#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?

Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
0:44
लिखिए प्रश्न है गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं देखिए गोरे रंग के भेदभाव गोरे काले रंग के भेदभाव अंग्रेजों के जमाने में जल्दी आ रहे हैं लोगों का ज्यादा अट्रैक्शन घोड़े की तरफ जाते हैं क्योंकि उनको लगता है जो लोग जो गोरे होते हैं वह बहुत सुंदर होते हैं ताकि उनके फेस के कटेंगे ना हो वह चलेगा क्योंकि वह गोरा है तो आजकल जो भी है शादी करने के लिए देखने के लिए आते हैं वह हमेशा गोरे रंग को ही ढूंढते हैं कि लड़की गोरा हो सुंदर हो तो इसलिए आज के जमाने में लोग गोरे को ज्यादा पसंद करते हैं और उनके तरफ ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं
Likhie prashn hai gore rang se log itana pyaar kyon karate hain dekhie gore rang ke bhedabhaav gore kaale rang ke bhedabhaav angrejon ke jamaane mein jaldee aa rahe hain logon ka jyaada atraikshan ghode kee taraph jaate hain kyonki unako lagata hai jo log jo gore hote hain vah bahut sundar hote hain taaki unake phes ke katenge na ho vah chalega kyonki vah gora hai to aajakal jo bhee hai shaadee karane ke lie dekhane ke lie aate hain vah hamesha gore rang ko hee dhoondhate hain ki ladakee gora ho sundar ho to isalie aaj ke jamaane mein log gore ko jyaada pasand karate hain aur unake taraph jyaada atraikt hote hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:58
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं दोस्तों आजकल जो भी है गोरे रंग के ऊपर निर्भर करता है कोई भी लड़का हो या लड़की हो वह गोरे ही एक पार्टनर की तलाश करते हैं भाई गोरा रंग गोरा रंग और उसके बदले प्यार करते हैं
Gore rang se log itana pyaar kyon karate hain doston aajakal jo bhee hai gore rang ke oopar nirbhar karata hai koee bhee ladaka ho ya ladakee ho vah gore hee ek paartanar kee talaash karate hain bhaee gora rang gora rang aur usake badale pyaar karate hain

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
2:59
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं यह एक नैसर्गिक रूप से होता है नैसर्गिक रूप से जो हमारी आंखें होती है और हमारा जो मन होता है आखिर आंखें जो होती है वह प्रतिमा है मन को ब्रेन को भेजती है ब्रेन उसका अर्थ लगाता है और अगर सुंदर चीजें मन को अच्छी लगती है और उसे वह आनंदित होता है और लसित होता है तो निश्चित रूप से नैसर्गिक रूप से मनुष्य में मनुष्य को सुंदर चीजों की चाहत है अच्छी लगती है आनंदित करती है सुख की संवेदना निर्माण करती है तो रंग के बारे में भी गोरा और काला भेज दो दो ही दंगा मनुष्य में पाए जाते हैं नीला हरा रंग तो इंसान में नहीं पाया जाता तो कलरिंग जो है वह वैसे तो हर एक की सोच पर आधारित है लेकिन प्रथम प्रथम दर्शनी तो गोरा रंग और खास करके जो अपना लिंग होता है जैसे पुरुष को स्त्री का तरीका पुरुष को पुरुष को पुरुष का काले रंग की तुलना में गोरा रंग अच्छा लगता है उसी पूछ के बारे में कहा जाए तो वह उसको जो मैं चोर है उन को सेक्स के लिए भी उत्तेजित करने वाला रंग होता है काला धन भी होता है लेकिन पर अब तुलना में गोरा रंग ज्यादा होता है तो एक नेचुरल चीज है इस पर हमें लक्ष्य देना चाहिए यह बात समझ लेनी चाहिए धन्यवाद
Gore rang se log itana pyaar kyon karate hain yah ek naisargik roop se hota hai naisargik roop se jo hamaaree aankhen hotee hai aur hamaara jo man hota hai aakhir aankhen jo hotee hai vah pratima hai man ko bren ko bhejatee hai bren usaka arth lagaata hai aur agar sundar cheejen man ko achchhee lagatee hai aur use vah aanandit hota hai aur lasit hota hai to nishchit roop se naisargik roop se manushy mein manushy ko sundar cheejon kee chaahat hai achchhee lagatee hai aanandit karatee hai sukh kee sanvedana nirmaan karatee hai to rang ke baare mein bhee gora aur kaala bhej do do hee danga manushy mein pae jaate hain neela hara rang to insaan mein nahin paaya jaata to kalaring jo hai vah vaise to har ek kee soch par aadhaarit hai lekin pratham pratham darshanee to gora rang aur khaas karake jo apana ling hota hai jaise purush ko stree ka tareeka purush ko purush ko purush ka kaale rang kee tulana mein gora rang achchha lagata hai usee poochh ke baare mein kaha jae to vah usako jo main chor hai un ko seks ke lie bhee uttejit karane vaala rang hota hai kaala dhan bhee hota hai lekin par ab tulana mein gora rang jyaada hota hai to ek nechural cheej hai is par hamen lakshy dena chaahie yah baat samajh lenee chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Nikhil Arora Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Unknown
