#undefined

bolkar speaker

अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है?

Adhik Kathor Sharerik Karya Ke Pashchat Maanspeshiyon Mein Thakan Anubhav Hone Ka Karan Hota Hai
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
3:11
नमस्कार मैं ब्रहम प्रकाश मिश्र आपका बोल करें पर हार्दिक स्वागत करता हूं आपका प्रश्न अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है मित्र जब हम कोई अधिक मेहनत का काम या कोई शारीरिक कार्य करते हैं तो उसके बाद जो हमारा शरीर है उसमें थकान महसूस होती है इसमें स्वास्थ्य व्यक्तिगत में वृद्धि हो जाती है और थकान के समय जो शारीरिक परिवर्तन होते हैं वे सभी रासायनिक प्रतिक्रियाओं पर आधारित होते हैं जो की पहली प्रतिक्रिया होती है मांस पेशी में शक्ति उत्पन्न करने वाले तत्वों की कमी शरीर में कार्य संपादन हेतु शक्ति ग्लाइकोजन नामक पदार्थ से प्राप्त होती है यह पदार्थ सरगरा में परिवर्तित होता रहता है अधिक समय तक कार्य करने से मांसपेशियों में विभिन्न प्रकार के विषैले तत्व एकत्रित हो जाते हैं अर्थात कार्य करने की निरंतरता से ग्लाइकोजन नामक तत्व लैक्टिक अम्ल लैक्टिक एसिड में परिवर्तित होने लगता है इससे मांसपेशियां सिकुड़ने लगती हैं और लैक्टिक एसिड को ऑक्सीजन की पूर्ति होने पर मैं पुनः ग्लाइकोजन में परिवर्तित हो जाता है किंतु पाक सीजन के अभाव में यह कार्य बंद हो जाता है ऐसी स्थिति में श्वास की गति में तिब्बत आ जाती है अथवा स्वास्थ्य रुक रुक कर आती है दूसरा कारण होता है मांस पेशी तथा रक्त संचार में अनावश्यक तत्वों का समावेश विभिन्न वैज्ञानिक खोजों से यह सिद्ध हुआ है कि कई ऐसे तत्व हैं जो थकान के लिए उत्तरदाई होते हैं जब यह तत्व मांस पेशियों में एकत्रित होने लगते हैं तो थकान की अनुभूति होती है इन में पोटैशियम फास्फेट तथा कार्बन डाइऑक्साइड आज विषैले तत्व एवं गैस मांसपेशियों में एकत्रित होने लगते हैं तो कार्य करने की शक्ति का ह्रास होने लगता है और अंत में एक स्थिति में कार्य शक्ति शुन्य हो जाती है शरीर में आवश्यक तत्वों की कमी से शारीरिक विकास जाता है और मानसिक संतुलन बिगड़ने लगता है इसके कारण भी हमारी मांसपेशियों में थकान का अनुभव होने लगता है तीसरा कारण होता है थकान में जो अन्य द परिवर्तन होते हैं उनमें इन विषैले तत्वों के अतिरिक्त थकान की अवस्था में कई अन्य शारीरिक क्रियाएं तथा परिवर्तन भी प्रभावित होते रहते हैं इस दौरान रक्त संचार हृदय गति एवं पाचन संस्थान में परिवर्तन होते हैं अंतः स्रावी ग्रंथियां नाड़ी संस्थान आज में परिवर्तन होने लगते हैं और रक्त कोशिकाओं तथा उनकी रासायनिक प्रक्रियाओं में स्पष्ट अंतर दृष्टिगोचर होने लगता है इस तरह हम कह सकते हैं कि थकान के समय संपूर्ण शरीर तथा उसकी प्रत्येक अभिक्रिया प्रभावित होती है शारीरिक और मानसिक थकान एक दूसरे से संबंधित होती है इसीलिए शारीरिक थकान होने पर हमको अपने मानसिक शक्ति का ह्रास भी महसूस होने लगता है और इसी कारण हमको अपनी मांग पर थकान का अनुभव होने लगता है तो मित्र यह जवान अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद
Namaskaar main braham prakaash mishr aapaka bol karen par haardik svaagat karata hoon aapaka prashn adhik kathor shaareerik kaary ke pashchaat maansapeshiyon mein thakaan anubhav hone ka kaaran hota hai mitr jab ham koee adhik mehanat ka kaam ya koee shaareerik kaary karate hain to usake baad jo hamaara shareer hai usamen thakaan mahasoos hotee hai isamen svaasthy vyaktigat mein vrddhi ho jaatee hai aur thakaan ke samay jo shaareerik parivartan hote hain ve sabhee raasaayanik pratikriyaon par aadhaarit hote hain jo kee pahalee pratikriya hotee hai maans peshee mein shakti utpann karane vaale tatvon kee kamee shareer mein kaary sampaadan hetu shakti glaikojan naamak padaarth se praapt hotee hai yah padaarth saragara mein parivartit hota rahata hai adhik samay tak kaary karane se maansapeshiyon mein vibhinn prakaar ke vishaile tatv ekatrit ho jaate hain arthaat kaary karane kee nirantarata se glaikojan naamak tatv