vah ka taapamaan hamesha jyaada rahata hai aur usake kaaran hamaaree to chal jo hai vah khaalee hai saanvalee banatee hai itanee dhoop to is vakt mein nahin rahatee hai to isalie jaade kee dhoop mein baithane se rang saanvala nahin ho sakata itane chhote se temparechar se dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:25
दोस्तों क्या जाड़े में धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है तो जी हां दोस्तों जाने में बैठने से रंग हमारा हल्का-हल्का सावला हो जाता है जो कि ऊपर किलियर जो होती है वह हल्की हल्की ब्राउन कलर की होने लगती है ज्यादा धूप में नहीं बैठना चाहिए उससे हमारी यूं धीरे से हमारी स्किन पर फर्क पड़ता है तो दोस्तों अगर आपको जवाब पसंद आया हो तो प्लीज लाइक करें
Doston kya jaade mein dhoop mein baithane se rang saanvala ho jaata hai to jee haan doston jaane mein baithane se rang hamaara halka-halka saavala ho jaata hai jo ki oopar kiliyar jo hotee hai vah halkee halkee braun kalar kee hone lagatee hai jyaada dhoop mein nahin baithana chaahie usase hamaaree yoon dheere se hamaaree skin par phark padata hai to doston agar aapako javaab pasand aaya ho to pleej laik karen

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:37
हेलो धूप में बैठने से रंग सांवला नहीं होता सूर्य भगवान की जो धूप है यह बिल्कुल विटामिन डी का भरपूर स्रोत है और विटामिन डी शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है इससे हमारी हड्डियां मजबूत होती हैं हमारी आंखों की शक्ति जो है मतलब यह कि उसमें भी मजबूती आती है रिया का धूप कम हो तो मैं दिखाई दिया कम पड़ता है इसलिए उनकी आंखों की ज्योति को बढ़ाने का भी कार्य करती है पेड़-पौधों को ही जीवन प्रदान करती है पेड़-पौधों में क्लोरोफिल बनता है और वह क्लोरोफिल कमेंट्स रोजा सूरी की रोशनी होती है सूर्य की रोशनी से हमारी फसलें पकती है तो यह बहुत ही ताकतवर चीज असुर जो हमको हमारी प्रकृति ने हम को उपलब्ध कराया जी इसीलिए हम इसको साक्षात देवता के बिल्कुल साक्षात मतलब देव में सूर्य भगवान इसलिए कहा जाता है ज्यादा उपयोग करेंगे तो नुकसान हो सकता है रंग सावला हो जाता है लेकिन इतना सावला भी नहीं था जब रोज मुझे उसने करने लगेंगे तो जैसे किसी चीज में आग में कोई चीज देखते हैं तो झावर पड़ जाती है काली पड़ जाती है उसी तरह इसमें भी हो सकता क्योंकि इसमें भी अग्नि तत्व का वास होता है इसलिए उतना ही मतलब धमक चाहिए जितनी आवश्यकता है कम से कम आधा से 20 से 30 मिनट के बीच धूप में बैठकर के धूप सीख लीजिए ताकि आपको शरीर की पूजा फिर से रिचार्ज हो जाए तो ज्यादा बैठेंगे घूमेंगे मजबूरी में तो कोई बात नहीं है लेकिन ज्यादा देर धूप में टहलना निकलना इससे जो है चेहरे का ग्लो जो है वह कमजोर पड़ जा
Helo dhoop mein baithane se rang saanvala nahin hota soory bhagavaan kee jo dhoop hai yah bilkul vitaamin dee ka bharapoor srot hai aur vitaamin dee shareer ke lie bahut hee jarooree hai isase hamaaree haddiyaan majaboot hotee hain hamaaree aankhon kee shakti jo hai matalab yah ki usamen bhee majabootee aatee hai riya ka dhoop kam ho to main dikhaee diya kam padata hai isalie unakee aankhon kee jyoti ko badhaane ka bhee kaary karatee hai ped-paudhon ko hee jeevan pradaan karatee hai ped-paudhon mein klorophil banata hai aur vah klorophil kaments roja sooree kee roshanee hotee hai soory kee roshanee se hamaaree phasalen pakatee hai to yah bahut hee taakatavar