#जीवन शैली

bolkar speaker

सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है?

Sardi Har Vyakti Koalag Kyon Mehsus Hoti Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:21
सवाल है कि सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है हर एक व्यक्ति की शारीरिक क्षमता पर निर्भर करती है यह बात कि उसे कितनी सर्दी महसूस हो रही है या नहीं हो रही है जो व्यक्ति शरीर से कमजोर होता है उसकी ज्यादा सर्दी महसूस होती है और जो शारीरिक रूप से मजबूत होता है उसे सर्दी का एहसास कम होता है आपका दिन शुभ रहे थे नहीं भात
Savaal hai ki sardee har vyakti ko alag-alag kyon mahasoos hotee hai har ek vyakti kee shaareerik kshamata par nirbhar karatee hai yah baat ki use kitanee sardee mahasoos ho rahee hai ya nahin ho rahee hai jo vyakti shareer se kamajor hota hai usakee jyaada sardee mahasoos hotee hai aur jo shaareerik roop se majaboot hota hai use sardee ka ehasaas kam hota hai aapaka din shubh rahe the nahin bhaat

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है?Sardi Har Vyakti Koalag Kyon Mehsus Hoti Hai
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:28
देखिए हर एक इंसान का बॉडी का टेंपरेचर भी ना होता है मेरा बॉडी का टेंपरेचर और आपकी बड़ी कितने बजे में डिफरेंस आएगा इसलिए मेरे को कैसे ठंडी का मैच होगा और आपको कैसी ठंड का महसूस होगा यह हमारे बीच में भी डिफरेंट सकता है बॉडी टेंपरेचर ही बजा है जिसके वजह से सर्दी में हरेक लोगों को अलग अलग महसूस होता है अलग अलग फीलिंग होता है और किसी का तबीयत अगर कुछ ज्यादा ही खराब हो या फिर किसी का हर किसी का तबीयत सही नहीं होता है किंतु थी तब से हर किसी को अलग अलग एहसास होता है
Dekhie har ek insaan ka bodee ka temparechar bhee na hota hai mera bodee ka temparechar aur aapakee badee kitane baje mein dipharens aaega isalie mere ko kaise thandee ka maich hoga aur aapako kaisee thand ka mahasoos hoga yah hamaare beech mein bhee dipharent sakata hai bodee temparechar hee baja hai jisake vajah se sardee mein harek logon ko alag alag mahasoos hota hai alag alag pheeling hota hai aur kisee ka tabeeyat agar kuchh jyaada hee kharaab ho ya phir kisee ka har kisee ka tabeeyat sahee nahin hota hai kintu thee tab se har kisee ko alag alag ehasaas hota hai

bolkar speaker
सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है?Sardi Har Vyakti Koalag Kyon Mehsus Hoti Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:17
सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है यह कहा जाता है कि जो व्यक्ति गोरा होता है उसका द सर्दी आप जरूर करने की क्षमता कम होती है जो सांवले रंग का होता है वह सर्दी अब जरूरत नहीं सर्दी और गर्मी आप जरूर करने की क्षमता उसी हिसाब से ज्यादा होती है उसको गर्मी ज्यादा लगती है सर्दी कम लगती है और जो घोड़े पर किसका होता है उसको सर्दी ज्यादा सर्दी भी ज्यादा लगती है और गर्मी कम लगती है और यह मतलब जैसा कि एक अध्ययन में पता चला इसलिए मैं आपको उसमें बता रहा हूं तो सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग लगती है और दूसरा शरीर में जितनी शक्ति होगी यदि अगर आपके अंदर शरीर शक्तिशाली है और ताकतवर चीजें ड्राई फ्रूट वगैरह खाते रहते हैं बादाम है किशमिश मुनक्का है इससे गर्म गर्म चीजें जो खाते रहते हैं और यह कॉड लिवर आयल वगैरह पीते हैं उनको सर्दी कम लगती है क्योंकि शरीर उनका जो है इन वस्तुओं से बराबर तापमान को बराबर बनाए रखता है और बाहर की सर्दी का असर उनके ऊपर नहीं पड़ता है यह भी कारण हो जाता है लेकिन जो मैंने यह बताया कि साथ कि हर व्यक्ति को अलग अलग क्यों लगती है जो लोग इनका इस्तेमाल नहीं करते और ठंडी चीजों का प्रयोग करते हैं और बाहर की भी ठंडी तो उनको ठंडी ज्यादा लगती है इसलिए हर आदमी को व्हाट्सएप के हिसाब से अपने भोजन में परिवर्तन करते रहना चाहिए
Sardee har vyakti ko alag-alag kyon mahasoos hotee hai yah kaha jaata hai ki jo vyakti gora hota hai usaka da sardee aap jaroor karane kee kshamata kam hotee hai jo saanvale rang ka hota hai vah sardee ab jaroorat nahin sardee aur garmee aap jaroor karane kee kshamata usee hisaab se jyaada hotee hai usako garmee jyaada lagatee hai sardee kam lagatee hai aur jo ghode par kisaka hota hai usako sardee jyaada sardee bhee jyaada lagatee hai aur garmee kam lagatee hai aur yah matalab jaisa ki ek adhyayan mein pata chala isalie main aapako usamen bata raha hoon to sardee har vyakti ko alag-alag lagatee hai aur doosara shareer mein jitanee shakti hogee yadi agar aapake andar shareer shaktishaalee hai aur taakatavar cheejen draee phroot vagairah khaate rahate hain baadaam hai kishamish munakka hai isase garm garm cheejen jo khaate rahate hain aur yah kod livar aayal vagairah peete hain unako sardee kam lagatee hai kyonki shareer unaka jo hai in vastuon se baraabar taapamaan ko baraabar banae rakhata hai aur baahar kee sardee ka asar unake oopar nahin padata hai yah bhee kaaran ho jaata hai lekin jo mainne yah bataaya ki saath ki har vyakti ko alag alag kyon lagatee hai jo log inaka istemaal nahin karate aur thandee cheejon ka prayog karate hain aur baahar kee bhee thandee to unako thandee jyaada lagatee hai isalie har aadamee ko vhaatsep ke hisaab se apane bhojan mein parivartan karate rahana chaahie

bolkar speaker
सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है?Sardi Har Vyakti Koalag Kyon Mehsus Hoti Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:54
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc',null,

bolkar speaker
सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है?Sardi Har Vyakti Koalag Kyon Mehsus Hoti Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:24
सऊदी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है तो अगर कोई व्यक्ति मजबूर करता है तो उसको सर्दी का महसूस होती है अगर कोई व्यक्ति कमजोर होता है तो इसको सर्दी ज्यादा महसूस होती है क्योंकि वह कमजोर होती और मेरे साथी चल रही लगेगी
Saoodee har vyakti ko alag-alag kyon mahasoos hotee hai to agar koee vyakti majaboor karata hai to usako sardee ka mahasoos hotee hai agar koee vyakti kamajor hota hai to isako sardee jyaada mahasoos hotee hai kyonki vah kamajor hotee aur mere saathee chal rahee lagegee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सर्दी हर व्यक्ति को अलग-अलग क्यों महसूस होती है
URL copied to clipboard