laiktik aml laiktik esid mein parivartit hone lagata hai isase maansapeshiyaan sikudane lagatee hain aur laiktik esid ko okseejan kee poorti hone par main punah glaikojan mein parivartit ho jaata hai kintu paak seejan ke abhaav mein yah kaary band ho jaata hai aisee sthiti mein shvaas kee gati mein tibbat aa jaatee hai athava svaasthy ruk ruk kar aatee hai doosara kaaran hota hai maans peshee tatha rakt sanchaar mein anaavashyak tatvon ka samaavesh vibhinn vaigyaanik khojon se yah siddh hua hai ki kaee aise tatv hain jo thakaan ke lie uttaradaee hote hain jab yah tatv maans peshiyon mein ekatrit hone lagate hain to thakaan kee anubhooti hotee hai in mein potaishiyam phaasphet tatha kaarban daioksaid aaj vishaile tatv evan gais maansapeshiyon mein ekatrit hone lagate hain to kaary karane kee shakti ka hraas hone lagata hai aur ant mein ek sthiti mein kaary shakti shuny ho jaatee hai shareer mein aavashyak tatvon kee kamee se shaareerik vikaas jaata hai aur maanasik santulan bigadane lagata hai isake kaaran bhee hamaaree maansapeshiyon mein thakaan ka anubhav hone lagata hai teesara kaaran hota hai thakaan mein jo any da parivartan hote hain unamen in vishaile tatvon ke atirikt thakaan kee avastha mein kaee any shaareerik kriyaen tatha parivartan bhee prabhaavit hote rahate hain is dauraan rakt sanchaar hrday gati evan paachan sansthaan mein parivartan hote hain antah sraavee granthiyaan naadee sansthaan aaj mein parivartan hone lagate hain aur rakt koshikaon tatha unakee raasaayanik prakriyaon mein spasht antar drshtigochar hone lagata hai is tarah ham kah sakate hain ki thakaan ke samay sampoorn shareer tatha usakee pratyek abhikriya prabhaavit hotee hai shaareerik aur maanasik thakaan ek doosare se sambandhit hotee hai iseelie shaareerik thakaan hone par hamako apane maanasik shakti ka hraas bhee mahasoos hone lagata hai aur isee kaaran hamako apanee maang par thakaan ka anubhav hone lagata hai to mitr yah javaan achchha laga ho to krpaya sabsakraib laik sheyar aur kament karake jaroor bataen dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है?Adhik Kathor Sharerik Karya Ke Pashchat Maanspeshiyon Mein Thakan Anubhav Hone Ka Karan Hota Hai
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:35
लिखे जब आप अधिक कार्य करते हैं तो अधिक परिश्रम करते हैं तो मांस एशिया में एक एक वाक्य में कल 50 पैकेट होता है जिसमें से क्या होता है कि आज CO2 गैस उसमें कहीं ना कहीं रह जाता है ठीक है सही मात्रा में हमारे मांसपेशियों को जिनकी करते नहीं पहुंच पाते 2 तारीख को शिकायती वहां पर सूजन की मेटाबॉलिज्म सही प्रकार से हो नहीं बताए और उसके वजह क्या होता है किसी और तू आता रंग रंग रकम लेकर वहां पर रह जाता है किसी बड़ी मांसपेशी में काफी थकान रहते हैं याद रखना बॉडी में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाएगी तभी थकान होना शुरू होता है तो इसलिए मांसपेशियों में जल की मात्रा कम रहता है इसलिए थकान शुरू होता है
Likhe jab aap adhik kaary karate hain to adhik parishram karate hain to maans eshiya mein ek ek vaaky mein kal 50 paiket hota hai jisamen se kya hota hai ki aaj cho2 gais usamen kaheen na kaheen rah jaata hai theek hai sahee maatra mein hamaare maansapeshiyon ko jinakee karate nahin pahunch paate 2 taareekh ko shikaayatee vahaan par soojan kee metaabolijm sahee prakaar se ho nahin batae aur usake vajah kya hota hai kisee aur too aata rang rang rakam lekar vahaan par rah jaata hai kisee badee maansapeshee mein kaaphee thakaan rahate hain yaad rakhana bodee mein okseejan kee maatra kam ho jaegee tabhee thakaan hona shuroo hota hai to isalie maansapeshiyon mein jal kee maatra kam rahata hai isalie thakaan shuroo hota hai

