#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?

Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:58
बात करते ब्लाउज की तो मैंने डालना राजस्थान में रहता हूं और राजस्थान में ब्लाउज के बटन आगे की तरफ होते हैं हमारे घर में जो महिलाएं मेरी पत्नी मेरी माता है इस जितने भी ब्लाउज पहनते हैं सब के बटन आगे की तरफ होते हैं लेकिन आजकल चलन हुए पीछे बटन का हमारे यहां पर पीछे बटन के ब्लाउज मैंने बहुत कम लोगों को बहुत कम एस्ट्रो को पहनते देखा है तो इसलिए दोनों तरफ होटल हो सकते हैं और होते हैं और इसे पीछे बटन होना हमें यहां हमारे यहां भी अब चलानी है तो देखा नहीं है कोई अगर आप ग्राहक की बात है तो उसमें बटन में है वह पीछे की तरह होता है जिसमें पहनने में दिक्कत होती है थोड़ी सी हल्दी से धन्यवाद
Baat karate blauj kee to mainne daalana raajasthaan mein rahata hoon aur raajasthaan mein blauj ke batan aage kee taraph hote hain hamaare ghar mein jo mahilaen meree patnee meree maata hai is jitane bhee blauj pahanate hain sab ke batan aage kee taraph hote hain lekin aajakal chalan hue peechhe batan ka hamaare yahaan par peechhe batan ke blauj mainne bahut kam logon ko bahut kam estro ko pahanate dekha hai to isalie donon taraph hotal ho sakate hain aur hote hain aur ise peechhe batan hona hamen yahaan hamaare yahaan bhee ab chalaanee hai to dekha nahin hai koee agar aap graahak kee baat hai to usamen batan mein hai vah peechhe kee tarah hota hai jisamen pahanane mein dikkat hotee hai thodee see haldee se dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:15
देखिए पहले क्या होता था कि ब्लाउज के बटन आगे की तरफ होते थे और पहले लड़कियां हाथों में उतना ब्रा पहनने का प्रचलन नहीं था तो चुकी स्तनों के कुछ दिमाग सारी स्त्रियां होती उनके स्तन उन्होंने बटन के बीच वाली जगह से थोड़ा सा अच्छा लगने लगते थे तो जो हमारे संस्कारों के खिलाफ होता तो तुझे धीरे-धीरे यह परिपाटी आई तो भाई अगर ब्लाउज के बटन ज्वाइन पीछे की तरफ लगा लिए जाएंगे तो उसे किसी भी प्रकार की मतलब यह हमारी जो परंपराएं हैं उनमें कोई बाधा नहीं होगा लोग उस में डूबने से दो लोगों की गंदी नियत हमारी रक्षा स्थलों पर नहीं जा सकती है क्योंकि एक मानवीय दिक्कत होती है कि अगर कहीं से कुछ अलग रहो देता दिखाई पड़ता है तो लोग उसे बड़े गौर से देखने लगते हैं विवेक जाकर विषय होता है इसलिए पीठ के बताना मैं वह ब्लाउज के बटन में सब पीछे की तरफ रखे गए हैं थोड़ा सा एक मानवीय परंपराओं का परिपालन करने के लिए यह पद्धति अपनाई गई है हालांकि अब औरतें ब्रा पहनती है लेकिन पूरा पहनने के बाद दूसरी से रखने से उसमें थोड़ा सा समय में कसाव भी महसूस होता है और ठीक तरीके से ढके भी रहते हैं और खूबसूरत फिल्म
Dekhie pahale kya hota tha ki blauj ke batan aage kee taraph hote the aur pahale ladakiyaan haathon mein utana bra pahanane ka prachalan nahin tha to chukee stanon ke kuchh dimaag saaree striyaan hotee unake stan unhonne batan ke beech vaalee jagah se thoda sa achchha lagane lagate the to jo hamaare sanskaaron ke khilaaph hota to tujhe dheere-dheere yah paripaatee aaee to bhaee agar blauj ke batan jvain peechhe kee taraph laga lie jaenge to use kisee bhee prakaar kee matalab yah hamaaree jo paramparaen hain unamen koee baadha nahin hoga log us mein doobane se do logon kee gandee niyat hamaaree raksha sthalon par nahin ja sakatee hai kyonki ek maanaveey dikkat hotee hai ki agar kaheen se kuchh alag raho deta dikhaee