#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?

Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
1:48
आजकल के जमाने में दूसरा बच्चा पालन करने के लिए सबसे मुसीबत इसीलिए हैं कि एक तो बात है हमारी तो सारी की सारी जो एक बच्चे को बड़ा करने के लिए उसका जो कॉस्ट रहता है ठीक है वह कहीं ना कहीं हर एक चीज में आए हैं आप खाना खाओ एक छोटा बच्चा गोरा पैदा कर दिए हो तो उसके लिए जो न्यूट्रिशनल 2 फुट से तो दुनिया हर एक बच्चे को खिला रहा है तो हमारे दिमाग में है कि हम भी अपने बच्चों को खिलाएंगे तो आप आज मंडला इलेक्ट्रिक जुलाई दो हजार प्रकार के जो खाना है आप खा रहे हैं खिलाओगे तो उसमें एक बच्चे बचपन से ही मतलब लाखों की खर्चा हो जाता है उसके पीछे फिर उसके बाद उसका स्कूलिंग अभी हम इसमें फ्रिक्शन दिन कुछ दिन पहले सुना था कि छोटे बच्चों का मतलब है उनका उनका जो सालों भर एक के फीस लेता है वह लाखों से भी ऊपर रहते शौक हो गया क्योंकि हम वह जब इलेवंथ में गए कॉलेज के थे तभी एक फिट था उस टाइम पर और तभी पेरेंट्स लोग गुस्से में हाथ देते थे कि 23:12 बजे का एक लाख दो लाख कहां से लाएंगे ट्राई तो लाते थे लेकिन अभी क्लास 125 इससे बच्चों का भी स्थानों पर एक लाख दो लाख की फीस है तो कहीं ना कहीं एक बच्चे को आप अगर पैदा कर रहे हो और आप एक अंश अंश मतलब कंचन सपेरा दिमाग में आपके पास एक विवेक एकता पैरंट है तो आपके बच्चे को आप चाहोगे कि हर प्रकार के जरिए एजुकेशन मिले तो इसलिए दूसरा बच्चा जो कोई ज्यादा पैदा करना नहीं चाहता है हर कोई सोचता है कि मैं एक बच्चा पैदा करो उसके ऊपर पूरी अपनी रिसोर्सेज लगाओ और ओके अच्छा इंसान बनाओ उस एक अच्छा पढ़ाई बगैरा उसका लाइसेंस बनाओ और नहीं कि मैं दूसरा बच्चा को पैदा करो तो यही एक पर्सनल चीजें ही यहां पर हम लोग सुसाइट में देखते हैं जो खर्चा वगैरा नथिंग जो चीजें हैं उनका पैर पीछे जो पढ़ना एक बच्चे को पीछे पूरा टाइम अपनी एक फोटो देना इन सब चीजों को डर के पेरेंट्स लोग दूसरा बच्चा भी नहीं है
Aajakal ke jamaane mein doosara bachcha paalan karane ke lie sabase museebat iseelie hain ki ek to baat hai hamaaree to saaree kee saaree jo ek bachche ko bada karane ke lie usaka jo kost rahata hai theek hai vah kaheen na kaheen har ek cheej mein aae hain aap khaana khao ek chhota bachcha gora paida kar die ho to usake lie jo nyootrishanal 2 phut se to duniya har ek bachche ko khila raha hai to hamaare dimaag mein hai ki ham bhee apane bachchon ko khilaenge to aap aaj mandala ilektrik julaee do hajaar prakaar ke jo khaana hai aap kha rahe hain khilaoge to usamen ek bachche bachapan se hee matalab laakhon kee kharcha ho jaata hai usake peechhe phir usake baad usaka skooling abhee ham isamen phrikshan din kuchh din pahale suna tha ki chhote bachchon ka matalab hai unaka unaka jo saalon bhar ek ke phees leta hai vah laakhon se bhee oopar rahate shauk ho gaya kyonki ham vah jab ilevanth mein gae kolej ke the tabhee ek phit tha us taim par aur tabhee perents log gusse mein haath dete the ki 23:12 baje ka ek laakh do laakh kahaan se laenge traee to laate the lekin abhee klaas 125 isase bachchon ka bhee sthaanon par ek laakh do laakh kee phees hai to kaheen na kaheen ek bachche ko aap agar paida kar rahe ho aur aap ek ansh ansh matalab kanchan sapera dimaag mein aapake paas ek vivek ekata pairant hai to aapake bachche ko aap chaahoge ki har prakaar ke jarie ejukeshan mile to isalie doosara bachcha jo koee jyaada paida karana nahin chaahata hai har koee sochata hai ki main ek bachcha paida karo usake oopar pooree apanee risorsej lagao aur oke achchha insaan banao us ek achchha padhaee bagaira usaka laisens banao aur nahin ki main doosara bachcha ko paida karo to yahee ek parsanal cheejen hee yahaan par ham log susait mein dekhate hain jo kharcha vagaira nathing jo cheejen hain unaka pair peechhe jo padhana ek bachche ko peechhe poora taim apanee ek photo dena in sab cheejon ko dar ke perents log doosara bachcha bhee nahin hai