cheej asur jo hamako hamaaree prakrti ne ham ko upalabdh karaaya jee iseelie ham isako saakshaat devata ke bilkul saakshaat matalab dev mein soory bhagavaan isalie kaha jaata hai jyaada upayog karenge to nukasaan ho sakata hai rang saavala ho jaata hai lekin itana saavala bhee nahin tha jab roj mujhe usane karane lagenge to jaise kisee cheej mein aag mein koee cheej dekhate hain to jhaavar pad jaatee hai kaalee pad jaatee hai usee tarah isamen bhee ho sakata kyonki isamen bhee agni tatv ka vaas hota hai isalie utana hee matalab dhamak chaahie jitanee aavashyakata hai kam se kam aadha se 20 se 30 minat ke beech dhoop mein baithakar ke dhoop seekh leejie taaki aapako shareer kee pooja phir se richaarj ho jae to jyaada baithenge ghoomenge majabooree mein to koee baat nahin hai lekin jyaada der dhoop mein tahalana nikalana isase jo hai chehare ka glo jo hai vah kamajor pad ja

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
3:05
मत आना मैं प्रेम प्रकाश मिश्र आप कबूल करे पर हार्दिक स्वागत करता हूं आपका प्रश्न है क्या जाड़े की धूप में बैठने से रंग काला हो जाता है मित्र अक्सर देखा जाता है कि युवा खासकर लड़कियां धूप में निकलने से बचती हैं और निकलती भी हैं तो छाता लेकर या सनस्क्रीन लगाकर धूप से बचने के पीछे उनकी है चिंता होती है इससे उनकी त्वचा काली पड़ जाएगी यहीं पर अगर अधिक या बुजुर्गों की बात करें तो यह लोग अपने अनुभव और उम्र दराज होने की धौंस जमाते हुए अक्सर कहते हैं कि मैंने यह बाल बुक में सफेद नहीं की है और अब सवाल यह उठता है कि धूप हमारे शरीर के दो अलग-अलग हिस्सों पर बिल्कुल उलटा असर क्यों दिखाते हैं तो यही बात हमारी त्वचा पर भी लागू होती है कि हमारे बाल सफेद हो जाते हैं धूप से तो तो खाली क्यों हो रही है विज्ञान के मुताबिक सोचा हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है यह भीतरी अंगों को चोट चपेट और अन्य प्रभावों से बचाती है इसके साथ ही त्वचा में मेलानिन नाम का एक पेमेंट भी होता है जो शरीर को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाता है मेलानी नहीं वह घटक है जो हमारी रंगत निर्धारित करता है यानी हमारे शरीर या त्वचा का रंग मेलानिन के कारण ही काला या सफेद होता है अगर शरीर में इसकी मात्रा ज्यादा होती है तो व्यक्ति सांवले रंग का और कम होने पर गोरे रंग का होता है क्योंकि सूर्य की रोशनी में शामिल अल्ट्रावायलेट जिनको यूवी रेज भी कहते हैं इन खेलों के कारण त्वचा के मिलाने नष्ट होने लगते हैं इसलिए जो लोग धूप में ज्यादा रहते हैं उनके शरीर के बचाव के लिए त्वचा ज्यादा मात्रा में मेलानिन बनाना शुरु कर देती है मेलानिन और अल्ट्रावायलेट किरणों के बीच होने यही क्रिया तंवर या सनटैन कही जाती है यूपी यानी अल्ट्रावॉयलेट रेडिएशन से त्वचा काली होने के साथ-साथ और दूरी और झुर्रियों वाली भी हो जाती है इसके चलते लोग ज्यादा उम्र के नजर आने लगते हैं यही वजह है कि जाड़े की धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है मित्र यह जवाब अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद
Mat aana main prem prakaash mishr aap kabool kare par haardik svaagat karata hoon aapaka prashn hai kya jaade kee dhoop mein baithane se rang kaala ho jaata hai mitr aksar dekha jaata hai ki yuva khaasakar ladakiyaan dhoop mein nikalane se bachatee hain aur nikalatee bhee hain to chhaata lekar ya sanaskreen lagaakar dhoop se bachane ke peechhe unakee hai chinta hotee hai isase unakee tvacha kaalee pad jaegee yaheen par agar adhik ya bujurgon kee baat karen to yah log apane anubhav aur umr daraaj hone kee dhauns jamaate hue aksar kahate hain ki mainne yah baal buk mein saphed nahin kee hai aur ab savaal yah uthata hai ki dhoop hamaare shareer ke do alag-alag hisson par bilkul ulata asar kyon dikhaate hain to yahee baat hamaaree tvacha par bhee laagoo hotee hai ki hamaare baal saphed ho jaate hain dhoop se to to khaalee kyon ho rahee hai vigyaan ke mutaabik socha hamaare shareer ka sabase bada ang hai yah bheetaree angon ko chot chapet aur any prabhaavon se bachaatee hai isake saath hee tvacha mein melaanin naam ka ek pement bhee hota hai jo shareer ko sooraj kee haanikaarak kiranon se bachaata hai melaanee nahin vah ghatak hai jo hamaaree rangat nirdhaarit karata hai yaanee hamaare shareer ya tvacha ka rang melaanin ke kaaran hee kaala ya saphed hota hai agar shareer mein isakee maatra jyaada hotee hai to vyakti saanvale rang ka aur kam hone par gore rang ka hota hai kyonki soory kee roshanee mein shaamil altraavaayalet jinako yoovee rej bhee kahate hain in khelon ke kaaran tvacha ke milaane nasht hone lagate hain isalie jo log dhoop mein jyaada rahate hain unake shareer ke bachaav ke lie tvacha jyaada maatra mein melaanin banaana shuru kar detee hai melaanin aur altraavaayalet kiranon ke beech hone yahee kriya tanvar ya sanatain kahee jaatee hai yoopee yaanee altraavoyalet redieshan se tvacha kaalee hone ke saath-saath aur dooree aur jhurriyon vaalee bhee ho jaatee hai isake chalate log jyaada umr ke najar aane lagate hain yahee vajah hai ki jaade kee dhoop mein baithane se rang saanvala ho jaata hai mitr yah javaab achchha laga ho to krpaya sabsakraib laik sheyar aur kament karake jaroor bataen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:30
फ्रंट चलिए इनका प्रिपरेशन देखते हैं उसके बाद इनका उत्तर देंगे चलिए प्रश्न को देख ले सब ठीक है ना क्या जाड़े की धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है ऐसा बिल्कुल नहीं है जाड़े यानी सर्दियों में जब धूप पढ़ती है तो उस में बैठने से क्या है हमारे शरीर में एनर्जी मिलती है शरीर में गर्मी आती है शरीर को विटामिन मिलती है ऐसा कुछ नहीं है कि हम सामने हो जाए ऐसा बिल्कुल नहीं हाथ गर्मियों में हो सकता आप सामने हो जाएंगे और सर्दियों में नहीं ठीक है
Phrant chalie inaka pripareshan dekhate hain usake baad inaka uttar denge chalie prashn ko dekh le sab theek hai na kya jaade kee dhoop mein baithane se rang saanvala ho jaata hai aisa bilkul nahin hai jaade yaanee sardiyon mein jab dhoop padhatee hai to us mein baithane se kya hai hamaare shareer mein enarjee milatee hai shareer mein garmee aatee hai shareer ko vitaamin milatee hai aisa kuchh nahin hai ki ham saamane ho jae aisa bilkul nahin haath garmiyon mein ho sakata aap saamane ho jaenge aur sardiyon mein nahin theek hai

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:50
क्या जाड़े के धूप में बैठने का रंग सांवला हो जाते हैं दोस्तों यह बात तो सत्य है कि यदि आप धूप में निकलते हैं तो दूर से आपकी जो चमड़ी है इसको ऑफिस आंवला होने का खतरा रहता है परंतु यदि आपके साथ धूप में बैठकर शाम के समय यदि आपके अंदर थोड़ी देर बैठते हैं तो इससे नुकसान नहीं होता है इसके बचाव के लिए सरसों का तेल लगाने का आपका जो रंग रंग सांवला नहीं पड़ेगा