padata hai to log use bade gaur se dekhane lagate hain vivek jaakar vishay hota hai isalie peeth ke bataana main vah blauj ke batan mein sab peechhe kee taraph rakhe gae hain thoda sa ek maanaveey paramparaon ka paripaalan karane ke lie yah paddhati apanaee gaee hai haalaanki ab auraten bra pahanatee hai lekin poora pahanane ke baad doosaree se rakhane se usamen thoda sa samay mein kasaav bhee mahasoos hota hai aur theek tareeke se dhake bhee rahate hain aur khoobasoorat philm

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:56
क्या 11 ब्लाउज के बटन प्लेट की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं दोस्तों वैसे बता दें कि ब्लाउज के जो बटन होते हो आगे पीछे दोनों साइड होते हैं परंतु पीछे वाले जो बटन है वह बैटर बताएं क्योंकि आपने अक्सर से देखा है महिलाओं का जो है स्तनों के ढक्कन का जो काम है वह ब्लाउज करता है और चुके यदि ब्लाउज के बटन आगे और महिलाएं जो उनके प्रेशर होता है यानी कि उनके स्तनों के ऊपर तो आगे की जो बटन को खोल सपना इससे जो महिलाएं व समिति की जो है महसूस कर सकती है और पीछे की तरफ बटन है और पीछे की बटन खुल भी जाते हैं तो उन्हें इतना कुछ फरक नहीं पड़ता समिति को लेकर के यही कारण है कि जो ब्लाउज के बटन है वह आजकल जो चला गया वह पीछे की तरफ आ रहे हैं ना कि आगे की तरफ परंतु अब राजस्थान जैसे चारों यानी कि गांव ग्रामीण क्षेत्र में अंदर चले जाइए मां की अब देख पाएंगे जो बुजुर्ग महिलाएं होते हैं वह ब्लाउज के अंदर आगे की जो बटन है उनका भी इस्तेमाल करती है
Kya 11 blauj ke batan plet kee taraph peechhe kyon hote hain aage kee taraph kyon nahin doston vaise bata den ki blauj ke jo batan hote ho aage peechhe donon said hote hain parantu peechhe vaale jo batan hai vah baitar bataen kyonki aapane aksar se dekha hai mahilaon ka jo hai stanon ke dhakkan ka jo kaam hai vah blauj karata hai aur chuke yadi blauj ke batan aage aur mahilaen jo unake preshar hota hai yaanee ki unake stanon ke oopar to aage kee jo batan ko khol sapana isase jo mahilaen va samiti kee jo hai mahasoos kar sakatee hai aur peechhe kee taraph batan hai aur peechhe kee batan khul bhee jaate hain to unhen itana kuchh pharak nahin padata samiti ko lekar ke yahee kaaran hai ki jo blauj ke batan hai vah aajakal jo chala gaya vah peechhe kee taraph aa rahe hain na ki aage kee taraph parantu ab raajasthaan jaise chaaron yaanee ki gaanv graameen kshetr mein andar chale jaie maan kee ab dekh paenge jo bujurg mahilaen hote hain vah blauj ke andar aage kee jo batan hai unaka bhee istemaal karatee hai

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:03
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ से क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं दोस्त को बताना चाहता हूं हो सकता है कि इस प्रश्न करता नहीं प्रश्न पूछा है उसने इससे परिचित ना हो जी ब्लाउज के बटन ज्यादातर आगे ही होते हैं आप ग्रामीण क्षेत्रों में जाओगे वहां पर जो महिलाएं पहनती है वह आगे के ही ब्लाउजों आजकल के फैशन आ गया फिल्म इंडस्ट्री से लोग देखकर शहरों में खासतौर से कौन चला रहा है तो पीछे के बटन होने फैशन का एक पार्ट है जैसे कि पुरुषों के साथ होते हैं उसमें आजकल नीचे से देखेंगे कि आप अगर सूट पहनते हैं तिकोना बनाना डिजाइन दार बनाए जा रहे हैं ऐसी ब्लाउज में भी आगे भी बटन होते हैं और बहुत सारे ब्लाउज में पीछे भी होते हैं और आजकल आगे भी होते हैं 23 का पाठ है इसके अंदर