  • सवाल पूछने के लिए ऐप डाउनलोड करें
  • सवाल पूछने के लिए ऎप डाउनलोड करें
  • Download App

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
Manju Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Manju जी का जवाब
Unknown
2:20
आप ने सवाल पूछा है कि आज कि आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है तो देखिए जैसे जमाना बदल रहा है लोगों की सोच बदल रही है और आजकल की जो अगर माता-पिता की बात करें तो पढ़े लिखे हैं नौकरी पेशा करने वाले हैं तो देखिए बच्चे पालना मुश्किल हो जाता है एक ही बच्चा क्यों ना हो तो नौकरी से उन्हें कभी कभी इस्तीफा देंगे घर पर बैठना पड़ता है खास करके मां को तो ऐसे कई प्रॉब्लम हो जाती है तो जैसे कि करियर को दांव पर लगाना पड़ता है तो 1:00 बजे होती है और दूसरी वजह फैमिली फैमिली परिवार है जॉइन करने नहीं होती है पहले के जमाने में सास ससुर और देवर जेठ जेठानी सोते हैं तो कोई परवरिश में मदद कर मददगार साबित होते थे होने की वजह से अभी छोटी है पर जो है आ जाता है या पिता भी आ जाता है तो देखें इससे भी मुश्किल हो जाता है खास करके दो बच्चों के बीच में अगर आप ज्यादा ना हो तो दोनों बच्चों को संभालना बेहद मुश्किल हो जाता है खास करके मां को मुश्किल हो जाता है क्योंकि कुछ वजह है जो मुझे नजर आ रही है जिसकी वजह से उसकी है और दो बच्चे दो बच्चों को पालना मुश्किल होता जा रहा है और और 1:00 बजे यह भी है कि कॉस्ट ऑफ लिविंग मत लो परवरिश का खर्चा है वह बढ़ गया है पहले के जमाने दो तीन गुना ज्यादा बढ़ गया है पढ़ाई लिखाई क्यों ना कोई जुकेशन के मामले में क्यों ना हो सब इतना कॉस्ट ऑफ कॉस्ट इतना ज्यादा बढ़ गया है कि एक या दो के बारे में ही सोच सकते हैं कल के मां-बाप क्योंकि उससे ज्यादा अगर बच्चे हो तो उसने इनकम भी होनी चाहिए कि कल की मां बाप की सोची है कि एक ही बच्चा क्यों ना हो उसे पढ़ा-लिखा कर कुछ बनाए और जीवन संवारने की सोचते हैं ज्यादा बिजी हो तो एक ही जैसे परवरिश करना मुश्किल हो जाता है एक ही जैसे एजुकेशन पढ़ना लिखना भी मुश्किल हो जाता है तो यह कुछ वजह है जिससे कि आजकल के परिवार जो है कि बच्चा चाहता है दो बच्चे संभालना बेहद मुश्किल लगता है धन्यवाद
Aap ne savaal poochha hai ki aaj ki aajakal ke samay mein logon ko doosara bachcha paalana mushkil kyon lagata hai to dekhie jaise jamaana badal raha hai logon kee soch badal rahee hai aur aajakal kee jo agar maata-pita kee baat karen to padhe likhe hain naukaree pesha karane vaale hain to dekhie bachche paalana mushkil ho jaata hai ek hee bachcha kyon na ho to naukaree se unhen kabhee kabhee isteepha denge ghar par baithana padata hai khaas karake maan ko to aise kaee problam ho jaatee hai to jaise ki kariyar ko daanv par lagaana padata hai to 1:00 baje hotee hai aur doosaree vajah phaimilee phaimilee parivaar hai join karane nahin hotee hai pahale ke jamaane mein saas sasur aur devar jeth jethaanee sote hain to koee paravarish mein madad kar madadagaar saabit hote the hone kee vajah se abhee chhotee hai par jo hai aa jaata hai ya pita bhee aa jaata hai to dekhen isase bhee mushkil ho jaata hai khaas karake do bachchon ke beech mein agar aap jyaada na ho to donon bachchon ko sambhaalana behad mushkil ho jaata hai khaas karake maan ko mushkil ho jaata hai kyonki kuchh vajah hai jo mujhe najar aa rahee hai jisakee vajah se usakee hai aur do bachche do bachchon ko paalana mushkil hota ja raha hai aur aur 1:00 baje yah bhee hai ki kost oph living mat lo paravarish ka kharcha hai vah badh gaya hai pahale ke jamaane do teen guna jyaada badh gaya hai padhaee likhaee kyon na koee jukeshan ke maamale mein kyon na ho sab itana kost oph kost itana jyaada badh gaya hai ki ek ya do ke baare mein hee soch sakate hain kal ke maan-baap kyonki usase jyaada agar bachche ho to usane inakam bhee honee chaahie ki kal kee maan baap kee sochee hai ki ek hee bachcha kyon na ho use padha-likha kar kuchh banae aur jeevan sanvaarane kee sochate hain jyaada bijee ho to ek hee jaise paravarish karana mushkil ho jaata hai ek hee jaise ejukeshan padhana likhana bhee mushkil ho jaata hai to yah kuchh vajah hai jisase ki aajakal ke parivaar jo hai ki bachcha chaahata hai do bachche sambhaalana behad mushkil lagata hai dhanyavaad

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:52
हाय फ्रेंड चली वाले प्रश्नों को देखते हैं उसके बाद से अब तक वह उत्तर देंगे दोस्तों प्रसन्न किसी ने पूछा है कि आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है ऐसा कुछ नहीं भाई दूसरा बच्चा पालना मुश्किल नहीं लगता है दोस्तों बशर्ते आप थिंकिंग है उसको चाहती हो तो बदल लेना चाहिए आप पर पैसा है सब कुछ है फिर आप पालने की हिम्मत रखते तो आप पाल सकते 2 का 3 का 4 5 सब कुछ पा सकते तो आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप की सिचुएशन कैसी है आपकी तबीयत कैसी है क्या पाल सकते हैं या नहीं पाल सकते आप पर निर्भर करता है तो दूसरा क्या लोगों को तीन-तीन बच्चे वह भी आज पाल नहीं दो-दो में आपके बहुत सारे लोग होते हैं और ले कोई दिक्कत नहीं होती पर्व पर अच्छी करनी चाहिए पैसे की प्रॉब्लम आपकी प्रॉब्लम तो आप एक ही अच्छे से उतरी और न तो कर ली थी पर उसे अच्छी तरह इतना नहीं पाल सकते हो तो ठीक
Haay phrend chalee vaale prashnon ko dekhate hain usake baad se ab tak vah uttar denge doston prasann kisee ne poochha hai ki aajakal ke samay mein logon ko doosara bachcha paalana mushkil kyon lagata hai aisa kuchh nahin bhaee doosara bachcha paalana mushkil nahin lagata hai doston basharte aap thinking hai usako chaahatee ho to badal lena chaahie aap par paisa hai sab kuchh hai phir aap paalane kee himmat rakhate to aap paal sakate 2 ka 3 ka 4 5 sab kuchh pa sakate to aapake oopar nirbhar karata hai ki aap kee sichueshan kaisee hai aapakee tabeeyat kaisee hai kya paal sakate hain ya nahin paal sakate aap par nirbhar karata hai to doosara kya logon ko teen-teen bachche vah bhee aaj paal nahin do-do mein aapake bahut saare log hote hain aur le koee dikkat nahin hotee parv par achchhee karanee chaahie paise kee problam aapakee problam to aap ek hee achchhe se utaree aur na to kar lee thee par use achchhee tarah itana nahin paal sakate ho to theek

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
KARTIK MISHRA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KARTIK जी का जवाब
Student
0:23

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:06
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है आजकल के समय मैं लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है तू फ्रेंड से आजकल जिस तरह से महंगाई का जमाना है इसलिए दूसरों में चप्पल ने मुश्किल हो जाती है और बहुत सारी वर्किंग वुमन होती है जो बाहर भी काम करती है तो एक बच्चा तो जैसे तैसे संभल नहीं पाता है तो दूसरा कैसे संभाल पाएंगे और आजकल पढ़ाई भी इतनी ज्यादा महंगी हो गई है खान-पान कपड़े चारों तरफ महंगाई है तो वह सारे लोग बस एक ही बच्चा पल पाते हैं उसी का खर्चा उठा पाते हैं इसलिए उन्हें दूसरे