2:22
अरे रंग पे ना इतना गुमान कर गोरा रंग 2 दिन में उड़ जाएगा जी हां गोरा रंग काला रंग गोरा है यह समस्या भारत की नहीं पूरे विश्व की है ऐसा क्या सबको पता होगा कि अभी अमेरिका में भी कुछ महीनों पहले जॉर्ज परी के नाम पर ब्लैकमेल स्वेटर का आंदोलन बहुत बड़ा खड़ा हुआ कि एक अश्वेत व्यक्ति या निकाली व्यक्ति उत्पन्न जो पुलिस वाले ने अत्याचार किया उस पर पूरे देश की जनता खड़ी हो गई अमेरिका की तो यह तो अमेरिका होता है भारत को क्या चाहिए और कोई भी देश को गोरे रंग के प्रति आकर्षण रहा है इसके मनोवैज्ञानिक कारण हो सकते हैं कि हमें कोई चीज पसंद क्यों आती है तो देखने में सुंदर हो वैसे तो कोई चीज सुंदर हो सुंदर है या ना है उसके ऊपर लिखा तो नहीं होता लेकिन एक इंसान को जो चीज पहले पहली नजर में पसंद आती है हो सकता है कि उसे गोरा रंग पसंद आता हूं इंसान की एक नेचुरल भीड़ होगी हां मुझे गोरा देखना है तो इसका एक ही कारण हो सकता है कि गोरा रंग सबको पसंद होता है ऐसा जरूरी नहीं है कि सबको पसंद हो लेकिन हां यह एक मनोवैज्ञानिक कारण है कि लोग गोरा रंग पसंद करते हैं इसके बारे में आपको एक बात बता दूं मैं की गोरा रंग काला रंग कैसे डिसाइड होता है तो हमारे खून में एक हार्मोन होता है मैं लेट होने मैं रिटर्न इन हार्मोन ही डिसाइड करता है कि आपका रंग गोरा हो गया काला होगा यदि आप ग्रुप में बैठते हैं तो मैं लूटन इन हार्मोन एक्टिव हो जाता है और वह आपके शरीर को बचाता है धूप की अल्ट्रावायलेट किरणों से दुआ कर शरीर को शरीर के रंग को काला कर देता है जो गोरेगांव लोग होते हैं उनके अंदर मैरिटाइम इनकम पाया जाता है तो उनकी जो स्किन है वह गोरी दिखती है और कालू केंद्र इसका वाईस वर्सा यानी उनकी नजारा होता है तो उनकी स्किन काली दिखती है हमें इन सब चीजों से ऊपर उठने की जरूरत है यदि समाज को आगे बढ़ाना है चाहे कोई गोरा हो जाए पतला हो जाए मोटा हो चाइना का हो उसके व्यक्तित्व को देखना चाहिए उसके शरीर को नहीं यही किसी सफल समाज की मूलभूत अवधारणा है
Are rang pe na itana gumaan kar gora rang 2 din mein ud jaega jee haan gora rang kaala rang gora hai yah samasya bhaarat kee nahin poore vishv kee hai aisa kya sabako pata hoga ki abhee amerika mein bhee kuchh maheenon pahale jorj paree ke naam par blaikamel svetar ka aandolan bahut bada khada hua ki ek ashvet vyakti ya nikaalee vyakti utpann jo pulis vaale ne atyaachaar kiya us par poore desh kee janata khadee ho gaee amerika kee to yah to amerika hota hai bhaarat ko kya chaahie aur koee bhee desh ko gore rang ke prati aakarshan raha hai isake manovaigyaanik kaaran ho sakate hain ki hamen koee cheej pasand kyon aatee hai to dekhane mein sundar ho vaise to koee cheej sundar ho sundar hai ya na hai usake oopar likha to nahin hota lekin ek insaan ko jo cheej pahale pahalee najar mein pasand aatee hai ho sakata hai ki use gora rang pasand aata hoon insaan kee ek nechural bheed hogee haan mujhe gora dekhana hai to isaka ek hee kaaran ho sakata hai ki gora rang sabako pasand hota hai aisa jarooree nahin hai ki sabako pasand ho lekin haan yah ek manovaigyaanik kaaran hai ki log gora rang pasand karate hain isake baare mein aapako ek baat bata doon main kee gora rang kaala rang kaise disaid hota hai to hamaare khoon mein ek haarmon hota hai main let hone main ritarn in haarmon hee disaid karata hai ki aapaka rang gora ho gaya kaala hoga yadi aap grup mein baithate hain to main lootan in haarmon ektiv ho jaata hai aur vah aapake shareer ko bachaata hai dhoop kee altraavaayalet kiranon se dua kar shareer ko shareer ke rang ko kaala kar deta hai jo goregaanv log hote hain unake andar mairitaim inakam paaya jaata hai to unakee jo skin hai vah goree dikhatee hai aur kaaloo kendr isaka vaees varsa yaanee unakee najaara hota hai to unakee skin kaalee dikhatee hai hamen in sab cheejon se oopar uthane kee jaroorat hai yadi samaaj ko aage badhaana hai chaahe koee gora ho jae patala ho jae mota ho chaina ka ho usake vyaktitv ko dekhana chaahie usake shareer ko nahin yahee kisee saphal samaaj kee moolabhoot avadhaarana hai

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:58