तो यह बिल्कुल आप स्वस्थ रहें कि यह बटन दोनों तरफ हो आगे भी हो सकते हो पीछे भी हो सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki blauj ke batan peeth kee taraph se kyon hote hain aage kee taraph kyon nahin dost ko bataana chaahata hoon ho sakata hai ki is prashn karata nahin prashn poochha hai usane isase parichit na ho jee blauj ke batan jyaadaatar aage hee hote hain aap graameen kshetron mein jaoge vahaan par jo mahilaen pahanatee hai vah aage ke hee blaujon aajakal ke phaishan aa gaya philm indastree se log dekhakar shaharon mein khaasataur se kaun chala raha hai to peechhe ke batan hone phaishan ka ek paart hai jaise ki purushon ke saath hote hain usamen aajakal neeche se dekhenge ki aap agar soot pahanate hain tikona banaana dijain daar banae ja rahe hain aisee blauj mein bhee aage bhee batan hote hain aur bahut saare blauj mein peechhe bhee hote hain aur aajakal aage bhee hote hain 23 ka paath hai isake andar to yah bilkul aap svasth rahen ki yah batan donon taraph ho aage bhee ho sakate ho peechhe bhee ho sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:36
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc',null,

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
1:06
ब्लाउज के बटन पीठ के पीछे वाले होते थे लेकिन वर्तमान में नहीं होते वर्तमान में होते हैं तो कुछ लोग ही करते हैं अपने पति के प्रेम के लिए कि पति चाहे वैसा स्त्री करती है कि पटना के लगाओ या फिर से लगाओ तो उसी आधार पर ही पुरुष भी बटन पीछे लगाया गया है लेकिन पुरुष के बर्तन शर्ट के आगे अच्छे लगते हैं किसी प्रकार महिलाओं के विवर्तन आगे ही अच्छे लगते हैं बाकी ऐसा कभी नहीं है कि महिला ब्लाउज के पीछे पीछे लगा है अर्थात भूख यह भी पीछे लगा पिक्चर नहीं लगाती है आजकल लगभग आगे ही लगाते हैं बहुत सी लड़कियां अच्छी हो तो एंजॉय फैशन के बढ़ते तौर पर पीछे की तरफ ही रोक लगा दी है ताकि खूबसूरती दिखे और अच्छा फैशन फैशन सा लगे
Blauj ke batan peeth ke peechhe vaale hote the lekin vartamaan mein nahin hote vartamaan mein hote hain to kuchh log hee karate hain apane pati ke prem ke lie ki pati chaahe vaisa stree karatee hai ki patana ke lagao ya phir se lagao to usee aadhaar par hee purush bhee batan peechhe lagaaya gaya hai lekin purush ke bartan shart ke aage achchhe lagate hain kisee prakaar mahilaon ke vivartan aage hee achchhe lagate hain baakee aisa kabhee nahin hai ki mahila blauj ke peechhe peechhe laga hai arthaat bhookh yah bhee peechhe laga pikchar nahin lagaatee hai aajakal lagabhag aage hee lagaate hain bahut see ladakiyaan achchhee ho to enjoy phaishan ke badhate taur par peechhe kee taraph hee rok laga dee hai taaki khoobasooratee dikhe aur achchha phaishan phaishan sa lage

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
2:52
श्री ओके ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं तो आगे की तरफ भी बटन होने वाले ब्लाउज होते हैं अब पीछे की तरफ बटन होने वाले रखने वाले दाने होते हैं लेकिन लेकिन इसका एक साइकोलॉजिकल शिवम के संबंध में मामला लैंगिक मामला वह भी साइकोलॉजी के अंदर आता है ऐसा मतलब मुझे तो दिखाई देता है ब्लाउज के आगे से बटन में से खून निकाल सकती है लेकिन पुरुष के साथ समागम में उसका ब्लाउज वह पुरुष ने निकाला दोषियों को अच्छा लगता है उसमें मजा आता है मजा आता है तो वह चाहती है कि कब लाउंज है जो उसका पति या प्रेमी है या कोई भी पूछे तो वह पीछे से ब्लाउज को के बटन निकालने में मदद करें और इससे वह उत्तेजित हो जाती है उसकी कामवासना उत्तेजित हो जाती है वैसे ही पिक्चर के बटन लगाना या फिर निकलना कई बार जरा ठीक ढंग से नहीं हो पाता श्री ओके लेकिन फिर भी ऐसा क्यों करती है मेरा कर्म तो यही मुझे लगता है धन्यवाद