Kya jaade ke dhoop mein baithane ka rang saanvala ho jaate hain doston yah baat to saty hai ki yadi aap dhoop mein nikalate hain to door se aapakee jo chamadee hai isako ophis aanvala hone ka khatara rahata hai parantu yadi aapake saath dhoop mein baithakar shaam ke samay yadi aapake andar thodee der baithate hain to isase nukasaan nahin hota hai isake bachaav ke lie sarason ka tel lagaane ka aapaka jo rang rang saanvala nahin padega

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Dollie kashwani Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dollie जी का जवाब
Energy Alchemist & Wellness Designer
0:53
क्या जाड़े की धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है कि रंग सांवला होने का कारण होता है हमारी स्किन से निकलने वाला मैं लेने और मेलेनिन सब निकलता है जब आपकी स्किन बहुत ज्यादा ऑइली हो लेकिन यह बहुत जाड़े की धूप में बहुत ज्यादा देर अब बैठोगे तो थोड़ी देर के लिए हल्का सा रंग सांवला होगा लेकिन बहुत ज्यादा आपकी स्क्रीन पर नहीं आएगा लेकिन अब कुछ अगर आपकी स्किन थोड़ी सी सेंसिटिव है तू आपको कुछ ध्यान रखना चाहिए कि आप जाड़े की धूप में जो है बैठ रहे हैं तो काले कपड़े ना पहन कर बैठी और जो है हल्की धूप में बैठे हैं थोड़ा सा जो है ऐसी जगह पर बैठे यहां पर जो है एकदम डायरेक्ट आपकी स्क्रीन पर फेसबुक ना पढ़ रही हो तो आपके लिए बेहतर होगा आई होप आपको मैंने आंसर पसंद आया होगा विश यू ऑल द बेस्ट
Kya jaade kee dhoop mein baithane se rang saanvala ho jaata hai ki rang saanvala hone ka kaaran hota hai hamaaree skin se nikalane vaala main lene aur melenin sab nikalata hai jab aapakee skin bahut jyaada oilee ho lekin yah bahut jaade kee dhoop mein bahut jyaada der ab baithoge to thodee der ke lie halka sa rang saanvala hoga lekin bahut jyaada aapakee skreen par nahin aaega lekin ab kuchh agar aapakee skin thodee see sensitiv hai too aapako kuchh dhyaan rakhana chaahie ki aap jaade kee dhoop mein jo hai baith rahe hain to kaale kapade na pahan kar baithee aur jo hai halkee dhoop mein baithe hain thoda sa jo hai aisee jagah par baithe yahaan par jo hai ekadam daayarekt aapakee skreen par phesabuk na padh rahee ho to aapake lie behatar hoga aaee hop aapako mainne aansar pasand aaya hoga vish yoo ol da best

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:55
नमस्कार साथियों सवाल है क्या जाड़े की धूप में बैठने से रंग सावला हो जाता है तो साथियों ऐसी बात नहीं है जो हमेशा धूप में रहते हैं उनको प्रभाव नहीं पड़ता है जो धूप में काम करते हैं उनका रंग वैसे ही रहता है लेकिन हां जैसे हम हमेशा छाए में काम करते हैं इंडस्ट्री में काम करते हैं या फिर कोई ऐसा काम करते हैं कि धूप में नहीं निकलते हैं तो हमें धूप में निकलने से थोड़ा चेहरे पर प्रभाव पड़ता है और वैसे आपका जो रंग है वही रहेगा यह है कि जैसे आप हल्का सा वाले हैं और आप कंपनी में गए कहीं काम करने लगे या अंदर का काम करने लगे मतलब की धूप में नहीं निकलते हो तो आप में थोड़ा चिकनाहट आ जाएगी चेहरे पर और अगर आप धूप में हल्का निकलते हो तो फिर आप में थोड़ा बदलाव आ जाएगा फिर से सांवलापन आने लगेगा तो ऐसा होता है कि जवाब पसंद है होगा धन्यवाद