bolkar speaker
अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है?Adhik Kathor Sharerik Karya Ke Pashchat Maanspeshiyon Mein Thakan Anubhav Hone Ka Karan Hota Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न अधिक कठोर शारीरिक कार्य करने के पश्चात मांस पेशियों में थकान अनुभव होने का क्या कारण होता है तो फ्रेंड्स जब हम बहुत ज्यादा काम करते हैं तो हमारी परिणाम तो हमारी मांसपेशियों में दबाव बढ़ता है जिससे उसमें उसमें थकान का अनुभव होता है और हम ज्यादा काम करने से हमारे मांसपेशियों में अधिक जोर पड़ता है इसलिए वे थक जाती हैं तो हमें भी थकान थकान का अनुभव होता है इसलिए आप काम करने के समय थोड़ा रहते जरूर दीजिए जिससे मांसपेशियों में बहुत ज्यादा जोर ना पड़े ज्यादा जोर उसमें पड़ता है तभी हमें थकान का अनुभव होता है तो फ्रेंड सब कुछ और अच्छी लगे तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn adhik kathor shaareerik kaary karane ke pashchaat maans peshiyon mein thakaan anubhav hone ka kya kaaran hota hai to phrends jab ham bahut jyaada kaam karate hain to hamaaree parinaam to hamaaree maansapeshiyon mein dabaav badhata hai jisase usamen usamen thakaan ka anubhav hota hai aur ham jyaada kaam karane se hamaare maansapeshiyon mein adhik jor padata hai isalie ve thak jaatee hain to hamen bhee thakaan thakaan ka anubhav hota hai isalie aap kaam karane ke samay thoda rahate jaroor deejie jisase maansapeshiyon mein bahut jyaada jor na pade jyaada jor usamen padata hai tabhee hamen thakaan ka anubhav hota hai to phrend sab kuchh aur achchhee lage to laik keejiega dhanyavaad

bolkar speaker
अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है?Adhik Kathor Sharerik Karya Ke Pashchat Maanspeshiyon Mein Thakan Anubhav Hone Ka Karan Hota Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:24
सवाल है कि यदि कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण क्या होता है तो राधा अगर आप परिश्रम कर रहे हैं फिर कलेवर ज्यादा कर रहे हैं तो निश्चित और का की मांसपेशियों में खिंचाव होता है जो भी आपकी एनर्जी बॉडी से जा रही है उसको रिस्टोर करने में समय लगता है और यह बहुत बड़ा फैक्टर है कि आपको थकान का अनुभव होता है आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Savaal hai ki yadi kathor shaareerik kaary ke pashchaat maansapeshiyon mein thakaan anubhav hone ka kaaran kya hota hai to raadha agar aap parishram kar rahe hain phir kalevar jyaada kar rahe hain to nishchit aur ka kee maansapeshiyon mein khinchaav hota hai jo bhee aapakee enarjee bodee se ja rahee hai usako ristor karane mein samay lagata hai aur yah bahut bada phaiktar hai ki aapako thakaan ka anubhav hota hai aapaka din shubh rahe dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अधिक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण होता है मांसपेशियों में थकान अनुभव होने का कारण
URL copied to clipboard