आपका प्रश्न है कि गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं क्या होता है ना कि आज कल जो मॉडर्न लाइफ हो गई है इसमें लोग अपने आपको बहुत ज्यादा मन हो तो जो तू दे रहे जो दिखने वाले पर आपके सामने जो प्रत्यक्ष रूप से दिख रहा है उस पर लोग को ज्यादा विश्वास कर रहे हैं और उसी को तवज्जो दे रहे हैं उसी को अपना प्यार समझ रहे हैं कि हकीकत में उचित होता नहीं है क्योंकि जब सामने रूप से दिखाई देता है उसके अंदर भी एक चेहरा होता है जो उसको पाने के लिए आपको अपने बहुत सोच समझकर आपके आप आप उसकी जब गहराइयों में जाएंगे तभी आपको किसी चीज की क्वालिटी पता होती है आप किसी को गोरा काला मतभेद करके उसे अगर प्यार करेंगे तो मतलब आप प्यार नहीं है आप का दिखावा है अट्रैक्शन पर जा रहे हैं ना कि उनके अंदर की जो गहराइयां है जो अच्छाइयां है जो विश्वास है जो सच्चाई है उस पर नहीं जाते हैं तो लोग अक्सर देखा जा रहा है कि इस मॉडर्न युग में लड़कियां लड़कियां ही नहीं साथ लड़के भी ऐसे गोरी लड़कियां या गोरी लड़की को ज्यादा तो बजा दे रहे हैं ज्यादा उसे देने की कोशिश करते हैं उन्हें अट्रैक्शन ज्यादा फील होता है लेकिन ऐसा हकीकत में होता नहीं कुछ क्षणों का प्यार होता है ना कि यह जिंदगी भर का प्यार होता है जिंदगी भर का प्यार वह होता है जो मन विश्वास दिल और दिमाग दोनों मिलकर साथ दे दे पगली प्यार एक पूरी जिंदगी तक चलता है लेकिन आजकल का जो प्यार है वह लोगों में ऐसा ऐसा ट्रेड बन गया है कि मुझे अच्छा सुंदर दिख रहा है अट्रैक्शन दिख रहा है बहुत उसके कटिंग अच्छे हैं उसकी लुकिंग अच्छी है मैं तो इतना अजीब तरीके से फीलिंग हो रही है लोगों में और यही कारण है कि यह जो प्यार है वह ज्यादा दिन तक टिकते नहीं है क्योंकि जब उनकी थोड़ी सी कमजोरियां थोड़ी सी उनके शरीर में गिरावट आती है तो उन्हें उनका ही प्यार उन्हें क्या करता है उससे नफरत करने लगता है तरह-तरह की चीजें उसने लगते हैं लेकिन हकीकत यही है कि हमें प्यार जो करना रंग रूप चेहरा देखकर नहीं करना चाहिए हमें भी हमारे मन और विश्वास उसे देखना चाहिए किसी जब हम प्यार करते हैं उससे पहले परखना चाहिए कि हां उसके अंदर मेरी मेरे लिए क्वालिटी है कि नहीं कभी मिलती है कि नहीं मुझे कितना चाहेगा आगे उसकी क्या थिंकिंग रहेगी जब हम एग्जिट हो जाएंगे तो क्या मुझे प्यार कर पाएगा कि नहीं कर पाएगी कि नहीं हर चीज सोचना चाहिए क्योंकि प्यार इतना आसान नहीं होता है प्यार करना प्यार तो लोग करते हैं लेकिन निभा नहीं पाते हैं तो निभाने के लिए आपको अंदर के मन से जो आपका दूसरा चेहरा में कहा जाता है कि हर एक इंसान कर दो चेहरा होते के सामने रूप से होता है एक अंदर रूप से होता है जो अंदर अंदर वाले से अब अगर जिस दिन प्यार कर लिया वह प्यार आपको हमेशा तक ले जाएगा और मरते दम तक आपके साथ रहेगा वही प्यार कहा जाता है क्योंकि मन और दिल और दिमाग से सभी तरीकों से आपको परिपूर्ण होता है जो कभी टूटता नहीं है
Aapaka prashn hai ki gore rang se log itana pyaar kyon karate hain kya hota hai na ki aaj kal jo modarn laiph ho gaee hai isamen log apane aapako bahut jyaada man ho to jo too de rahe jo dikhane vaale par aapake saamane jo pratyaksh roop se dikh raha hai us par log ko jyaada vishvaas kar rahe hain aur usee ko tavajjo de rahe hain usee ko apana pyaar samajh rahe hain ki hakeekat mein uchit hota nahin hai kyonki jab saamane roop se dikhaee deta hai usake andar bhee ek chehara hota hai jo usako paane ke lie aapako apane bahut soch samajhakar aapake aap aap usakee jab gaharaiyon mein jaenge tabhee aapako kisee cheej kee kvaalitee pata hotee hai aap kisee ko gora kaala matabhed karake use agar pyaar karenge to matalab aap pyaar nahin hai aap ka dikhaava hai atraikshan par ja rahe hain na ki unake andar kee jo gaharaiyaan hai jo achchhaiyaan hai jo vishvaas hai jo sachchaee hai us par nahin jaate hain to log aksar dekha ja raha hai ki is modarn yug mein ladakiyaan ladakiyaan hee nahin saath ladake bhee aise goree ladakiyaan ya goree ladakee ko jyaada to baja de rahe hain jyaada use dene kee koshish karate hain unhen atraikshan jyaada pheel hota hai lekin aisa hakeekat mein hota nahin kuchh kshanon ka pyaar hota hai na ki yah jindagee bhar ka pyaar hota hai jindagee bhar ka pyaar vah hota hai jo man vishvaas dil aur dimaag donon milakar saath de de pagalee pyaar ek pooree jindagee tak chalata hai lekin aajakal ka jo pyaar hai vah logon mein aisa aisa tred ban gaya hai ki mujhe achchha sundar dikh raha hai atraikshan dikh raha hai bahut usake kating