#धर्म और ज्योतिषी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
2:31
सवाल है चंद्रमा और सूर्य में एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं देखिए चंद्रमा पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह है या सौरमंडल का पांचवा सबसे विशाल प्राकृतिक उपग्रह है इसका आकार क्रिकेट बॉल की तरह गोल है और यह खुद से नहीं चमकता बल्कि या तो सूर्य के प्रकाश से ही प्रकाशित होता है पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी लगभग 384403 किलोमीटर है या दूरी पृथ्वी के व्यास का 30 गुना है चंद्रमा पर गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी से एक बटे 6 है या पृथ्वी की परिक्रमा 27.3 दिन में पूरा करता है और अपने अच्छी के चारों ओर एक पूरा चक्कर भी 27.3 दिन में लगाता है यही कारण है कि चंद्रमा का एक हिस्सा या फिर हमेशा पृथ्वी की ओर होता यदि चंद्रमा पर खड़े होकर पृथ्वी को देखें तो पृथ्वी साथ-साथ अपने अक्ष पर * करती हुई नजर आएगी लेकिन आसपास में उसकी स्थिति स्थिर बनी रहेगी अर्थात पृथ्वी को कई वर्षों तक निहारते रहो वह अपनी जगह से टस से मस नहीं होगी पृथ्वी चंद्रमा सूर्य नीति के कारण चंद्र दशा हर 29.5 दिनों में बदलती है आकार के हिसाब से अपने स्वामी ग्रह के सापेक्ष या सौरमंडल में सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है जिसका व्यास पृथ्वी का एक चौथाई तथा द्रव्यमान 1 बटा 81 है बृहस्पति के उपग्रह के बाद चंद्रमा दूसरा सबसे घनत्व वाला उपग्रह सूर्य के बाद आसमान में सबसे अधिक चमकदार निकाय चंद्रमा समुद्री ज्वार और भाटा चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण शक्ति के कारण आते हैं चंद्रमा की तत्कालिक कच्ची अधूरी पृथ्वी के व्यास का 30 गुना है आसमान में सूर्य और चंद्रमा का आकार हमेशा समान नजर आता है चाहे इस प्रकार कर लीजिए सूर्य पृथ्वी से 400 गुना बड़ा है और चांद पृथ्वी से 400 गुना नजदीक है इसलिए ऐसा होता है धन्यवाद
Savaal hai chandrama aur soory mein ek hee aakaar mein kyon dikhaee dete hain dekhie chandrama prthvee ka ekamaatr praakrtik upagrah hai ya sauramandal ka paanchava sabase vishaal praakrtik upagrah hai isaka aakaar kriket bol kee tarah gol hai aur yah khud se nahin chamakata balki ya to soory ke prakaash se hee prakaashit hota hai prthvee se chandrama kee dooree lagabhag 384403 kilomeetar hai ya dooree prthvee ke vyaas ka 30 guna hai chandrama par gurutvaakarshan prthvee se ek bate 6 hai ya prthvee kee parikrama 27.3 din mein poora karata hai aur apane achchhee ke chaaron or ek poora chakkar bhee 27.3 din mein lagaata hai yahee kaaran hai ki chandrama ka ek hissa ya phir hamesha prthvee kee or hota yadi chandrama par khade hokar prthvee ko dekhen to prthvee saath-saath apane aksh par * karatee huee najar aaegee lekin aasapaas mein usakee sthiti sthir banee rahegee arthaat prthvee ko kaee varshon tak nihaarate raho vah apanee jagah se tas se mas nahin hogee prthvee chandrama soory neeti ke kaaran chandr dasha har 29.5 dinon mein badalatee hai aakaar ke hisaab se apane svaamee grah ke saapeksh ya sauramandal mein sabase bada praakrtik upagrah hai jisaka vyaas prthvee ka ek chauthaee tatha dravyamaan 1 bata 81 hai brhaspati ke upagrah ke baad chandrama doosara sabase ghanatv vaala upagrah soory ke baad aasamaan mein sabase adhik chamakadaar nikaay chandrama samudree jvaar aur bhaata chandrama ke gurutvaakarshan shakti ke kaaran aate hain chandrama kee tatkaalik kachchee adhooree prthvee ke vyaas ka 30 guna hai aasamaan mein soory aur chandrama ka aakaar hamesha samaan najar aata hai chaahe is prakaar kar leejie soory prthvee se 400 guna bada hai aur chaand prthvee se 400 guna najadeek hai isalie aisa hota hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:21

DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:20
देखिए का चंद्र और सूर्य हम से काफी दूर है ठीक है तो सूर्य चंद्र सूर्य के आकार बहुत बड़ा है लेकिन वह काफी दूर है चंद्र क्या कब छोटा है लेकिन वह थोड़ी बात दोनों की कार और दूर था उन दोनों का पालन करते हुए हम देखेंगे तो उनके दोनों की रकात काफी टाइम रहता है धन्य
Dekhie ka chandr aur soory ham se kaaphee door hai theek hai to soory chandr soory ke aakaar bahut bada hai lekin vah kaaphee door hai chandr kya kab chhota hai lekin vah thodee baat donon kee kaar aur door tha un donon ka paalan karate hue ham dekhenge to unake donon kee rakaat kaaphee taim rahata hai dhany

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:00
चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देता है वही ऐसा कहा आपने देख लिया कि दोनों एक ही आधार में दिखाई देते हैं कभी पूर्णिमा का चांद देखना है कितना बड़ा दिखाई देता है हां देख लिया होगा चमकता है जो सूरज निकलता है तो लाल लाल दिखता है आपको ऐसा लगता होगा और चंद्रमा भेजो पूर्णिमा के दिन दिखाई देता है ऐसा लगता है कि देखेंगे आप सूरज जब रुकता है या जब अस्त होता है तो दोनों वास्तव में इस की रोशनी होती है जबकि वह तेजी जो सनराइज में आती है वह चंद्रमा में नहीं आता आप भी और दिखाई दे सकते हैं क्योंकि भाई चंद्रमा जो है ग्रह पृथ्वी का पृथ्वी के चारों ओर चप्पल पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाती है क्योंकि निश्चित तौर पर दोनों की दूरी बहुत चंद्रमा और सूर्य की दूरी और अब सोच लीजिए कि चंद्र सूरज की किरणें एक सेकंड में साढे तीन लाख से ज्यादा किलोमीटर की दर से चलती है और याद रखो कि 7 मिनट 17 सेकंड में वह लोग पहुंचते हैं धरती पर तो ऐसा तो नहीं है कि दोनों एक जैसे ही दिखाई देते हैं सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण में हो सकता है कि आपको लगा होगा कि इस तरह की स्थितियों में भी होता है और उसके अंदर रोशनी का प्रभाव होता है चाहे वह अस्त हो रहा हो जाए उधर रख जबकि चंद्रमा में इस तरह से नहीं चंद्रमा में हमेशा शीतलता होती है और आप देखेंगे तो
Chandrama aur soory hamen ek hee aakaar mein kyon dikhaee deta hai vahee aisa kaha aapane dekh liya ki donon ek hee aadhaar mein dikhaee dete hain kabhee poornima ka chaand dekhana hai kitana bada dikhaee deta hai haan dekh liya hoga chamakata hai jo sooraj nikalata hai to laal laal dikhata hai aapako aisa lagata hoga aur chandrama bhejo poornima ke din dikhaee deta hai aisa lagata hai ki dekhenge aap sooraj jab rukata hai ya jab ast hota hai to donon vaastav mein is kee roshanee hotee hai jabaki vah tejee jo sanaraij mein aatee hai vah chandrama mein nahin aata aap bhee aur dikhaee de sakate hain kyonki bhaee chandrama jo hai grah prthvee ka prthvee ke chaaron or chappal prthvee ke chaaron or chakkar lagaatee hai kyonki nishchit taur par donon kee dooree bahut chandrama aur soory kee dooree aur ab soch leejie ki chandr sooraj kee kiranen ek sekand mein saadhe teen laakh se jyaada kilomeetar kee dar se chalatee hai aur yaad rakho ki 7 minat 17 sekand mein vah log pahunchate hain dharatee par to aisa to nahin hai ki donon ek jaise hee dikhaee dete hain soory grahan aur chandr grahan mein ho sakata hai ki aapako laga hoga ki is tarah kee sthitiyon mein bhee hota hai aur usake andar roshanee ka prabhaav hota hai chaahe vah ast ho raha ho jae udhar rakh jabaki chandrama mein is tarah se nahin chandrama mein hamesha sheetalata hotee hai aur aap dekhenge to

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:25
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका कृष्ण की चंद्रमा और सूर्य में एक मकान में क्यों दिखाई देते हैं तो फ्रेंड चंद्रमा और सूर्य मित्र एक दिखाई देते हैं क्योंकि हमारी पृथ्वी से बहुत ही ज्यादा दूर है और चंद्रमा बहुत ज्यादा बढ़ा है तो दूर और बड़े होने की वजह से भी हमें एक ही आकार में दिखाई देते हैं तो फ्रेंड्स जवाब अच्छे लगे तो लाइक कीजिएगा
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka krshn kee chandrama aur soory mein ek makaan mein kyon dikhaee dete hain to phrend chandrama aur soory mitr ek dikhaee dete hain kyonki hamaaree prthvee se bahut hee jyaada door hai aur chandrama bahut jyaada badha hai to door aur bade hone kee vajah se bhee hamen ek hee aakaar mein dikhaee dete hain to phrends javaab achchhe lage to laik keejiega