Namaskaar saathiyon savaal hai kya jaade kee dhoop mein baithane se rang saavala ho jaata hai to saathiyon aisee baat nahin hai jo hamesha dhoop mein rahate hain unako prabhaav nahin padata hai jo dhoop mein kaam karate hain unaka rang vaise hee rahata hai lekin haan jaise ham hamesha chhae mein kaam karate hain indastree mein kaam karate hain ya phir koee aisa kaam karate hain ki dhoop mein nahin nikalate hain to hamen dhoop mein nikalane se thoda chehare par prabhaav padata hai aur vaise aapaka jo rang hai vahee rahega yah hai ki jaise aap halka sa vaale hain aur aap kampanee mein gae kaheen kaam karane lage ya andar ka kaam karane lage matalab kee dhoop mein nahin nikalate ho to aap mein thoda chikanaahat aa jaegee chehare par aur agar aap dhoop mein halka nikalate ho to phir aap mein thoda badalaav aa jaega phir se saanvalaapan aane lagega to aisa hota hai ki javaab pasand hai hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:20
सवाल है क्या जाड़े की धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है पीके विटामिन बी शरीर में हड्डी की मजबूती के लिए अहम है इस विटामिन का जरूरी नेचुरल फ्रूट सूरी ही है शरीर में उचित मात्रा में विटामिन बी मौजूद होने पर ही शरीर कैल्शियम का अवशोषण कर पाता है सूरज की रोशनी में ऐसी चमत्कारी गुण होते हैं जिनके कारण शरीर पर विभिन्न प्रकार के इंफेक्शन के असर की आशंका कम हो जाती है इससे शरीर की इम्युनिटी मजबूत होती है दूध के सेवन से शरीर में डब्ल्यूबीसी का पर्याप्त निर्माण होता है जो रोग पैदा करने वाले कारकों से लड़ने का काम करते हैं सेंटेंस यानी धूप का क्या रंग धूप में ज्यादा बैठने से चलते धूप की वजह से त्वचा का काला रंग पढ़ना की समस्या हो सकती है यहां इस बात को जानना जरूरी है कि धूप के प्रति लोगों की संवेदनशीलता अलग अलग हो सकती है किसी को 20 मिनट धूप में रहने से भी या समस्या हो सकती है वही किसी को 1 घंटे में भी नहीं यह समस्या हो सकती है धन्यवाद
Savaal hai kya jaade kee dhoop mein baithane se rang saanvala ho jaata hai peeke vitaamin bee shareer mein haddee kee majabootee ke lie aham hai is vitaamin ka jarooree nechural phroot sooree hee hai shareer mein uchit maatra mein vitaamin bee maujood hone par hee shareer kailshiyam ka avashoshan kar paata hai sooraj kee roshanee mein aisee chamatkaaree gun hote hain jinake kaaran shareer par vibhinn prakaar ke imphekshan ke asar kee aashanka kam ho jaatee hai isase shareer kee imyunitee majaboot hotee hai doodh ke sevan se shareer mein dablyoobeesee ka paryaapt nirmaan hota hai jo rog paida karane vaale kaarakon se ladane ka kaam karate hain sentens yaanee dhoop ka kya rang dhoop mein jyaada baithane se chalate dhoop kee vajah se tvacha ka kaala rang padhana kee samasya ho sakatee hai yahaan is baat ko jaanana jarooree hai ki dhoop ke prati logon kee sanvedanasheelata alag alag ho sakatee hai kisee ko 20 minat dhoop mein rahane se bhee ya samasya ho sakatee hai vahee kisee ko 1 ghante mein bhee nahin yah samasya ho sakatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:24
ससुराल की जड़ में धूप में बैठने से रंग सांवला जाता है आप बिल्कुल अगर आप ज्यादा देर तक धूप में बैठे रहेंगे तो आपका रंग सांवला हो जाएगा परंतु फिर जैसे ही शादी खत्म होगी आप घर के अंदर धूप में न जाने से आपका धीरे धीरे रंग ऑफिस भाई हो जाएगा धन्यवाद