achchhe hain usakee luking achchhee hai main to itana ajeeb tareeke se pheeling ho rahee hai logon mein aur yahee kaaran hai ki yah jo pyaar hai vah jyaada din tak tikate nahin hai kyonki jab unakee thodee see kamajoriyaan thodee see unake shareer mein giraavat aatee hai to unhen unaka hee pyaar unhen kya karata hai usase napharat karane lagata hai tarah-tarah kee cheejen usane lagate hain lekin hakeekat yahee hai ki hamen pyaar jo karana rang roop chehara dekhakar nahin karana chaahie hamen bhee hamaare man aur vishvaas use dekhana chaahie kisee jab ham pyaar karate hain usase pahale parakhana chaahie ki haan usake andar meree mere lie kvaalitee hai ki nahin kabhee milatee hai ki nahin mujhe kitana chaahega aage usakee kya thinking rahegee jab ham egjit ho jaenge to kya mujhe pyaar kar paega ki nahin kar paegee ki nahin har cheej sochana chaahie kyonki pyaar itana aasaan nahin hota hai pyaar karana pyaar to log karate hain lekin nibha nahin paate hain to nibhaane ke lie aapako andar ke man se jo aapaka doosara chehara mein kaha jaata hai ki har ek insaan kar do chehara hote ke saamane roop se hota hai ek andar roop se hota hai jo andar andar vaale se ab agar jis din pyaar kar liya vah pyaar aapako hamesha tak le jaega aur marate dam tak aapake saath rahega vahee pyaar kaha jaata hai kyonki man aur dil aur dimaag se sabhee tareekon se aapako paripoorn hota hai jo kabhee tootata nahin hai

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:51
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न पूरे ढंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं तो फ्रेंड्स हमारी शुरू से यही मानसिकता बनी हुई है कि जो गोरे होते हुए अच्छे दिखते हैं पर कि ऐसा ऐसा नहीं है बल्कि जो सांवले लोग होते हैं वह भी सुंदर होते हैं अच्छे होते हैं लेकिन हम लोगों ने मन में एक गलत धारणा बना ली है कि बुरे लोग अच्छे होते हैं सनी हैं जब भी कोई लड़की लड़का देखने जाता है तेरे गोरे रंग के लिए परेशान रहता है कि लड़की गोरे रंग की हो लड़का गोरा हो ऐसी मानसिकता बन गई है बल्कि मानसिकता गलत है ऐसे नहीं होना चाहिए सब लोग बहुत अच्छे होते हैं दिल के बहुत अच्छे होते हैं और जब भी किसी के बच्चा पैदा होता है तो वह इसमें परेशान रहते हैं कि गोरा हुआ है कि नहीं बस यह सब देखते रहते हैं इसलिए मानसिकता ही खराब है ऐसा नहीं होना चाहिए धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn poore dhang se log itana pyaar kyon karate hain to phrends hamaaree shuroo se yahee maanasikata banee huee hai ki jo gore hote hue achchhe dikhate hain par ki aisa aisa nahin hai balki jo saanvale log hote hain vah bhee sundar hote hain achchhe hote hain lekin ham logon ne man mein ek galat dhaarana bana lee hai ki bure log achchhe hote hain sanee hain jab bhee koee ladakee ladaka dekhane jaata hai tere gore rang ke lie pareshaan rahata hai ki ladakee gore rang kee ho ladaka gora ho aisee maanasikata ban gaee hai balki maanasikata galat hai aise nahin hona chaahie sab log bahut achchhe hote hain dil ke bahut achchhe hote hain aur jab bhee kisee ke bachcha paida hota hai to vah isamen pareshaan rahate hain ki gora hua hai ki nahin bas yah sab dekhate rahate hain isalie maanasikata hee kharaab hai aisa nahin hona chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
1:01
नमस्कार सोता हूं अगर भारत की बात करें तो भारत में शुरुआत से ऐसा नहीं था कि गोरे रंग से लोग इतना प्यार करते थे क्योंकि जैसे हमारे भगवान है काली मां है या कृष्ण जी की बात करें तो वह भी साहब लेते तो ऐसा नहीं था कि लोगों को पूरे ढंग से कुछ ज्यादा ही प्यार था लेकिन जब से मैं कहूंगा हम अंग्रेज लोग आए थे तो अंग्रेज लोगों ने जब शासन शुरू किया तो लोग मानते थे कि क्योंकि वह गोरे हैं इसी कारण उनके हाथ में शासन है और जो गोरे लोग थे अन्य अंग्रेज थे उनका भी यही मानना था कि जो वाइट कलर के लोग हैं वह ज्यादा होशियार होते हैं ज्यादा बलशाली होते हैं जैसे वह अपने आप पर भी करते थे जो लाइक स्लेव होते थे उनको कमजोर मानते थे क्योंकि उनका रंग काला था तो यह वह गोरे लोगों की सोच थी जो उन्होंने इंडिया में भी अप्लाई और उनके जाने के बाद उनकी कई सारी बातें इंडिया में ही रह गई उनमें से एक ही एक ही गोरे रंग वाली बात
Namaskaar sota hoon agar bhaarat kee baat karen to bhaarat mein shuruaat se aisa nahin tha ki gore rang se log itana pyaar karate the kyonki jaise hamaare bhagavaan hai kaalee maan hai ya krshn jee kee baat karen to vah bhee saahab lete to aisa nahin tha ki logon ko poore dhang se kuchh jyaada hee pyaar tha lekin jab se main kahoonga ham angrej log aae the to angrej logon ne jab shaasan shuroo kiya to log maanate the ki kyonki vah gore hain isee kaaran unake haath mein shaasan hai aur jo gore log the any angrej the unaka bhee yahee maanana tha ki jo vait kalar ke log hain vah jyaada hoshiyaar hote hain jyaada balashaalee hote hain jaise vah apane aap par bhee karate the jo laik slev hote the unako kamajor maanate the kyonki unaka rang kaala tha to yah vah gore logon kee soch thee jo unhonne indiya mein bhee aplaee aur unake jaane ke baad unakee kaee saaree baaten indiya mein hee rah gaee unamen se ek hee ek hee gore rang vaalee baat

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:15
ठीक है आज के समय में इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में अक्सर मैंने लोगों को आपस में घुसे हैं विचार व्यवस्था देखा है वह अक्सर लोगों से पूछना कि क्यों गोरे रंग लोगों के साथ ही अपने प्यार से बात करते नहीं यार मेरा मानना है कि आखिर में इंसान को गोरे और काले में रंग के बाद छोड़कर एक अच्छे इंसान में इंसान को देखना चाहिए जो आप की कदर करें आपकी इज्जत करें आप भी कठिन समय में आपका साथ दे वह आपकी खुशियों में आपका हाथ नहीं भाई अगर आप गोरे और काले रंग के बीच अभी भी मतभेद कर रहे हैं लेकिन मैं आपको बता दूं आप कभी भी जिंदगी में एक अच्छा इंसान नहीं बन पाएंगे और आप नहीं जिंदगी में कोई अच्छा इंसान भूल पाएंगे यह बात सच है कि कुछ कुछ जगहों पर आज भी गोरे लोगों को ज्यादा महत्व दिया जाता है बकाया का ले लोगे ना हो लेकिन यह प्रथा भी धीरे-धीरे खत्म होती जा रही है और यकीन मानिए कुछ आने वाले सालों में इस जो यह प्रथम लोगों ने बना रखी एक विचारधारा लोगों ने मारा ठीक ही गोरे हो को सम्मान देना बजाय काले लोगों के ऑग्ज़ीलियम कम हो जाएगी मैं आपसे भी कहता हूं अगर आप के जानकार में रहने वाले मैया का कोई रिश्तेदारी में कोई काला व्यक्ति हैं खानदान का तो आप उससे उससे बात कीजिए जितने कि हम गोलियों से करती हो
Theek hai aaj ke samay mein is bhaag daud bharee jindagee mein aksar mainne logon ko aapas mein ghuse hain vichaar vyavastha dekha hai vah aksar logon se poochhana ki kyon gore rang logon ke saath hee apane pyaar se baat karate nahin yaar mera maanana hai ki aakhir mein insaan ko gore aur kaale mein rang ke baad chhodakar ek achchhe insaan mein insaan ko dekhana chaahie jo aap kee kadar karen aapakee ijjat karen aap bhee kathin samay mein aapaka saath de vah aapakee khushiyon mein aapaka haath nahin bhaee agar aap gore aur kaale rang ke beech abhee bhee matabhed kar rahe hain lekin main aapako bata doon aap kabhee bhee jindagee mein ek achchha insaan nahin ban paenge aur aap nahin jindagee mein koee achchha insaan bhool paenge yah baat sach hai ki kuchh kuchh jagahon par aaj bhee gore logon ko jyaada mahatv diya jaata hai bakaaya ka le loge na ho lekin yah pratha bhee dheere-dheere khatm hotee ja rahee hai aur yakeen maanie kuchh aane vaale saalon mein is jo yah pratham logon ne bana rakhee ek vichaaradhaara logon ne maara theek hee gore ho ko sammaan dena bajaay kaale logon ke ogzeeliyam kam ho jaegee main aapase bhee kahata hoon agar aap ke jaanakaar mein rahane vaale maiya ka koee rishtedaaree mein koee kaala vyakti hain khaanadaan ka to aap usase usase baat keejie jitane ki ham goliyon se karatee ho

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
1:21
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं लेकिन फ्रेंड गोरा रंग जो होता है वह हर रंग में अनोखा रंग माना गया है क्यों माना गया फ्रेंड इसी पीछे रीजन है क्योंकि गोरे रंग जो होते हैं गोरे लोग होते हैं चाहे जो लड़की हो या फिर लड़का हो वह कोई भी पहली बार कपड़ा पहले उस पर अच्छा लगता है मस्त लगता है कोई भी यह नहीं होता कि यह कपड़ा उस पर अच्छा लगेगा या नहीं लगेगा कहीं पर भी जाते हैं तो वह चार आदमी है तुम में जो है पहले ही रहते हैं निकल जाते हैं कि वह बुरा आदमी वही है प्रेम उसकी बनावट जो होती है वह अलग ही होती है फ्रेंड गोरे लोग की जो होती है गोरे लोग ज्यादा मेकअप वगैरह कर ना करें फिर भी किसी प्रकार की उन्हें कोई टेंशन नहीं होती है क्योंकि उनका फेस जो होता है उनका जो चेहरा होता है वह ऑलरेडी जो है खूबसूरत होता है उन्हें किसी भी कार की मेकअप की बहुत ज्यादा जरूरत नहीं होती फ्रेंड लेकिन आजकल ऐसा देखने को मिलता है कि जो लोग जितनी गोरे होते हैं उतना ही ज्यादा जो है मेकअप और फैशन का इस्तेमाल जो है वह करते हैं और अच्छा भी देखते हैं आशा है कि आप सभी को क्या जवाब जो है पसंद आया होगा शुक्रिया
Helo phrends namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai gore rang se log itana pyaar kyon karate hain lekin phrend gora rang jo hota hai vah har rang mein anokha rang maana gaya hai kyon maana gaya phrend isee peechhe reejan hai kyonki gore rang jo hote hain gore log hote hain chaahe jo ladakee ho ya phir ladaka ho vah koee bhee pahalee baar kapada pahale us par achchha lagata hai mast lagata hai koee bhee yah nahin hota ki yah kapada us par achchha lagega ya nahin lagega kaheen par bhee jaate hain to vah chaar aadamee hai tum mein jo hai pahale hee rahate hain nikal jaate hain ki vah bura aadamee vahee hai prem usakee banaavat jo hotee hai vah alag hee hotee hai phrend gore log kee jo hotee hai gore log jyaada mekap vagairah kar na karen phir bhee kisee prakaar kee unhen koee tenshan nahin hotee hai kyonki unaka phes jo hota hai unaka jo chehara hota hai vah olaredee jo hai khoobasoorat hota hai unhen kisee bhee kaar kee mekap kee bahut jyaada jaroorat nahin hotee phrend lekin aajakal aisa dekhane ko milata hai ki jo log jitanee gore hote hain utana hee jyaada jo hai mekap aur phaishan ka istemaal jo hai vah karate hain aur achchha bhee dekhate hain aasha hai ki aap sabhee ko kya javaab jo hai pasand aaya hoga shukriya

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Vikash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikash जी का जवाब
Unknown
1:43

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:21
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करता है आदमी की वैल्यू उसके कर्तव्य व्यवहार और आचरण से होती है मैं जानता हूं कि गोरा रंग अट्रैक्शन का केंद्र है ज्यादा से ज्यादा लोग आकर्षित होते हैं इसी स्किन को देकर गए भाई वह देखो कितना गोरा है बहुत अच्छा है अगर वह चारित्रिक रूप से ठीक ना हो और दूसरे रही ना हो तो भेजो सावला है या काला है कितना भी चरित्रवान हो कितना सच्चा इंसान हो और रो हो या महिला भी कोई हो ना हो तो अट्रैक्शन अघोरी की तरफ जाएगा क्योंकि साफ सुथरा होने के कारण से हमारी निगाहें हल्दी की कि पार्क में अगर बहुत सारे फूल खिले हैं और गुलाब वहां पर कहीं दिख रहा था सबसे पहले अट्रैक्शन हमारा उधर बन तो एक हमारी मानसिकता प्रेशर कुछ दिनों से ज्यादा प्यार करते हैं और कानों से नहीं बन सकता है इस को बदलो तो ज्यादा अच्छा
Gore rang se log itana pyaar kyon karata hai aadamee kee vailyoo usake kartavy vyavahaar aur aacharan se hotee hai main jaanata hoon ki gora rang atraikshan ka kendr hai jyaada se jyaada log aakarshit hote hain isee skin ko dekar gae bhaee vah dekho kitana gora hai bahut achchha hai agar vah chaaritrik roop se theek na ho aur doosare rahee na ho to bhejo saavala hai ya kaala hai kitana bhee charitravaan ho kitana sachcha insaan ho aur ro ho ya mahila bhee koee ho na ho to atraikshan aghoree kee taraph jaega kyonki saaph suthara hone ke kaaran se hamaaree nigaahen haldee kee ki paark mein agar bahut saare phool khile hain aur gulaab vahaan par kaheen dikh raha tha sabase pahale atraikshan hamaara udhar ban to ek hamaaree maanasikata preshar kuchh dinon se jyaada pyaar karate hain aur kaanon se nahin ban sakata hai is ko badalo to jyaada achchha

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:26
आजकल लोग पैसे वाले और खूबसूरत लोगों से ही प्यार करते हैं क्योंकि खूबसूरती को देखकर ही लो मन मोहित हो जाता है तथा खूबसूरती को पाने के लिए व्यक्ति कुछ भी कर बैठता है मतलब कि वो नजर में अंधा हो जाता हूं
Aajakal log paise vaale aur khoobasoorat logon se hee pyaar karate hain kyonki khoobasooratee ko dekhakar hee lo man mohit ho jaata hai tatha khoobasooratee ko paane ke lie vyakti kuchh bhee kar baithata hai matalab ki vo najar mein andha ho jaata hoon

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
ravi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravi जी का जवाब
Unknown
0:29
इंसान का 108 कौन है की सुंदरता को पसंद करते हैं इसलिए गोरे रंग को लोग इतना पसंद करते हैं और मेरे हिसाब से ऐसा कोई बात नहीं है कि लोग पसंद करते हो सुंदरता सबको पसंद है जैसे गुलाब का फूल सब को अच्छा लगता है इसी प्रकार है जो गोरे रंग के लोग उसको पसंद करते हैं बस इसके अलावा कुछ भी धन्यवाद
Insaan ka 108 kaun hai kee sundarata ko pasand karate hain isalie gore rang ko log itana pasand karate hain aur mere hisaab se aisa koee baat nahin hai ki log pasand karate ho sundarata sabako pasand hai jaise gulaab ka phool sab ko achchha lagata hai isee prakaar hai jo gore rang ke log usako pasand karate hain bas isake alaava kuchh bhee dhanyavaad

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:26
10 तारीख का सवाल है गोरे रंग से लोग इतना प्यार करती है तो मैं नहीं जानती कि गोरे रंग पे इतना प्यार क्यों करते हैं लेकिन सारंगी होता है और हमें लोगों के अच्छे विचार देखनी चाहिए तुम कि तू क्या है कि क्वालिटी क्या है लेकिन उनकी जो ऊपर का बारिश शुरु होता है वह किसी के काम नहीं आता है उनके विचारों की सोच अच्छी नहीं है उनके कर्म अच्छे नहीं है तो वह हमारे किसी काम के नहीं है और अगर सांवली और उनके विचार अच्छे अच्छे अच्छे अच्छे विचार अच्छे हैं जब भी उनसे बातचीत करेंगे तो मैं अच्छे लगने लगते हैं जैसे कभी तो क्या होता है किसी इंसान को देखते हैं जब बात नहीं दे रहे थे कभी नहीं जाने पहचाने से लगते नहीं कैसे इंसान हैं उनके विचार अच्छे देखेंगे तो अच्छे लगने लगते हैं और आलू को कैसे विचार देख कर ही तो दोस्ती करनी चाहिए या फिर लोगों के कर्म के कर्म अच्छे होते हैं लोगों के विचार अच्छे होते हैं मुझसे दोस्ती करेंगे तो हमेशा मदद करने की सोचते हैं और वह मिलाकर की मदद करते भी हैं और वह हमें अच्छे लगने लगते हैं तो इसका जवाब पसंद आएगा
10 taareekh ka savaal hai gore rang se log itana pyaar karatee hai to main nahin jaanatee ki gore rang pe itana pyaar kyon karate hain lekin saarangee hota hai aur hamen logon ke achchhe vichaar dekhanee chaahie tum ki too kya hai ki kvaalitee kya hai lekin unakee jo oopar ka baarish shuru hota hai vah kisee ke kaam nahin aata hai unake vichaaron kee soch achchhee nahin hai unake karm achchhe nahin hai to vah hamaare kisee kaam ke nahin hai aur agar saanvalee aur unake vichaar achchhe achchhe achchhe achchhe vichaar achchhe hain jab bhee unase baatacheet karenge to main achchhe lagane lagate hain jaise kabhee to kya hota hai kisee insaan ko dekhate hain jab baat nahin de rahe the kabhee nahin jaane pahachaane se lagate nahin kaise insaan hain unake vichaar achchhe dekhenge to achchhe lagane lagate hain aur aaloo ko kaise vichaar dekh kar hee to dostee karanee chaahie ya phir logon ke karm ke karm achchhe hote hain logon ke vichaar achchhe hote hain mujhase dostee karenge to hamesha madad karane kee sochate hain aur vah milaakar kee madad karate bhee hain aur vah hamen achchhe lagane lagate hain to isaka javaab pasand aaega

bolkar speaker
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं?Gore Rang Se Log Itna Pyaar Kyun Karte Hain
Krishna pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Krishna जी का जवाब
Unknown
2:53
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न पूछा कि गोरे रंग के लोग इतना प्यार क्यों करते हैं और मैं नहीं समझता हूं कि गोरे रंग से सब कोई प्यार करता हूं कि अगर सच्चे प्यार की बात की जाए तो कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि एक काले व्यक्ति से प्यार कर बैठते हैं और सीरियसली अगर वह दिल से करता ना उसका ले व्यक्ति अलावा लाखों अघोरी इंसान आजा यूरो बहुत हैंडसम या यूं कहें रिच में फिर भी उसे अच्छा नहीं लगेगा वह सोचेगा कि मेरा काला वाला ही बहुत बैटरी 100 से बैटर है कि उन्होंने शक्ल पर देखा ही नहीं उसका दिल दिल किया उसे फीलिंग बहुत बड़ी चीज होती है किसी के दिल में जो हमारी जगह होती है वह बहुत बड़ी चीज होती है और इसे मैं नहीं समझता कि कि कोई गोरे रंग पर इतना आकर्षण हो सकता है बस यह कि हां कुछ लोग होते हैं ऐसे कि जो कि यह प्रश्न आईटी कर ले या यूं कहें जो खाने की चीजें होती हैं उसको लोग देखकर उसकी हकीकत समझ बैठते हैं जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए तू नीचे गोरे लोगों से प्यार दे कि वह गोरे लोगों से कह दी कि अगर आपका प्यार किसी की सुंदरता किसी की चीजों पर किसी के पैसे से होता तो प्यार नहीं है बस चंद चंद समय का मुंह मतलब का प्यार होता है