Shree oke blauj ke batan peeth kee taraph peechhe kyon hote hain aage kee taraph kyon nahin to aage kee taraph bhee batan hone vaale blauj hote hain ab peechhe kee taraph batan hone vaale rakhane vaale daane hote hain lekin lekin isaka ek saikolojikal shivam ke sambandh mein maamala laingik maamala vah bhee saikolojee ke andar aata hai aisa matalab mujhe to dikhaee deta hai blauj ke aage se batan mein se khoon nikaal sakatee hai lekin purush ke saath samaagam mein usaka blauj vah purush ne nikaala doshiyon ko achchha lagata hai usamen maja aata hai maja aata hai to vah chaahatee hai ki kab launj hai jo usaka pati ya premee hai ya koee bhee poochhe to vah peechhe se blauj ko ke batan nikaalane mein madad karen aur isase vah uttejit ho jaatee hai usakee kaamavaasana uttejit ho jaatee hai vaise hee pikchar ke batan lagaana ya phir nikalana kaee baar jara theek dhang se nahin ho paata shree oke lekin phir bhee aisa kyon karatee hai mera karm to yahee mujhe lagata hai dhanyavaad

bolkar speaker
ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं?Blouse Ke Button Peeth Ki Taraf Piche Kyun Hote Hain Age Ki Taraf Kyun Nahi
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:13
नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत ब्लाउज के बटन पेट की तरह के पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर है ब्लाउज के बटन पेट की तरफ पीछे भी होते हैं और आगे भी होते हैं और साइड में भी होते हैं जो कस्टमर की डिमांड होती है उसी के अनुसार बुला उसको के बर्तनों के हिसाब से खरीदते हैं कुछ ब्लाउज आगे वाले बटन होते हैं उनको खरीदते हैं कुछ पीछे बटन आते हैं उनको खरीदते हैं तो सबकी कस्टमर के अलग-अलग डिमांड होती है और जिसकी चॉइस होती है उसी के अनुसार ब्लाउज को खरीदते हैं इसलिए ब्लाउज के बटन के पीठ की तरफ भी होते हैं और आगे की तरफ भी होते हैं क्योंकि हमारे कस्टमर इस वॉइस के अनुसार ही लोग खरीदते हैं इसलिए यह ब्लाउज के बटन आगे पीछे और साइड में होते हैं धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka svaagat blauj ke batan pet kee tarah ke peechhe kyon hote hain aage kee taraph kyon nahin to doston aapake savaal ka uttar hai blauj ke batan pet kee taraph peechhe bhee hote hain aur aage bhee hote hain aur said mein bhee hote hain jo kastamar kee dimaand hotee hai usee ke anusaar bula usako ke bartanon ke hisaab se khareedate hain kuchh blauj aage vaale batan hote hain unako khareedate hain kuchh peechhe batan aate hain unako khareedate hain to sabakee kastamar ke alag-alag dimaand hotee hai aur jisakee chois hotee hai usee ke anusaar blauj ko khareedate hain isalie blauj ke batan ke peeth kee taraph bhee hote hain aur aage kee taraph bhee hote hain kyonki hamaare kastamar is vois ke anusaar hee log khareedate hain isalie yah blauj ke batan aage peechhe aur said mein hote hain dhanyavaad doston khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं आगे की तरफ क्यों नहीं ब्लाउज के बटन पीठ की तरफ पीछे क्यों होते हैं
URL copied to clipboard