Sasuraal kee jad mein dhoop mein baithane se rang saanvala jaata hai aap bilkul agar aap jyaada der tak dhoop mein baithe rahenge to aapaka rang saanvala ho jaega parantu phir jaise hee shaadee khatm hogee aap ghar ke andar dhoop mein na jaane se aapaka dheere dheere rang ophis bhaee ho jaega dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:24
क्वेश्चन है कि जाड़े की धूप में बैठने से रंग का ब्लाउज आता है देखिए अगर राजू के साथ धूप में नहीं बैठते हैं तो नहीं होता है और हां फिर थोड़ा बहुत तो देखी अंतर पड़ी जाता है और यह पड़ जाता है मौसम के हिसाब से लेकर नहीं जैसे जैसे मौसम चेंज होता जाता है आपकी बॉडी आपके जो आपका कलर है आपका जो शरीर का कलर है उसे साधना से बदलने लगती है जो पसंद है तो लाइक करें धन्यवाद
Kveshchan hai ki jaade kee dhoop mein baithane se rang ka blauj aata hai dekhie agar raajoo ke saath dhoop mein nahin baithate hain to nahin hota hai aur haan phir thoda bahut to dekhee antar padee jaata hai aur yah pad jaata hai mausam ke hisaab se lekar nahin jaise jaise mausam chenj hota jaata hai aapakee bodee aapake jo aapaka kalar hai aapaka jo shareer ka kalar hai use saadhana se badalane lagatee hai jo pasand hai to laik karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
Manish Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Unknown
1:08
प्रश्न है जाड़े में धूप में बैठने से क्या रंग सांवला हो जाता है ऐसा है कि हमारे शरीर के जो त्वचा है उसमें एक मेलानिन नामक तत्व पाया जाता है जो कि सूर्य की उपस्थिति में यह मिलन इन तत्वों में जो है घनत्व की बढ़ोतरी हो जाती है जिसे हमारा त्वचा का रंग डार्क पड़ जाता है तो ठंडा के दिन में क्या होता है कि जो सूर्य की रोशनी सूर्य का उस्मा का जो स्तर है वह कम होता है इस वजह से जो है मेलानिन कब बनना जो है वह धीरे-धीरे होती है इस वजह से जो है ठंड के दिनों में धूप से इतना हमें जो है कलर में प्रभाव नहीं पड़ता है परंतु गर्मियों के दिन में जब धूप का जो रोशनी धुरूप का जो उसमें होता है वह काफी उच्च तेज होता है इस वजह से जो है हमारा त्वचा का कलर जो है जल्दी डालो खो जाता है आशा करता हूं कि मेरे प्रश्न के दिए गए उत्तर से आप सहमत होंगे धन्यवाद
Prashn hai jaade mein dhoop mein baithane se kya rang saanvala ho jaata hai aisa hai ki hamaare shareer ke jo tvacha hai usamen ek melaanin naamak tatv paaya jaata hai jo ki soory kee upasthiti mein yah milan in tatvon mein jo hai ghanatv kee badhotaree ho jaatee hai jise hamaara tvacha ka rang daark pad jaata hai to thanda ke din mein kya hota hai ki jo soory kee roshanee soory ka usma ka jo star hai vah kam hota hai is vajah se jo hai melaanin kab banana jo hai vah dheere-dheere hotee hai is vajah se jo hai thand ke dinon mein dhoop se itana hamen jo hai kalar mein prabhaav nahin padata hai parantu garmiyon ke din mein jab dhoop ka jo roshanee dhuroop ka jo usamen hota hai vah kaaphee uchch tej hota hai is vajah se jo hai hamaara tvacha ka kalar jo hai jaldee daalo kho jaata hai aasha karata hoon ki mere prashn ke die gae uttar se aap sahamat honge dhanyavaad

bolkar speaker
क्या जाड़े के धूप में बैठने से रंग सांवला हो जाता है?Kya Jade Ke Dhoop Mein Baithne Se Rang Saavla Ho Jaata Hai
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:26

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard