#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?

Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:48
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा क्या एक एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है एक महिला को पुरुष की जरूरत है पुरुष महिला की जरूरत हर चौथे हैं समय हर अवस्था में पढ़ते हैं अगर हम एक महिला की बात करें तो एक महिला के लिए पुरुष के जीवन का होना सबसे जरूरी होता है क्योंकि वह जो है ऐसा समाज भी मांगता है कि एक महिला ज्योति पूर्ण रूप से पूर्ण होकर भी जो है वह अधूरा ही रहते हैं जब तक कि उसके जीवन में जो पुरुष के रूप में कोई ना कोई आए जैसे मैं जब महिला ज्योति हैं शुरू में पुरुष के रूप में जो है उससे भाई उसके बाद पति उसके बाद पुत्र इन सभी की ज्योति अवस्थाओं सुख को पार करते हैं तो कहीं न कहीं जो होता है कि उनके जीवन में वृक्षों का महत्व रखती जो है आवश्यकता
Haay phrends kveshchan poochha kya ek ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai ek mahila ko purush kee jaroorat hai purush mahila kee jaroorat har chauthe hain samay har avastha mein padhate hain agar ham ek mahila kee baat karen to ek mahila ke lie purush ke jeevan ka hona sabase jarooree hota hai kyonki vah jo hai aisa samaaj bhee maangata hai ki ek mahila jyoti poorn roop se poorn hokar bhee jo hai vah adhoora hee rahate hain jab tak ki usake jeevan mein jo purush ke roop mein koee na koee aae jaise main jab mahila jyoti hain shuroo mein purush ke roop mein jo hai usase bhaee usake baad pati usake baad putr in sabhee kee jyoti avasthaon sukh ko paar karate hain to kaheen na kaheen jo hota hai ki unake jeevan mein vrkshon ka mahatv rakhatee jo hai aavashyakata

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:51
कार दोस्तों जैसा कि सवाल एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है दोस्तों अभी हाल ही में मैंने इस सवाल का जवाब अपने दोस्तों से राय लेने की कोशिश की जब मैंने लोगों को जब इस सवाल का जवाब पूछा तो उनकी प्रतिक्रिया यह थी कि संबंध बनाने के लिए जबकि पुरुष और महिलाओं को जाने की महिलाओं को पुरुष की जरूरत है इसलिए पड़ती है क्योंकि सबको अपने जीवन में जीवन साथी चाहिए जो उनके दुख सुख की बातें कर सके उनका साथ निभा सके दुख में उनके साथ हो सके और खुशी में उनके साथ हो सके और यही मुझे उस बुजुर्ग का जो सवाल है दोस्तों को मुझे पसंद आया सर मैं इस सवाल का समर्थन करता हूं और आपके जवाब के तौर पर यही उस बुजुर्ग वाली आपको देता हूं धन्यवाद
Kaar doston jaisa ki savaal ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai doston abhee haal hee mein mainne is savaal ka javaab apane doston se raay lene kee koshish kee jab mainne logon ko jab is savaal ka javaab poochha to unakee pratikriya yah thee ki sambandh banaane ke lie jabaki purush aur mahilaon ko jaane kee mahilaon ko purush kee jaroorat hai isalie padatee hai kyonki sabako apane jeevan mein jeevan saathee chaahie jo unake dukh sukh kee baaten kar sake unaka saath nibha sake dukh mein unake saath ho sake aur khushee mein unake saath ho sake aur yahee mujhe us bujurg ka jo savaal hai doston ko mujhe pasand aaya sar main is savaal ka samarthan karata hoon aur aapake javaab ke taur par yahee us bujurg vaalee aapako deta hoon dhanyavaad

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
2:01
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है महिला और पुरुष दोनों को एक दूसरे की जरूरत पड़ती ही है इसके बिना यह संसार आगे नहीं चल सकता उनका मिलन तो जरूरी है इससे बच्चे निर्माण करते हैं जो आगे का समझ समझ बनते हैं और महिला महिला को अपनी चीजों में पुरुषों की जरूरत होती है उसको भावनात्मक रूप से प्यार करने वाला उसकी सुरक्षा करने वाला उसको पिता के रूप में भाई के रूप में पुत्र के रूप में पति के रूप में पुरुषों की जरूरत होती है सुख-दुख बांटने में उसकी जरूरत होती है उसके बच्चे जो है वह पालने के लिए और पता करने के लिए पूरी पुरुष की जरूरत होती है और नसों की बुक से एक खालीपन रहता है या कपूर के जीवन में नहीं है तो वह खाली जगह जो है वह भरने के लिए भी पुरुष ही बढ़ सकता है और स्त्री पुरुष के लिए श्री व शक्ति इसलिए यह दोनों अलग नहीं हो सकती धन्यवाद
Ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai mahila aur purush donon ko ek doosare kee jaroorat padatee hee hai isake bina yah sansaar aage nahin chal sakata unaka milan to jarooree hai isase bachche nirmaan karate hain jo aage ka samajh samajh banate hain aur mahila mahila ko apanee cheejon mein purushon kee jaroorat hotee hai usako bhaavanaatmak roop se pyaar karane vaala usakee suraksha karane vaala usako pita ke roop mein bhaee ke roop mein putr ke roop mein pati ke roop mein purushon kee jaroorat hotee hai sukh-dukh baantane mein usakee jaroorat hotee hai usake bachche jo hai vah paalane ke lie aur pata karane ke lie pooree purush kee jaroorat hotee hai aur nason kee buk se ek khaaleepan rahata hai ya kapoor ke jeevan mein nahin hai to vah khaalee jagah jo hai vah bharane ke lie bhee purush hee badh sakata hai aur stree purush ke lie shree va shakti isalie yah donon alag nahin ho sakatee dhanyavaad

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
1:35
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है आजकल की महिला फ्रॉम होते हैं और वह खुद सेल्फ डिपेंडेंट है तो आजकल बुक खुद अपना काम करते हैं पुरुषों को ज्यादा अहमियत भी नहीं देती है और खुद खुद अपना काम संभालती है बच्चों की पढ़ाई भी करते हैं घर संभालती है मार्केटिंग करते हैं सब काम करते हैं जॉब भी करते हैं तो पुरुषों के समान महिला आज के जमाने में पहुंच गई है तो हमको जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए 1 साथी की जरूरत होती है क्योंकि जब हमें बुरा पर हमको आ जाए तो एक साथी अगर साथ में होते तो जीवन अच्छे से कट जाता है सुख हो या दुख हो हमेशा वह अपना साथ रहते हैं अपना मन में जो भी दुख दर्द होता है हम उनके साथ शेयर करते हैं और अपना एक परिवार बनाते हैं तो इसलिए शादी करते हैं हम और शादी करने से हमको एक नया अनुभव होता है जो कि हमारे परिवार और शादी करने के बाद हमारा परिवार बढ़ता है और हमारी फैमिली के साथ हम खुश रहते हैं और जीवन का बाकी समय उनके साथ हम काट काट देते हैं तो इसीलिए हमेशा एक साथी की जरूरत होती है जीवन को आगे उसके साथ चलने के लिए
Ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai aajakal kee mahila phrom hote hain aur vah khud selph dipendent hai to aajakal buk khud apana kaam karate hain purushon ko jyaada ahamiyat bhee nahin detee hai aur khud khud apana kaam sambhaalatee hai bachchon kee padhaee bhee karate hain ghar sambhaalatee hai maarketing karate hain sab kaam karate hain job bhee karate hain to purushon ke samaan mahila aaj ke jamaane mein pahunch gaee hai to hamako jindagee mein aage badhane ke lie 1 saathee kee jaroorat hotee hai kyonki jab hamen bura par hamako aa jae to ek saathee agar saath mein hote to jeevan achchhe se kat jaata hai sukh ho ya dukh ho hamesha vah apana saath rahate hain apana man mein jo bhee dukh dard hota hai ham unake saath sheyar karate hain aur apana ek parivaar banaate hain to isalie shaadee karate hain ham aur shaadee karane se hamako ek naya anubhav hota hai jo ki hamaare parivaar aur shaadee karane ke baad hamaara parivaar badhata hai aur hamaaree phaimilee ke saath ham khush rahate hain aur jeevan ka baakee samay unake saath ham kaat kaat dete hain to iseelie hamesha ek saathee kee jaroorat hotee hai jeevan ko aage usake saath chalane ke lie

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:22
नमस्ते एक महिला को पुरुष की जरूरत और एक पुरुष को महिला की जरूरत है यह संसार का ही नियम है जब कोई भी महिला 20 22 साल की है 25 साल की हो जाती है शादी क्यों हो जाती है तो महिला को जरूरत पड़ती पुरुष का पुरुष भी जब 25 से ऊपर 2628 है 30 साल का हो जाता है तो उसे भी महिला की जरूरत होती है क्योंकि दोनों एक दूसरे के बिना अधूरे हैं भगवान नहीं बनाया महिला और पुरुष को ताकि दोनों मिलकर एक दूसरे को पूर्ण करें फिजिकली मेंटली इमोशनली तीनों लेवल पर दोनों प्रजाति एक दूसरे से बिल्कुल अलग होते हैं जहां पुरुषों में कई बार धैर्य नहीं होता तो महिलाओं में धैर्य होता जहां पुरुष कहीं कोई बात को प्यार से समझा नहीं पाते तो महिला प्यार से समझा सकती है जहां महिला बाहर की जिम्मेदारी बहुत बार नहीं ठीक से ले पाती वहां पुश ठीक से बाहर की जिम्मेदारी ले पाते तू एक दूसरे को पूर्ण करने के लिए महिला और पुरुष दोनों का आपस में एक सही एज में मिलना बहुत जरूरी है वह आपको मेंटली फिजिकली मोशन ने तीनों रूप में आपको परिपक्व बनाएगा और एक कंपलीट आदमी बनाने में आपको मदद करें थैंक यू
Namaste ek mahila ko purush kee jaroorat aur ek purush ko mahila kee jaroorat hai yah sansaar ka hee niyam hai jab koee bhee mahila 20 22 saal kee hai 25 saal kee ho jaatee hai shaadee kyon ho jaatee hai to mahila ko jaroorat padatee purush ka purush bhee jab 25 se oopar 2628 hai 30 saal ka ho jaata hai to use bhee mahila kee jaroorat hotee hai kyonki donon ek doosare ke bina adhoore hain bhagavaan nahin banaaya mahila aur purush ko taaki donon milakar ek doosare ko poorn karen phijikalee mentalee imoshanalee teenon leval par donon prajaati ek doosare se bilkul alag hote hain jahaan purushon mein kaee baar dhairy nahin hota to mahilaon mein dhairy hota jahaan purush kaheen koee baat ko pyaar se samajha nahin paate to mahila pyaar se samajha sakatee hai jahaan mahila baahar kee jimmedaaree bahut baar nahin theek se le paatee vahaan push theek se baahar kee jimmedaaree le paate too ek doosare ko poorn karane ke lie mahila aur purush donon ka aapas mein ek sahee ej mein milana bahut jarooree hai vah aapako mentalee phijikalee moshan ne teenon roop mein aapako paripakv banaega aur ek kampaleet aadamee banaane mein aapako madad karen thaink yoo

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:41
नमस्कार दोस्तों आपका सवाल है एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर यह है महिला और पुरुष को आपस में एक दूसरे की जरूरत हमेशा पड़ती है क्योंकि पुरुष के बगैर महिला अपना काम नहीं कर सकते और पुरुष महिला के बिना कोई भी काम ही कर सकता है दोनों का मिलन होना बहुत ही जरूरी होता है इसलिए पुरुष और महिला को आपस में एक दूसरे की जरूरत पड़ती रहती है धन्यवाद दोस्तों खुश हूं
Namaskaar doston aapaka savaal hai ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai to doston aapake savaal ka uttar yah hai mahila aur purush ko aapas mein ek doosare kee jaroorat hamesha padatee hai kyonki purush ke bagair mahila apana kaam nahin kar sakate aur purush mahila ke bina koee bhee kaam hee kar sakata hai donon ka milan hona bahut hee jarooree hota hai isalie purush aur mahila ko aapas mein ek doosare kee jaroorat padatee rahatee hai dhanyavaad doston khush hoon

