#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे क्या लगता है?

Carbon Dioxide Ke Piche Kya Lagta Hai
pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:15
टेस्ट में कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे क्या लगता है तो मुझे ऐसा लग रहा है कि आप फोन मिला पूछ रहे हैं ना तो कार्बन डाई ऑक्साइड का फार्मूला होता है और तू कार्बन का एक मॉलिक्यूल ऑक्सीजन के दो मॉलिक्यूल शुक्रिया
Test mein kaarban daioksaid ke peechhe kya lagata hai to mujhe aisa lag raha hai ki aap phon mila poochh rahe hain na to kaarban daee oksaid ka phaarmoola hota hai aur too kaarban ka ek molikyool okseejan ke do molikyool shukriya

और जवाब सुनें

bolkar speaker
कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे क्या लगता है?Carbon Dioxide Ke Piche Kya Lagta Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:16
हैप्पी मकर संक्रांति सवाल यह है कि कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे क्या लगता है देखिए कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे तो सबसे ज्यादा प्रदूषण है मतलब प्रदूषण में तो पैरों का कटना अत्यधिक अत्यधिक प्रण करते हुए हैं भारत में मतलब स्थिति बहुत खराब है हमारे मतलब मिनिमम जो होना चाहिए 33% पर जंगल होना चाहिए जो कि नहीं है तो इसलिए किसी किसी राज्य में तो बहुत ही स्थिति खराब है नदियां प्रदूषित हो चुकी है और कार्बन डाइऑक्साइड के लिए मुख्य रूप से पेड़ों का कटना अत्यधिक गाड़ियों का होना फैक्ट्रियों से जारी ली कैसे निकलना और कोल माइंस वगैरह कॉल कोयले से जो कॉलेज जलाए जाते हैं उनसे जो कार्बन डाइऑक्साइड निकलती हैं यह सारे कुछ जो है वह बैक साइड की अधिकता के लिए उत्तरदाई हैं तो इन को कंट्रोल करना होगा अन्यथा फिर मुश्किल हो जाएगा हमारे लिए सांस लेना मुश्किल हो जाएगा दिल्ली में जिस तरह सर्दियों में काफी प्रॉब्लम हो जाता है इतनी ग्रीनरी है जबकि दिल्ली में ऐसा नहीं है कि वह पेड़ करने पर काफी लगाए गए हैं लेकिन फिर भी अत्यधिक जनसंख्या अधिक गाड़ियां और अगल-बगल के राज्यों में पराली काजल ना यह सब कुछ जो है वह वहां के कार्बन डाइऑक्साइड लेवल को प्रदूषण लेवल को बढ़ा देता है तो इसलिए मैं सभी से अपील यही करूंगा और सरकार से भी अपील करूंगा कि इसके लिए बहुत भागीरथ प्रयास करने की जरूरत है मतलब थोड़े बहुत प्रयास से काम नहीं चलने वाला है तब यह कंट्रोल होगा इससे सब कुछ जुड़ा हुआ अत्यधिक अत्यधिक पेड़ लगाया जाए पेड़ों की सुरक्षा का ध्यान रखा जाए तो जाकर कुछ हम आगे का भविष्य को सुरक्षित रख सकता है अन्य बहुत मुश्किल है थैंक यू
Haippee makar sankraanti savaal yah hai ki kaarban daioksaid ke peechhe kya lagata hai dekhie kaarban daioksaid ke peechhe to sabase jyaada pradooshan hai matalab pradooshan mein to pairon ka katana atyadhik atyadhik pran karate hue hain bhaarat mein matalab sthiti bahut kharaab hai hamaare matalab minimam jo hona chaahie 33% par jangal hona chaahie jo ki nahin hai to isalie kisee kisee raajy mein to bahut hee sthiti kharaab hai nadiyaan pradooshit ho chukee hai aur kaarban daioksaid ke lie mukhy roop se pedon ka katana atyadhik gaadiyon ka hona phaiktriyon se jaaree lee kaise nikalana aur kol mains vagairah kol koyale se jo kolej jalae jaate hain unase jo kaarban daioksaid nikalatee hain yah saare kuchh jo hai vah baik said kee adhikata ke lie uttaradaee hain to in ko kantrol karana hoga anyatha phir mushkil ho jaega hamaare lie saans lena mushkil ho jaega dillee mein jis tarah sardiyon mein kaaphee problam ho jaata hai itanee greenaree hai jabaki dillee mein aisa nahin hai ki vah ped karane par kaaphee lagae gae hain lekin phir bhee atyadhik janasankhya adhik gaadiyaan aur agal-bagal ke raajyon mein paraalee kaajal na yah sab kuchh jo hai vah vahaan ke kaarban daioksaid leval ko pradooshan leval ko badha deta hai to isalie main sabhee se apeel yahee karoonga aur sarakaar se bhee apeel karoonga ki isake lie bahut bhaageerath prayaas karane kee jaroorat hai matalab thode bahut prayaas se kaam nahin chalane vaala hai tab yah kantrol hoga isase sab kuchh juda hua atyadhik atyadhik ped lagaaya jae pedon kee suraksha ka dhyaan rakha jae to jaakar kuchh ham aage ka bhavishy ko surakshit rakh sakata hai any bahut mushkil hai thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कार्बन डाइऑक्साइड के पीछे क्या लगता है
URL copied to clipboard