#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?

Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
भारत बनेगा स्वर्ग नमामि गंगे Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए भारत जी का जवाब
रेस्टोरेंट में मुनीम के पद पर कार्यरत
1:21
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या वे भविष्य में विज्ञान भूकंप भूकंप भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा भूकंप के अंदर करने के लिए वैज्ञानिकों ने जाए बिल्डिंग बड़ी बड़ी मूर्ति बनाई है उसमें भूकंप पर नियंत्रण के अंतर होता है उसे लगाते हैं और जब भूकंप आता है तो उसमें जो लगी भी सपोर्ट मकान को गिरने नहीं देती है गर्दन गिरेगा नहीं तो यह तो अभी से हो गया सीमा नहीं है और आगे वैज्ञानिकों और कुछ ज्यादा करेंगे जिसके द्वारा मकान की छत मकान क्षतिग्रस्त को नुकसान पहुंचे तो ऐसा वैज्ञानिक कर पाएंगे उसमें कोई बड़ी बात नहीं है उसमें सुरक्षित रहेगा इंसान को कम पर नियंत्रण रखें और बड़ी बड़ी बिल्डिंग होती है पर लगा भी होता है भूकंप आने पर हो यंत्र एक मकान की सुरक्षा कवच बनकर रहता है तो अब इसमें विज्ञान तो भूकंप आने से करने से सक्षम हो पाएगा यह बिल्कुल सही बात है
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya ve bhavishy mein vigyaan bhookamp bhookamp bhookamp par niyantran karane se saksham ho paega bhookamp ke andar karane ke lie vaigyaanikon ne jae bilding badee badee moorti banaee hai usamen bhookamp par niyantran ke antar hota hai use lagaate hain aur jab bhookamp aata hai to usamen jo lagee bhee saport makaan ko girane nahin detee hai gardan girega nahin to yah to abhee se ho gaya seema nahin hai aur aage vaigyaanikon aur kuchh jyaada karenge jisake dvaara makaan kee chhat makaan kshatigrast ko nukasaan pahunche to aisa vaigyaanik kar paenge usamen koee badee baat nahin hai usamen surakshit rahega insaan ko kam par niyantran rakhen aur badee badee bilding hotee hai par laga bhee hota hai bhookamp aane par ho yantr ek makaan kee suraksha kavach banakar rahata hai to ab isamen vigyaan to bhookamp aane se karane se saksham ho paega yah bilkul sahee baat hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
1:18
विश्व में सक्षम हो पाएगा तो हम सोचते थे कि एक घर बैठे बैठे दूसरे देश में दूसरे कॉन्टिनेंट तक कोई बात हो सकता है घर बैठे तो सब कुछ सोचती एक आईडिया था एक सपना था आज होने वाली ऐसी भूमिका किसने की है उसके साथ कुछ खामियां भी उस डेवलपमेंट मिलकर क्या तुझे फोन की बात करें तो कौन से आप देखने काफी लोग डिप्रैस हो रहे हैं इतनी सारी जानकारियां लेते हैं उस चांद का एक दूसरे लोग भी फ्रेश हो रहे हैं और इस प्रकार की सोशल मीडिया आया उसके कई सारे फायदे हुए लेकिन उस आदमी की इतनी आसानी से लोग धन का भरता कोई भी चीज हो हुकम पर नियंत्रण है क्या टाइम मशीन है कुछ भी हो उसके अपने फायदे होते हैं और मुसलमान होते हैं जरूरी बात नहीं है हम डेवलपर को ध्यान में कैसे कंट्रोल करें
Vishv mein saksham ho paega to ham sochate the ki ek ghar baithe baithe doosare desh mein doosare kontinent tak koee baat ho sakata hai ghar baithe to sab kuchh sochatee ek aaeediya tha ek sapana tha aaj hone vaalee aisee bhoomika kisane kee hai usake saath kuchh khaamiyaan bhee us devalapament milakar kya tujhe phon kee baat karen to kaun se aap dekhane kaaphee log diprais ho rahe hain itanee saaree jaanakaariyaan lete hain us chaand ka ek doosare log bhee phresh ho rahe hain aur is prakaar kee soshal meediya aaya usake kaee saare phaayade hue lekin us aadamee kee itanee aasaanee se log dhan ka bharata koee bhee cheej ho hukam par niyantran hai kya taim masheen hai kuchh bhee ho usake apane phaayade hote hain aur musalamaan hote hain jarooree baat nahin hai ham devalapar ko dhyaan mein kaise kantrol karen

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:35
चिड़ियाघर फिर शाम को देखती है उसके बाद ही समझते हैं उत्तर देने के लिए अच्छे उपाय ऐसा करना तो मुमकिन है नामुमकिन है बट आगे विज्ञान बहुत तरक्की कर रहा था क्या से क्या हो सकता है कोई चारा भी नहीं है असंभव भी तो क्या से क्या हो जाएगी पता नहीं किसी की तो मेरा कहना है भूकंप अन्यत्र करना है तो बहुत बड़ी बात है ऐसा तू अनजान नहीं कर सकते और टेक्नोलॉजी बताई पाएंगे बहुत कुछ आगे हो जाएगा बहुत कुछ बदल जाएगा फिर तो ठीक है
Chidiyaaghar phir shaam ko dekhatee hai usake baad hee samajhate hain uttar dene ke lie achchhe upaay aisa karana to mumakin hai naamumakin hai bat aage vigyaan bahut tarakkee kar raha tha kya se kya ho sakata hai koee chaara bhee nahin hai asambhav bhee to kya se kya ho jaegee pata nahin kisee kee to mera kahana hai bhookamp anyatr karana hai to bahut badee baat hai aisa too anajaan nahin kar sakate aur teknolojee bataee paenge bahut kuchh aage ho jaega bahut kuchh badal jaega phir to theek hai

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
3:49
क्वेश्चन किया कि क्या आप भविष्य में विज्ञान बुक नाम पर नियंत्रण करने में सक्षम हो पाएगा देखिए यह जो आपदाएं हैं वह मतलब प्राकृतिक के पास है मतलब यह कोई इंसान कितना में डेवलप कर लेता है लेकिन यह नहीं समझ पाता है कि वह भूकंप आ रहा है वोल्केनो फटने वाला है या फिर मतलब उससे पता लगा रहा है लेकिन अभी रिसेंटली खोज हुआ था कि क्या हुआ कि जैसे कि आपको पता है कि समुंद्र समुंद्र के अंदर जो बहुत सारे पाइप लगे हुए हैं बहुत सारे के बस लगे मैं तो फेसबुक के सीईओ थे उनका यह कहना था कि फेसबुक सॉरी गूगल के तो उन्होंने उन्होंने बोला कि जैसे कि वह जो सारे केबल्स लगे हैं जैसे कि आपको पता होगा कि जो भूकंप आता है तो उसमें प्राइमरी वेब होती है और सेकेंडरी वेब होती है तो प्राइमरी और सेकंड ग्रेड का जो ट्रबल करने बैटरी का कोई कोई समुद्र में टेबल कर दिया है कोई जमीन पर ट्रबल करती है कोई ज्यादा डिस्ट्रॉय करती है तो यह सब हमें खोज कर लिया और साइंटिस्ट ने खोज कर लिया है तो क्या करते हैं कि उसके हिसाब से हमें क्या करते हैं जिसमें लॉजिक उसके हिसाब से मैं पता करते हैं कि भूकंप कितना होता है रिक्टर स्केल से मापते हैं कि कितना भूकंप आया है कितना नहीं कितना मतलब ज्यादा रहता तो फिर ज्यादा नुकसान करता है तो इससे यह पता लगाया जा सकता मैं भी भविष्य में अगर इतना कुछ कुछ हो गया है तो जरूर हां मतलब हमें यह कुछ शक एंड हो मतलब अगर कुछ मतलब सा कैन डू नहीं मतलब मिनट पर भी पता चल जाए तो मैं भी जितना द स्ट्रांग होने वाला है उससे थोड़ा कम कर सकते हैं और पहले हमें यह तो हम आईडेंटिफाई कर चुके हैं जो ग्राफी में कि कौन-कौन से जो हिमालय हिमालय एरिया के साइड में है वह भूकंप मतलब वहां पर भूकंप आने की संभावनाएं ज्यादा हैं जहां पर बर्फ पड़ती है वह भूकंप आने की संभावना है ज्यादा फिर डिसाइड कर चुके हैं यहां पर यहां पर ज्यादा भूकंप आज तो उस हिसाब से इसके लिए गए हैं कि वहां पर भूकंप विरोधी मतलब बिल्डिंग बनाई जाए ऐसे ज्यादा ऊंची बिल्डिंग से ना बनाया जाए तो यह सब लेकिन बहुत कम और जैसे कि आपने क्वेश्चन पूछा कि हम सक्षम हो पाएंगे तुम टेक्नोलोजी जो इतने मतलब तेरे से डेवलप हो रही है तो मेरे को लगता है कि वह कुछ भी कर सकती है मैं अभी वह सर्च कर ले या पहले कुछ निकाले कि जैसे कि जैसे कि रिसेंटली खोज होने वाला था इस पर शायद स्टडी चल रही है कि जैसे कि जैसे वे ट्रैवल करती हैं जमीन के थ्रू जा फिर से समुद्र के सूत्र समुद्र में जब वो ट्रबल करेंगे तो जितने भी पाइप्स लगे हुए हैं जितने भी केबल्स लगी तो उसमें कुछ ऐसा टेक्निक लगाए जिससे कि वह बता दे हां यह फेक जा रही है तो बता दे तुम्हें भी पता सब पता चल सकता है कि उसमें हां वह एक्टिव है कि ब्रांड है कि मतलब क्या एक्टिव वोल्केनो घर मतलब ज्यादा एक्टिव तो पहले ही हुआ अगर उस साइड में लोग रहते हैं तो उसे पहले हटा दिया जाता है कि हां बल्कि लेकिन ऐसा भूकंप में कुछ नहीं क्योंकि जो पता की प्लेट से हमारी जो है वह प्लेट्स अगर जब तक रहती है तो फिर भूकंप आने लगता है और बहुत कुछ रीजन है तो हमें भी टेक्नोलॉजी अगर आगे कुछ ज्यादा ड ब्लॉक करें तो खोज खोज सकती है नथिंग इंपॉसिबल अंडरवर्ल्ड पर जितना टेक्नोलॉजी आगे जा रहा है तो वह मेरे को लगता है कि लाइफ में वह कल सर थैंक यू
Kveshchan kiya ki kya aap bhavishy mein vigyaan buk naam par niyantran karane mein saksham ho paega dekhie yah jo aapadaen hain vah matalab praakrtik ke paas hai matalab yah koee insaan kitana mein devalap kar leta hai lekin yah nahin samajh paata hai ki vah bhookamp aa raha hai volkeno phatane vaala hai ya phir matalab usase pata laga raha hai lekin abhee risentalee khoj hua tha ki kya hua ki jaise ki aapako pata hai ki samundr samundr ke andar jo bahut saare paip lage hue hain bahut saare ke bas lage main to phesabuk ke seeeeo the unaka yah kahana tha ki phesabuk soree googal ke to unhonne unhonne bola ki jaise ki vah jo saare kebals lage hain jaise ki aapako pata hoga ki jo bhookamp aata hai to usamen praimaree veb hotee hai aur sekendaree veb hotee hai to praimaree aur sekand gred ka jo trabal karane baitaree ka koee koee samudr mein tebal kar diya hai koee jameen par trabal karatee hai koee jyaada distroy karatee hai to yah sab hamen khoj kar liya aur saintist ne khoj kar liya hai to kya karate hain ki usake hisaab se hamen kya karate hain jisamen lojik usake hisaab se main pata karate hain ki bhookamp kitana hota hai riktar skel se maapate hain ki kitana bhookamp aaya hai kitana nahin kitana matalab jyaada rahata to phir jyaada nukasaan karata hai to isase yah pata lagaaya ja sakata main bhee bhavishy mein agar itana kuchh kuchh ho gaya hai to jaroor haan matalab hamen yah kuchh shak end ho matalab agar kuchh matalab sa kain doo nahin matalab minat par bhee pata chal jae to main bhee jitana da straang hone vaala hai usase thoda kam kar sakate hain aur pahale hamen yah to ham aaeedentiphaee kar chuke hain jo graaphee mein ki kaun-kaun se jo himaalay himaalay eriya ke said mein hai vah bhookamp matalab vahaan par bhookamp aane kee sambhaavanaen jyaada hain jahaan par barph padatee hai vah bhookamp aane kee sambhaavana hai jyaada phir disaid kar chuke hain yahaan par yahaan par jyaada bhookamp aaj to us hisaab se isake lie gae hain ki vahaan par bhookamp virodhee matalab bilding banaee jae aise jyaada oonchee bilding se na banaaya jae to yah sab lekin bahut kam aur jaise ki aapane kveshchan poochha ki ham saksham ho paenge tum teknolojee jo itane matalab tere se devalap ho rahee hai to mere ko lagata hai ki vah kuchh bhee kar sakatee hai main abhee vah sarch kar le ya pahale kuchh nikaale ki jaise ki jaise ki risentalee khoj hone vaala tha is par shaayad stadee chal rahee hai ki jaise ki jaise ve traival karatee hain jameen ke throo ja phir se samudr ke sootr samudr mein jab vo trabal karenge to jitane bhee paips lage hue hain jitane bhee kebals lagee to usamen kuchh aisa teknik lagae jisase ki vah bata de haan yah phek ja rahee hai to bata de tumhen bhee pata sab pata chal sakata hai ki usamen haan vah ektiv hai ki braand hai ki matalab kya ektiv volkeno ghar matalab jyaada ektiv to pahale hee hua agar us said mein log rahate hain to use pahale hata diya jaata hai ki haan balki lekin aisa bhookamp mein kuchh nahin kyonki jo pata kee plet se hamaaree jo hai vah plets agar jab tak rahatee hai to phir bhookamp aane lagata hai aur bahut kuchh reejan hai to hamen bhee teknolojee agar aage kuchh jyaada da blok karen to khoj khoj sakatee hai nathing imposibal andaravarld par jitana teknolojee aage ja raha hai to vah mere ko lagata hai ki laiph mein vah kal sar thaink yoo

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:39
क्या जो चश्मा ग्राफिक है यह फोटो दूसरी चीजें हैं जो फौजी व लॉजिस्ट है इसके ऊपर काफी रिसर्च की है कि जो भूकंप पर वह कहीं ना कहीं काफी भूकंप और बताएं क्यों नहीं सब चीजें उनको पर कंट्रोल आज तक विज्ञान की है न होने पाए लेकिन हम अनुमान लगा रहे हैं हम विज्ञान के साइंटिफिकली बहुत रेफरेंसेस और बहुत रिसर्च किया जा रहा है इसी वजह से काफी भूकंप को हम पूर्वानुमान कर चुके हैं जैसे कि दिल्ली और नॉर्थ इंडिया के रियाज है वहां पर भूखा होने की कॉपी पेंसिल से तो इसीलिए विज्ञान की डेवलपमेंट ज्यादा होने होते-होते हमको यह बात भी एहसास लग जाएगा कि आगे भूकंप के बारे में हम पूर्व अनुमान लगा सकते हैं धन्यवाद
Kya jo chashma graaphik hai yah photo doosaree cheejen hain jo phaujee va lojist hai isake oopar kaaphee risarch kee hai ki jo bhookamp par vah kaheen na kaheen kaaphee bhookamp aur bataen kyon nahin sab cheejen unako par kantrol aaj tak vigyaan kee hai na hone pae lekin ham anumaan laga rahe hain ham vigyaan ke saintiphikalee bahut repharenses aur bahut risarch kiya ja raha hai isee vajah se kaaphee bhookamp ko ham poorvaanumaan kar chuke hain jaise ki dillee aur north indiya ke riyaaj hai vahaan par bhookha hone kee kopee pensil se to iseelie vigyaan kee devalapament jyaada hone hote-hote hamako yah baat bhee ehasaas lag jaega ki aage bhookamp ke baare mein ham poorv anumaan laga sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
MBA Govt job in PSU/Assistant Manager (HR)
0:11
क्या है क्या भविष्य में विज्ञान भी कम पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा मेरा यह मानना है कि भविष्य में क्या होगा यह किसी को नहीं पता मेरे ख्याल से सवाल पूछा था
Kya hai kya bhavishy mein vigyaan bhee kam par niyantran karane se saksham ho paega mera yah maanana hai ki bhavishy mein kya hoga yah kisee ko nahin pata mere khyaal se savaal poochha tha

bolkar speaker
क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा?Kya Bhavishya Mein Vigyan Bukamp Par Niyantran Karne Se Saksham Ho Paega
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:25
बस वाले की क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने में सक्षम हो पाएंगे तो मेरे ख्याल से नहीं हो पाएंगे क्योंकि वह एक प्राकृतिक आपदा है जो कभी भी कहीं भी किसी भी जगह पर बैठ सकती हैं तो मेरे ख्याल से आने वाले समय में विज्ञान इतना अभी सक्षम नहीं हुआ है कि वह कब को नियंत्रण कर पाए धन्यवाद
Bas vaale kee kya bhavishy mein vigyaan bhookamp par niyantran karane mein saksham ho paenge to mere khyaal se nahin ho paenge kyonki vah ek praakrtik aapada hai jo kabhee bhee kaheen bhee kisee bhee jagah par baith sakatee hain to mere khyaal se aane vaale samay mein vigyaan itana abhee saksham nahin hua hai ki vah kab ko niyantran kar pae dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या भविष्य में विज्ञान भूकंप पर नियंत्रण करने से सक्षम हो पाएगा भूकंप पर नियंत्रण
URL copied to clipboard