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:51
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है तो वैसे तो आजकल की महिला खुद अपने आप में ही स्वावलंबी है और हर तरह से मजबूत है और उसे किसी की जरूरत नहीं होती है अपने काम स्वयं कर सकती है मैं खुद इतनी पढ़ी लिखी होती है लेकिन फिर भी जीवनसाथी के तौर पर उसको एक पुरुष की जरूरत पड़ती है क्योंकि कोई भी हो महिला पुरुष वह अपना जीवन अकेला नहीं काट सकता तो महिला को जब पुरुष की जरूरत पड़ती है जो उसे जीवन साथी अपना चुनना हो जीवन साथी बनाना हो तब उसे पुरुष की जरूरत पड़ती है कि उसका जीवन साथी सुख दुख में साथ दे सके उसकी अच्छी बुरी बातें सुन सके और सुख दुख में उसका साथ निभा सके तो उसको पुरुष की जरूरत पड़ती है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai to vaise to aajakal kee mahila khud apane aap mein hee svaavalambee hai aur har tarah se majaboot hai aur use kisee kee jaroorat nahin hotee hai apane kaam svayan kar sakatee hai main khud itanee padhee likhee hotee hai lekin phir bhee jeevanasaathee ke taur par usako ek purush kee jaroorat padatee hai kyonki koee bhee ho mahila purush vah apana jeevan akela nahin kaat sakata to mahila ko jab purush kee jaroorat padatee hai jo use jeevan saathee apana chunana ho jeevan saathee banaana ho tab use purush kee jaroorat padatee hai ki usaka jeevan saathee sukh dukh mein saath de sake usakee achchhee buree baaten sun sake aur sukh dukh mein usaka saath nibha sake to usako purush kee jaroorat padatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:31
एक महिला को पुरुष की जरूरत है जब महिला अर्थात जब किसी लड़की की शादी होती है तब उसकी जरूरत पड़ती है तथा महिलाओं को अपनी पीढ़ी मतलब की जो उनके पास जो उसका पति और उसकी वीडियो बढ़ाने के लिए बच्चे पैदा करने के लिए हड़ताल सेक्स करने के लिए विश्व महिला को पुरुष की जरूरत पड़ती है
Ek mahila ko purush kee jaroorat hai jab mahila arthaat jab kisee ladakee kee shaadee hotee hai tab usakee jaroorat padatee hai tatha mahilaon ko apanee peedhee matalab kee jo unake paas jo usaka pati aur usakee veediyo badhaane ke lie bachche paida karane ke lie hadataal seks karane ke lie vishv mahila ko purush kee jaroorat padatee hai

bolkar speaker
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है?Ek Mahila Ko Purush Ki Jaroorat Kab Padati Hai
Sandeep chhipa Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sandeep जी का जवाब
social worker (MSW)
0:59
एक महिला को पुरुष की जरूरत कब पड़ती है अनेक बार जरूरत पड़ती है राखी के बांधने के अवसर पर एक बहन भाई को याद करती है तब पुरुष की आवश्यकता होती है इसके अलावा जैसे महिलाओं की आंतरिक अंतर्वासना के लिए काम वासना की पूर्ति के लिए एक पुरुष की होना अत्यंत आवश्यक माना जाता है इसके अलावा महिलाओं के जीवन में पुरुषों के अभाव में कोई जीवन यापन नहीं रह जाता इसीलिए महिलाओं की जिंदगी के लिए ऐसे यज्ञ आदि संस्कार किए जाते हैं तो पुरुषों के साथ होम पर बैठा जाता है उसी के साथ महिला के जीवन में पुरुष की है भूमिका बताई गई है हमारी भारतीय धर्म शास्त्रों में जय हिंद जय भारत सभी मित्रों को धन्यवाद
Ek mahila ko purush kee jaroorat kab padatee hai anek baar jaroorat padatee hai raakhee ke baandhane ke avasar par ek bahan bhaee ko yaad karatee hai tab purush kee aavashyakata hotee hai isake alaava jaise mahilaon kee aantarik antarvaasana ke lie kaam vaasana kee poorti ke lie ek purush kee hona atyant aavashyak maana jaata hai isake alaava mahilaon ke jeevan mein purushon ke abhaav mein koee jeevan yaapan nahin rah jaata iseelie mahilaon kee jindagee ke lie aise yagy aadi sanskaar kie jaate hain to purushon ke saath hom par baitha jaata hai usee ke saath mahila ke jeevan mein purush kee hai bhoomika bataee gaee hai hamaaree bhaarateey dharm shaastron mein jay hind jay bhaarat sabhee mitron ko dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जाने क्यों होती है महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा, स्त्री और पुरुष, पुरुष और स्त्री की आवश्यकता
URL copied to clipboard