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:38
हाल पूछा गया है चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं तो दिखे चंद्रमा सूर्य के एक ही आकार में दिखाई देने का कारण है चंद्रमा और सूर्य की पृथ्वी से दूरी जैसे कि हम सब जानते कि सूर्य की पृथ्वी से दूरी बहुत अधिक है भले ही सूर्य का जो आकार है वह पृथ्वी के अपेक्षा बहुत ज्यादा बढ़ा है लेकिन बुरी भी बहुत अधिक है और उसके कंपैरिजन में चंद्रमा की दूरी जो है पृथ्वी से कम है और संयोगवश ऐसी स्थिति है कि हमको दोनों समाना करके दिखाई देते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरे जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Haal poochha gaya hai chandrama aur soory hamen ek hee aakaar mein kyon dikhaee dete hain to dikhe chandrama soory ke ek hee aakaar mein dikhaee dene ka kaaran hai chandrama aur soory kee prthvee se dooree jaise ki ham sab jaanate ki soory kee prthvee se dooree bahut adhik hai bhale hee soory ka jo aakaar hai vah prthvee ke apeksha bahut jyaada badha hai lekin buree bhee bahut adhik hai aur usake kampairijan mein chandrama kee dooree jo hai prthvee se kam hai aur sanyogavash aisee sthiti hai ki hamako donon samaana karake dikhaee dete hain ummeed karatee hoon aapako mere javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
3:20
चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं एक बहुत अच्छा सवाल है तो आकर का जो मामला है किसी भी चीज का वह हमारे कितने नजदीक है आंखों के उसके ऊपर डिपेंड करता है चंद्र से सूर्य का आकार बहुत बड़ा है कई गुना बड़ा है पूर्व से भी कई गुना बढ़ा है लेकिन उसकी दूरी चंद्र की तुलना में बहुत दूर है और चंद्र बहुत नजदीक है हमारे तो नजदीक होने के कारण बड़ा दिखता है कोई अच्छी चीज जो है समझो एक पेन है यह हमारे आंखों के पापा सीज लगभग चिपकाए और देखे तो यह पेड़ बड़ा दिखाई देता है हर चीज के बारे में ऐसा है और हमें दिखता भी कम है जब किसी वस्तु पर जाकर प्रकाश की किरण पड़ती है रिप्लाई तो होती है हमारी आंखों में गुच्ची है वहां पर प्रतिमा बनाती है प्रतिमा दिमाग के अंदर दिन के अंदर जाती जाती है मतलब उसका एक संदेश जाता है प्रिंस का अर्थ लगता है कि यह क्या है और तब हम समझते हैं कि यह चंद्रमा सूर्य इंसान नहीं है पथरिया इस तरह से तो नजदीकी के कारण चंद्र और दूरी के कारण सूर्य छोटा दिखता है और नजदीकी के कारण चंद्रमा बड़ा दिखता है और एक मिस कॉल योगायोग कहते हैं उस योगायोग सैयां ऐसा ही नेचुरल नेचुरल कि वह हमें एक ही आकर के दिखाई देते अगर मेरा जवाब सही लगे तो कृपया इसे लाइक करें धन्यवाद
Chandrama aur soory hamen ek hee aakaar mein kyon dikhaee dete hain ek bahut achchha savaal hai to aakar ka jo maamala hai kisee bhee cheej ka vah hamaare kitane najadeek hai aankhon ke usake oopar dipend karata hai chandr se soory ka aakaar bahut bada hai kaee guna bada hai poorv se bhee kaee guna badha hai lekin usakee dooree chandr kee tulana mein bahut door hai aur chandr bahut najadeek hai hamaare to najadeek hone ke kaaran bada dikhata hai koee achchhee cheej jo hai samajho ek pen hai yah hamaare aankhon ke paapa seej lagabhag chipakae aur dekhe to yah ped bada dikhaee deta hai har cheej ke baare mein aisa hai aur hamen dikhata bhee kam hai jab kisee vastu par jaakar prakaash kee kiran padatee hai riplaee to hotee hai hamaaree aankhon mein guchchee hai vahaan par pratima banaatee hai pratima dimaag ke andar din ke andar jaatee jaatee hai matalab usaka ek sandesh jaata hai prins ka arth lagata hai ki yah kya hai aur tab ham samajhate hain ki yah chandrama soory insaan nahin hai pathariya is tarah se to najadeekee ke kaaran chandr aur dooree ke kaaran soory chhota dikhata hai aur najadeekee ke kaaran chandrama bada dikhata hai aur ek mis kol yogaayog kahate hain us yogaayog saiyaan aisa hee nechural nechural ki vah hamen ek hee aakar ke dikhaee dete agar mera javaab sahee lage to krpaya ise laik karen dhanyavaad

Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
Unknown
0:13
क्या चंद्रमा और चिड़िया हमें एक ही आसान में क्यों दिखाई देती है चंद्रमा और सूर्य आपको एक ही आकार में दिखाई देती क्योंकि एक ही आकार में है क्या चीज वाला चार्ट
Kya chandrama aur chidiya hamen ek hee aasaan mein kyon dikhaee detee hai chandrama aur soory aapako ek hee aakaar mein dikhaee detee kyonki ek hee aakaar mein hai kya cheej vaala chaart

T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
1:38
आपने प्रश्न पूछा है कि चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं कि आपका प्रश्न बहुत स्वाभाविक है क्योंकि सूर्य का आकार वास्तविकता में बहुत बड़ा है और चंद्रमा का आकार वास्तविकता में सूर्य की अपेक्षा बहुत छोटा है लेकिन बात यह है कि दोनों एक ही आकार इसका मुख्य कारण यह है कि चंद्रमा धरती के नजदीक है और सूर्य आकार में बहुत बड़ा होने के बावजूद भी से उसकी ऊंचाई बहुत ज्यादा है और इस वजह से दोनों का आकाश समान दिखाई देता है आप इससे इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि सूर्य जो है वह पृथ्वी से करीब 400 गुना आकार में पड़ा है लेकिन चंद्रमा जो है वह पृथ्वी से 400 गुना नजदीक है मतलब सूर्य की अपेक्षा 400 गुना ज्यादा नजदीक है इसी वजह से चंद्रमा पृथ्वी के ज्यादा नजदीक होने के कारण हम को उसी रूप में दिखाई देता है जितना कि सूर्य का आकार को दिखाई देता है क्योंकि सूर्य की ऊंचाई है सूर्य की दूरी है धरती से वह बहुत करता है यही इसका विज्ञान के मायने में यही इसका होता है उम्मीद करता हूं कि आप उत्तर से संतुष्ट होंगे धन्यवाद
Aapane prashn poochha hai ki chandrama aur soory hamen ek hee aakaar mein kyon dikhaee dete hain ki aapaka prashn bahut svaabhaavik hai kyonki soory ka aakaar vaastavikata mein bahut bada hai aur chandrama ka aakaar vaastavikata mein soory kee apeksha bahut chhota hai lekin baat yah hai ki donon ek hee aakaar isaka mukhy kaaran yah hai ki chandrama dharatee ke najadeek hai aur soory aakaar mein bahut bada hone ke baavajood bhee se usakee oonchaee bahut jyaada hai aur is vajah se donon ka aakaash samaan dikhaee deta hai aap isase is baat se andaaja laga sakate hain ki soory jo hai vah prthvee se kareeb 400 guna aakaar mein pada hai lekin chandrama jo hai vah prthvee se 400 guna najadeek hai matalab soory kee apeksha 400 guna jyaada najadeek hai isee vajah se chandrama prthvee ke jyaada najadeek hone ke kaaran ham ko usee roop mein dikhaee deta hai jitana ki soory ka aakaar ko dikhaee deta hai kyonki soory kee oonchaee hai soory kee dooree hai dharatee se vah bahut karata hai yahee isaka vigyaan ke maayane mein yahee isaka hota hai ummeed karata hoon ki aap uttar se santusht honge dhanyavaad

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:23
कट वाले के चंद्रमा और सूर्य में क्या कार्य क्यों दिखाई देते हैं दोनों ही पृथ्वी से काफी ज्यादा दूर हैं इतनी दूरी पर अगर आपने किराए से देख रहे हैं नंगी आंखों से देखेंगे तो निश्चित तौर पर आपको एक जैसे ही गोलाकार नजर आएगा लेकिन वास्तविकता यह है कि सूर्य काफी ज्यादा आकार में बड़ा है जबकि चंद्रमा काफी छोटा है आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Kat vaale ke chandrama aur soory mein kya kaary kyon dikhaee dete hain donon hee prthvee se kaaphee jyaada door hain itanee dooree par agar aapane kirae se dekh rahe hain nangee aankhon se dekhenge to nishchit taur par aapako ek jaise hee golaakaar najar aaega lekin vaastavikata yah hai ki soory kaaphee jyaada aakaar mein bada hai jabaki chandrama kaaphee chhota hai aapaka din shubh rahe dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं चंद्रमा और सूर्य आकार
URL copied to clipboard