बच्चे पालने में मुश्किल होती है और उनका खर्च उठा पाना भी उनके लिए मुश्किल होता है इसलिए उन्हें दूसरा बच्चा पालने में मुश्किल होती है और अपनी अपनी आर्थिक स्थिति के ऊपर भी निर्भर करता है कई लोग तो बच्चे पालने में समर्थ होते हैं वे केवल एक बच्चा ईपाल पाते हैं इसीलिए दूसरे बच्चे को पालना मुश्किल हो जाता है 1 बच्चे मेरे पालन पोषण सही से कर लेते हैं दूसरे में नहीं कर पाते इसलिए दूसरा पिक्चर पाना मुश्किल होता है तो दोस्तों जवाब पसंद आए तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai aajakal ke samay main logon ko doosara bachcha paalana mushkil kyon lagata hai too phrend se aajakal jis tarah se mahangaee ka jamaana hai isalie doosaron mein chappal ne mushkil ho jaatee hai aur bahut saaree varking vuman hotee hai jo baahar bhee kaam karatee hai to ek bachcha to jaise taise sambhal nahin paata hai to doosara kaise sambhaal paenge aur aajakal padhaee bhee itanee jyaada mahangee ho gaee hai khaan-paan kapade chaaron taraph mahangaee hai to vah saare log bas ek hee bachcha pal paate hain usee ka kharcha utha paate hain isalie unhen doosare bachche paalane mein mushkil hotee hai aur unaka kharch utha paana bhee unake lie mushkil hota hai isalie unhen doosara bachcha paalane mein mushkil hotee hai aur apanee apanee aarthik sthiti ke oopar bhee nirbhar karata hai kaee log to bachche paalane mein samarth hote hain ve keval ek bachcha eepaal paate hain iseelie doosare bachche ko paalana mushkil ho jaata hai 1 bachche mere paalan poshan sahee se kar lete hain doosare mein nahin kar paate isalie doosara pikchar paana mushkil hota hai to doston javaab pasand aae to laik keejiega dhanyavaad

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:21
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है तो दोस्तों बहुत सारे जो आजकल महिलाएं हैं वह अपने कैरियर के प्रति काफी जागरूक हैं और वह भी अपने पति के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहती हैं और जब बात आती है दूसरे बच्चे की तो उसे ऐसा लगता है कि मेरे कैरियर में कहीं बाहर आओ ना जाए मेरे को छुट्टी लेनी पड़ेगी कहीं मेरी नौकरी ना चली जाए फिर उसके मन में ऐसा भी लगता है कि कहीं मेरा शरीर तो खराब नहीं हो जाएगा ठीक है खराब नहीं हो जाएगी कई जगह में दिखाएं पति चाहते हैं लेकिन पत्नी नहीं चाहती है तो फिर पति जिद नहीं करता है और एक मैंने जैसे पहले ही बताया था कि आंसुओं में जैसे कि एक बच्चा तो असली चाहता है हो तुम चाहत होती है कि पत्नी को भी उसका लगता है कि मैं और महिलाओं से अलग नहीं हूं मैं भी माता बनने लायक हूं और भारत में पुरुष चाहता है कि पुरुष अब तो सो कर देता है कि हम ही मैं भी बच्चा पैदा करने लायक हूं तो इसलिए 1 बच्चे तक आते हैं फिर वह सोचते हैं कि दूसरा बच्चे को हम एक बच्चे को पाल पोस ले इसको सही से स्टडी कराने की सोच गलत होती हम तो इतना पैसा होता है कि एक बच्चा भी खर्च नहीं कर पाएगा इसके कई दूसरा बच्चा ना होने के काफी बुरे नतीजे भी होते हैं बहुत सारे बच्चे हैं जो अकेले रहते हैं उसे अकेलापन महसूस होता है खेलने के लिए आजकल तो पड़ोसी के बच्चे भी उपलब्ध नहीं होते हैं क्योंकि उसका भी एक बच्चा होता है फोकस रहता कहां जा रहे हैं पहले हमारे घरवाले पूछते भी नहीं थे कब आए कब नहीं तो फोन भी नहीं था लेकिन आजकल एक तरह से मां-बाप का पूरी निगरानी रहती है तो बच्चे को अकेलापन महसूस होता है घर में भी बाहर भी फिर अकेला ही रहने लग जाता है बाद में बढ़ाओ मां-बाप से भी अकेले रहना अच्छा लगने लगा वीडियो चला दो बच्चे कम से कम होना जरूरी है 2 बच्चे पैदा करने की याद बहुत ज्यादा वही बच्चे पैदा एक ही कर रहे हैं या कहीं और से तो हो ही नहीं रहे हैं आजकल भागा दौड़ी में इसलिए आयुर्वेद सेंटर खोल रहे जा रहे हैं और मीडियम फैमिली के आप देखेंगे नॉर्मल फैमिली के गरीब व्यक्ति को दो या तीन बच्चे पढ़ते हैं तो मैंने पहले ही बातें सबसे बड़ा कारण है