क्योंकि जहां आपका जो प्यार का जो बिल है उसे भर गया वहां आप उसके रिश्ते से निकल जाएंगे फट से और उसी से अधिक पैसे वाला या उसी उसी से अधिक स्मार्ट लुक वाला या यू कल उससे कुछ अच्छा सुनेंगे फिर उससे भी आपका भर गया तो फिर आप दूसरे तूने ऐसा ही होता है जबकि आकर्षण से किसी का प्यार हो तो ऐसा ही होता है लेकिन जब आप किसी किसी को देखकर ही नहीं बल्कि उनकी बातों से उसके दिल से करेंगे प्यार क्यों आप उसे भूल नहीं पाएंगे आप कहीं पर भी जाए किसी के सामने भी जाए तो यूं उसका याद आता ही रहेगा आपको तो वह सच्चा प्यार जो कि हमारी सोच तो किसी के घर होता बिल्कुल है अगर आपने किसी के साथ दो किसी लड़के या लड़की को सुना होगा कि मुझे सच्चा प्यार हुआ तो सच में सच्चा प्यार होता है तो वह समझता है कि क्या होता इंसान का दिल क्या होती है फिलिंग्स क्या होता है दर्द और फिर उसे यह कह दे कि भाई वह देखो बहुत अच्छी लड़की है उससे कर लूट कर कर नहीं आता और यह समझ में नहीं आया और मैंने सोचता हूं से गोरे लोगों से बहुत ज्यादा आकर्षण होता क्योंकि सच्चा जो सच्चा जो प्यार करने वाला होगा उसे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन बोल रहा है कौन नहीं है बस उसे उसकी स्विमिंग हमेशा रहेगी वह मेरे साथ ऐसा था उसकी यादें हमेशा उसके पास रहेंगे आई होता है कि वक्त के साथ-साथ याद दे जो होती है वह ताजा होने बंद हो जाती हैं जो जख्म होते हुए भरे रहते हैं यूरो भर जाते हैं कभी कभी हमें याद तो हमेशा आती रहती है
Namaskaar doston jaisa ki prashn poochha ki gore rang ke log itana pyaar kyon karate hain aur main nahin samajhata hoon ki gore rang se sab koee pyaar karata hoon ki agar sachche pyaar kee baat kee jae to kuchh log aise hote hain jo ki ek kaale vyakti se pyaar kar baithate hain aur seeriyasalee agar vah dil se karata na usaka le vyakti alaava laakhon aghoree insaan aaja yooro bahut haindasam ya yoon kahen rich mein phir bhee use achchha nahin lagega vah sochega ki mera kaala vaala hee bahut baitaree 100 se baitar hai ki unhonne shakl par dekha hee nahin usaka dil dil kiya use pheeling bahut badee cheej hotee hai kisee ke dil mein jo hamaaree jagah hotee hai vah bahut badee cheej hotee hai aur ise main nahin samajhata ki ki koee gore rang par itana aakarshan ho sakata hai bas yah ki haan kuchh log hote hain aise ki jo ki yah prashn aaeetee kar le ya yoon kahen jo khaane kee cheejen hotee hain usako log dekhakar usakee hakeekat samajh baithate hain jabaki aisa nahin hona chaahie too neeche gore logon se pyaar de ki vah gore logon se kah dee ki agar aapaka pyaar kisee kee sundarata kisee kee cheejon par kisee ke paise se hota to pyaar nahin hai bas chand chand samay ka munh matalab ka pyaar hota hai kyonki jahaan aapaka jo pyaar ka jo bil hai use bhar gaya vahaan aap usake rishte se nikal jaenge phat se aur usee se adhik paise vaala ya usee usee se adhik smaart luk vaala ya yoo kal usase kuchh achchha sunenge phir usase bhee aapaka bhar gaya to phir aap doosare toone aisa hee hota hai jabaki aakarshan se kisee ka pyaar ho to aisa hee hota hai lekin jab aap kisee kisee ko dekhakar hee nahin balki unakee baaton se usake dil se karenge pyaar kyon aap use bhool nahin paenge aap kaheen par bhee jae kisee ke saamane bhee jae to yoon usaka yaad aata hee rahega aapako to vah sachcha pyaar jo ki hamaaree soch to kisee ke ghar hota bilkul hai agar aapane kisee ke saath do kisee ladake ya ladakee ko suna hoga ki mujhe sachcha pyaar hua to sach mein sachcha pyaar hota hai to vah samajhata hai ki kya hota insaan ka dil kya hotee hai philings kya hota hai dard aur phir use yah kah de ki bhaee vah dekho bahut achchhee ladakee hai usase kar loot kar kar nahin aata aur yah samajh mein nahin aaya aur mainne sochata hoon se gore logon se bahut jyaada aakarshan hota kyonki sachcha jo sachcha jo pyaar karane vaala hoga use koee phark nahin padata ki kaun bol raha hai kaun nahin hai bas use usakee sviming hamesha rahegee vah mere saath aisa tha usakee yaaden hamesha usake paas rahenge aaee hota hai ki vakt ke saath-saath yaad de jo hotee hai vah taaja hone band ho jaatee hain jo jakhm hote hue bhare rahate hain yooro bhar jaate hain kabhee kabhee hamen yaad to hamesha aatee rahatee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं
URL copied to clipboard