Namaskaar doston prashn hai ki aajakal ke samay mein logon ko doosara bachcha paalana mushkil kyon lagata hai to doston bahut saare jo aajakal mahilaen hain vah apane kairiyar ke prati kaaphee jaagarook hain aur vah bhee apane pati ke saath kandhe se kandha milaakar chalana chaahatee hain aur jab baat aatee hai doosare bachche kee to use aisa lagata hai ki mere kairiyar mein kaheen baahar aao na jae mere ko chhuttee lenee padegee kaheen meree naukaree na chalee jae phir usake man mein aisa bhee lagata hai ki kaheen mera shareer to kharaab nahin ho jaega theek hai kharaab nahin ho jaegee kaee jagah mein dikhaen pati chaahate hain lekin patnee nahin chaahatee hai to phir pati jid nahin karata hai aur ek mainne jaise pahale hee bataaya tha ki aansuon mein jaise ki ek bachcha to asalee chaahata hai ho tum chaahat hotee hai ki patnee ko bhee usaka lagata hai ki main aur mahilaon se alag nahin hoon main bhee maata banane laayak hoon aur bhaarat mein purush chaahata hai ki purush ab to so kar deta hai ki ham hee main bhee bachcha paida karane laayak hoon to isalie 1 bachche tak aate hain phir vah sochate hain ki doosara bachche ko ham ek bachche ko paal pos le isako sahee se stadee karaane kee soch galat hotee ham to itana paisa hota hai ki ek bachcha bhee kharch nahin kar paega isake kaee doosara bachcha na hone ke kaaphee bure nateeje bhee hote hain bahut saare bachche hain jo akele rahate hain use akelaapan mahasoos hota hai khelane ke lie aajakal to padosee ke bachche bhee upalabdh nahin hote hain kyonki usaka bhee ek bachcha hota hai phokas rahata kahaan ja rahe hain pahale hamaare gharavaale poochhate bhee nahin the kab aae kab nahin to phon bhee nahin tha lekin aajakal ek tarah se maan-baap ka pooree nigaraanee rahatee hai to bachche ko akelaapan mahasoos hota hai ghar mein bhee baahar bhee phir akela hee rahane lag jaata hai baad mein badhao maan-baap se bhee akele rahana achchha lagane laga veediyo chala do bachche kam se kam hona jarooree hai 2 bachche paida karane kee yaad bahut jyaada vahee bachche paida ek hee kar rahe hain ya kaheen aur se to ho hee nahin rahe hain aajakal bhaaga daudee mein isalie aayurved sentar khol rahe ja rahe hain aur meediyam phaimilee ke aap dekhenge normal phaimilee ke gareeb vyakti ko do ya teen bachche padhate hain to mainne pahale hee baaten sabase bada kaaran hai

bolkar speaker
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा पालना मुश्किल क्यों लगता है?Aajkal Ke Samay Mein Logo Ko Dusra Bacha Paalna Mushkil Kyun Lagta Hai
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
Unknown
0:21
आजकल के समय में लोगों को दूसरा बच्चा प्रणाम उस क्यों क्यों लगता है इसका मुख्य कारण यह है कि आजकल के जमाने में जो है जो खर्चे हो रहे हैं वह काफी बढ़ रहे हैं और साथ ही साथ में जैन लोगों को कहीं ना कहीं अपनी भागदौड़ वाली जिंदगी में जो इतना टाइम भी नहीं मिल रहा है रिजल्ट
Aajakal ke samay mein logon ko doosara bachcha pranaam us kyon kyon lagata hai isaka mukhy kaaran yah hai ki aajakal ke jamaane mein jo hai jo kharche ho rahe hain vah kaaphee badh rahe hain aur saath hee saath mein jain logon ko kaheen na kaheen apanee bhaagadaud vaalee jindagee mein jo itana taim bhee nahin mil raha hai rijalt

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard